Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

12 May 2021

RBI ने जोस जे कट्टूर को कार्यकारी निदेशक नियुक्त किया

भारतीय रिजर्व बैंक ने जोस जे कट्टूर (Jose J Kattoor) को कार्यकारी निदेशक (ED) के रूप में नियुक्त किया है। ED के रूप में पदोन्नत होने से पहले, श्री कट्टूर कर्नाटक के क्षेत्रीय निदेशक के रूप में रिजर्व बैंक के बेंगलुरु क्षेत्रीय कार्यालय के अध्यक्ष थे। वह मानव संसाधन प्रबंधन विभाग, कॉर्पोरेट रणनीति और बजट विभाग तथा राजभाषा विभाग संभालेंगे। श्री कट्टूर ने तीन दशकों में, संचार, मानव संसाधन प्रबंधन, वित्तीय समावेशन, पर्यवेक्षण, मुद्रा प्रबंधन और रिज़र्व बैंक के अन्य क्षेत्रों में कार्य किया है। उन्होंने इंस्टीट्यूट ऑफ रूरल मैनेजमेंट, आनंद से स्नातकोत्तर, गुजरात विश्वविद्यालय से कानून स्नातक, और व्हार्टन स्कूल ऑफ बिजनेस, पेंसिल्वेनिया से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम (AMP) किया, इसके अलावा भारतीय बैंकिंग और वित्त प्रमाणित एसोसिएट संस्थान (CAIIB) से पेशेवर योग्यता प्राप्त की हैं।

पूर्व सीनेटर बिल नेल्सन ने 14 वें नासा प्रशासक के रूप में शपथ ली

पूर्व सीनेटर बिल नेल्सन (Bill Nelson) ने एजेंसी के लिए बिडेन-हैरिस प्रशासन के दृष्टिकोण को पूरा करने के लिए नासा के 14 वें प्रशासक के रूप में शपथ ग्रहण की। ​नेल्सन ने फ्लोरिडा से 18 साल तक अमेरिकी सीनेट और 1986 में अंतरिक्ष शटल मिशन 61-C पर पेलोड विशेषज्ञ के रूप में कार्य किया। नेल्सन ने चार दशकों में सार्वजनिक कार्यालय में, पहले राज्य विधानमंडल में और अमेरिकी कांग्रेस, फिर राज्य कोषाध्यक्ष के रूप में काम किया है। वह संयुक्त राज्य अमेरिका के सीनेट के लिए तीन बार चुने गए, और 18 साल से फ्लोरिडा का प्रतिनिधित्व किया। उनकी समितियों में रक्षा, खुफिया और विदेश नीति से लेकर वित्त वाणिज्य, और स्वास्थ्य देखभाल तक सरकार की नीति शामिल थी।

सरकार ने 5-जी तकनीक के कारण कोविड महामारी फैलने की अफवाहों का खंडन किया

सरकार ने स्‍पष्‍ट किया है कि दूरसंचार नेटवर्क की 5G तकनीक का कोविड महामारी फैलने से कोई संबंध नहीं है। कई सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भ्रामक संदेश प्रसारित किए जा रहे हैं कि 5 जी मोबाइल टावरों के परीक्षण से कोरोनावायरस की दूसरी लहर आई है। संचार मंत्रालय ने कहा कि यह तथ्य गलत है और इसमें बिल्कुल भी सच्चाई नहीं है। मंत्रालय ने कहा कि 5G तकनीक को कोविड महामारी से जोड़ने के दावे फर्ज़ी हैं और इसका कोई वैज्ञानिक आधार नहीं है। 5G नेटवर्क का परीक्षण भारत में अभी कहीं भी शुरू नहीं हुआ है और 5G परीक्षण या नेटवर्क से भारत में कोरोना वायरस फैलने का दावा बेबुनियाद और गलत है।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ब्रिटेन में आयोजित जी-7 शिखर सम्‍मेलन में व्‍यक्तिगत रूप से शामिल नहीं होंगे

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ब्रिटेन के कॉर्नवाल में आयोजित जी-7 शिखर सम्‍मेलन में व्‍यक्तिगत रूप से शामिल नहीं होंगे। कोविड की स्थिति को देखते हुए यह फैसला किया गया है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने श्री मोदी को विशेष अतिथि के रूप में शिखर सम्‍मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया था।

त्रिपुरा ने श्री अरबिंदो सोसाइटी का ऑरो छात्रवृत्ति कार्यक्रम का शुभारंभ किया

त्रिपुरा के शिक्षा मंत्री, रतन लाल नाथ (Ratan Lal Nath) ने राज्य के सभी छात्रों के लिए श्री अरबिंदो सोसाइटी के 'ऑरो छात्रवृत्ति कार्यक्रम (Auro Scholarship Programme)’ की शुरुआत की। ऑरो स्कॉलरशिप प्रोग्राम छात्रों को मासिक सूक्ष्म छात्रवृत्ति प्रदान करता है, ताकि वे 10-मिनट के पाठ्यक्रम-संरेखित क्विज़ में बेंचमार्क प्रदर्शन प्राप्त करने के लिए बेहतर शिक्षण परिणामों को प्राप्त करने के लिए उन्हें प्रेरित कर सकें।

