Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

2 May 2020

केन्‍द्र सरकार ने पूर्णबंदी चार मई से दो और सप्‍ताह के लिए बढाई। ग्रीन जोन इलाकों में छूट

केंद्र सरकार ने मौजूदा लॉकडाउन की अवधि को चार मई से दो और सप्‍ताह(17 मई) के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। गृह मंत्रालय ने आपदा प्रबंधन अधिनियम के तहत लॉकडाउन की अवधि बढाने का आदेश जारी कर दिया है।ग्रीन जोन इलाकों में छूट दी गई है। गृह मंत्रालय ने कहा कि यह निर्णय देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति की व्‍यापक समीक्षा के बाद लिया गया है। इसके अलावा गृह मंत्रालय ने इस अवधि में विभिन्न गतिविधियों को विनियमित करने के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए, जो देश में जिलों को रेड (हॉटस्पॉट), ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन में बदलने के जोखिम पर आधारित होंगे। ग्रीन-ज़ोन, वे जिले होंगे जहां अब तक एक भी कोरोना मामले की पुष्टि न हुई हो या पिछले 21 दिनों में कोई मामला न आया हो। किसी जिले को रेड जोन में तब्दील, संक्रमित मामलों की कुल संख्या, पॉजिटिव आए मामलों के दुगने होने की दर, जिलों की टेस्टिंग और निगरानी प्रतिक्रिया के आधार पर किया जाएगा। ऐसे जिले, जिन्हें न तो रेड और न ही ग्रीन घोषित किया गया है, उन्हें ऑरेंज ज़ोन के रूप में वर्गीकृत किया जाएगा। वर्गीकृत किए गए रेड , ग्रीन और ऑरेंज ज़ोन को MoHFW द्वारा राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (UTs) के साथ साप्ताहिक आधार पर या पहले अथवा आवश्यकतानुसार साझा किया जाएगा। हालाँकि राज्य और केंद्र शासित प्रदेश इनके अलावा किसी भी जिले को रेड और ऑरेंज ज़ोन में शामिल कर सकते हैं, लेकिन वे MoHFW द्वारा सूचीबद्ध किए गए जिले के वर्गीकरण को रेड या ऑरेंज ज़ोन की सूची में शामिल नहीं कर सकते।

मणिपुर के काले चावल और गोरखपुर टेराकोटा को मिला जीआई टैग

मणिपुर के काले चावल (चक-हाओ),गोरखपुर टेराकोटा और कोविलपट्टी की कदलाई मितई को भौगोलिक संकेत प्रदान किया गया। चाक-हाओ को GI टैग प्रदान करने के लिये 'चाक-हाओ उत्पादक संघ' (Consortium of Producers of Chak-Hao) द्वारा आवेदन दायर किया गया था। इस चावल की किस्म का रंग गहरा काला होता है और अन्य चावल की किस्मों जैसे भूरे चावल आदि की तुलना में इसका वजन अधिक होता है। एंथोसायनिन एजेंट के कारण इसका रंग काला होता है। यह चावल मिष्ठान, दलिया बनाने के लिए उपयुक्त है। यह चीन की पारंपरिक रोटी, नूडल्स और राइस केक व्यंजनों में उपयोग किया जाता है। गोरखपुर का टेराकोटा सदियों पुराना है। शहर के कुम्हार हाथी, घोड़े जैसे जानवरों की आकृतियाँ बनाते हैं। बनाई गई कला के प्रत्येक टुकड़े में अधिक मेहनत है, परन्तु इसका पारिश्रमिक अधिक नही मिलता। जीआई टैग कुम्हारों की आय बढ़ाने में मदद करेगा। गोरखपुर टेराकोटा के लिए उत्तर प्रदेश के लक्ष्मी टेराकोटा मुर्तिकला केंद्र द्वारा आवेदन दायर किया गया था। कदलाई मितई एक मूंगफली की कैंडी है जो तमिलनाडु के दक्षिणी भागों में बनाई जाती है। इस कैंडी को मूंगफली और गुड़ से तैयार किया जाता है। इसके लिए विशेष रूप से थामीबरानी नदी का पानी उपयोग किया जाता है। क्षेत्र के उत्पादकों के अनुसार इस विशेष नदी का पानी कैंडी के स्वाद को बढ़ाता है। थामीररानी नदी पश्चिमी घाट में निकलती है और मुन्नार की खाड़ी में बहती है। यह तमिलनाडु की एक बारहमासी नदी है।

अजय तिर्की ने महिला और बाल विकास मंत्रालय के सचिव का पदभार संभाला

भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1987 बैच के मध्‍य प्रदेश कैडर के अधिकारी अजय तिर्की ने महिला और बाल विकास मंत्रालय के सचिव का पदभार संभाला। उन्‍होंने सेवानिवृत्‍त हुए रविन्‍द्र पंवार का स्‍थान लिया है।

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग ने लॉन्च किया YASH कार्यक्रम

