Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

30 October 2020

भारतीय सेना ने एसएआई नाम से एक सुरक्षित और आसान मैसेजिंग ऐप विकसित किया

भारतीय सेना ने सिक्‍योर एप्‍लीकेशन फॉर इंटरनेट-एसएआई नाम से एक सुरक्षित और आसान मैसेजिंग ऐप विकसित किया है। इस ऐप के जरिए एंड्रॉएड प्‍लेटफार्म पर सुरक्षित वॉयस, टैक्‍स्‍ट और वीडिया कॉल सेवाएं उपलब्‍ध होंगी। ये मॉडल व्‍हाटसऐप, टेलीग्राम, संवाद और जीआईएमएस जैसे मैसेजिंग ऐप की तरह है। इसमें मैसेजिंग के लिए सुरक्षित प्रोटोकॉल हैं। इसमें स्‍थानीय इन हाउस सर्वर और कोडिंग की सुरक्षित व्‍यवस्‍था है। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि एसएआई ऐप से सेनाओं के बीच सुरक्षित ढंग से संदेश भेजे जा सकेंगे। रक्षामंत्री ने यह ऐप विकसित करने के लिए कर्नल साई शंकर की प्रशंसा की।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 'युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान के लिए आज 'ग्रीन दिल्ली’ नाम से मोबाइल ऐप लांच किया

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 'युद्ध, प्रदूषण के विरुद्ध’ अभियान में हर दिल्लीवासी की भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए 'ग्रीन दिल्ली’ नाम से एक मोबाइल ऐप लांच किया है। इस ऐप के जरिए, कोई भी व्यक्ति प्रदूषण फैलाने वालों की फोटो या वीडियो भेज कर संबंधित विभाग से शिकायत कर सकता है। ऐप पर फोटो और वीडियो अपलोड होने के तुरंत बाद शिकायत विभाग के पास चली जाएगी और विभाग लोकेशन के आधार पर कार्रवाई शुरू कर देगा। संबंधित विभाग को ऐप पर प्राप्त शिकायतों का निस्तारण तय समय सीमा के अंदर करना होगा।

बीएचयू में शुरू होगा देश का पहला वैदिक योग व प्रौद्योगिकी स्नातक कोर्स

वेद भारत के आध्यात्मिक चिंतन, मंत्र, श्लोक, साहित्य, संस्कृति या विज्ञान तक सीमित नहीं हैं। यह प्रौद्योगिकी (टेक्नोलाजी) में भी काफी समृद्ध है। वेद के बाद आए वेदांगों में कल्पसूत्र के चार अंग श्रौतसूत्र, गृह्यसूत्र, धर्मसूत्र और शुल्वसूत्र बताए गए हैं, जो पूरी तरह गणित, विज्ञान व प्रौद्योगिकी के प्रयोगों पर आधारित हैं। इसी को लेकर बीएचयू में वैदिक योग, वैदिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी में भारत का पहला स्नातक कोर्स शुरू हो रहा है। चार नवंबर को होने वाली एकेडमिक काउंसिल की बैठक में वैदिक योग कोर्स को मंजूरी मिल सकती है, जबकि वैदिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी के स्नातक व परास्नातक कोर्स को काउंसिल की अगली बैठक तक अनुमति मिलेगी।

विश्व की पहली साइंटून आधारित पुस्तक “बाय-बाय कोरोना” का उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा लोकार्पण

कोरोना वायरस पर केंद्रित विश्व की पहली साइंटून (Scientoon) आधारित पुस्तक “बाय-बाय कोरोना” का लोकार्पण उत्तर प्रदेश की राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने लखनऊ स्थित राजभवन में किया है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग की स्वायत्त संस्था विज्ञान प्रसार द्वारा इस पुस्तक का प्रकाशन किया गया है। विज्ञान प्रसार के निदेशक डॉ नकुल पाराशर और इस संस्था के ही प्रकाशन विभाग के प्रमुख निमिष कपूर इस पुस्तक के क्रमशः प्रमुख संपादक और संपादक हैं। तेरह अध्यायों में प्रकाशित इस पुस्तक में कोरोना वायरस के बारे में विस्तृत जानकारी साइंस कार्टून्स (साइंटून्स) के जरिये प्रस्तुत की गई है। पुस्तक में महामारी से लेकर वैश्विक महामारी, कोविड-19 और उससे जुड़े लक्षणों, बीमारी की रोकथाम और सावधानियों का साइंटून्स के माध्यम से रोचक चित्रण किया गया है। प्रकाशकों की योजना इस पुस्तक का 3डी संस्करण लाने की भी है, ताकि बोलते हुए साइंटून्स को विभिन्न भाषाओं में भारत और विदेशों में पहुँचाया जा सके और इसका उपयोग कोरोना वायरस के खिलाफ दुनिया भर में जागरूकता के प्रसार के लिए किया जा सके।

