Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

11 July 2021

वियतनाम का प्रधानमंत्री बनने पर फाम मिन्ह चीन्ह को प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Prime Minister Narendra Modi) ने अपने वियतनाम के समकक्ष फाम मिन्ह चिन्ह (Pham Minh Chinh) से फोन पर बात की और उन्हें देश के प्रधानमंत्री बनने पर बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने वियतनाम के पूर्व सुरक्षा अधिकारी और वहां की कम्युनिस्ट पार्टी के नेता फाम मिन्ह चीन्ह से वार्ता के दौरान भरोसा जताया कि उनके कुशल निर्देशन में दोनों देशों के बीच व्यापक सामरिक साझेदारी और भी मजबूत होगी।

यूरोपीय संघ के 15 देशों ने भारत की कोविशील्‍ड वैक्‍सीन को मान्‍यता दी

विश्व स्वास्थ्य संगठन की प्रमुख वैज्ञानिक डॉक्‍टर सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि यूरोपीय संघ के 15 देशों ने अब भारतीय सीरम संस्‍थान द्वारा निर्मित कोविशील्ड टीके को मान्यता दी है। उनकी यह टिप्पणी बेल्जियम द्वारा कोविशील्ड टीके को मान्यता दिए जाने के बाद आई है। स्विट्जरलैंड, आइसलैंड और यूरोपीय संघ के कुछ देशों ने पहले यात्रा प्रवेश के लिए कोविशील्ड को हरी झंडी दी थी। उधर, एस्टोनिया ने इस बात की पुष्टि की है कि वह यात्रा के लिए भारत सरकार के सभी टीकों को मान्यता देगा।

डॉ. जयशंकर तिबिलिसी शहर में महात्मा गांधी की प्रतिमा का अनावरण करेंगे

विदेश मंत्री एस. जयशंकर दो दिन की यात्रा पर जॉर्जिया पहुंचे। जॉर्जिया के विदेश मंत्री डेविड ज़ल्कालियानी ने उनकी अगवानी की। यह किसी भारतीय विदेश मंत्री की पहली जार्जिया यात्रा है। इस यात्रा के दौरान डॉ. जयशंकर जॉर्जिया के विदेशमंत्री के साथ आपसी संबंधों के अलावा क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर भी विचार-विमर्श करेंगे। डॉ. जयशंकर तिबिलिसी शहर में महात्मा गांधी की नवस्थापित प्रतिमा का अनावरण भी करेंगे। तिबिलिसी पहुंचने पर डॉ. जयशंकर ने एक समारोह में जॉर्जिया सरकार और जनता को जॉर्जिया की 17वीं सदी की महारानी सेंट केटेवान के पवित्र अवशेष सौंपे। इस अवसर पर जॉर्जिया में सर्वोच्च कैथोलिक धर्मगुरु बीटीट्यूड इलाइया द्वितीय और प्रधानमंत्री इराकली गैरिबाश्विली भी मौजूद थे। वर्ष 2005 में, मध्यकालीन पुर्तगाली अभिलेखों के आधार पर सेंट क्वीन केटेवान के अवशेष गोवा में सेंट ऑगस्टीन कॉन्वेंट में मिले थे। माना जाता है कि ये अवशेष 1627 में गोवा लाए गए थे। बाद में, डीएनए विश्लेषण से भी इस अवशेष के सेंट केटेवान के होने की पुष्टि हुई थी।

खादी और ग्रामोद्योग आयोग ने तीन देशों भूटान, संयुक्‍त अरब अमीरात और मेक्सिको में खादी ट्रेडमार्क हासिल किया

खादी और ग्रामोउद्योग आयोग- के.वी.आई.सी. ने हाल में ही तीन देशों भूटान, संयुक्‍त अरब अमीरात और मेक्सिको में खादी ट्रेडमार्क हासिल किया है। यह खादी ब्रॉन्‍ड को वैश्विक स्‍तर पर स्‍थापित करने में बड़ा कदम है। इन देशों के अलावा के.वी.आई.सी. के दुनियाभर में 40 देशों में ट्रेडमार्क के आवेदन लंबित हैं। इन देशों में अमेरिका, कतर, श्रीलंका, जापान, इटली, ऑस्‍ट्रेलिया, न्‍यूजीलैंड़, सिंगापुर, ब्राजील और अन्‍य देश शामिल हैं। के.वी.आई.सी. को अभी तक जर्मनी, ब्रिटेन, ऑस्‍ट्रेलिया, रूस, चीन और यूरोपीय संघ में कुछ उत्‍पादों पर ट्रेडमार्क मिल चुका है। इन उत्‍पादों में खादी कपड़ा, परिधान, साबुन, सौन्‍दर्य प्रसाधन और अगरबत्‍ती आदि शामिल हैं। के.वी.आई.सी. के अध्‍यक्ष विनय कुमार सक्‍सेना ने कहा है कि ट्रेडमार्क पंजीकरण से वैश्विक स्‍तर पर खादी ब्रॉन्‍ड का दुरूपयोग रोकने में मदद मिलेगी।

