Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

21 June 2021

दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा हीरा खोजा गया

देबस्वाना डायमंड कंपनी (Debswana Diamond Company) ने बोत्सवाना की जवानेंग खदान में दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा हीरा खोजा है। बोत्सवाना को अफ्रीका में हीरों का सबसे बड़ा उत्पादक कहा जाता है। 1,098 कैरेट वजन के हीरे का पता चलने के बाद उसे राष्ट्रपति मोकग्वेत्सी मासीसी (Mokgweetsi Masisi) को भेंट किया गया। इसका वजन दुनिया के दूसरे सबसे बड़े 1,109 कैरेट के लेसेडी ला रोना (Lesedi la Rona) हीरे से थोड़ा कम है जो 2015 में बोत्सवाना में पाया गया था और दुनिया का सबसे बड़ा 3,106 कैरेट कलिनन (Cullinan) हीरा था जो 1905 में दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था। इसके अंतिम मूल्य का अनुमान अभी जारी नहीं किया गया है। दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा 1,109 कैरेट का लेसेडी ला रोना हीरा 53 मिलियन डॉलर में बिका था।

जम्मू-कश्मीर की माव्‍या सूदन पहली महिला एयरफोर्स में फाइटर पायलट बनीं

23 साल की माव्‍या सूदन जम्‍मू-कश्‍मीर की पहली ऐसी महिला हैं जिन्होंने इंडियन एयरफोर्स में महिला फाइटर पायलट बनने का गौरव हासिल किया है। राजौरी की रहने वालीं माव्‍या ऐसा करने वाली देश की 12वीं महिला फाइटर पायलट हैं। हैदराबाद की डुंडिगल वायुसेना अकादमी में हुए पासिंग आउट परेड में माव्‍या इकलौती महिला फाइटर पायलट के रूप में शामिल हुईं। वायुसेना में उन्हें फ्लाइंग ऑफिसर के पद पर नियुक्त किया गया है। इस दौरान वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया भी मौजूद थे।

शिक्षा राज्‍य मंत्री संजय धोत्रे 22 जून को जी-20 शिक्षा मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्‍व करेंगे

केंद्रीय शिक्षा राज्‍य मंत्री संजय धोत्रे इस महीने की 22 तारीख को जी-20 शिक्षा मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्‍व करेंगे। वह एक दिन में ही जी-20 शिक्षा मंत्रियों और श्रम एवं रोजगार मंत्रियों की संयुक्‍त बैठक में भी हिस्‍सा लेगें। ये दोनों बैठक इटली की अध्‍यक्षता में आयोजित की जा रही हैं। भारत इन बैठकों में ऑनलाइन भाग लेगा।

भारत में हरित हाइड्रोजन पर ऑनलाइन शिखर सम्‍मेलन 22 जून से शुरू होगा

भारत में हरित हाइड्रोजन पर दो दिन का ऑनलाइन शिखर सम्‍मेलन 22 जून से शुरू हो रहा है। सम्‍मेलन में भारत के अलावा ब्रिक्‍स देश - ब्राजील, रूस, चीन और दक्षिण अफ्रीका शामिल होंगे। इस सम्‍मेलन में सहभागी देश हरित हाइड्रोजन का उपयोग बढ़ाने के लिए किए जा रहे प्रयासों के संबंध में विचार साझा करेंगे। इसमें भारत की सबसे बड़ी बिजली उत्‍पादक कंपनी एनटीपीसी लिमिटेड भी हिस्‍सा ले रही है। सम्‍मेलन में, ऊर्जा नीति में हाइड्रोजन के समावेश पर पैनल चर्चा भी होगी।

ओडिशा के मुख्‍यमंत्री ने अनाथ बच्‍चों के लिए विशेष योजना आशीर्वाद की घोषणा की

ओडिशा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक ने अनाथ बच्‍चों के लिए वित्‍तीय सहयोग उपलब्‍ध कराने वाली एक विशेष योजना आशीर्वाद की घोषणा की। इस योजना का उद्देश्‍य अपने अभिभावक खोने वाले बच्‍चों को वित्‍तीय सहायता उपलब्‍ध कराना है। योजना के अंतर्गत अनाथ बच्‍चों को विभिन्‍न स्‍तरों पर अधिकतम दो हजार पांच सौ रूपये प्रतिमाह की आर्थिक मदद की जाएगी। यह योजना एक अप्रैल 2020 के बाद अनाथ हुए बच्‍चों को उपलब्‍ध होगी।