अर्थ ऑब्ज़र्वेशन सैटेलाइट-01

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation- ISRO) द्वारा 7 नवंबर, 2020 को ‘ईओएस-01’ (EOS-01) नामक अपने ‘अर्थ ऑब्ज़र्वेशन सैटेलाइट’ (Earth Observation Satellite- EOS) को पीएसएलवी-सी 49 रॉकेट के माध्यम से से लॉन्च किया जाएगा। गौरतलब है कि मार्च 2020 में COVID-19 महामारी के कारण लागू हुए लॉकडाउन के बाद यह इसरो द्वारा अंतरिक्ष प्रक्षेपण से जुड़ा पहला मिशन होगा।साथ ही यह इसरो द्वारा ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (Polar Satellite Launch Vehicle-PSLV) से भेजा जाने वाला 51वाँ अंतरिक्ष मिशन होगा।ईओएस-01, कृषि, वानिकी और आपदा प्रबंधन में सहयोग प्रदान करने के लिये बनाया गया एक पृथ्वी अवलोकन उपग्रह है।ईओएस-01 उपग्रह को नौ अंतर्राष्ट्रीय ग्राहक उपग्रहों (Customer Satellites) के साथ इसरो के सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र (Satish Dhawan Space Centre- SDSC), श्रीहरिकोटा (आंध्र प्रदेश) से प्रक्षेपित किया जाएगा।इस मिशन में शामिल ग्राहक उपग्रहों को न्यू स्पेस इंडिया लिमिटेड (New Space India Limited-NSIL), अंतरिक्ष विभाग के साथ किये गए वाणिज्यिक समझौते के तहत लॉन्च किया जा रहा है।

'कुम्हार सशक्तीकरण योजना' के तहत 100 कुम्हार परिवारों को बिजली से चलने वाले चाक का वितरण

हाल ही में केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री द्वारा कुम्हारों के सशक्तीकरण की दिशा में खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) द्वारा शुरू की गई 'कुम्हार सशक्तीकरण योजना' के तहत एक वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से महाराष्ट्र के नांदेड़ और परभणी ज़िलों में 100 कुम्हार परिवारों को बिजली से चलने वाले चाक का वितरण किया गया। इस योजना की शुरुआत वर्ष 2018 में ‘खादी और ग्रामोद्योग आयोग’ (KVIC) द्वारा भारत के दूरस्थ क्षेत्रों में रह रहे कुम्हार समुदाय के सशक्तीकरण के लिये की गई थी।

सिंधु घाटी सभ्यता में डेयरी उत्पादन

हाल ही में ‘नेचर’ पत्रिका में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, सिंधु घाटी सभ्यता में डेयरी उत्पादन के पहले ज्ञात प्रमाण मिलने की वैज्ञानिक पुष्टि की गई है। सिंधु घाटी सभ्यता में डेयरी उत्पादन के ये प्रमाण 2500 ईसा पूर्व के समय से संबंधित हैं।इस अध्ययन का नेतृत्त्व टोरंटो विश्वविद्यालय में पोस्टडॉक्टोरल शोधकर्त्ता कल्याण शेखर चक्रवर्ती द्वारा किया गया।इस अध्ययन का परिणाम कोटड़ा भादली (गुजरात) के एक पुरातात्त्विक स्थल पर पाए गए बर्तनों के टुकड़ों से प्राप्त भोज्य पदार्थों के अणुओं (जैसे- वसा और प्रोटीन) के आणविक रासायनिक विश्लेषण पर आधारित है।‘स्थिर आइसोटोप विश्लेषण’ नामक एक प्रक्रिया के माध्यम से शोधकर्त्ता उन पशुओं की पहचान करने में सफल रहे जिनसे यह दूध प्राप्त हुआ था, इसके साथ ही उन्होंने यह निष्कर्ष दिया कि यह दूध बकरी या भेड़ की बजाय गाय और भैंस जैसे पशुओं से प्राप्त हुआ था।इस स्थान से प्राप्त बर्तनों के अवशेषों से पता चलता है कि उस समय कच्चे दूध के उपयोग के बजाय प्रसंस्कृत दूध का उपयोग किया जाता था तथा इसकी मात्रा यह दर्शाती है कि दूध का उपभोग घरेलू उपयोग से परे अर्थात् व्यापार अथवा सामुदायिक उद्देश्य के लिये भी किया जाता था। सिंधु घाटी सभ्यता को हड़प्पा सभ्यता भी कहा जाता है।

