Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

23 March 2021

शेख मुजीबुर्रहमान को वर्ष 2020 के लिए गांधी शांति पुरस्कार

वर्ष 2020 के लिए गांधी शांति पुरस्‍कार बंग बंधु शेख मुजीबुर्रहमान को प्रदान किया जायेगा। वर्ष 2019 के लिए ओमान के सुल्‍तान स्‍वर्गीय काबूस-बिन-सैद-अल-सैद को यह पुरस्‍कार दिया जायेगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में पुरस्‍कार प्रदान करने वाले निर्णायक मंडल की बैठक में सर्वसम्‍मति से बंग बंधु और सुल्‍तान काबूस को पुरस्‍कार के लिए चुना गया। निर्णायक मंडल ने उच्‍चतम न्‍यायालय के प्रधान न्‍यायाधीश और लोकसभा में सबसे बड़ी विपक्षी पार्टी के नेता समेत अनेक गणमान्‍य लोग भी शामिल थे। लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिडला और समाजसेवा संगठन सुलभ के बिन्‍देश्‍वर पाठक भी निर्णायक मंडल के प्रमुख सदस्‍यों में शामिल थे। बंग बंधु को अहिंसक और अन्‍य गांधीवादी तरीकों से बांग्‍लादेश में सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक बदलाव लाने में उनके उत्‍कृष्‍ट योगदान के लिए यह पुरस्‍कार दिया जा रहा है। वर्ष 2019 का गांधी शांति पुरस्‍कार ओमान के सुल्‍तान स्‍वर्गीय काबूस-बिन-सैद-अल-सैद को प्रदान किया जायेगा। निर्णायक मंडल ने उनके नाम को भी सर्वसम्‍मति से इस पुरस्‍कार के लिए चुना।उन्‍हें अहिंसक तरीकों से अपने देश में सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक बदलाव लाने के लिए इस पुरस्‍कार के लिए चुना गया। सुल्‍तान काबूस एक दूरदर्शी नेता थे, जिनकी आधुनिकीकरण और मध्‍यस्‍थतता की दुनियाभर में बड़ी तारीफ हुई। गांधी शांति पुरस्कार,वर्ष 1995 में महात्मा गांधी की 125वीं जयंती के उपलक्ष्य में भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया एक वार्षिक पुरस्कार है। यह पुरस्कार राष्ट्रीयता, नस्ल, भाषा, जाति, पंथ या लिंग से परे सभी व्यक्तियों के लिए है। गांधी शांति पुरस्कार के हालिया विजेताओं में विवेकानंद केंद्र, भारत (2015); अक्षय पात्र फाउंडेशन, भारत एवं सुलभ इंटरनेशनल (संयुक्त रूप से, 2016 के लिए); एकल अभियान ट्रस्ट, भारत (2017) और श्री योही ससाकावा, जापान (2018)शामिल हैं। इस पुरस्कार में 1 करोड़ रूपये, एक प्रशस्ति - पत्र, एक पट्टिका और हस्तशिल्प / हथकरघा से निर्मित एक अति सुंदर पारंपरिक सामग्री दी जाती है।

प्रधानमंत्री ने विश्व जल दिवस के अवसर पर कैच द रेन अभियान की शुरूआत की

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि भारत का विकास और उसकी आत्‍मनिर्भरता जल सुरक्षा और जल संपर्क पर निर्भर है। विश्‍व जल दिवस के अवसर पर जल शक्ति अभियान के तहत वर्षा जल संरक्षण के अभियान का वर्चुअल तरीके से शुभारंभ करते हुए श्री मोदी ने कहा कि जल सुरक्षा और जल प्रबंधन हमारी आने वाली पीढि़यों के लिए अत्‍यंत महत्‍वपूर्ण हैं। इस अवसर पर जल शक्ति मंत्री और मध्‍य प्रदेश तथा उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्रियों ने केन-बेतवा संपर्क परियोजना पर अमल करने के समझौते पर हस्‍ताक्षर किये। यह परियोजना नदियों को आपस में जोड़ने की राष्‍ट्रीय परिप्रेक्ष योजना के तहत एक पहल है। इसके अंतर्गत केन नदी से बेतवा नदी में पानी पहुंचाने के लिए दाउधन बांध और दोनों नदियों को जोड़ने वाली नहर का निर्माण किया जायेगा। इससे हर साल दस लाख 62 हजार हेक्‍टेयर जमीन की सिंचाई की जा सकेगी। इसके अलावा परियोजना से करीब 62 लाख लोगों को पीने का पानी और 103 मेगावाट बिजली पैदा की जा सकेगी। यह परियोजना पानी की भारी किल्‍लत वाले बुदेलखंड के लिए काफी फायदेमंद साबित होगी। मध्‍यप्रदेश के पन्‍ना, टीकमगढ़, छतरपुर, सागर, दमोह, दतिया, विदिशा, शिवपुरी और रायसेन जिले तथा उत्‍तरप्रदेश के बांदा, महोबा, झांसी और ललितपुर जिले विशेष रूप से इस परियोजना का फायदा उठा सकेंगे।