YASH कार्यक्रम को विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा लॉन्च किया गया। YASH का पूर्ण स्वरुप Year of Awareness on Science and Health है। इस पहल का उद्देश्य सार्वजनिक सहभागिता को प्रोत्साहित करना और समुदायों में COVID -19 के प्रति जागरूकता को बढ़ाना है। इसके द्वारा, सरकार सही निर्णय ले सकती हैं और संबद्ध जोखिमों का प्रबंधन कर सकती हैं। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के तहत कार्यरत नेशनल काउंसिल फॉर साइंस एंड टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन (NCSTC) ने COVID -19 पर ध्यान केंद्रित करने के लिए YASH लॉन्च किया है। यह स्वास्थ्य पर जमीनी स्तर की प्रतिक्रिया को बढ़ावा देने के लिए एक व्यापक विज्ञान और स्वास्थ्य संचार पहल है।

उपभोक्‍ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने एक राष्‍ट्र एक राशनकार्ड योजना के तहत पांच और राज्‍यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों को शामिल करने की मंजूरी दी

उपभोक्‍ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान ने एक राष्‍ट्र एक राशनकार्ड योजना के तहत पांच और राज्‍यों तथा केंद्रशासित प्रदेशों को शामिल करने की मंजूरी दे दी है। ये राज्‍य और केंद्रशासित प्रदेश हैं--उत्‍तर प्रदेश, बिहार, पंजाब, हिमाचल प्रदेश तथा दादरा नागर हवेली और दमन और दीव। इस योजना में पहले से बारह राज्‍य शामिल हैं जो आंध्र प्रदेश, गोवा, गुजरात, हरियाणा, झारखण्‍ड, केरल, कर्नाटक, मध्‍य प्रदेश, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान, तेलंगाना और त्रिपुरा हैं। इस योजना के तहत 17 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों के लगभग साठ करोड लाभार्थियों को राष्‍ट्रीय और अंतर्राज्‍यीय पोर्टिब्‍लिटी की सुविधा प्राप्‍त होगी। उपभोक्‍ता अब इस योजना के तहत इन 17 राज्‍यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कहीं से भी अपने कोटे का खाद्यान्‍न उचित दर की दुकान से प्राप्‍त कर सकेंगे।

बजट पारदर्शिता और जवाबदेही में भारत 53वें स्थान पर

ओपन बजट सर्वेक्षण, जिसे अंतर्राष्ट्रीय बजट पार्टनरशिप (IBP) द्वारा संचालित किया गया, हाल ही में जारी किया गया है। यह बजट पारदर्शिता के स्तर को 0-100 के पैमाने पर मापता करता है। इस सूची में न्यूजीलैंड 87 के स्कोर के साथ प्रथम स्थान पर है। इस सूची में भारत को बजट पारदर्शिता और जवाबदेही के मामले में 117 देशों में 53वें स्थान पर रखा गया है। इस सर्वेक्षण में भारत की केंद्रीय बजट प्रक्रिया के लिए 100 में से 49 का स्कोर प्रदान किया गया, जबकि वैश्विक औसत 45 है। दक्षिण अफ्रीका, मैक्सिको और ब्राजील क्रमशः 87, 82 और 81 स्कोर के साथ अन्य शीर्ष देश हैं।

कोयला मंत्रालय ने कोयला खदानों के निरंतर परिचालन के लिए PMU किया स्थापित

कोयला मंत्रालय द्वारा एक परियोजना निगरानी इकाई (Project Monitoring Unit-PMU) की स्थापना की गई है। इस परियोजना निगरानी इकाई को स्थापित करने का उद्देश्य केंद्र सरकार द्वारा आवंटित की गई कोयला खानों के शीघ्र परिचालन को सुगम बनाना है। यह इकाई कोल खानों को खदानों के संचालन के लिए केंद्र/राज्य सरकार के अधिकारियों से जरुरी विभिन्न मंजूरी दिलवाने करने में मदद करेगी, जिससे कोयला उद्योग में ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को बढ़ावा मिलेगा।

थंगजाम धबाली सिंह को जापान ने 'ऑर्डर ऑफ राइजिंग सन' से किया सम्मानित

मणिपुर के डॉक्टर थंगजाम धबाली सिंह को जापान सरकार द्वारा 'ऑर्डर ऑफ राइजिंग सन' से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार उन्हें भारत में जापान की बेहतर समझ को बढ़ावा देने और दोनों देशों के संबंधों को मजबूत बनाने के लिए दिया गया है। थंगजाम धबाली सिंह, पेशे से एक एलोपैथिक डॉक्टर और मणिपुर टूरिज्म फोरम (MTF) के संस्थापक हैं। उन्होंने द्वितीय विश्व युद्ध के इम्फाल युद्ध की 70 वीं वर्षगांठ के अवसर पर कार्यक्रम का आयोजन किया था। इस कार्यक्रम में भारत में जापान के दूतावास के अधिकारियों सहित कई जापानी नागरिकों ने भी हिस्सा लिया था। ‘ऑर्डर ऑफ राइजिंग सन’ सम्मान, जापान की संस्कृति, पर्यावरण संरक्षण के प्रचार और अंतरराष्ट्रीय संबंधों में उपलब्धि हासिल करने वाले व्यक्ति को दिया जाता है। इस सम्मान की शुरूआत जापान के बादशाह मेइजी ने 1875 में की थी।

