Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

20 May 2021

भारत का पहला ‘कृषि निर्यात सुविधा केंद्र’ लॉन्च

राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक’ (नाबार्ड) के सहयोग से ‘महराट्टा चैंबर ऑफ कॉमर्स इंडस्ट्रीज़ एंड एग्रीकल्चर (MCCIA) द्वारा भारत के पहले ‘कृषि निर्यात सुविधा केंद्र’ को पुणे में लॉन्च गया है। यह सुविधा केंद्र कृषि क्षेत्र में निर्यातकों के लिये वन-स्टॉप-शॉप के रूप में काम करेगा। यह केंद्र संभावित निर्यातकों को कीटनाशक अवशेष प्रबंधन, संभावित आयात करने वाले देशों को वरीयता, उनके उत्पाद की पसंद, गुणवत्ता मानकों, निर्यात उन्मुख उत्पादन हेतु बाग प्रबंधन, कटाई के समय और तरीके, उत्पादन तकनीक, ग्रीनहाउस उत्पादन, पैकेजिंग तथा हवाई अड्डे एवं बंदरगाह पर पालन की जाने वाली प्रक्रिया आदि के संबंध में मार्गदर्शन प्रदान करेगा। साथ ही यह केंद्र कृषि निर्यात से संबंधित पहलुओं पर जागरूकता कार्यक्रम, प्रशिक्षण कार्यक्रम और कार्यशालाओं का भी आयोजन करेगा। यह केंद्र एक ‘नॉलेज बैंक’ भी विकसित करेगा, जहाँ निर्यात के विभिन्न पहलुओं और गतिविधियों से संबंधित ज्ञान, सूचना एवं डेटा आदि को एकत्र किया जाएगा। यह संभावित निर्यातकों को ‘कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण’ (एपीडा) की योजनाओं के बारे जागरूक करेगा तथा एपीडा की योजनाओं का लाभ प्राप्त करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्रदान करेगा। साथ ही यह कृषि निर्यात प्रोत्साहन संबंधी केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के बारे में भी जागरूकता बढ़ाएगा।

विकाराबाद क्षेत्र के अस्पतालों में 'Medicine From The Sky' का पायलट परीक्षण

तेलंगाना सरकार ने विकाराबाद क्षेत्र के अस्पताल के चारों ओर फैले 16 प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों (पीएचसी) को महत्वाकांक्षी ‘आकाश से दवा(Medicine from the sky)’ के पायलट परीक्षण के लिए चुना है, जो अपनी तरह की पहली परियोजना है जिसमें कई ड्रोन के माध्यम से दवाओं की डिलीवरी शामिल है। कोल्ड चेन सुविधाओं की उपस्थिति के कारण क्षेत्र के अस्पताल को केंद्रीय बिंदु के रूप में चुना गया है और चयनित PHC विजुअल लाइन ऑफ साइट (VLOS) और बियॉन्ड विजुअल लाइन ऑफ साइट (BVLOS) दोनों सीमा के भीतर हैं। ब्लू डार्ट मेड-एक्सप्रेस की अध्यक्षता में सात ऑपरेटरों के एक संघ को शुरू में 500 मीटर की VLOS रेंज में शुरू की जाने वाली परियोजना के लिए चुना गया था और इसे धीरे-धीरे 9 किमी की सीमा तक बढ़ाया जाएगा। टीके की डिलीवरी के लिए प्रायोगिक BVLOS ड्रोन उड़ानों के संचालन के लिए मानव रहित विमान प्रणाली नियम 2021 से सशर्त छूट देने के लिए राज्य द्वारा किए गए अनुरोध के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा दी गई मंजूरी के बाद परियोजना शुरू की जा रही है।

जॉनसन एंड जॉनसन ने कोविड वैक्सीन के निर्माण के लिए तेलंगाना की कंपनी बॉयोलॉजीकल ई लिमिटेड के साथ समझौता किया।

