Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

20 June 2020

भारत ने जलवायु संकट की स्थिति पर जारी की राष्ट्रीय रिपोर्ट

भारत द्वारा जलवायु संकट की स्थिति पर देश की पहली राष्ट्रीय रिपोर्ट जारी की गई है। इस रिपोर्ट को पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (Ministry of Earth Sciences) के तत्वावधान में Assessment Of Climate Change Over The Indian Region अर्थात भारतीय क्षेत्र पर जलवायु परिवर्तन का आकलन शीर्षक के साथ तैयार किया गया है। इस रिपोर्ट में भारत जलवायु पैटर्न और उनके परिचर जोखिमों में दीर्घकालिक परिवर्तनों के संबंध में विश्लेषण किया गया है। रिपोर्ट से जुड़ी मुख्य बाते:

  • इस रिपोर्ट से पता चला कि वर्ष 1901-2018 के दौरान भारत का औसत तापमान 0.7 डिग्री सेल्सियस बढ़ा है, इस तापमान वृद्धि का प्रमुख कारण ग्रीनहाउस गैसों (GHG) के उत्सर्जन को बताया गया है।
  • साथ ही इसमें 2099 तक भारत के तापमान में वृद्धि से संबंधित दो अलग-अलग परिदृश्यों की भविष्यवाणी की है। सबसे बेहतर मामले में, सदी के अंत भारत के तापमान में अभी भी 2.7 डिग्री सेल्सियस की वृद्धि होगी, जबकि सबसे खराब स्थिति में तापमान 4.4 डिग्री सेल्सियस तक बढ़ जाएगा।
  • मानसून के बारे में, यह दर्शाता है कि प्रदूषण फैलाने वाले एरोसोल "ब्राउन क्लाउड" की वजह से 1951-2015 के बीच उत्तर भारत में वर्षा 6% कम हो गई है। आगामी दशकों में मानसून के और अधिक चरम होने की उम्मीद है।
  • इसके अलावा इसमें 1976-2005 की तुलना में अप्रैल-जून हीटवेव के 2099 तक चार गुना अधिक होने की भविष्यवाणी की गई है।
  • रिपोर्ट में बताया गया है कि मुंबई के पास समुद्र का स्तर प्रति दशक 3 सेमी की दर से बढ़ रहा है, जबकि बंगाल के तट से यह 5 सेमी प्रति दशक के अनुसार बढ़ रहा है।
  • साथ ही, इसमें उल्लेख किया गया है कि 1951-2015 के दौरान बंगाल की खाड़ी और अरब सागर सहित हिंद महासागर में सतह का तापमान 1 डिग्री सेल्सियस बढ़ गया है जो वैश्विक औसत से अधिक है।
  • इसके अतिरिक्त यह भी दर्शाता है कि गर्म दिनों और रातों की आवृत्ति क्रमशः 55% और 70% तक बढ़ने की उम्मीद है।

भारत 2019 में वैश्विक प्राथमिक ऊर्जा खपत का दूसरा बड़ा चालक रहा: बीपी स्टेटिसटीकल समीक्षा

भारत वर्ष 2019 में प्राथमिक ऊर्जा की खपत बढ़ाने वाला चीन के बाद दूसरा प्रमुख बाजार रहा। हालांकि, इस दौरान इसके तेल और कोयले की कुल मांग में कमी आई है। बीपी स्टेटिस्टिकल की जारी समीक्षा में यह कहा गया है। बीपी सांख्यिकीय समीक्षा के अनुसार, 2019 में भारत की ऊर्जा खपत चीन (141.70 Exajoules) और अमेरिका (94.65 ईजे) के बाद तीसरी सबसे बड़ी थी। जहां विश्व प्राथमिक ऊर्जा की खपत 583.90 Exajoules (EJ) तक पहुंच गई, वहीं भारत की खपत 2.3 प्रतिशत बढ़कर 34.06 EJ हो गई है।

सौरव गांगुली, सुनील छेत्री जेएसडब्ल्यू सीमेंट के ब्रांड एम्बैसडर

जेएसडब्ल्यू सीमेंट ने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगली तथा भारत की राष्ट्रीय फुटबॉल टीम के कप्तान और बेंगलुरु एफसी के कप्तान सुनील छेत्री को अपना ब्रांड एम्बैसडर बनाया है। जेएसडब्ल्यू सीमेंट 14 अरब डॉलर के जेएसडब्ल्यू समूह की कंपनी है। कंपनी 20 जून से पश्चिम बंगाल, बिहार और ओड़िशा में नया मार्केटिंग अभियान लीडर्स चॉइस शुरू करने जा रही है।