रक्षा मंत्रालय ने महिन्‍द्रा डिफेंस सिस्‍टम्‍स लिमिटेड के साथ हस्‍ताक्षर किये

रक्षा मंत्रालय ने भारतीय सेना को एक हजार 56 करोड़ रुपये लागत के एक हजार तीन सौ विशेष हल्‍के वाहन उपलब्‍ध कराने के अनुबंध पर महिन्‍द्रा डिफेंस सिस्‍टम्‍स लिमिटेड के साथ हस्‍ताक्षर किये। इन वाहनों को चार वर्ष में सेना में शामिल कर लिया जायेगा। हल्‍के विशेष वाहन आधुनिक किस्‍म के लड़ाकू वाहन हैं और इन्‍हें सेना की विभिन्‍न युद्ध इकाईयों को मीडियम मशीनगनों ऑटोमैटिक ग्रेनेड लॉन्‍चरों और टैंक विध्‍वंसक गाइडेड मिसाइलों के परिहवन के लिए दिया जायेगा। इन वाहनों का डिजाइन स्‍वदेश में तैयार किया गया है और इनका निर्माण महिन्‍द्रा डिफेंस सिस्‍टम्‍स लिमिटेड ने किया है। ये लड़ाकू वाहन छोटे हथियारों की गोलीबारी से पूरी तरह से सुरक्षित है और इनसे सेना की छोटी और स्‍वतंत्र इकाईयों को युद्ध क्षेत्र में कार्रवाई के लिए उपलब्‍ध कराया जायेगा।

इथेनॉल नीति रखने वाला पहला राज्य बना बिहार

बिहार कैबिनेट ने इथेनॉल उत्पादन संवर्धन नीति (Ethanol Production Promotion Policy), 2021 को मंजूरी दे दी है, जो इथेनॉल प्रमोशन नीति बनाने वाला पहला भारतीय राज्य बन गया है। यह नीति इथेनॉल के निष्कर्षण की अनुमति देती है, जो गन्ने तक, साथ ही मक्का की अधिशेष मात्रा से भी सीमित थी। नई नीति बिहार में इथेनॉल उत्पादन की अनुमति देगी, जो जैव ईंधन, 2018 और उसके बाद राष्ट्रीय जैव ईंधन समन्वय समिति द्वारा राष्ट्रीय नीति द्वारा अनुमत सभी फीडस्टॉक्स से प्राप्त होगी। विधानसभा को उपमुख्यमंत्री रेणु देवी द्वारा कैबिनेट के फैसले की जानकारी दी गई क्योंकि उद्योग मंत्री शाहनवाज हुसैन चुनाव प्रचार के लिए पश्चिम बंगाल में चुनाव मैदान में थे। अब तक, भारत सरकार ने B -भारी गुड़, C-हैवी गुड़, मानव उपभोग के लिए अनाज, गन्ने के रस, चीनी, चीनी सिरप, अधिशेष चावल और मक्का के लिए इथेनॉल उत्पादन की अनुमति दी है।

