Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

29 September 2020

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने सीएनजी इंजनों में हाइड्रोजन वाले एच-सीएनजी के उपयोग को अनुमति दी

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने परिवहन के लिए वैकल्पिक स्वच्छ ईंधन अपनाने की दिशा में एक बड़े कदम के तौर पर सीएनजी इंजनों में हाइड्रोजन वाले एच-सीएनजी के उपयोग को अनुमति दी है। भारतीय मानक ब्यूरो- बीआईएस ने ईंधन के रूप में मोटर वाहनों के लिए हाइड्रोजन सम्‍पन्‍न प्राकृतिक गैस एच-सीएनजी विकसित की है। सीएनजी-इंजनों में केवल सीएनजी की जगह एच-सीएनजी के उपयोग से उत्सर्जन में कमी लाने के प्रयासों का परीक्षण किया गया। सड़क परिवहन मंत्रालय द्वारा मोटर वाहन ईंधन के रूप में एच-सीएनजी को शामिल करने के लिए केंद्रीय मोटर वाहन नियम-1989 में संशोधन के लिए एक अधिसूचना जारी की गई है।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ0 हर्षवर्धन ने आईसीएमआर के वैक्सीन वेब पोर्टल और राष्ट्रीय क्‍लीनिकल रजिस्ट्री का शुभारंभ किया

स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री डॉ0 हर्षवर्धन ने कोविड-19 के लिए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद- आईसीएमआर के वैक्सीन वेब पोर्टल और राष्ट्रीय क्‍लीनिकल रजिस्ट्री का शुभारंभ किया। यह वैक्सीन वेब पोर्टल भारत और विदेशों में कोविड-19 के लिए वैक्सीन के विकास से संबंधित जानकारी प्रदान करेगा। राष्ट्रीय कोविड-19 क्‍लीनिकल रजिस्ट्री, भारत में नैदानिक और प्रयोगशाला जांच, उपचार, प्रबंधन नवाचार और अस्पताल में भर्ती कोविड रोगियों के परिणामों के बारे में आंकड़े एकत्रित करेगी। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस (COVID-19) से संबंधित वैक्सीन के बारे में जानने के लिये लोग काफी अधिक उत्सुक हैं, इसलिये वैक्‍सीन के विकास के बारे में सभी जानकारी पारदर्शी तरीके से प्रदान की जानी काफी महत्त्वपूर्ण हैं। उल्लेखनीय है कि वर्तमान में भारत में कुल तीन COVID -19 टीकों के नैदानिक ​​परीक्षण किया जा रहा है, जो कि अलग-अलग चरणों में है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय द्वारा विकसित की जा रही कोविशील्ड (Covishield) वैक्सीन भारत में अपने तीसरे और अंतिम चरण में है, और भारत में इसका निर्माण सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया द्वारा किया जा रहा है।

महाराष्‍ट्र सरकार ने पार्श्‍व गायिका उषा मंगेशकर को गान समरागिनी लता मंगेशकर पुरस्‍कार प्रदान करने की घोषणा की

महाराष्‍ट्र सरकार ने पार्श्‍व गायिक उषा मंगेशकर को गान समरागिनी लता मंगेशकर पुरस्‍कार 2020-21 प्रदान करने की घोषणा की है। राज्‍य के संस्‍कृति विभाग द्वारा यह पुरस्‍कार प्रदान किया जाता है। राज्‍य के संस्‍कृति मंत्री अमित विलासराव देशमुख ने इसकी घोषणा करते हुए कहा कि पुरस्‍कार के अंतर्ग पांच लाख रुपये और प्रशस्ति पत्र तथा एक स्मृति चिन्ह दिया जाता है। जानी-मानी वायोवृद्ध गायिका उषा मंगेशकर फिल्‍मों में मराठी, हिन्‍दी और अनेक भारतीय भाषाओं में गीत गा चुकी है। सुबह का तारा, जय संतोषी मां, आजाद, चित्रलेखा, खट्टा-मीठा, काला पत्‍थर, नसीब, खूबसूरत, डिस्‍को डांसर और इंकार जैसी फिल्‍मों में उनके गानों ने धूम मचा दी थी।