प्रोफेसर टी. प्रदीप को दिया जाएगा साल 2020 का निक्केई एशिया पुरस्कार

आईआईटी मद्रास के प्रोफेसर थलप्पिल प्रदीप को निक्केई एशिया पुरस्कार (Nikkei Asia Prize) 2020 के लिए चुना गया है। प्रोफेसर थलप्पिल प्रदीप को निक्की एशिया पुरस्कार 2020 'विज्ञान और प्रौद्योगिकी' की श्रेणी में दिया जाएगा। उन्हें इस पुरस्कार से नैनो-प्रौद्योगिकी आधारित जल शुद्धिकरण (water purification) के उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया जाएगा। अन्य पुरस्कार विजेता है:

  • विज्ञान और प्रौद्योगिकी: प्रोफेसर थलप्पिल प्रदीप (भारत)
  • संस्कृति और समुदाय: राम प्रसाद कदेल (नेपाल)
  • आर्थिक और व्यावसायिक नवाचार: एंथनी टैन (मलेशिया) और टैन होई लिंग (मलेशिया)
निक्केई एशिया पुरस्कार उन व्यक्तियों को दिया जाता है जिन्होंने इस क्षेत्र के सतत विकास और एशिया के बेहतर भविष्य के निर्माण कार्यो में योगदान दिया हो। यह पुरस्कार हर साल तीन श्रेणी अर्थात् आर्थिक और व्यावसायिक नवाचार, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, और संस्कृति और समुदाय में प्रदान किया जाता है।

अमेरिका ने अपने बौद्धिक संपदा ढांचे में पर्याप्त सुधार की कमी के लिए भारत सहित 10 देशों को ‘प्राथमिकता निगरानी सूची’ में रखा

अमेरिका ने अपने बौद्धिक संपदा ढांचे में पर्याप्त सुधार की कमी के लिए भारत सहित 10 देशों को ‘प्राथमिकता निगरानी सूची’ में रखा है। अमेरिका ने इस सूची में भारत और चीन सहित 10 देशों को रखा है, और आरोप लगाया कि बौद्धिक सम्पदा का प्रवर्तन कमजोर हो गया है या उन देशों में अपर्याप्त है। अमेरिका ने यह भी स्पष्ट किया कि कमजोर बौद्धिक सम्पदा प्रवर्तन के कारण अमेरिकियों को एक समान बाजार पहुंच प्राप्त करने में कठिनाई होती है। सूची में रखे गए अन्य देशों में अर्जेंटीना, अल्जीरिया, चिली, रूस, इंडोनेशिया, सऊदी अरब, वेनेजुएला और यूक्रेन शामिल हैं। इस सूची से हटाए गए देशों में कनाडा, कुवैत और थाईलैंड शामिल थे।

जल शक्ति मंत्रालय के तहत लाया गया कावेरी जल प्रबंधन प्राधिकरण: केंद्र सरकार

कावेरी जल प्रबंधन प्राधिकरण पहले जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण मंत्रालय के अधीन था। हालांकि, मोदी सरकार ने जल से संबंधित मुद्दों से निपटने के लिए जल शक्ति मंत्रालय का गठन किया है, जबकि जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण इसी मंत्रालय के अंतर्गत एक विभाग का रूप ले लिया है। साल 2018 में, केंद्र सरकार ने तमिलनाडु, कर्नाटक, केरल और पुडुचेरी के बीच नदी के पानी के बंटवारे के विवाद को हल करने के लिए कावेरी जल प्रबंधन प्राधिकरण (सीडब्ल्यूएमए) का गठन किया था। इन राज्यों के सदस्यों के अलावा, बोर्ड में केंद्र सरकार द्वारा नामित एक सदस्य भी होता है।