67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार 2019 की घोषणा

वर्ष 2019 के लिए 67वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों की घोषणा कर दी गई। प्रियदर्शन द्वारा निर्देशित मलयालम फिल्‍म मरक्‍कर अरबिक्‍काडिलिनते सिम्‍हम को सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म के पुरस्‍कार के लिए चुना गया है। पुरस्‍कारों की घोषणा करते हुए फीचर फिल्‍मों के निर्णायक मंडल के अध्‍यक्ष एन. चन्‍द्रा ने बताया कि संजय पूरन सिंह चौहान को उनकी हिन्‍दी फिल्‍म बहत्‍तर हूरें के लिए सर्वश्रेष्‍ठ निर्देशक का पुरस्‍कार दिया जायेगा। अभिनेता मनोज वाजपायी को हिन्‍दी फिल्‍म भोंसले और धनुष को तमिल फिल्‍म असुरन के लिए सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेता का पुरस्‍कार दिया जायेगा। श्री चन्‍द्रा ने कहा कि कंगना रणौत को मणिकर्णिका-- द क्‍वीन ऑफ झांसी और फिल्‍म पंगा के लिए सर्वश्रेष्‍ठ अभिनेत्री का पुरस्‍कार देने की घोषणा की गई है। विजय सेतुपति को तमिल फिल्‍म सुपर डीलक्‍स सर्वश्रेष्‍ठ सह-अभिनेता का पुरस्‍कार दिया जायेगा, जबकि हिन्‍दी फिल्‍म दी ताशकेंट फाइल्‍स के लिए पल्लवी जोशी को सह-अभिनेत्री का पुरस्‍कार मिलेगा। बी. प्राक को हिन्‍दी फिल्‍म केसरी में उनके गीत तेरी मिट्टी में --- के लिए सर्वश्रेष्‍ठ पुरुष पार्श्‍व गायक के पुरस्‍कार के लिए चुना गया है। मराठी फिल्‍म बारदोह में रन्‍न पेताला गीत के लिए सवानी रविन्‍द्रा को सर्वश्रेष्‍ठ महिला पार्श्‍व गायिका पुरस्‍कार के लिए चुना गया है। डी. इम्‍मान को तमिल फिल्‍म विश्‍वासम में संगीत निर्देशन के लिए सर्वश्रेष्‍ठ संगीत निर्देशक पुरस्‍कार देने की घोषणा की गई है। प्रबुद्ध बैनर्जी को बंगाली फिल्‍म ज्‍येष्‍ठपुत्रो में पार्श्‍व संगीत के लिए पुरस्‍कार दिया गया है। मलयालम फिल्‍म कोलांबी में गीतों के लिए प्रभा वर्मा को सर्वश्रेष्‍ठ गीतकार का पुरस्‍कार देने की घोषणा की गई है। सर्वश्रेष्‍ठ नृत्‍य निर्देशन के लिए तेलुगु फिल्‍म महर्षि के राजू सुंदरम को चुना गया है। फिल्‍मों के प्रति सबसे संवेदनशील राज्‍य का पुरस्‍कार सिक्किम को मिला है। गैर फीचर फिल्‍म श्रेणी में सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म का पुरस्‍कार हेमन्‍त गाबा की एन एंजीनियर्ड ड्रीम को प्रदान किया गया है। सर्वश्रेष्‍ठ फिल्‍म-समालोचक का पुरस्‍कार सोहिनी चट्टोपाध्‍याय को मिला है। गैर-फीचर फिल्‍म श्रेणी में बेहतरीन एनीमेशन फिल्‍म का पुरस्‍कार राधा को दिया गया है। सर्वश्रेष्‍ठ कला और संस्‍कृति फिल्‍म का पुरस्‍कार ओडिया की श्रीखेत्रा-रू-साहिजात को दिया गया है। गैर-फीचर फिल्‍म के लिए सर्वश्रेष्‍ठ नैरेशन का पुरस्‍कार सरडेविड एटेनबरो की अंग्रेजी फिल्‍म वाइल्‍ड कर्नाटका को दिया जायेगा। गैर फीचर फिल्‍म के लिए सर्वश्रेष्‍ठ संगीत निर्देशन का पुरस्‍कार बिशाखज्‍योति की हिन्‍दी फिल्‍म क्रांतिदर्शी गुरूजी--एहेड ऑफ टाइम्‍स को देने की घोषणा की गई है। सिनेमा पर सर्वश्रेष्‍ठ पुस्‍तक का पुरस्‍कार संजय सूरी की ए गांधीयन एफेयर: इंडियाज क्‍यूरियस पोर्ट्रेयल ऑफ लव इन सिनेमा को प्रदान किया गया है।

केंद्र ने राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों से कोविशील्ड की दो खुराक के बीच अंतर चार से बढाकर आठ सप्ताह करने को कहा

