Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

7 May 2020

सरकार ने आरोग्‍य सेतु आईवीआरएस सेवा शुरू की

केन्‍द्र सरकार ने फीचर फोन या लैंडलाइन फोन वाले लोगों के लिए आरोग्‍य सेतु आईवीआरएस सेवा शुरू की है। यह टोल फ्री सेवा देशभर में उपलब्‍ध है। इस सेवा के लिए लोगों को 1 9 2 1 नम्‍बर पर मिस्‍ड कॉल करनी होगी। इसके बाद उस व्‍यक्ति को फोन किया जाएगा और उसके स्‍वास्‍थ्‍य से संबंधित जानकारी मांगी जाएगी। व्‍यक्ति से वही सवाल पूछे जाएंगे जो आरोग्‍य सेतु ऐप पर उपलब्‍ध हैं। प्रश्‍नों के उत्‍तर के आधार पर नागरिकों को एसएमएस के जरिए उनके स्‍वास्‍थ्‍य की स्थिति बताई जाएगी और भविष्‍य में अन्‍य अलर्ट भेजे जाएंगे। मोबाइल सेवा की तरह यह सेवा 11 क्षेत्रीय भाषाओं में उपलब्‍ध है। इस सेवा पर उपलब्‍ध कराई गई नागरिकों की जानकारी आरोग्‍य सेतु डाटाबेस का हिस्‍सा होगी। नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने और अलर्ट भेजने के लिए इस जानकारी का उपयोग किया जाएगा। आरोग्‍य सेतु मोबाइल ऐप इलेक्‍ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने विकसित किया है। यह लोगों को नोबेल कोरोना वायरस के संक्रमण के जोखिम का आकलन करने की सुविधा देता है। सरकार ने सभी नागरिकों से यह मोबाइल ऐप डाउनलोड करने का आग्रह किया है। यह ऐप व्‍यक्ति को कोविड-19 रोगी के निकट आने या उसके आसपास होने के बारे में सूचना देता है। केंद्र ने सबसे पहले तमिलनाडु में परीक्षण के आधार पर आरोग्य सेतु आईवीआरएस सुविधा शुरू की थी।

विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने का सबसे बड़ा अभियान वंदे भारत मिशन 7 मई से शुरू

विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाने के सबसे बड़े अभियानों में से एक वंदे भारत मिशन के तहत सरकार सात से 13 मई के बीच 64 उड़ानें संचालित करेगी। इन उड़ानों के जरिए नोवेल कोरोना वायरस और लॉकडाउन के कारण विदेशों में फंसे लगभग 14 हजार 800 भारतीय नागरिकों को वापस लाया जाएगा। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने बताया कि वंदे भारत मिशन की तैयारियां शुरू हो गईं हैं।

भारतीय नौसेना ने विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए ऑपरेशन समुद्र सेतु की शुरूआत की

Samudra Setu अपनी तरह के अब तक के सबसे बड़े निकासी अभियान के तहत भारतीय नौसेना ने विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए ऑपरेशन समुद्र सेतु की शुरूआत की है। इस महानिकासी अभियान की शुरूआत में नौसेना के आईएनएस जलाश्‍व और मगर जहाज को मालदीव में माले भेजा गया है। मालदीव में भारत के उच्चायुक्त संजय सुधीर ने बताया कि भारतीय नागरिकों की निकासी के लिए व्‍यापक व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि निकासी का काम 8 मई से शुरू होगा और लगभग दो हजार फंसे लोगों को निकाले जाने की उम्मीद है।

सौरभ लोढ़ा ने जीता साल 2020 का यंग कैरियर अवार्ड इन नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी

आईआईटी बॉम्बे के प्रोफेसर सौरभ लोढ़ा को वर्ष 2020 के यंग कैरियर अवार्ड इन नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी से सम्मानित किया गया है। यंग कैरियर अवार्ड इन नैनो साइंस एंड टेक्नोलॉजी, पुरस्कार सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) द्वारा स्थापित किया गया है। उन्हें इस पुरस्कार से दो आयामी वैन डेर वाल्स सामग्री के आधार पर सिलिकॉन और नैनोइलेक्ट्रोनिक उपकरणों के अतीत में तर्कसंगत ट्रांजिस्टर प्रौद्योगिकियों के विकास में उनके महत्वपूर्ण योगदान के लिए सम्मानित किया गया है।

COVID-19 के दौरान वरिष्ठ नागरिकों की सुरक्षा के लिए सुरक्षित दादा-दादी और नाना-नानी अभियान: NITI Aayog

नेशनल इंस्टीट्यूशन फॉर ट्रांसफॉर्मिंग इंडिया (नीति आयोग) ने पिरामल फाउंडेशन के साथ सुरक्षित दादा दादी-नाना नानी कैंपेन शुरू किया है। इस कैंपेन का उद्देश्य बुजुर्गो को लॉकडाउन के समय में सहायता पहुंचाना है। पिरामल फाउंडेशन पूरे देश में इस योजना को कार्यान्वित कर रही है। जिसका उद्घाटन नीति आयोग के सीईओ अमिताभकांत ने ऑनलाइन किया। सुरक्षित दादा दादी-नाना नानी कैंपेन देश के 25 आकांक्षी जिलों (Aspirational District) में इसकी शुरुआत की गई है। इस अभियान के तहत वरिष्ठ नागरिकों को फोन के जरिए संपर्क करके उनकी जरूरतों व स्वास्थ्य संबंधित जानकारी हासिल की जाएगी। जिससे उन बुजुर्गों को संक्रमित होने से बचाया जा सके और कोरोना वायरस के प्रकोप को कम किया जा सके।

स्वास्थ्यकर्मियों कें लिए पीपीई किट बनाने को पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस का आईआईटी-दिल्ली से करार

पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने स्वास्थ्य कर्मियों के लिए व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) किट बनाने को भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान-दिल्ली (आईआईटी-दिल्ली) से हाथ मिलाया है। करार के तहत पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस एक टिकाऊ (धोने योग्य और पुन् इस्तेमाल) वाली पीपीई किट के विनिर्माण के लिए विशिष्ट प्रोटोटाइप सामग्री के शोध और विकास में सहयोग करेगा। पीएनबी हाउसिंग फाइनेंस ने कहा कि इन पीपीई किटों की आपूर्ति सरकारी अस्पतालों को की जाएगी। कोविड-19 के मरीजों के इलाज में जुटे स्वास्थ्य कर्मियों को खुद को संक्रमित होने से बचाने के लिए पीपीई किट अत्यंत आवश्यक होती है।

भारत डायनामिक्स लिमिटेड ने COVID-19 उपचार के लिए वेंटिलेटर के निर्माण के लिए IIT कानपुर के साथ समझौता किया

आइआइटी कानपुर के पूर्व छात्रों का बनाया पोर्टेबल वेंटिलेटर रक्षा क्षेत्र की कंपनी भारत डायनेमिक्स लिमिटेड (बीडीएल) को खासा पसंद आया है। बीडीएल ने आइआइटी कानपुर के पूर्व छात्रों की स्टार्टअप कंपनी नोवा रोबोटिक्स से करार किया है। एमओयू साइन होने के बाद अब बीडीएल रक्षा क्षेत्र में इस्तेमाल के लिए बड़े पैमाने पर वेंटिलेटर का निर्माण कराएगा।

लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला ने संभाली ARTRAC की कमान

लेफ्टिनेंट जनरल राज शुक्ला ने आर्मी ट्रेनिंग कमांड (ARTRAC) की कमान संभाल ली है । जनरल शुक्ला को दिसंबर 1982 में रेजीमेंट ऑफ आर्टिलरी में कमीशन्‍ड किया गया था। उन्‍होंने ईस्‍टर्न और डेजर्ट थिएटर्स में मीडियम रेजीमेंट, आतंकवाद विरोधी अभियानों एक इन्फैंट्री ब्रिगेड, घाटी में नियंत्रण रेखा के पास एक इन्फैंट्री डिवीजन और पश्चिमी सीमा के साथ एक कोरकी कमान संभाली।

