Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

30 April 2021

शांडलर गुड गवर्नेंस इंडेक्स में भारत को 49वां स्थान, फ़िनलैंड सबसे ऊपर

शांडलर गुड गवर्नेंस इंडेक्स (Chandler Good Governance Index) हाल ही में शांडलर इंस्टीट्यूट ऑफ गवर्नेंस (Chandler Institute of Governance) द्वारा जारी किया जाता है, इसका मुख्यालय सिंगापुर में है। यह सूचकांक सात स्तंभों के आधार पर तैयार किया जाता है, जैसे नेतृत्व और दूरदर्शिता, मजबूत संस्थान, मजबूत कानून और नीतियां, आकर्षक बाजार, वित्तीय उद्यमशीलता, लोगों के उत्थान में मदद, वैश्विक प्रभाव और प्रतिष्ठा। शांडलर गुड गवर्नेंस इंडेक्स में भारत 104 देशों की सूची में 49वां स्थान हासिल किया है। इस सूचकांक में फ़िनलैंड सबसे ऊपर है, इसके बाद स्विट्जरलैंड, सिंगापुर, नीदरलैंड, डेनमार्क और नॉर्वे का स्थान है। इस सूचकांक में पाकिस्तान 90वें स्थान पर है, श्रीलंका 74वें और नेपाल 92वें स्थान पर है।

टी.वी. सोमनाथान बने नए वित्त सचिव

व्यय सचिव टी.वी. सोमनाथन (T.V. Somanathan) को हाल ही में मंत्रिमंडल की नियुक्ति समिति द्वारा वित्त सचिव के रूप में नामित किया गया था। वर्तमान में वह वित्त मंत्रालय में सभी सचिवों में सबसे वरिष्ठ अधिकारी हैं। वे 1987 बैच के भारतीय प्रशासनिक सेवा के तमिलनाडु कैडर के अधिकारी हैं।तुहिन कांत पांडे (Tuhin Kanta Pandey), निवेश सार्वजनिक संपत्ति प्रबंधन विभाग (DIPAM) के वर्तमान सचिव हैं। अजय सेठ आर्थिक मामलों के विभाग के वर्तमान सचिव हैं।

भारत है विश्व का तीसरा सबसे अधिक सैन्य खर्च वाला देश : SIPRI रिपोर्ट

स्टॉकहोम इंटरनेशनल पीस रिसर्च इंस्टीट्यूट (Stockholm International Peace Research Institute – SIPRI) ने हाल ही में अपनी “Trends in world Military Expenditure” रिपोर्ट जारी की है। इस रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया में शीर्ष सैन्य खर्च करने वाले देश अमेरिका, चीन और भारत हैं। इन तीन देशों ने अकेले 62% वैश्विक सैन्य खर्च में योगदान दिया। 2020 में, अमेरिका ने अपनी सेना पर 778 बिलियन अमरीकी डालर खर्च किए। जबकि चीन और भारत ने क्रमशः 252 बिलियन अमरीकी डालर और 72 .9 बिलियन अमरीकी डालर खर्च किए।भारत का सैन्य व्यय 1% बढ़ा है और चीन का 1.9% बढ़ा है। अमेरिका का सैन्य व्यय 4.4% बढ़ा है।वैश्विक रूप से, 2019 की तुलना में सैन्य व्यय बढ़कर 1981 बिलियन अमरीकी डालर हो गया है। यह 2.6% की वृद्धि है।दूसरी ओर, अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष के अनुसार वैश्विक सकल घरेलू उत्पाद में 4.4% की कमी आई है।

PESB ने अमित बनर्जी नियुक्त किया BEML का नया सीएमडी

सार्वजनिक उपक्रम चयन बोर्ड (Public Enterprise Selection Board) ने अमित बनर्जी को एक भारतीय सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम भारत अर्थ मूवर्स लिमिटेड, (BEML) का अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (CMD) चुना हैं। PESB ने यह घोषणा 26 अप्रैल, 2021 को आयोजित बैठक में की। वर्तमान में, वह निदेशक (रेल और मेट्रो), BEML लिमिटेड के रूप में सेवारत हैं। BEML में तीन दशक से अधिक के अपने व्यावसायिक करियर में, श्री बनर्जी ने R & D और विनिर्माण कार्यों में काम किया है। उनके अनुभव में विभिन्न उत्पादों जैसे एसएसईएमयू, मेट्रो कार, कैटेनरी मेंटेनेंस व्हीकल आदि का डिजाइन और विकास शामिल है।