केंद्र ने टीकाकरण पर तकनीकी परामर्श समूह- एनटीएजीआई और कोविड टीकाकरण पर राष्‍ट्रीय विशेषज्ञ दल - एनईजीवीएसी की सिफारिश के आधार पर राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों को टीकाकरण के दौरान कोविशील्‍ड की दो खुराकों के बीच का अंतराल बढ़ाकर 4 से 8 सप्ताह करने के बारे में लिखा है। दो खुराक के बीच के अंतराल को बढ़ाने का यह फैसला सिर्फ कोविशील्‍ड टीके पर लागू होगा और कोवैक्सीन पर लागू नहीं होगा। वैज्ञानिक प्रमाणों के सामने आने के बाद कोविशील्‍ड की नेशनल टैक्‍नीकल एडवाइजरी ग्रुप ऑन इम्‍युनाइजेशन - एनटीएजीआई और नेशनल एक्‍सपर्ट ग्रुप ऑन वैक्‍सीन एडमिनिस्‍ट्रेशन फॉर कोविड-19, एनईजीवीएसी की 20वीं बैठक में दो खुराकों के बीच का अंतराल बढ़ाने का फैसला किया गया। इससे पहले यह अंतराल 4 से 6 सप्ताह का था।

लोकसभा से मंजूरी मिलने के बाद बीमा संशोधन विधेयक, 2021 को संसद ने पारित कर दिया

लोकसभा से मंजूरी मिलने के बाद बीमा संशोधन विधेयक, 2021 को संसद ने पारित कर दिया। राज्यसभा इसे पहले ही पारित कर चुकी है। इस विधेयक में 1938 के बीमा अधिनियम को संशोधित करने की व्यवस्था है, जिससे भारतीय बीमा कम्पनियों में प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की सीमा वर्तमान 49 प्रतिशत से बढ़ कर 74 प्रतिशत हो जाएगी। इसमें बीमा कम्पनियों के स्वामित्व और नियंत्रण पर लगी पाबंदियों को हटाने का भी प्रावधान है।

महाराष्ट्र के किसानों ने शुरू किया फ्रेश फ्रूट केक 'मूवमेंट'

ग्रामीण महाराष्ट्र में फल उत्पादकों ने पारंपरिक बेकरी-निर्मित केक के बजाय, एक स्वस्थ विकल्प के रूप में ताजे फल के केक को बढ़ावा देने के लिए एक अभिनव 'मूवमेंट’ शुरू किया है। किसानों और कृषि विशेषज्ञों के अनुसार, इस 'सहज' आंदोलन का उद्देश्य किसानों और उनके परिवारों को अपने आहार में फलों का सेवन बढ़ाने और महामारी के समय में अपनी उपज बेचने का एक नया तरीका खोजने के लिए प्रोत्साहित करना है। मूवमेंट के हिस्से के रूप में, किसान, उनके परिवार और काश्तकार के विभिन्न संगठन विशेष कार्यक्रम मनाते हुए तरबूज, कस्तूरी, अंगूर, नारंगी, अनानास और केले जैसे फलों का उपयोग करते हुए स्थानीय रूप से बनाए गए केक को प्रोत्साहित कर रहे हैं।

खान और खनिज विकास तथा विनियमन संशोधन विधेयक-2021 को संसद की मंजूरी

खान और खनिज विकास तथा विनियमन संशोधन विधेयक-2021 के राज्‍यसभा में पारित हो जाने के बाद इस विधेयक को संसद की मंजूरी मिल गई है। लोकसभा ने खान और खनिज विकास और विनियमन अधिनियम 1957 में संशोधन के विधेयक को पहले ही मंजूरी दे दी थी। इसमें विभिन्‍न प्रकार की खानों के बीच अंतर को समाप्‍त करने की व्‍यवस्‍था है। इस विधेयक में परमाणु खनिज को छोड़कर अन्‍य सभी खनिजों की खानों को अपने उत्‍पादन का पचास प्रतिशत बाजार में बेचने की इजाजत देने की व्‍यवस्‍था है।