आर्थिक मामलों के सचिव तरुण बजाज को आरबीआई सेंट्रल बोर्ड में निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया

सरकार ने वित्त मंत्रालय में आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव तरुण बजाज को भारतीय रिज़र्व बैंक के केंद्रीय बोर्ड के निदेशक के रूप में नामित किया है। वे भारतीय रिज़र्व बैंक में अतनु चक्रवर्ती की जगह आए हैं। चक्रवर्ती 30 अप्रैल को आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव के पद से रिटायर हुए हैं।

अधीर रंजन चौधरी को संसद की लोक लेखा समिति के अध्यक्ष के रूप में फिर से नियुक्त किया गया

लोकसभा में कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी को लोक लेखा संसदीय समिति का अध्यक्ष नियुक्त किया गया। लोकसभा और राज्य सभा के 19 अन्य सदस्यों को भी समिति के सदस्य के रूप में चुना गया है।

बेरोजगारी दर 27.1% तक पहुँच गयी है : CMIE

भारतीय अर्थव्यवस्था की निगरानी के केंद्र (CMIE) ने बेरोजगारी के आंकड़े जारी किए। आंकड़ों के मुताबिक इस समय 121.5 मिलियन लोगों के पास काम नही है। डाटा में कहा गया है कि COVID-19 संकट के कारण 91.3 मिलियन दिहाड़ी मजदूर बेरोजगार हैं। इसके अलावा, 18.2 मिलियन उद्यमी बिना काम के हैं क्योंकि मजदूरों की कमी है। COVID-19 के कारण लगभग 17.8 मिलियन वेतनभोगी कर्मचारी भी प्रभावित हुए हैं। लॉक डाउन के कारण बेरोज़गारी दर 27.1% हो गयी है। शहरी और ग्रामीण दोनों बेरोजगारी दर बढ़ी हैं। ग्रामीण बेरोजगारी 20.88% से बढ़कर 26.16% हो गई है। ग्रामीण आबादी की मदद करने के लिए भारत सरकार मनरेगा को मजबूत कर रही है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत मनरेगा की मजदूरी में वृद्धि की गई है। साथ ही, झारखंड जैसे कई राज्य इस तरह के उपायों को आगे बढ़ाने के लिए योजनाएं शुरू कर रहे हैं।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित किया गया बांस कॉन्क्लेव

हाल ही में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एक बांस कॉन्क्लेव आयोजित किया गया, जिसमे पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय,केंद्रीय कृषि मंत्रालय के प्रतिनिधियों और विभिन्न क्षेत्रों के हितधारकों ने भाग लिया। इस सम्मेलन को केन्द्रीय पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. जितेन्द्र सिंह द्वारा संबोधित किया गया। कॉन्क्लेव को संबोधित करते हुए, मंत्री ने कहा कि COVID के बाद भारत की अर्थव्यवस्था के लिए बांस महत्वपूर्ण है और साथ ही यह भारत को अपने बांस संसाधनों की सहायता से आर्थिक शक्ति के रूप में उभरने का अवसर भी प्रदान करेगा।

