Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

4 July 2021

शिक्षा मंत्री निशंक 16 जुलाई को सीबीएसई शिक्षकों के लिए इनोवेशन एंबेसडर-ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक 16 जुलाई को केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड-सीबीएसई के शिक्षकों के लिए इनोवेशन एंबेसडर-ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारंभ करेंगे। सीबीएसई ने घोषणा की थी कि वह शिक्षा मंत्रालय के इनोवेशन सेल-एमआईसी और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद-एआईसीटीई के सहयोग से 50 हजार शिक्षकों को इनोवेशन एंबेसडर के रूप में प्रशिक्षित करेगा। सीबीएसई से संबद्ध स्कूल इस कार्यक्रम के लिए अधिकतम पांच शिक्षकों को नामित कर सकते हैं जिन्हें पहले आओ, पहले पाओ के आधार पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। सीबीएसई स्कूल 10 जुलाई तक अपने शिक्षकों का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इस कार्यक्रम का पहला बैच 20 जुलाई से शुरू होगा।

अतुल केशप ने भारत में अमरीका के नए राजदूत का कार्यभार संभाल लिया

अतुल केशप ने भारत में अमरीका के नए राजदूत का कार्यभार संभाल लिया है। हाल ही में उन्होंने श्रीलंका और मालदीव में अमरीका के राजदूत के रूप में कार्य किया था। अमरीकी विदेश विभाग ने कहा है कि भारतीय मूल के अमरीकी नागरिक अतुल केशप काफी समय से राजनयिक रहे हैं और उनकी नियुक्ति से दोनों देशों के बीच निकट संबंध मज़बूत करने में मदद मिलेगी।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफा दिया, पुष्‍कर सिंह धामी उत्‍तराखंड के नये मुख्‍यमंत्री होंगे।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने इस्तीफा दे दिया। श्री रावत अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ राजभवन पहुंचे और राज्यपाल बेबी रानी मौर्या को अपना इस्तीफा सौंप दिया। श्री रावत ने मुख्यमंत्री का कार्यभार संभालने के चार महीने से कम समय के अंदर ही इस्तीफा दिया है। श्री रावत ने उनपर भरोसा करने के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जे.पी. नड्डा का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि संवैधानिक संकट को ध्यान में रखते हुए इस पद से उनका इस्तीफा देना ही उचित है। पुष्‍कर सिंह धामी उत्‍तराखंड के नये मुख्‍यमंत्री होंगे। श्री धामी को भाजपा विधायक दल का नेता चुना गया। श्री धामी का जम्‍न 16 सितम्‍बर 1975 को पिथौरागढ जिले में हुआ था। वे कुमाउं क्षेत्र में खटीमा विधानसभा क्षेत्र से दोबारा विधायक चुने गये।

बनिहाल-काजीगुंड सुरंग के माध्यम से वाहनों के यातायात का प्रथम ट्रायल रन 24 घंटे में सफलता पूर्वक हुआ

केंद्रशासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर के जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग के साथ डबल ट्यूब फोर लेन बनिहाल-काजीगुंड सुरंग के माध्यम से वाहनों के यातायात का प्रथम ट्रायल रन 24 घंटे में सफलता पूर्वक हुआ। आठ दशमलव पांच किलोमीटर की सुरंग 21 हजार करोड़ रुपये की लागत से 10 वर्षों की परीक्षण प्रक्रिया से बनी है और इस महीने चालू होने की संभावना है। बनिहाल-काजीगुंड सुरंग से जम्मू और श्रीनगर के बीच की दूरी 16 किलोमीटर कम हो जाएगी और इसे बिल्ड, ऑपरेट और ट्रांसफर - बीओटी के आधार पर बनाया गया है।

उत्तर प्रदेश सरकार ने लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए हेल्थ एटीएम स्थापित करने की योजना बनाई

उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार ने लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने के लिए हेल्थ एटीएम स्थापित करने की योजना बनाई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में उच्चस्तरीय कोविड-19 बैठक की समीक्षा करते हुए इस दिशा में संभावनाएं तलाशने के निर्देश दिए ताकि गरीब और असहाय लोगों को इसका लाभ मिल सके। इन हेल्थ एटीएम पर कोई भी व्यक्ति अपना ब्लड प्रेशर, पल्स रेट, शरीर का तापमान, आक्सीजन की मात्रा और वजन इत्यादि की जांच आसानी से कर सकेगा।