तमिलनाडु के मुख्‍यमंत्री एम के स्‍टालिन ने बिजली उपभोक्‍ताओं की शिकायतों के लिए समाधान केन्‍द्र का उद्घाटन किया

तमिलनाडु के मुख्‍यमंत्री एम के स्‍टालिन ने चेन्‍नई में बिजली उपभोक्‍ताओं की शिकायतों के लिए एक समाधान केन्‍द्र-मिन्‍नगम का उद्घाटन किया। राज्‍य सरकार ने कहा कि बिजली उपभोक्‍ता मोबाइल फोन के जरिए अपनी शिकायतें इस केन्‍द्र पर दर्ज करा सकते हैं। यह केन्‍द्र चौबीसों घंटे काम करेगा। केन्‍द्र में एक सौ 95 लोगों की तैनाती की गई है। केन्‍द्र में शिकायतें प्राप्‍त होने के बाद इन्‍हें राज्‍य के विभिन्‍न जिलों के एक्जिक्‍यूटीव इंजीनियरों के पास भेज दिया जायेगा।

सरकार ने देश के विभिन्न भागों में पांच दिव्यांगता खेल केंद्र स्थापित करने की घोषणा की

सरकार ने देश के विभिन्न क्षेत्रों में पांच दिव्यांगता खेल केन्द्र स्थापित किए जाने की आज घोषणा की। सामाजिक न्याय और अधिकारिकता मंत्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि पैरालिम्पिक खेलों में दिव्यांग जनों के अच्छे प्रदर्शन और खेलों में उनकी रूचि को देखते हुए यह निर्णय किया गया है। उन्होंने कहा कि ऐसा ही एक केन्द्र अहमदाबाद में स्थापित किया जाएगा। श्री गहलोत जामनगर में दिव्यांग जनों की सहायता के लिए उपकरण वितरित किए जाने के लिए आयोजित एक शिविर को वर्चुअल माध्यम से संबोधित कर रहे थे।

वैक्सीन अंतर्राष्ट्रीयवाद के लिए शिखर सम्मेलन आयोजित किया गया

प्रोग्रेसिव इंटरनेशनल (Progressive International) द्वारा वैक्सीन अंतर्राष्ट्रीयवाद (vaccine internationalism) के लिए चार दिवसीय शिखर सम्मेलन 18 जून, 2021 को शुरू हुआ। यह शिखर सम्मेलन “कोविड -19 महामारी को जल्द से जल्द समाप्त करने और सभी के लिए कोविड​​​​-19 टीकों को सुरक्षित करने” के लक्ष्य के साथ शुरू किया गया था। यह वैक्सीन शिखर सम्मेलन लगभग 20 देशों के राजनीतिक नेताओं, वैश्विक दक्षिण सरकारों, स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और वैक्सीन निर्माताओं को एक साथ लाता है।हाल ही में, संयुक्त राष्ट्र के सहायता प्रमुख मार्क लोकॉक ने G-7 योजना की गंभीर नहीं होने और आवश्यक तात्कालिकता की कमी के रूप में आलोचना की थी।

ग्रामीण विकास के लिए मसौदा राष्ट्रीय रणनीति जारी की गयी

पर्यटन मंत्रालय ने कोविड-19 महामारी के बाद पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए तीन मसौदा रणनीतियां जारी की हैं। भारत को एक ग्रामीण और चिकित्सा पर्यटन स्थल के रूप में बढ़ावा देने के लिए रोडमैप के साथ मसौदा रणनीतियों को पेश किया गया है। यह भारत को सम्मेलनों, बैठकों और प्रदर्शनियों के लिए एक स्थान के रूप में स्थापित करना चाहता है। यह ग्रामीण क्षेत्रों में आय और रोजगार पैदा करने और स्थानीय समुदायों को सशक्त बनाने के लिए पर्यटन के माध्यम से स्थानीय उत्पादों को विकसित और बढ़ावा देना चाहता है। यह ग्रामीण क्षेत्रों से पलायन को कम करने, गरीबी उन्मूलन और सतत विकास में भी मदद करेगा।

नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत पश्चिम बंगाल के महेशतला में 35 MLD सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के लिये समझौते पर हस्ताक्षर