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक- सिडबी ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए

आवास और शहरी कार्य मंत्रालय और भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक- सिडबी ने एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। सिडबी को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना को लागू करने वाली एजेंसी बनाने के लिए ये समझौता किया गया है। मंत्रालय ने रेहड़ी-पटरी के कारोबार से जुडें लोगों के लिए प्रधानमंत्री आत्मनिर्भर निधि यानि पीएम स्वनिधि योजना पहली जून को शुरू की थी। इस योजना का उद्देश्य कोविड-19 के कारण लॉकडाउन के दौरान बुरी तरह प्रभावित रेहड़ी-पटरी वालों को किफायती ऋण उपलब्ध कराने के लिए शुरू की गई है। इस योजना के तहत 50 लाख से अधिक लोगों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य है। रेहड़ी-पटरी का काम करने वाले लोग इस योजना के तहत 10 हजार रुपये तक का कार्यकारी पूंजी ऋण ले सकते हैं। ऋण की किस्‍त एक वर्ष की अवधि में प्रतिमाह चुकानी होगी।

ग्रामीण निकायों को 15वें वित्त आयोग के अनुदान की पहली किस्त जारी

ग्रामीण स्थानीय निकायों को 15वें वित्त आयोग के अनुदान की पहली किस्त जारी कर दी गई है। 15,187.50 करोड़ रूपए की यह राशि 28 राज्यों को दी गई है। केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास तथा पंचायती राज मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने बताया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में पंचायतों को कुल 60,750 करोड़ रू. का अनुदान मिलेगा, जो कि वित्त आयोग द्वारा किसी एक वर्ष में किया गया सबसे अधिक आवंटन है। वहीं, केंद्र सरकार की सिफारिश पर पहली बार पूर्वोत्तर राज्यों की परंपरागत इकाइयों को भी अनुदान दिया जा रहा है। पहली बार ग्राम पंचायतों के साथ ही ब्लॉक पंचायतों व जिला पंचायतों को भी अनुदान मिल रहा है। स्वच्छता तथा खुले में शौच मुक्त स्थिति बनाए रखने एवं पेयजल व वर्षा-जल संचयन आदि के कार्यों पर जोर दिया गया है। कोविड-19 संकट के दौर में अभी प्रवासी मजदूरों को लाभकारी रोजगार उपलब्ध कराना मुख्य उद्देश्य है।

नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने हरित ऊर्जा क्षेत्र में निवेश के लिये परियोजना विकास प्रकोष्ठ बनाया

नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय (एमएनआरई) ने स्वच्छ ऊर्जा खासकर सौर क्षेत्र में निवेश आकर्षित करने के लिये परियोजना विकास प्रकोष्ठ (पीडीसी) स्थापित किया है। यह प्रकोष्ठ निवेश के लिये उन नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं की पेशकश करेगा जहां विस्तृत परियोजना रिपोर्ट, जमीन की उपलब्धता आदि जैसे सभी जरूरी काम पूरे हो चुके हैं। परियोजना विकास प्रकोष्ठ का गठन एमएनआरई में संयुक्त सचिव अमितेश कुमार सिन्हा की अगुवाई में किया गया है।

सऊदी अरब का पीआईएफ जियो प्लेटफॉर्म्स में करेगा 11367 करोड़ रुपये का निवेश

जियो प्लेटफॉर्म्स और रिलायंस उद्योग/ इंडस्ट्रीज ने सऊदी अरब के सार्वजनिक निवेश कोष द्वारा 11,367 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की। अब इस घोषित निवेश से जियो प्लेटफॉर्म्स का उद्यम मूल्य 5.16 लाख करोड़ रुपये और इक्विटी मूल्य 4.91 लाख करोड़ रुपये हो गया है। सऊदी अरब का पीआईएफ निवेश पूरी तरह से मिश्रित आधार पर जियो प्लेटफॉर्म्स में 2.32% इक्विटी हिस्सेदारी के रूप में बदल जाएगा। यह 22 अप्रैल, 2020 से नौ सप्ताह के भीतर जियो प्लेटफॉर्म्स में ग्यारहवां निवेश है। सऊदी अरब के निवेश के साथ, जियो प्लेटफॉर्म्स ने सिल्वर लेक, फेसबुक, जनरल अटलांटिक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, केकेआर, मुबाडाला, एडीआईए, एल कैटरटन और टीपीजी सहित प्रमुख वैश्विक निवेशकों से 1,15,693.95 करोड़ रुपये एकत्रित किये हैं।

