Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

24 March 2021

भारतीय सशस्त्र सेना दुनिया में चौथी सबसे मजबूत सेना

रक्षा वेबसाइट मिलिट्री डायरेक्ट द्वारा जारी एक अध्ययन के अनुसार, चीन के पास दुनिया का सबसे मजबूत सैन्य बल है, जबकि भारत चौथे नंबर पर है। ​चीन के पास दुनिया की सबसे मजबूत सेना है, जो सूचकांक में 100 में से 82 अंक प्राप्त करता है। संयुक्त राज्य अमेरिका अपने विशाल सैन्य बजट के बावजूद 74 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर आता है, उसके बाद रूस 69 अंक के साथ तीसरे स्थान पर, भारत 61 अंक के साथ चौथे स्थान पर और फिर फ्रांस 58 अंक के साथ पांचवें स्थान पर है. U.K. ने 43 अंकों के साथ 9 वें स्थान पर आकर टॉप 10 में जगह बनाई है। अध्ययन में कहा गया है कि "अंतिम सैन्य शक्ति सूचकांक (ultimate military strength index)" की गणना बजट, निष्क्रिय और सक्रिय सैन्य कर्मियों की संख्या, कुल हवा, समुद्र, भूमि और परमाणु संसाधनों, औसत वेतन, और उपकरणों के वजन सहित विभिन्न कारकों को ध्यान में रखकर की गई थी।

RBI ने बैंक आवेदन के मूल्यांकन के लिए पैनल की स्थापना की

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने 23 मार्च 2021 को एक “स्थायी बाह्य सलाहकार समिति (SEAC)” की स्थापना की है। यह पैनल सार्वभौमिक बैंकों और छोटे वित्त बैंकों (SFB) के लिए आवेदनों का मूल्यांकन करेगा। इस समिति में पाँच सदस्य शामिल हैं। इस समिति की अध्यक्ष भारतीय रिजर्व बैंक की पूर्व डिप्टी गवर्नर श्यामला गोपीनाथ (Shyamala Gopinath) होंगी। इस समिति के अन्य सदस्यों में शामिल हैं – RBI के केंद्रीय बोर्ड की निदेशक, रेवती अय्यर; नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ़ इंडिया के पूर्व कार्यकारी निदेशक, बी. महापात्रा; केनरा बैंक के पूर्व अध्यक्ष, टी.एन. मनोहरन, भारतीय स्टेट बैंक के पूर्व एम.डी., हेमंत जी. कांट्रेक्टर। इस समिति का कार्यकाल तीन वर्ष का है। इस पैनल को सचिवीय समर्थन RBI के विनियमन विभाग द्वारा प्रदान किया जाएगा। यह समिति समय-समय पर बैठक करेगी। यह पैनल अधिक जानकारी मांगने के लिए स्वतंत्र होगा और किसी भी मुद्दे पर स्पष्टीकरण के लिए किसी भी आवेदक के साथ चर्चा कर सकता है। इसके बाद, समिति शीर्ष बैंक को अपनी सिफारिशें प्रस्तुत करेगी।

नई दिल्ली में स्थायी सिंधु आयोग (Permanent Indus Commission) की बैठक आयोजित की जाएगी

राजनयिक संबंधों की व्यापक बहाली पर प्रकाश डालते हुए, दोनों देश “स्थायी सिंधु आयोग” की बैठक आयोजित करेंगे। यह आयोग सिन्धु नदी के पानी के अधिकारों से संबंधित है। स्थायी सिंधु आयोग जो 1960 की सिंधु जल संधि (Indus Waters Treaty) के तहत स्थापित किया गया था, 23 मार्च और 24 मार्च को नई दिल्ली में बैठक करेगा। यह आयोग द्विपक्षीय जल मुद्दों से संबंधित है और वे बैठक के दौरान इस पर चर्चा करेंगे।