अरुण रस्ते होंगे NCDEX के नए एमडी और सीईओ

बाजार नियामक भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) ने अरुण रस्ते को 5 वर्ष की अवधि के लिए राष्ट्रीय कमोडिटी एंड डेरिवेटिव्स एक्सचेंज लिमिटेड (NCDEX) के एमडी और सीईओ के रूप में नियुक्ति की मंजूरी दे दी है। रस्ते वर्तमान में एक कार्यकारी निदेशक के रूप में राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) से जुड़े हुए है और एनडीडीबी से पहले उसने आईडीएफसी फर्स्ट बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, नाबार्ड, एसीसी सीमेंट और एक गैर-लाभकारी संस्था एनजीआरटीएफ जैसे संगठनों के साथ काम किया है।

चीन ने तियानहे अंतरिक्ष स्टेशन कोर मॉड्यूल लॉन्च किया

चीन ने अपने स्पेस स्टेशन का मुख्य मॉड्यूल लॉन्च किया। यह अंतरिक्ष में एक स्थायी मानव उपस्थिति स्थापित करने की देश की महत्वाकांक्षी योजना में एक महत्वपूर्ण कदम है। जो मॉड्यूल लॉन्च किया गया था, उसे तियानहे (Tianhe) कहा जाता है। चीन जो स्पेस स्टेशन बना रहा है उसे तियानगॉन्ग (Tiangong) कहा जाता है। तियानगॉन्ग का अर्थ है “स्वर्गीय अंतरिक्ष”। यह 2022 में अपना काम शुरू करेगा। अभी भी 11 और मॉड्यूल लॉन्च किए जाने हैं और अंतरिक्ष स्टेशन को पूरा करने के लिए इन्हें एसेम्बल किया जायेगा। चीनी सरकार के अनुसार, पूरा अंतरिक्ष स्टेशन “मीर स्टेशन” (Mir Station) जैसा दिखेगा। मीर एक रूसी अंतरिक्ष स्टेशन था जो 1980 और 2001 के बीच कार्य करता था। चीनी अंतरिक्ष स्टेशन तियानगॉन्ग 400 से 450 किलोमीटर की ऊँचाई पर पृथ्वी की निचली कक्षा में परिक्रमा करेगा। इस अंतरिक्ष स्टेशन का जीवनकाल 15 वर्ष है। इसका वजन 90 टन से अधिक है। तियानगॉन्ग स्पेस स्टेशन का आकार अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के आकार का एक चौथाई होगा।

असम में छह दशमलव चार तीव्रता का भूकम्‍प

असम में छह दशमलव चार तीव्रता का भूकम्‍प का झटका महसूस किया गया। इसका केन्‍द्र सोनितपुर में था। राज्‍य में किसी भी बडे नुकसान की खबर नहीं है। कुछ लोग घायल हुए हैं। कई अपार्टमेंट, होटलों और इमारतों में दरारे आई हैं। कुछ स्‍थानों पर बिजली और गैस आपूर्ति प्रभावित हुई।

केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जी-7 डिजिटल और प्रौद्योगिकी मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व किया

केन्‍द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने जी-7 डिजिटल और प्रौद्योगिकी मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्‍व किया। उन्‍होंने डिजिटल इंडिया कार्यक्रम के तहत टेक्‍नोलॉजी के उपयोग से डिजिटल समावेशन और आम लोगों के सशक्तिकरण की दिशा में भारत के प्रयासों के बारे में बताया। श्री रविशंकर प्रसाद ने उपयोगकर्ताओं की डाडा निजता की सुरक्षा और सुरक्षित साइबर स्‍पेस बनाने के बारे में चर्चा की।