सीआरटी कोविड के बीच मनोबल बढ़ाने के लिए पांच दिन की श्रृंखला आयोजित करेगा

कोविड महामारी के दौरान सबसे बड़ी चुनौती सकारात्मक बने रहना है। इस चुनौतीपूर्ण समय में लोगों का मनोबल बढ़ाने के लिए प्रबुद्ध वर्ग की एक पहल कोविड रिस्पांस टीम- सीआरटी, पांच दिन की व्याख्यान श्रृंखला आयोजित कर रही है। 'पॉज़िटिविटी अनलिमिटेड: हम जीतेंगे' शीर्षक वाली इस पहल का उद्देश्य समाज में सकारात्मक सोच को बढ़ावा देना है। व्याख्यान श्रृंखला का प्रसारण चार सौ मीडिया प्लेटफार्मों पर प्रतिदिन शाम साढे चार बजे से 5 बजे तक किया जाएगा। इसका समापन शनिवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के संघचालक डॉक्टर मोहन भागवत के संबोधन से होगा। इस व्याख्यानमाला के दौरान सद्गुरु जग्गी वासुदेव, श्री श्री रविशंकर, विप्रो के अध्यक्ष अजीम प्रेमजी, शंकराचार्य विजयेंद्र सरस्वती, सोनल मानसिंह, आचार्य विद्यासागर, निर्मल पंचायती अखाड़े के महंत ज्ञानदेव सिंह लोगों को संबोधित करेंगे। कोविड रिस्पांस टीम के संयोजक, सेवानिवृत्त लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने कहा है कि इस अनूठी पहल के पीछे महत्वपूर्ण विचार समाज में आत्मविश्वास बढ़ाना और डर, निराशा तथा नकारात्मकता को दूर कर लोगों को प्रेरित करना है।

उज्ज्वला सिंघानिया बनीं FICCI FLO की नयी राष्ट्रीय अध्यक्ष

उज्ज्वला सिंघानिया (Ujjwala Singhania) को FICCI लेडीज ऑर्गेनाइजेशन (FLO) की राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया है, जो दक्षिण-पूर्व एशिया की सबसे पुरानी महिला-नेतृत्व वाली और महिला-केंद्रित बिजनेस चैंबर है। FLO सिंघानिया के 38 वें राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में महिलाओं को उद्यमिता, उद्योग की भागीदारी और आर्थिक विकास को बढ़ावा देने वाले एक सक्षम वातावरण की सुविधा देकर महिलाओं को सशक्त बनाने पर ध्यान केंद्रित किया जाएगा। उनके नेतृत्व में, FLO भारत की औद्योगिक और आर्थिक विकास की कहानी में महिलाओं के बड़े योगदान को बढ़ावा देने की दिशा में कई व्यवधान करेगी। FLO की स्थापना 1983 में हुई थी। इसकी स्थापना फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (FICCI) के एक विभाग के रूप में की गई थी।

राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी के लिए चुने गए भारतीय मूल के विशेषज्ञ शंकर घोष

भारतीय मूल के एक इम्यूनोलॉजिस्ट, शंकर घोष (Sankar Ghosh) को उनके मूल शोध में उनकी "प्रतिष्ठित और निरंतर उपलब्धियों" की मान्यता के लिए प्रतिष्ठित राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी (National Academy of Sciences) के लिए चुना गया है। वह अकादमी द्वारा घोषित 120 नवनिर्वाचित सदस्यों में से थे। राष्ट्रीय विज्ञान अकादमी एक निजी, गैर-लाभकारी संस्थान है, जिसे 1863 में राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन (Abraham Lincoln) द्वारा हस्ताक्षरित एक कांग्रेसनल चार्टर के तहत स्थापित किया गया था।

