Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

21 May 2021

पिनाराई विजयन ने केरल के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

केरल में मुख्‍यमंत्री पिनरई विजयन के नेतृत्‍व में नये मंत्रिमंडल ने शपथ ग्रहण की और पदभार संभाला। सत्‍तारूढ़ लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट एलडीएफ ने लगातार दूसरी बार राज्‍य की सत्‍ता संभाली है। केरल के राज्‍यपाल आरिफ मोहम्‍मद खान ने तिरूवनंतपुरम के सेंट्रल स्‍टेडियम में 21 सदस्‍यों वाले मंत्रिमंडल को पद और गोपनियता की शपथ दिलाई। मुख्‍यमंत्री पिनरई वि‍जयन ने सबसे पहले शपथ ली। इसके बाद अन्‍य मंत्रियों ने शपथ ग्रहण की।

भारतीय ब्रिटिश बालासुब्रमण्यन मिलेनियम टेक प्राइज से सम्मानित, डीएनए का अध्ययन होगा आसान

कैंब्रिज विश्वविद्यालय के भारतीय मूल के ब्रिटिश रसायनशास्त्री शंकर बालासुब्रमण्यन और उनके साथी डेविड क्लेनरमैन को विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठित पुरस्कार 2020 मिलेनियम टेक्नोलाजी प्राइज से सम्मानित करने का एलान किया गया। उन्हें डीएनए का अध्ययन त्वरित, सटीक और किफायती बनाने में मदद करने वाली क्रांतिकारी अनुक्रमण तकनीक विकसित करने के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित करने का फैसला किया गया है। टेक्नोलाजी अकेडमी फिनलैंड प्रत्येक दो साल के अंतराल पर 2004 से यह पुरस्कार देती आ रही है। वर्ष 2004 में सर टिम बर्नर्स-ली को व‌र्ल्ड वाइड वेब की खोज के लिए इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। भारत में जन्मे औषधीय रसायन शास्त्र के प्रोफेसर बालासुब्रमण्यन और ब्रिटिश जैव भौतिकी रसायन शास्त्री क्लेनरमैन ने मिलकर सोलेक्सा-इलुमिना नेक्स्ट जेनरेशन डीएनए सीक्वेंसिंग (एनजीएस) की खोज की। इसकी मदद से किसी जीव के संपूर्ण डीएनए अनुक्रमण का पता लगाने की प्रक्रिया त्वरित, सटीक और किफायती बनाने में मदद मिली। यह तकनीक कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मानवता के लिए अहम साबित हो रही है। बालासुब्रहमण्यम का जन्म भारत के तामिलनाडु राज्य की राजधानी चेन्नई में साल 1966 में हुआ था। लेकिन, जब शंकर बालासुब्रहमण्यम सिर्फ 2 साल के थे, तभी उनके माता-पिता चेन्नई से ब्रिटेन शिफ्ट हो गये थे।

भारतीय नौसेना ने मौजूदा ऑक्सीजन संकट को कम करने के लिए ओआरएस तैयार की

भारतीय नौसेना ने मौजूदा ऑक्सीजन संकट को कम करने के लिए ऑक्सीजन पुनर्चक्र प्रणाली यानी ओआरएस तैयार की है। नौसेना के दक्षिणी कमान के डाइविंग स्कूल ने मौजूदा ऑक्सीजन की कमी को दूर करने के लिए इस तरह की प्रणाली संबंधी अवधारणा और डिजाइन को तैयार किया है। यह मौजूदा मेडिकल ऑक्सीजन सिलेंडरों के क्षमता को दो से चार गुना बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। इस तथ्य का इस्‍तेमाल करते हुए यह जानकारी सामने आई है कि एक रोगी द्वारा नाक से ली गई ऑक्सीजन का केवल एक छोटा सा प्रतिशत फेफड़ों द्वारा खीचा जाता है और बाकी को कार्बन-डाइऑक्साइड के साथ बाहर निकाला जाता है। रक्षा मंत्रालय ने बयान में कहा कि मौजूदा दिशा-निर्देशों के अनुसार, नैदानिक परीक्षणों के लिए इस प्रणाली को आगे बढ़ाया जा रहा है, जिसके तेजी से पूरा होने की उम्मीद है। इसके बाद देश में बड़े पैमाने पर उत्पादन स्वतंत्र रूप से शुरू हो जायेगा। इसमें कहा गया है कि ओआरएस में इस्तेमाल होने वाले सभी घटक स्वदेशी हैं और देश में अच्‍छे खासे मौजूद हैं। ओआरएस प्रोटोटाइप की कुल लागत 10 हजार रुपये रखी गई है, जबकि ऑक्सीजन के पुनर्चक्र के कारण रोजाना 3 हजार रुपये की बचत सोची गई है।