ओडिशा में ऑनलाइन कक्षाओं के लिये रेडियो का इस्तेमाल

ऑनलाइन कक्षाओं के दौरान मोबाइल कनेक्टिविटी न होने के कारण अधिकांश छात्र/छात्राएँ शिक्षा से वंचित हो रहे हैं इसलिये ओडिशा सरकार ने राज्य के दूरस्थ क्षेत्रों में बच्चों तक शिक्षा पहुँचाने के लिये अब रेडियो का इस्तेमाल करने का निर्णय किया है। ओडिशा सरकार के इस निर्णय के तहत ओडिशा का स्कूल एवं मास एजुकेशन डिपार्टमेंट (School and Mass Education Department) 28 सितंबर, 2020 से ऑल इंडिया रेडियो के माध्यम से कक्षा शिक्षण शुरू करेगा।

ओडिशा के मुख्‍यमंत्री ने आज राज्‍य को तीन वर्ष के भीतर झुग्‍गी-झोपडियों से मुक्‍त कराने के कार्यक्रम की शुरुआत की

ओडिशा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने राज्‍य को तीन वर्ष के भीतर झुग्‍गी-झोपडियों से मुक्‍त कराने के कार्यक्रम की शुरुआत की। इस कार्यक्रम के अंतर्गत झुग्‍गी-झोपडी निवासियों के लिए नल द्वारा पानी उपलब्‍ध कराने, बिजली की सुविधा सुनिश्चित करने, पक्‍की सडकों और मनोरंजन स्‍थलों के निर्माण की व्‍यवस्‍था जैसी बुनियादी जरूरतें उपलब्‍ध कराई जाएंगी। तीन वर्षों में राज्‍य के करीब तीन हजार झुग्‍गी-झोपडी बस्तियों के इस कल्‍याणकारी कार्यक्रम की शुरुआत एक हजार झुग्‍गी-झोपडी बस्तियों से की जाएगी।

अल्‍पन बंदोपाध्‍याय पश्चिम बंगाल के नए मुख्‍य सचिव बने

पश्चिम बंगाल में अल्‍पन बंदोपाध्‍याय को मुख्‍य सचिव नियुक्‍त‍ किया गया है। निवर्तमान मुख्‍य सचिव राजीव साहा को पश्चिम बंगाल औद्योगिक विकास निगम का अध्‍यक्ष बनाया गया है। एच के द्विवेदी राज्‍य के नये गृह सचिव होंगे, जबकि मनोज पंत वित्‍त विभाग में सचिव होंगे।

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान में आठ पुरस्‍कार प्राप्‍त किए

उत्‍तर प्रदेश सरकार ने केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय के अधीन पेयजल और स्‍वच्‍छता विभाग द्वारा शुरू किए गए गरीब कल्‍याण रोजगार अभियान में आठ पुरस्‍कार प्राप्‍त किए हैं। राज्‍य ने गंदगी मुक्‍त भारत योजना के क्रियान्‍वयन में भी दूसरा स्‍थान प्राप्‍त किया है। जल शक्ति राज्‍य मंत्री दो अक्‍तूबर को एक वर्चुअल समारोह में यह पुरस्‍कार प्रदान करेंगे।