उष्णकटिबंधीय चक्रवात

भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (India Meteorological Department- IMD) ने 169 उष्णकटिबंधीय चक्रवातों (Tropical Cyclones) जिनके बंगाल की खाड़ी एवं हिंद महासागर में आने की संभावना है, के नामों की एक नई सूची जारी की है। IMD, विश्व भर में स्थापित छह क्षेत्रीय विशिष्ट मौसम विज्ञान केंद्रों (Regional Specialised Meteorological Centres- RSMCs) में से एक है। इसके अतिरिक्त IMD पाँच क्षेत्रीय उष्णकटिबंधीय चक्रवात चेतावनी केंद्र (Tropical Cyclone Warning Centres- TCWCs) जिन्हें उष्णकटिबंधीय चक्रवातों से संबंधित एडवाइज़री एवं नाम जारी करने का कार्य दिया जाता है, में से एक है। IMD बांग्लादेश, भारत, ईरान, मालदीव, म्यांमार, ओमान, पाकिस्तान, कतर, सऊदी अरब, श्रीलंका, थाईलैंड, यूएई और यमन सहित 13 सदस्य देशों को आगामी उष्णकटिबंधीय चक्रवातों के संदर्भ में एडवाइज़री जारी करता है। विभिन्न महासागरीय क्षेत्रों में आने वाले उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को संबंधित RSMCs और TCWCs द्वारा नामित किया गया है। बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर सहित उत्तर हिंद महासागर में आने वाले उष्णकटिबंधीय चक्रवातों को नाम नई दिल्ली स्थित RSMC द्वारा एक मानक प्रक्रिया के बाद प्रदान किये जाते हैं। सितंबर 2018 में आयोजित उष्णकटिबंधीय चक्रवात पर विश्व मौसम विज्ञान संगठन (WMO)/एशिया एवं प्रशांत क्षेत्र के लिये संयुक्त राष्ट्र का आर्थिक एवं सामाजिक आयोग (ESCAP) के 45वें सत्र के दौरान उष्णकटिबंधीय चक्रवातों की एक नई सूची की आवश्यकता को बताया गया था। इस सत्र की मेजबानी ओमान ने की थी। उष्णकटिबंधीय चक्रवात पर WMO/ESCAP पैनल की स्थापना वर्ष 1972 में की गई थी। इसका उद्देश्य बंगाल की खाड़ी एवं अरब सागर में उष्णकटिबंधीय चक्रवातों से बाढ़ एवं तूफान के कारण होने वाली जान-माल की क्षति को कम करने के लिये योजना बनाना एवं उसके कार्यान्वयन को बढ़ावा देना है। इस सूची में कुल 169 नामों में से 13 सदस्य देशों के लिये 13-13 चक्रवातों के नाम शामिल हैं। इस सूची में भारत से संबंधित भविष्य में आने वाले चक्रवातों के नाम गति, तेज़, मुरासु (Murasu), आग, व्योम, झार, प्रोबाहो (Probaho), नीर, प्रभंजन, घुरनी, अंबुद, जलधि एवं वेगा हैं।

मनरेगा के तहत सबसे ज्यादा रोजगार देना वाला राज्य बना छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ COVID-19 महामारी के कारण लगे राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (MGNREGA) के तहत रोजगार देने के मामले में राज्यों की सूची में पहले नंबर पर है। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने और लोगों की आजीविका को सुरक्षित रखने के राज्य के प्रयास के तहत छत्तीसगढ़ में कुल 18.52 लाख मजदूर कार्यरत है। ग्रामीण विकास मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, छत्तीसगढ़ में पूरे देश में मनरेगा के तहत दी गई नौकरियों का लगभग 24% हिस्सा है। आंकड़ों के अनुसार, लॉकडाउन के बावजूद, कुल 18,51,536 श्रमिकों ने छत्तीसगढ़ की 9,883 ग्राम पंचायतों में MGNREGA के तहत दिन में कार्य किया।

भारत ने कैलेंडर वर्ष 2019 में 7.3 गीगावॉट सौर ऊर्जा स्थापित की, दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा सौर बाजार

भारत ने 2019 में सौर ऊर्जा उत्पादन क्षमता में 7.3 गीगावॉट की वृद्धि दर्ज की और निर्माण परियोजनाओं के तहत 23.7 गीगावॉट की एक मजबूत पाइपलाइन रखी। वैश्विक स्वच्छ ऊर्जा संचार और परामर्श फर्म मेरकॉम कैपिटल ग्रुप की सहायक कंपनी मेरकॉम कम्युनिकेशंस इंडिया ने बुधवार को अपनी रिपोर्ट ‘इंडिया सोलर मार्केट लीडरबोर्ड 2020’ जारी की है। रिपोर्ट में 2019 में भारतीय सौर आपूर्ति श्रृंखला में बाजार हिस्सेदारी और शिपमेंट रैंकिंग शामिल है। कैलेंडर वर्ष (CY) 2019 के दौरान, भारत ने देश भर में सौर ऊर्जा की 7.3 गीगावॉट की स्थापना की, जो दुनिया में चीन और यू.एस. के बाद तीसरे सबसे बड़े सौर बाजार के रूप में अपनी स्थिति को मजबूत करता है।

जम्मू कश्मीर में दो सीआइआइटी केंद्र बनेंगे, टाटा टेक्नोलॉजीस के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर

जम्मू कश्मीर में कौशल विकास को बढ़ावा देने के लिए सरकार सेंटर फॉर इन्वेंशन, इनोवेशन, इंक्यूबेशन एंड ट्रेनिंग (सीआइआइआइटी) के दो केंद्र स्थापित करेगी। इसके लिए टाटा टेक्नोलॉजीस के साथ आपसी सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए हैं। इन दोनों केंद्र को स्थापित करने पर करीब 360 करोड़ रुपये खर्च आएगा, जिसमें टाटा टेक्नोलॉजीस 300 करोड़ रुपये खर्च करेगा। एक केंद्र सरकारी पॉलीटेक्निक कॉलेज जम्मू और दूसरा पॉलीटेक्निक कॉलेज बारामुला में खोला जाएगा। इन केंद्रों से नजदीकी कॉलेजों और लघु व मध्यम उद्योग को वर्कशाप की सुविधा भी मिलेगी। जम्मू कश्मीर में इन दोनों केंद्रों की स्थापना से तकनीकी शिक्षा में अकादमिक और प्रशिक्षण के पाठ्यक्रम को बेहतर बनाने में मदद मिलेगी।