भारत की यूनेस्को विश्व धरोहर स्थलों की संभावित सूची में 6 स्थान जोड़े गये

केंद्रीय संस्कृति मंत्री प्रह्लाद सिंह पटेल ने हाल ही में घोषणा की कि 6 सांस्कृतिक विरासत स्थलों को यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों (UNESCO World Heritage Sites) में जोड़ा गया है। निम्नलिखित छह स्थानों ने यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की संभावित सूची में प्रवेश किया है-

  • वाराणसी के गंगा घाट(उत्तर प्रदेश)
  • तमिलनाडु में कांचीपुरम के मंदिर
  • मध्य प्रदेश में सतपुड़ा टाइगर रिजर्व
  • महाराष्ट्र सैन्य वास्तुकला
  • हीरे बेंकल मेगालिथिक साइट( कर्नाटक)
  • मध्य प्रदेश में नर्मदा घाटी के भेड़ाघाट लमेताघाट
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (Archaeological Survey of India) ने नौ प्रविष्टियां भेजीं थीं। इसमें से 6 ने संभावित सूची में प्रवेश किया है। ये प्रस्तावित स्थल एक वर्ष तक संभावित सूची में रहेंगे। इसके साथ, यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थलों की संभावित सूची में स्थानों की कुल संख्या बढ़कर 48 हो गई है।

प्रसार भारती दूरदर्शन इंटरनेशनल चैनल लांच करेगा

वैश्विक मंचों पर भारत के नजरिये को मजूबत आवाज देने के लिए प्रसार भारती ने दूरदर्शन इंटरनेशनल चैनल लांच करने की दिशा में पहला कदम बढ़ा दिया है। मौजूदा वैश्विक भू-राजनीतिक और आर्थिक कूटनीति की व्यवस्था में भारत के दृष्टिकोण को स्थापित करने के मकसद से इस चैनल की कार्ययोजना बनाई जा रही है। स्वाभाविक रूप से प्रस्तावित डीडी इंटरनेशनल चैनल का एक मुख्य मकसद समसामयिक विषयों पर देश के बारे में वैश्विक मीडिया के एकांगी नजरिये का जोरदार जवाब देते हुए भारत की सही तस्वीर पेश करना भी होगा।

केन्‍द्र सरकार ने अंतरराष्‍ट्रीय कीमतों में वृद्धि का असर कम करने के लिए उर्वरक पर सब्‍स‍िडी 140 प्रतिशत बढ़ाई

केन्‍द्र सरकार ने उर्वरक की वैश्विक कीमतों में बढ़ोतरी के बावजूद किसानों तक पुरानी दरों पर उर्वरक पहुंचाने के लिए डीएपी सब्सिडी 140 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया है। उर्वरक सब्सिडी प्रति बोरी 500 रुपए से बढ़ाकर 1200 रुपए प्रति बोरी कर दी गई है। अंतरराष्‍ट्रीय बाजारों में कीमत बढने के बावजूद किसानों को उर्वरक पुरानी कीमत 1200 रुपए प्रति बोरी पर ही उपलब्‍ध होगा। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की अध्‍यक्षता में उच्‍च स्‍तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया।

आई.सी.एम.आर. ने कोविड लक्षण वाले लोगों की घर पर ही जांच के लिए कोवि सेल्‍फ किट की मंजूरी दी

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आईसीएमआर ने घर में ही कोविड जांच के लिए कोविसेल्‍फ किट को मंजूरी दे दी है। परिषद ने स्‍वत: कोरोना जांच के बारे में परामर्श जारी किया है। परिषद ने कहा कि रैपिड एंटीजन टेस्‍ट से घर में ही परीक्षण की सलाह केवल कोरोना लक्षण वाले और संक्रमण की पुष्टि हो चुके लोगों के निकट संपर्क में आए लोगों को दी जाती है। इस जांच के लिए यूज़र को अपने मोबाइल फोन पर माई लैब ऐप डाउनलोड करना होगा। यह ऐप जांच प्रक्रिया के बारे में मार्ग दर्शन देगा और रोगी को उसकी पॉजिटिव या नेगेटिव रिपोर्ट उपलब्‍ध कराएगा। आईसीएमआर ने कहा कि रैपिड एंटीजन टेस्ट के लिए सिर्फ नेज़ल स्‍वैब की ही जरूरत होगी। सभी यूज़र को जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद उसी मोबाइल फोन से परीक्षण स्ट्रिप की फोटो लेने को कहा गया है, जिसका उपयोग ऐप डाउनलोड करने और पंजीकरण के लिए किया गया है।