राष्ट्रीय महिला आयोग ने गर्भवती महिलाओं के लिए एक व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर शुरू किया

राष्ट्रीय महिला आयोग ने गर्भवती महिलाओं को आपात स्थिति में चिकित्सा सहायता प्रदान करने के लिए एक व्हाट्सएप हेल्पलाइन नंबर शुरू किया है। इसका नम्बर है- 9 3 5 4 9 5 4 2 2 4 राष्ट्रीय महिला आयोग ने यह कदम गर्भवती महिलाओं को चिकित्सा सहायता प्राप्त करने में आ रही कठिनाईयों को देखते हुए उठाया है। देश भर में चौबीसों घन्टे काम करने वाले इस नम्बर का इस्तेमाल करके गर्भवती महिलाएं आयोग तक पहुंच बना सकती हैं । आयोग में एक समर्पित टीम शिकायतों को जल्दी निबटाने के लिए दिन रात काम कर रही है। इसके साथ ही, आयोग से ईमेल helpatncw@gmail.com पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।

झुम्पा लाहिड़ी ने लॉन्च किया “Whereabouts” टाइटल अपना नया उपन्यास

प्रसिद्ध अमेरिकी लेखक झुम्पा लाहिड़ी ने “Whereabouts” शीर्षक अपना नया उपन्यास लॉन्च किया है। यह पुस्तक इतालवी उपन्यास ‘Ias Dove Mi Trovo’ का अंग्रेजी अनुवाद है, जिसे लेखक झुम्पा लाहिड़ी ने स्वयं लिखा था और 2018 में प्रकाशित किया था। लेखक ने खुद इस उपन्यास का अंग्रेजी में अनुवाद किया गया है। यह किताब 45 साल से अधिक की एक बेनाम महिला नायक के बारे में है, क्योंकि वह अपने जीवन, गौरव, पिछले और भविष की ज़िंदगी, रिश्तों और रिश्तों के बोझ को संक्षिप्त रूप में देखती है।

मारुति सुजुकी, चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन उपलब्‍ध कराने के लिए अपनी निर्माण इकाइयां बंद करेगी

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कम्‍पनी मारुति सुजुकी, चिकित्‍सा ऑक्‍सीजन उपलब्‍ध कराने के लिए हरियाणा में अपनी निर्माण इकाइयां बंद करेगी। मारुति सुजुकी ने बताया कि गुजरात में निर्माण इकाई बंद करने का भी फैसला किया गया है। कम्‍पनी ने अपनी वार्षिक रखरखाव के लिए बंदी एक मई तक बढ़ा दी है और कहा है कि वह लोगों का जीवन बचाने के लिए ऑक्‍सीजन उपलब्‍ध कराने में सरकार की मदद के लिए प्रतिबद्ध है। सुजुकी मोटर गुजरात ने भी अपनी फैक्‍टरी के लिए ऐसा ही निर्णय लिया है।

डीआरडीओ ने हवा से हवामें मार करने वाली मिसाइल पाइथन-5 का पहला परीक्षण किया

भारत के स्वदेशी लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट तेजस ने 27 अप्रैल, 2021 को सफल परीक्षणों के बाद 5वीं पीढ़ी की पाइथन-5 एयर-टू-एयर मिसाइल (एएएम) को हवा से हवा (एयर-टू-एयर) में मार कर सकने वाले हथियारों के अपने बेड़े में शामिल कर लिया। इन परीक्षणों का उद्देश्य तेजस में पहले से ही समन्वित डर्बी बियॉन्ड विजुअल रेंज (बीवीआर) एयर-टू-एयर मिसाइल (एएएम) की बढ़ी हुई क्षमता का आकलन करना भी था। गोवा में किये गये इस निशानेबाजी परीक्षण (टेस्ट फायरिंग) ने बेहद चुनौतीपूर्ण परिदृश्यों में इस मिसाइल के प्रदर्शन को सत्यापित करने के लिए उससे जुड़ी परीक्षणों की एक श्रृंखला को अंजाम दिया। पायथन 5 (Python 5) पांचवीं पीढ़ी की पायथन मिसाइल है। यह इजरायल के हथियार निर्माता राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम द्वारा निर्मित हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल है। इजरायल सरकार ने “शफीर” के नाम से मिसाइलों का निर्माण शुरू किया। बाद में जब उसने मिसाइलों का निर्यात शुरू किया तो उसने एक पश्चिमी नाम “पायथन” या “डर्बी” का चयन किया।वर्तमान में इज़राइल की सूची में पायथन-5 सबसे अधिक सक्षम हवा से हवा में मिसाइल है। पायथन की तरह ही, डर्बी को भी इज़राइल के राफेल ने बनाया था। वास्तव में, पायथन 5 डर्बी का एक उन्नत संस्करण है।यह भी एक बियॉन्ड विजुअल रेंज मिसाइल है।

