Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

28 April 2021

भारत के पहले सौर अंतरिक्ष मिशन से प्राप्त होने वाले आंकड़ों को सुलभ बनाने हेतु कम्युनिटी सर्विस सेंटर की स्थापना

भारत के पहले सौर अंतरिक्ष मिशन से प्राप्त होने वाले आंकड़ों को एक वेब इंटरफेस पर इकट्ठा करने के लिए एक कम्युनिटी सर्विस सेंटर की स्थापना की गई है, ताकि उपयोगकर्ता इन आंकड़ों को तत्काल देख सकें और वैज्ञानिक आयाम से उसका विश्लेषण कर सकें। आदित्य L1 सपोर्ट सेल (एएल1एससी) के नाम सेतैयार किया गया यह सर्विस सेंटर, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन इसरो और भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत स्वायत्त संस्था आर्यभट्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट ऑफ ऑब्जर्वेशनल साइंस (एआरआईईएस)का संयुक्त प्रयास है। इस केंद्र का उपयोग अतिथि पर्यवेक्षकों (गेस्ट ऑब्जर्वर) द्वारा वैज्ञानिक आंकड़ों के विश्लेषण और विज्ञान पर्यवेक्षण प्रस्ताव तैयार करने में किया जाएगा। एएल1एससी की स्थापना एआरआईईएस के उत्तराखंड स्थित हल्द्वानी परिसर में किया गया है, जो इसरो के साथ संयुक्त रूप काम करेगा ताकि भारत के पहले सौर अंतरिक्ष मिशन आदित्य L1 से मिलने वाले सभी वैज्ञानिक विवरणों और आंकड़ों का अधिकतम विश्लेषण (उपयोग) किया जा सके।

डीआरडीओ ने हेलीकॉप्टर इंजन एप्लीकेशन के लिए सिंगल क्रिस्टल ब्लेड विकसित किए

क्षा अनुसंधान और विकास संगठन - डीआरडीओ ने सिंगल क्रिस्टल ब्लेड प्रौद्योगिकी विकसित की है और इनमें से 60 ब्लेड की आपूर्ति हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड - एचएएल को हेलीकॉप्टर इंजन एप्लीकेशन के लिए स्वदेशी हेलीकॉप्टर विकास कार्यक्रम के हिस्से के रूप में की है। यह डीआरडीओ की प्रीमियम प्रयोगशाला डिफेंस मेटालर्जिकल रिसर्च लेबोरेटरी (डीएमआरएल) द्वारा शुरू किये गए एक कार्यक्रम का हिस्सा है, जिसमें निकल-आधारित उत्कृष्ट मिश्रित धातु का उपयोग करके सिंगल क्रिस्टल उच्च दबाव वाले टरबाइन (एचपीटी) ब्लेड के पांच सेट (300 की संख्या में) विकसित किए जा रहे हैं। शेष चार सेटों की आपूर्ति उचित समय पर पूरी की जाएगी। रणनीतिक व रक्षा एप्लीकेशन्स में इस्तेमाल किए जाने वाले हेलीकाप्टरों को चरम स्थितियों में अपने विश्वसनीय संचालन के लिए कॉम्पैक्ट तथा शक्तिशाली एयरो-इंजन की आवश्यकता होती है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए, जटिल आकार और ज्यामिति वाले अत्याधुनिक सिंगल क्रिस्टल ब्लेड, जो ऑपरेशन के उच्च तापमान को सहन करने में सक्षम निकल आधारित उत्कृष्ट मिश्रित धातु से निर्मित हैं, का उपयोग किया जाता है। दुनिया के बहुत ही कम देशों जैसे अमरीका, ब्रिटेन, फ्रांस और रूस में ऐसे सिंगल क्रिस्टल (एसएक्स) पुर्जों को डिजाइन एवं निर्माण करने की क्षमता है।