भारतीय स्‍टेट बैंक ने जापान अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग बैंक के साथ एक अरब अमरीकी डॉलर के ऋण समझौते पर हस्‍ताक्षर किये

भारतीय स्‍टेट बैंक ने जापान अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग बैंक के साथ एक अरब अमरीकी डॉलर के ऋण समझौते पर हस्‍ताक्षर किये हैं। कल मुंबई में जारी बैंक की विज्ञप्ति में बताया गया है कि इस ऋण से भारत में जापानी वाहन निर्माता कंपनियों के कारोबारी संचालन के लिए धन के सुचारू प्रवाह में मदद मिलेगी। समझौते के अंतर्गत 60 करोड़ अमरीकी डॉलर जापान अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग बैंक की ओर से दिये जायेंगे जबकि शेष राशि अन्‍य भागीदार बैंक देंगे।

विश्‍व का सबसे बडा नागरिक परिवहन विमान एंटोनोव-एएन 124 असम में स्‍नबिंग की प्रक्रिया के लिए कोलकाता पहुंचा

विश्‍व का सबसे बडा नागरिक परिवहन विमान एंटोनोव-एएन 124 असम के बागजन में स्‍नबिंग की प्रक्रिया के लिए हाल ही में कोलकाता पहुंचा। आग लगने के बाद तेल कुंए को बंद करने पर ड्रिल पाइप डालने की प्रक्रिया को स्‍नबिंग कहते हैं। कनाडा से ये विमान 59 हजार किलोग्राम सामग्री के साथ कोलकाता पहुंचा। विमान से विशेष स्‍नबिंग ट्रक को ट्रॉलर पर लादकर असम के बागजन ले जाया जा रहा है। इसके सात दिन में बागजन पहुंचने की उम्‍मीद है। पूर्ण स्‍नबिंग प्रक्रिया अगले महीने तक पूरी हो जाने की आशा है।

20% ग्रामीण बच्चों को कोई पाठ्य-पुस्तक प्राप्त नहीं हुई : शिक्षा की वार्षिक स्थिति रिपोर्ट

शिक्षा की वार्षिक स्थिति रिपोर्ट (Annual Status of Education Report- ASER) सर्वेक्षण के अनुसार, देश भर में COVID-19 के मद्देनज़र स्कूल बंद होने के कारण लगभग 20% ग्रामीण बच्चों को कोई पाठ्य-पुस्तक प्राप्त नहीं हुई। आंध्र प्रदेश में 35% से कम बच्चों के पास पाठ्य-पुस्तकें थीं, जबकि राजस्थान में केवल 60% बच्चों के पास पाठ्य पुस्तकें थीं। पश्चिम बंगाल, नगालैंड और असम में 98% से अधिक बच्चों के पास पाठ्य पुस्तकें थीं। सर्वेक्षण सप्ताह के अनुसार, लगभग तीन ग्रामीण बच्चों में से एक ने किसी भी प्रकार की सीखने की गतिविधि में भाग नहीं लिया।

थोक में दवाओं के घरेलू उत्पादन और चिकित्सा उपकरणों ‘संशोधित’ के विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए पीएलआई योजनाओं के दिशानिर्देश