इसरो बनाएगा 3 लागत प्रभावी वेंटिलेटर, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के विक्रम साराभाई अंतरिक्ष केंद्र (VSSC) ने तीन अलग-अलग प्रकार के वेंटिलेटर और एक ऑक्सीजन कॉन्सेंटरेटर का विकास उस समय किया है जब इस महत्वपूर्ण चिकित्सा उपकरण की कमी के कारण देश भर में कई कोविड -19 रोगियों की मृत्यु हो गई थी। डिजाइन, विशेषताओं और विशिष्टताओं के आधार पर, उन्हें नाम दिया है, प्राण, वायु और स्वस्थ (Prana, VaU and Svasta)। सभी तीन उपयोगकर्ता के अनुकूल हैं, पूरी तरह से स्वचालित और टच-स्क्रीन विनिर्देशों के साथ, सभी सुरक्षा मानकों को पूरा करते हैं। इस महीने तक इन तीन वेंटिलेटरों और एक ऑक्सीजन कॉन्सेंटरेटर के व्यावसायिक उत्पादन के लिए प्रौद्योगिकी हस्तांतरण किया जाएगा। इसकी लगभग 1 लाख रुपये की कीमत होने की संभावना है, इसरो द्वारा विकसित वेंटिलेटर मिनी पारंपरिक वेंटिलेटर की तुलना में लागत प्रभावी और उपयोग में आसान थे, जो वर्तमान में लगभग 5 लाख रुपये हैं। प्राण एक अंबू बैग के स्वचालित संपीड़न द्वारा रोगी को श्वसन गैस पहुंचाएगा, स्वस्थ को बिजली के बिना काम करने के लिए डिज़ाइन किया गया है, और वायू व्यावसायिक रूप से उपलब्ध उच्च-अंत वेंटिलेटर के समान कम लागत वाला वेंटिलेटर है।

पुस्तक Arabic Oration - Art and Function के लिए शेख जायद बुक पुरस्कार जितने वाली पहली भारतीय बनी डॉ. ताहेरा कुतुबुद्दीन

मुंबई में जन्मी डॉ. ताहेरा कुतुबुद्दीन (Dr Tahera Qutbuddin), शिकागो विश्वविद्यालय में अरबी साहित्य के प्रोफेसर थे, हाल ही में 15 वां शेख जायद बुक पुरस्कार जीतने वाली भारतीय मूल की पहली व्यक्ति बनी। इस पुरस्कार को अरब जगत का नोबेल पुरस्कार माना जाता है। उन्होंने 2019 में लीडन के ब्रिल एकेडमिक पब्लिशर्स द्वारा प्रकाशित अपनी नवीनतम पुस्तक अरबी ओरेशन - आर्ट एंड फंक्शन (Arabic Oration - Art and Function) के लिए पुरस्कार जीता। पुस्तक में, वह सातवीं और आठवीं सदी की अपनी मौखिक अवधि में अरबी साहित्य का एक व्यापक सिद्धांत प्रस्तुत करती है। वह आधुनिक समय के उपदेशों और व्याख्यान पर इसके प्रभाव की चर्चा करती है।

7 साल बाद इजराइल पर बड़ा हमला:फिलिस्तीन ने रॉकेट दागे

यरुशलम स्थित अल-अक्सा मस्जिद में फिलिस्तीनियों और इजरायली सुरक्षा बलों के बीच झड़प ने अब हिंसक रूप ले लिया है। फिलिस्तीन के हमास (इजराइल इसे आतंकी संगठन मानता है) संगठन की तरफ से इजराइल की राजधानी तेल अवीव, एश्केलोन और होलोन शहर को निशाना बनाया गया। इन हमलों में 3 आम लोगों के मारे जाने की खबर थी। जवाब में इजराइली एयरफोर्स ने हमास की कब्जे वाली गाजा पट्टी पर हमला बोला। यहां 13 मंजिला बिल्डिंग को निशाना बनाया गया। इसके पहले, 2014 में इजराइल और हमास के बीच हिंसक संघर्ष हुआ था। 1967 के अरब-इजराइल युद्ध में जीत के बाद इजराइल यरूशलम डे, यानी उस जीत की वर्षगांठ मनाता रहा है। यरूशलम के शेख जर्राह इलाके को यहूदी और मुस्लिम दोनों ही पवित्र स्थल मानते हैं। यहां अल अक्सा मस्जिद के बाहर मौजूद फिलीस्तिनियों ने पवित्र दीवार के पास प्रार्थना कर रहे लोगों और उनकी सुरक्षा कर रहे जवानों पर पत्थरबाजी की। अल अक्सा मस्जिद पुराने यरूशलम में है। यहीं यहूदियों का टेम्पल माउंट भी है। यानी दोनों ही संप्रदाय इस जगह को अपना पवित्र धार्मिक स्थल मानते हैं और इस पर दावा करते हैं। इजराइल यरूशलम शहर के एक हिस्से को आधुनिक शहर के तौर पर तैयार कर रहा है। फिलिस्तीनियों को यह मंजूर नहीं। दुनिया के कई देश इजराइल से कंस्ट्रक्शन रोकने की मांग कर रहे हैं, लेकिन इजराइल का कहना है कि वो इसे जारी रखेगा क्योंकि यह उसका क्षेत्र है।

केलीफोर्निया के 58 में 41 प्रांतों में सूखा पड़ने की वजह से आपातकाल की घोषणा

केलीफोर्निया के गर्वनर गॉविन न्यूसम ने देश के 58 में 41 प्रांतों में सूखा पड़ने की वजह से आपातकाल की घोषणा की है। उन्होंने ऐसा अप्रैल और मई के महीने में औसत से अधिक तापमान बने रहने की वजह से किया है। गर्वनर ने राज्यों के जल बोर्डों को राज्यों में सिथत जलाशयों को और अधिक आधुनिक बनाने के निर्देश दिए हैं और जल संरक्षण के लिए अन्य उपाय करने को कहा है।