ब्रिटिश पेट्रोलियम पुणे में खोलेगी ग्लोबल बिजनेस सर्विस सेंटर

ब्रिटेन की प्रमुख तेल कंपनी ब्रिटिश पेट्रोलियम अपने वैश्विक व्यवसायों को सपोर्ट करने के लिए महाराष्ट्र के पुणे में ग्लोबल बिजनेस सर्विस सेंटर खोलने जा रही है। महाराष्ट्र के पुणे में यह केंद्र वैश्विक व्यापार सेवाओं (GBS) के संचालन के लिए स्थापित किया जाएगा। इस केंद्र का जनवरी 2021 तक परिचालन शुरू होने के संभावना है। इस प्रस्तावित ग्लोबल बिजनेस सर्विस सेंटर से लगभग 2000 लोगों को रोजगार मिलेगा और पूरे विश्व के लिए बीपीओ और एडवांस एनालिटिक्स कैपेबिलिटी जैसी सेवाएं भी प्रदान करेगा। भारत GBSC तेल प्रमुख को भारत के डिजिटल प्रतिभा पूल से जुड़ने में मदद करेगा और जो इसके विकास और अत्याधुनिक डिजिटल समाधान के अनुप्रयोग के परिणामस्वरूप हो पाएगा।

ह्युंडई ने कार लोन के लिए एचडीएफसी बैंक से हाथ मिलाया

ह्युंडई मोटर इंडिया लिमिटेड (एचएमआइएल) ने अपने ग्राहकों के लिए लोन सुविधा बेहतर बनाने के मकसद से एचडीएफसी बैंक के साथ समझौता किया है। यह लोन सुविधा कंपनी के उन ग्राहकों को मिल सकेगी जो इसके ऑनलाइन ऑटोमोटिव रिटेल प्लेटफॉर्म ‘क्लिक टू बाय’ के जरिये कार खरीदेंगे।

बाई ने खेल रत्न के लिए भेजा श्रीकांत का नाम

भारतीय बैडमिंटन संघ (बाई) ने किदांबी श्रीकांत का नाम खेल रत्न पुरस्कार के लिए भेज दिया, जिन्होंने एक टूर्नामेंट से बीच में से हटने के लिए माफी मांग ली थी।

जौनपुर में स्थापित होगी ऑल वीमेन कृषक उत्पादक कंपनी

उत्तर प्रदेश के जौनपुर जिले में नाबार्ड (राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक) से जुड़ीं स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अब अपने उत्पाद की बिक्री स्वयं कर सकेंगी। महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने की कड़ी में एक और कदम आगे बढ़ाते हुए नाबार्ड की तरफ से इनकी प्रोड्यूसर कंपनी तैयार की गई है। जिसका नाम ऑल वीमेन कृषक उत्पादक कंपनी दिया गया है। इसकी मंजूरी प्रदेश के क्षेत्रीय कार्यालय लखनऊ से प्राप्त हो गई है। साथ ही यह यूपी में पहली कंपनी बनी है जो पूरी तरह से महिलाओं की होगी

उत्तर प्रदेश में मिला 50 लाख साल पुराने विलुप्त हाथी का जीवाश्म

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 50 लाख साल पुराना स्टेगोडॉन प्रजाति के हाथी का जीवाश्म मिला है। इस प्रजाति के हाथी अब विलुप्त हो चुके हैं। शिवालिक वन प्रभाग के सहारनपुर वन क्षेत्र में सर्वेक्षण के दौरान यह सफलता मिली है। जीवाश्म के अध्ययन के बाद वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी देहरादून के वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि यह जीवाश्म 50 लाख वर्ष से अधिक पुराना तथा स्टेगोडॉन प्रजाति के हाथी का है। सहारनपुर जनपद के अंतर्गत शिवालिक वन प्रभाग सहारनपुर का वनक्षेत्र 33,229 हेक्टेयर है।