वैश्विक राहत सामग्री की तुरंत क्लीयरेंस के लिए अंतर-मंत्रालयी समूह स्थापित किया गया

भारत सरकार ने विदेशों से राहत सामग्री की तत्काल निकासी के लिए प्रक्रियाओं की स्थापना के लिए एक उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समूह का गठन किया है। चूंकि भारत में COVID-19 मामलों की संख्या काफी हद तक बढ़ने लगी है, कई देश जैसे यूके, अमेरिका, फ्रांस जर्मनी, आयरलैंड, कुवैत वेंटिलेटर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर्स, श्वसन सामग्री जैसे आवश्यक सामान भेज रहे हैं। उच्च स्तरीय अंतर-मंत्रालयी समूह यह सुनिश्चित करेगा कि इन सामग्रियों को देश के विभिन्न हिस्सों में स्थित प्राप्तकर्ता संस्थानों को तुरंत भेजा जाये।

ऑक्सफ़ोर्ड इकोनॉमिक्स ने भारत के FY22 जीडीपी ग्रोथ पूर्वानुमान को घटाकर किया 10.2%

ग्लोबल फोरकास्टिंग फर्म ऑक्सफोर्ड इकोनॉमिक्स ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए जारी किए भारत के जीडीपी वृद्धि दर पूर्वानुमान में कटौती कर 10.2 प्रतिशत रहने की संभावना जताई है। इससे पहले इसने भारत की जीडीपी में 11.8 फीसदी की वृद्धि की भविष्यवाणी की थी। यह कटौती देश के गंभीर स्वास्थ्य हालत, टीकाकरण दर में कमी और महामारी को रोकने के लिए किसी ठोस सरकारी रणनीति के अभाव के चलते की गई है।

IIT मद्रास में भारत का पहला 3D प्रिंटेड घर बनाया गया

केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने IIT मद्रास में पहले 3D प्रिंटेड घर का उद्घाटन किया। इस घर का निर्माण स्वदेशी 3D प्रिंटिंग तकनीक का उपयोग करके किया गया है।इसे सिर्फ पांच दिनों में बनाया गया था।इसे TVASTA Manufacturing solutions द्वारा पूर्व IIT-M के छात्रों के कांसेप्ट पर बनाया गया है। 3D प्रिंटिंग डिजिटल निर्देशों के माध्यम से तीन आयामी वस्तुओं को बनाने की एक प्रक्रिया है। इसे Additive manufacturing भी कहा जाता है। 3D प्रिंटिंग का वैश्विक बाजार 2024 तक 8 बिलियन अमरीकी डॉलर तक पहुंचने की उम्मीद है।

शिवालिक स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने शुरू किया अपना परिचालन