G20 डिजिटल इकोनॉमी मंत्रियों की बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से आयोजित की गयी

G20 डिजिटल अर्थव्यवस्था मंत्रियों की बैठक बुलाई गई। इस बैठक में G20 डिजिटल इकोनॉमी टास्क फोर्स द्वारा एक मंत्रिस्तरीय वक्तव्य जारी किया गया। भारत का प्रतिनिधित्व केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने किया।

नागालैंड ने डीजल, पेट्रोल और मोटर स्पिरिट पर COVID-19 उपकर लगाया

नागालैंड ने डीजल, पेट्रोल और मोटर स्पिरिट के लिए COVID-19 उपकर लगाने की योजना शुरू की है। गौरतलब है कि राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के चलते आर्थिक गतिविधियाँ काफी कम हो गयी हैं, जिससे राज्यों को राजस्व की कमी का सामना करना पड़ रहा है। इसलिए राज्य पेट्रोल व डीजल पर उपकार लगा रहे हैं। यह फैसला नागालैंड (मोटर स्पिरिट, स्नेहक सहित पेट्रोलियम और पेट्रोलियम उत्पादों की बिक्री) कराधान अधिनियम, 1967 (संशोधित) के तहत प्रदत्त शक्तियों के तहत लिया गया है। मेघालय ने पेट्रोल और डीजल सहित मोटर स्पिरिट पर 2 प्रतिशत की दर से बिक्री कर अधिभार लगाया है।

7 राज्यों की 200 नई मंडियां कृषि उपज के विपणन के लिए ‘ई-नाम’ प्लेटफॉर्म से जुड़ीं

केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि कृषि उपज के विपणन के लिए लगभग एक हजार मंडियां मई 2020 तक ‘ई-नाम’ प्लेटफॉर्म से जुड़ जाएंगी। श्री तोमर नई दिल्‍ली स्थित कृषि भवन में आयोजित एक समारोह में बोल रहे थे, जहां 7 राज्यों की 200 नई मंडियों को राष्ट्रीय कृषि बाजार (ई-नाम) से जोड़ दिया गया। किसानों के लिये कृषि वस्तु्ओं के विपणन की प्रक्रिया को आसान बनाने हेतु राष्ट्रीय कृषि बाज़ार (e-NAM) की परिकल्‍पना की गई थी और 14 अप्रैल, 2016 को इसे 21 मंडियों में शुरू किया गया था। ई- राष्ट्रीय कृषि बाज़ार एक पैन इंडिया ई- व्यापार प्लेटफॉर्म है जिसका मुख्य उद्देश्य अधिक पारदर्शिता और प्रतिस्पर्द्धा सुनिश्चित करते हुए किसानों को कृषि उत्पादों का बेहतर मूल्य दिलाने के लिये एक एकीकृत राष्ट्रीय बाज़ार का सृजन करना है।

रेल मंत्रालय विभिन्‍न स्‍थानों पर फंसे प्रवासी मजदूरों और अन्‍य लोगों के आवागमन के लिए श्रमिक स्‍पेशल रेलगाडी चलाएगा

रेल मंत्रालय ने लॉकडाउन के कारण अलग-अलग जगहों पर फंसे कामगारों, तीर्थ यात्रियों, पर्यटकों, विद्यार्थियों और अन्‍य लोगों के लिए से श्रमिक स्‍पेशल रेलगाडि़यां चलाने का फैसला किया है। ये रेलगाडि़यां दो राज्‍य सरकारों के अनुरोध के मुताबिक केवल गंतव्‍य पर रुकेंगी। इन रेलगाडि़यों के सहज संचालन के लिए नोडल अधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी। यात्रा करने के इच्‍छुक लोगों को संक्रमण-मुक्‍त की गईं बसों से स्‍टेशन लाया जाएगा और प्रस्‍थान बिंदु पर उनकी जांच की जाएगी। यात्रा के लिए मास्‍क पहनना अनिवार्य होगा। इन यात्रियों को भेजने वाली सरकार भोजन और पानी मुहैया कराएगी। गंतव्‍य स्‍टेशन पर भी इन यात्रियों की जांच और संगरोध की व्‍यवस्‍था की जाएगी।

तेलंगाना से एक हजार 225 प्रवासी मजदूरों को लेकर पहली श्रमिक विशेष रेलगाडी झारखंड के लिए रवाना

