Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

8 February 2021

उत्‍तराखंड के चमोली जिले में ग्‍लेशियर टूटने के कारण हिमस्‍खलन और भीषण बाढ़

उत्‍तराखंड के चमोली जिले में तपोवन क्षेत्र के रैणी गांव के पास ऋषि गंगा पनबिजली परियोजना के निकट बर्फीली चट्टानें खिसकने से धौलीगंगा का जल स्‍तर तेजी से बढ़ा है और इससे आसपास के इलाके में बाढ़ आने की खबर है। बाढ़ से नदी के किनारे बने मकानों को नुकसान पहुंचा है। परियोजना में काम कर रहे कई मजदूरों के लापता होने की भी खबर है। तपोवन पन बिजली परियोजना का बांध टूटकर बाढ़ के पानी में बह गया है। अलकनंदा नदी का जलस्‍तर स्थिर है। राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल राज्‍य आपदा मोचन बल सशस्‍त्र सीमा बल, भारतीय तिब्‍बत सीमा पुलिस बल - आईटीबीपी और रक्षाकर्मी बचाव और राहत अभियानों में सक्रियता से जुटे हैं। वायुसेना ने भी बचाव अभियानों में अपने चॉपर लगाए हैं। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस त्रासदी में मारे गए लोगों के आश्रितों को प्रधानमंत्री राष्‍ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये अनुग्रह राशि देने की मंजूरी दी है। पचास-पचास हजार रुपये घायलों को दिए जाएंगे।

केंद्र सरकार ने तमिलनाडु के श्रीविल्लिपुथुर-मेगामलाई टाइगर रिजर्व को मंजूरी दी

केंद्र सरकार ने तमिलनाडु में 5वें टाइगर रिजर्व बनाने को मंजूरी दे दी है। इस बाघ अभयारण्य में श्रीविल्लिपुथुर ग्रिज़ल्ड गिलहरी और मेघामलाई वन्यजीव अभयारण्यों को भी शामिल किया जायेगा। कई पर्यावरण कार्यकर्ता लगभग एक दशक से इन दोनों अभयारण्यों को जोड़ने के लिए एक टाइगर रिज़र्व की मांग कर रहे हैं। कार्यकर्ता इस बाघ अभयारण्य को तिरुनेलवेली वन्यजीव अभयारण्य और फिर कलक्कड़ मुंडनथुराई टाइगर रिज़र्व के साथ जोड़ने की मांग कर रहे हैं ताकि यह एक सन्निहित गलियारा बन सके। वन विभाग के प्रस्ताव में 1.48 लाख हेक्टेयर भूमि को श्रीविल्लिपुथुर ग्रिज़ल्ड गिलहरी वन्यजीव अभयारण्य, तिरुनेलवेली वन्यजीव अभयारण्य, और मेघामलाई वन्यजीव अभयारण्य को तमिलनाडु के पांचवें बाघ अभयारण्य के रूप में घोषित किया गया है।नेशनल टाइगर कंजरवेशन अथॉरिटी (NTCA) ने नए टाइगर रिजर्व को मंजूरी दे दी है। नया बाघ अभ्यारण्य न केवल वन्यजीव संरक्षण में मदद करेगा, बल्कि इन जंगलों में वैगई नदी का कायाकल्प भी करेगा। कलक्कड़ मुंडनथुराई और पेरियार टाइगर रिजर्व के निर्माण के साथ, कई दक्षिणी जिलों की पानी की जरूरतें पूरी हुई हैं। नए मेघामलाई-श्रीविल्लिपुथुर टाइगर रिज़र्व के साथ, जंगलों की बेहतर सुरक्षा होगी।सलीम अली सेंटर फॉर ऑर्निथोलॉजी एंड नेचुरल हिस्ट्री (SACON) की एक रिपोर्ट के अनुसार, बाघों के प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष साक्ष्य ज्यादातर पश्चिमी पठार तक ही सीमित थे। इस रिपोर्ट में मेघामलाई वन्यजीव अभयारण्य के विस्तार की सिफारिश की गई है।