30 समाचार संगठनों के साथ साझेदारी करते हुए Google ने भारत में लॉन्च किया News Showcase

गूगल ने भारत में 30 राष्ट्रीय और क्षेत्रीय मीडिया संगठनों के साझेदारी करते हुए न्यूज शोकेस को लॉन्च कर दिया है। गूगल की यह पहल देश में गुणवत्तापूर्ण पत्रकारिता को सहयोग देने की दिशा में घोषित वैश्विक निवेश अभियान का हिस्सा है।विश्वसनीय समाचारों और सूचनाओं तक पहुंच की बढ़ती अहमियत के बीच गूगल ने भारत के बड़े और विविध समाचार उद्योग को मदद देने के लिए कई निवेश कार्यक्रमों की घोषणा की है, जिसका मकसद गुणवत्तापूर्ण पत्रकारिता की दिशा में समाचार संगठनों को मदद करना और गूगल न्यूज इनिशिएटिव कार्यक्रमों का विस्तार करना है, ताकि कोविड-19 महामारी के दौरान और उसके बाद भी न्यूजरूम को अपने पाठकों को अपने साथ जोड़े रखने में मदद मिल सके।

EY इंडेक्स में भारत तीसरे स्थान पर पहुंचा

सौर फोटोवोल्टिक (PV) मोर्चे पर असाधारण प्रदर्शन के कारण भारत, EY के अक्षय ऊर्जा देश आकर्षण सूचकांक में तीसरे स्थान पर एक पायदान ऊपर चला गया है। भारत पिछले सूचकांक (चौथे) से एक स्थान ऊपर (तीसरा) चला गया है, यह मुख्य रूप से सौर PV मोर्चे पर असाधारण प्रदर्शन के कारण है। अमेरिका ने RECAI 57 पर शीर्ष स्थान बरकरार रखा है, चीन एक उत्साही बाजार बना हुआ है और दूसरे स्थान पर कायम है। भारत ने हाल ही में अमेरिका द्वारा आयोजित जलवायु शिखर सम्मेलन में 2030 तक अक्षय ऊर्जा विद्युत् क्षमता (स्थापित) के लिए 450 GW स्थापित करने के लिए भी प्रतिबद्ध किया।

पश्चिम बंगाल सरकार ने विधान परिषद के गठन को दी मंजूरी

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की अध्यक्षता में पश्चिम बंगाल कैबिनेट ने विधान परिषद के गठन को मंजूरी दे दी है. वर्तमान में, केवल आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्ट्र, बिहार और उत्तर प्रदेश में विधान परिषद है। पहले, पश्चिम बंगाल में द्विसदनीय विधायिका थी, लेकिन 1969 में संयुक्त मोर्चा सरकार द्वारा इसे समाप्त कर दिया गया था। राज्य विधान परिषद, राज्य विधानमंडल का उच्च सदन है। यह भारतीय संविधान के अनुच्छेद 169 के तहत स्थापित किया गया है। राज्य विधान परिषद का आकार राज्य विधान सभा के सदस्यों के एक तिहाई से अधिक नहीं हो सकता है। भारतीय संसद किसी राज्य की राज्य विधान परिषद का गठन या समापन कर सकती है, यदि उस राज्य की विधायिका विशेष बहुमत के साथ उसके लिए एक प्रस्ताव पारित करती है।

बेंगलुरू स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान ने पहला सेमी क्‍वांटिटेटिव इलेक्‍ट्रोकेमिकल-एलिसा विकसित किया

कोविड-19 के वायरस का पता लगाने के लिए बेंगलुरू स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान में सोसायटी फॉर इनावेशन एण्‍ड डवलपमेंट के लिए एक स्‍टार्ट अप पैथशोध ने अपनी तरह का पहला सेमी क्‍वांटिटेटिव इलेक्‍ट्रोकेमिकल-एलिसा विकसित किया है। स्‍टार्ट अप पैथशोध ने इस परीक्षण उपकरण के निर्माण के लिए केन्‍द्रीय औषधि मानक नियंत्रक संगठन से लाइसेंस प्राप्‍त किया था और स्‍वास्‍थ्‍य विज्ञान और प्रौद्योगिकी संस्‍थान फरीदबाद ने भी अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान चिकित्‍सा परिषद के दिशा-निर्देशों के अनुरूप इसे मान्‍यता दी थी।

अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक नई COVID-19 लार परीक्षण विधि (Saliva Testing Method) का आविष्कार किया