रिलायंस बनी 150 बिलियन डॉलर के मूल्य वाली पहली भारतीय कंपनी

मुंबई स्थित भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) 19 जून, 2020 को 150 अरब डॉलर के मूल्य को छूने वाली पहली भारतीय कंपनी बन गयी है। कंपनी मार्च 2021 के अपने लक्ष्य से आगे शुद्ध ऋण-मुक्त हो गई है, इस घोषणा के बाद रिलायंस के शेयर में काफी तेज़ी देखी गयी। 31 मार्च, 2020 को रिलायंस का ऋण 161,035 करोड़ रुपए था। लॉकडाउन के बावजूद, 58 दिनों की अवधि में, रिलायंस इंडस्ट्रीज 168,818 करोड़ रुपये से अधिक जुटाने में कामयाब रही।

बैंक ऑफ बड़ौदा अपनी लोन प्रक्रिया को पूरी तरह से बनाएगा डिजिटल

भारत का तीसरा सबसे बड़ा ऋणदाता बैंक ऑफ बड़ौदा अपनी ऋण देने की पूरी प्रक्रिया का पूरी तरह से डिजिटलीकरण करने का फैसला किया, जिसमे होम, कृषि, सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME), पर्सनल और ऑटो लोन शामिल हैं। इससे पहले बैंक का हाल ही में विजया बैंक और देना बैंक के साथ विलय पूर्णयता पूरा हो गया। अब नए लोन का सत्यापन और मंजूरी डिजिटल प्लेटफॉर्म के जरिए ही की जाएगी जबकि पिछले ऋणों को लागत में कटौती और लाभप्रदता में सुधार के लिए भी डिजिटल किया जाएगा। बैंक अगले छह महीनों में अपनी रिटेल और एमएसएमई प्रक्रियाओं को डिजिटल बनाने की योजना पर काम कर रहा है।बैंक ने कॉर्पोरेट कार्यालय में एक नया डिजिटल ऋण प्रदान करने वाला विभाग स्थापित किया है, जिसमें रिटेल, एमएसएमई, कृषि और सर्विस वर्टिक्स जैसे एनालिटिक्स सेंटर, रिस्क मैनेजमेंट, मार्केटिंग सहित विभिन्न क्रेडिट वर्टाप के साथ पर्याप्त ओवरलैप होगा। इस डिजिटल ऋण देने वाले विभाग को स्थापित करने के लिए बैंक McKinsey और Boston Consulting Group जैसी कुछ बड़े परामर्शदाताओं की सहायता ले रहा है।

कर्नाटक बैंक ने COVID-19 महामारी को कवर करने वाली हेल्थ पॉलिसी की लॉन्च

कर्नाटक बैंक ने अपनी सामाजिक जिम्मेदारी के तहत यूनिवर्सल सोमपो जनरल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड के साथ मिलकर COVID-19 महामारी द्वारा उत्पन्न अनिश्चितताओं को कवर करने के लिए एक विशेष हेल्थ बीमा पॉलिसी शुरू की है। इस स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत, कोई भी व्यक्ति 120 दिनों की वैधता अवधि के साथ, 399 रुपये के मामूली प्रीमियम पर COVID -19 के लिए स्वास्थ्य कवर का लाभ उठा सकता है। इस स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी में COVID-19 महामारी संबंधी स्वास्थ्य खर्चों को कवर किया जाएगा, जिसमे अस्पताल में होने वाले खर्चों के लिए 3.00 लाख रूपए तक का कवर, OPD के लिए 3000 रुपये तक का कवर और किसी सरकारी या सैन्य अस्पताल में 14 दिनों क्वारंटाइन होने के दौरान किए गए खर्चों के लिए प्रति दिन 1000 रुपये की राशि भी प्रदान करेगी। बैंक के 18-65 वर्ष की आयु के सभी ग्राहक इस पॉलिसी लाभ ले सकेंगे।