CRPF की कोबरा कमांडो यूनिट में पहली महिला टीम शामिल की गयी

34 सीआरपीएफ महिला कर्मियों की एक टुकड़ी को इसके विशेष जंगल युद्ध कमांडो फ़ोर्स ‘कोबरा’ में शामिल किया गया है। इस टुकड़ी को जल्द ही देश के नक्सल विरोधी अभियान में तैनात किया जाएगा। कमांडो बटालियन फॉर रिजॉल्यूट एक्शन (CoBRA) को खुफिया-आधारित जंगल युद्ध संचालन के लिए वर्ष 2009 में CRPF के तहत उठाया गया था। अब तक, बल एक अखिल पुरुष इकाई थी और यह पहली बार है कि महिला कर्मियों के एक दल को इसमें शामिल किया गया है। CoBRA टीमों के कमांडो को मानसिक और शारीरिक रूप से कठिन होने की उम्मीद है और अधिकांश टीमों को देश के माओवादी हिंसा प्रभावित राज्यों में तैनात किया गया है। कोबरा की कुछ टीमें उत्तर-पूर्वी राज्यों में आतंकवाद रोधी अभियानों के लिए भी तैनात हैं। कादरपुर गांव में महिलाओं की टुकड़ी को शामिल करने के लिए एक समारोह आयोजित किया गया था, जिसमें चुनी गई महिला कर्मियों ने युद्ध अभ्यास किया। सीआरपीएफ की 6 सभी महिला बटालियनों में से सीआरपीएफ की 34 महिला टुकड़ी के सदस्यों को चुना गया है। यह महिलाओं की टुकड़ी 3 महीने के लिए पूर्व-प्रेरण प्रशिक्षण से गुजरती है और फिर छत्तीसगढ़ के नक्सल हिंसा प्रभावित जिलों जैसे दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर में इकाइयों के साथ तैनात की जाती है।

एलईओयू के सचिव इंडिका डोडांगोडा ने कहा कि चीन में बनी रेलगाड़ियां यात्रियों की सुरक्षा के लिए खतरा

श्रीलंका में चीन के बुनियादी ढांचे को उस समय झटका लगा, जब वहां के इंजन चालकों ने चीन में बने डिब्बों वाली रेलगाडियों के परिचालन का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है। श्रीलंकाई लोकोमोटिव इंजन ऑपरेटर्स यूनियन-एलईओयू के सचिव इंडिका डोडांगोडा ने हाल ही में कहा था कि चीन में बनी रेलगाड़ियां यात्रियों की सुरक्षा के लिए खतरा हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि इंजन चालकों ने जब इंजन पर ब्रेक लगाए, तब चीन में बनी रेलगाड़ियां रुकने से पहले काफी दूर तक चलती रही।

चीन ने प्रदूषण फैलाने वाली इकाइयों को ट्रैक करने के लिए नया प्लेटफ़ॉर्म शुरू किया

चीन ने प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों के उत्सर्जन पर नज़र रखने के लिए एक नया प्लेटफार्म स्थापित करने की घोषणा की है। यह प्लेटफार्म जनता को ऐसे उद्यमों के उत्सर्जन को ट्रैक करने की अनुमति देगा और अधिकारियों को उन नियमों को तोड़ने वाले उद्योगों पर मुकदमा चलाने में मदद करेगा। चीन के पर्यावरण मंत्रालय के अनुसार, अधिकारियों और जनता को वास्तविक समय उत्सर्जन स्तरों की निगरानी करने और ऐतिहासिक डेटा की जांच करने की अनुमति देने के लिए एक नया प्लेटफार्म स्थापित किया जाएगा ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि नियम भंग हो रहे हैं या नहीं। यह प्लेटफार्म 1 मार्च काम करना शुरू कर देगा। चीन में कुल 2.36 मिलियन औद्योगिक सुविधाओं, कंपनियों और संस्थानों को अपशिष्ट जल या सल्फर डाइऑक्साइड जैसे प्रदूषकों का उत्सर्जन करने के लिए परमिट प्राप्त करना आवश्यक है।

अमरीका में एच-1बी वीज़ा के लिए पारंपरिक लॉटरी प्रणाली जारी, पंजीकरण प्रक्रिया 9 मार्च से शुरू