उत्तर प्रदेश 2021-30 के लिए जनसंख्या नियंत्रण पर नई नीति लांच करेगा

उत्तर प्रदेश सरकार 2021-30 के लिए जनसंख्या नियंत्रण पर अपनी नई नीति जारी करने जा रही है। इसे विश्व जनसंख्या दिवस (World Population Day) के मौके पर 11 जुलाई को रिलीज किया जाएगा। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री, योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने लोगों को बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए जनसंख्या नियंत्रण के लिए समुदाय केंद्रित दृष्टिकोण का आग्रह किया है। कुछ समुदायों में जनसंख्या के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए सामुदायिक केंद्रित दृष्टिकोण की आवश्यकता है। गरीबी और निरक्षरता जनसंख्या विस्तार के प्रमुख कारक हैं। इसलिए सतत विकास लक्ष्यों की भावना में निहित उद्देश्यों के अनुरूप नई नीति जारी की जाएगी। उत्तर प्रदेश में कुल प्रजनन दर 2.7% है। यह आदर्श रूप से 2.1% से कम होना चाहिए। बिहार और यूपी को छोड़कर अधिकांश राज्यों ने आदर्श प्रजनन दर हासिल कर ली है। 2011 की जनगणना ने उत्तर प्रदेश को भारत के सबसे अधिक आबादी वाले राज्य के रूप में चिह्नित किया है जिसके बाद महाराष्ट्र और बिहार हैं।

dbGENVOC: ओरल कैंसर के जीनोमिक वेरिएंट का डेटाबेस

हाल ही में जैव प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा वित्तपोषित स्वायत्त संस्थान नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (National Institute of Biomedical Genomics- NIBMG) ने ओरल कैंसर/ मुख के कैंसर में जीनोमिक बदलाव पर विश्व का पहला डेटाबेस (dbGENVOC) तैयार किया है। डीबीजेनवोक ओरल कैंसर के जीनोमिक वेरिएंट्स का ब्राउज करने योग्य ऑनलाइन डेटाबेस है जिसे संभावित उपयोगकर्त्ताओं को नैदानिक रूप से प्रासंगिक विभिन्न सोमेटिक/दैहिक और जर्मलाइन वेरिएंट डेटा तक पहुंँच प्रदान करने, प्रश्न करने, ब्राउज़ करने और डाउनलोड करने की अनुमति देने के उद्देश्य से विकसित किया गया है। सोमेटिक या एक्वायर जीनोमिक वेरिएंट (Somatic or Acquired Genomic Variants) कैंसर का सबसे आम कारण है, जो किसी व्यक्ति के जीवन के दौरान उसकी कोशिका में जीन को नष्ट होने से होता है। एक जर्मलाइन वेरिएंट (Germline Variant) युग्मकों (Gametes) में पाया जाता है और गर्भाधान के समय सीधे माता-पिता से बच्चे में जाता है। जर्मलाइन रोगजनक वेरिएंट के कारण होने वाले कैंसर को विरासत में मिला या वंशानुगत कहा जाता है। इसे भारत और दक्षिण-पूर्व एशिया के विभिन्न क्षेत्रों में मुख के कैंसर के नए रोगियों के विभिन्न डेटा के साथ वार्षिक तौर पर अपडेट किया जाएगा। विश्व कैंसर रिपोर्ट 2020 के अनुसार, भारत में वर्ष 2018 में अनुमानित 1.16 मिलियन नए कैंसर के मामले थे। 10 में से 1 भारतीय अपने जीवनकाल में कैंसर से ग्रसित होता है तथा 15 में से 1 की मृत्यु इस बीमारी से होती है। भारत में छह सबसे आम प्रकार के कैंसरों में स्तन कैंसर (Breast Cancer), ओरल कैंसर (Oral Cancer), सर्वाइकल कैंसर (Cervical Cancer), फेफड़े का कैंसर (Lung Cancer), पेट का कैंसर (Stomach Cancer) और कोलोरेक्टल कैंसर (Colorectal Cancer) शामिल हैं। ओरल कैंसर भारत में पुरुषों में पाया जाने वाला कैंसर का सबसे प्रचलित रूप है जो मुख्य रूप से तंबाकू चबाने के कारण होता है।

NRCY ने High Altitude वाले क्षेत्रों में पाए जाने वाले याक का बीमा करने के लिये NICL के साथ करार किया