प्रधानमंत्री नमामि गंगे अभियान के तहत उत्तराखंड में छह मेगा परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी मंगलवार,29 सितंबर 2020 को “नमामि गंगे मिशन” के तहत उत्तराखंड में छह मेगा परियोजनाओं का वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से उद्घाटन करेंगे।इन परियोजनाओं में 68 मिलियन लीटर प्रतिदिन (एमएलडी) की क्षमता वाले एकनए अप​शिष्ट जल शोधन संयंत्र (एसटीपी)का निर्माण, हरिद्वार में जगजीतपुर में स्थित 27 एमएलडी क्षमता वाले एसटीपी का उन्नयन और हरिद्वार में ही सराई में 18 एमएलडीक्षमता वाले एसटीपी का निमार्ण शामिल है। जगजीतपुर का68एमएलडी क्षमता वाला एसटीपी,सार्वजनिक निजी भागीदारी से पूरी की गई पहली हाइब्रिड एन्यूटी मॉडल वाली परियोजना है। ऋषिकेश में लक्कड़घाट पर 26 एमएलडी क्षमता वाले एक एसटीपी का भी उद्घाटन किया जाएगा। उत्तराखंड में हरिद्वार-ऋषिकेश क्षेत्र से गंगा नदी में लगभग 80 प्रतिशत अपशिष्ट जल बहाया जाता है। ऐसे में यहां कई एसटीपी परियोजनाओं का निमार्ण गंगा नदी को स्वच्छ रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। चंद्रेश्वर नगर में मुनि की रेती शहर में7.5 एमएलडी क्षमता वाला एसटीपी देश में पहला 4 मंजिला अपशिष्ट जल शोधन संयंत्र है। प्रधानमंत्री गंगा नदी के कायाकल्प के लिए सांस्कृतिक और जैव विविधता के क्षेत्र में की गई ग​तिविधियों को प्रदर्शित करने वाले अपने तरह के पहले संग्रहालय "गंगा अवलोकन " का भी उद्घाटन करेंगे। यह संग्रहालय हरिद्वार केचंडी घाट में स्थित है। परियोजनाओं के उद्धाटन अवसवर पर प्रधानमंत्री “राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन” और “भारतीय वन्यजीव जनसंस्थान” द्वारा सह-प्रकाशित पुस्तक “रोविंग डाउन द गंगा” का भी विमोचन करेंगे। प्रधानमंत्री इस अवसर पर “जल जीवन मिशन” और ग्राम पंचायतों के लिए मार्गदर्शिका तथा“पानी समितियों” के लिए प्रतीक चिन्हों (लोगो) का भी अनावरण करेंगे।

आरबीआई करेगा चेक ट्रंकेशन सिस्टम के लिए “पॉजिटिव पे सिस्टम” लॉन्च

भारतीय रिजर्व बैंक ने घोषणा की है कि वह 01 जनवरी, 2021 से चेक ट्रंकेशन सिस्टम के लिए “पॉजिटिव पे सिस्टम(Positive Pay System)” लॉन्च करेगा। “पॉजिटिव पे सिस्टम” को नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया (NPCI) द्वारा विकसित किया जाएगा और इसे प्रतिभागी बैंकों को उपलब्ध कराया जाएगा। बैंकों को 50,000 रुपये और उससे अधिक की राशि के लिए चेक जारी करने वाले सभी खाताधारकों के लिए प्रणाली को सक्षम करने की आवश्यकता होगी। खाता धारक के विवेक पर इस सुविधा का लाभ उठाते हुए, बैंक 5,00,000 और उससे अधिक की राशि के चेक के मामले में इसे अनिवार्य बनाने पर विचार कर सकते हैं।

IRDAI ने की LIC, GIC, न्यू इंडिया एश्योरेंस की D-SII के रूप में पहचान

इंश्योरेंस रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (IRDAI) ने भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC), जनरल इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (GIC) और न्यू इंडिया एश्योरेंस को घरेलू व्यवस्थित रूप से महत्वपूर्ण बीमाकर्ता (D-SII) के रूप में चिह्नित किया है। IRDAI ने बाद में तीन बीमाकर्ताओं को विनियमित नियामक पर्यवेक्षण के अधीन करने का भी निर्णय लिया है।

चंदन के वृक्ष विनाशकारी सैंडलवुड स्पाइक डिसीज़ के कारण एक गंभीर खतरे का सामना कर रहे हैं