यूपी स्थित शिवालिक स्मॉल फाइनेंस बैंक लिमिटेड ने 26 अप्रैल, 2021 से एक स्मॉल फाइनेंस बैंक (SFB) के रूप में अपना परिचालन शुरू किया हैं। यह याद रखना चाहिए कि शिवालिक मर्केंटाइल को-ऑपरेटिव बैंक (SMCB) पहला ऐसा शहरी सहकारी बैंक (UCB) है, जिसने भारत में एक लघु वित्त बैंक (SFB) के रूप में कार्य करने के लिए RBI से लाइसेंस प्राप्त करना। बैंक ने भारतीय रिज़र्व बैंक के बैंकिंग विनियमन अधिनियम, 1949 की धारा 22 (1) के तहत भारत में लघु वित्त बैंक के व्यवसाय को चलाने के लिए लाइसेंस प्राप्त किया है। शिवालिक SFB का परिचालन क्षेत्र उत्तर प्रदेश, दिल्ली और मध्य प्रदेश और उत्तराखंड के कुछ हिस्सों में है।

एकीकृत सौर ड्रायर और पायरोलिसिस पायलट संयंत्र से स्मार्ट शहरों के शहरी जैविक कचरे को बायोचार और ऊर्जा में बदलने में मदद मिलेगी

चेन्नई में एक सोलर ड्रायर और पायरोलिसिस पायलट संयंत्र शीघ्र ही स्मार्ट शहरों के जैविक कचरे को बायोचार और ऊर्जा में बदलने के लिए एक अभिनव दृष्टिकोण प्रदान करेगा। सीएलआरआई के 74वें स्थापना दिवस के अवसर पर 23 अप्रैल 2011 को सीएसआईआर- केंद्रीय चमड़ा अनुसंधान संस्थान (सीएलआरआई), चेन्नई के निदेशक डॉ. के. जे श्रीराम ने एकीकृत सौर ड्रायर और पायरोलिसिस पायलट की आधारशिला रखी। यह पायलट इंडो-जर्मन परियोजना ‘पायरासोल’ का हिस्सा है, जिसका शुभारंभ स्मार्ट शहरों के शहरी जैविक कचरे को बायोचार और ऊर्जा में बदलने के लिए किया गया है। यह इंडो-जर्मन साइंस एंड टेक्नोलॉजी सेंटर द्वारा सीएसआईआर-सीएलआरआई को प्रदान किया गया था। यह परियोजना अंततः भारतीय स्मार्ट शहरों के फैब्रीस ऑर्गेनिक वेस्ट (एफओडब्ल्यू) और सीवेज स्लज (एसएस) के संयुक्त प्रसंस्करण के लिए प्रौद्योगिकी विकास के साथ-साथ ऊर्जा रिकवरी, कार्बन अनुक्रमीकरण और पर्यावरण सुधार से संबंधित अत्यधिक उपयोगी बायोचार और स्वच्छतापूर्ण व्यवस्था को बढ़ावा देगी।

आईआईटी बॉम्बे ने नाइट्रोजन जनरेटर को ऑक्सीजन जनरेटर में बदल कर ऑक्सीजन की कमी को हल करने का रास्ता सुझाया

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) बॉम्बे देश में कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए चिकित्सा ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के वास्ते एक रचनात्मक और सरल समाधान लेकर आया है। इस पायलट प्रोजेक्ट का सफलतापूर्वक परीक्षण कर लिया गया है। यह एक सरल तकनीकी पर निर्भर करता है। इसमें पीएसए (घुमाव के दबाव से सोखना) नाइट्रोजन इकाई को पीएसए ऑक्सीजन यूनिट में बदल दिया जाता है। आईआईटी बॉम्बे में किए गए प्रारंभिक परीक्षणों ने आशाजनक परिणाम दिये हैं। इसमें 3.5 एटीएम दबाव पर 93% - 96% शुद्धता की ऑक्सीजन का उत्पादन किया जा सकता है। यह ऑक्सीजन गैस मौजूदा अस्पतालों में कोविड से संबंधित जरूरतों को पूरा करने तथा भविष्य की कोविड-19 की विशिष्ट सुविधाओं के लिए ऑक्सीजन की निरंतर आपूर्ति करने में काम में ली जा सकती है। इस प्रायोगिक परियोजना में आईआईटी बंबई और टाटा कन्‍सटिंग इंजीनियरिंग एण्‍ड स्‍पैनटैक इंजीनियर्स मुंबई ने सहयोग किया है।