अमरीकी फार्मास्‍यूटिकल कंपनी जॉनसन एण्‍ड जॉनसन ने तेलंगाना की बॉयोलॉजीकल ई लिमिटेड के साथ कोविड-19 वैक्‍सीन के उत्‍पादन के लिए समझौता किया है। जैनसेन कोविड-19 नाम की इस वैक्‍सीन को अमरीका, यूरोप और थाईलैंड तथा दक्षिण अफ्रीका सहित कई देशों में स्‍वीकृति मिल चुकी है। जॉनसन एण्‍ड जॉनसन टीके के निर्माण के लिए बॉयोलॉजीकल ई लिमिटेड के साथ मिलकर काम कर रही है। कंपनी ने कहा है कि वह कोविड-19 की वैक्‍सीन के विकास और उत्‍पादन बढाने और इसे विश्‍वभर में पहुंचाने के लिए रात-दिन कार्य कर रही है।

लंबे समय तक काम करने से स्ट्रोक के कारण मौत का खतरा 35 फीसद अधिक

सेहत और काम के घंटों को लेकर एक नया अध्ययन किया गया है। इसका दावा है कि हफ्ते में 55 घंटे या इससे ज्यादा समय काम करने का संबंध हृदय रोग और स्ट्रोक के खतरे से हो सकता है। हफ्ते में 35 से 40 घंटे तक काम करने वालों की तुलना में 55 घंटे से अधिक समय तक काम करने वालों में स्ट्रोक से मौत का खतरा 35 फीसद अधिक हो सकता है। जबकि हृदय रोग के चलते मौत का 17 फीसद ज्यादा जोखिम हो सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) और इंटरनेशनल लेबर आर्गेनाइजेशन की ओर से किए गए इस अध्ययन से जाहिर होता है कि हफ्ते में 55 घंटे काम करने के कारण 2016 में स्ट्रोक से तीन लाख 98 हजार लोगों की मौत हुई। जबकि हृदय रोग से तीन लाख 47 हजार की जान गई। अध्ययन का यह विश्लेषण ऐसे समय सामने आया है, जब कोरोना महामारी के दौर में कामकाज का तरीका बदल गया है। इस दौर में काम के घंटे बढ़ गए हैं।

राजस्थान ने म्यूकोर्मिकोसिस यानी ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया

राजस्थान में ब्लैक फंगस यानी म्यूकोर्मिकोसिस को महामारी घोषित किया गया है। राज्य में इस बीमारी के मामलों की संख्या बढ़ रही है। यह मुख्य रूप से कोविड संक्रमण से ठीक होने वाले लोगों को प्रभावित करती है। राजस्थान महामारी अधिनियम 2020 के तहत राज्य में म्यूकोर्मिकोसिस को एक महामारी और एक अधिसूचित बीमारी के रूप में अधिसूचित किया गया है। इससे अब तक राज्य में दो लोगों की मौत हो चुकी है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक दिन पहले इसे राजस्थान की हेल्थ इंश्योरेंस चिरंजीवी योजना में शामिल किया था। इसके बाद अब यह कदम उठाया है। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी जिलों मेंं धारा 144 की अवधि 21 जून तक के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। इसके बाद गृह विभाग ने इसके लिए अधिसूचना भी जारी कर दी है। यह अवधि 21 मई को खत्म हो रही थी।
इससे पहले ब्लैक फंगस रोग को हरियाणा में अधिसूचित बीमारी (notified disease) के रूप में घोषित किया गया है। इसका मतलब है कि सरकारी अधिकारियों को ब्लैक फंगस रोग (Black Fungus Disease) के प्रत्येक मामले के बारे में सूचित करना होगा।

असम सरकार ने राज्‍य में स्‍थापित किये जाने वाले नये ऑक्‍सीजन संयंत्रों को मुफ्त बिजली देने का फैसला किया