हाल ही में नमामि गंगे कार्यक्रम के तहत पश्चिम बंगाल के महेशतला (गंगा नदी के पूर्वी तट पर स्थित शहर) में 35 MLD (मेगा लीटर प्रतिदिन) सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट के विकास के लिये एक समझौते पर हस्ताक्षर किये गए। इस प्लांट के निर्माण हेतु हाइब्रिड वार्षिकी पीपीपी मोड के तहत हस्ताक्षर किये गए थे। नमामि गंगे कार्यक्रम एक एकीकृत संरक्षण मिशन है जिसे जून 2014 में केंद्र सरकार द्वारा 'फ्लैगशिप कार्यक्रम' के रूप में अनुमोदित किया गया था ताकि प्रदूषण के प्रभावी उन्मूलन और राष्ट्रीय नदी गंगा के संरक्षण एवं कायाकल्प जैसे दोहरे उद्देश्यों को पूरा किया जा सके।इस कार्यक्रम का संचालन केंद्रीय जल संसाधन, नदी विकास और गंगा कायाकल्प मंत्रालय द्वारा किया जा रहा है।यह कार्यक्रम राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन (NMCG) और इसके राज्य समकक्ष संगठनों यानी राज्य कार्यक्रम प्रबंधन समूहों (SPMGs) द्वारा कार्यान्वित किया जा रहा है।NMCG राष्ट्रीय गंगा परिषद का कार्यान्वयन विंग है (यह वर्ष 2016 में स्थापित किया गया था जिसने राष्ट्रीय गंगा नदी बेसिन प्राधिकरण - NGRBA को प्रस्थापित किया)।इसके पास 20,000 करोड़ रुपए का केंद्रीय वित्तपोषित, गैर-व्यपगत कोष है और इसमें लगभग 288 परियोजनाएँ शामिल हैं।

सूखे पर UNDRR ने रिपोर्ट जारी की

Global Assessment Report on Disaster Risk Reduction: Special Report on Drought 2021” शीर्षक वाली रिपोर्ट 18 जून, 2021 को UNDRR (United Nations Office for Disaster Risk Reduction) द्वारा प्रकाशित की गई थी। यह नवंबर 2021 में ग्लासगो में होने वाली Cop26 नामक महत्वपूर्ण संयुक्त राष्ट्र जलवायु वार्ता में चर्चा का एक हिस्सा होगा। इस रिपोर्ट के अनुसार, सूखा एक छिपा हुआ वैश्विक संकट है जो जल और भूमि प्रबंधन और जलवायु आपातकाल से निपटने के लिए तत्काल कार्रवाई नहीं करने पर “अगली महामारी” बन सकता है।इस सदी में लगभग 5 अरब लोग सीधे तौर पर सूखे से प्रभावित हैं।आर्थिक लागत का अनुमान मोटे तौर पर $124 अरब था।हालांकि, वास्तविक लागत कई गुना अधिक होने की संभावना है क्योंकि इन अनुमानों में विकासशील देशों में अधिक प्रभाव शामिल नहीं है।अगले कुछ वर्षों में दुनिया के अधिकांश हिस्से में पानी की कमी होगी और कुछ निश्चित अवधि के दौरान मांग पानी की आपूर्ति से आगे निकल जाएगी।इस रिपोर्ट पर प्रकाश डाला गया, सूखा अब व्यापक है और इस सदी के अंत तक अधिकांश देश किसी न किसी रूप में इसका अनुभव करेंगे।

QCI ने Indian Certification of Medical Devices Plus Scheme लांच की

Quality Council of India (QCI) और Association of Indian Manufacturers of Medical Devices (AiMeD) ने “Indian Certification of Medical Devices Plus (ICMED) Scheme” लॉन्च किया है। ICMED योजना ने ICMED योजना में और सुविधाएँ जोड़ीं, जिसे 2016 में चिकित्सा उपकरणों के प्रमाणन के लिए लॉन्च किया गया था।यह योजना चिकित्सा उपकरणों की गुणवत्ता, सुरक्षा और प्रभावकारिता का सत्यापन करेगी।इस योजना को परिभाषित उत्पाद मानकों और विशिष्टताओं के संबंध में उत्पादों के परीक्षण और उत्पाद संबंधी गुणवत्ता सत्यापन प्रक्रियाओं को एकीकृत करने के लिए डिज़ाइन किया गया है।यह दुनिया भर में पहली ऐसी योजना है जिसमें गुणवत्ता प्रबंधन प्रणाली (quality management systems) और उत्पाद प्रमाणन मानकों (product certification standards) को नियामक आवश्यकताओं के साथ एकीकृत किया गया है।यह भारत में चिकित्सा उपकरणों के क्षेत्र के लिए गुणवत्ता आश्वासन योजना होगी।