मनरेगा कार्य दिवसों को बढ़ाने के लिए झारखंड द्वारा शुरू की गई 3 योजनाएं

झारखंड सरकार ने हाल ही में तीन कल्याणकारी कार्यक्रम शुरू किए हैं, जो निवासी श्रमिकों और आने वाले प्रवासी मजदूरों को रोजगार प्रदान करने पर केंद्रित हैं। इन तीन योजनाओं को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार किया गया है। इन योजनाओं को झारखण्ड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा लांच किया गया हैं, यह योजनायें हैं :
बिरसा हरित ग्राम योजना : बिरसा हरित ग्राम योजना का लक्ष्य दो लाख एकड़ से अधिक अनुपयोगी सरकारी परती भूमि का वनीकरण करना है। इस योजना के तहत सड़क के दोनों ओर फलदार पौधे लगाये जायेंगे। इस योजना से ग्रामीण तीन वर्ष के बाद 50,000 रुपये की वार्षिक आय अर्जित कर सकते हैं।
नीलाम्बर पीताम्बर जल समृद्धि योजना : नीलाम्बर पीताम्बर जल समृद्धि योजना का उद्देश्य कृषि-जल भंडारण इकाइयाँ बनाना है। इसके द्वारा भूमिगत जल को बढाने पर बल दिया जायेगा। इस योजना के तहत 5 लाख करोड़ लीटर भूमिगत जल भंडार के निर्माण का लक्ष्य रखा गया है।
पोतो हो खेल विकास योजना : पोतो हो खेल विकास योजना का लक्ष्य राज्य भर में खेल मैदान विकसित करना है।
इस योजनाओं के तहत राज्य के ग्रामीण विकास विभाग ने 25 करोड़ मानव दिवस के सृजन का लक्ष्य रखा है, इसके लिए 20,000 करोड़ रुपये आबंटित किये गये हैं।

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के अंतर्गत 39 करोड से अधिक लोगों को 34 हजार 800 करोड रुपये की वित्‍तीय सहायता प्राप्‍त हुई

प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के अंतर्गत अब तक करीब 39 करोड गरीबों को 34 हजार 800 करोड रुपये वितरित किये जा चुके हैं। इस वर्ष मार्च में वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन द्वारा घोषित इस कार्यक्रम के अंतर्गत महिलाओं, गरीब वरिष्‍ठ नागरिकों और किसानों को खाद्यान्‍न और नकद राशि दी जाती है। केंद्र और राज्‍य सरकारें लगातार इस कार्यक्रम की निगरानी कर रहे हैं।

मार्कस वॉलनबर्ग पुरस्कार 2020 की हुई घोषणा

इस साल जलवायु परिवर्तन में वन वृद्धि की भविष्यवाणी करने वाले मॉडल 3-PG (Physiological Principles Predicting Growth) के लिए जोसेफ जे लैंड्सबर्ग, रिचर्ड एच वार्निंग और निकोलस सी कोप्स, वन क्षेत्र के लिए वर्ष 2020 का मार्कस वॉलनबर्ग पुरस्कार (Marcus Wallenberg Prize) साझा करेंगे। यह पुरस्कार स्वीडन के राजा कार्ल गुस्ताफ XVI द्वारा स्वीडन के स्टॉकहोम में एक समारोह के दौरान प्रदान किया जाएगा, जिसकी पुरस्कार राशि 2 मिलियन क्रोनर है। मार्कस वॉलनबर्ग पुरस्कार की स्थापना की साल 1980 में स्ट्रॉ कोपरबर्ग्स बर्गस्लेग्स एबी द्वारा डॉ. मार्कस वॉलबर्ग द्वारा बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर्स के सदस्य और अध्यक्ष के रूप में लंबे समय तक प्रदान की गई सेवाओं को सम्मानित करने के लिए इसकी वार्षिक बैठक में की गई थी। इस पुरस्कार को दिए जाने का उद्देश्य- उन वैज्ञानिक उपलब्धियों को पहचानने के लिए प्रोत्साहित करना और बढ़ावा देना, जो ज्ञान को व्यापक बनाने और वानिकी और वन उद्योगों के महत्व के क्षेत्रों में तकनीकी विकास में महत्वपूर्ण योगदान देते हैं।

