Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

3 December 2020

बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज में लखनऊ महानगर पालिका बॉण्‍ड को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया शुरू

उत्‍तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने बॉम्‍बे स्‍टॉक एक्‍सचेंज में लखनऊ महानगर पालिका बॉण्‍ड को सूचीबद्ध करने की प्रक्रिया की शुरूआत की। लखनऊ देश का नौंवा शहर है जिसने दस वर्ष के लिए आठ दशमलव पांच प्रतिशत के कूपन पर धन उगाही का रास्‍ता अपनाया है। उत्‍तर प्रदेश सरकार के एक बयान के अनुसार पिछले महीने बॉण्‍ड जारी कर‍के लखनऊ महानगर पालिका ने दो सौ करोड़ रूपये प्राप्‍त किए हैं। राज्‍य सरकार ने कहा है कि गाजियाबाद, वाराणसी, आगरा और कानपुर जैसे शहर भी इसी तरीके से धन उगाही का प्रबंध करेंगे।

देहरादून में उत्‍तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए फाइव स्‍टार ग्रामीण डाक योजना शुरू

केंद्रीय संचार राज्‍यमंत्री संजय धोत्रे ने देहरादून में उत्‍तराखंड के ग्रामीण क्षेत्रों के लिए फाइव स्‍टार ग्रामीण डाक योजना की शुरूआत की। इस अवसर पर उन्‍होंने वरिष्‍ठ नागरिक कल्‍याण कोष योजनाओं के लाभार्थियों को सुकन्‍या समृद्धि योजना पासबुक, चेक बुक, एटीएम कार्ड और बचत खाता पासबुक वितरित किए। संचार मंत्रालय के तहत डाक विभाग ने इससे पहले एक फाइव स्टार विलेज स्कीम शुरू की थी। यह योजना सुदूर गांवों में सार्वजनिक जागरूकता और डाक उत्पादों और सेवाओं की पहुंच के बीच अंतराल को कम करने के लिए एक प्रयास है।

पेरिस समझौते के कार्यान्वयन के लिए एक उच्च-स्तरीय अंतर मंत्रालयीय समिति का गठन

केन्‍द्र सरकार ने पेरिस समझौते के कार्यान्वयन के लिए एक उच्च-स्तरीय अंतर मंत्रालयीय समिति का गठन किया है। जिसकी अध्‍यक्षता पर्यावरण सचिव करेंगे। इस समिति का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन के मामलों पर देश की समन्वित कार्ययोजना तैयार करना है ताकि भारत पेरिस समझौते के तहत अपने दायित्वों को पूरा करने की दिशा में ठीक से आगे बढ़े। चौदह मंत्रालयों के वरिष्ठ अधिकारी इस समिति के सदस्य होंगे। अगले साल से पेरिस समझौते के कार्यान्वयन की शुरुआत होगी। समिति यह भी सुनिश्चित करेगी कि भारत अपने जलवायु संबंधी फैसलों को पेरिस समझौते के अनुरूप बनाये रखे। केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय (MoEFCC) सचिव आर पी गुप्ता इस समिति के प्रमुख होंगे और MoEFCC के अतिरिक्त सचिव रविशंकर प्रसाद उपाध्यक्ष होंगे।

केन्‍द्रीय मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने देश में विकसित पहले 100 ओकटेन प्रीमियम पेट्रोल का उद्घाटन किया

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOC) ने 1 दिसंबर, 2020 को भारत का पहला 100 ऑक्टेन पेट्रोल लॉन्च किया है। इस लॉन्च के माध्यम से भारत को उन चुनिंदा देशों की लीग में शामिल होने में मदद मिलेगी जो बेहतर गुणवत्ता के लिए ऐसे ईंधन का उपयोग करते हैं। इससे पहले हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) ने हाल ही में ऑक्टेन 99 लॉन्च किया था। केन्‍द्रीय पेट्रोलियम तथा प्राकृतिक गैस और इस्‍पात मंत्री धर्मेन्‍द्र प्रधान ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्‍यम से इसका उद्घाटन किया। XP100 प्रीमियम पेट्रोल अभी शुरुआत में IOC के चुनिंदा आउटलेट पर ही उपलब्ध होगा। यह पहले दिल्ली, नोएडा, गुड़गांव, आगरा, जयपुर, लुधियाना, चंडीगढ़, पुणे, मुंबई और अहमदाबाद जैसे 10 शहरों में उपलब्ध होगा। ईंधन का निर्माण उत्तर प्रदेश में इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन की मथुरा रिफाइनरी द्वारा किया गया है।