भूटान में दंतक परियोजना ने 60 साल पूरे किए

भूटान में दंतक परियोजना अपनी डायमंड जुबली मना रही है। भूटान में भारतीय राजदूत श्रीमती रुचिरा कंबोज ने 24 अप्रैल, 2021 को सिम्टोखा के दंतक स्मारक में एक पुष्पांजलि अर्पित की। यह भारत और भूटान के बीच दोस्ती के बंधन को मजबूत करने में दंतक के कर्मियों द्वारा किए गए बलिदान के लिए एक श्रद्धांजलि थी। याद रहे कि भूटान में महत्वपूर्ण बुनियादी ढाँचे का निर्माण करते समय 1,200 से अधिक दंतक कर्मियों ने अपने जीवन का बलिदान दिया है। 24 अप्रैल, 1961 को भूटान के महामहिम तीसरे राजा और तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के दूरदर्शी नेतृत्व के परिणामस्वरूप प्रोजेक्ट दंतक की स्थापना की गई थी। भूटान के सामाजिक-आर्थिक विकास और तरक्की को प्रभावित करने में कनेक्टिविटी के अत्यधिक महत्व की पहचान करते हुए, दंतक को राज्य में अग्रणी मोटर योग्य सड़कों के निर्माण का काम सौंपा गया था। दंतक ने 1968 में समद्रुप जोंगखर को त्रासीगंग से जोड़ने वाली सड़क को पूरा किया था। उसी वर्ष, थिम्फू को दंतक द्वारा फुंटशोलिंग से जोड़ा गया। कई भूटानियों ने भी स्वेच्छा से काम करना शुरू कर दिया था।

Goldman Sachs ने वित्त वर्ष 22 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ के अनुमान को घटाकर किया 10.5%

वॉल स्ट्रीट ब्रोकरेज, Goldman Sachs ने वित्त वर्ष 2021-22 (FY22) के लिए जारी भारत के जीडीपी विकास पूर्वानुमान में बदलाव करते हुए 10.9 प्रतिशत के अपने पूर्व अनुमान को धटाकर 10.5 प्रतिशत कर दिया हैं। पूर्वानुमान में कटौती महामारी के मामलों की बढ़ती संख्या और प्रमुख राज्यों द्वारा लगाए गए लॉकडाउन के कारन की गई हैं, जो आर्थिक गतिविधियों को प्रभावित करते हैं।

RBI ने 15 वर्ष तक सीमित किया निजी बैंकों के MD & CEO का कार्यकाल

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने वाणिज्यिक बैंकों के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी के कार्यकाल को 15 वर्ष तक के लिए सिमित कर दिया है। साथ ही यह सीमा पूर्ण कालिक -निदेशकों (whole-time directors) पर भी लागू होगी। इसका अर्थ है कि अब कोई भी 15 साल से अधिक समय तक पद पर नहीं रह सकता है। संशोधित निर्देश स्मॉल फाइनेंस बैंकों (SFB) सहित सभी निजी क्षेत्र के बैंकों और विदेशी बैंकों की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियों पर भी लागू होंगे। हालाँकि, यह भारत में शाखाओं के रूप में कार्यरत विदेशी बैंकों पर लागू नहीं होगा। नए नियमों के अनुसार MD & CEO या WTD जो प्रमोटर प्रमुख शेयरधारक भी हैं, इन पदों को 12 वर्षों से अधिक नहीं रख सकते हैं।निजी बैंकों में MD & CEO और WTDs के लिए अधिकतम आयु सीमा 70 वर्ष पर बरकरार रखी गई है।इस संबंध में 26 अप्रैल, 2021 को सर्कुलर जारी होने के बाद से निर्देश लागू हो गए हैं, हालांकि, संशोधित आवश्यकताओं के लिए एक आसान प्रक्रिया करने के लिए, बैंकों को 01 अक्टूबर, 2021 तक इन निर्देशों का पालन करने की अनुमति है।