बे ऑफ बंगाल बाउंड्री लेयर एक्सपेरिमेंट

हाल ही में बेंगलुरू स्थित ‘भारतीय विज्ञान संस्थान’ एवं यूके स्थित ‘यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट एंग्लिया’ की एक टीम ने ‘बे ऑफ बंगाल बाउंड्री लेयर एक्सपेरिमेंट’ (Bay of Benga.l Boundary Layer Experiment- BoBBLE) के तहत मानसून, उष्णकटिबंधीय चक्रवातों एवं मौसम संबंधी अन्य पूर्वानुमानों की सटीक भविष्यवाणी के लिये एक ब्लूप्रिंट तैयार किया है। BoBBLE, भारत एवं यूके की एक संयुक्त परियोजना है। इस परियोजना का उद्देश्य मानसून प्रणाली पर बंगाल की खाड़ी में समुद्री प्रक्रियाओं के प्रभाव की जाँच करना है। इस परियोजना को भारत सरकार के पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences) एवं ब्रिटेन के ‘प्राकृतिक पर्यावरण अनुसंधान परिषद’ (Natural Environment Research Council) द्वारा वित्तपोषित किया गया है। बंगाल की खाड़ी ‘दक्षिण एशियाई ग्रीष्मकालीन मानसून प्रणाली’ को नियंत्रित करने में अहम भूमिका निभाती है।

चीन ने ‘द लांग मार्च 5बी’ को सफलतापूर्वक लॉन्च किया

चीन ने हैनान (Hainan) प्रांत के दक्षिणी द्वीप से एक अंतरिक्ष रॉकेट ‘द लांग मार्च 5बी’ (The Long March 5B) को सफलतापूर्वक लॉन्च किया। यह प्रक्षेपण चीन के महत्त्वपूर्ण अंतरिक्ष कार्यक्रमों का एक अहम पड़ाव है। वर्ष 2022 तक चीन एक स्थायी अंतरिक्ष स्टेशन का संचालन करने तथा चंद्रमा पर 6 सदस्यों के एक दल को भेजने की योजना बना रहा है। उल्लेखनीय है कि संयुक्त राज्य अमेरिका एकमात्र ऐसा देश है जिसने सफलतापूर्वक मानव को चंद्रमा पर भेजा है।

वैज्ञानिकों ने सार्स-सीओवी- 2 में लगभग 200 आनुवंशिक उत्‍परिवर्तनों की पहचान की

वैज्ञानिकों ने सार्स-सीओवी- 2 में लगभग 200 आनुवंशिक उत्‍परिवर्तनों की पहचान की है। दुनियाभर में सात हजार पांच सौ से अधिक कोविड-19 रोगियों के वायरस जीन्‍स का विश्‍लेषण करके यह उपलब्‍धि हासिल की गई है। इससे कोविड-19 की दवाई और वैक्‍सीन की दिशा में काम किया जा सकेगा। शोध पत्रिका में प्रकाशित अध्‍ययन में वायरस के संक्रमण, आनुवंशिकी, विकास और जीनोम की विविधता के बारे में जानकारी दी गई है। अध्‍ययन में यह भी बताया गया है कि यह वायरस मनुष्‍य में कैसे फैल सकता है। ब्रिटेन में यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ लंदन के शोधार्थियों ने पता लगाया है कि सबसे अधिक प्रभावित देशों में सार्स-सीओवी- 2 की वैश्विक जेनेटिक विविधता के विशाल समानुपात से स्‍पष्‍ट हुआ है कि ज्‍यादातर देशों में यह महामारी शुरू में ही व्‍यापक रूप से फैल गई।

कोविड-19 से निपटने के लिए आयुष के उपायों से संबंधित अंतर-विषयक अध्ययनों का औपचारिक शुभारंभ