असम सरकार ने राज्‍य में स्‍थापित किये जाने वाले नये ऑक्‍सीजन संयंत्रों के लिए मुफ्त बिजली देने का फैसला किया है। गुवाहाटी में आज हुई मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला लिया गया। राज्‍य में ऑक्‍सीजन की किल्‍लत से बचने के लिए यह कदम उठाया गया है। मंत्रिमंडल की बैठक में बंद पड़े ऑक्‍सीजन संयंत्रों को फिर से चालू करने के लिए शत-प्रतिशत बिजली मुफ्त उपलब्‍ध कराये जाने का भी फैसला लिया गया है। राज्‍य में मौजूदा ऑक्‍सीजन संयंत्रों के लिए 20 प्रतिशत बिजली मुफ्त मिलेगी।

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री ने लॉकडाउन लगाये जाने से हुए नुकसान के लिए एक हजार 250 करोड रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की

कर्नाटक के मुख्‍यमंत्री बी एस येदियुरप्‍पा ने कोविड के कारण लॉकडाउन लगाये जाने से हुए नुकसान के लिए एक हजार 250 करोड रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। ऑटो-रिक्‍शा, टैक्‍सी और मैक्‍सी कैब चालकों को तीन हजार रूपये की राहत राशि दी जाएगी। इससे दो लाख दस हजार चालकों को फायदा होगा। निर्माण कार्यों में लगे मजदूरों को भी तीन हजार रूपये दिये जाएंगे। नाई, धोबी, दर्जी, कबाडी, कुम्‍हार, मैकेनिक, घरेलू नौकरों और चमडा उद्योग में लगे मजदूर जैसे गैर संगठित क्षेत्र के मजदूरों को भी दो हजार रूपये की राहत राशि मिलेगी। इस क्षेत्र में करीब तीन लाख चार हजार मजदूर हैं। आत्‍मनिर्भर निधि के तहत पंजीकृत रेहडी-पटरी वालों को भी दो हजार रूपये दिये जाएंगे। करीब 16 हजार कलाकारों को भी तीन हजार रूपये मिलेंगे। पुष्‍प उत्‍पादक किसानों के लिए एकमुश्‍त प्रति हैक्‍टेयर दस हजार रूपये की राहत देने की घोषणा की गई है। इससे बीस हजार किसानों को फायदा होगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्‍याण योजना के अंतर्गत बीपीएल और अन्‍त्‍योदय कार्डधारकों को मई और जून महीने के लिए पांच किलोग्राम चावल मुफ्त दिये जाएंगे। सभी ग्राम पंचायतों को कोविड रोकथाम उपायों के लिए पचास हजार रूपये मिलेंगे। इससे छह हजार ग्राम पंचायतों को लाभ होगा।

सरकार ने दिव्यांगजनों के पुनर्वास पर अपने किस्म का पहला 6 महीने का सीबीआईडी कार्यक्रम लॉन्च किया

केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री डॉ. थावरचन्द गेहलोत ने वर्चुअल रूप में दिव्यांगजन पुनर्वास पर 6 महीने का समुदाय आधारित समावेशी विकास कार्यक्रम (सीबीआईडी) लॉन्च किया। समुदाय आधारित समावेशी विकास (सीबीआईडी) कार्यक्रम सामुदायिक स्तर पर जमीनी पुनर्वास कार्यकर्ताओं का एक समूह बनाने पर केंद्रित है जो दिव्यांगता से जुड़े मुद्दों से निपटने और दिव्यांग व्यक्तियों के समाज में समावेश के लिए आशा और आंगनवाड़ी कर्मियों के साथ काम कर सकते हैं। पाठ्यक्रम की विषयवस्तु भारत और ऑस्ट्रेलिया के विशेषज्ञों की एक समिति ने विकसित की है। दायित्व निभाने में इन कार्यकर्ताओं की क्षमता को मजबूत करने के लिए यह पाठ्यक्रम क्षमता आधारित ज्ञान एवं कौशल के आधार पर तैयार किया गया है।इन कार्यकर्ताओं को ‘‘दिव्यांग मित्र’’ के नाम से जाना जाएगा।