विद्युत् वाहन (EV) खरीद के लिए और सब्सिडी दी जानी चाहिए : नीति आयोग

नीति आयोग ने हाल ही में कहा कि भारत सरकार को FAME II योजना के तहत प्रदान की जा रही मौजूदा सब्सिडी के अलावा और उससे अधिक सब्सिडी इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद के लिए देनी चाहिए। साथ ही, इलेक्ट्रिक वाहन खरीद के लिए ली गई ऋण राशि पर ब्याज सबवेंशन प्रदान करने की सिफारिश की गयी है। ब्याज सबवेंशन और अतिरिक्त सब्सिडी के अलावा, नीति आयोग ने गैर-वित्तीय प्रोत्साहन बनाने की भी सिफारिश की है। इसमें वाणिज्यिक परिसरों में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए विशेष पार्किंग, विद्युत् वाहनों के लिए प्राथमिकता लेन शामिल हैं। नीति आयोग ने यह भी सिफारिश की है कि ग्रीन ज़ोन को उन शहरों के भीतर सीमांकित किया जाना चाहिए जो केवल इलेक्ट्रिक वाहनों की अनुमति देते हैं। नीति आयोग के अनुसार पारंपरिक ईंधन वाहनों पर भारी कर लगाया जाना चाहिए। ग्रीन कॉरिडोर बनाए जाने चाहिए जो केवल ई-बसों की अनुमति दें।विद्युत् वाहनों के चार्जिंग बुनियादी ढांचे पर निवेश करने के लिए एक राष्ट्रीय स्तर की नीति तैयार की जानी चाहिए।देश में वित्तीय संस्थानों को अपनी ऋण सुविधा को इलेक्ट्रिक मोबिलिटी क्षेत्र तक बढ़ाने के लिए प्रोत्साहित किया जाना चाहिए। चार्जिंग इन्फ्रा डेवलपर को भूमि के एक हिस्से को खुली सार्वजनिक सुविधाओं जैसे कि फूड ज़ोन, कैफेटेरिया आदि के लिए आवंटित करना चाहिए। इस तरह के प्रावधान मध्य प्रदेश ईवी पॉलिसी (Madhya Pradesh EV Policy) में शामिल किए गए हैं।

भारत में मछली के लिए पहला स्वदेशी टीका विकसित किया गया

चेन्नई में स्थित सेंट्रल इंस्टीट्यूट ऑफ ब्रैकिश एक्वाकल्चर (Central Institute of Brackish Aquaculture) ने वायरल नर्वस नेक्रोसिस (Viral Nervous Necrosis) के लिए एक स्वदेशी टीका विकसित किया है। इस वैक्सीन का नाम नोडावैक-आर (Nodavac-R) है। यह बीमारी बीटानोडैवायरस (Betanodavirus) के कारण होती है। यह ज्यादातर टेलीस्ट मछली (teleost fish) को प्रभावित करता है। 40 से अधिक प्रजातियां इस वायरस से प्रभावित हैं और उनमें से ज्यादातर समुद्री प्रजातियां हैं। यह वायरस निष्क्रिय प्रसार और संपर्क के माध्यम से प्रसारित होता है। यह बीमारी ज्यादातर किशोर या लार्वा में होती है।हालाँकि, यह वयस्कों को भी प्रभावित करती है।