हाल ही में अरुणाचल प्रदेश के पश्चिम कामेंग ज़िले के दिरांग में स्थित याक पर राष्ट्रीय अनुसंधान केंद्र (National Research Centre on Yak- NRCY) ने उच्च तुंगता (High Altitude) वाले क्षेत्रों में पाए जाने वाले याक का बीमा करने के लिये नेशनल इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड (NICL) के साथ करार किया है। NRCY एक प्रमुख शोध संस्थान है जो विशेष रूप से भारत में याक संबंधी अनुसंधान एवं विकास कार्यों में संलग्न है। इसकी स्थापना वर्ष 1989 में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद द्वारा की गई थी। याक बोविनी (Bovini) जनजाति से संबंधित हैं, जिसमें बाइसन, भैंस और मवेशी भी शामिल हैं। यह -40 डिग्री सेल्सियस तक के तापमान को सहन कर सकता है। इनके लंबे बाल उच्च उच्च तुंगता वाले क्षेत्रों में रहने हेतु इन्हें अनूकूल बनाते है, जो पर्दे की तरह अपने पक्षों से लटके रहते हैं। इनके बाल इतने लंबे होते हैं कि वे कभी-कभी ज़मीन को छूते हैं। हिमालयी लोगों द्वारा याक को बहुत अधिक महत्त्व दिया जाता है। तिब्बती किंवदंती के अनुसार, तिब्बती बौद्ध धर्म के संस्थापक गुरु रिनपोछे ने सबसे पहले याक को पालतू बनाया था।

गुजरात में कोविड के दौरान अनाथ हुए बच्चों को आर्थिक मदद अब 21 वर्ष की आयु तक दी जायेगी

गुजरात में कोविड महामारी के दौरान अनाथ हुए बच्‍चों को हर महीने मिलने वाली चार हजार रुपये की आर्थिक मदद अब उन्‍हें 21 वर्ष की आयु तक दी जायेगी। पहले यह आयु सीमा 18 वर्ष निर्धारित की गई थी।

IIT मद्रास और सोनी मिलकर हैकाथॉन का आयोजन करेंगे

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी-मद्रास (IIT Madras) और सोनी इंडिया सॉफ्टवेयर सेंटर (Sony India Software Centre) ने ‘Samvedan 2021’ नामक एक हैकाथॉन की मेजबानी करने का प्रस्ताव दिया है। इस हैकाथॉन के तहत, प्रतियोगियों को भारत में सामाजिक समस्याओं के समाधान विकसित करने के लिए कहा जाएगा। IITM-PTF (IIT-Madras Pravartak Technologies Foundation) ‘Sensing Solutions for Bharat’ के प्रतिभागी इंटरनेट ऑफ थिंग्स सेंसर बोर्ड का उपयोग करेंगे। इस प्रतियोगिता के लिए पंजीकरण एक जुलाई से शुरू हुआ था। यह पंजीकरण सभी भारतीय नागरिकों के लिए खुला है।

फेडरल बैंक (Federal Bank) के सीईओ श्याम श्रीनिवासन को फिर से नियुक्त किया गया

फेडरल बैंक (Federal Bank) के शेयरधारकों ने फेडरल बैंक के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) के रूप में श्याम श्रीनिवासन (Shyam Srinivasan) की फिर से नियुक्ति के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। उन्हें तीन साल की अवधि के लिए फिर से सीईओ नियुक्त किया गया है, जो 23 सितंबर, 2021 से 22 सितंबर, 2024 तक प्रभावी रहेगी। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने 09 जुलाई, 2021 को उनकी पुनर्नियुक्ति को मंजूरी दी।

नासा के ICESat-2 ने अंटार्कटिक मेल्टवाटर झीलों की खोज की

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी, नासा के ICESat-2 ने हाल ही में अंटार्कटिक मेल्टवाटर झीलों (Antarctic Meltwater Lakes) की खोज की। ग्लेशियोलॉजिस्ट हेलेन अमांडा फ्रिकर (Helen Amanda Fricker) ने 2007 में एक आश्चर्यजनक खोज की थी और पाया था कि, मोटी अंटार्कटिक बर्फ के शेल्फ के नीचे परस्पर जुड़ी झील का एक पूरा छिपा हुआ नेटवर्क है। उन्होंने पाया कि, ये झीलें सक्रिय रूप से भरती हैं और बहती हैं। बर्फ की चादरों के नीचे पिघले पानी की उपस्थिति ज्ञात थी, लेकिन सक्रिय जल प्रणाली का ऐसा नेटवर्क एक नई सफलता थी। उन्होंने नासा के ICESat के डेटा का इस्तेमाल किया था। इस उपग्रह ने बर्फ, बादलों और भूमि के लिए ऊंचाई डेटा को मापने के लिए लेजर पल्स का उपयोग किया।