केन्द्रीय औषध विभाग, रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय ने उद्योग जगत से प्राप्त सुझावों और टिप्पणियों को ध्यान में रखते हुए थोक दवाओं और चिकित्सा उपकरणों के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए उत्पादन से जुड़े हुए प्रोत्साहन (पीएलआई) योजनाओं को संशोधित किया है। तदनुसार, ‘न्यूनतम सीमा रेखा’ निवेश की आवश्यकता को प्रौद्योगिकी विकल्पों की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए‘प्रतिबद्ध निवेश’ द्वारा प्रतिस्थापित किया गया है जो उत्पाद-दर-उत्पाद भिन्न होता है। औषध विभाग निम्नलिखित दो उत्पादन से जुड़ेहुए प्रोत्साहन योजनाओं के साथ आया है-

  1. भारत में महत्वपूर्ण रूप से शुरू करने वाली सामग्री, दवा मध्यवर्ती और सक्रिय दवा सामग्री के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए उत्पादन से जुड़ाहुआ प्रोत्साहन योजना
  2. चिकित्सा उपकरणों के घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए उत्पादन जुड़ाहुआ प्रोत्साहन योजना
दोनों योजनाओं को 20 मार्च 2020 को मंत्रिमंडल द्वारा अनुमोदित किया गया था और योजनाओं के कार्यान्वयन के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश विभाग द्वारा 27 जुलाई 2020 को जारी किया गया था।

मंत्रिमंडल ने बाहरी वित्तीय सहायता प्राप्त बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना– चरण-II और III को मंजूरी दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति ने विश्व बैंक (डब्ल्यूबी) और एशियाई अवसंरचना निवेश बैंक (एआईआईएस) की वित्तीय सहायता प्राप्त बांध पुनर्वास और सुधार परियोजना (डीआरआईपी) चरण-II और चरण III को मंजूरी दे दी है। इसका उद्देश्य पूरे देश के कुछ चयनित बांधों की सुरक्षा और परिचालन में सुधार करना है तथा प्रणाली के व्यापक प्रबंधन दृष्टिकोण के साथ संस्थागत सुदृढ़ीकरण करना है।

मंत्रिमंडल ने स्वास्थ्य और दवा के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और कम्बोडिया के बीच हुए समझौता ज्ञापन को स्वीकृति दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता वाले केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने स्वास्थ्य एवं दवा के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और कम्बोडिया के बीच हुए समझौता ज्ञापन (एमओयू) को स्वीकृति दे दी है। द्विपक्षीय समझौते से स्वास्थ्य क्षेत्र में संयुक्त पहलों और प्रौद्योगिकी विकास के माध्यम से दोनों देशों के बीच सहयोग को प्रोत्साहन मिलेगा। इससे भारत और कम्बोडिया के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूती मिलेगी। एमओयू उसी दिन से प्रभावी होगा, जिस दिन उस पर हस्ताक्षर हुए थे और यह पांच साल की अवधि के लिए लागू रहेगा।

मंत्रिमंडल ने सूचना और संचार प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और जापान के बीच हुए सहयोग ज्ञापन को स्वीकृति दी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता वाले केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) के क्षेत्र में द्विपक्षीय भागीदारी पर भारत और जापान के बीच हुए सहयोग ज्ञापन (एमओसी) को अपनी स्वीकृति दे दी है। एमओसी संचार के क्षेत्र में द्विपक्षीय सहयोग और पारस्परिक समझ को मजबूत बनाने में योगदान करेगा तथा भारत के लिए एक रणनीतिक पहल के रूप में काम करेगा, क्योंकि जापान “विशेष रणनीतिक और वैश्विक भागीदार” के दर्जे वाला एक अहम साझीदार है।

केंद्रीय खेल मंत्री श्री किरेन रिजिजू और अभिनेता विद्युत जामवाल आईटीबीपी के साथ 200 किलोमीटर की ‘फिट इंडिया वॉकेथॉन ’ को झंडी दिखा कर रवाना करेंगे

केंद्रीय खेल मंत्री श्री किरेन रिजिजू, अभिनेता विद्युत जामवाल के साथ राजस्थान के जैसलमेर में 31 अक्टूबर को 200 किलोमीटर लंबी 'फिट इंडिया वॉकेथॉन ’को झंडी दिखा कर रवाना करेंगे। इस वॉकेथॉन का आयोजन भारत तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) द्वारा किया जा रहा है और यह 3 दिन (31 अक्टूबर से 2 नवंबर) तक चलेगी। इसमें विभिन्न केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों (सीएपीएफ) के जवान और कर्मी भाग लेंगे और 200 किलोमीटर से अधिक की दूरी तय करेंगे। वॉकेथॉन मार्च दिन-रात जारी रहेगा और भारत-पाकिस्तान सीमा के साथ स्थित क्षेत्र में थार रेगिस्तान के टीलों से होकर गुजरेगा।