भारत में सैंडलवुड अर्थात् चंदन के वृक्ष विनाशकारी सैंडलवुड स्पाइक डिसीज़ (Sandalwood Spike Disease- SSD) के कारण एक गंभीर खतरे का सामना कर रहे हैं। सैंडलवुड अर्थात् चंदन के वृक्षों को भारत विशेषकर कर्नाटक का गौरव माना जाता है। उल्लेखनीय है कि कर्नाटक एवं केरल में इन सुगंधित वृक्षों के प्राकृतिक आवास में सैंडलवुड स्पाइक डिसीज़ का संक्रमण फिर से फैल गया है। केरल के मरयूर (Marayoor) में चंदन के पेड़ों की प्राकृतिक आबादी और कर्नाटक में एमएम हिल्स (MM Hills) सहित विभिन्न आरक्षित वन, सैंडलवुड स्पाइक डिसीज़ (SSD) से बहुत अधिक संक्रमित हैं जिसका कोई इलाज नहीं है। वर्तमान में इस रोग के प्रसार को रोकने के लिये संक्रमित पेड़ को काटने एवं हटाने के अलावा कोई विकल्प नहीं है। सैंडलवुड स्पाइक डिसीज़ (SSD), फाइटोप्लाज़्मा (Phytoplasma) अर्थात् ‘पौधे के ऊतकों के जीवाणु परजीवी’ के कारण होता है जो कीट वैक्टर (Insect Vectors) द्वारा प्रेषित होते हैं।इस रोग के कारण प्रत्येक वर्ष 1 से 5% चंदन के पेड़ नष्ट हो जाते हैं। वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि यदि इसके प्रसार को रोकने के लिये उपाय नहीं किये गए तो यह रोग चंदन के वृक्षों की पूरी प्राकृतिक आबादी को नष्ट कर सकता है।इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि यदि इस संक्रमण को रोकने में देरी की गई तो यह बीमारी अपरिपक्व चंदन के वृक्षों में भी फैल सकती है।

कानून की छात्र यमुना मेनन ने हासिल किए 18 स्वर्ण पदक

नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी से स्नातक उत्तीर्ण छात्र यमुना मेनन ने 48 में से 18 स्वर्ण पदक हासिल कर रिकॉर्ड बनाया है। बीए एलएलबी की डिग्री हासिल करने वाले 20 अन्य छात्रों ने शेष 30 स्वर्ण पदक हासिल किए। नेशनल लॉ स्कूल ऑफ इंडिया यूनिवर्सिटी के इतिहास में यमुना सर्वाधिक पदक हासिल करने वाली छात्र बन गई हैं। उन्होंने पहला स्थान, सर्वश्रेष्ठ निवर्तमान छात्र, सर्वश्रेष्ठ स्नातक छात्र, मेधावी छात्र आदि श्रेणियों में स्वर्ण पदक हासिल किया। केरल निवासी यमुना ने कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट के जरिये विश्वविद्यालय में नामांकन कराया था। वह उन दो छात्रों में शामिल थीं, जिन्हें प्रवेश परीक्षा में प्रदर्शन के आधार पर छात्रवृत्ति के लिए चुना गया था। यमुना ने उसी समय कैंब्रिज यूनिवर्सिटी के टिनिटी कॉलेज में स्नातकोत्तर के लिए अपना चयन सुनिश्चित कर लिया। तमिलनाडु कपड़ा उद्योग में सुमंगली योजना पर उनका शोधपत्र कैंब्रिज लॉ रिव्यू में प्रकाशित हो चुका है।