सरकार ने 'विवाद से विश्वास' योजना की समय सीमा बढ़ाकर की 30 जून 2021

केंद्र सरकार ने Covid-19 महामारी के कारण कठिनाई का सामना कर रहे करदाताओं को राहत देने के लिए डायरेक्ट टैक्स विवाद निपटान योजना 'विवाद से विश्वास' के तहत भुगतान करने की समय सीमा को दो महीने बढ़ाकर 30 जून, 2021 तक करने की घोषणा की है। इस योजना की शुरुआत के बाद से यह चौथा मौका जब वित्त मंत्रालय द्वारा समय सीमा बढ़ाई जा रही है। पहली बार समय सीमा 31 मार्च, 2020 से बढ़ाकर 30 जून, 2020, इसके बाद 31 दिसंबर, 2020 और फिर 31 मार्च, 2021 तक की गई थी।

ऑक्सीजन परिवहन करने वाले जहाज़ों के लिये शुल्क में छूट

केंद्र सरकार ने देश भर के सभी प्रमुख बंदरगाहों को कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में हो रही बढ़ोतरी के मद्देनज़र ऑक्सीजन और उससे संबंधित उपकरणों को ले जाने के लिये सभी शुल्क माफ करने का निर्देश दिया है। पत्तन, पोत परिवहन और जलमार्ग मंत्रालय के मुताबिक, सभी प्रमुख बंदरगाहों पर मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन, ऑक्सीजन टैंक, ऑक्सीजन बोतल, पोर्टेबल ऑक्सीजन जनरेटर और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की खेप ले जाने वाले जहाजों को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाएगी और उनसे किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लिया जाएगा। इसके अलावा सरकार ने हाल ही में कोरोना वैक्सीन के आयात के साथ-साथ मेडिकल-ग्रेड ऑक्सीजन और संबंधित उपकरणों के लिये भी सीमा शुल्क पर छूट देने की घोषणा की है। ध्यातव्य है कि कोरोना वायरस महामारी के बढ़ते मामलों के बीच ऑक्सीजन की कमी एक बड़ी समस्या के रूप में सामने आई है, इस स्थिति को मद्देनज़र विभिन्न संस्थानों पर अपने-अपने स्तर पर प्रयास किया जा रहा है, उदाहरण के लिये भारतीय रेलवे द्वारा हाल ही में ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ की शुरुआत की है।

ओडिशा ने पहला नवजात बच्चों में होने वाले हर्लेक्विन इचथ्योसिस का मामला दर्ज किया

हाल ही में ओडिशा ने अपने राज्य का पहला नवजात बच्चों में होने वाले हर्लेक्विन इचथ्योसिस (Harlequin Ichthyosis) का मामला दर्ज किया। यह त्वचा का एक दुर्लभ आनुवंशिक विकार है। भारत का पहला ‘हार्लेक्विन इचथ्योसिस’ का मामला वर्ष 2016 में नागपुर, महाराष्ट्र के एक निजी अस्पताल में दर्ज किया गया था। हार्लेक्विन इचथ्योसिस नवजात शिशुओं को होने वाला एक दुर्लभ आनुवंशिक त्वचा विकार है। यह एक प्रकार का इचथ्योसिस है। यह उन विकारों के एक समूह को संदर्भित करता है जो पूरे शरीर में लगातार सूखी और पपड़ीदार त्वचा का कारण बनता है। यह विकार माता-पिता से नवजात को ऑटोसोमल रिसेसिव पैटर्न (Autosomal Recessive Pattern) से प्राप्त होता है।

लद्दाख इग्नाइटेड माइंड्स- एक उत्कृष्टता और देखभाल का केंद्र

लद्दाख के युवाओं के बेहतर भविष्य को सुरक्षित करने के लिए भारतीय सेना की सतत पहल के हिस्से के रूप में, लेह स्थित कॉर्प्स ऑफ इंडियन आर्मी ने कॉरपोरेट पार्टनर हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) और कार्यकारी एजेंसी राष्ट्रीय अखंडता एवं शैक्षणिक विकास संघठन (एनआईईडीओ) के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए । प्रोजेक्ट लददाख इग्नाइटेड माइंड्स : एक उत्कृष्टता और देखभाल के केंद्र की परिकल्पना संघ राज्यक्षेत्र लद्दाख के युवाओं के लिए बेहतर भविष्य को सुरक्षित करने के लिए की गई है। जो कि प्रवेश परीक्षाओं के लिए 12 महीने की अवधि का मार्गदर्शन और उसके लिए एक पूर्णकालिक आवासीय कार्यक्रम है।