इंग्लैंड कोरोना टीके को इस्तेमाल की मंजूरी देने वाला पहला देश

इंग्‍लैंड दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया, जिसने कोरोना के टीके को इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। इसका उत्‍पादन अगले हफ्ते शुरू हो जाएगा। इंग्‍लैंड़ की स्‍वास्‍थ्‍य नियामक एजेंसी ने बताया है कि यह टीका 95 फीसदी तक सुरक्षा प्रदान करता है। इस टीके का विकास अमरीकी दवा कंपनी फाइजर और जर्मनी की दवा कंपनी बायेनटेक ने मिलकर किया है। उम्मीद है इस वर्ष कंपनी पांच करोड़ और अगले वर्ष एक अरब तीस करोड़ टीकों का उत्‍पादन करेगी।

मलेरिया को नियंत्रित करने में भारत ने उल्‍लेखनीय कार्य किया- विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन द्वारा जारी विश्‍व मलेरिया रिपोर्ट 2020 का कहना है कि भारत ने मलेरिया के मामलों में कमी लाने के काम में प्रभावी प्रगति की है। यह रिपोर्ट गणितीय अनुमानों के आधार पर दुनियां भर में मलेरिया के अनुमानित मामलों के बारे में आंकडे जारी करती है। रिपोर्ट के अनुसार भारत इस बीमारी से प्रभवित वह अकेला देश है जहां 2018 के मुकाबले 2019 में इस बीमारी के मामलों में 17.6 प्रतिशत की कमी दर्ज की गई है। भारत का एनुअल पेरासिटिक इंसीडेंस (एपीआई) 2017 के मुकाबले 2018 में 27.6 प्रतिशत थाऔर ये 2019 में 2018 के मुकाबले 18.4 पर आ गया। भारत ने वर्ष 2012 से एपीआई को एक से भी कम पर बरकरार रखा है। भारत ने मलेरिया के क्षेत्रवार मामलों में सबसे बडी गिरावट लाने में भी योगदान किया है यह 20 मिलियन से घटकर करीब 6 मिलियन पर आ गई है। इसी अवधि में मलेरिया से होने वाली मौतों का प्रतिशत 92 से घटकर 83 दशमलव तीन चार हो गया है। देश में मलेरिया उन्‍मूलन के प्रयास 2015 में शुरू किए गए और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने मलेरिया उन्‍मूलन के लिए 2016 में राष्‍ट्रीय नीति बनाई। जुलाई 2017 में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने मलेरिया उन्‍मूलन के लिए राष्‍ट्रीय रणनीति योजना तैयार की, जिसमें अगले पांच वर्षों के लिए किए जाने वाले उपाय तय किए गए हैं।

कर्नाटक में नाबार्ड के लाभार्थियों को रियायती दरों पर वित्‍तीय सुविधा देने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कर्नाटक में नाबार्ड के क्षेत्रीय कार्यालय और भारतीय स्टेट बैंक ने जल संभर विकास और जनजातीय विकास परियोजनाओं के लाभार्थियों को रियायती दरों पर वित्‍तीय सुविधा देने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। नाबार्ड के अध्यक्ष-सह-प्रबंध निदेशक नीरज कुमार वर्मा और भारतीय स्टेट बैंक के मुख्य महाप्रबंधक अभिजीत मजूमदार ने बेंगलुरु में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। इसका लक्ष्य कर्नाटक के 28 जिलों में 260 किसान संगठनों के 45 हजार लाभार्थियों की सहायता करना है। इसमें स्वयंसहायता समूहों और संयुक्त उत्‍तरदायी समूहों के 8 हजार 5 सौ लाभार्थियों को भी शामिल किया जाएगा। इस वर्ष पहली अक्तूबर को 3 लाख दो हजार 614 स्वयंसहायता समूहों का डिजिकरण किया गया। उनमें से कर्नाटक के 29 जिलों में 2 लाख 81 हजार 755 क्रेडिट लिंक शुरू किए गए। ये सभी ई-शक्ति परियोजना से जुड़े हैं। समझौते के अंतर्गत स्‍टेट बैंक को स्वयं सहायता समूहों को डिजिकृत और राज्य भर में ई-शक्ति पोर्टल पर आंकड़े अपलोड करेगा। बै्ंक की प्रत्येक ग्रामीण और अर्ध-शहरी शाखाएं इसके लिए प्रतिवर्ष वित्तीय सुविधा प्रदान करेंगी।

कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने कचरे से चलने वाले 11 दशमलव पांच मेगावाट की क्षमता के बिजली संयंत्र की आधारशिला रखी

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कचरे से चलने वाले 11 दशमलव पांच मेगावाट की क्षमता के बिजली संयंत्र की आधारशिला रखी। राज्य में यह पहला बिजली संयंत्र होगा जो नगरपालिका के छह सौ टन कचरे को 11 दशमलव पांच मेगावाट ऊर्जा में परिवर्तित करने में सक्षम होगा। यह बिजली संयंत्र मौजूदा पावर ग्रिड में आठ करोड छह लाख यूनिट बिजली का उत्‍पादन करेगा। बेंगलुरु में प्रतिदिन पांच हजार टन कचरा निकलता है। यह बिजली संयंत्र 2022 तक बन कर तैयार हो जाएगा। इससे बेंगलूरू नगर निगम को 14 करोड़ रुपये प्रतिवर्ष की बचत होगी।

कोविड 19 के टीके-कोवैक्सीन के चिकित्सीय परीक्षण का तीसरा चरण बेंगलूरू में शुरू

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बी एस येडियुरप्‍पा ने कोविड 19 के टीके-कोवैक्‍सीन के चिकित्‍सीय परीक्षण के तीसरे चरण की बेंगलूरू में शुरूआत की। कोवैक्‍सीन को हैदराबाद स्थित भारत बॉयोटेक लिमिटेड द्वारा विकसित किया जा रहा है और आत्‍मनिर्भर भारत योजना के अंतर्गत इसका चिकित्‍सीय परीक्षण वैदेही मेडिकल साईन्‍स एंड रिसर्च इंस्‍टीट्यूट में होगा। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने इस संस्‍थान को कोवैक्‍सीन के तीसरे चरण के परीक्षण की अनुमति दे दी है।

आईएफएससीए को इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ इंश्योरेंस सुपरवाइजर्स (आईएआईएस) की सदस्यता मिली

अंतरराष्ट्रीय वित्तीय सेवा केंद्र प्राधिकरण (आईएफएससीए) को इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ इंश्योरेंस सपुरवाइजर्स (आईएआईएस) की सदस्यता मिली है। आईएआईएस का गठन वर्ष 1994 में हुआ, जिसका मुख्यालय स्विटजरलैंड में स्थित है। यह एक स्वैच्छिक संगठन है। जिसमें 200 से ज्यादा न्यायाधिकरण (अधिकार क्षेत्र) के दायरे में आने वाले इन्श्योरेंस सुपरवाइजर और नियामक जुड़े हुए हैं। जो कि दुनिया के 97 फीसदी इंश्योरेंस प्रीमियम में हिस्स्दारी रखते हैं। इन्श्योरेंस क्षेत्र में अंतरराष्ट्रीय स्तर के मानक बनाने, नियमों को तय करने और उसके लिए जरूरी सहयोग देने में इस संगठन की अहम भूमिका रहती है। आईएआईएस इसके अलावा अपने सदस्यों को एक प्लेटफॉर्म भी मुहैया कराता है, जहां पर वह अपने, इंश्योरेंस सुपरविजन और इंश्योरेंस बाजार के अनुभवों को साझा करते हैं। अपनी इन्हीं खासियत की वजह से आईएआईएस को जी-20 देशों के नेताओं और दूसरे अंतराष्ट्रीय संगठनों द्वारा नियमित से आमंत्रित किया जाता है। आईएआईएस की सदस्यता हासिल होने से आईएफएससीए को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आईएआईएस के नेटवर्क का फायदा मिलेगा। साथ ही वह दूसरे नियामकों के साथ सूचनाओं और विचारों का भी आदान-प्रदान कर सकेगा। इसके अलावा गिफ्ट (जीआईएफटी) सिटी में स्थित आईएफएससी को एक वैश्विक इंश्योरेंस हब के रूप में विकसित करने में भी मदद मिलेगी।