WHO कोविड के इलाज में आइवरमेक्टीन के इस्तेमाल के खिलाफ, गोवा में एक दिन पहले ही इसे मंजूरी मिली

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) ने कोविड मरीजों के इलाज के लिए आइवरमेक्टीन के इस्तेमाल पर चेतावनी दी है। स्वास्थ्य संगठन ने कहा कि किसी नए लक्षण के लिए किसी दवा के इस्तेमाल के दौरान सुरक्षा और उसका प्रभाव बेहद महत्वपूर्ण होता है। WHO ने कहा कि वह क्लिनिकल ट्रायल के अलावा आइवरमेक्टीन के जनरल इस्तेमाल के खिलाफ है। एक दिन पहले ही गोवा सरकार ने कोविड संक्रमण रोकने के लिए वयस्कों पर इस दवा के इस्तेमाल को मंजूरी दी है। WHO की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने आइवरमेक्टीन के इस्तेमाल को लेकर ट्वीट किया है। इससे पहले मार्च में WHO ने कहा था कि इस दवा से मौतें कम होने या अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत कम पड़ने के सबूत मिलने की संभावना काफी कम है। एक शोध का दावा है कि Ivermectin के निरंतर उपयोग से COVID-19 समाप्त हो जाता है। साथ ही, यह नियमित रूप से उपयोग किए जाने पर प्राणघातक सांस की बीमारी के अनुबंध के जोखिम को कम करती है। समीक्षा अमेरिकी सरकार के लिए काम कर रहे तीन वरिष्ठ वैज्ञानिकों द्वारा की गई थी। इसके पर विश्व स्वास्थ्य संगठन की मुख्य वैज्ञानिक सौम्या स्वामीनाथन ने कहा है कि डब्ल्यूएचओ Ivermectin के उपयोग के खिलाफ सिफारिश करता है।

आर्थिक मामले विभाग तथा न्यू डेवेलपमेंट बैंक संयुक्त रूप से ‘सामाजिक अवसंरचना वित्तपोषण और डिजिटल टेक्नोलॉजी का उपयोग’पर एक वर्चुअल सेमिनार का आयोजन करेंगे

भारत सरकार के वित मंत्रालय के आर्थिक मामले विभाग तथा न्यू डेवेलपमेंट बैंक (एनडीबी) भारतीय ब्रिक्स चेयरशिप, 2021 के तहत आर्थिक तथा वित्तीय सहयोग एजेडा के एक हिस्से के रूप में संयुक्त रूप से ‘सामाजिक अवसंरचना वित्तपोषण और डिजिटल टेक्नोलॉजी का उपयोग’पर 13 मई, 2021 को एक वर्चुअल सेमिनार का आयोजन करेंगे। इस सेमिनार में सार्वजनिक तथा निजी दोनों ही क्षेत्रों के उच्च स्तरीय प्रतिभागी शामिल होंगे तथा सामाजिक अवसंरचना वित्तपोषण और 21वीं सदी में डिजिटल टेक्नोलॉजी का उपयोग से संबंधित मुख्य मुद्दों पर फोकस करेंगे।

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने सरकारी बाल देखभाल संस्थाओं में बच्चों को विशेषज्ञों द्वारा देखभाल प्रदान करने के लिए इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स को साथ जोड़ा

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती स्मृति जुबिन ईरानी ने कहा है कि सरकारी बाल देखभाल संस्थाओं (सीसीआई) में रहने वाले बच्चों को विशेषज्ञों द्वारा देखभाल प्रदान करने की दृष्टि से देश भर में मंत्रालय ने इंडियन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स(भारतीय बाल रोग विशेषज्ञ) को साथ जोड़ा है। ट्वीट्स की एक श्रृंखला में उन्होंने बताया, "यह बाल संरक्षण सेवाओं के लिए योजना के तहत बच्चों को प्रदान की जाने वाली चिकित्सा देखभाल के अतिरिक्त होगा"। मंत्री ने ट्वीट में यह भी कहा कि "केयर-टेकर्स/ चाइल्ड प्रोटेक्शन ऑफिसर देश के दूरस्थ कोनों से भी बाल रोग विशेषज्ञों द्वारा इस टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ सप्ताह में 6 दिन ले सकेंगे। 2000 से अधिक सीसीआई के हजारों बच्चे इस सेवा के माध्यम से लाभान्वित होंगे"।