पीएम नरेंद्र मोदी ने किया चौथे इंडिया एनर्जी फोरम का उद्घाटन

पीएम नरेंद्र मोदी ने HIS Markit द्वारा आयोजित CERAWeek द्वारा चौथे इंडिया एनर्जी फोरम का उद्घाटन किया है। इस संस्करण का विषय "भारत का ऊर्जा भविष्य एक विश्व परिवर्तन"/"India's Energy Future in a World of Change" है। भारत घरेलू विमानन के मामले में तीसरा सबसे बड़ा और सबसे तेजी से विकसित होने वाला विमानन बाजार है और 2024 तक भारतीय विमानवाहक पोत अपने बेड़े का आकार 600 से बढ़ाकर 1200 करने का अनुमान है। पीएम के अनुसार, भारत की ऊर्जा योजना का उद्देश्य टिकाऊ विकास के लिए भारत की वैश्विक प्रतिबद्धताओं का पूरी तरह से पालन करते हुए ऊर्जा न्याय सुनिश्चित करना है। इसका मतलब है कि एक छोटे कार्बन पदचिह्न के साथ भारतीयों के जीवन को बेहतर बनाने के लिए अधिक ऊर्जा की आवश्यकता है। उन्होंने भारत के ऊर्जा क्षेत्र को विकास केंद्रित, उद्योग के अनुकूल और पर्यावरण के प्रति जागरूक होने की कल्पना की।

केरल सब्जियों के निश्चित आधार मूल्य वाला पहला राज्य बना

केरल, सब्जियों के लिए आधार मूल्य निर्धारित करने वाला देश का पहला राज्य बन गया है. आधार मूल्य, सब्जी की उत्पादन लागत से 20 प्रतिशत अधिक होगा. यहां तक कि अगर बाजार मूल्य आधार मूल्य से नीचे चला जाता है, तो उत्पाद किसानों से आधार मूल्य पर खरीदा जाएगा. यह देश में पहली बार है कि राज्य में उत्पादित सब्जियों के लिए आधार मूल्य निर्धारित की जा रही है. यह किसानों को राहत देने के साथ-साथ समर्थन देने वाला है.उत्पाद को वर्गीकृत किया जाएगा और गुणवत्ता के आधार पर आधार मूल्य निर्धारित किया जाएगा.पहले चरण में सब्जियों की सोलह किस्मों को शामिल किया जाएगा और नियमित रूप से आधार मूल्य को संशोधित करने का प्रावधान है.आधार मूल्य का लाभ प्राप्त करने के लिए फसल का बीमा करने के बाद किसान कृषि विभाग के पंजीकरण पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते हैं.यह योजना पूरी आपूर्ति श्रृंखला प्रक्रिया जैसे कोल्ड स्टोरेज सुविधाएं और उत्पाद के परिवहन के लिए प्रशीतित वाहन को स्थापित करने की भी परिकल्पना करती है.

ओडिशा के मुख्यमंत्री ने 'सुमंगल' और छात्र छात्रवृत्ति वेब पोर्टल लॉन्च किया

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने 'ओडिशा राज्य छात्रवृत्ति पोर्टल' और 'सुमंगल पोर्टल' नाम से दो वेब पोर्टल लॉन्च किए हैं. पूर्व पोर्टल, राज्य के योग्य छात्रों को सहज और पारदर्शी तरीके से छात्रवृत्ति लाभ प्राप्त करने में मदद करने के लिए है, जबकि बाद वाला एक अंतर-जातीय विवाह प्रोत्साहन का लाभ उठाने में लोगों की मदद करने के लिए है. एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, आठ राज्य विभागों द्वारा 21 छात्रवृत्ति प्रस्तावित की जाएगी और अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग के 11 लाख से अधिक लाभार्थी छात्रों और शैक्षिक रूप से पिछड़े वर्गों को छात्रवृत्ति पोर्टल से लाभ होगा।राज्य छात्रवृत्ति पोर्टल के माध्यम से, छात्रवृत्ति सीधे छात्रों के बैंक खातों में जमा की जाएगी क्योंकि पोर्टल राज्य कोष से सम्बंधित है. इसके अतिरिक्त, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति विभाग, उच्च शिक्षा, स्कूलों और जन शिक्षा, श्रम और ईएसआई, कौशल विकास और तकनीकी शिक्षा, तथा कृषि विभाग के पेशेवर कार्यक्रमों को पोर्टल पर प्रशासित किया जाएगा.