एडीबी और भारत ने पश्चिम बंगाल में सार्वजनिक वित्त सुधारों के सन्दर्भ में डिजिटल प्लेटफार्मों को बढ़ावा देने के लिए 50 मिलियन डॉलर के ऋण पर हस्ताक्षर किए

एशियाई विकास बैंक (एडीबी) और भारत सरकार ने वित्तीय प्रबंधन प्रक्रियाओं और परिचालन दक्षता को बेहतर बनाने के लिए 50 मिलियन डॉलर के नीति-आधारित ऋण पर हस्ताक्षर किए, जिसका उद्देश्य पश्चिम बंगाल राज्य में राजकोषीय बचत में वृद्धि करना, जानकारी आधारित निर्णय लेने को बढ़ावा देना और सेवाओं की अदायगी में सुधार करना है।

भारत में घूसखोरी की 39 फीसदी दर, एशियाई देशों में सबसे ज्यादा: सर्वे

सरकारी दफ्तरों में काम करवाने के लिए रिश्वत देने में भारत के लोग एशिया में सबसे आगे हैं। यहां लोगों को किसी न किसी रूप में घूस देनी ही पड़ती है। यह जानकारी भ्रष्टाचार पर काम करने वाले ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल की जारी रिपोर्ट में सामने आई है। इस रिपोर्ट के मुताबिक एशिया प्रशांत क्षेत्र में रिश्वतखोरी के मामले में भारत शीर्ष पर है, जबकि जापान सबसे कम भ्रष्ट देश है। इस रिपोर्ट के मुताबिक एशिया के अन्य देशों में कंबोडिया दूसरे और इंडोनेशिया तीसरे नंबर पर है। इस रिपोर्ट के मुताबिक एशिया में हर पांच में से एक यक्ति ने अपना काम कराने के लिए रिश्‍वत दी है। ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल के इस सर्वे में शामिल लोगों में से 47 फ़ीसदी भारतीय ने कहा कि पिछले 12 महीने में भ्रष्टाचार बढ़ा है। इस सर्वे में शामिल 63% लोगों ने यह माना कि सरकार भ्रष्टाचार को रोकने के लिए सही कदम उठा रही है।

QS एशिया यूनिवर्सिटी रैंकिंग 2021: शीर्ष 50 में 3 IIT; नेशनल यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर अव्वल रहा

एशिया के प्रमुख 750 शैक्षणिक संस्थानों के आंकलन के आधार पर क्यूएस एशिया रैंकिंग-2021 जारी कर दी गई है। इस रैंकिंग में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे, दिल्ली और मद्रास शीर्ष 50 संस्थानों में शामिल हैं। जबकि वहीं क्यूएस एशिया रैंकिंग-2021 में सिंगापुर के राष्ट्रीय विश्वविद्यालय ने पहला स्थान हासिल किया है। क्यूएस एशिया रैंकिंग-2021 में भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बॉम्बे, दिल्ली और मद्रास को क्रमशः 37 वाँ, 47 वाँ और 50 वाँ स्थान हासिल हुआ है। क्यूएस एशिया रैंकिंग-2021 में के विश्वविद्यालयों की श्रेणी में दिल्ली विश्वविद्यालय और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय को 71 वाँ और 81 वाँ स्थान हासिल हुआ है। वहीं भारत के सागर विश्वविद्यालय 361 वाँ स्थान प्राप्त हुआ है।सूची में शामिल अन्य भारतीय संस्थानों में आईआईटी रुड़की (103), आईआईटी गुवाहाटी (II7), हैदराबाद विश्वविद्यालय (142), जादवपुर विश्वविद्यालय (147) ,कलकत्ता विश्वविद्यालय (154) और रासायनिक और प्रौद्योगिकी संस्थान, मुंबई (155) आदि हैं। क्वैक्रेली साइमंड्स (Quacquarelli Symonds -QS) एक ब्रिटिश कंपनी है जो दुनिया भर के उच्च शिक्षा संस्थानों के विश्लेषण में विशेषज्ञता रखती है।इसकी स्थापना 1990 में की गयी थी।क्वैक्रेली साइमंड्स (Quacquarelli Symonds -QS), दुनियाभर के शिक्षण संस्थानों के लिए विभिन्न रैंकिंग जारी करती है, यथा- क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग(QS World University Rankings) और क्यूएस एशिया रैंकिंग (QS Asia Rankings)।