भारत सरकार सार्वजनिक स्वास्थ्य देखभाल खर्च को 2025 तक 1.15% से बढ़ाकर 2.5% करेगी

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने घोषणा की कि भारत सरकार 2025 तक देश में स्वास्थ्य देखभाल खर्च को जीडीपी के 2.5% तक बढ़ाएगी। वर्तमान में, सरकार स्वास्थ्य देखभाल की ज़रुरत को पूरा करने के लिए जीडीपी का 1.15% खर्च कर रही है। यह वृद्धि पंद्रहवें वित्त आयोग के उच्च-स्तरीय समूह की सिफारिश के आधार पर की जा रही है। इस वृद्धि की जानकारी मंत्री ने अपने “रविवार संवाद” के दौरान प्रदान की।

NCAER का अनुमान FY21 में भारतीय जीडीपी -12.6%

नेशनल काउंसिल ऑफ एप्लाइड इकोनॉमिक रिसर्च (NCAER) ने भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए 2020-21 (FY21) के लिए शेष तीन तिमाहियों में गिरावट की संभावना के साथ -12.6% की जीडीपी वृद्धि का अनुमान लगाया है। 2021-22 के लिए, NCAER ने भारत के सकल घरेलू उत्पाद में 7% तक की वृद्धि का अनुमान लगाया है।

लेबनान के मनोनीत पीएम मुस्तफा अदिब ने इस्तीफा दिया

लेबनान के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार मुस्तफा अदिब ने नई कैबिनेट बनाने में अपनी विफलता के बाद इस्तीफे की घोषणा की है। जर्मनी के लेबनान के पूर्व राजदूत मुस्तफा अदिब को 31 अगस्त 2020 को इस पद के लिए चुना गया था। हसन दीब के नेतृत्व वाली पिछली सरकार ने 4 अगस्त को बेरूत बंदरगाह विस्फोट, जिसमें 200 लोग मारे गए और हजारों बेघर हो गए थे, के बाद इस्तीफा दे दिया।

नासा ने ‘सोनिफिकेशन परियोजना’ का अनावरण किया

यद्यपि टेलीस्कोप, ‘डिजिटल डेटा’ को आश्चर्यजनक छवियों में परिवर्तित करके बाहरी स्थान की झलक प्रदान करते हैं, अतः नासा (NASA) के चंद्र एक्स-रे केंद्र (Chandra X-Ray Center- CXC) ने एक नई ‘सोनिफिकेशन परियोजना’ (Sonification Project) का अनावरण किया है जो खगोलीय छवियों से प्राप्त डेटा को ऑडियो में परिवर्तित करता है। उपयोगकर्त्ता अब ‘गैलेक्टिक सेंटर’ (Galactic Centre) की छवियों को सुन सकते हैं।गैलेक्टिक सेंटर में कैसिओपिया ए (Cassiopeia A) नामक सुपरनोवा का अवशेष और साथ ही ‘पिलर्स ऑफ क्रिएशन नेबुला’ (Pillars of Creation Nebula) शामिल हैं ये सभी पृथ्वी से लगभग 26,000 प्रकाश वर्ष दूर एक क्षेत्र में स्थित हैं।डेटा को नासा के चंद्र एक्स-रे आब्ज़र्वेटरी, हबल स्पेस टेलीस्कोप एवं स्पिटज़र स्पेस टेलीस्कोप द्वारा एकत्र किया गया है, जिनमें से प्रत्येक को एक अलग संगीत ’इंस्ट्रूमेंट' द्वारा दर्शाया गया है।

अल्ट्रा-वायलेट इमेजिंग टेलीस्कोप–एस्ट्रोसैट, आकाश में भारत की पहली बहु-तरंगदैर्ध्य खगोलीय वेधशाला