‘फेक-बस्टर’ ऑनलाइन फरेबी का पता लगा सकता है

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, रोपड़, पंजाब और मॉनाश यूनिवर्सिटी, ऑस्ट्रेलिया के अनुसंधानकर्ताओं ने ‘फेक-बस्टर’नामक एक ऐसा अनोखा डिटेक्टर ईजाद किया है, जो किसी भी ऑनलाइन फरेबी का पता लगा सकता है। विदित हो कि ऐसे फरेबी बिना किसी की जानकारी के वर्चुअल सम्मेलन में घुस जाते हैं। इस तकनीक के जरिये सोशल मीडिया में भी फरेबियों को पकड़ा जा सकता है, जो किसी को बदनाम करने या उसका मजाक उड़ाने के लिये उसके चेहरे की आड़ लेते हैं।मौजूदा महामारी के दौर में ज्यादातर कामकाज और आधिकारिक बैठकें ऑनलाइन हो रही हैं। इस अनोखी तकनीक से पता लगाया जा सकता है कि किस व्यक्ति के वीडियो के साथ छेड़-छाड़ की जा रही है या वीडियों कॉन्‍फ्रेंस के दौरान कौन घुसपैठ कर रहा है। इस तकनीक से पता चल जायेगा कि कौन फरेबी वेबीनार या वर्चुअल बैठक में घुसा है। ऐसी घुसपैठ अक्सर आपके सहकर्मी या वाजिब सदस्य की फोटो के साथ खिलवाड़ करके की जाती है।

US Space Force के लिए लॉन्च किया गया SBRIS Geo-5 Missile Warning Satellite

यूनाइटेड लॉन्च एलायंस (United Launch Alliance) ने केप कैनावेरल स्पेस फोर्स स्टेशन, फ्लोरिडा से एटलस वी रॉकेट लॉन्च किया। इस एटलस वी रॉकेट में SBRIS जियो-5 मिसाइल चेतावनी उपग्रह (SBRIS Geo-5 Missile Warning Satellite) को ले जाया गया। SBRIS का पूर्ण रूप स्पेस-बेस्ड इन्फ्रारेड सिस्टम (Space-Based Infrared System) है। यह उपग्रह मिसाइल चेतावनी, युद्ध क्षेत्र, मिसाइल रक्षा में प्रमुख क्षमताएं प्रदान करेगा। इसका वजन 4,850 किलोग्राम है। 2018 तक, 10 SBRIS उपग्रह लॉन्च किए गए थे। SBRIS मूल रूप से एक अंतरिक्ष ट्रैकिंग और निगरानी प्रणाली है। SBRIS को United States Space Force System के इन्फ्रारेड स्पेस सर्विलांस को पूरा करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। केवल 2020 में ही, SBRIS उपग्रहों ने हजार से अधिक मिसाइलों का पता लगाया। 2018 तक, दस SBRIS सैटेलाइट लॉन्च किए गए थे। एटलस V दो चरणों वाला रॉकेट है। इसके पहले चरण में रॉकेट ग्रेड केरोसिन और तरल ऑक्सीजन तथा दूसरे चरण में हाइड्रोजन और तरल ऑक्सीजन के साथ इसे ईंधन दिया जाता है। रॉकेट ने SBRIS को 35,753-किलो मीटर की ऊंचाई पर रखा।