दिल्ली में GNCTD संशोधन अधिनियम लागू हुआ

27 अप्रैल, 2021 को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार (संशोधन) विधेयक, 2021 (GNCTD (Amendment) को लागू हो गया है। यह दिल्ली सरकार के राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र अधिनियम, 1991 में संशोधन करता है, जो विधान सभा और दिल्ली सरकार के कामकाज के बारे में कुछ प्रावधान करता है। यह अधिनियम विधानसभा और उप-राज्यपाल की कुछ शक्तियों और जिम्मेदारियों में संशोधन करता है। इस अधिनियम के अनुसार, दिल्ली में “सरकार” का अर्थ है उपराज्यपाल (एलजी)। इस अधिनियम के अनुसार विधानसभा में कार्य प्रक्रिया और संचालन से संबंधित नियम लोकसभा में कार्य प्रक्रिया और आचरण के नियमों के अनुरूप होना चाहिए। इस अधिनियम के अनुसार मंत्री या मंत्रिपरिषद के निर्णयों पर कोई कार्यकारी कार्रवाई करने से पहले एलजी की राय प्राप्त की जानी चाहिए। 1991 का मौजूदा अधिनियम पुलिस और भूमि को छोड़कर विधान सभा को हर मामले में कानून बनाने की अनुमति देता है।संविधान के अनुच्छेद 239AA के तहत दिल्ली एक विधानसभा के साथ एक केंद्र शासित प्रदेश है।

युद्धाभ्यास वरुण- 2021 संपन्न

भारतीय और फ्रांसीसी नौसेना के बीच द्विपक्षीय अभ्यास 'वरुण-2021' का 19वां संस्करण दिनांक 27 अप्रैल 2021 को संपन्न हुआ। युद्धाभ्यास वरुण उच्च स्तर का संचालन कायम करने और दोनों नौसेनाओं के बीच समन्वय मजबूत करने में महत्वपूर्ण रहा है। अरब सागर में दिनांक 25 से 27 अप्रैल 2021 के बीच आयोजित इस अभ्यास में समुद्र में उच्च गति वाले नौसैनिक अभियानों का संचालन किया गया, जिसमें उन्नत वायु रक्षा और पनडुब्बी रोधी अभ्यास, क्रॉस डेक हेलीकॉप्टर लैंडिंग समेत तीव्र गति वाले फिक्स्ड एवं रोटरी विंग युद्धाभ्यास, सामरिक युद्धाभ्यास, सतह और हवाई हथियार विरोधी फायरिंग, अंडरवे रेपलेनिश्मेन्ट एवं अन्य समुद्री सुरक्षा अभियान शामिल हैं।

केन्‍द्रीय मंत्री गडकरी ने एक मोबाइल कोविड आरटीपीसीआर परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन किया

केन्‍द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में एक मोबाइल कोविड आरटीपीसीआर परीक्षण प्रयोगशाला का उद्घाटन किया। स्‍पाइस हेल्‍थ और नागपुर नगर निगम द्वारा संचालित इस प्रयोगशाला की क्षमता प्रतिदिन तीन हजार नमूनों की जांच की है। यह प्रयोगशाला 24 घंटे के अंदर रिपोर्ट उपलब्‍ध करा सकती है। इस प्रयोगशाला में 425 रुपये में नमूने की जांच की जायेगी। इस प्रयोगशाला से मोबाइल पर ही रोगी को उसकी रिपोर्ट मिल जायेगी। इसमें नागपुर के अलावा भंडारा, चन्‍द्रपुर और पूर्व विदर्भ में गढ़चिरौली जैसे जिलों से नमूनों की जांच भी की जायेगी।

भारत बायोटैक ने राज्‍यों के लिए कोवैक्‍सीन की कीमत 600 रुपए से घटाकर 400 रुपए की, कोविशील्‍ड की कीमत सौ रुपये कम करके तीन सौ रुपये की

भारत बायोटैक ने राज्‍य सरकारों के लिए कोवैक्‍सीन टीके की कीमत कम कर दी है। अब राज्‍य सरकारों को पहले घोषित प्रति डोज छह सौ रुपये की बजाय चार सौ रुपये देने होंगे। भारत बायोटैक ने कहा है कि यह फैसला सार्वजनिक स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था के सामने कई चुनौतियों को देखते हुए किया गया है। निजी अस्‍पतालों के लिए कोवैक्‍सीन की कीमत एक हजार दो सौ रुपये प्रति डोज होगी। निर्यात के लिए इसकी कीमत 15 से 20 डॉलर होगी। सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया ने राज्‍य सरकारों के लिए कोविशील्‍ड की कीमत सौ रुपये कम करके तीन सौ रुपये कर दी है। पहले यह चार सौ रुपये में मिलती थी। एक ट्वीट में सीरम के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी आदार पुनावाला ने कहा कि लोकहित को ध्‍यान में रखकर कीमत कम की गई है। इंस्‍टीट्यूट ने प्राइवेट अस्‍पतालों के लिए इसकी कीमत छह सौ रुपये तय की है।