विशालकाय पांडा (Giant Panda) असुरक्षित हैं, लुप्तप्राय नहीं : चीन

चीनी संरक्षण अधिकारियों ने घोषणा की है कि, चीनी विशाल पांडा (Chinese Giant Panda) अब एक लुप्तप्राय प्रजाति नहीं है। विशाल पांडा की स्थिति को “असुरक्षित” (vulnerable) में अपडेट किया गया है। अब जंगल में 1,800 विशाल पांडा रह रहे हैं। हाल के वर्षों के दौरान प्रकृति भंडार और अन्य संरक्षण पहलों को बनाए रखने में चीन के प्रयासों के कारण संख्या में वृद्धि हुई है। अन्य प्रजातियों की संख्या जैसे साइबेरियन बाघ, एशियाई हाथी और क्रेस्टेड आईबीसेस में भी धीरे-धीरे वृद्धि हुई है। विशालकाय पांडा को पांच साल के लिए “असुरक्षित” (vulnerable) माना जाता था। International Union for Conservation of Nature (IUCN) ने 2016 में विशालकाय पांडा को लुप्तप्राय प्रजातियों की सूची से हटा दिया था। इस निर्णय को तब चीनी अधिकारियों ने चुनौती दी थी।

ऑक्सफैम ने Hunger Virus Multiplies Report जारी की

ऑक्सफैम की रिपोर्ट के अनुसार, जब से कोविड-19 महामारी शुरू हुई है, भूख से होने वाली मौतें SARS-CoV-2 वायरस को पीछे छोड़ रही हैं। कोविड-19 महामारी के आर्थिक व्यवधानों के अलावा, बढ़ते जलवायु संकट ने दुनिया के भूख से प्रभावित क्षेत्रों में गरीबी और विनाशकारी खाद्य असुरक्षा को और गहरा कर दिया है। स्थिति और खराब हो सकती है, जब तक कि सरकारें खाद्य असुरक्षा और इसके मूल कारणों से तत्काल नहीं निपटतीं। इस रिपोर्ट के अनुसार, तीन C: Conflict, Covid-19 और Climate Crisis के कारण हर मिनट तीव्र भूख से 11 लोगों की मौत होने की संभावना है।3C ने 5,20,000 से अधिक लोगों को भुखमरी के कगार पर धकेल दिया है। भूख से संबंधित दर की यह दर कोविड-19 महामारी मृत्यु दर से अधिक है, जो प्रति मिनट 7 लोग है। यह उजागर करता है, दुनिया भर में 155 मिलियन लोग अब खाद्य असुरक्षा या इससे भी बदतर संकट के स्तर में जी रहे हैं।इसमें 2020 की तुलना में 20 मिलियन की वृद्धि हुई है। 155 मिलियन लोगों में से दो तिहाई भूख का सामना करते हैं क्योंकि उनका देश सैन्य संघर्ष में है।

भारत और रूस 2+2 वार्ता का आयोजन करेंगे

विदेश मंत्री एस. जयशंकर (S. Jaishankar) ने हाल ही में रूसी समकक्ष सर्गेई लावरोव (Sergey Lavrov) के साथ बातचीत की। दोनों पक्षों ने परमाणु, अंतरिक्ष, ऊर्जा और रक्षा क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच व्यापक सहयोग की प्रगति की समीक्षा की। दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान, ईरान और सीरिया जैसे वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की। एस. जयशंकर के अनुसार, भले ही दुनिया भर में बहुत सी चीजें बदल रही हों, रूस के साथ भारत के संबंध स्थिर रहे हैं और सुरक्षा, वैश्विक शांति और स्थिरता में योगदान दिया है। उन्होंने कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के दौरान भारत को रूस के समर्थन की भी सराहना की। भारत स्पुतनिक वी (Sputnik V) वैक्सीन का उत्पादन और उपयोग करने के लिए रूस का भागीदार बन गया है। वे विदेश और रक्षा मंत्रियों की 2+2 वार्ता आयोजित करने पर सहमत हुए। दोनों नेताओं ने विशेष रूप से उत्तर-दक्षिण गलियारे (North-South Corridor) पर कनेक्टिविटी पर भी चर्चा की।