अमरीका में, अगले वित्त वर्ष के लिए एच-1बी वीज़ा आवेदन के लिए पंजीकरण प्रक्रिया 9 मार्च से शुरू होगी और 31 मार्च तक कंप्यूटराइज्ड ड्रॉ के माध्यम से सफल आवेदकों को अधिसूचित किया जायेगा। अमेरिकी नागरिकता और आव्रजन सेवाओं (यूएससीआईएस) द्वारा यह अधिसूचना बाइडेन प्रशासन की उस घोषणा के एक दिन बाद आई है, जिसमें कहा गया था कि पारंपरिक लॉटरी प्रणाली के माध्‍यम से विदेशी पेशेवरों के लिए वर्क वीजा प्रक्रिया को जारी रखा जायेगा। एच-1बी वीजा एक गैर-अप्रवासी वीजा है जो अमेरिकी कंपनियों को विशेष व्यवसायों में विदेशी कर्मचारियों को कार्य पर रखने की अनुमति प्रदान करता है। इसके लिए सैद्धांतिक या तकनीकी विशेषज्ञता की आवश्यकता होती है। प्रौद्योगिकी कंपनियां इस माध्‍यम से भारत जैसे देशों से हर साल हजारों कर्मचारियों को नियुक्त करती हैं।

IRCTC ने लांच की ऑनलाइन बस बुकिंग सेवा

IRCTC (Indian Railway Catering and Tourism Corporation Limited) ने हाल ही में अपनी ऑनलाइन बस बुकिंग सेवा लांच की है। IRCTC के अनुसार, 29 जनवरी से ऑनलाइन बस बुकिंग सेवा लाइव है और लोगों के लिए उपलब्ध है। IRCTC ने देश का पहला ‘वन स्टॉप शॉप ट्रैवल पोर्टल’ बनने के उद्देश्य से अपनी ऑनलाइन बस बुकिंग सेवा लांच की है। IRCTC ऑनलाइन रेल और उड़ान टिकटिंग सुविधा प्रदान कर रहा है और अब बस बुकिंग भी शुरू की गई है। IRCTC के अनुसार, मार्च के पहले सप्ताह तक यह सेवा आईआरसीटीसी मोबाइल एप्प के साथ भी जोड़ दी जाएगी। इससे यूजर्स मोबाइल के जरिए भी बस टिकट बुक कर सकेंगे।

व्यापार और निवेश पर प्रथम भारत-यूरोपीय संघ उच्च स्तरीय वार्ता का आयोजन किया गया

भारत और यूरोपीय संघ के बीच व्यापार और निवेश पर पहली उच्च-स्तरीय वार्ता 5 फरवरी, 2021 को आयोजित की गई। इस बैठक की अध्यक्षता यूरोपीय संघ के कार्यकारी उपाध्यक्ष और व्यापार आयुक्त वाल्दिस डोंब्रोव्स्कीस और वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल द्वारा की गई। भारत-यूरोपीय संघ की पहली उच्च-स्तरीय वार्ता 15वें भारत-यूरोपीय संघ के नेताओं के शिखर सम्मेलन का परिणाम था, जो जुलाई 2020 में आयोजित किया गया था। द्विपक्षीय व्यापार और निवेश संबंधों की दिशा में मंत्रिस्तरीय-स्तरीय मार्गदर्शन के उद्देश्य से इस संवाद की स्थापना की गयी थी।

आईएएफ़-एचएएल के ई-पोर्टल का प्रचालन आरंभ

भारतीय वायुसेना और हिंदुस्तान एयरोनोटिक्स लिमिटेड ने एक साझा ई-पोर्टल का एयरो इंडिया 2021 के दौरान प्रचालन प्रारम्भ किया गया, जो अंतर-सांगठनिक सूचना साझा प्रणाली (आईओआईएस) का अंग है। इस ई-पोर्टल की मदद से दीर्घ अवधि की योजनाओं को अनुकूल बनाने और मरम्मत तथा संपूर्ण देखभाल के चरण में लगने वाले समय को कम करने में मदद मिलेगी। यह दो संस्थानों के बीच आंकड़ों के सुरक्षित और व्यवस्थित हस्तांतरण की सुविधा उपलब्ध कराएगा। इस पहल का शुभारंभ वायु सेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आरकेएस भदौरिया ने एच ए एल के अध्यक्ष और उप वायु सेना प्रमुख (डीसीएएस) तथा एयर ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ मेंटेनेंस कमांड (एओसी-इन-सी एमसी) की उपस्थिति में किया।