आरोग्य संजीवनी पॉलिसी पर IRDAI ने दिशानिर्देश जारी किये

आरोग्य संजीवनी 1 अप्रैल, 2020 को पॉलिसीधारकों के लिए शुरू की गई थी और यह सस्ती कीमत पर उपलब्ध है। IRDAI ने आरोग्य संजीवनी नीति का मानकीकरण किया है और स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को स्पष्ट रूप से निर्देश दिया है कि वे इस नीति के लिए एक मानक शर्तें निर्धारित करें। इस नीति में कोरोनावायरस रोगियों के लिए अस्पताल में भर्ती होने की लागत को भी कवर किया जाएगा। इस पॉलिसी का प्रीमियम 1000 रुपये से 5000 रुपये के बीच सेट करना होगा। यह 1 लाख से 5 लाख के बीच जोखिम को कवर करेगा। सभी स्वास्थ्य बीमा कंपनियों को इस पॉलिसी पेशकश करनी होगी। IRDAI ने पॉलिसी के लिए प्रीमियम 1000 रुपये से 5000 रुपये के बीच निर्धारित किया है। पॉलिसी 1 लाख से 5 लाख के बीच की राशि को कवर करेगी। यह 50,000 के गुणक में बीमित व्यक्ति को भी दिया जाता है। 18 वर्ष से 65 वर्ष की आयु के बीच के व्यक्ति इस पॉलिसी को प्राप्त कर सकते हैं। यह अस्पताल में भर्ती के दौरान कमरे के किराए के लिए 2% बीमा कवर प्रदान किया जायेगा। यह पॉलिसी बीमित व्यक्तियों को पॉलिसी अवधि समाप्त होने के बाद अपनी पॉलिसी को एक कंपनी से दूसरी कंपनी में स्विच करने का विकल्प प्रदान करती है।

ज्वालामुखी बांड लांच

डेनिश रेड क्रॉस ने घोषणा की कि उसने कई वित्तीय फर्मों के साथ मिलकर ज्वालामुखी से संबंधित आपदाओं के लिए अपनी तरह का पहला आपदा बांड (catastrophe bond) लांच किया है। यह बॉन्ड जो आपदा राहत एजेंसी को चिली, इक्वाडोर, कैमरून, कोलंबिया, मैक्सिको, ग्वाटेमाला और इंडोनेशिया जैसे 10 ज्वालामुखियों के विस्फोट के कारण पीड़ित लोगों को जल्दी से वित्तीय सहायता प्राप्त करने में सक्षम करेगा। इस परियोजना के भागीदारों का लक्ष्य इस बॉन्ड के लॉन्च के साथ $3 मिलियन जुटाने का है। यह पैसा डेनमार्क के रेड क्रॉस की शाखा में स्थानांतरित किया जाएगा। बॉन्ड में शुरुआती निवेशक प्लेनम इनवेस्टमेंट और श्रोडर इन्वेस्टमेंट मैनेजमेंट हैं।

भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम

सरकार ने भारत भर में SARS-CoV-2 की जीनोमिक निगरानी के लिए “भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG)” की स्थापना की है। इसकी घोषणा केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री ने लोकसभा में एक लिखित उत्तर में की। मंत्री ने यह भी कहा कि, इस कंसोर्टियम में दस क्षेत्रीय जीनोम अनुक्रमण प्रयोगशालाएं (RGSL) अर्थात् ILS भुवनेश्वर, NIBMG कल्याणी, NCCS पुणे, ICMR-NIV पुणे, CDFD हैदराबाद, CSIR-CCMB हैदराबाद, NIMHANS बेंगलुरु, InStem / NCBS बेंगलुरु, CSIR-IGIB दिल्ली, और NCDC दिल्ली शामिल हैं। देश भर में RGSL वर्तमान में अपने आंतरिक कोष और संसाधनों का उपयोग कंसोर्टियम की गतिविधियों को करने के लिए कर रहे हैं। फंड को मंजूरी देने का प्रस्ताव जैव प्रौद्योगिकी विभाग के साथ वित्तीय मूल्यांकन प्रक्रिया के अधीन है।

ताइवान का ट्विटर पर “Freedom Pineapple” अभियान

ताइवान के विदेश मंत्री जोसेफ वू ने हाल ही में चीन द्वारा ताइवान से अनानास के आयात पर प्रतिबंध की निंदा करने के लिए ट्विटर पर “Freedom Pineapple” अभियान शुरू किया। इस प्रतिबंध के बाद ताइवान के अनानास भी इस क्षेत्र में एक राजनीतिक प्रतीक बन गए हैं। “Freedom Pineapple” ताइवान से अनानास के आयात पर चीनी प्रतिबंध के खिलाफ एक राजनीतिक और सामाजिक प्रतिक्रिया है। चीनी सरकार ने वर्ष 2021 में अनानास के लिए सीजन शुरू होने से ठीक पहले ताइवान से अनानास के आयात पर प्रतिबंध लगा दिया था। चीन सरकार ने आयात पर रोक लगाते हुए कहा है कि अनानास आयात कीटों से दूषित पाए गये थे। हालांकि, ताइवान के विशेषज्ञों, उत्पादकों और सरकार द्वारा इसका खंडन किया गया था। इस आंदोलन का नाम एक “Play on Freedom Fries” से प्रेरित है।