मानव-वन्यजीव सह-अस्तित्व पर WWF-UNEP ने रिपोर्ट जारी की

World Wide Fund for Nature (WWF) और संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम (UNEP) ने हाल ही में “A future for all – the need for human-wildlife coexistence” शीर्षक से अपनी रिपोर्ट जारी की। इस रिपोर्ट के अनुसार, मानव-पशु संघर्ष (human-animal conflict) विश्व की सबसे प्रतिष्ठित प्रजातियों के दीर्घकालिक अस्तित्व के लिए मुख्य खतरों में से एक है। संघर्ष से संबंधित मौतें दुनिया की 75% से अधिक जंगली बिल्ली प्रजातियों (wild cat species) को प्रभावित करती हैं। यह ध्रुवीय भालू, भूमध्यसागरीय मोंक सील और हाथियों जैसे बड़े शाकाहारी जीवों को भी प्रभावित करता है। संघर्षों के कारण 1970 के बाद से वैश्विक वन्यजीव आबादी में 68% की कमी आई है। भारत में, मानव-हाथी संघर्ष के परिणामस्वरूप 2014-2015 और 2018-2019 के दौरान 500 हाथियों और 2361 लोगों की मौत हुई। दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी मानव आबादी और बाघों, एशियाई शेरों, एशियाई हाथियों, एक सींग वाले गैंडों आदि की बड़ी आबादी होने के कारण भारत मानव-वन्यजीव संघर्ष से सबसे अधिक प्रभावित होने जा रहा है।

India-UK Financial Markets Dialogue का आयोजन किया गया

यूके-इंडिया फाइनेंशियल मार्केट्स डायलॉग (FMD) ने द्विपक्षीय वित्तीय कनेक्शन को मजबूत करने के लिए 8 जुलाई, 2021 को पहली वर्चुअल मीटिंग की। चार प्रमुख विषयों पर सहयोग बढ़ाने के लिए वार्ता के दौरान सरकार से सरकार की बातचीत हुई:

  1. गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक (गिफ्ट) सिटी
  2. बैंकिंग और भुगतान
  3. बीमा
  4. पूंजी बाजार
इस बैठक की अध्यक्षता यूके ट्रेजरी और भारतीय वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने की। स्वतंत्र ब्रिटिश और भारतीय नियामक संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी इसमें भाग लिया। दोनों देश इस बात पर सहमत हुए कि वित्तीय सेवाओं में उनके सहयोग को मजबूत करने की काफी गुंजाइश है।

उत्तर प्रदेश में पाया गया कप्पा कोविड संस्करण

हाल ही में उत्तर प्रदेश में COVID-19 के अत्यधिक संक्रमणीय कप्पा प्रकार के दो मामलों का पता चला था। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में नमूनों की जीनोम अनुक्रमण के बाद मामले सामने आए।जीनोम अनुक्रमण (genome sequencing) एक प्रयोगशाला प्रक्रिया है जो उत्परिवर्तन (mutations) को चिह्नित करने और कोविड 19 रोग के प्रकोप को ट्रैक करने के लिए महत्वपूर्ण है। 107 नमूनों में COVID-19 का डेल्टा प्लस संस्करण भी पाया गया। राज्य में कोविड-19 के दोनों रूप नए नहीं हैं। कप्पा संस्करण (Kappa Variant) B.1.617 के तीन उप-वंशों में से एक है। इसे B.1.617.1 के रूप में भी जाना जाता है, जिसमें E484Q उत्परिवर्तन होता है। भारत में पहली बार दिसंबर, 2020 में इसका पता चला था। WHO Weekly Epidemiological Update के अनुसार, 34 देशों ने इस उप-प्रकार के मामलों की सूचना दी थी। मई 2021 तक, इन देशों की संख्या बढ़कर 41 हो गई थी। यूनाइटेड किंगडम ने मई 2021 तक SARS-CoV-2 कप्पा संस्करण के 418 पुष्ट मामलों का पता लगाया था।

कतर एयरवेज IATA के टर्बुलेंस अवेयर प्लेटफॉर्म में शामिल हुआ

कतर एयरवेज (Qatar Airways) और इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (IATA) के अनुसार कतर एयरवेज IATA टर्बुलेंस अवेयर प्लेटफॉर्म से जुड़ने वाली मध्य पूर्व की पहली एयरलाइन होगी। IATA Turbulence Aware एयरलाइंस को अशांति (turbulence) के प्रभाव को कम करने में मदद करता है जो हर साल यात्रियों और चालक दल की चोटों और उच्च ईंधन लागत का एक प्रमुख कारण है। यह कई भाग लेने वाली एयरलाइनों और हजारों दैनिक उड़ानों से एकत्र किए गए अशांति डेटा को पूल करके और साझा करके अशांति के प्रभाव को कम करेगा। वास्तविक समय, सटीक जानकारी पायलटों और डिस्पैचर्स को इष्टतम उड़ान पथ चुनने, अशांति से बचने और ईंधन दक्षता को अधिकतम करने और CO2 उत्सर्जन को कम करने के लिए इष्टतम स्तरों पर उड़ान भरने में सक्षम बनाएगी। कतर एयरवेज ने इस घोषणा के बाद 120 विमानों को टर्बुलेंस अवेयर प्लेटफॉर्म से लैस किया है।