हाल ही में अमेरिकी वैज्ञानिकों ने एक नई COVID-19 लार परीक्षण विधि (Saliva Testing Method) का आविष्कार किया है जिसे SPOT कहा जाता है। SPOT का अर्थ Scalable and Portable Testing है। SPOT का आविष्कार कार्ले इलिनोइस कॉलेज ऑफ मेडिसिन (Carle Illinois College of Medicine) के एक शोध दल ने किया था। SPOT तीस मिनट में COVID-19 परीक्षण परिणाम देता है। इस डिवाइस की कीमत 78 डॉलर है। इनके अलावा अभिकर्मकों (reagents) और अन्य परीक्षण उपकरणों की कीमत 6 से 7 अमरीकी डालर होने का अनुमान है। डिवाइस को न्यूनतम प्रशिक्षण वाला कोई भी व्यक्ति संचालित कर सकता है।यह टेस्ट काफी हद तक RT-PCR से मिलता-जुलता है। लेकिन यह रिवर्स ट्रांसक्रिपटेस लूप मेडियेटेड इज़ोटेर्मल एम्प्लीफिकेशन (Reverse Transcriptase Loop Mediated Isothermal Amplification – RT-LAMP) का उपयोग करता है। हालांकि, इसके लिए जटिल मशीनरी या विशेषज्ञता की जरूरत नहीं है। इसे जल्दी से पूरा किया जा सकता है और यह अधिक सटीक है।

अंटार्कटिका 2060 तक जलवायु परिवर्तन बिंदु (Climate Tipping Point) की ओर बढ़ रहा है : अध्ययन

एक नए अध्ययन में कहा गया है कि अंटार्कटिका की बर्फ की चादरें 2060 तक जलवायु परिवर्तन बिंदु (Climate Tipping Points) की ओर बढ़ रही हैं। अंटार्कटिका में कई बर्फ विशाल खंड हैं। जैसे ही ये बर्फ खंड टूटते हैं, बर्फ की ऊंची चट्टानें अपने आप खड़ी नहीं हो सकती हैं। इस अध्ययन में पाया गया कि ये बर्फ के यह खंड तेजी से टूट रहे हैं। अंटार्कटिका की बर्फ की चादरें और खंड उन बेड रॉक्स पर जमी हुई हैं जो महाद्वीप के केंद्र की ओर ढलती हैं। समुद्र के पानी के गर्म होने से उनके निचले किनारे पिघल रहे हैं। यह उन्हें अस्थिर कर सकता है। इस प्रकार, यह निष्कर्ष निकाला जाता है कि अंटार्कटिका अपरिवर्तनीय जलवायु परिवर्तन की ओर बढ़ रहा है, अर्थात यह अपने जलवायु परिवर्तन बिंदु (Climate Tipping Points) की ओर बढ़ रहा है।

हिम तेंदुए के 70% से अधिक आवास अज्ञात हैं : WWF

विश्व वन्यजीव कोष (World Wildlife Fund) ने हाल ही में दावा किया है कि 70% से अधिक हिम तेंदुओं के आवास अज्ञात/अनन्वेषित (unexplored) हैं। इस संगठन ने हाल ही में अपनी रिपोर्ट “A spatially explicit review of the state of knowledge in the snow leopard range” जारी की। हिम तेंदुए (snow leopard) पर अधिकांश शोध नेपाल, भारत और चीन द्वारा किए गए हैं। दुनिया में सिर्फ चार हजार हिम तेंदुआ ही बचे हैं। बढ़ते आवास नुकसान और गिरावट, समुदायों के साथ संघर्ष और अवैध शिकार के कारण उन्हें लगातार खतरों का सामना करना पड़ रहा है। चूंकि हिम तेंदुए दुर्गम इलाकों में रहते हैं, इसलिए हिम तेंदुए और उनके आवास पर शोध करना बेहद मुश्किल है। यही कारण है कि आज तक उनका पूरा निवास स्थान अस्पष्ट बना हुआ है। अंतर्राष्ट्रीय हिम तेंदुआ दिवस (International Snow Leopard Day) (24 अक्टूबर) पर, भारत ने 2019 में Snow Leopard Population Assessment लॉन्च किया था। हालाँकि, यह सर्वे अभी शुरू होना बाकी है। कई राज्य सरकारों जैसे उत्तराखंड आदि ने स्थानीय सर्वेक्षण शुरू किए हैं।