मणिपुर के मुख्यमंत्री ने सब्जी के लिए 'MOMA मार्केट' का शुभारंभ किया

मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह (N Biren Singh) ने ताज़ी सब्जियों की होम डिलीवरी के लिए एक स्मार्टफोन एप्लिकेशन "मणिपुर ऑर्गेनिक मिशन एजेंसी (Manipur Organic Mission Agency-MOMA) मार्केट" लॉन्च किया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि लोगों को COVID-19 प्रेरित कर्फ्यू के दौरान उनके घर पर ताजी सब्जियां मिलें। राज्य के बागवानी और मृदा संरक्षण विभाग की एक इकाई MOMA ने COVID-19 महामारी के कारण लॉकडाउन के दौरान दिन-प्रतिदिन की खपत के लिए ताजी सब्जियां उपलब्ध कराने और कृषि उपज की संकट बिक्री को कम करने के लिए सीएम की देखरेख में ऐप लॉन्च किया। MOMA को क्षेत्र में काम करने का काम सौंपा गया है और सब्जी के नुकसान और COVID-19 के प्रसार को रोकने के लिए उपभोक्ताओं को होम डिलीवरी के माध्यम से चैनल फार्म का उत्पादन किया गया है। MOMA के साथ काम करने वाली किसान उत्पादक कंपनियां (FPC) विभिन्न खेतों से सब्जियों की कटाई करेंगी। फिर इसे संजेनथोंग और अन्य स्थानों में विभाग के परिसर में कोल्ड स्टोरेज और गोदामों में ले जाया जाएगा। अंत में, उपभोक्ता के MOMA मार्केट ऑर्डर को उनके दरवाजे पर भेज दिया जाएगा।

सतोशी उचिदा बने सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया के नए कंपनी हेड

सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया (Suzuki Motorcycle India) ने सतोशी उचिदा (Satoshi Uchida) को कंपनी का नया प्रमुख नियुक्त किया है। ​उन्होंने सुजुकी मोटर कॉरपोरेशन के वैश्विक सुधार के हिस्से के रूप में कोइचिरो हिराओ (Koichiro Hirao) की जगह ली है। सुजुकी मोटरसाइकिल इंडिया ने अप्रैल 2021 में अपनी अब तक की सबसे अधिक मासिक बिक्री दर्ज की, जिसमें महीने के दौरान 77,849 यूनिट्स की बिक्री हुई। सुजुकी मोटर कॉर्पोरेशन एक जापानी बहुराष्ट्रीय निगम है जो मिनामी-कु में स्थित है।

सैटेलाइट इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए गूगल क्लाउड ने स्पेसएक्स के साथ भागीदारी की

गूगल क्लाउड और स्पेसएक्स ने स्टारलिंक उपग्रह के माध्यम से इंटरनेट सेवा प्रदान करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। गूगल इस कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट के लिए क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर मुहैया कराएगा, जबकि स्पेस एक्स, स्टारलिंक सैटेलाइट्स को जोड़ने के लिए गूगल के क्लाउड डेटा सेंटर्स में ग्राउंड टर्मिनल लगाएगा। यह ग्रामीण क्षेत्रों में तेजी से इंटरनेट सेवा प्रदान करने में मदद करेगा। यह सेवा ग्राहकों के लिए 2021 के अंत से पहले उपलब्ध होगी। पहला स्टारलिंक टर्मिनल संयुक्त राज्य अमेरिका के ओहियो में एक गूगल डेटा केंद्र में स्थापित किया जाएगा। इससे पहले, माइक्रोसॉफ्ट ने अपने Azure क्लाउड को स्टारलिंक से जोड़ने के लिए स्पेसएक्स के साथ भी इसी तरह का समझौता किया है। स्टारलिंक एक परियोजना है जिसके तहत स्पेसएक्स का लक्ष्य अंतरिक्ष आधारित इंटरनेट प्रदान करने के लिए 12,000 उपग्रह भेजना है।