आईआईटी गुवाहाटी ने विकसित की कम लागत वाली कोविड-19 डायग्नोस्टिक किट

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) गुवाहाटी ने गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल (GMCH) और RR एनिमल हेल्थकेयर लिमिटेड के सहयोग से कोविड-19 के निदान के लिए स्थानीय बाजार में उपलब्ध सामग्री का उपयोग करके एक किट विकसित की है। 3 विभिन्न प्रकार के निदान कम लागत वाले किट विकसित किए गए हैं, वे रिबोन्यूक्लिक एसिड (आरएनए) आइसोलेशन किट, वायरल ट्रांसपोर्ट मीडिया (वीटीएम) किट, रियल-टाइम पॉलीमरेज़ चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) टेस्ट किट हैं। किट के निर्माण के लिए उपयोग की जाने वाली सामग्री विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की सिफारिशों के अनुसार है। वर्तमान में किट के दो बैचों को जीएमसीएच और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, असम को सौंप दिया गया है। वीटीएम किट परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में सुरक्षित रूप से नमूना एकत्र करने के लिए उपयोग किए जाते हैं। यदि कोई भी वायरस नमूने में मौजूद है तो वीटीएम किट को नमूना सुरक्षित रखना पड़ता है, जब तक कि इसकी परीक्षण प्रक्रिया एक प्रयोगशाला में पूरी नहीं हो जाती, इसलिए सटीक परिणामों के लिए वीटीएम किट की गुणवत्ता महत्वपूर्ण है। IIT गुवाहाटी में विकसित VTM किट को 72 घंटे तक प्रशीतित तापमान पर वायरस की व्यवहार्यता को संरक्षित करने में सक्षम है। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (सीडीसी) ने वीटीएम किट को इस्तेमाल करने के लिए सुरक्षित माना है।

"महामारी में सुशासन प्रक्रियाओं" पर एक अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला" का हुआ आयोजन

केंद्रीय कार्मिक, लोक शिकायत और पेंशन राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह द्वारा Good Governance Practices in a Pandemic for International Civil Servants (अंतरराष्ट्रीय प्रशासनिक अधिकारियों के लिए महामारी में सुशासन प्रक्रियाओं पर एक अंतरराष्ट्रीय कार्यशाला) का उद्घाटन किया गया। इस कार्यशाला का आयोजन भारतीय तकनीकी और आर्थिक सहयोग (ITEC), विदेश मंत्रालय और राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (NCGG), प्रशासनिक सुधार और लोक शिकायत विभाग (DARPG) द्वारा किया गया था। इस दो दिवसीय कार्यशाला में 16 देशों के 81 अंतर्राष्ट्रीय सिविल सेवकों ने भाग लिया। इसमें श्रीलंका सेना के चीफ ऑफ स्टाफ मेजर जनरल एचजेएस गुणवर्द्धने, बांग्लादेश की सरकार के 19 वरिष्ठ सचिव, म्यांमार के 11 जिला प्रशासक, भूटान, केन्या, मोरक्को, नेपाल, ओमान, सोमालिया, थाईलैंड, ट्यूनिशिया, टोंगा, सूडान एवं उज्‍बेकिस्तान के वरिष्ठ अधिकारी शमिल थे।

आईआईटी मंडी ने मध्य हिमालयी क्षेत्र में किसानों की मदद करने के लिए हर्बल इन्फ्यूजन तकनीक विकसित की

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) मंडी के शोधकर्ताओं ने मध्य हिमालय में स्थानीय सीमांत किसानों की आय के स्रोत के रूप में एक हर्बल इन्फ्यूजन तकनीक विकसित की है। संस्थान के वानस्पतिक उद्यान और औषधीय पादप लैब के शोधकर्ताओं ने आईआईटी मंडी, कामंद क्षेत्र के आसपास और आसपास के गांवों में मध्य हिमालयी क्षेत्र में उगने वाली विभिन्न जड़ी-बूटियों का विश्लेषण किया है। ताकि स्वास्थ्य लाभ (मुख्य रूप से एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध) के लिए हर्बल इन्फ्यूजन के रूप में मूल्य वर्धित उत्पादों का निर्माण करें।

कर्नाटक सरकार ने 18 जून को मनाया "Mask Day"