A-76 : दुनिया का सबसे बड़ा हिमखंड (iceberg) अंटार्कटिका से टूट कर अलग हुआ

एक हिमखंड हाल ही में अंटार्कटिका महाद्वीप से टूट कर अलग हुआ है। यह हिमखंड (iceberg) अब दुनिया का सबसे बड़ा हिमखंड है। इसे A-76 नाम दिया गया है। यह आइसबर्ग 170 किलोमीटर लंबा और 25 किलोमीटर चौड़ा है। इस आइसबर्ग को कॉपरनिकस सेंटिनल (Copernicus Sentinel) नामक एक यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी के उपग्रह द्वारा देखा गया था। यह दो उपग्रहों वाला तारामंडल है जो पृथ्वी के ध्रुवों की परिक्रमा करता है। यह आइसबर्ग अब वेडेल सागर (Weddell Sea) पर तैर रहा है। वेडेल सागर पश्चिमी अंटार्कटिक में एक बड़ी खाड़ी है। उपग्रहों ने ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वेक्षण (British Antarctic Survey) द्वारा किए गए अवलोकनों की पुष्टि की है। ब्रिटिश अंटार्कटिक सर्वेक्षण ने सबसे पहले इस घटना को नोटिस किया था।

आयकर विभाग, सात जून को नया ई-फाइलिंग पोर्टल जारी करेगा

आयकर विभाग, सात जून को नया ई-फाइलिंग पोर्टल 'www.incometax.gov.in' जारी करेगा। इसका उद्देश्‍य करदाताओं को आधुनिक और सुविधा जनक अनुभव प्रदान करना है। पोर्टल को आयकर रिटर्न की प्रक्रिया जल्‍द संपन्‍न कर तुरंत रिफंड जारी करने के लिए तैयार किया गया है। आयकरदाताओं की मदद के लिए नया कॉल सेंटर स्‍थापित किया गया है। पोर्टल के सभी प्रमुख फंक्‍शन उपलब्‍ध होंगे। नए पोर्टल के आने के बाद आयकर विभाग का मौजूदा पोर्टल 'www.incometaxindiaefiling.gov.in' उपलब्‍ध नहीं होगा। आयकर विभाग ने सभी करदाताओं से अपने सभी बकाया कार्यों को मौजूदा पोर्टल पर पहली जून से पूर्व संपन्‍न करने के लिए कहा है।

बांग्‍लादेश का सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार 'स्‍वाधीनता पुरस्‍कार' 9 व्‍यक्तियों और एक अनुसंधान संगठन को

बांग्‍लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने बांग्‍लादेश का सर्वोच्‍च नागरिक पुरस्‍कार 'स्‍वाधीनता पुरस्‍कार' नौ व्‍यक्तियों और एक अनुसंधान संगठन को प्रदान किया। उन्‍होंने ये पुरस्‍कार ढाका में अपने आधिकारिक निवास गणबंधन में प्रदान किए। 'स्‍वाधीनता पुरस्‍कार' बांग्‍लादेश के स्‍वतंत्रता संग्राम, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, साहित्‍य और संस्‍कृति के क्षेत्र में विशिष्‍ट कार्य करने वाले लोगों और संगठनों को दिए जाते हैं। ये पुरस्‍कार वर्ष 1977 से प्रदान किया जा रहा है। इस पुरस्‍कार की घोषणा बांग्‍लादेश के स्‍वतंत्रता दिवस से पहले की जाती है। इसके अंतर्गत एक स्‍वर्ण पदक और पांच लाख टका नकद प्रदान किये जाते हैं।

चीन का अमेरिका पर ताइवान जलडमरूमध्य की शांति और स्थिरता खतरे में डालने का आरोप

चीन ने अमेरिका पर उकसावे की कार्रवाई कर ताइवान जलडमरूमध्य की शांति और स्थिरता को खतरे में डालने का आरोप लगाया है। अमरीका की नौसेना ने ताइवान जलडमरूमध्य से एक युद्धपोत भेजा था। अमेरिकी नौसेना के 7वें बेड़े ने अर्ले बर्क गाइडेड मिसाइल विध्वंसक युद्धपोत कर्टिस विल्बर ने अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार ताइवान जलडमरूमध्य का नियमित संचालन किया। अमेरिकी नौसेना हर महीने इस तरह के अभियान चलाती रही है और पीएलए जवाब में चेतावनी जारी करता रहा है। विश्लेषकों का कहना है कि दोनों पक्षों की ओर से इस तरह की बार-बार की जाने वाली कार्रवाइयां और दोनों पक्षों के बीच तनाव और संचार की कमी को देखते हुए संघर्ष का खतरा बढ़ रहा है।