DRDO-AICTE ने रक्षा प्रौद्योगिकी M. Tech कार्यक्रम लॉन्च किया

रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) और अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) ने रक्षा प्रौद्योगिकी में एक नियमित M.Tech कार्यक्रम शुरू किया है। यह कार्यक्रम रक्षा प्रौद्योगिकी (defence technology) के क्षेत्रों में आवश्यक सैद्धांतिक और प्रायोगिक ज्ञान, कौशल और योग्यता प्रदान करने के लिए शुरू किया गया है। रक्षा प्रौद्योगिकी कार्यक्रम में M.Tech किसी भी AICTE से संबद्ध संस्थानों या विश्वविद्यालयों, NIT, IIT या निजी इंजीनियरिंग संस्थानों में आयोजित किया जा सकता है। Institute of Defence Scientists and Technologists (IDST) इन सभी संस्थानों को Tech प्रोग्राम आयोजित करने में सहायता प्रदान करेगा। यह ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रारूपों में आयोजित किया जाएगा। यह कार्यक्रम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ के दृष्टिकोण को प्राप्त करने में भी मदद करेगा।

LIC में चेयरमैन की जगह सीईओ और एमडी के पद बनाये जायेंगे

भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) कार्यकारी अध्यक्ष के बजाय प्रबंध निदेशक (MD) और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (Chief Executive Officer) के लिए पद सृजित कर रहा है। इन परिवर्तनों को एक मेगा इनिशियल पब्लिक ऑफरिंग (IPO) लॉन्च करने की पृष्ठभूमि में रेखांकित किया गया है। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकिंग उद्योग की तर्ज पर चेयरमैन की बजाय सीईओ होगा। भारतीय जीवन बीमा निगम (कर्मचारी) पेंशन (संशोधन) नियमों में संशोधन करके वित्त मंत्रालय के अंतर्गत वित्तीय सेवा विभाग द्वारा यह परिवर्तन किए गए थे। एलआईसी अधिनियम, 1956 के तहत कुछ अन्य नियमों में भी संशोधन किया गया है। संशोधन के बाद, एलआईसी अब कंपनी अधिनियम और सेबी अधिनियम द्वारा शासित होगा।इसे लाभ या हानि के आंकड़ों के साथ अपनी त्रैमासिक बैलेंस शीट भी तैयार करनी होगी। मुख्य कार्यकारी अधिकारी (Chief Executive Officer) और प्रबंध निदेशक (Managing Director) की नियुक्ति एलआईसी अधिनियम, 1956 की धारा 4 के तहत केंद्र सरकार द्वारा की जाएगी।

‘कृषि अवसंरचना कोष’ में संशोधन किया गया

कैबिनेट ने 8 जुलाई, 2021 को ‘कृषि अवसंरचना कोष’ (Agriculture Infrastructure Fund) में संशोधन को मंजूरी दी है। इस कदम का उद्देश्य 1 लाख करोड़ रुपये के कृषि अवसंरचना कोष (AIF) का विस्तार करना है। यह AIF से 2 करोड़ रुपये तक का ऋण प्राप्त करने के लिए कृषि उपज बाजार समितियों (Agricultural Produce Market Committees – APMCs) सहित लाभार्थी संस्थानों का विस्तार करेगा। इस क्रेडिट का उपयोग कोल्ड स्टोरेज, सॉर्टिंग, ग्रेडिंग इकाइयों की स्थापना के लिए किया जाएगा। केंद्र सरकार ने अब तक इस फंड से 4,300 करोड़ रुपये की परियोजनाओं को मंजूरी दी है।

Sustainable Development Goals Report 2021 जारी की गयी

सतत विकास लक्ष्य रिपोर्ट 2021 (Sustainable Development Goals Report 2021) को हाल ही में संयुक्त राष्ट्र के आर्थिक और सामाजिक मामलों के विभाग (UN DESA) द्वारा प्रकाशित किया गया था। इसे सतत विकास पर उच्च स्तरीय राजनीतिक मंच (HLPF) के 2021 सत्र में लॉन्च किया गया था। यह रिपोर्ट एसडीजी कार्यान्वयन पर COVID-19 के प्रभावों पर प्रकाश डालती है। यह उन क्षेत्रों की भी पहचान करता है जिन्हें तत्काल और समन्वित कार्रवाई की आवश्यकता है। वैश्विक एसडीजी संकेतक डेटाबेस में डेटा और अनुमानों का उपयोग करके यह रिपोर्ट तैयार की गई थी जिसमें आधिकारिक एसडीजी संकेतकों पर वैश्विक, क्षेत्रीय और देश के डेटा और मेटाडेटा शामिल थे।