ग्लोबल होम प्राइस इंडेक्स में भारत 56 वें स्थान पर

भारत दिसंबर 2020 में समाप्त तिमाही में अंतिम वैश्विक घरेलू मूल्य सूचकांक में 13 स्थान नीचे 56वें रैंक पर आ गया है। एक साल पहले अपनी 43 वीं रैंक के मुकाबले, वैश्विक स्थिति में गिरावट के कारण नाइट फ्रैंक के ग्लोबल हाउस प्राइस इंडेक्स में दर्शाया गया है कि भारत ने घरेलू कीमतों में 3.6% साल-दर-साल (YoY) की गिरावट देखी। भारत 2020 में चौथी तिमाही के दौरान सबसे कमजोर प्रदर्शन करने वाला देश था, जिसकी घरेलू कीमतों में 3.6% की गिरावट हुई, जिसके बाद मोरक्को में 3.3% की गिरावट देखी गई है। रिपोर्ट के अनुसार, न्यूजीलैंड (19%), रूस (14%), अमेरिका (10%), कनाडा और यूके (दोनों 9%) जैसे बाजारों में पिछले तीन महीनों में आवास की मांग में वृद्धि के कारण रैंकिंग में तेजी दर्ज की गई है। सूचकांक आधिकारिक आंकड़ों का उपयोग करके दुनिया भर के 56 देशों और क्षेत्रों में मुख्यधारा आवासीय कीमतों में संचलन को ट्रैक करता है। Q4 2019 - Q4 2020 की अवधि के लिए 12-महीने के प्रतिशत परिवर्तन में, तुर्की का सालाना 30.3% की कीमतों के साथ वार्षिक रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर होना जारी है, इसके बाद न्यूजीलैंड में 18.6% और स्लोवाकिया में 16.0% है।

भारतीय नौसेना ने रॉयल बहरीन नौसेना के साथ किया PASSEX अभ्यास

18 मार्च को भारतीय नौसेना (Indian Navy) ने ऑपरेशन संकल्प के तहत फारस की खाड़ी में रॉयल बहरीन नौसेना कार्वेट अल-मुहर्रक (Al Muharraq) के साथ पैसेज एक्सरसाइज (PASSEX) किया। PASSEX नियमित रूप से भारतीय नौसेना द्वारा मैत्रीपूर्ण विदेशी नौसेनाओं की इकाइयों के साथ एक दूसरे के बंदरगाहों पर जाकर या समुद्र में एक यात्रा के दौरान आयोजित किया जाता है। इस अभ्यास का उद्देश्य अंतरसंयोजकता को बढ़ावा देना तथा भारत और बहरीन दोनों की प्रतिबद्धताओं को दर्शाना है, ताकि उभरती समुद्री चुनौतियों का सामना करने में सहकारी भागीदारी का निर्माण किया जा सके।

उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र में जल जीवन मिशन की मददकरने को लेकर संयुक्त राष्ट्र परियोजना सेवा कार्यालयनेडेनमार्क सरकार के साथसाझेदारी की

संयुक्त राष्ट्र परियोजना सेवा कार्यालय (यूएनओपीएस) ने विश्व जल दिवस के अवसर पर उत्तर प्रदेश में केंद्र सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम, जल जीवन मिशन की मदद करने के लिए डेनमार्क सरकार के साथ एक साझेदारी की। डेनमार्क सरकार और यूएनओपीएस के बीच इस साझेदारी का उद्देश्य जल जीवन मिशन (जल कार्यक्रम) के लिए रणनीतिक तकनीकी सहायता प्रदान करना है।यूएनओपीएस जल की कमी से जूझ रहेउत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड और विंध्य क्षेत्र स्थित 11 जिलों में मापने योग्यडिलीवरी मॉडल स्थापित करने पर ध्यान केंद्रित करेगा। यह जल जीवन मिशन के संचालन संबंधित दिशानिर्देशों में निर्धारित प्राथमिकताओं के अनुरूप होगा।

पावरग्रिड ने जयप्रकाश पावरवेंचर्स में 74 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए समझौते पर हस्ताक्षर किए

भारत सरकार के विद्युत् मंत्रालय के एक महारत्न लोक उपक्रम, पावरग्रिड कारपोरेशन ऑफ़ इण्डिया ने जयप्रकाश पावरवेंचर्स लिमिटेड (जेपीसीएल) के साथ शेयरों की खरीद के एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं और जेपी पावरग्रिड लिमिटेड- जेवी (जेपीएल) की 74 प्रतिशत हिस्सेदारी प्राप्त कर ली है। अभी तक पावरग्रिड के पास इस उद्यम में 26 प्रतिशत हिस्सेदारी थी। इस अधिग्रहण के बाद अब जेपीएल पूरी से पावरग्रिड के स्वामित्व वाली इकाई बन गई है। जेपीएल-जेवी ने हिमाचल प्रदेश में करचम- वांगटू परियोजना से विद्युत् उत्पादन के लिए 214 किमी लम्बी ईएचवी विद्युत् पारेषण परियोजना पूरी की है। इस परियोजना से हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, उत्तर प्रदेश और राजस्थान को बिजली आपूर्ति की जाएगी।