महासागर की निगरानी के लिए चीन ने लांच किया नया सेटेलाइट

चीन ने महासागर की निगरानी करने वाली एक नई सेटेलाइट पृथ्वी की कक्षा में भेजी है। इससे सामुद्रिक आपदा की चेतावनी भी मिलेगी। लांग मार्च-4बी राकेट से हाईयांग-2डी (एचवाई-2डी) उपग्रह को उत्तर-पश्चिमी चीन स्थित जैक्वान सेटेलाइट लांच सेंटर से भेजा गया है। एचवाई-2डी उपग्रह के जरिये एचवाई-2बी और एचवाई-2सी का एक समूह बनाया जाएगा। यह उपग्रह एक घड़ीनुमा संयोजन में महासागर के पर्यावरण निगरानी प्रणाली के मध्यम और उच्च स्तर पर ऊंची आवृत्ति पर स्थापित किया जाएगा। उपग्रहों के इस समूह से चीन की पूर्व चेतावनी और समुद्री आपदा की भविष्यवाणी पुख्ता की जा सकेगी।

एशिया-प्रशांत में दूसरा सबसे बड़ा बीमा-प्रौद्योगिकी बाजार है भारत

S&P ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस के आंकड़ों के अनुसार, भारत, एशिया-प्रशांत में दूसरा सबसे बड़ा बीमा प्रौद्योगिकी बाजार है और इस क्षेत्र में निवेश की गई 3.66 अरब डॉलर की बीमा प्रौद्योगिकी-केंद्रित उद्यम पूंजी का 35 प्रतिशत हिस्सा है। आंकड़ों से पता चला है कि एशिया-प्रशांत में कम से कम 335 निजी बीमा प्रौद्योगिकी काम कर रहे हैं, जिनमें से लगभग 122 ने निजी प्लेसमेंट सौदों के माध्यम से जुटाई गई कुल पूंजी में $ 3.66 बिलियन का खुलासा किया है। चीन और भारत सामूहिक रूप से APAC क्षेत्र में लगभग आधी निजी बीमा प्रौद्योगिकी कंपनियों का घर हैं और लगभग 78 प्रतिशत निवेश आकर्षित करते हैं। बीमा प्रौद्योगिकी निवेशक भारत की ओर आकर्षित होते हैं क्योंकि यह दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते बीमा बाजारों में से एक है।

CCI ने GPL फाइनेंस को यस बैंक की MF सहायक कंपनियों की बिक्री को मंजूरी दी

भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (Competition Commission of India-CCI) ने GPL द्वारा YES एसेट मैनेजमेंट (इंडिया) लिमिटेड (YES AMC) और YES ट्रस्टी लिमिटेड (YES ट्रस्टी) के अधिग्रहण को मंजूरी दे दी है। GPL फाइनेंस एंड इंवेस्टमेंट्स लिमिटेड (GPL) YES AMC और YES ट्रस्टी के 100% इक्विटी शेयरों का अधिग्रहण करेगा। GPL यस म्यूचुअल फंड का अधिग्रहण करेगा और इसका एकमात्र प्रायोजक बन जाएगा। यह भारतीय रिजर्व बैंक के साथ एक गैर-जमा लेने वाली और गैर-प्रणालीगत रूप से महत्वपूर्ण गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (NBFC) के रूप में पंजीकृत है। GPL को एक निवेश कंपनी के रूप में वर्गीकृत किया गया है। ​यह श्री प्रशांत खेमका (Mr Prashant Khemka) द्वारा स्थापित एक निवेश प्रबंधन और निवेश सलाहकार समूह व्हाइट ओक ग्रुप (White Oak Group) का हिस्सा है। YES AMC और YES ट्रस्टी, YES बैंक लिमिटेड समूह से संबंधित हैं। YES AMC , YES म्यूचुअल फंड के लिए एक परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी/निवेश प्रबंधक के रूप में कार्य करता है।

अदाणी ने किया अक्षय ऊर्जा क्षेत्र में सबसे बड़ा सौदा

कारोबारी गौतम अदाणी नियंत्रित अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने नवीन ऊर्जा के क्षेत्र में देश का सबसे बड़ा अधिग्रहण सौदा किया है। कंपनी ने कहा कि उसने एसबी एनर्जी इंडिया में सॉफ्टबैंक ग्रुप (एसबीजी) और भारती ग्रुप की 100 फीसद शेयरों के अधिग्रहण के लिए शेयर खरीद समझौता किया है। यह सौदा 3.5 अरब डॉलर (लगभग 25,500 करोड़ रुपये) में हो रहा है। इस अधिग्रहण के साथ ही एजीईएल की कुल नवीकरणीय ऊर्जा उत्पादन क्षमता 24.3 गीगावाट हो गई है।एसबी एनर्जी इंडिया में सॉफ्टबैंक ग्रुप की 80 फीसद और भारती ग्रुप की 20 फीसद हिस्सेदारी है। एसबी एनर्जी के पास चार राज्यों में 4,954 मेगावाट क्षमता की अक्षय ऊर्जा परियोजनाएं हैं। कंपनी के पोर्टफोलियो में 84 फीसद सौर क्षमता (4,180 मेगावाट), नौ फीसद पवन-सौर हाइब्रिड क्षमता (450 मेगावाट) और सात फीसद पवन क्षमता (324 मेगावाट) की परियोजनाओं के साथ अन्य संपत्तियां हैं।