IDRBT द्वारा राष्ट्रीय डिजिटल वित्तीय अवसंरचना (NADI) का निर्माण

बैंकिंग प्रौद्योगिकी में विकास और अनुसंधान संस्थान (Institute for Development and Research in Banking Technology - IDRBT) राष्ट्रीय डिजिटल वित्तीय अवसंरचना (National Digital Financial Infrastructure-NADI) नामक एक अगली पीढ़ी के डिजिटल वित्तीय बुनियादी ढांचे का निर्माण कर रहा है। NADI भारत में भविष्य की डिजिटल वित्तीय सेवाओं के विकास के लिए एक रोडमैप और ढांचा प्रदान करेगा। NADI में आधुनिक नेटवर्क इन्फ्रास्ट्रक्चर शामिल होगा, जिसमें बैक-एंड पर महत्वपूर्ण डेटा सेंटर इन्फ्रास्ट्रक्चर से जुड़ने के लिए SDN (सॉफ़्टवेयर-परिभाषित नेटवर्किंग) के साथ 5G/एज क्लाउड शामिल है। IDRBT भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की एक शाखा है। इसमें डिजिटल पहचान सत्यापन, डिजिटल पहचान मूल्यांकन और कुशल डिजिटल लेजर प्रौद्योगिकियों और एआई/एमएल प्रौद्योगिकियों के समर्थन के साथ डिजिटल परिसंपत्ति प्रबंधन दोनों का समर्थन करने के लिए मिडलवेयर इंफ्रास्ट्रक्चर भी होगा।''

मोक्टर ओउने फिर बने माली के प्रधान मंत्री

मोक्टर ओउने (Moctar Ouane) को माली के प्रधान मंत्री के रूप में फिर से नियुक्त किया गया है। इब्राहिम बाउबकर कीता (Ibrahim Boubacar Keita) को हटाने के बाद अगस्त 2020 में उन्हें कार्यवाहक सरकार के प्रधान मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। राष्ट्रपति बाह एन'डॉ (Bah N’Daw) के निर्देशों के तहत ओउने को राजनीतिक वर्ग के लिए जगह के साथ एक नई सरकार बनानी होगी। अप्रैल 2021 में, माली की अंतरिम सरकार ने घोषणा की थी कि वह 31 अक्टूबर को संवैधानिक जनमत संग्रह और फरवरी 2022 में चुनाव कराएगी। माली विवादित विधायी चुनावों और आर्थिक गतिरोध, भ्रष्टाचार और कोविड-19 महामारी के कारण आर्थिक संकट के कारण राजनीतिक संकट का सामना कर रहा है।

केंद्र ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य ढांचा स्थापित करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए

भारत सरकार ने हाल ही में ग्रामीण क्षेत्रों में COVID-19 को नियंत्रित करने के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैं। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में स्पर्शोन्मुख (asymptomatic) मामलों के लिए COVID-19 देखभाल केंद्र स्थापित किया जाना चाहिए। इन केंद्रों में कम से कम 30 बेड होने चाहिए। यह मुख्य रूप से उन क्षेत्रों में स्थापित किया जाना चाहिए जहां होम आइसोलेशन (home isolation) संभव नहीं है। रैपिड एंटीजन टेस्ट किट सभी सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं में उपलब्ध कराई जानी चाहिए। इसमें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र और स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र भी शामिल हैं। COVID देखभाल केंद्र संदिग्ध या पुष्ट मामले को स्वीकार करेंगे। हालांकि, इसमें पुष्ट और संदिग्ध मामलों के लिए अलग-अलग क्षेत्र होने चाहिए। शहरी क्षेत्रों के अलावा आदिवासी क्षेत्रों, ग्रामीण क्षेत्रों और उपनगरीय क्षेत्रों में बड़ी संख्या में मामले बढ़े हैं। इस प्रकार, मंत्रालय ने “SOP on COVID-19 Containment and Management in Peri-Urban, Rural and Tribal Areas” जारी की है।