आयुष मंत्री श्री श्रीपद येसो नाइक और स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन नई दिल्ली में कोविड-19 स्थिति से संबंधित आयुष आधारित तीन अध्ययनों का संयुक्त रूप से शुभारंभ करेंगे। आयुष मंत्रालय ने आयुष प्रणालियों के नैदानिक अध्ययनों (रोगनिरोधी और पूरक उपाय) के माध्यम से देश में कोविड-19 महामारी की समस्या का समाधान करने के लिए अनेक पहल की हैं। मंत्रालय कोविड-19 की रोकथाम के लिए ज्‍यादा जोखिम वाली आबादी में आयुष आधारित रोगनिरोधी उपायों के प्रभावों के साथ-साथ आयुष को बढ़ावा देने और आयुष उपायों का भी अध्ययन कर रहा है। निम्नलिखित अध्ययनों का औपचारिक शुभारंभ 07 मई, 2020 को होगा:
रोगनिरोधी के रूप में आयुर्वेद के उपायों पर और कोविड-19 की मानक देखभाल के लिए एक पूरक उपाय के रूप में नैदानिक ​​अनुसंधान अध्ययन: आईसीएमआर के तकनीकी सहयोग के साथ वैज्ञानिक व औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के माध्यम से आयुष मंत्रालय, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय और विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय की संयुक्त पहल के रूप में सहयोगात्मक नैदानिक ​​अध्ययन।
आयुष आधारित रोगनिरोधी उपायों के प्रभाव पर जनसंख्या आधारित उपायों का अध्ययन: आयुष मंत्रालय ज्‍यादा जोखिम वाली आबादी में कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए आयुर्वेदिक उपायों के प्रभाव का अध्ययन करने के लिए जनसंख्या आधारित अध्ययन शुरू कर रहा है।
कोविड-19 की रोकथाम में अपनी भूमिका में आयुष एडवाइजरी की स्वीकृति और उपयोग के प्रभाव के आकलन के लिए आयुष संजीवनी अनुप्रयोग आधारित अध्ययन: आयुष मंत्रालय ने 5 मिलियन लोगों के लक्ष्य के साथ बड़ी आबादी का डेटा सृजित करने के लिए आयुष संजीवनी मोबाइल एप विकसित किया है।

कोविड-19 से लडने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकियों के संकलन का महानिदेशक, सीएसआइआर द्वारा लोकार्पण

सीएसआइआर मुख्यालय, नई दिल्ली में डॉ. शेखर सी. मांडे, महानिदेशक, सीएसआइआर व सचिव, डीएसआइआर, ने कोविड-19 (ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटिंग) से लडने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकियों के संकलन का लोकार्पण किया जो नेशनल रिसर्च डिवेलपमेंट कारपोरेशन (एनआरडीसी) द्वारा तैयार किया गया है. इस संकलन में कोविड-19 से जुडी 200 भारतीय प्रौद्योगिकियों, वर्तमान अनुसंधान गतिविधियों, व्यावसायीकरण के लिए उपलब्ध प्रौद्योगिकियों, भारत सरकार द्वारा की गई पहल और प्रयासों के बारे में जानकारियां शामिल है, जिनका वर्गीकरण ट्रैकिंग, टेस्टिंग और ट्रीटिंग -3 टी- के अंतर्गत किया गया है। इनमें से अधिकांश प्रौद्योगिकियां परीक्षण की कसौटी पर खरी उतरी हैं और उत्पाद को तेजी से बाजार में प्रस्तुत करने में उद्यमियों को मदद कर सकती हैं क्योंकि उन्हें नवीन रूप में फिर से स्थापित करने की आवश्यकता नहीं है। डॉ. मांडे ने कोविड -19 से लडने के लिए भारतीय प्रौद्योगिकियों का संकलन तैयार करने के लिए एनआरडीसी की पहल की सराहना की और कहा कि यह संकलन समसामयिक है और इससे सूक्ष्म, लघु व मध्यम उद्यमियों, स्टार्टअप्स और व्यापक स्तर पर आम जनता को बड़े पैमाने पर लाभ होगा।

COVID-19: मध्य प्रदेश में स्थानीय स्तर पर अनोखा वाहन विकसित किया गया

मध्य प्रदेश में, अपनी पहली पहल में, स्थानीय स्तर पर एक अद्वितीय वाहन विकसित किया गया है। इस वाहन की मदद से स्वास्थ्य कार्यकर्ता किसी भी संदिग्ध मरीज की जांच में उसके संपर्क में आए बिना उसकी जांच कर सकते हैं। इस वाहन का नाम संजीवनी रखा गया है। छतरपुर जिले के राजनगर प्रशासन की पहल पर बनाया गया यह अनोखा वाहन स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के लिए अत्यधिक उपयोगी है।