तालिबान ने अफगानिस्तान के दाहला बांध पर कब्ज़ा

हाल ही में तालिबान ने अफगानिस्तान के दूसरे सबसे बड़े बांध- दाहला बांध पर कब्ज़ा कर लिया है। दाहला बांध को अरघानदाब (Arghandab) बांध के रूप में भी जाना जाता है। यह अफगानिस्तान के कंधार प्रांत के शाह वली कोट ज़िले में स्थित है। इस बांध का निर्माण वर्ष 1952 में संयुक्त राज्य अमेरिका द्वारा किया गया था। यह बांध अरघानदाब नदी पर निर्मित है। अफगानिस्तान में भारत द्वारा काबुल नदी पर शहतूत बांध (Shahtoot Dam) के निर्माण हेतु एक समझौता किया गया है।

इंटरपोल ने ‘आईडी-आर्ट’ एप्लीकेशन लॉन्च की

अंतर्राष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन यानी इंटरपोल ने एक ‘आईडी-आर्ट’ नाम से एक मोबाइल फोन एप्लीकेशन (एप) लॉन्च की है, जो चोरी हुई सांस्कृतिक संपत्ति की पहचान करने, तस्करी को कम करने और चुराई हुई कलाकृतियों की पुनर्प्राप्ति की संभावना को बढ़ाने में मदद करेगा। इंटरपोल का यह एप उपयोगकर्त्ताओं को चोरी हुईं कलाकृतियों से संबंधित इंटरपोल के डेटाबेस तक पहुँच प्राप्त करने, निजी कला संग्रहों की एक सूची बनाने और उन सांस्कृतिक साइटों की रिपोर्ट करने, जिन पर संभावित जोखिम है आदि में सक्षम बनाता है। यह एप विभिन्न देशों की कानून प्रवर्तन एजेंसियों के साथ-साथ आम जनता द्वारा भी प्रयोग किया जा सकता है। ज्ञात हो कि हाल के कुछ वर्षों में ऐसी तमाम सशस्त्र संघर्ष और संगठित लूटपाट की घटनाएँ दर्ज की गई हैं, जिसके कारण विभिन्न देशों की सांस्कृतिक विरासतें गंभीर रूप से प्रभावित हो रही हैं। इस तरह यह नया एप पुलिस अधिकारियों, सांस्कृतिक विरासत पेशेवरों और आम जनमानस को सांस्कृतिक संरक्षण की दिशा में क्षमता बनाने हेतु एक महत्त्वपूर्ण कदम है। विरासत स्थलों की स्थिति के प्रलेखन के अलावा यह एप भौगोलिक स्थिति को रिकॉर्ड करने को भी सक्षम बनाता है। इस एप्लीकेशन के माध्यम से अब तक इटली और नीदरलैंड में कुल चार कलाकृतियों को बरामद किया गया है।

GST छूट से मूल्य वृद्धि : वित्त मंत्री

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से COVID दवाओं और ऑक्सीजन टैंक को करों से छूट देने का अनुरोध किया था। ओडिशा जैसे कई अन्य राज्य भी प्रमुख दवाओं पर कर में छूट की मांग कर रहे थे। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने हाल ही में कहा था कि टीकों पर वस्तु व सेवा कर (GST) की पूरी छूट से उनकी कीमतों में वृद्धि होगी। COVID-19 टीकों, दवाओं, ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर के लिए GST की दर 5% से 12% के बीच है। यह घरेलू आपूर्ति पर लागू है। अगर टीके को जीएसटी की पूरी छूट दी जाती है, तो निर्माता अपने इनपुट करों को ऑफसेट (प्रभाव को संतुलित) नहीं कर पाएंगे। वे अंत में उन्हें अंतिम उपभोक्ताओं तक पहुंचाएंगे। सरल शब्दों में: मान लीजिये कि एक टीका पांच घटकों या कच्चे माल से बना है। अब, ये कच्चे माल GST के अधीन हैं। निर्माता इन कच्चे माल को खरीदने में कर का भुगतान करता है। अब, यदि टीके की बिक्री पर जीएसटी में छूट दी जाती है, तो निर्माता अपने लाभ को बनाए रखने के लिए कीमत बढ़ाएगा। यह मूल्य वृद्धि अंतिम उपभोक्ता द्वारा भुगतान की गई कीमत में जोड़ी जाएगी।

शकूर राथेर ने लिखी पुस्तक 'लाइफ इन द क्लॉक टॉवर वैली'

"लाइफ इन द क्लॉक टॉवर वैली" प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (PTI) के पत्रकार शकूर राथेर (Shakoor Rather) की पहली पुस्तक है। यह पुस्तक स्पीकिंग टाइगर द्वारा प्रकाशित की गई है, इसमें कश्मीर के प्राचीन अतीत, इसके वर्तमान और हमेशा अनिश्चित भविष्य के बारे में बताया गया है। इसमें कश्मीर के बारे में ऐतिहासिक और राजनीतिक जानकारी के साथ-साथ पर्यावरणीय मुद्दे भी शामिल हैं जिनके बारे में शायद ही कभी बात की जाती है. घाटी में जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में बात करने के अलावा, लेखक ने यह भी विस्तार से वर्णित किया है कि अलग-अलग मौसमों में विभिन्न पात्र अपनी गलियों में कैसे पॉप अप करते हैं: “धान के खेतों पर मंडराते हुए बेजुबान पक्षियों को डराने के लिए गर्मियों के दौरान जीवन आकार बिजूका, और सेरेमोनियल स्नोमेन जिसे एक लम्बे इंतज़ार के बाद हुई बर्फबारी का जश्न मनाते हुए पड़ोस के बच्चे खुशी से बनाते हैं”।