भारत हिमालयी ग्लेशियरों के रडार सर्वे आयोजित करेगा

भारत ने हिमालय के ग्लेशियरों की मोटाई का अनुमान लगाने के लिए हवाई राडार सर्वेक्षण करने की योजना बनाई है। इस योजना के तहत, पायलट अध्ययन हिमाचल प्रदेश के लाहौल-स्पीति बेसिन में आयोजित किया जाएगा। यह प्रस्ताव पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के तहत राष्ट्रीय ध्रुवीय और महासागर अनुसंधान (National Centre for Polar & Ocean Research – NCPOR) केंद्र द्वारा शुरू किया गया था। इस प्रायोगिक परियोजना के पूरा हो जाने के बाद सिंधु, गंगा और ब्रह्मपुत्र उप-घाटियों में भी इसी तरह के अध्ययन किए जाएंगे। यह घटना भारत की नदी प्रणालियों में ग्लेशियरों के महत्व के कारण महत्वपूर्ण है और भारत-गंगा के मैदानों (Indo-Gangetic Plains) में 500 मिलियन लोग इस पर आश्रित है। वे ऊर्जा सुरक्षा के दृष्टिकोण से भी महत्वपूर्ण हैं। भारत चरम मौसम की घटनाओं के लिए सबसे कमजोर (vulnerable) देशों में से एक है। जलवायु जोखिम सूचकांक (Climate Risk Index) में इसे 20वें स्थान पर रखा गया है। फरवरी, 2021 में उत्तराखंड के रैनी गाँव के पास ग्लेशियर के फटने से कई लोगों की जान चली गयी थी।

रणथंभौर बाघ अभयारण्य छह बाघों के लापता होने के कारण चर्चा में

राजस्थान का रणथंभौर बाघ अभयारण्य छह बाघों के लापता होने के कारण चर्चा में है। रणथंभौर बाघ अभयारण्य, राजस्थान राज्य के पूर्वी भाग में करौली और सवाई माधोपुर ज़िलों में अरावली तथा विंध्य पर्वत शृंखलाओं के संगम पर स्थित है।इसमें रणथंभौर राष्ट्रीय उद्यान, सवाई मानसिंह और कैलादेवी अभयारण्य शामिल हैं।इस बाघ अभयारण्य को रणथंभौर के किले से अपना नाम प्राप्त हुआ है और माना जाता है कि इस किले का इतिहास 1000 वर्ष से भी अधिक पुराना है। यह रणनीतिक रूप से अभयारण्य के भीतर 700 फीट ऊँची एक पहाड़ी के ऊपर स्थित है और माना जाता है कि इसे 944 ईस्वी में चौहान शासक द्वारा बनाया गया था।बाघों के आवास वाला यह एकांत क्षेत्र ‘बंगाल टाइगर’ की वितरण सीमा की उत्तर-पश्चिमी सीमा का प्रतिनिधित्व करता है और देश में बाघ संरक्षण हेतु प्रारंभ किये गए ‘प्रोजेक्ट टाइगर’ के प्रयासों का एक उत्कृष्ट उदाहरण है।जुलाई 2020 में सार्वजनिक जनगणना परिणामों के अनुसार, भारत में 2,967 बाघ हैं, जबकि अकेले रणथंभौर में 55 बाघ मौजूद हैं।

फेडबैंक फाइनेंशियल सर्विसेज पर RBI ने लगाया 15 लाख रुपये का जुर्माना

भारतीय रिजर्व बैंक ने फेडबैंक फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड (Fedbank Financial Services Limited), मुंबई पर 15 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है। ​यह जुर्माना एनबीएफसी (रिजर्व बैंक) के निर्देशों, 2016 में धोखाधड़ी की निगरानी में निहित भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआ) द्वारा जारी किए गए निर्देशों के कुछ प्रावधानों के गैर-अनुपालन के लिए लगाया गया है। 31 मार्च, 2019 तक अपनी वित्तीय स्थिति के संदर्भ में कंपनी का वैधानिक निरीक्षण, अन्य विषयों के साथ, उसके द्वारा जारी किए गए निर्देशों के गैर-अनुपालन प्रकाशित करता है। 31 मार्च, 2019 तक इसकी वित्तीय स्थिति के आधार पर कोयना सहकारी बैंक की निरीक्षण रिपोर्ट से पता चला कि यह विवेकपूर्ण अंतर-बैंक (एकल बैंक) जोखिम सीमा से अधिक हो गया था।