असम में स्वास्थ्य विभाग कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्य में सामुदायिक निगरानी शुरू करेगा

असम में स्वास्थ्य विभाग कोरोना महामारी के मद्देनजर से राज्य में सामुदायिक निगरानी शुरू करेगा। पहले चरण में 28 हजार गांवों को शामिल किया जाएगा। गांवों के बाद यदि आवश्‍यक हुआ, तो शहरी क्षेत्रों को कवर किया जाएगा। इस प्रक्रिया में आशा, सहायक नर्स मिडवाइफ और निगरानी टीम घर-घर जाएगी। इस पहल का उद्देश्य घरों पर ही मामूली फ्लू जैसे मामलों का इलाज करना है। यह मलेरिया, डेंगू, जापानी एन्सेफलाइटिस और खसरा जैसे दूसरे बुखार से जुड़ी अन्य बीमारियों के लिए निगरानी के काम में भी मदद करेगा।

CSIR-IGIB पाटनर्स ने KNOWHOW लाइसेंस के लिए TATA Sons के साथ की साझेदारी

CSIR की समर्थित प्रयोगशाला इंस्टीट्यूट ऑफ जीनोमिक्स एंड इंटीग्रेटिव बायोलॉजी (IGIB) ने COVID-19 के जल्दी इलाज के कार्यन्वन के लिए, टाटा संस के साथ FELUDA के लिए KNOWHOW के लाइसेंस प्रदान करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। इस एमओयू का उद्देश्य लाइसेंस प्रदान करना है जो जल्द से जल्द जमीन स्तर पर COVID-19 परीक्षण के लिए नियोजित करने के लिए किट के रूप में KNOWHOW को बढ़ाने के लिए ज्ञान के आदान-प्रदान को सक्षम करेगा। इस प्रकार, MoU के अंतर्गत, CSIR-IGIB अब जल्द से जल्द व्यापक उपयोग के लिए FELUDA लाने के लिए टाटा संस के साथ मिलकर काम करेगा।

बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप 2020 को अगले साल के लिए किया गया स्थगित

इस साल आयोजित होने वाली बैडमिंटन वर्ल्ड चैंपियनशिप 2020 को अगले साल यानि नवंबर 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया है। यह टूर्नामेंट हर साल अधिकतर अगस्त में आयोजित किया जाता है, लेकिन अब इसे 29 नवंबर से 5 दिसंबर, 2021 तक आयोजित किया जाएगा। इस विश्व चैंपियनशिप को स्पेन के हुवावे में कैरोलिना मारिन स्टेडियम में आयोजित किया जाएगा। निलंबित किए गए अधिकांश टूर्नामेंट टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफायर थे। इस चैंपियनशिप का आयोजन बैडमिंटन वर्ल्ड फेडरेशन (BWF) और स्पेनिश बैडमिंटन फेडरेशन (FESBA) द्वारा किया जाता है।

सैनिक सेवा पदक पा चुके पूर्व केंद्रीय मंत्री दलित एझिलामलाई का निधन

पूर्व केंद्रीय मंत्री दलित एझिलामलाई का निधन। वे पट्टली मक्कल काची पार्टी के नेता थे और उन्होंने 1998-99 में अटल बिहारी वाजपेयी सरकार के दौरान केंद्रीय स्वास्थ्य, परिवार कल्याण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) के रूप में कार्य किया था। वह चिदंबरम, तमिलनाडु से 12 वीं लोकसभा के लिए चुने गए थे। उन्होंने सैन्य अधिकारी के रूप में 1971 के भारत-पाक युद्ध में भाग लिया। इसके अलावा उन्हें सेना में सराहनीय सेवा के लिए राष्ट्रपति द्वारा सैनिक सेवा पदक भी दिया गया था।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.