सरबप्रीत सिंह ने एक नई किताब "नाइट ऑफ द रेस्टलेस स्पिरिट्स'' प्रकाशित

सरबप्रीत सिंह ने एक नई किताब "नाइट ऑफ द रेस्टलेस स्पिरिट्स: स्टोरीज फ्रॉम 1984"/"Night of the Restless Spirits: Stories from 1984" लिखी है। लेखक सरबप्रीत सिंह इस पुस्तक में 1984 के सिख नरसंहार को याद करते हैं। पुस्तक वास्तविक घटनाओं का काल्पनिक संस्करण है जिसमें सिर्फ आठ अध्याय शामिल हैं। यह सिखों पर कई जीवन और प्रभाव के प्रिज्म के माध्यम से 1984 की घटनाओं को दर्शाता है। पुस्तक पेंग्विन पब्लिकेशन द्वारा प्रकाशित की गई है।

राष्ट्रपति ने एनसीआर में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग के गठन के लिए अध्यादेश जारी किया

भारत के राष्ट्रपति ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्ता प्रबंधन के लिए एक वायु गुणवत्ता आयोग का गठन करने और इसके निकटवर्ती क्षेत्रों के लिए एक अध्यादेश जारी किया है। यह आयोग राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में वायु गुणवत्ता सूचकांक में अनुसंधान, बेहतर समन्वय, पहचान और समस्याओं के समाधान पर काम करेगा। इस आयोग में एक अध्यक्ष, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान के सदस्य शामिल होंगे। साथ ही, इसमें ISRO (भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन) और केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के सदस्य शामिल होंगे। 26 अक्टूबर, 2020 को, भारत सरकार ने सर्वोच्च न्यायालय को सूचित किया कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में फसल अवशेष जलने के कारण होने वाले वायु प्रदूषण को प्रबंधित के लिए एक स्थायी निकाय का गठन किया जाएगा। इस आधार पर अध्यादेश को प्रख्यापित किया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने पहले सेवानिवृत्त जस्टिस मदन लोकुर के तहत एक-व्यक्ति समिति का गठन किया था। इस समिति का गठन हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में फसल अवशेष जलाने की निगरानी के लिए किया गया था। बाद में इस समिति को केंद्र की सूचना पर निलंबित कर दिया गया था। यह स्थायी निकाय पर्यावरण प्रदूषण (रोकथाम और नियंत्रण) प्राधिकरण का स्थान लेगा।

नीति आयोग ने “भारत में बिजली की पहुंच और बेंचमार्किंग वितरण उपयोगिताएँ” रिपोर्ट जारी की

नीती आयोग ने “Electricity Access in India and Benchmarking Distribution Utilities” की रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार 92% ग्राहकों ने अपने परिसर के 50 मीटर के दायरे में बिजली का बुनियादी ढांचा प्राप्त किया। लगभग 87% ग्राहकों के पास ग्रिड-आधारित बिजली की पहुंच थी। शेष 13% ने या तो नॉन ग्रिड स्रोतों का उपयोग किया या बिजली का उपयोग नहीं किया। गैर-ग्रिड स्रोतों का उपयोग करने वाले अधिकांश ग्राहक कृषि क्षेत्र से थे। देश में बिजली उपलब्धता के घंटों में सुधार किया गया है। भारत में प्रति दिन औसतन 17 घंटे बिजली मिल रही है। रिपोर्ट 10 राज्यों में किए गए सर्वेक्षण के आधार पर बनाई गई थी जो भारतीय ग्रामीण आबादी का 65% है।

भारत ने एससीओ विदेश व्यापार और आर्थिक मंत्रियों की बैठक की मेजबानी की

केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने 19वीं SCO विदेश व्यापार और आर्थिक मंत्रियों की बैठक की अध्यक्षता की। इस बैठक के दौरान, मंत्री ने टिप्पणी की कि देशों को इस क्षेत्र में व्यापार और निवेश बढ़ाने के लिए अपनी आर्थिक शक्ति का लाभ उठाना चाहिए। मंत्री के अनुसार यह कोविड-19 महामारी से रिकवरी की गति को बढ़ाने में मदद करेगा। यह वैश्विक आर्थिक विकास में मदद करेगा।

गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन

गुजरात के पूर्व मुख्‍यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन हो गया। वे 92 वर्ष के थे। पिछले महीने कोविड-19 से ठीक होने के बाद उनका स्‍वास्‍थ्‍य खराब हो गया था। श्री पटेल ने 1995 और 1998 से 2001 तक गुजरात के मुख्‍यमंत्री के रूप में कार्य किया। वे छह बार विधानसभा के सदस्‍य रहे। गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने केशुभाई पटेल के निधन पर गहरा दुख व्‍यक्‍त किया है।

डीयू के कुलपति योगेश त्यागी को राष्ट्रपति ने किया निलंबित

अनियमितताओं के आरोपों से घिरे दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर योगेश त्यागी को आखिरकार निलंबित कर दिया गया है। शिक्षा मंत्रलय की सिफारिश पर राष्ट्रपति ने बतौर विजिटर मिली शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए उन्हें तत्काल प्रभाव से कुलपति के पद से हटा दिया। साथ ही उन पर लगे आरोपों की उच्च स्तरीय जांच की भी मंजूरी दी है।

केंद्र सरकार को नहीं पता आरोग्य सेतु एप किसने तैयार किया

कोरोना महामारी के इस दौर में लगभग हर व्यक्ति के स्मार्ट फोन में आरोग्य सेतु मिल जाएगा। सरकार आरोग्य सेतु एप को अपने मोबाइल में डाउनलोड करने के लिए बार-बार लोगों से आग्रह भी करती रही है। लेकिन आपको जानकार हैरानी होगी कि सरकार को यह पता ही नहीं कि आरोग्य सेतु एप को किसने तैयार किया है। सूचना के अधिकार (आरटीआइ) के तहत मांगी गई जानकारी में यह बात सामने आई है, जिसके बाद केंद्रीय सूचना आयोग (सीआइसी) ने केंद्रीय सार्वजनिक सूचना अधिकारियों (सीपीआइओ), इलेक्ट्रॉनिक्स एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रलय, राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआइसी) और नेशनल ई-गवर्नेस डिविजन (एनईजीडी) को कारण बताओ नोटिस भेजा है।

वियतनाम पहुंचा तूफान, दो की मौत

विनाशकारी तूफान मोलावे वियतनाम के करीब पहुंच गया। तूफान के कारण दो लोगों की मौत हो गई और 26 मछुआरे लापता हैं। वियतनाम 20 वर्षो में सबसे शक्तिशाली तूफान का सामना कर रहा है।

इंग्लैंड के स्कूलों में अक्षय पात्र ने मुफ्त भोजन बांटा

भारत में लाखों बच्चों को भोजन मुहैया कराने वाली संस्था अक्षय पात्र ने इंग्लैंड के स्कूलों में मुफ्त भोजन बांटा। उत्तर-पश्चिम लंदन के वाटफोर्ड में स्थापित अपने नए किचन से इस संस्था ने भोजन वितरण की शुरुआत की। मुंबई और अहमदाबाद के लिए विकसित मॉडल के तहत पकाया गया गर्म शाकाहारी खाना मंगलवार को उत्तरी लंदन में स्कूलों को भेजा गया। अक्षय पात्र भारत में स्कूलों के लिए रोजाना 18 लाख भोजन तैयार करता है।

मौजूदा स्थिति को देखते हुए निर्वाचन आयोग का मुंगेर के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को तत्‍काल हटाने का आदेश

मुंगेर में मौजूदा स्थिति को देखते हुए निर्वाचन आयोग ने वहां के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक को तत्‍काल हटाने का आदेश दिया है। आयोग ने मगध के मंडल आयुक्‍त को इस पूरे प्रकरण की जांच करके सात दिन के भीतर रिपोर्ट देने को कहा है। मुंगेर जिले में दुर्गा प्रतिमा विसर्जन के दौरान हुई हिंसा में एक व्‍यक्ति की मौत हो गई थी और छह अन्‍य घायल हुए थे।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.