ब्रह्माण्ड में कॉस्मिक नून से पहली एक्सट्रीम-यूवी किरणों का पता लगाने वाले उपग्रह ने 28 सितंबर, 2020 को अपना 5वां जन्मदिन मनाया। अल्ट्रा-वायलेट इमेजिंग टेलीस्कोप, या यूवीआईटी, एक उल्लेखनीय 1-में-3इमेजिंग टेलीस्कोप है जो एक साथ दृश्यमान, निकट-पराबैंगनी (एनयूवी) और दूर-पराबैंगनी (एफयूवी) स्पेक्ट्रम में पर्यवेक्षण करता है। 230 किलोग्राम वजन के साथ, यूवीआईटी में दो अलग-अलग टेलिस्कोप शामिल हैं। उनमें से एक दृश्यमान (320-550 एनएम) और एनयूवी (200-300 एनएम) के रूप में काम करता है। दूसरा केवल एफयूवी (130-180 एनएम) में काम करता है। यह भारत की पहली बहु-तरंगदैर्ध्य खगोलीय वेधशाला, एस्ट्रोसैट के पांच पेलोड में से एक है, जिसने 28 सितंबर 2020 को आकाश में खगोलीय पिंडों का चित्र (इमेजिंग) लेते हुए अपने पांच साल पूरे किये हैं। एस्ट्रोसैट को भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) द्वारा 28 सितंबर 2015 को लॉन्च किया गया था, जो एक महत्वपूर्ण उपग्रह साबित हुआ है और जो दूर के पराबैंगनी से लेकर कठोर एक्स-रे बैंड तक विभिन्न तरंगदैर्घ्य सीमा में एक साथ अवलोकन करने में सक्षम है। अपने संचालन के पांच वर्षों में, इसनेकई उपलब्धियां हासिल की हैं। इसने भारत और विदेश के वैज्ञानिकों द्वारा प्रस्तावित 800 अद्वितीय आकाशीय स्रोतों के1166पर्यवेक्षण-कार्य पूरे किये हैं। यूवीआईटीके पर्यवेक्षणों ने हाल ही में पृथ्वी से लगभग 10 बिलियन प्रकाश-वर्ष की दूरी पर स्थित एक आकाशगंगा की खोज की है,जो अत्यधिक पराबैंगनी विकिरण का उत्सर्जन कर रही है और जिससे अंतरिक्ष माध्यम आयनित हो सकता है।

हिमालयन चन्‍द्र टेलीस्कोप के 20 वर्ष पूरे होने पर उसके द्वारा प्रस्‍तुत विज्ञान पर प्रकाश डालने के लिए कार्यशाला

लद्दाख के ठंडे, शुष्क रेगिस्तान में, समुद्र तल से 4500 मीटर ऊपर, दो दशकों से, भारतीय खगोलीय वेधशाला (आईएओ) में 2 मीटर चौड़ाई वाला ऑप्टिकल इन्फ्रारेड हिमालयन चन्‍द्र टेलीस्कोप (एचसीटी) नक्षत्रीय धमाकों, धूमकेतू, छोटे तारों और एक्‍सो-प्‍लेनेट की खोज में रात के आसमान को बारीकी से देख रहा है। एक समर्पित उपग्रह संचार सम्‍पर्क का उपयोग करते हुए दूर से संचालित टेलीस्‍कोप बेंगलुरू के लगभग 35 किमी उत्तर पूर्व मेंविज्ञान और प्रौद्योगिकी अनुसंधान और शिक्षा केन्‍द्र (सीआरईएसटी), इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ एस्ट्रोफिजिक्स (आईआईए), होसाकोटके साथ, अपना 20 वां जन्मदिन मना रहा है जिसे इससे प्राप्त आंकड़ों का उपयोग कर 260 शोध पत्र हासिल करने का श्रेय प्राप्‍त है।

ग्वालियर-मुरैना फ्लाईओवर राष्ट्र को समर्पित

केंद्रीय कृषि और किसान कल्याण, ग्रामीण विकास और पंचायती राज और खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री श्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मध्य प्रदेश के मुरैना शहर में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या तीन पर स्थित 1.420 किमी लंबे फ्लाईओवर राष्ट्र को समर्पित किया। यह फ्लाईओवर 108 करोड़ रुपये की लागत से बनी है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने इस समारोह की अध्यक्षता की। राजस्थान में धौलपुर और मप्र में ग्वालियर को जोड़ने वाली फ्लाईओवर को ईपीसी मोड पर निर्धारित 18 महीने की अवधि के भीतर पूरा किया गया है। 4-लेन वाली फ्लाईओवर की कुल लंबाई 780 मीटर है, जिसमें धौलपुर की ओर 300 मीटर रिटेनिंग वॉल अप्रोच और ग्वालियर की ओर 340 मीटर रिटेनिंग वॉल एप्रोच है।