ट्राइफेड ने अरुणाचल प्रदेश सरकार के साथ वन धन योजना और लघु वनोपज योजना में न्यूनतम समर्थन मूल्य के कार्यान्वयन के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

ट्राइफेड ने अरुणाचल प्रदेश सरकार के साथ मिलकर अरुणाचल प्रदेश में वन धन योजना और लघु वनोपज योजना में न्यूनतम समर्थन मूल्य के कार्यान्वयन के लिए 19 मार्च, 2021 को एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किये हैं। आदिवासियों (वनवासियों एवं कारीगरों दोनों) की आजीविका में वृद्धि करने तथा आदिवासी सशक्तीकरण की दिशा में काम करने के अपने मिशन के तहत ट्राइफेड कई कार्यक्रमों और पहलों की शुरुआत कर रहा है। अरुणाचल प्रदेश राज्य का ग्रामीण विकास विभाग इस योजना के कार्यान्वयन के लिए नोडल एजेंसी का कार्य करेगा, जबकि अरुणाचल प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (एआरएसआरएलएम) इसकी कार्यान्वयन एजेंसी होगी। इस समझौते के तहत, इस वर्ष राज्य में 100 वन धन विकास केंद्र स्थापित किए जाने की योजना है।

बांग्लादेश भारत के साथ व्यापार और सम्पर्क के विस्तार के लिए मिजोरम सीमा पर और हाट खोलेगा

बांग्लादेश ने भारत की मिजोरम सीमा पर और अधिक सीमा हाट खोलने की पहल की है। बांग्लादेश के वाणिज्य मंत्री टीपू मुंशी ने कहा है कि शीघ्र ही कुछ नए सीमा हाट शुरू किए जाएंगे। उन्‍होंने कहा कि बांग्लादेश और मिजोरम के बीच व्यापार और संपर्क बढ़ाने की कई संभावनाएं हैं। ढाका में मिजोरम के व्यापार और उद्योग मंत्री लालथांगलियाना के साथ बैठक के बाद श्री मुंशी ने बताया कि मिजोरम ने सीमा हाट और भूमि बंदरगाहों की स्थापना के माध्यम से व्यापार और वाणिज्य संपर्क बढ़ाने में रुचि व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि मिजोरम ने चट्टग्राम बंदरगाह के उपयोग में भी रुचि व्यक्त की है। मिजोरम के व्‍यापार मंत्री ने कहा कि मिजोरम में रेडीमेड गारमेंट्स जैसी बांग्लादेशी वस्तुओं की बड़ी मांग है, जबकि राज्य बांग्लादेश को बांस, लकड़ी, अदरक, चीनी और पत्थर जैसी वस्तुओं की आपूर्ति कर सकता है।

फिलीपींस का दावा-चीन सागर में उसने 220 चीनी नौकाओं को रोका

फिलीपींस सरकार ने दावा किया है कि चीन सागर में उसके क्षेत्र में लगभग 220 चीनी नौकाओं को रोका गया है। फिलीपींस ने चीन से नौकाओं को वापस बुलाने का आग्रह करते हुए कहा कि जहाजों ने उसके क्षेत्र में अतिक्रमण करके समुद्री अधिकारों का उल्लंघन किया है। फिलीपिंस के तट रक्षकों के अनुसार, नौकाओं का संचालन चीनी समुद्री मिलिशिया कर्मियों द्वारा किया जाता है। नौकाओं को 7 मार्च को व्हिटसन चट्टानों में रोका गया था, जिसे मनीला जूलियन फेलिप चट्टान भी कहते हैं।

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में ली ज़ी जिया ने पुरुष सिंग्‍ल्‍स और नोजोमी ओकुहारा ने महिलाओं का सिंग्‍ल्‍स खिताब जीता

ऑल इंग्लैंड बैडमिंटन चैंपियनशिप में मलेशिया के ली ज़ी जिया ने पुरुष सिंग्‍ल्‍स और जापान की नोजोमी ओकुहारा ने महिलाओं का सिंग्‍ल्‍स खिताब जीत लिया है। जिया ने करीब सवा घंटे तक चले फाइनल मुकाबले में डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसन को 30-29, 20-22, 21-9 से हराया। मलेशिया ने चार साल बाद यह खिताब जीता है। मलेशिया के ली चोंग वेई ने आखिरी बार 2017 में ऑल इंग्लैंड ओपन जीता था। महिला फाइनल में नोजोमी ओकुहारा ने छठी वरीयता प्राप्‍त थाईलैंड की पोर्नपावी चोचुवोंग को 21-12, 21-16 से पराजित किया।