भारत में हर साल असामान्य तापमान के कारण होती हैं 7 लाख से अधिक मौतें : अध्ययन

लैंसेट प्लैनेटरी हेल्थ जर्नल (Lancet Planetary Health Journal) द्वारा प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, भारत में सालाना लगभग 7,40,000 मौतें जलवायु परिवर्तन के कारण असामान्य गर्म और ठंडे तापमान से जुड़ी हैं। ऑस्ट्रेलिया में मोनाश विश्वविद्यालय (Monash University) के शोधकर्ताओं के नेतृत्व में एक अंतर्राष्ट्रीय टीम द्वारा अध्ययन किया गया था। इस अध्ययन में प्रकाश डाला गया कि 2000 से 2019 तक सभी क्षेत्रों में गर्म तापमान से होने वाली मौतों में वृद्धि हुई है। यह इंगित करता है कि जलवायु परिवर्तन के कारण ग्लोबल वार्मिंग भविष्य में मृत्यु दर के आंकड़े को और बढ़ाएगी। 2000 से 2019 तक दुनिया भर में टीम द्वारा मृत्यु दर और तापमान के आंकड़ों का अध्ययन किया गया। इस अवधि में तापमान में 26 डिग्री सेल्सियस प्रति दशक की वृद्धि हुई है। लैंसेट जर्नल के अनुसार, वैश्विक स्तर पर एक वर्ष में 5 मिलियन से अधिक अतिरिक्त मौतों को असामान्य तापमान से जोड़ा जा सकता है। भारत में प्रति वर्ष 6,55,400 मौतों की संख्या असामान्य ठंडे तापमान से जुड़ी हुई है। भारत में उच्च तापमान से जुड़ी मौतों की संख्या 83,700 है। मृत्यु दर पर गैर-इष्टतम तापमान (non-optimal temperatures) के प्रभाव में भौगोलिक अंतर हैं। पूर्वी यूरोप और उप-सहारा अफ्रीका में सबसे अधिक गर्मी और ठंड से संबंधित अतिरिक्त मृत्यु दर है। 2000 से 2019 तक ठंड से होने वाली मौतों में 51 फीसदी की कमी आई है, जबकि गर्मी से होने वाली मौत में 0.21 फीसदी की वृद्धि हुई है।

वित्त मंत्रालय ने 17 राज्यों को राजस्व घाटा अनुदान जारी किया

केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने 17 राज्यों को ₹9,871 करोड़ के राजस्व घाटा अनुदान (revenue deficit grant) की चौथी मासिक किस्त जारी की है। इस रिलीज के साथ, केंद्र ने वित्तीय वर्ष 2021-2022 में सभी पात्र राज्यों को राजस्व घाटा अनुदान के रूप में कुल ₹39,484 करोड़ जारी किए हैं। आंध्र प्रदेश, हरियाणा, असम, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक उन 17 राज्यों में शामिल हैं जिन्हें अनुदान मिला है। 15वें वित्त आयोग ने वित्तीय वर्ष 2021-22 में 17 राज्यों को कुल राजस्व घाटा अनुदान 1,18,452 करोड़ रुपये देने की सिफारिश की थी। इस राशि में से अब तक 39,484 करोड़ रुपये जारी किए जा चुके हैं जो कुल राशि का 33.33% है। 33.33% अनुदान चार किश्तों में जारी किया गया है।

उदयन माने: टोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले दूसरे भारतीय गोल्फर बने

भारतीय गोल्फर उदयन माने (Udayan Mane) ने टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए क्वालीफाई कर लिया है जो जुलाई और अगस्त 2021 में आयोजित होने वाला है। उदयन माने 30 साल के हैं औरटोक्यो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाले दूसरे भारतीय गोल्फर बन गए हैं। वह पुरुषों के गोल्फ इवेंट में 60-खिलाड़ियों के मैदान में अनिर्बान लाहिड़ी के साथ शामिल हुए। लाहिड़ी लगातार दूसरे ओलंपिक खेलों में हिस्सा लेंगे।उन्होंने SSP चौरसिया के साथ रियो 2016 ओलंपिक में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया था। उदयन का जन्म 24 फरवरी 1991 को बैंगलोर में हुआ था। वह एक भारतीय पेशेवर गोल्फर हैं। वह वर्तमान में 356वें नंबर पर हैं। वह एशियन टूर और पीजीए टूर पर खेलते हैं।