पीएम ने की 1000 करोड़ की मदद की घोषणा

टाक्टे तूफान से बुरी तरह तबाह हुए गुजरात के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक हजार करोड़ रुपये की आर्थिक सहायता की घोषणा की है। उन्होंने तूफान से प्रभावित राज्यों केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र, राजस्थान और केंद्र शासित प्रदेशों दमन और दीव व दादरा व नगर हवेली में मृतकों के परिजनों को दो-दो लाख रुपये और गंभीर घायलों को 50-50 हजार रुपये की सहायता देने की भी घोषणा की। पीएम बुधवार को गुजरात के तूफान प्रभावित क्षेत्रों का मुआयना करने आए थे।प्रधानमंत्री ने कहा कि तूफान के बाद चलाए जा रहे राहत अभियान के लिए केंद्र सरकार प्रभावित राज्यों की सरकारों के साथ मिलकर काम कर रही है।

गुजरात के मुख्‍यमंत्री ने ताउते के कारण जान गंवाने वालों के आश्रितों को चार लाख रूपये नकद अनुग्रह राशि की घोषणा की

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रूपाणी ने चक्रवाती तूफान ताउते के कारण जान गंवाने वालों के आश्रितों को चार लाख रूपये नकद अनुग्रह राशि की घोषणा की है। उन्‍होंने घायलों के लिए भी पचास-पचास हजार रूपये की सहायता की घोषणा की है।

पटना में व्हाइट फंगस के चार मरीज मिले

ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) से जूझ रहे पटना में व्हाइट फंगस के मरीज मिलने से अफरातफरी मच गई है। ब्लैक फंगस से ज्यादा घातक मानी जाने वाली इस बीमारी के चार मरीज पिछले कुछ दिनों में मिले हैं। व्हाइट फंगस (कैंडिडोसिस) फेफड़ों के संक्रमण का मुख्य कारण है। फेफड़ों के अलावा, स्किन, नाखून, मुंह के अंदरूनी भाग, आमाशय और आंत, किडनी, गुप्तांग और ब्रेन आदि को भी संक्रमित करता है। व्हाइट फंगस से फेफड़ों के संक्रमण के लक्षण HRCT में कोरोना जैसे ही दिखते हैं। इसमें अंतर करना मुश्किल हो जाता है। ऐसे मरीजों में रैपिड एंटीजन और RT-PCR टेस्ट निगेटिव होता है। HRCT में कोरोना जैसे लक्षण (धब्बे हो) दिखने पर रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट और फंगस के लिए बलगम का कल्चर कराना चाहिए। कोरोना मरीज जो ऑक्सीजन सपोर्ट पर हैं उनके फेफड़ों को यह संक्रमित कर सकता है।

विश्वकप विजेता सामी खेदिरा बुंडेसलीगा सत्र समाप्त होने के बाद फुटबॉल से संन्यास लेंगे

विश्वकप विजेता सामी खेदिरा इस सप्ताह के अंत में बुंडेसलीगा सत्र समाप्त होने के बाद फुटबॉल से संन्यास ले लेंगे। जर्मनी के पूर्व मिडफील्डर सामी ने जर्मनी की राजधानी में इसकी जानकारी दी। 2014 में विश्व कप विजेता खेदिरा ने अपनी राष्ट्रीय टीम के लिए 77 मैच खेले हैं। 34 वर्षीय सामी ने अपने फुटबॉल कैरियर की शुरूआत स्टटगार्ट में की थी, जहां उन्होंने 2007 बुंडेसलीगा खिताब जीता था। वे 2010 विश्व कप फाइनल के बाद रियल मैड्रिड में शामिल हो गए थे। इसके बाद उन्‍हें घुटने की गंभीर चोट का भी सामना करना पडा और इससे उबरकर उन्‍होंने 2013-14 में चैंपियंस लीग फाइनल में जीत हासिल की।

भारतीय खेल प्राधिकरण-साई 13 हजार से अधिक खिलाड़ियों, कोच और सहायक कर्मचारियों को चिकित्सा तथा दुर्घटना बीमा प्रदान करेगा