सेना ने तरल ऑक्सीजन को कम दबाव वाले ऑक्सीजन गैस में तब्दील करने का समाधान ढूंढा

कोविड की दूसरी लहर के विरुद्ध भारत की प्रतिक्रिया को ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडरों की बेहद तेज़ी से बढ़ती हुई मांग निर्धारित करती है। चूंकि क्रायोजेनिक टैंकों में ऑक्सीजन को तरल रूप में स्थानांतरित किया गया, इसलिए तरल ऑक्सीजन गैस का इस्तेमाल की जाने वाली ऑक्सीजन में त्वरित रूपांतरण तथा रोगियों के बिस्तर पर इसकी उपलब्धता सुनिश्चित करना कोविड रोगियों का प्रबंधन कर रहे सभी अस्पतालों के सामने एक महत्वपूर्ण चुनौती था। मेजर जनरल संजय रिहानी के नेतृत्व में भारतीय सेना के इंजीनियरों की टीम ने इस चुनौती का समाधान खोजने की पहल की है। यह सुनिश्चित करने के लिए कि गैस सिलेंडरों के उपयोग के बिना ऑक्सीजन उपलब्ध हो, इस नवाचार के लिए एक विशेष कार्य बल का गठन किया गया, और गैस सिलेंडर बार-बार भरने की आवश्यकता को समाप्त किया गया। सात दिनों से भी अधिक समय तक सीएसआईआर और डीआरडीओ के साथ सीधे परामर्श से वैपोराइज़र्स, पीआरवी और तरल ऑक्सीजन सिलेंडरों का उपयोग करते हुए समाधान को खोजा गया। कोविड रोगी के बिस्तर पर अपेक्षित दबाव और तापमान पर तरल ऑक्सीजन के ऑक्सीजन गैस में निरंतर रूपांतरण को सुनिश्चित करने के लिए टीम ने छोटी क्षमता (250 लीटर) के स्वतः दबाव डाल सकने वाले तरल ऑक्सीजन सिलेंडर को विशेष रूप से डिजाइन किए गए वैपोराज़र और सीधे उपयोग करने योग्य आउटलेट दबाव (4 Bar) के माध्यम से अपेक्षित लीक प्रूफ पाइपलाइन और प्रेशर वाल्व के साथ संसाधित किया।

MMA खिताब जीतने वाले भारतीय मूल के पहले फाइटर बने अर्जन भुल्लर

कनाडा के अर्जन सिंह भुल्लर ने ब्रैंडन वेरा को हराकर सिंगापुर की वन चैंपियनशिप में हैवीवेट विश्व चैंपियन का खिताब अपने नाम किया। यह कारनामा करने वाले वह भारतीय मूल के पहले मिक्स्ड मार्शल आर्टस (एमएमए) फाइटर भी बने। इस जीत के साथ अर्जन ने फिलिपींस मूल के अमेरिकी वेरा का पांच साल से चला आ रहा वर्चस्व तोड़ दिया। भुल्लर ने 2010 और 2012 में राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीते थे। वह ओलंपिक में कनाडा का प्रतिनिधित्व करने वाले भारतीय मूल के पहले फ्रीस्टाइल पहलवान बने।

भारत के तेजस्विनी शंकर ने यूएसए में जीता ऊंची कूद का खिताब

कैनसस स्टेट यूनिवर्सिटी का प्रतिनिधित्व करते हुए, भारत के तेजस्विनी शंकर (Tejaswini Shankar) ने अमेरिका के मैनहट्टन में बिग 12 आउटडोर ट्रैक एंड फील्ड चैंपियनशिप में एक-के-बाद-एक पुरुषों की ऊंची कूद का खिताब जीता। वह अत्यधिक प्रतिस्पर्धी यूएसए सर्किट में प्रतिस्पर्धा करने वाले तीसरे भारतीय हैं, जो कई अमेरिकी ट्रैक और फील्ड ओलंपियनों के लिए प्रजनन स्थल है। शंकर ने बिग 12 आउटडोर ट्रैक एंड फील्ड चैंपियनशिप के 2019 संस्करण में पुरुषों की ऊंची कूद का खिताब भी जीता था, जबकि 2020 के संस्करण को कोविड -19 महामारी के कारण रद्द कर दिया गया था।