एचएएल ने इसरो को अब तक के सबसे बड़े क्रायोजेनिक प्रणोदक टैंक की आपूर्ति की

हिन्दुस्तान ऐरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) ने कहा कि उसने अनुबंध के तहत तय समय सीमा से बहुत पहले ही इसरो को सबसे बड़ा क्रायोजेनिक प्रणोदक टैंक (सी32एलएच2) की आपूर्ति कर दी है। एचएएल ने एक विज्ञप्ति में बताया कि ‘सी32एलएच2’ टैंक को जीएसएलवी एमके-तीन प्रक्षेपण वाहन की भार क्षमता को बेहतर बनाने के लिए विकसित किया गया है । एचएएल के मुताबिक चार मीटर चौड़े और आठ मीटर लंबे इस टैंक में 5,755 किलोग्राम प्रणोदक रखा जा सकता है।

पश्चिम बंगाल ने बड़े पैमाने पर शुरू किया आपके ‘द्वारे सरकार’ अभियान

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने 11 राज्य-कल्याणकारी योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करने और इसका लाभ उठाने में मदद करने के लिए ‘द्वारे सरकार’ (दरवाजे पर सरकार) नामक एक बड़े अभियान का शुभारंभ किया है। अप्रैल-मई में होने वाले 2021 राज्य विधानसभा चुनावों को ध्यान में रखते हुए दो महीने लंबे आउटरीच कार्यक्रम की शुरुआत की गई है। यह अभियान 1 दिसंबर, 2020 से 30 जनवरी, 2020 तक चार चरणों में चलाया जाएगा, जिसमें नारा ‘jar jekhane darkar, asche apnar duare sarkar’ यानि जब आप चाहे तब सरकार आपके दरवाजे पर होगी। 11 योजनाओं के लाभार्थियों को इस उद्देश्य के लिए लगाए गए शिविरों में रखा जाएगा।

ले. जनरल राजीव चौधरी बने बीआरओ के महानिदेशक

लेफ्टिनेंट जनरल राजीव चौधरी बॉर्डर रोड ऑर्गेनाइजेशन के नए महानिदेशक बनाए गए हैं। वे दिसंबर 1983 में कॉर्प ऑफ इंजीनियर्स में कमीशंड किए गए थे। चौधरी बीआरओ के 27वें महानिदेशक होंगे। उनके पास देश की सीमा पर सुरक्षा के लिए सड़कों के बेहतर ढांचे को बनाए रखने की बड़ी चुनौती होगी।

संदीप कटारिया होंगे बाटा के नए वैश्विक मुख्य कार्यकारी अधिकारी

जूते के प्रमुख संगठन बाटा जूता संगठन ने संदीप कटारिया को अपना नया वैश्विक मुख्य कार्यकारी अधिकारी (Chief Executive Officer) नियुक्त किया है। वह पहले भारतीय हैं जिन्हें बाटा (हेडक्वार्टर-लुसाने, स्विट्जरलैंड) में वैश्विक भूमिका निभाने के लिए चुना किया गया है। वे एलेक्सिस नास्र्ड का पदभार संभालेंगे, जिन्होंने लगभग पांच साल बाद पद प् रहने के बाद इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले, कटारिया 2017 से बाटा इंडिया के सीईओ है। कटारिया की लीडरशिप के अंतर्गत, बाटा इंडिया उम्मीद से भी कम समय के अन्दर भारत में सबसे बड़े फुटवियर रिटेलर में बदलने में कामयाब रहा।