ट्विटर इंडिया ने अंतरिम मुख्य अनुपालन अधिकारी नियुक्त किया

ट्विटर इंडिया ने भारत में नए आईटी नियमों का पालन करने के लिए एक अंतरिम मुख्य अनुपालन अधिकारी (Chief Compliance Officer) नियुक्त किया है। ट्विटर इंडिया जल्द ही नए आईटी नियमों के अनुसार दो अन्य अधिकारियों को भी नामित करेगा। हाल ही में एक अदालती फाइलिंग में, केंद्र सरकार ने कहा था, ट्विटर अब भारत में उपयोगकर्ता-जनित सामग्री (user-generated content) के खिलाफ देयता संरक्षण (liability protection) का लाभ नहीं उठा सकता क्योंकि यह नए नियमों का पालन करने में विफल रहा है। केंद्र की फाइलिंग के अनुसार, ट्विटर नए आईटी नियमों का पालन नहीं कर रहा था, जो मई के अंत से प्रभावी हो गए। कोर्ट फाइलिंग में यह भी कहा गया है कि, ट्विटर को कुछ नए अधिकारियों की नियुक्ति करने की आवश्यकता है।

माटेओ बेरेटिनी, विंबलडन इतिहास में सिंगल्स के फाइनल में पहुँचने वाले इटली के पहले खिलाड़ी

विश्व के 9वें नंबर के टेनिस खिलाड़ी माटेओ बेरेटिनी (Matteo Berrettini) विंबलडन के मेन्स सिंगल्स के सेमीफाइनल में विश्व के18वें नंबर के ह्यूबर्ट हर्काज़ (Hubert Hurkacz) को हराकर विंबलडन इतिहास में सिंगल्स के फाइनल में पहुँचने वाले इटली के पहले खिलाड़ी बन गए। 25 वर्षीय बेरेटिनी ग्रैंड स्लैम फाइनल में पहुँचने वाले इटली के पहले खिलाड़ी भी हैं।

राष्ट्रीय मत्स्य किसान दिवस

राष्ट्रीय मत्स्य पालन विकास बोर्ड (National Fisheries Development Board- NFDB) के सहयोग से मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्रालय के मत्स्य विभाग द्वारा प्रत्येक वर्ष 10 जुलाई को राष्ट्रीय मत्स्य किसान दिवस (National Fish Farmers’ Day) मनाया जाता है। इस आयोजन का उद्देश्य स्थायी स्टॉक एवं स्वस्थ पारिस्थितिकी तंत्र सुनिश्चित करने के लिये देश के मत्स्य संसाधनों के प्रबंधन के तरीके को बदलने पर ध्यान आकर्षित करना है। यह दिवस मत्स्य किसानों, उद्यमियों, मछुआरों, हितधारकों और मत्स्य पालन में योगदान के लिये मत्स्य पालन से जुड़े किसी अन्य व्यक्ति को सम्मानित करने हेतु मनाया जाता है। यह दिवस वैज्ञानिक डॉ केएच अलीकुन्ही और डॉ एचएल चौधरी की याद में प्रतिवर्ष मनाया जाता है, जिन्होंने जुलाई, 1957 में कार्प मछलियों का प्रेरित प्रजनन का आविष्कार किया था। वर्ष 2021 में 21वाँ राष्ट्रीय मत्स्य किसान दिवस मनाया जा रहा है।

राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने श्री पी.के.वॉरियर के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया

राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद ने श्री पी.के.वॉरियर के निधन पर गहरा शोक प्रकट किया है। श्री कोविंद ने कहा कि आयुर्वेद ने अपना एक महान आधुनिक समर्थक खो दिया है। पद्मश्री और पद्म भूषण से सम्‍मानित श्री वॉरियर ने अपने एक सौ वर्ष के सक्रिय लंबे जीवन से आयुर्वेद की कुशलता प्रदर्शित की। वह आयुर्वेद उपचार केंद्र कोट्टक्कल आर्य वैद्य शाला के प्रबंध न्यासी थे, जो आयुर्वेद दवाओं का उत्पादन करता है। वह 1999 में पद्म श्री और 2010 में पद्म भूषण के प्राप्तकर्ता थे। उनकी पत्नी स्वर्गीय माधविकुट्टी के वारियर एक कवि थीं।

भारत ने नए देशों तक आम के निर्यात का विस्तार किया; जीआई प्रमाणित फजली आम बहरीन भेजा गया

भारत ने कोविड-19 महामारी की वजह से पैदा हुई ढुलाई संबंधी चुनौतियों के बावजूद इस सीजन में नए देशों तक आम के अपने निर्यात का विस्तार किया है। एक प्रमुख पहल, जोकिदेश के पूर्वी क्षेत्र से मध्य - पूर्व के देशों में खासतौर पर आम निर्यात क्षमता को बढ़ावा देगा, के रूप में पश्चिम बंगाल के मालदा जिले से प्राप्त जियोग्राफिकल आइडेंटिफिकेशन (जीआई) प्रमाणित फजली नाम के आम की किस्म की एक खेप बहरीन निर्यात की गई। फजली आम की खेप को एपीडा द्वारा पंजीकृत डीएम इंटरप्राइजेज, कोलकाता द्वारा निर्यात और अल जजीरा समूह, बहरीन द्वारा आयात किया गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.