प्रधानमंत्री ने ‘असोम माला’ का शुभारंभ किया और असम में दो अस्‍पतालों की आधारशिला भी रखी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने असम के सोनितपुर जिले के ढेकियाजुली में दो अस्‍पतालों की आधारशिला रखी और असम के राज्‍य राजमार्गों तथा प्रमुख जिला सड़कों के निर्माण के लिए एक कार्यक्रम असोम माला का शुभारंभ किया। असम के मुख्‍यमंत्री श्री सर्बानंद सोनोवाल, केन्‍द्रीय मंत्री श्री रामेश्‍वर तेली, असम सरकार के मंत्री तथा बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र के प्रमुख श्री प्रमोद बोरो भी इस अवसर पर मौजूद थे।

जो रूट बने 100वें टेस्ट में 200 रन बनाने वाले पहले खिलाड़ी

6 फरवरी को भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज़ के दौरान, इंग्लैंड के कप्तान जो रूट अपने 100वें टेस्ट में दोहरा शतक बनाने वाले पहले क्रिकेटर बने। जो रूट ने भारत के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन अपने 100वें टेस्ट में दोहरा शतक जड़ा। यह टेस्ट मैच चेन्नई के एम.ए. चिदंबरम स्टेडियम में खेला जा रहा है। इससे पहले, 100वें टेस्ट में सर्वश्रेष्ठ स्कोर पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक का था। इंजमाम ने भारत के खिलाफ वर्ष 2005 में बेंगलुरु में खेले गए अपने 100वें टेस्ट मैच में 184 रन बनाए थे। यह जो रूट के करियर का 5वां दोहरा शतक था। जो रूट को स्पिनर शाहबाज नदीम ने 218 रन पर आउट किया। 5वें दोहरे शतक के बाद रूट इंग्लैंड के एलेस्टेयर कुक, भारत के राहुल द्रविड़ और दक्षिण अफ्रीका के ग्रीम स्मिथ जैसे खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो गए। इन सभी में खिलाड़ियों ने पांच दोहरे शतक बनाये हैं। इससे पहले 5 फरवरी को रूट अपने 100वें मैच में शतक बनाने वाले इतिहास में वें खिलाड़ी बने थे। यह उनका 20वां शतक था।

राष्ट्रीय बागवानी मेला 2021

राष्ट्रीय बागवानी मेला 8 फरवरी, 2021 से शुरू होगा। यह पांच दिवसीय कार्यक्रम है जो भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान (IIHR) परिसर में आयोजित किया जाएगा। पूरे भारत के लोग भी इस कार्यक्रम में भाग लेंगे। राष्ट्रीय बागवानी मेला 2021 की थीम: ‘ स्टार्ट-अप और स्टैंड-अप इंडिया के लिए बागवानी’ है।यह थीम किसानों को उद्यमी बनने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास करती है।इस मेले का आयोजन भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR) और भारतीय बागवानी अनुसंधान संस्थान (IIHR) द्वारा किया जाएगा।यह वर्चुअली और ऑफ़लाइन भी आयोजित किया जाएगा।COVID-19 महामारी के बीच, प्रतिभागियों की प्रविष्टि 30,000 तक सीमित है।किसान 721 कृषि विज्ञान केंद्रों और 11 कृषि प्रौद्योगिकी अनुप्रयोग अनुसंधान संस्थानों की मदद से भी इस कार्यक्रम में भाग लेंगे।लोगों को कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए, राज्य सरकारों के कृषि प्रशिक्षण केंद्रों में भी व्यवस्था की गई है।इस आयोजन के दौरान, लगभग 211 लाइव प्रदर्शन दिखाए जाएंगे।इस आयोजन के माध्यम से, किसान वैज्ञानिकों के साथ बातचीत भी कर सकते हैं।