हेक्सजेन, एएफसी इंडिया ने हाथ मिलाया, 1000 कृषि प्रौद्योगिकी स्टार्टअप को देंगे बढ़ावा

सलाहकार फर्म हेक्सजेन और एएफसी इंडिया ने भारत में कृषि से संबंधित उद्यमशीलता को बढ़ावा देने के लिए हाथ मिलाया है और उनका मकसद 1,000 कृषि प्रौद्योगिकी के स्टार्टअप को मदद देना है। एएफसी इंडिया लिमिटेड (पूर्व में कृषि वित्त निगम लिमिटेड) भारत में कृषि, ग्रामीण विकास और अन्य रणनीतिक सामाजिक-आर्थिक क्षेत्रों के लिए परामर्श, सलाहकार और कार्यान्वयन सहायता प्रदान करने वाला संगठन है। यह वाणिज्यिक बैंकों, नाबार्ड और एक्जिम बैंक के पूर्ण स्वामित्व वाली संस्था है।

ऑस्ट्रेलियाः रेगिस्तान में नया टेलीस्कोप लगाकर 30 लाख गैलेक्सी की मैपिंग की

ऑस्ट्रेलिया की नेशनल साइंस एजेंसी सीएसआईआरओ ने कहा है कि उसने एक नए एडवांस टेलीस्कोप ऑस्ट्रेलियन स्क्वेयर किलोमीटर ऐरे पाथफाइंडर (ASKAP) की मदद से ब्रह्मांड का नया एटलस तैयार किया है। इस टेलीस्कोप को रेगिस्तान में लगाया गया था। इससे 30 लाख गैलेक्सी की मैपिंग की गई, जो कि पिछले सर्वे से दोगुनी है। इस मैपिंग में 300 घंटे लगे। जबकि पहले कई साल लग जाते थे। ASKAP करीब 36 डिश ऐंटेना से बना है जो मिलकर आसमान की पनोरमा मोड में तस्वीरें लेते हैं। हाई क्वॉलिटी के टेलिस्कोप रिसीवर का मतलब होता है कि टीम को पूरे आसमान का मैप बनाने के लिए सिर्फ 903 तस्वीरों को जोड़ना होता है। पहले से सर्वे में उन्हें इसके लिए हजारों तस्वीरें चाहिए होती थीं।

OECD ने वित्त वर्ष 2020-21 में भारत की जीडीपी -9.9% रहने का जताया अनुमान

ऑर्गनाइजेशन फॉर इकोनॉमिक को-ऑपरेशन एंड डेवलपमेंट (OECD) ने वित्त वर्ष 2020-21 के लिए जारी किए भारत के सकल घरेलू उत्पाद के अपने पूर्वानुमान में मामूली संशोधन कर 9.9% नेगेटिव रहने की संभावना जताई है, जो सितंबर 2020 में (-) 10.2% आँका गया था। हालंकि OECD ने उम्मीद जताई है कि वित्त वर्ष 2021-22 में भारत की जीडीपी उभरकर 8% और 2022-23 में 5% की दर से वृद्धि करेगी। वैश्विक अर्थव्यवस्था के संदर्भ में, OECD को उम्मीद है कि 2020 में दुनिया की जीडीपी 4.2% नेगेटिव रहेगी। सितंबर के पूर्वानुमान में यह अनुमान (-) 4.5 प्रतिशत था। इसके अलावा ओईसीडी ने 2021 में विश्व अर्थव्यवस्था के 5 प्रतिशत के पहले के पूर्वानुमान के स्थान पर 4.2 प्रतिशत की दर से बढ़ने का भी अनुमान जताया है। साथ ही 2022 के लिए ग्लोबल जीडीपी 3.7% आंकी गई है।