राफेल नडाल ने जीता 12 वां बार्सिलोना ओपन खिताब

राफेल नडाल ने स्टेफानोस त्सित्सिपास को 6-4, 6-7, 7-5 से हराकर अपने कैरियर का 12 वां बार्सिलोना ओपन खिताब जीत लिया हैं। यह नडाल का 87 वां करियर खिताब और क्ले पर उनका 61 वां खिताब हैं। यह दूसरा टूर्नामेंट है जहां नडाल ने 12 या अधिक खिताबों पर कब्जा किया है। 13 बार के रोलैंड गैरोस चैंपियन फेडएक्स एटीपी रैंकिंग में नंबर 2 पर रहें।

मारुति सुजुकी के पूर्व एमडी जगदीश खट्टर का निधन

मारुति सुजुकी के पूर्व प्रबंध निदेशक जगदीश खट्टर का निधन। उन्होंने 1993 से 2007 तक मारुति सुजुकी इंडिया लिमिटेड में काम किया था। उन्हें मारुति को भारत की सबसे बड़ी कार कंपनी के रूप में स्थापित करने का श्रेय दिया जाता है। खट्टर जुलाई 1993 में मारुति में निदेशक के रूप में शामिल हुए, और अंततः 1999 में पहले सरकारी नामिती के रूप में और फिर मई 2002 में सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन के उम्मीदवार के रूप में प्रबंध निदेशक के रूप में पदोन्नत हुए। अक्टूबर 2007 में मारुति से अपनी सेवानिवृत्ति के बाद, खट्टर ने कार्नेशन ऑटो नाम का एक उद्यम शुरू किया।

अमिताव घोष की नई पुस्तक लिविंग माउंटेन

द लिविंग माउंटेन ज्ञानपीठ विजेता और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध लेखक अमिताव घोष की एक नई कहानी है, जो महामारी के दौरान लिखी गई थी। यह वर्तमान समय पर आधारित एक काल्पनिक कहानी है: ये कहानी इंसानों ने प्रकृति का किस तरह से शोषण किया है, इसकी एक सतर्कता की कहानी एक पर्यावरणीय पतन की ओर ले जाती है। हार्पर कॉलिंस पब्लिशर्स इंडिया अपने प्रतिष्ठित फोर्थ एस्टेट इंप्रिंट के तहत जनवरी 2022 में एक विशेष स्टैंडअलोन संस्करण के रूप में लिविंग माउंटेन प्रकाशित करेगा। पुस्तक को हिंदी, ईबुक और एक ऑडियोबुक के रूप में में भी एक साथ प्रकाशित किया जाएगा।

मैनचेस्टर सिटी ने जीता लीग कप फुटबॉल टूर्नामेंट

मैनचेस्टर सिटी ने वेम्बली में टोटेनहम हॉट्सपुर की ओर से किए निराशाजनक प्रदर्शन के साथ लगातार चौथी बार रिकॉर्ड-कप लीग कप जीता हैं। 1980 की शुरुआत में लगातार चार साल प्रतियोगिता जीतने के बाद सिटी की जीत ने लिवरपूल की उपलब्धि की बराबरी की।

यूनिसेफ गुडविल एम्बेसडर डेविड बेकहम करेंगे वैश्विक टीकाकरण अभियान की अगुवाई

यूनिसेफ के गुडविल एम्बेसडर, डेविड बेकहम ने वैक्सीन में विश्वास पैदा करने और दुनिया भर के अभिभावकों को अपने बच्चों को घातक बीमारियों के खिलाफ टीकाकरण के लिए प्रोत्साहित करने के लिए एक वैश्विक पहल शुरू की हैं। वर्ल्ड इम्यूनाइजेशन वीक से पहले जारी एक पावरफुल वीडियो में, बेकहम COVID-19 के कारण रोजमर्रा की गतिविधियों के नुकसान के बारे में बताते है, जैसे कि परिवार के साथ गले मिलना, दोस्तों के साथ समय बिताना और उन लोगों के साथ जो हम प्यार करते हैं, और माता-पिता को वैक्सीन के लिए प्रोत्साहित करना ताकि वे सुरक्षित रह सकें।