कर्नाटक सरकार द्वारा 18 जून 2020 को समूचे राज्य Mask Day या मास्क दिवस मनाया गया। राज्य में COVID-19 को फैलने से नियंत्रित करने के लिए मास्क, सैनिटाइटर्स, साबुन से हाथ धोने के बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए मास्क दिवस मनाया गया। साथ ही लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज की दूरी) के मानदंडों का पालन करने का भी आग्रह किया गया। कर्नाटक सरकार ने मास्क डे के अवसर पर एक रैली का आयोजन किया, जिसमें जन प्रतिनिधियों, गणमान्य व्यक्तियों और चिकित्सा कर्मचारियों ने हिस्सा लिया। इस रैली के माध्यम से, प्रतिभागियों ने COVID-19 के लिए जारी किए गए राष्ट्रीय निर्देशों के बारे में लोगों में जागरूकता फैलाई।

19 जून : विश्व सिकल सेल दिवस

प्रतिवर्ष 19 जून को विश्व सिकल सेल दिवस मनाया जाता है, इसका उद्देश्य सिकल सेल रोग के बारे में जागरूकता फैलाना तथा इसके उपचार के तरीकों के बारे में लोगों को बताना है। इस दिवस को संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 2008 में मान्यता दी गयी थी, Sickle Cell Disease International Organization (SCDIO), कांगो गणराज्य, सेनेगल, अफ्रीकी संघ, यूनेस्को तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन इत्यादि ने इसका समर्थन किया। पहली बार 19 जून, 2009 को विश्व सिकल सेल दिवस मनाया गया था।

इंटरनेशनल डे फॉर द एलिमिनेशन ऑफ सेक्सुअल वायलेंस इन कांफिलिक्ट: 19 जून

हर साल 19 जून को विश्व स्तर पर इंटरनेशनल डे फॉर द एलिमिनेशन ऑफ सेक्सुअल वायलेंस इन कांफिलिक्ट मनाया जाता है। इस दिन को दुनिया भर में यौन हिंसा के पीड़ितों और संघर्ष कर बचे लोगों को सम्मानित करने और उन सभी या ऐसे सभी लोगों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए मनाया जाता है जिन्होंने निडर होकर लड़ते हुए अपना पूरा जीवन लगा दिया। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 19 जून 2015 को (A/RES/69/293) प्रस्ताव से हर साल 19 जून को इंटरनेशनल डे फॉर द एलिमिनेशन ऑफ सेक्सुअल वायलेंस इन कांफिलिक्ट मनाए जाने की घोषणा की थी। संयुक्त राष्ट्र ने इस दिन को सुरक्षा परिषद के लक्ष्यों 1820 (2008) के 19 जून 2008 को चयन को मान्यता देने के लिए चुना गया था, जिसके दौरान परिषद ने युद्ध की रणनीति और शांति के निर्माण में बाधा के रूप में यौन शोषण को रोक लगाई थी।

मलयालम फिल्म निर्देशक के.आर. सचिदानंदन का निधन

मलयालम फिल्म निर्देशक, पटकथा लेखक, और निर्माता के.आर. सचिदानंदन का निधन। उनकी पहली निर्देशित फिल्म साल में 2015 की अनारकली थी। उन्होंने सेतु के साथ कई फिल्मों की सह-पटकथा की थी और बाद में अकेले फिल्म बनाना शुरू किया। इससे सैकी केरल उच्च न्यायालय में एक कानूनी सलाहकार थे।

वयोवृद्ध अर्थशास्त्री और 10 वें वित्त आयोग के सदस्य बी.पी.आर. विट्ठल बारू का 93 में निधन

वयोवृद्ध अर्थशास्त्री और 10 वें वित्त आयोग के सदस्य, IAS B.P.R. विट्ठल बारू का हैदराबाद में 93 साल की उम्र में बुढ़ापे से जुड़ी बीमारियों के कारण निधन हो गया। उनका जन्म 1926 में हुआ था।

नासा खगोलविदों ने हाल ही में एक्स-रे फटने के बाद 240 वर्षीय न्यूट्रॉन स्टार ‘Swift J1818.0-1607’ की खोज की

एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स में प्रकाशित अध्ययन के अनुसार, नासा (नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन) के खगोलविदों ने सबसे छोटे ज्ञात मैग्नेटर (न्यूट्रॉन स्टार का एक प्रकार) की खोज की है जिसका नाम Swift J1818.0-1607 है जो लगभग 16,000 प्रकाश वर्ष दूर है।