बास्केटबॉल हॉल ऑफ फ़ेम में मरणोपरांत शामिल हुए कोबे ब्रायंट

लॉस एंजिल्स लेकर्स लीजेंड , कोबे ब्रायंट (Kobe Bryant) को मरणोपरांत नाइस्मिथ मेमोरियल बास्केटबॉल हॉल ऑफ फ़ेम(Naismith Memorial Basketball Hall of Fame) में शामिल किया गया है। उन्हें कनेक्टिकट में एनबीए के महान माइकल जॉर्डन (Michael Jordan) द्वारा समारोह में प्रस्तुत किया गया था और उनकी विधवा वैनेसा (Vanessa) ने उनकी ओर से उनका हॉल में शामिल होना स्वीकार किया था। लॉस एंजिल्स लेकर्स ग्रेट ब्रायंट 2016 में सेवानिवृत्त हुए; वह 2008 में एनबीए के सबसे मूल्यवान खिलाड़ी थे। पांच बार के एनबीए चैंपियन की जनवरी 2020 में एक हेलीकॉप्टर दुर्घटना में 41 वर्ष की आयु में मृत्यु हो गई थी।

अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस: 18 मई

समाज के विकास में संग्रहालय कितने महत्वपूर्ण हैं, इस बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए दुनिया भर में 18 मई को अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस (International Museum Day) की स्थापना 1977 में अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय परिषद (International Council of Museums – ICOM) द्वारा की गई थी। इस दिन का उद्देश्य सांस्कृतिक आदान-प्रदान, संस्कृतियों के संवर्धन और लोगों के बीच आपसी समझ, सहयोग और शांति के विकास के महत्वपूर्ण साधन के रूप में संग्रहालयों के बारे में जागरूकता बढ़ाना है। अंतर्राष्ट्रीय संग्रहालय दिवस 2021 का विषय: “संग्रहालयों का भविष्य: पुनर्प्राप्ति और पुनर्कल्पना (The Future of Museums: Recover and Reimagine)”।

प्रसिद्ध तमिल लेखक और लोकगीतकार कि. राजनारायणन का निधन

प्रसिद्ध तमिल लोकगीतकार और प्रशंसित लेखक कि. राजनारायणन (Ki. Rajanarayanan) का निधन हो गया है। उनके तमिल आद्याक्षरों द्वारा किरा के नाम से प्रसिद्ध, उन्हें 'करिसल साहित्य (Karisal Literature)' के अग्रदूत के रूप में जाना जाता था। ​किरा को उनके उपन्यास 'गोपालपुरथु मक्कल (Gopalapurathu Makkal)' के लिए 1991 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। वह लघु कथाओं, उपन्यासों, लोककथाओं और निबंधों के एक प्रख्यात लेखक थे और उन्होंने 30 से अधिक पुस्तकें प्रकाशित की हैं।

पद्मश्री डा. केके अग्रवाल का कोरोना से निधन

पद्मश्री डा. केके अग्रवाल का कोरोना संक्रमण के कारण निधन हो गया। 62 वर्षीय अग्रवाल कंफेडरेशन आफ मेडिकल एसोसिएशन इन एशिया एंड ओसेनिया (सीएमएएओ)हार्ट केयर फाउंडेशन आफ इंडिया के अध्यक्ष थे। डा. केके अग्रवाल ने वैक्सीन की दोनों डोज ली थीं। 26 अप्रैल को उनकी कोरोना रिपोर्ट पाजिटिव आई थी। उन्हें चिकित्सा के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए 2005 में डॉ बीसी रॉय पुरस्कार और 2010 में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार, पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

यूपी सरकार के मंत्री विजय कश्यप का निधन

उत्तर प्रदेश सरकार में राज्य मंत्री विजय कश्यप का निधन हो गया है। वह कोरोना से संक्रमित थे। विजय कश्यप यूपी के मुजफ्फरनगर के चरथावल विधानसभा से विधायक थे। विजय कश्यप योगी सरकार में बाढ़ एवं नियंत्रण राज्य मंत्री थे। वह 29 अप्रैल को कोविड पॉजिटिव हुए थे और तभी से अस्पताल में एडमिट थे।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.