भारतीय खेल प्राधिकरण इस वर्ष से 13 हजार से अधिक खिलाड़ियों, कोच और सहायक कर्मचारियों को चिकित्सा तथा दुर्घटना बीमा प्रदान करेगा। कोविड महामारी के मद्देनजर सभी खिलाड़ियों और सहयोगी कर्मचारियों की सुरक्षा और सुविधा सुनिश्चित करने के लिए यह निर्णय लिया गया है। साई सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के सभी राष्ट्रीय शिविरों तथा खेलो इंडिया में भाग लेने वाले तथा जूनियर शिविर में प्रशिक्षण करने वाले सभी खिलाड़ियों को पांच लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान किया जाएगा। खिलाड़ियों की दुर्घटना या मृत्यु होने पर 25 लाख रुपये भी दिए जाएंगे। यह योजना इस साल से लागू की जाएगी, चाहे ऐसे प्रशिक्षण शिविरों का आयोजन नहीं हो रहा हो। भारतीय खेल प्राधिकरण-साई ने राष्ट्रीय खेल महासंघों को बीमा योजना में शामिल करने के लिए खिलाड़ियों और सहायक कर्मचारियों की पहचान करने को कहा है।

COVID-19 के कारण एशिया कप 2021 अनिश्चित काल के लिए स्थगित

श्रीलंका में जून में होने वाले एशिया कप T20 टूर्नामेंट को कोविड-19 महामारी के कारण अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया गया है। टूर्नामेंट जो मूल रूप से सितंबर 2020 में श्रीलंका में आयोजित होने वाला था, COVID-19 के कारण जून 2021 के लिए स्थगित कर दिया गया था। अगले दो वर्षों के लिए अपने फ्यूचर टूर प्रोग्राम्स (FTPs) की योजना बनाने वाली सभी टीमों के साथ, टूर्नामेंट 2023 ICC 50-ओवर के विश्व कप के बाद ही होने की संभावना है। ​हालांकि, एशियाई क्रिकेट परिषद की ओर से औपचारिक बयान आना बाकी है। शुरुआत में पाकिस्तान को इसकी मेजबानी करनी थी। हालांकि, भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव के कारण, टूर्नामेंट को द्वीप राष्ट्र में स्थानांतरित कर दिया गया था।

20 मई को विश्व स्तर पर मनाया जाता है विश्व मेट्रोलॉजी दिवस

विश्व मेट्रोलॉजी दिवस (World Metrology Day) हर साल 20 मई को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। इस दिन कई राष्ट्र, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मेट्रोलॉजी और संबंधित क्षेत्र में इसकी उन्नति के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए सहयोग करते हैं। विश्व मेट्रोलॉजी दिवस 2021 का विषय स्वास्थ्य के लिए मापन (Measurement for Health) है। इस विषय को स्वास्थ्य में मापन की महत्वपूर्ण भूमिका के बारे में जागरूकता पैदा करने और इस प्रकार हम सभी की भलाई के लिए चुना गया था। विश्व मेट्रोलॉजी दिवस सत्रह देशों के प्रतिनिधियों द्वारा पेरिस, फ्रांस में 20 मई 1875 को मीटर कन्वेंशन के हस्ताक्षर का वार्षिक उत्सव है। वर्ल्ड मेट्रोलॉजी डे प्रोजेक्ट को इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन ऑफ लीगल मेट्रोलॉजी (OIML) और ब्यूरो इंटरनेशनल डेस पॉयड्स एट मेसर्स (BIPM) द्वारा संयुक्त रूप से जारी किया गया है।

20 मई को विश्व स्तर पर मनाया जाता है विश्व मधुमक्खी दिवस

विश्व मधुमक्खी दिवस (World Bee Day) हर साल 20 मई को विश्व स्तर पर मनाया जाता है। इस दिन, 20 मई को, मधुमक्खी पालन के प्रणेता एंटोन जानसा (Anton Janša) का जन्म 1734 में स्लोवेनिया (Slovenia) में हुआ था। ​मधुमक्खी दिवस का उद्देश्य पारिस्थितिकी तंत्र में मधुमक्खियों और अन्य परागणकों की भूमिका को स्वीकार करना है। दुनिया के खाद्य उत्पादन का लगभग 33% मधुमक्खियों पर निर्भर करता है, इसलिए वे जैव विविधता के संरक्षण, प्रकृति में पारिस्थितिक संतुलन और प्रदूषण को कम करने में सहायक हैं। विश्व मधुमक्खी दिवस 2021 का विषय बी एंगेज्ड: बिल्ड बैक बेटर फॉर बीज़ (Bee engaged: Build Back Better for Bees) है। संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों ने दिसंबर 2017 में 20 मई को विश्व मधुमक्खी दिवस के रूप में घोषित करने के स्लोवेनिया के प्रस्ताव को मंजूरी दी। पहला विश्व मधुमक्खी दिवस 2018 में मनाया गया था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.