फर्स्ट मूवेबल फ्रेशवॉटर टनल एक्वेरियम: इंडियन रेलवे

हाल ही में भारतीय रेलवे (IR) ने बंगलूरू रेलवे स्टेशन पर देश के फर्स्ट मूवेबल फ्रेशवॉटर टनल एक्वेरियम (Movable Freshwater Tunnel Aquarium) की स्थापना की है। क्रांतिवीर संगोली रायन्ना रेलवे स्टेशन, जिसे बंगलूरू सिटी रेलवे स्टेशन के नाम से भी जाना जाता है, भारत का पहला रेलवे स्टेशन बन गया है जिसमें मूवेबल फ्रेशवॉटर टनल एक्वेरियम है। भारतीय रेलवे स्टेशन विकास निगम लिमिटेड (IRSDC) द्वारा एचएनआई एक्वाटिक किंगडम (HNi Aquatic Kingdom) के सहयोग से यह एक्वेरियम खोला गया है।यह एक्वेरियम अमेज़ॅन नदी (दक्षिण अमेरिका की) अवधारणा पर आधारित अपनी तरह का एक जलीय पार्क है।यह एक 12 फीट लंबा जलीय साम्राज्य है, असंख्य वनस्पतियों और जीवों के साथ पहला पलुडेरियम (विवरियम जिसमें स्थलीय और जलीय दोनों तत्त्व शामिल हैं)। इसे रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के सुखद अनुभव के उद्देश्य से 1.2 करोड़ रुपए की लागत से बनाया गया है।इसका उद्देश्य भारतीय रेल के लिये राजस्व अर्जन में सुधार करना भी है।यह एक प्रकार से शिक्षाप्रद भी है, यहाँ मछलियों के जीवन, आकार, साम्राज्य का अनुभव किया जा सकता है।

फिलीपींस के ‘ताल ज्वालामुखी’ में ‘फ्रीएटोमैग्मैटिक विस्फोट’

हाल ही में फिलीपींस ने ‘ताल ज्वालामुखी’ में ‘फ्रीएटोमैग्मैटिक विस्फोट’ (Phreatomagmatic Eruption) के बाद ज्वालामुखी के चेतावनी स्तर को ‘स्तर-3’ (पाँच-स्तर के पैमाने पर) तक बढ़ा दिया है। इस ‘फ्रीएटोमैग्मैटिक विस्फोट’ के कारण तकरीबन एक किलोमीटर ऊँचा गहरे भूरे रंग का प्लम उत्पन्न हुआ था।‘स्तर-3’ मैग्मैटिक अशांति या मैग्मा की ऐसी गति इंगित करता है, जो भविष्य में आने वाले विस्फोटों में वृद्धि कर सकती है। यह ज्वालामुखी फिलीपींस के मनीला से 50 किलोमीटर दूर स्थित ‘लुजोन द्वीप’ पर है।

आवश्यक रक्षा सेवाओं में संलग्न व्यक्ति द्वारा किसी भी आंदोलन और हड़ताल किये जाने पर पूर्णतः रोक लगाने के लिये एक अध्यादेश जारी

हाल ही में केंद्र सरकार ने आवश्यक रक्षा सेवाओं में संलग्न व्यक्ति द्वारा किसी भी आंदोलन और हड़ताल किये जाने पर पूर्णतः रोक लगाने के लिये एक अध्यादेश जारी किया है। ‘आवश्यक रक्षा सेवा अध्यादेश 2021’ पर गजट अधिसूचना के मुताबिक, ‘कोई भी व्यक्ति, जो अध्यादेश के तहत अवैध हड़ताल का आयोजन करता है अथवा इसमें हिस्सा लेता है, उसे एक वर्ष तक की अवधि के लिये कारावास या 10,000 रुपए तक जुर्माने अथवा दोनों सज़ा से दंडित किया जा सकता है। अधिनियम में कहा गया है कि रक्षा उपकरणों के उत्पादन, सेवाओं और सेना से जुड़े किसी भी औद्योगिक प्रतिष्ठान के संचालन या रखरखाव के साथ-साथ रक्षा उत्पादों की मरम्मत और रखरखाव में कार्यरत कर्मचारी अध्यादेश के दायरे में आएंगे। ज्ञात हो कि यह अध्यादेश ऐसे समय में आया है जब आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) के प्रमुख महासंघों द्वारा OFB को निगमित करने के सरकार के फैसले के विरोध में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की घोषणा की गई है। अध्यादेश के तहत दूसरे लोगों को आंदोलन या हड़ताल में हिस्सा लेने के लिये प्रेरित करना भी एक दंडनीय अपराध होगा। विदित हो कि बीते दिनों केंद्रीय मंत्रिमंडल ने लगभग 200 वर्ष पुराने आयुध निर्माणी बोर्ड (OFB) के निगमीकरण की योजना को मंज़ूरी दी थी।