तेलंगाना से एक हजार 225 प्रवासी मजदूरों को लेकर पहली श्रमिक विशेष रेलगाडी झारखंड के लिए रवाना हुई। इसमें ज्‍यादातर निर्माण क्षेत्र में लगे मजदूर, संगारेड्डी जिले के कांधी में आई आई टी हैदराबाद से हैं। इस विशेष रेलगाडी में 12 शयनयान और चार सामान्‍य कोच हैं।

शिखा शर्मा बनी गूगल पे इंडिया की नई सलाहकार

एक्सिस बैंक की पूर्व सीईओ शिखा शर्मा को गूगल पे इंडिया का सलाहकार नियुक्त किया गया है। गूगल पे, यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) के लिए एक प्रमुख ऐप है। शर्मा की नियुक्ति गूगल पे इंडिया के कार्ड आधारित ऑफर के लिए मार्ग तलाशने के लिए गई है, जिसे जल्द ही लॉन्च किया जा सकता है। शर्मा ने 2008 में एक्सिस बैंक में शामिल होने के लिए ICICI बैंक से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने 2018 तक एक्सिस बैंक का संचालन किया और इसे देश की एक प्रमुख बैंकिंग इकाई में तब्दील करने में कामयाबी हासिल भी की। इसके अलावा शर्मा आईटी प्रमुख टेक महिंद्रा के बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक के रूप में भी सक्रिय हैं।

हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के मद्देनजर आयुर्वेदिक दवा मधुयष्टियादि कषाय यानि काढ़ा उपलब्‍ध कराने की शुरूआत की

हिमाचल प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी के मद्देनजर लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए राज्य के आयुर्वेद विभाग द्वारा तैयार आयुर्वेदिक दवा मधुयष्टियादि कषाय यानि काढ़ा उपलब्‍ध कराने की शुरूआत की। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने शिमला में इस आयुर्वेदिक काढ़े का शुभारंभ करते हुए कहा कि यह दवा रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करेगी और कोरोना योद्धाओं जैसे डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिस, वरिष्ठ नागरिक और सभी कोरोना मुक्‍त हुए लोगों को मुफ्त में मुहैया कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि हाल ही में बजट में घोषणा की गई थी कि यह आयुर्वेदिक दवा राज्य के सभी वरिष्ठ नागरिकों को मुफ्त में उपलब्‍ध कराई जाएगी।

कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक ने शुरू की विकास अभय ऋण योजना

कर्नाटक विकास ग्रामीण बैंक (KVGB) ने सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) उधारकर्ताओं को राहत देने के लिए 'विकास अभय' नामक एक ऋण योजना आरंभ की है। यह योजना कर्नाटक में धारवाड़ के उन उधारकर्ताओं के लिए शुरू की गई है जिनकी व्यावसायिक गतिविधियाँ COVID-19 महामारी के कारण बाधित हुई है। यह ऋण सुविधा मौजूदा एमएसएमई ग्राहकों के लिए होगी जो 29 फरवरी तक नियमित चालू रहे हैं, इसमें 1 लाख रुपये तक का अधिकतम ऋण प्रदान किया जाएगा, जिसमे सिक्यूरिटी नहीं ली जाएगी तथा जिसे उधारकर्ताओं को 36 महीने के चुकाना होगा। यह मौजूदा योग्य MSME उधारकर्ताओं के लिए अतिरिक्त क्रेडिट सुविधा है, जो उन्हें मौजूदा संकट से उभरने और व्यवहार्य गतिविधि गतिविधि की निरंतरता सुनिश्चित करने में मदद करेगी है।

Manulife ने Mahindra AMC में 265 करोड़ रुपये में 49% हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया

Manulife, Manulife Investment Management (Singapore) Pte Ltd की सिंगापुर शाखा ने Mahindra & Mahindra Financial Services '(Mahindra Finance) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक Mahindra Asset Management Company (AMC) में 49% हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया है।

जन औषधि सुगम मोबाइल एप

COVID-19 के मद्देनज़र राष्ट्रव्यापी लाॅकडाउन के कारण जन औषधि सुगम (Jan Aushadhi Sugam) मोबाइल एप नागरिकों को अपने निकटतम ‘प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि केंद्र (PMBJAK) का पता लगाने और सस्ती जेनेरिक दवा की उपलब्धता में सहायक बन रहा है। लगभग 325000 से अधिक लोग इसके द्वारा प्रदान किये गए लाभों को प्राप्त करने के लिये जन औषधि सुगम मोबाइल एप का उपयोग कर रहे हैं। उपभोक्ताओं के जीवन को आसान बनाने हेतु डिजिटल तकनीक का उपयोग करने के लिये ‘प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना’ (PradhanMantri Bhartiya Janaushadhi Pariyojana- PMBJP) के लिये इस मोबाइल एप्लिकेशन (जन औषधि सुगम) को ‘भारतीय फार्मा पीएसयू ब्यूरो’ (Bureau of Pharma PSUs of India - BPPI) द्वारा विकसित किया गया है। जो भारत सरकार के रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के तहत फार्मास्यूटिकल्स विभाग के अंतर्गत आता है।