भारतीय डाक एक ‘Special Cancellation’ जारी करेगा

भारतीय डाक 21 जून, 2021 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (International Yoga Day) के अवसर पर दिन के सार को कैप्चर करने के लिए एक ‘Special Cancellation’ जारी करने जा रहा है। यह 7वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में एक अनूठी पहल है। योग और अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस वर्षों से डाक टिकट संग्रह के लिए लोकप्रिय विषय हैं। डाक विभाग ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 2015 में दो स्मारक डाक टिकटों का एक सेट और एक लघु पत्रक लॉन्च किया था।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दूसरे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में सूर्य नमस्कार पर स्मारक डाक टिकटों का एक सेट जारी किया था।संयुक्त राष्ट्र डाक प्रशासन (UNPA) ने 2016 में न्यूयॉर्क में इस दिवस को मनाने के लिए 10 योग आसन दिखाते हुए टिकटों का एक सेट जारी किया था। दिल्ली के सभी डाकघर बुक किये जाने वाले डाक पर “Be with Yoga, Be at Home” संदेश चिपका रहे हैं। डाकघरों के आगंतुकों के बीच योग को बढ़ावा देने के लिए दिल्ली के 60 डाकघरों में भी वीडियो चलाया जा रहा है।

जलवायु परिवर्तन के कारण लक्षद्वीप में बढेगा समुद्र का स्तर : अध्ययन

विभिन्न ग्रीनहाउस गैस परिदृश्यों को प्रोजेक्ट करने के लिए किए गए एक अध्ययन के अनुसार, लक्षद्वीप द्वीप समूह के आसपास समुद्र का स्तर 0.4 मिमी / वर्ष बढ़कर 0.9 मिमी / वर्ष हो जाएगा। इस अध्ययन के अनुसार, लक्षद्वीप द्वीप समूह के लिए अनुमानित सबसे खराब संभावित बाढ़ परिदृश्य अनुमानित विभिन्न उत्सर्जन परिदृश्यों के समान हैं। इस द्वीपसमूह के सभी द्वीप समुद्र के स्तर में वृद्धि के प्रभाव के प्रति संवेदनशील होंगे। छोटे द्वीपों चेतलाट (Chetlat) और अमिनी (Amini) में बड़े भूमि-नुकसान की आशंका है। मौजूदा तटरेखा का लगभग 60% -70% अमिनी में और 70% -80% चेतलाट में भूमि-नुकसान का अनुभव करेगा। बड़े द्वीप मिनिकॉय और कवरत्ती भी समुद्र के स्तर में वृद्धि की चपेट में हैं।वे मौजूदा तटरेखा के 60% के साथ भूमि-नुकसान का अनुभव करेंगे। सभी उत्सर्जन परिदृश्यों के तहत एंड्रोथ द्वीप (Androth Island) पर समुद्र के स्तर में वृद्धि के प्रभावों का कम से कम प्रभाव पड़ेगा। द्वीपसमूह में एकमात्र हवाई अड्डा अगत्ती द्वीप के दक्षिणी सिरे पर स्थित है, और समुद्र के स्तर में वृद्धि के कारण क्षति का जोखिम है।

20 जून: विश्व शरणार्थी दिवस

दुनिया भर में शरणार्थियों को सम्मानित करने के लिए, 20 जून को विश्व शरणार्थी दिवस मनाया जा जाता है। पहली बार विश्व शरणार्थी दिवस 20 जून, 2001 को मनाया गया था। संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के अनुसार आतंक, युद्ध और संघर्ष से बचने के लिए हर 1 मिनट में 20 लोग अपने घर से भागने को मजबूर हैं। 2019 के अंत तक, दुनिया में जबरन विस्थापित होने वाले लोगों के अनुमानित संख्या लघभग 79.5 मिलियन है।तमाम दुर्दशा के बावजूद, दुनिया भर में शरणार्थियों द्वारा दिखाए गए साहस और लचीलेपन को आज मनाया जा रहा है ताकि उन्हें और मजबूत किया जा सके और उन्हें यह एहसास दिलाया जा सके कि वे न केवल जीवित रहेंगे, बल्कि अपने अधिकारों और सपनों को प्राप्त करने की दिशा में भी कामयाब होंगे।इसके लिए, दुनिया भर की सरकारों को शरणार्थियों की रक्षा और समर्थन के लिए इस तिथि पर अपने कर्तव्यों का एहसास कराया जाता है।संघर्षों और आतंक के अलावा, आज दुनिया में कई शरणार्थी ऐसे भी हैं जिन्हें प्राकृतिक आपदाओं जैसे सुनामी, भूकंप, बाढ़ आदि के कारण अपना घर छोड़ने के लिए मजबूर होना पड़ा। 2019 संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) के अनुसार, दुनिया में 68% शरणार्थी सीरिया (6.6 मिलियन शरणार्थी), वेनेजुएला (3.7 मिलियन शरणार्थी), अफगानिस्तान (2.7 मिलियन), दक्षिण सूडान (2.2 मिलियन) और म्यांमार (1.1 मिलियन) देशों से हैं। 2019 तक दुनिया भर में कुल 79.5 मिलियन शरणार्थियों में से 26 मिलियन 18 वर्ष से कम आयु के हैं।