तोकियो 2020 ओलिम्पिक खेलों के दौरान कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए कड़े उपायों की घोषणा

तोकियो 2020 ओलिम्पिक के आयोजनकर्ताओं ने खेलों के दौरान कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए कल कड़े उपायों की घोषणा की। इनमें खिलाडि़यो का रोजाना कोविड परीक्षण करने की योजना भी शामिल है। ओलिम्पिक खेल शुरू होने में मात्र तीन महीने का समय बचा है और जापान में टीकाकरण अभियान धीमी गति से चल रहा है। इस वजह से खेलों के आयोजन के बारे में चिंताए उठनी शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा को लोगों के नाराज़गी का सामना करना पड़ रहा है। श्री सुगा ने ओलिम्पिक समय पर आयोजित करने का संकल्‍प दोहराया है। विदेशी दर्शकों पर पहले ही रोक लगा दी गई है, जबकि घरेलू दर्शकों के बारे में फैसला जून में लिया जायेगा। जापान में ओलिम्पिक खेल 23 जुलाई से शुरू होने है।

अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस : 29 अप्रैल

अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस (International Dance Day) विश्व स्तर पर हर साल 29 अप्रैल को मनाया जाता है। यह दिन नृत्य के महत्व और प्रभुता को मनाता है और इस कला के रूप में कार्यक्रमों और त्योहारों के माध्यम से भागीदारी और शिक्षा को प्रोत्साहित करता है। 29 अप्रैल का दिन इसीलिए चुना गया क्योंकि इसमें जीन-जॉर्जेस नोवरे (1727-1810) की जयंती है, जिन्हें आधुनिक बैले के निर्माता के रूप में जाना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय नृत्य दिवस 2021 का विषय ‘नृत्य का उद्देश्य (Purpose of dance)’ है।

अपोलो 11 कमांड मॉड्यूल के पायलट माइकल कॉलिन्स का निधन

माइकल कॉलिन्स एक अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री थे। वह अपोलो 11 कमांड मॉड्यूल के पायलट थे। 20 जुलाई, 1969 को माइकल कॉलिन्स उस समय अन्तरिक्षयान में थे जब बज़ एल्ड्रिन (Buzz Aldrin) और नील आर्मस्ट्रांग (Neil Armstrong) चांद पर चलने वाले पहले इंसान बने थे। हाल ही में 90 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। माइकल को अक्सर अपोलो मिशन (Apollo mission) में भूले गए तीसरे अंतरिक्ष यात्री के रूप में संबोधित किया जाता है। वह अपने सहयोगियों के लौटने तक 21 घंटे तक कमांड मॉड्यूल में अकेले रहे। 21 घंटे तक अकेले रहने का सबसे खराब हिस्सा यह है कि उन्होंने ह्यूस्टन के साथ संपर्क खो दिया था जब उनके अंतरिक्ष यान ने चंद्रमा के अंधेरे पक्ष की परिक्रमा की। चंद्रमा का केवल एक पक्ष ही लगातार पृथ्वी पर दिखाई देता है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि चंद्रमा की घूर्णन और परिक्रमा की अवधि बराबर है। माइकल द्वारा लिखित आत्मकथा “Carrying the Fire” थी। उनका जन्म 31 अक्टूबर 1930 को रोम में हुआ था। वह एक अमेरिकी सेना के एक मेजर के पुत्र थे।उन्होंने एयरफोर्स टेस्ट पायलट के रूप में अपना करियर शुरू किया।उनका पहला मिशन जेमिनी एक्स (Gemini X) था। जेमिनी एक्स उस मिशन का एक हिस्सा था जिसने अपोलो प्रोग्राम तैयार किया था। उनका अगला और अंतिम अंतरिक्ष मिशन अपोलो 11 था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.