US एयर क्वालिटी इंडेक्स: लाहौर बना दुनिया का सबसे प्रदूषित शहर

यूएस एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) द्वारा वायु प्रदूषण पर जारी किए आंकड़ों के अनुसार, पाकिस्तान की सांस्कृतिक राजधानी लाहौर को दुनिया के सबसे प्रदूषित शहर के रूप में शीर्ष स्थान पर रखा गया है। लाहौर को पार्टिकुलेट मेट्टर (पीएम) रेटिंग में 423 रेटिंग मिली। इस सूची में नई दिल्ली 229 के पीएम रेटिंग के साथ दूसरे स्थान पर रहा, जबकि नेपाल की राजधानी काठमांडू 178 के पीएम रेटिंग के साथ तीसरे स्थान पर रही। वायु गुणवत्ता सूचकांक (Air Quality Index) अमेरिकी पर्यावरण संरक्षण एजेंसी (EPA) द्वारा जारी किया गया है ताकि लोगों द्वारा यह अनुमान लगाया जा सके कि हवा में सांस लेना सुरक्षित है अथवा नही। AQI, EPA द्वारा विनियमित पांच प्रमुख प्रदूषकों के स्तर पर आधारित है: जमीनी स्तर का ओजोन, पार्टिकुलेट मैटर (PM2.5), कार्बन मोनोऑक्साइड, सल्फर डाइऑक्साइड और नाइट्रोजन डाइऑक्साइड। AQI 0-500 के पैमाने पर रखकर वायु की गुणवत्ता को मापता है, जहाँ AQI 50 से कम होता है, तो वहां हवा की गुणवत्ता को संतोषजनक माना जाता है।

मेन्स चैम्पियंस लीग में पहली महिला रेफरी

फ्रांस की स्टेफनी फ्रेपार्ट चैंपियंस लीग में युवेंटस और डायनेमो कीव के मुकाबले की रेफरी होंगी। यूरोपियन फुटबॉल की गवर्निंग बॉडी यूएफा ने इसकी पुष्टि की है। 36 साल की फ्रेपार्ट चैंपियंस लीग के इतिहास में पहली महिला रेफरी होंगी। वे फ्रांस की टॉप लीग लीग-1 में रेफरी बनने का रिकॉर्ड पहले ही बना चुकी हैं। वे 2019 यूएफा सुपर कप के लिवरपूल और चेल्सी के फाइनल मुकाबले में रेफरी थीं। वे अक्टूबर में यूरोपा लीग में डेब्यू कर चुकी हैं। ऐसा पहली बार हुआ, जब यूरोप के सबसे प्रतिष्ठित क्लब टूर्नामेंट में कोई महिला रेफरी थी। पहली बार 13 साल की उम्र में रेफरी बनी थीं।

राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस: 02 दिसंबर

भारत में हर साल 2 दिसंबर को वर्ष 1984 में 2 से 3 दिसंबर की रात को हुई भोपाल गैस त्रासदी की दुर्भाग्यपूर्ण घटना में जीवन गंवाने वाले लोगों की स्मृति में राष्ट्रीय प्रदूषण नियंत्रण दिवस मनाया जाता है। वर्ष 2020 में भोपाल गैस त्रासदी की 36 वीं वर्षगांठ है। इस दिन के जरिए, हवा, पानी और मिट्टी के बढ़ते प्रदूषण के बारे में जागरूकता पैदा की जाती है, और प्रदूषण नियंत्रण अधिनियमों के बारे में लोगों को जागरूक किया जाता है।

विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस: 02 दिसंबर

हर साल 2 दिसंबर दुनिया भर में डिजिटल साक्षरता से अलग-थलग पड़े समुदायों में जागरूकता पैदा करने और डिजिटल साक्षरता को बढ़ाया देने के लिए विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिन विशेष रूप से बच्चों और महिलाओं में तकनीकी कौशल को बढ़ावा देने के लिए मनाया जाता है। विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस आज दुनिया में मौजूद उन्नत अंतर को नियंत्रित करता है। इस दिन की शुरुआत मूल रूप से भारतीय कंप्यूटर कंपनी NIIT द्वारा 2001 में अपनी 20 वीं वर्षगांठ के अवसर पर की गई थी। विश्व कंप्यूटर साक्षरता दिवस पहली बार और 2001 में 2 दिसंबर को मनाया गया था।