दिल्ली में क्लाउड-आधारित स्वास्थ्य सेवा परियोजना

हाल ही में दिल्ली के मुख्यमंत्री ने महत्त्वाकांक्षी क्लाउड-आधारित स्वास्थ्य देखभाल सूचना प्रबंधन प्रणाली (HIMS) की प्रगति की समीक्षा करते हुए वर्ष 2022 तक इस परियोजना के शुरू होने की घोषणा की है। दिल्ली सरकार की इस महत्त्वाकांक्षी स्वास्थ्य परियोजना के तहत दिल्ली के सभी निवासियों के नाम पर स्वास्थ्य कार्ड जारी किये जाएंगे, जिसके लिये सरकार द्वारा विशेष सर्वेक्षण किया जाएगा। यह दिल्ली के प्रत्येक निवासी के लिये सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं के लाभों की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा। इसके पश्चात् इस कार्ड को क्लाउड-आधारित ‘स्वास्थ्य देखभाल सूचना प्रबंधन प्रणाली’ के साथ एकीकृत किया जाएगा। इस प्रणाली का उद्देश्य स्वास्थ्य सेवा वितरण प्रक्रिया को लक्षित करना है। दिल्ली में सभी रोगी देखभाल सेवाओं, अस्पताल प्रशासन, बजट एवं नियोजन, आपूर्ति शृंखला प्रबंधन और बैकएंड सेवाओं तथा प्रक्रियाओं को इस प्रणाली के तहत लाया जाएगा। इस प्रणाली की सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता यह है कि यह पूर्णतः क्लाउड आधारित और डिजिटल होगी, जो कि नागरिकों को एक ही मंच पर समस्त जानकारी प्राप्त करने में सक्षम बनाएगा, जिससे उन्हें आपातकालीन स्थिति में मदद मिल सकेगी। इस प्रकार की सूचना प्राप्त करने के लिये निवासियों के पंजीकृत कार्ड नंबर का प्रयोग किया जाएगा।

हैदराबाद में स्थापित होगी तीसरी वैक्सीन परीक्षण प्रयोगशाल

केंद्र सरकार ने हैदराबाद में एक नई टीका परीक्षण प्रयोगशाला की स्थापना को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किशन रेड्डी ने इसकी घोषणा की। एक ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि इस केंद्र के लिए धनराशि पीएम केयर्स फंड से जारी की गई है। यह प्रयोगशाला हैदराबाद स्थित राष्ट्रीय पशु जैव प्रौद्योगिकी संस्थान में स्‍थापित की जाएगी।

अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी श्रमिकों पर ILO ने रिपोर्ट जारी की

अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) ने अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी श्रमिकों पर अपनी रिपोर्ट प्रकाशित की। COVID-19 महामारी और बढ़े हुए वैश्विक औद्योगीकरण के बीच यह रिपोर्ट प्रकाशित की गई है, जिसने रोजगार की तलाश में सीमा पार करने वाले श्रमिकों में बदलाव से दुनिया की अर्थव्यवस्था को प्रभावित किया है। ILO की रिपोर्ट के अनुसार, वैश्विक स्तर पर अंतरराष्ट्रीय प्रवासी श्रमिकों की संख्या बढ़कर 169 मिलियन हो गई है।2017 से इसमें 3% की वृद्धि हुई है।2017 के बाद से युवा प्रवासी कामगारों (15-24 आयु वर्ग के) की हिस्सेदारी में भी लगभग 2% (3.2 मिलियन) की वृद्धि हुई है।COVID-19 महामारी ने अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी श्रमिकों की आधारहीन स्थिति को उजागर कर दिया है क्योंकि संख्या 164 से बढ़कर 169 मिलियन हो गई है।महिलाओं को कम वेतन वाली और कम कुशल नौकरियों में अधिक प्रतिनिधित्व दिया जाता है।महिला प्रवासी कामगारों की सामाजिक सुरक्षा तक सीमित पहुंच है और सहायता सेवाओं के लिए कम विकल्प उपलब्ध हैं।यूरोप, मध्य एशिया और अमेरिका में सभी प्रवासी श्रमिकों का 3% मौजूद है।2017 में प्रवासी श्रमिकों ने दुनिया की अंतर्राष्ट्रीय प्रवासी आबादी का लगभग 59% कवर किया था।