हल्दिया जाने वाले पुर्तगाली कंटेनर जहाज से तेल रिसाव की रिपोर्ट

हल्दिया जाने वाले पुर्तगाली कंटेनर जहाज से तेल रिसाव की सूचना मिलने के बाद भारतीय तटरक्षक बल सतर्क है। मैरीटाइम रेस्क्यू कोऑर्डिनेशन सेंटर, कोलंबो ने चेन्नई से लगभग 450 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में समुद्र के बीच में तेल रिसाव की सूचना दी।पुर्तगाली कंटेनर जहाज एमवी डेवोन (MV Devon) में कोलंबो से हल्दिया, पश्चिम बंगाल के रास्ते में ईंधन टैंक में एक पानी के नीचे की दरार आई है। इस टैंक में लगभग 120 KL सल्फर ईंधन तेल था।दरार के परिणामस्वरूप निवारक कार्रवाई किए जाने से पहले लगभग 10 KL तेल समुद्र में फैल गया।यह पोत 382 कंटेनरों में 10,795 टन सामान्य कार्गो ले जा रहा था और इसमें 17 क्रू मेम्बर थे।

वेंटिलेटर की आवश्यकता वाले रोगियों की पहचान में सहायता करने वाले नए सॉफ्टवेयर का विकास

एक सॉफ्टवेयर अब उन रोगियों की पहचान कर सकता है जिन्हें आईसीयू में वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत है। समय रहते मरीज को रेफर करने से आपात स्थिति से पहले आवश्यक व्यवस्था करने में मदद मिलेगी। कोविड सेविरिटी स्कोर (सीएसएस) सॉफ्टवेयर नामक सॉफ्टवेयर में एक एल्गोरिथ्म है जो कारोना मरीजों को मापदंडों के एक सेट से मापता है। यह प्रत्येक रोगी के लिए एक पूर्व-निर्धारित डायनेमिक एल्गोरिथ्म के सहारे कई बार स्कोर करता है और एक ग्राफिकल ट्रेंड में इसे मैप करने के लिए एक कोविड सेविरिटी स्कोर (सीएसएस) देता है। इस सॉफ्टवेयर प्रौद्योगिकी का उपयोग कोलकाता और उपनगरों में तीन सामुदायिक कोविड देखभाल केंद्रों में किया जा रहा है, जिसमें कोलकाता के बैरकपुर में एक 100-बेड का सरकारी कोविड देखभाल केंद्र भी शामिल है। कोरोना महामारी के दौरान अचानक आईसीयू और अन्य आपातकालीन आवश्यकताओं को पूरा करना अस्पतालों के लिए एक चुनौती रही है। ऐसी स्थितियों के बारे में समय पर जानकारी स्वास्थ्य संकट को बेहतर ढंग से प्रबंधन करने में मदद करेगी। फाउंडेशन फॉर इनोवेशन इन हेल्थ, कोलकाता, विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार के साइंस फॉर इक्विटी, एम्पावरमेंट एंड डेवलपमेंट (सीड) के समर्थन और आईआईटी गुवाहाटी के साथ सहभागिता कर डॉ. केविन धालीवाल, एडिनबर्ग विश्वविद्यालय और डॉ. सायंतन बंदोपाध्याय, पूर्व में डब्ल्यूएचओ (दक्षिण एशिया क्षेत्रीय कार्यालय) के सहयोग से एक एल्गोरिथम विकसित किया है जो लक्षणों, संकेतों, महत्वपूर्ण मापदंडों, परीक्षण रिपोर्ट और कोविड संक्रमित रोगी के संक्रमण को मापता है और प्रत्येक को एक पूर्व-निर्धारित डायनेमिक एल्गोरिथ्म के सहारे स्कोर करता है। इस प्रकार एक कोविद सेविरिटी स्कोर ( सीएसएस) देता है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.