SpaceX लॉन्च करेगा 'DOGE-1 मिशन टू मून'

SpaceX DOGE-1 नामक एक उपग्रह लॉन्च करेगा जो पूरी तरह से क्रिप्टोकरेंसी के द्वारा वित्त पोषित होगा। इससे पहले एलोन मस्क ने DOGE क्रिप्टो मुद्राओं के बारे में एक टीवी शो में उल्लेख किया था। DOGE-1 डॉगकॉइन (Dogecoin) के साथ भुगतान किया जाने वाला पहला वाणिज्यिक पेलोड है। उपग्रह का वजन 40 किलोग्राम है। इस उपग्रह को 2022 में लॉन्च किया जायेगा। DOGE-1 Geometric Energy corporation का पेलोड है। DOGE-1 को फाल्कन 9 में लॉन्च किया जायेगा। SpaceX के संस्थापक एलोन मस्क ने हाल ही में घोषणा की कि वे एस्परजर्स सिंड्रोम से प्रभावित हैं। एक टीवी शो में मस्क ने यह बात कही। मस्क ने शो में डॉगकॉइन क्रिप्टोकरेंसी के बारे में भी बताया। एस्परजर्स सिंड्रोम एक ऐसा विकार है जिसमे लोगों को सामाजिक रिश्तों में परेशानी होती है। एस्परजर्स सिंड्रोम का नाम जर्मन डॉक्टर हंस एस्परजर (Hans Asperger) के नाम पर रखा गया है जिन्होंने 1944 में पहली बार विकार के बारे में बताया था।

इंडोनेशिया के माउंट सिनाबंग में विस्फोट

हाल ही में इंडोनेशिया के सक्रीय ज्वालामुखी ‘माउंट सिनाबंग’ में विस्फोट हुआ है। यह ज्वालामुखी वर्ष 2010 में तब सक्रिय हुआ था, जब लगभग 400 वर्षों की निष्क्रियता के बाद इसमें पहली बार विस्फोट हुआ था। सिनाबंग ज्वालामुखी उत्तरी सुमात्रा प्रांत के कारो ज़िले में स्थित है। इसकी ऊँचाई 2,475 मीटर है। यह दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के प्रमुख जागृत ज्वालामुखियों में से एक है। जागृत ज्वालामुखी लंबा एवं शंक्वाकार होता है, जो कठोर लावा और टेफ्रा की पर्तों से मिलकर बना होता है। इंडोनेशिया में ऐसी ज्वालामुखी घटनाएँ काफी सामान्य हैं, क्योंकि यह देश प्रशांत महासागर के ‘रिंग ऑफ फायर’ पर स्थित है जहाँ पर विवर्तनिक प्लेटों के आपस में टकराने के फलस्वरूप भूकंपीय और ज्वालामुखी घटनाएँ अक्सर देखी जाती हैं। ‘रिंग ऑफ फायर’ में विश्व के लगभग 75 प्रतिशत ज्वालामुखी मौजूद हैं और लगभग 90 प्रतिशत भूकंप भी इसी क्षेत्र में दर्ज किये जाते हैं। ज्वालामुखी मूल रूप से तीन प्रकार के होते हैं - सक्रिय, निष्क्रिय या विलुप्त। एक विस्फोट तब होता है जब ‘मैग्मा’, जो कि पृथ्वी के मेंटल के पिघलने पर बनता है, पृथ्वी की सतह पर आ जाता है। सतह पर आ जानेके बाद इसे ‘लावा’ कहते हैं।