अंतरराष्ट्रीय दास प्रथा उन्मूलन दिवस: 2 दिसंबर

संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा वर्ष 1986 से दुनिया भर में दास प्रथा को ख़त्म करने के लिए हर साल 2 दिसंबर को अंतरराष्ट्रीय दास प्रथा उन्मूलन दिवस के रूप में मनाया मनाया जाता है। इस दिन को मनाए जाने का उद्देश्य गुलामी के सभी रूपों, जैसे मानव तस्करी, यौन शोषण, सबसे बुरे रूप बाल श्रम, जबरन शादी और सशस्त्र संघर्ष के दौरान बच्चों की सेना में जबरन भर्ती से सम्बंधित मुद्दों के उन्मूलन के लिए सार्थक प्रयासों पर ध्यान केन्द्रित करना है।संयुक्त राष्ट्र महासभा में 2 दिसंबर 1949 को एक संकल्प पारित हुआ, जिसके तहत अंतरराष्ट्रीय दास प्रथा उन्मूलन दिवस को अडॉप्ट किया गया। इसमें मुख्य उद्देश्य मानव तस्करी रोकना और वेश्यावृति को रोकना था। दोनों को दासता का प्रतीक मानते हुए रेजोल्यूशन 317 (IV) पारित किया गया।

झिारखंड : सरकारी नौकरी 'के लिए तंबाकू सेवन नहीं करने का शपथ पत्र जरूरी रांची

झारखंड में अब बिना लाइसेंस के पान-सिगरेट, तंबाकू पदार्थ नहीं बिकेंगे। जिन दुकानों में तंबाकू पदार्थ बिकेंगे, वहां बिस्कुट, चाय या अन्य खाद्य उत्पाद नहीं बेचने होंगे। सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि झारखंड में सरकारी नौकरी के लिए तंबाकू सेवन न करने का शपथ पत्र देना होगा। यह 1 अप्रैल 2021 से प्रभावी होगा। मुख्य सचिव सुखदेव सिंह की अध्यक्षता में स्टेट टोबैको कंट्रोल को-ऑर्डिनेशन कमेटी ने ने बैठक कर इसे सख्ती से लागू करने ने का आदेश दिया है। 5 जिले रांची, धनबाद, बोकारो, खूटी, सरायकेला। खरसावां में संपूर्ण और हजारीबागच पूर्वी सिंहभूम के शहरी क्षेत्र को धूम्रपान मुक्त घोषित किया गया।

पतंजलि योगपीठ अब शिक्षा के क्षेत्र में भी उतरी

पतंजलि योगपीठ अब शिक्षा के क्षेत्र में भी उतर गई है। इसके लिए सीबीएसई और राज्य बोर्ड की तर्ज पर भारतीय शिक्षा बोर्ड (बीएसबी) की स्थापना कर बच्चों को माध्यमिक शिक्षा तक वेद, संस्कार, संस्कृत, नैतिक मूल्यों और रोजगार के साथ आधुनिक शिक्षा दी जाएगी। एक निजी कार्यक्रम में उदयपुर पहुंचे पतंजलि योगपीठ के अध्यक्ष आचार्य बालकृष्ण ने बताया कि महर्षि संदीपनी राष्ट्रीय वेदविद्या प्रतिष्ठान (एमएसआरवीपी) की गवर्निंग काउंसिल ने आधिकारिक रूप से पतंजलि का चुनाव किया था। अभी औपचारिक आदेश जारी नहीं हुआ लेकिन बोर्ड को सरकार की देखरेख में काम करने की मंजूरी मिल गई है। बोर्ड अगले साल से काम करना शुरू कर देगा और मुख्यालय हरिद्वार में रहेगा। जल्द प्रवेश की प्रक्रिया शुरू करेंगे।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.