ब्रोकेसिया नाना (Brookesia Nana) गिरगिट की नई प्रजाति

हाल ही में अफ्रीकी देश मेडागास्‍कर के उत्‍तरी इलाके में दुनिया के सबसे छोटे सरीसृप (गिरगिट) को देखा गया हैं। यह गिरगिट आकर में सूरजमुखी के दाने के बराबर बताया जा रहा है। गिरगिट की इस नई प्रजाति का नाम ब्रोकेसिया नाना (Brookesia Nana) रखा गया हैं। यह गिरगिट आकर में इतना छोटा हैं कि इसे आसानी से उंगली पर रखा जा सकता है। वैज्ञानिकों का मानना है कि यह गिरगिट घुन और अन्‍य छोटे कीड़ों को सड़ी हुई पत्तियों पर से अपनी जीभ से पकड़कर खाता है। इस सरीसृप के बारे में बहुत सी जानकारी अभी भी अज्ञात है क्‍योंकि अभी तक ऐसे केवल दो गिरगिट ही मिले हैं। जिनमे से एक नर और एक मादा है। परन्तु अभी यह पता नहीं चल पाया हैं कि यह दोनों व्यस्क हैं या नहीं। शोधकर्ताओ ने बताया कि गिरगिट की इस प्रजाति को जल्‍द ही संकटग्रस्‍त प्रजातियों की सूची में शामिल किया जाएगा।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के लाभार्थियों की संख्या 1.75 करोड़ के पार पहुंची

महिला और बाल विकास मंत्रालय ने संसद को सूचित किया है कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना जो केंद्र सरकार की मातृत्व लाभ योजना है, वित्तीय वर्ष 2020 तक 1.75 करोड़ महिला लाभार्थियों की संख्या को पार कर गई है। केंद्र सरकार के प्रारंभिक अनुमान में कहा गया है कि इस योजना के तहत सरकार का लक्ष्य प्रति वर्ष 60 लाख महिलाओं को कवर करने का था। संसद के लिखित उत्तर के अनुसार, वित्तीय वर्ष 2018 से 2020 तक 75 करोड़ पात्र लाभार्थियों को कुल 5,931.95 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। वित्तीय वर्ष 2020-2021 में12 लाख पात्र लाभार्थियों को 2,063.70 करोड़ का भुगतान किया गया था। PMMVY योजना महिला और बाल विकास मंत्रालय (MWCD) द्वारा शुरू की गई थी।इस योजना में गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं को अपने पहले बच्चे के जन्म पर 5,000 रुपये की सहायता देने का प्रावधान है।कुछ शर्तों के पूरा होने के बाद इस राशि का भुगतान तीन किस्तों में किया जाता है। PMMVY योजना केवल उन महिलाओं को लक्षित करती है जो अपने पहले बच्चे को जन्म दे रही हैं।

पाविनी शुक्ला को अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स ने भारत की अंडर 30 लिस्ट में शामिल किया

हाल ही में लखनऊ की पुलोमी पाविनी शुक्ला को अंतरराष्ट्रीय पत्रिका फोर्ब्स ने भारत की अंडर 30 लिस्ट में शामिल किया है। गौरतलब है की पौलोमी शुक्ला को यह सम्मान उनके द्वारा पिछले कुछ वर्षों में अनाथ बच्चों की शिक्षा में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दिया गया है। दरअसल पुलोमी पेशे से वकील होने के साथ ही पिछले कई वर्षों से अनाथ बच्चों को शैक्षिक रूप से सशक्त बनाने को लेकर अभियान चला रही हैं। इस सम्बन्ध में साल 2018 में उन्होंने हाईकोर्ट में अनाथ बच्चों के देखभाल के लिए जनहित याचिका भी दायर की थी। पुलोमी ने अनाथ बच्चों की दुर्दशा पर वर्ष 2015 में Weakest on Earth-Orphans of India पुस्तक भी लिखी थी। जिसका प्रकाशन Bloomsbury संस्थान द्वारा प्रकाशित किया गया है।

हवाई अड्डे के निजीकरण के तीसरे दौर में लगभग 10 हवाई अड्डों का निजीकरण किया जायेगा