पेटीएम ने COVID-19 वैक्सीन फाइंडर टूल किया शुरू

फिनटेक प्रमुख पेटीएम ने 'COVID-19 वैक्सीन फाइंडर’ लॉन्च किया, जो नागरिकों को अपने मिनी ऐप स्टोर पर टीकाकरण स्लॉट की उपलब्धता की जांच करने में मदद करने के लिए एक प्लेटफ़ॉर्म है। यह प्लेटफ़ॉर्म नागरिकों को आयु समूह (18+ या 45+) के साथ अलग-अलग पिन कोड या जिले के विवरण व्यक्तिगत रूप से प्रवेश करके टीकाकरण स्लॉट की उपलब्धता की जांच करने में मदद करेगा। यदि निकट भविष्य के लिए स्लॉट संतृप्त हो जाते हैं, तो उपयोगकर्ता किसी भी स्लॉट के मुक्त होने के बाद पेटीएम से वास्तविक समय के अलर्ट के विकल्प का चयन कर सकते हैं। स्वचालित प्रक्रिया नए स्लॉट के लिए प्लेटफ़ॉर्म को बार-बार रिफ्रेश करने की परेशानी और प्रक्रिया को कम करती है। डेटा को CoWIN API से वास्तविक समय के आधार पर तैयार किया जाता है, जहां टीकाकरण करने के लिए एक स्लॉट बुक किया जा सकता है। नई सुविधा उपयोगकर्ताओं को अपने इलाके में COVID वैक्सीन स्लॉट खोजने में मदद करेगी और नए स्लॉट खुलने पर अलर्ट के लिए सेट है।

NITI आयोग और मास्टरकार्ड ने कनेक्टेड कॉमर्स पर रिपोर्ट जारी की

NITI आयोग ने एक रिपोर्ट जारी की है, जिसका शीर्षक है 'कनेक्टेड कॉमर्स: डिजिटली इनक्लूसिव भरत के लिए रोडमैप बनाना (Connected Commerce: Creating a Roadmap for a Digitally Inclusive Bharat)’। NITI आयोग ने मास्टरकार्ड के सहयोग से रिपोर्ट जारी की है। यह रिपोर्ट भारत में डिजिटल वित्तीय समावेशन को तेज करने में आने वाली विभिन्न चुनौतियों की पहचान करती है और इसके 1.3 बिलियन नागरिकों के लिए डिजिटल सेवाओं को सुलभ बनाने के लिए सिफारिशें भी प्रदान करती है। रिपोर्ट में NBFC और बैंकों के लिए कार्य क्षेत्र के स्तर को बढ़ावा देने के लिए भुगतान बुनियादी ढांचे को मजबूत करना शामिल है;MSME के विकास के अवसरों को सक्षम करने के लिए पंजीकरण और अनुपालन प्रक्रियाओं का डिजिटलीकरण और क्रेडिट स्रोतों में विविधता लाना;'फ्रॉड रिपॉजिटरी’ सहित सूचना-साझाकरण प्रणाली का निर्माण, और यह सुनिश्चित करना कि ऑनलाइन डिजिटल कॉमर्स प्लेटफॉर्म उपभोक्ताओं को धोखाधड़ी के जोखिम के प्रति सचेत करने के लिए चेतावनी देते हैं;कम लागत वाली पूंजी तक पहुँचने के लिए कृषि NBFC को सक्षम करना और बेहतर दीर्घकालिक डिजिटल परिणामों को प्राप्त करने के लिए एक 'भौतिक (भौतिक + डिजिटल) मॉडल' को तैनात करना। भूमि के रिकॉर्ड को डिजिटाइज़ करने से भी सेक्टर को एक बड़ा बढ़ावा मिलेगा और शहर को न्यूनतम भीड़ और कतारों के साथ सभी क्षेत्रों में आसानी से पहुँचा जा सकता है, मौजूदा स्मार्टफ़ोन और कॉन्टैक्टलेस कार्डों, और एक समावेशी, इंटरऑपरेबल, और पूरी तरह से खुले लक्ष्य जैसे कि लंदन 'ट्यूब' का लाभ उठाया जा सकता है।

CSC, HDFC बैंक ने लॉन्च किया चैटबॉट 'Eva'

HDFC बैंक और कॉमन सर्विसेज सेंटर (CSCs) ने ग्रामीण उपभोक्ताओं के लिए बैंकिंग सेवाएं प्रदान करने में ग्रामीण स्तर के उद्यमियों (VLE) का समर्थन करने के लिए CSC डिजिटल सेवा पोर्टल पर चैटबोट 'Eva’ लॉन्च किया। यह पहल इंडिया और भारत के बीच की खाई को पाट देगी। शहरी भारत को डिजिटल दुनिया के लिए सीखने और अनुकूल होने की जल्दी है। ग्रामीण भारत ने चुनौतियों का सामना किया है क्योंकि इसमें इंटरनेट की पैठ कम है। VLE, HDFC बैंक द्वारा पेश किए जाने वाले उत्पादों और सेवाओं के बारे में जानेंगे, जो अंतिम मील ग्राहकों के लिए सेवाओं में सुधार करेंगे और बैंकिंग सेवाओं को बढ़ाएंगे। 24x7 सेवा VLE को HDFC बैंक की सेवाओं के बारे में विभिन्न उत्पादों, प्रक्रियाओं और प्रश्नों के बारे में सटीक जानकारी प्राप्त करने की अनुमति देगी। VLE खाता खोलने, लोन लीड जनरेशन और उत्पाद विवरण के बारे में सीखकर अपने व्यवसाय में सुधार करेंगे।