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर 21 जून को सूर्यग्रहण भी होगा

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 21 जून को सूर्यग्रहण भी होगा। विश्व के कई भागों में अंगूठी के आकार का सूर्यग्रहण नजर आयेगा। भारत में सूर्यग्रहण राजस्थान, हरियाणा और उत्तराखंड में देखा जा सकेगा। लेह-लद्दाख में भारतीय खगोल भौतिकी संस्थान ने ऑक्टिकल, इंफ्रारेड और गामा-रे दूरदर्शी के लिए विश्व के सबसे अधिक ऊंचे स्थानों में से एक हानले से सूर्यग्रहण की लाइव स्ट्रीमिंग के इंतजाम किए हैं।

डॉ. हर्षवर्द्धन ने कहा- यूमीफेनोविर दवा सुरक्षित है और मानव कोशिकाओं में वायरस के प्रवेश को रोकने में कारगर

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन ने कहा कि वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद के तहत लखनऊ की केन्द्रीय औषध अनुसंधान संस्थान की प्रयोगशाला को यूमीफेनोविर दवा के प्रभाव, सुरक्षा और वायरस रोधी क्षमता के फेस थ्री रेंडोमाइज्ड, डबल-ब्लाइंड, प्लेस्बो नियंत्रित परीक्षण की अनुमति मिल गई है। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि फेस थ्री क्लीनिकल परीक्षण लखनऊ में किंग जार्ज्स मेडिकल यूनिवर्सिटी, डॉक्टर राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान और ई आर ए के लखनऊ मेडिकल कॉलेज तथा अस्पताल में किये जायेंगे। हर्षवर्धन ने कहा कि यूमीफेनोविर दवा सुरक्षित है और मानव कोशिकाओं में वायरस के प्रवेश को रोकने में कारगर है। यह रोग प्रतिरोधी क्षमता बढ़ाने में भी उपयोगी है। उन्होंने कहा कि यह दवा मुख्य रूप से इंफ्लूऐंजा के उपचार के लिए इस्तेमाल की जाती है और हाल ही में कोविड-19 मरीजों में संभावित उपयोग के कारण इसका महत्व बढ़ गया है।

भारत में हल्के से मध्यम कोविड रोगियों के इलाज के लिए फेविपिरविर को मंजूरी

दवा नियामक ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीसीजीआइ) ने भारत में हल्के से मध्यम कोविड-19 रोगियों के इलाज के लिए फेविपिरविर के इस्तेमाल को मंजूरी दे दी है। दवा निर्माता कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्यूटिकल्स ने कहा कि उसे दवा के निर्माण और मार्केटिंग की मंजूरी मिली है।

दिल्ली उच्चन्यायालय ने दिल्ली विश्वविद्यालय के दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को ओपन बुक ऑनलाइन परीक्षा देने को कहा

दिल्ली उच्चन्यायालय ने दिल्ली विश्वविद्यालय के स्नातक और स्नातकोत्तर के अंतिम वर्ष के दृष्टिबाधित विद्यार्थियों को ओपन बुक ऑनलाइन परीक्षा में बैठने को कहा है। यह परीक्षा दो जुलाई से शुरू होगी। अदालत ने कहा कि विद्यार्थियों को परीक्षा के लिए पुस्‍तक अथवा सहायक उपकरणों की दो लाख रूपए तक की खरीद की राशि का उन्‍हें भुगतान किया जाएगा। 'ओपन-बुक' परीक्षा में परीक्षार्थियों को सवालों के जवाब देते समय अपने नोट्स, पाठ्य पुस्तकों और अन्य स्वीकृत सामग्री की मदद लेने की अनुमति होती है।

बिहार के प्रत्येक शहीद परिवार के एक व्यक्ति को राज्य सरकार में नौकरी दी जायेगी

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने लद्दाख के गलवान घाटी में चीन के सैनिकों के साथ हिंसक संघर्ष में देश के लिए बलिदान होने वाले राज्य के पांच शहीद परिवारों को 36-36 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है। उन्होंने ये भी घोषणा की कि प्रत्येक शहीद परिवार के एक व्यक्तिको राज्य सरकार में नौकरी दी जायेगी। गलवान घाटी में शहीद होने वाले सेना के बीस सैनिकों में से पांच बिहार के हैं।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.