इंटरनेशनल चेरनोबिल डिजास्टर रिमेंबरेंस डे: 26 अप्रैल

हर साल 26 अप्रैल को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर 1986 के चेरनोबिल आपदा के परिणामों और परमाणु ऊर्जा के खतरों के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए International Chernobyl Disaster Remembrance Day यानि अंतर्राष्ट्रीय चेरनोबिल आपदा स्मृति दिवस मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र (UN) ने 26 अप्रैल, 2016 को इस दिन को घोषित किया था, जो 1986 की परमाणु आपदा की 30 वीं वर्षगांठ थी। इस दिन 1986 में, एक रिएक्टर विनाशकारी परिणामों के साथ यूक्रेन में चेरनोबिल परमाणु ऊर्जा संयंत्र में विस्फोट हो गया था।

अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस: 25 अप्रैल

हर साल 25 अप्रैल को विश्व स्तर पर International Delegate’s Day यानि अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस मनाया जाता है। यह दिवस संयुक्त राष्ट्र में सदस्य राष्ट्रों के प्रतिनिधियों की भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस सैन फ्रांसिस्को सम्मेलन के पहले दिन की वर्षगांठ को चिह्नित करता है जिसे अंतर्राष्ट्रीय संगठन पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन के रूप में भी जाना जाता है। सैन फ्रांसिस्को में 25 अप्रैल 1945 को पहली बार 50 देशों के प्रतिनिधि इकठ्ठा हुए थे। यह सम्मेलन द्वितीय विश्व युद्ध की तबाही के बाद आयोजित किया गया था। जिसका उद्देश्य प्रतिनिधियों द्वारा एक संगठन स्थापित करना था, जो विश्व में शांति बहाल करे और युद्ध के बाद के विश्व व्यवस्था पर नियम निर्धारित करे। संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) ने 2 अप्रैल 2019 को, दुनिया भर में 25 अप्रैल को अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधि दिवस के रूप में मनाए जाने के लिए घोषित किया था।

भारतीय परमाणु वैज्ञानिक कृष्‍णमूर्ति संथानम का निधन

वर्ष 1998 के पोखरण परमाणु परीक्षणों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले भारतीय परमाणु वैज्ञानिक कृष्णमूर्ति संतानम का निधन। वह रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO), परमाणु ऊर्जा विभाग (DAE) और रक्षा अध्ययन और विश्लेषण संस्थान (IDSA) के साथ बहुत लंबे समय से जुड़े थे। संतानम पोखरण- II के परीक्षणों के दौरान रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के क्षेत्र निदेशक थे। उन्हें 1999 में भारत सरकार द्वारा तीसरे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

सुप्रीम कोर्ट के जज एमएम शांतानागौदर का निधन

सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस मोहन एम शांतनागौदर (Mohan M Shantanagoudar) का निधन। जस्टिस शांतनागौदर को 17 फरवरी, 2017 को सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत किया गया था। उनका कार्यकाल 5 मई 2023 तक का था। शांतनागौदर का जन्म 5 मई 1958 को कर्नाटक में हुआ था और उन्होंने 5 सितंबर, 1980 को एक वकील के रूप में प्रैक्टिस शुरू की थी। उन्हें 12 मई, 2003 को कर्नाटक उच्च न्यायालय के अतिरिक्त न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किया गया और सितंबर 2004 में वे अदालत में स्थायी न्यायाधीश बन गए। बाद में, न्यायमूर्ति शांतनगौदर को केरल उच्च न्यायालय में स्थानांतरित कर दिया गया, जहाँ उन्होंने 1 अगस्त, 2016 को कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्यभार संभाला। वह सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत होने से पहले 22 सितंबर, 2016 को केरल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश बने थे।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.