बजाज फाइनेंस को प्रीपेड भुगतान व्यवसाय के लिए RBI की मंजूरी मिली

बजाज फाइनेंस (Bajaj Finance) भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की प्रीपेड भुगतान खंड में पेटीएम और अमेज़ॅन की पसंद में शामिल होने के लिए गैर-बैंक ऋणदाता को स्थायी वैधता के साथ मंजूरी मिल गई है। यह कदम बजाज फाइनेंस की एक विस्तृत रणनीति का हिस्सा है, जो अपने डिजिटल प्रस्तावों का विस्तार करने के लिए है। RBI ने कंपनी को स्थायी वैधता के साथ सेमी-क्लोज्ड प्रीपेड भुगतान उपकरण जारी करने और संचालन के लिए अधिकृत किया है। एक सेमी-क्लोज्ड PPI प्रभावी रूप से एक डिजिटल वॉलेट है, लेकिन एक जिसके माध्यम से लेन-देन वाले व्यापारियों और प्रतिष्ठानों को प्रवाहित किया जा सकता है, जो वॉलेट सेवाओं की पेशकश के इतर है। यह वॉलेट बजाज पे का एक हिस्सा बन जाएगा, जो सभी भुगतान समाधानों के लिए एक एकीकृत प्लेटफार्म प्रदान करने के लिए कंपनी की बिड है। सेमी-क्लोज्ड सिस्टम PPI आपको प्लेटफ़ॉर्म के माध्यम से कई व्यापारियों को भुगतान करने की अनुमति देता है। हालांकि, नकद निकासी सेवाएं अभी भी निषिद्ध हैं।

पाकिस्तान के बाबर आज़म ने जीता अप्रैल 2021 के लिए आईसीसी प्लेयर ऑफ़ द मंथ का खिताब

पाकिस्तानी कप्तान बाबर आज़म (Babar Azam) को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ हाल ही में समाप्त हुई श्रृंखला के सभी प्रारूपों में उनके लगातार और शानदार प्रदर्शन के लिए अप्रैल 2021 के लिए ICC मेंस प्लेयर ऑफ द मंथ का खिताब दिया गया है। ICC प्लेयर ऑफ़ द मंथ अवार्ड्स पूरे वर्ष अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों में पुरुष और महिला क्रिकेटरों के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन को पहचानते और सम्मानित करते हैं। बाबर के साथ, ऑस्ट्रेलियाई महिलाओं की टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज एलिसा हीली (Alyssa Healy) को भी अप्रैल माह के दौरान उनके अविश्वसनीय प्रदर्शन के लिए ICC वीमेन प्लेयर ऑफ़ द मंथ से सम्मानित किया गया। ऑस्ट्रेलिया के प्रभुत्व में बल्ले के साथ हीली की निरंतरता ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हीली ने न्यूजीलैंड के खिलाफ हालिया श्रृंखला में सभी तरह की स्थिति में और सभी प्रकार की गेंदबाजी के खिलाफ अपनी क्लास दिखाई है।

राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस : 11 मई

विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारतीयों की उपलब्धियों और योगदान को मान्यता देने के लिये प्रतिवर्ष 11 मई को राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस का आयोजन किया जाता है। 11 मई, 1998 को भारत ने ‘ऑपरेशन शक्ति’ के तहत राजस्थान में भारतीय सेना के पोखरण टेस्ट रेंज में तीन सफल परमाणु परीक्षण किये थे। यह मिशन भारतीय सेना द्वारा रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO), भाभा परमाणु अनुसंधान केंद्र (BARC), परमाणु खनिज निदेशालय अन्वेषण एवं अनुसंधान (AMDER) निदेशालय के वैज्ञानिकों के सहयोग से किया गया था। इन परीक्षणों का नेतृत्त्व दिवंगत राष्ट्रपति डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम द्वारा किया गया था। 11 मई, 1999 को पहली बार राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस मनाया गया था। इन परीक्षणों ने भारत को ‘थर्मोन्यूक्लियर हथियार’ और ‘परमाणु विखंडन बम’ बनाने में सक्षम बनाया था। इन परमाणु परीक्षणों के साथ-साथ आज ही के दिन (11 मई) भारत ने अपने पहले स्वदेशी विमान ‘हंसा-3’ का भी परीक्षण किया था, जिसे राष्ट्रीय एयरोस्पेस प्रयोगशाला द्वारा डिज़ाइन किया गया था और इसने कर्नाटक के बंंगलूरू में उड़ान भरी थी। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन (DRDO) ने भारत की सतह-से-हवा में मार करने वाली ‘त्रिशूल मिसाइल’ का भी सफलतापूर्वक परीक्षण करके इसे भारतीय सेना के बेड़े में शामिल किया था। राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी दिवस 2021 की थीम ‘सतत् भविष्य के लिये विज्ञान और प्रौद्योगिकी’ है।

Start Quiz!

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.