सरकार ने घोषणा की है कि हवाई अड्डे के निजीकरण के तीसरे दौर में 10 हवाई अड्डों का निजीकरण किया जाएगा। नागरिक उड्डयन मंत्रालय के सचिव प्रदीप सिंह खारोला के अनुसार, हवाई अड्डे के निजीकरण के तीसरे में 6 से 10 हवाई अड्डों का निजीकरण किया जाएगा। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण घाटे में चल रहे हवाईअड्डों के साथ-साथ लाभदायक हवाईअड्डों को बेचने की संभावना की चिंतन कर रहा है। इससे पहले, सरकार ने दूसरे दौर में 12 हवाई अड्डों के निजीकरण को मंजूरी दी थी। केंद्र सरकार के अनुसार, आने वाले दिनों में देश के लगभग 20 से 25 हवाई अड्डों का निजीकरण किया जा सकता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने केंद्रीय बजट 2021-22 में टियर 2 और 3 शहरों के हवाई अड्डों के निजीकरण करने की भी घोषणा की थी। वित्त वर्ष 2021-2022 में, 2,000 करोड़ रुपये से अधिक की 7 बंदरगाह परियोजनाओं को सार्वजनिक-निजी भागीदारी मॉडल में पेश किया जाएगा। हवाईअड्डों के निजीकरण के पहले दौर में अडानी समूह ने 6 हवाई अड्डों – अहमदाबाद, मंगलुरु, तिरुवनंतपुरम, लखनऊ, जयपुर और गुवाहाटी के लिए अनुबंध हासिल किया था। इनमें से 3 हवाई अड्डे अडानी समूह- अहमदाबाद, लखनऊ और मंगलुरु को सौंप दिए गए हैं। हवाई अड्डों के निजीकरण के दूसरे दौर में, एएआई ने भुवनेश्वर, वाराणसी, अमृतसर, रायपुर, इंदौर और त्रिची हवाई अड्डों को चुना है।

बजट 2020 : 1000 मंडियों को e-NAM प्लेटफॉर्म से जोड़ने का प्रस्ताव

हाल ही में केंद्र सरकार ने किसानों की सहुलियत के लिए राष्ट्रीय कृषि बाजार (e-NAM) प्लेटफार्म के विस्तार की घोषणा की हैं। गौरतलब हैं कि इससे पहले 18 राज्यों और 3 संघ शासित प्रदेशों में 1000 बाजारों को जोड़कर e-NAM के तहत बेहतर बाजार लिंकेज प्रदान किया गया था। जिसके अंतर्गत अब तक 1.69 करोड़ से अधिक किसानों और 1.55 लाख व्यापारियों ने e-NAM प्लेटफॉर्म पर पंजीकरण किया है। e-NAM की सफलता को देखते हुए हाल ही में वित्त मंत्री श्री निर्मला सीतारमण ने 1 फरवरी, 2021 को अपने बजट भाषण में 1000 और मंडियों को राष्ट्रीय कृषि बाजार, e-NAM प्लेटफॉर्म से जोड़ने का प्रस्ताव किया है। इसके साथ ही कृषि उपज विपणन समितियों को उनकी आधारभूत सुविधाएं बढ़ाने के लिए कृषि आधारभूत कोष से धन दिया जाएगा। गौरतलब हैं कि e-NAM कृषि उपज के व्यापार में एक ऐसा अनूठा प्रयास है जिसके जरिए किसानों की बहुत से बाजारों और खरीददारों तक पहुंच हो सकेगी। इसके साथ ही, इससे व्यापार में पारदर्शिता आएगी और सुधार के अलावा कृषि उपज के लिए एक राष्ट्र, एक बाजार की अवधारणा विकसित हो सकेगी। राष्ट्रीय कृषि बाजार या ई-नाम पोर्टल कोई अन्य बाजार नहीं है, बल्कि यह देश में मौजूदा मंडियों का एक ऐसा नेटवर्क है, जिसके माध्यम से किसान और व्यापारी एक दूसरे से फसल खरीदने और बेचने का काम घर बैठे ही कर सकते हैं।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.