केंद्र सरकार LIC अध्यक्ष की सेवानिवृत्ति आयु 62 वर्ष तक बढ़ाई गयी

केंद्र सरकार ने एलआईसी अध्यक्ष की सेवानिवृत्ति आयु 62 वर्ष तक बढ़ा दी है । भारतीय जीवन बीमा निगम (स्टाफ) विनियम, 1960 में संशोधन करके सेवानिवृत्ति की आयु बढ़ा दी गई है। नियमों में किए गए परिवर्तनों को “भारतीय जीवन बीमा निगम (कर्मचारी) संशोधन नियम, 2021” कहा जाएगा। भारतीय स्टेट बैंक (SBI) को छोड़कर अधिकांश सार्वजनिक उपक्रमों के शीर्ष अधिकारियों के लिए सेवानिवृत्ति की आयु 60 वर्ष है। केंद्र सरकार ने एलआईसी के अध्यक्ष एम.आर. कुमार को 30 जून, 2021 से 13 मार्च, 2022 तक नौ महीने के विस्तार को मंजूरी दी थी ।

अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान में बगराम (Bagram) हवाई अड्डा छोड़ा

अमेरिका की सेना ने लगभग दो दशकों के बाद अफगानिस्तान के बगराम (Bagram) हवाई क्षेत्र को छोड़ दिया है। बगराम हवाई क्षेत्र 9/11 के आतंकी हमलों की पृष्ठभूमि में अफगानिस्तान में कई सैन्य मुठभेड़ों और अमेरिका के ‘आतंक के खिलाफ युद्ध’ का केंद्र था। बगराम हवाई क्षेत्र को अब अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा और रक्षा बल को सौंप दिया गया है। यह एयरबेस तालिबान और अल-कायदा आतंकवादी संगठनों के खिलाफ अमेरिकी सेना के युद्ध का स्थल रहा है। इसमें अमेरिकी सेना के 455वें वायु अभियान विंग के कर्मचारियों ने का किया। इसे अमेरिकी सेना, नौसेना की इकाइयों ने इस्तेमाल किया, और मरीन कोर ने इस हवाई क्षेत्र को बेस के रूप में भी इस्तेमाल किया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाईडेन ने 11 सितंबर तक अफगानिस्तान से अमेरिकी सैनिकों की पूरी तरह से वापसी का वादा किया था। बगराम एयरबेस से 2,500-3,500 अमेरिकी सैनिकों की वर्तमान वापसी उस वादे पर अनुवर्ती कार्रवाई का संकेत है। अब, अमेरिका काबुल में अमेरिकी दूतावास की सुरक्षा के लिए अफगानिस्तान में लगभग 6,500 सैनिकों को शरण देता है।

केंद्र सरकार ने आईटी हार्डवेयर के लिए PLI के तहत 14 योग्य आवेदकों को मंजूरी दी

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने आईटी हार्डवेयर उत्पादों के लिए प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) योजना के तहत 14 आवेदकों को मंजूरी दी है। आईटी हार्डवेयर के लिए पीएलआई योजना वित्तीय वर्ष 2020 के आधार वर्षों में शुद्ध वृद्धिशील बिक्री पर 4% से 2% का प्रोत्साहन प्रदान करती है। पीएलआई योजना के तहत लक्षित सेक्शन लैपटॉप, टैबलेट, पर्सनल कंप्यूटर (पीसी) और सर्वर हैं। यह योजना घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देने और इन सभी आईटी हार्डवेयर उत्पादों की मूल्य श्रृंखला में बड़े निवेश को आकर्षित करने के लिए उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहनों का प्रस्ताव करती है। इन आवेदकों में डेल, ICT (विस्ट्रॉन), राइजिंग स्टार्स हाई-टेक (फॉक्सकॉन) और फ्लेक्सट्रॉनिक्स सहित विश्व स्तर पर चुनी गई चार कंपनियां थीं। घरेलु कंपनी श्रेणी के तहत लावा इंटरनेशनल लिमिटेड, इंफोपावर टेक्नोलॉजीज (सहस्र और MiTAC का संयुक्त उद्यम), डिक्सन टेक्नोलॉजीज (इंडिया) लिमिटेड, भगवती (माइक्रोमैक्स) नियोलिन्क, नेटवेब, ऑप्टिमस, वीवीडीएन, स्माइल इलेक्ट्रॉनिक्स और पनाचे डिजिलाइफ जैसी 10 कंपनियों को मंजूरी दी गई।