भारत और फ्रांस तीसरे संयुक्त अंतरिक्ष मिशन पर काम कर रहे हैं

भारत और फ्रांसतीसरे संयुक्त उपग्रह मिशन” पर काम कर रहे हैं। कई फ्रांसीसी कंपनियां सरकार द्वारा अंतरिक्ष क्षेत्र में हाल के सुधारों द्वारा प्रदान किए गए अवसरों का लाभ उठाने के लिए इच्छुक हैं। फ्रांस अन्तरिक्ष में भारत का सबसे बड़ा साझेदार है। इसरो ने इस बात पर प्रकाश डाला कि इसरो और फ्रांसीसी अंतरिक्ष एजेंसी Centre National d’Études Spatiales (CNES) ने दो संयुक्त मिशनों ‘मेघा-ट्रोपिक’ (Megha-Tropique) पर काम किया है, जिसे वर्ष 2011 में लॉन्च किया गया था और ‘SARAL-Altika’ जो वर्ष 2013 में लॉन्च किया गया था। अधिकारियों ने यह भी रेखांकित किया कि ISRO और CNES ने थर्मल इंफ्रारेड इमेजिंग सैटेलाइट ‘Thermal InfraRed Imaging Satellite for High resolution Natural resource Assessment’ (TRISHNA) की मदद से पृथ्वी अवलोकन उपग्रह मिशन के लिए व्यवहार्यता अध्ययन पूरा किया है। अब दोनों एजेंसियां ​​संयुक्त विकास के लिए एक कार्यान्वयन व्यवस्था को अंतिम रूप देने के लिए काम कर रही हैं। भारत अंतरिक्ष अभियानों के संबंध में वैज्ञानिक उपकरणों के संयुक्त प्रयोगों पर फ्रांस के साथ भी काम कर रहा है। दो एजेंसियों ने इसरो के OCEANSAT-3 उपग्रह में CNES के ‘ARGOS’ उपकरण को समायोजित करने के लिए सभी इंटरफ़ेस नियंत्रण दस्तावेजों को भी अंतिम रूप दिया है।

इंडिया लीजेंड्स ने 2020-21 रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज T-20 जीती

क्रिकेट में, इंडिया लीजेंड्स (India Legends) ने छत्तीसगढ़ के रायपुर में शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में आयोजित रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज़ फाइनल खिताब जीतने के लिए श्रीलंका लीजेंड्स (Sri Lanka Legends) को 14 रनों से हराया। इंडिया लीजेंड्स ने कुल 181/4 रन बनाए लेकिन श्रीलंका लीजेंड्स 167/7 रन बना सके। सचिन तेंदुलकर, इंडिया लीजेंड्स के कप्तान थे। सम्बंधित पुरस्कार -

  • प्लेयर ऑफ़ द मैच:यूसुफ पठान (इंडिया लीजेंड्स)
  • प्लेयर ऑफ़ द सीरीज:तिलकरत्ने दिलशान (श्री लंका लीजेंड्स)
  • मोस्ट रन:तिलकरत्ने दिलशान
  • मोस्ट विकेट:तिलकरत्ने दिलशान

प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी डॉ. राम मनोहर लोहिया को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी

23 मार्च, 2021 को प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी और समाजवादी नेता डॉ. राम मनोहर लोहिया को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी। राम मनोहर लोहिया का जन्म 23 मार्च, 1910 को ब्रिटिशकालीन भारत में संयुक्त प्रांत के अकबरपुर (फैजाबाद ज़िले) में हुआ था। भारतीय समाजवादी राजनीति और स्वतंत्रता संग्राम के संघर्ष में डॉ. लोहिया का नाम प्रमुखता से लिया जाता है। वर्ष 1934 में डॉ. लोहिया भारतीय राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस (INC) के अंतर्गत एक वामपंथी समूह कॉन्ग्रेस सोशलिस्ट पार्टी (CSP) में शामिल हुए और उन्होंने पार्टी की कार्यकारी समिति में कार्य करने के साथ-साथ उसकी साप्ताहिक पत्रिका का संपादन भी किया। उन्होंने ब्रिटेन द्वारा द्वितीय विश्व युद्ध में भारत को शामिल करने के निर्णय का कड़ा विरोध किया, जिसके कारण उन्हें 2 बार क्रमशः वर्ष 1939 और वर्ष 1940 में जेल जाना पड़ा। इसके बाद वर्ष 1942 और वर्ष 1944-46 में उन्हें ब्रिटिश सरकार विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण फिर से जेल जाना पड़ा। वर्ष 1948 में लोहिया एवं अन्य CSP सदस्य कॉन्ग्रेस से अलग हो गए तथा वर्ष 1952 में प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के सदस्य बने, किंतु वर्ष 1955 में कुछ मतभेदों के कारण उन्होंने यह पार्टी भी छोड़ दी। वर्ष 1963 में लोहिया लोकसभा के लिये चुने गए और 12 अक्तूबर, 1967 में उनका निधन हो गया।

23 मार्च: विश्व मौसम विज्ञान दिवस

हर साल 23 मार्च को विश्व मौसम विज्ञान दिवस (World Meteorological Day) मनाया जाता है। यह 1950 में स्थापित किया गया था। इस दिन को विश्व मौसम संगठन (WMO) और संयुक्त राष्ट्र द्वारा भी मनाया जा रहा है। 23 मार्च को इसलिए चुना गया है क्योंकि 1950 में उस दिन विश्व मौसम संगठन (World Meteorological Organization) की स्थापना हुई थी। थीम: The Ocean, Our Climate and Weather
WMO की स्थापना को चिह्नित करने के लिए यह दिन मनाया जाता है, जिसमें 193 सदस्य देश और क्षेत्र हैं। यह संगठन अंतर्राष्ट्रीय मौसम विज्ञान संगठन (IMO) से उत्पन्न हुआ है, जिसका विचार वियना अंतर्राष्ट्रीय मौसम विज्ञान कांग्रेस 1873 में निहित है। WMO को 1950 में WMO सम्मेलन के अनुसमर्थन द्वारा स्थापित किया गया था, जिसके बाद यह संगठन संयुक्त राष्ट्र की एक विशेष एजेंसी बन गई। WMO का मुख्यालय स्विट्जरलैंड के जिनेवा में स्थित है।

23 मार्च: शहीद दिवस

हर साल, 23 मार्च को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है। यह दिवस तीन महान युवा नेताओं भगत सिंह, सुखदेव थापर और शिवराम राजगुरु के साहस और वीरता को याद करने के लिए मनाया जाता है। इस दिन इन तीन महान नेताओं को फांसी दी गयी थी। देश में इस दिन को शहीद दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। कई स्कूल और कॉलेज इस दिन को श्रद्धांजलि देते हैं और आभार व्यक्त करते हैं। भगत सिंह का जन्म 1907 में हुआ था। उन्होंने “इंकलाब जिंदाबाद” को लोकप्रिय बनाया।

प्रशंसित मिस्र की नारीवादी नवल सादवी का निधन

मिस्र की एक प्रसिद्ध नारीवादी, मनोचिकित्सक और उपन्यासकार, नवल सादवी (Nawal Saadawi) जिनके लेखन ने दशकों से चली आ रही रूढ़िवादी समाज में विवाद को जन्म दिया, उनका निधन हो गया है। वह मिस्र और अरब दुनिया में महिला अधिकारों की एक उग्र वकील थीं। 2005 में, उन्हें यूरोप परिषद से उत्तर-दक्षिण पुरस्कार मिलने के एक साल बाद, बेल्जियम में इनाना अंतर्राष्ट्रीय पुरस्कार ( Inana International Prize) से सम्मानित किया गया था। 2020 में, टाइम मैगज़ीन ने उनका नाम 100 वूमेन ऑफ़ द ईयर सूची में रखा था। वह अरब महिला सॉलिडेरिटी एसोसिएशन की संस्थापक और अध्यक्ष थीं और अरब एसोसिएशन फॉर ह्यूमन राइट्स की सह-संस्थापक थीं।

Start Quiz!

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.