विश्व जल दिवस : 22 मार्च

प्रति वर्ष 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाता है। यह दिन ताजा पानी के महत्व और जल संसाधनों के स्थायी प्रबंधन की आवश्यकता पर ध्यान केंद्रित करता है। जल दिवस का लक्ष्य विश्व भर में जल संकट के बारे में जागरुकता बढ़ाना और 2030 तक सबके लिए जल और स्वच्छता सेवाएं सुनिश्चित करने का स्थायी विकास लक्ष्य हासिल करने में सहायता करने के लिए लोगों को प्रेरित करना है। इस वर्ष का विषय है-जल के महत्व को समझना। इसके जरिए विश्व भर में जलापूर्ति बनाए रखने में स्वस्थ पारिस्थितिकी प्रणाली की भूमिका पर विशेष बल दिया जा रहा है।

बिहार दिवस : 22 मार्च

हर साल 22 मार्च के दिन को बिहार दिवस (Bihar Diwas 2021) के रूप में मनाया जाता है। 1912 में अंग्रेजों द्वारा बंगाल प्रेसीडेंसी से राज्य को अलग करने के बाद से ये दिवस मनाया जाता है। हर साल बिहार सरकार आज के दिन सार्वजनिक अवकाश घोषित करती है, जो राज्य और केंद्र सरकार के अधिकार क्षेत्र में आने वाली सभी कंपनियों, कार्यालयों और स्कूलों पर लागू होता है। दरअसल 22 अक्टूबर, 1764 को बक्सर का युद्ध (Battle of Buxar) हेक्टर मुनरो के नेतृत्व में ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना और बंगाल के नवाब, अवध के नवाब, और मुगल राजा शाह आलम द्वितीय की संयुक्त सेना के बीच में लड़ा गया था। लड़ाई बक्सर में लड़ी गई थी और ईस्ट इंडिया कंपनी को इसमें बड़ी जीत हासिल हुई। बंगाल के मुगलों और नवाबों की हार के कारण बंगाल के मुगलों और नवाबों ने प्रदेशों पर नियंत्रण खो दिया और दीवानी के अनुसार ईस्ट इंडिया कंपनी को राजस्व के संग्रह और प्रबंधन का अधिकार मिल गया। उस समय बंगाल प्रेसीडेंसी में पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, उड़ीसा और बांग्लादेश का वर्तमान इलाका शामिल था। 1911 में, किंग जॉर्ज पंचम का दिल्ली में राज्याभिषेक किया गया और ब्रिटिश भारत की राजधानी दिल्ली को बना दिया गया। 21 मार्च, 1912 को, थॉमस गिब्सन कारमाइकल ने बंगाल के नए गवर्नर का पद संभाला और घोषणा की कि अगले दिन, 22 मार्च से बंगाल प्रेसीडेंसी को बंगाल, उड़ीसा, बिहार और असम के चार सुभाषों में विभाजित किया जाएगा। इसलिए ही 22 मार्च को बिहार दिवस के रूप में मनाया जाने लगा।

नस्लीय भेदभाव के उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस

नस्लीय भेदभाव के नकारात्मक परिणामों के बारे में लोगों को याद दिलाने के लिए 21 मार्च को प्रतिवर्ष नस्लीय भेदभाव के उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस (International Day for the Elimination of Racial Discrimination) मनाया जाता है। इस वर्ष की थीम "जातिवाद के खिलाफ खड़े युवा (Youth standing up against racism)" है। यह #FightRacism के माध्यम से जनता को प्रेरित करता है, जिसका उद्देश्य सहिष्णुता, समानता और भेदभाव-विरोधीता की वैश्विक संस्कृति को बढ़ावा देना है और हममें से हर एक को नस्लीय पूर्वाग्रह और असहिष्णु रवैये के खिलाफ खड़ा होना है। दक्षिण अफ्रीका के शार्पविले में पुलिस ने जिस दिन 1960 में रंगभेद "कानून" के खिलाफ एक शांतिपूर्ण प्रदर्शन में 69 लोगों को गोली मारकर हत्या कर दी थी, उसी दिन अंतरराष्ट्रीय भेदभाव के उन्मूलन के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस मनाया जाता है। 1979 में, महासभा ने एक्शन टू कॉम्बैट नस्लवाद और नस्लीय भेदभाव के लिए दशक के दूसरे भाग के दौरान की जाने वाली गतिविधियों का एक कार्यक्रम अपनाया। उस अवसर पर, महासभा ने फैसला किया कि 21 मार्च से शुरू होने वाले नस्लवाद और नस्लीय भेदभाव के खिलाफ संघर्ष कर रहे लोगों के साथ एक सप्ताह की एकजुटता, सभी राज्यों में प्रतिवर्ष आयोजित की जाएगी।