वाल्टेरी बोटास ने जीता रूसी ग्रैंड प्रिक्स 2020

वाल्टेरी बोटास (मर्सिडीज-फिनलैंड) ने रूस के सोची ऑटोड्रोम में आयोजित फॉर्मूला वन रशियन ग्रैंड प्रिक्स 2020 जीता है। यह सीजन की उनकी दूसरी जीत है। मैक्स वरस्टापेन (रेड बुल - नीदरलैंड) दूसरे स्थान पर रहे, जिनके बाद 6 बार के विश्व चैंपियन लुईस हैमिल्टन (मर्सिडीज-ग्रेट ब्रिटेन) पेनाल्टी के कारण तीसरे स्थान रहे।

सरदार भगत सिंह की 113वीं जयंती

28 सितम्बर को भारत के महान स्वतंत्रता सेनानी भगत सिंह की जन्म वर्षगाँठ है। इस वर्ष सरदार भगत सिंह की 113वीं जयंती मनाई जा रही है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह समेत देश के गणमान्य लोगो ने सरदार भगत सिंह को श्रद्धांजली दी। भगत सिंह का जन्म 28 सितम्बर, 1907 को बंगा (पंजाब, पाकिस्तान) में हुआ था। भगत सिंह को शहीद-ए-आज़म के नाम से भी जाना जाता है।

28 सितंबर: सूचना तक सार्वभौमिक पहुँच के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

हर साल, संयुक्त राष्ट्र 28 सितंबर को सूचना तक सार्वभौमिक पहुँच के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाता है। इस वर्ष यह दिवस संकट के समय में सूचना के अधिकार पर केंद्रित है। सूचना तक सार्वजनिक पहुंच प्रदान करने और विश्वास बनाने के लिए वैधानिक, संवैधानिक नीतियों के लाभों को उजागर करने के लिए यह दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को यूनेस्को द्वारा 2015 में घोषित किया गया था। इसे तब “सूचना तक पहुंच दिवस” कहा जाता था। बाद में कई अंतरराष्ट्रीय संगठनों और नागरिक समाजों ने इस दिवस को मनाया, इसे संयुक्त राष्ट्र द्वारा भी अपनाया गया। सूचना की सार्वभौमिक पहुंच के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस 2020 के लिए विषय: सूचना तक पहुंच - जीवन बचाना, विश्वास बनाना, आशा लाना! (Access to Information – Saving lives, Building Trust, Bringing Hope!)

विश्व रेबीज दिवस: 28 सितंबर

विश्व रैबीज दिवस प्रतिवर्ष 28 सितंबर को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। यह दिन मनुष्यों और जानवरों पर रेबीज के प्रभाव के विषय में जागरूकता बढ़ाने के लिए, बीमारी की रोकथाम और रेबीज को नियंत्रित करने के प्रयासों के बारे में जानकारी और सलाह प्रदान करने के लिए मनाया जाता है। 2020 में 14 वें WRD का विषय 'एंड रैबीज: सहयोग, टीकाकरण (End Rabies: Collaborate, Vaccinate)’ है। इस वर्ष का विषय टीकाकरण और सहयोग पर केंद्रित है। यह दिन फ्रांसीसी रसायनज्ञ और माइक्रोबायोलॉजिस्ट, लुईस पाश्चर की पुण्यतिथि का भी प्रतीक है, जिन्होंने पहला रेबीज वैक्सीन विकसित किया था।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.