ग्लेनमार्क फार्मा को मिली कोरोना संक्रमित मरीजों पर फैविपिराविर दवा के परीक्षण की मंजूरी

दवा कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स को कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों पर फैविपिराविर गोलियों का परीक्षण करने की अनुमति मिल गयी है। दवा कंपनी को ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया से कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए फैविपिराविर एंटीवायरस टैबलेट के क्लिनिकल ट्रायल की मंजूरी मिली है। ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ऐसी मंजूरी पाने वाली वह देश की पहली कंपनी है।

सानिया मिर्जा फेड कप हर्ट अवॉर्ड के लिए नामित

भारत की स्टार टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा को फेड कप हर्ट अवॉर्ड के लिए एशिया-ओसिनिया जोन से नामित किया गया है। यह उपलब्धि हासिल करने वाली वे भारत की पहली महिला खिलाड़ी हैं। सानिया ने मां बनने के दो साल बाद जनवरी में कोर्ट में वापसी की थी। उन्होंने होबार्ट इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का डबल्स खिताब जीता था। इसमें सानिया की जोड़ीदार यूक्रेन की नादिया किचेनॉक थीं। पूर्व डबल्स की नंबर-1 सानिया 2016 के बाद पहली बार इस साल के लिए फेड कप टीम में शामिल हुईं। उन्होंने अंकिता रैना से साथ मिलकर बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए भारत को फेड कप के प्लेऑफ में पहुंचाया था।

फीफा ने स्वास्थ्य कर्मियों को सम्मानित करने के लिए शुरू किया #WeWillWin अभियान

फेडरेशन इंटरनेशनेल डी फुटबॉल एसोसिएशन (फीफा) ने “#WeWillWin” नामक एक नया अभियान शुरू किया है। फीफा ने इस अभियान के तहत उन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और अन्य पेशेवरों के सम्मान में एक विशेष वीडियो सन्देश जारी किया है, जो COVID-19 महामारी के दौरान समाज को सुचारू रखने में लगे हुए। इस वीडियो में भारत के पूर्व फुटबॉल कप्तान भाईचुंग भूटिया भी शामिल है, जिन्हें 50 पुराने और वर्तमान स्टार फुटबॉल खिलाडियों में से एम्सबेडर के तौर पर चुना गया है।

1 मई : अंतर्राष्ट्रीय श्रमिक दिवस

अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस को मई दिवस के रूप में भी जाना जाता है। यह 1 मई को दुनिया भर में अंतरराष्ट्रीय श्रम संघों को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने के लिए मनाया जाता है। सबसे पहले 4 मई 1886 को अंतर्राष्ट्रीय श्रम दिवस विश्व स्तर पर मनाया गया था। वर्ष 1886 में शिकागो (अमरीका) में श्रमिक आठ घंटे की कार्य दिवस के लिए आम हड़ताल पर थे और पुलिस आम जनता की भीड़ को फैलाने का काम कर रही थी। अचानक भीड़ पर तभी एक अज्ञात व्यक्ति ने एक बम फेंक दिया। यह देख कर पुलिस ने मजदूरों पर गोलीबारी शुरू कर दी। कुछ प्रदर्शनकारियों की गोलीबारी से मौत हो गई। इस घटना के बाद मजदूरों को 8 घण्‍टे से ज्‍यादा काम करने पर मनाही की गयी थी। शिकागो में शहीद हुए मजदूरों की कुर्बानियों को याद करते हुए इस दिन पुष्प अर्पित करके श्रद्धांजलि दी जाती है। अमरीका में शहीदों ने अपने संघर्ष से 8 घंटे ड्यूटी का अधिकार दिलाया था।

प्रोड्यूसर्स गिल्ड के सीईओ कुलमीत मक्कड़ का निधन

'फिल्म एंड टेलीविजन प्रोड्यूसर्स गिल्ड ऑफ इंडिया' के सीईओ कुलमीत मक्कड़ का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। वे 60 साल के थे और लॉकडाउन की वजह से हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में फंसे हुए थे। मूलत: चंडीगढ़ के रहने वाले कुलमीत मक्कड़ अब पालमपुर में रह रहे थे।

स्वतंत्रता सेनानी और पद्मश्री से सम्मानित हेमा भारली का निधन

स्वतंत्रता सेनानी और पद्मश्री से सम्मानित गांधीवादी विचारक हेमा भारली का 101 वर्ष की आयु में निधन। वे स्वतंत्रता कार्यकर्ता, सामाजिक कार्यकर्ता और सर्वोदय नेता के रूप में बहुत लोकप्रिय थीं। उनका जन्म 19 फरवरी 1919 को असम में हुआ था। हेमा भारली ने 1950 में उत्तरी लखीमपुर में भूकंप के दौरान राहत कार्यों में योगदान दिया और 1962 में चीनी आक्रमण में असम-अरुणाचल प्रदेश सीमा पर लोगों की मदद भी की थी। वह 1951 में विनोबा भावे द्वारा शुरू किए गए भूदान आंदोलन में शामिल हुईं, जिसमें वह एक प्रमुख नेता बनकर उभरी थी। उन्हें 2005 में डॉ. ए.पी.जे अब्दुल कलाम द्वारा भारतीय के चौथे सबसे बड़े नागरिक पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। साल 2006 में, गृह मंत्रालय के तहत सांप्रदायिक सद्भाव के लिए राष्ट्रीय फाउंडेशन ने राष्ट्रीय सांप्रदायिक सद्भाव पुरस्कार और असम सरकार द्वारा उन्हें राष्ट्रीय एकता के लिए फखरुद्दीन अली अहमद मेमोरियल पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान चुन्नी गोस्वामी का निधन