विश्व कविता दिवस: 21 मार्च

विश्व भर में कविता के पठन, लेखन, प्रकाशन और अध्यापन को बढ़ावा देने के लिए प्रत्येक वर्ष 21 मार्च को विश्व कविता दिवस (World Poetry Day) मनाया जाता है। यह दिन सांस्कृतिक और भाषाई अभिव्यक्ति और पहचान के मानवता के सबसे क़ीमती रूपों में से एक है। इतिहास में प्रचलित - हर संस्कृति में और हर महाद्वीप पर - कविता हमारी सामान्य मानवता और हमारे साझा मूल्यों के लिए बात करती है, सरलतम कविताओं को संवाद और शांति के लिए एक शक्तिशाली उत्प्रेरक में बदल देती है। UNESCO ने पहली बार 1999 में पेरिस में अपने 30 वें आम सम्मेलन के दौरान 21 मार्च को विश्व कविता दिवस के रूप में अपनाया, जिसका उद्देश्य काव्य अभिव्यक्ति के माध्यम से भाषाई विविधता का समर्थन करना और लुप्तप्राय भाषाओं को सुनने का अवसर बढ़ाना है।

विश्व डाउन सिंड्रोम दिवस: 21 मार्च

विश्व डाउन सिंड्रोम दिवस (World Down Syndrome Day) प्रति वर्ष 21 मार्च को विश्व स्तर पर डाउन सिंड्रोम वाले लोगों के अधिकारों, समावेश और कल्याण के लिए सार्वजनिक जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है। इस वर्ष, विश्व डाउन सिंड्रोम दिवस का विषय "वी डिसाइड (We Decide)" है। इस दिन को पहली बार वर्ष 2012 में संयुक्त राष्ट्र में मनाया गया था। मार्च का 21 वां दिन (वर्ष का तीसरा महीना) 21 वें गुणसूत्र के त्रिगुण (ट्राइसॉमी) की विशिष्टता को इंगित करने के लिए चुना गया है जो डाउन सिंड्रोम का कारण बनता है। डाउन सिंड्रोम एक ऐसी स्थिति है जिसमें बच्चा 21 वें गुणसूत्र के साथ पैदा होता है। यह एक आनुवंशिक विकार की श्रेणी में आता है, और यह विकासात्मक विकलांगता का भी कारण बनता है। इस स्थिति के साथ पैदा होने वाले बच्चे को थायराइड या दिल से संबंधित समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

पटकथा लेखक और निर्देशक सागर सरहदी का मुम्बई में निधन

कभी-कभी, सिलसिला और बाज़ार जैसी मशहूर फिल्मों के पटकथा लेखक और निर्देशक सागर सरहदी का मुम्बई में निधन हो गया। वे 88 वर्ष के थे। उनका अंतिम संस्कार सायन शमशानगृह में किया गया। सागर ने उर्दू में लघु कथाएं लिखने के साथ-साथ अपना फिल्मी सफर वर्ष 1976 में यश चोपड़ा की फिल्म कभी कभी की पटकथा लिखने के साथ शुरू किया। उन्होंने 1982 में बाजार फिल्म का निर्देशन किया।

सेबी के पूर्व अध्यक्ष जीवी रामकृष्ण का निधन

सेबी के पूर्व अध्यक्ष जीवी रामकृष्ण (GV Ramakrishna) का निधन हो गया है। 1990 में उन्हें बाजार नियामक सेबी के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था जब इसमें कानूनी स्थिति का अभाव था। वे 1994 तक उस निकाय के अध्यक्ष रहे और फिर 1996 में विनिवेश आयोग के पहले अध्यक्ष बने।

Start Quiz!

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.