माना पटेल (Maana Patel) बनी टोक्यो 2020 ओलंपिक क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय महिला तैराक

माना पटेल (Maana Patel) टोक्यो ओलंपिक 2021 के लिए क्वालीफाई करने वाली भारत की पहली महिला और केवल तीसरी तैराक बन गई हैं। माना पटेल ओलंपिक के अलावा श्रीहरि नटराज और साजन प्रकाश ने भी ओलंपिक के लिए क्वालीफाई किया है। वह अहमदाबाद की 21 वर्षीय बैकस्ट्रोक तैराक हैं, जिन्होंने राष्ट्रीय खेलों में 50 मीटर बैकस्ट्रोक और 200 मीटर बैकस्ट्रोक में स्वर्ण पदक जीते हैं। उन्होंने 60वें राष्ट्रीय स्कूल खेलों (2015) में 100 मीटर बैकस्ट्रोक में भी स्वर्ण पदक जीता थाऔर बैकस्ट्रोक में राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़ा था। उन्हें 2015 में ओलंपिक गोल्ड क्वेस्ट के लिए चुना गया था। 2018 में, उन्होंने 72वीं सीनियर नेशनल एक्वाटिक चैंपियनशिप में तीन स्वर्ण पदक हासिल किए। उनका जन्म 18 मार्च 2000 को हुआ था। वह अहमदाबाद, गुजरात की एक बैकस्ट्रोक तैराक हैं।

गूगल ने जर्मन डॉक्टर और पैरालंपिक खेल के जनक माने जाने वाले ‘सर लुडविग गुट्टमन’ का डूडल बनाया

हाल ही में गूगल ने एक एनिमेटेड डूडल के माध्यम से जर्मन डॉक्टर और पैरालंपिक खेल के जनक माने जाने वाले ‘सर लुडविग गुट्टमन’ को उनके 122वें जन्मदिवस पर श्रद्धांजलि अर्पित की। सर लुडविग गुट्टमन का जन्म 3 जुलाई, 1899 को तत्कालीन जर्मनी के ‘टोस्ट’ (वर्तमान में पोलैंड के ‘टोस्ज़ेक’) नामक स्थान पर हुआ था। अपनी प्रारंभिक शिक्षा पूरी करने के बाद सर गुट्टमन को वर्ष 1924 में एम.डी. की डिग्री प्राप्त हुई। उन्होंने एक सुप्रसिद्ध न्यूरोलॉजिस्ट के रूप में काफी ख्याति प्राप्त की और रीढ़ की हड्डी की चोटों और न्यूरोसर्जिकल कार्य प्रक्रियाओं पर उनके द्वारा किये गए शोध कार्य ने उन्हें जर्मनी के सबसे प्रमुख न्यूरोलॉजिस्ट के रूप में प्रसिद्ध किया। चूँकि वे एक यहूदी थे, अतः नाज़ीवाद के उदय के दौरान वर्ष 1933 में उन्हें देश में चिकित्सीय कार्य करने से रोक दिया गया, इसके पश्चात् वे अपनी जान बचाकर वर्ष 1939 में जर्मनी से इंग्लैंड चले गए। वहाँ उन्होंने विशेषतौर पर पैरापलेजिया नामक स्थिति के बारे में और अधिक शोध कार्य किये। वर्ष 1948 में उन्होंने पहली बार व्हीलचेयर उपयोगकर्त्ताओं के लिये एक तीरंदाजी प्रतियोगिता का आयोजन किया, जिसे अब 'पैरालंपिक खेलों' के रूप में जाना जाता है। उस समय इसे 'स्टोक मैंडविल गेम्स' के नाम से जाना जाता था, जिसका नाम उस अस्पताल के नाम पर रखा गया था, जहाँ सर गुट्टमन काम कर रहे थे। इस तरह रीढ़ की हड्डी की चोटों और न्यूरोलॉजी के अन्य पहलुओं में उनके शोध को दुनिया भर के चिकित्सकों द्वारा सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है, वहीं उन्हें दिव्यांग समुदाय को एक मंच प्रदान करने की दिशा में उनके बहुमूल्य योगदान के लिये भी याद किया जाता है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.