भारत के पूर्व फुटबॉल कप्तान चुन्नी गोस्वामी का निधन। वह 1962 के एशियाई खेलों में स्वर्ण पदक जीतने वाली भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान थे। उनकी कप्तानी में, भारत 1964 में एशियाई कप में उपविजेता रहा था। चुन्नी गोस्वामी ने 1957 में अपना अंतरराष्ट्रीय करियर शुरु किया, जिसके बाद राष्ट्रीय टीम के सबसे बड़े सितारों के रूप में उभरे थे। उन्होंने 27 साल की उम्र में साल 1964 में अंतर्राष्ट्रीय फुटबॉल को अलविदा कह दिया था। उन्होंने क्लब फुटबॉल में मोहन बागान के लिए खेला। इसके अलावा वह एक अच्छे क्रिकेटर भी थे, जिन्हें 1971-72 सीज़न में बंगाल रणजी ट्रॉफी टीम का कप्तान बनाया गया था।

लेखक रोनाल्ड विवियन स्मिथ का 83 वर्ष की उम्र में निधन

दिल्ली के प्रतिष्ठित इतिहासकार और इतिवृत्त लेखक रोनाल्ड विवियन स्मिथ (Ronald Vivian Smith) का 83 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। आर.वी. स्मिथ का जन्म वर्ष 1938 में आगरा में हुआ था, और वे ग्वालियर आर्मी के कर्नल सल्वाडोर स्मिथ (1783-1871) के परिवार से हैं। आर.वी. स्मिथ ने अंग्रेजी साहित्य में स्नातकोत्तर की डिग्री प्राप्त की थी। उन्होंने अपने प्रोफेशनल कैरियर की शुरुआत वर्ष 1956 में अखबारों में लिखने के साथ की थी। इसके पश्चात् उन्होंने दिल्ली में समाचार एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) और द स्टेटसमैन अखबार के लिये भी काम किया। वर्ष 1996 में वह समाचार संपादक के पद से सेवानिवृत्त हुए। उनकी प्रमुख किताबें हैं ‘दिल्ली : अननोन टेल्स ऑफ ए सिटी’ (Delhi: Unknown Tales of a City), ‘द दिल्ली दैट नो वन नोज़’ (The Delhi That No-One Knows) आदि हैं। इसके अलावा उन्होंने ताजमहल पर भी एक पुस्तक लिखी है।

महाराष्ट्र में विप की नौ सीटों पर 21 को चुनाव

चुनाव आयोग ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की राह आसान करते हुए राज्य में विधान परिषद की नौ सीटों के लिए 21 मई को चुनाव कराने की घोषणा की है। ये चुनाव पहले 3 अप्रैल को होने वाले थे लेकिन लॉकडाउन के कारण टाल दिए गए थे।उल्लेखनीय है उद्धव ठाकरे ने गत 28 नवंबर को मुख्यमंत्री की शपथ ली है। वे अभी किसी सदन के सदस्य नहीं हैं। उनकी छह माह की अवधि 27 मई को पूरी होने जा रही है। संवैधानिक बाध्यता के चलते उन्हें तब तक किसी न किसी सदन का सदस्य हो जाना है। ऐसा न होने पर उन्हें पद छोड़ना पड़ेगा।

हिजबुल्लाह को जर्मनी ने आतंकवादी संगठन के रूप में वर्गीकृत किया

जर्मनी ने हिज़बुल्लाह नामक संगठन को आतंकवादी संगठन के रूप में वर्गीकृत किया। जर्मन पुलिस के अनुसार, जर्मनी में 1,000 से अधिक लोग हिजबुल्लाह चरमपंथी विंग से सम्बंधित हैं। हिजबुल्लाह एक शिया इस्लामवादी राजनीतिक पार्टी है जो लेबनान में स्थित है। लेबनानी शिया समूहों को एकजुट करने के लिए 1980 के दशक में ईरानी प्रयास द्वारा इस संगठन की स्थापना की गई थी। ईरान-इजरायल के टकराव में, हिजबुल्लाह ईरान के लिए एक प्रॉक्सी के रूप में कार्य करता है। 1982 में, इज़राइल ने लेबनान पर आक्रमण किया और दक्षिण लेबनान की एक पट्टी पर कब्जा कर लिया। उस समय क्षेत्र में मुस्लिम मौलवियों द्वारा हिजबुल्लाह की स्थापना की गयी।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.