Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

13 July 2021

भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री सिरीशा बंदला अपनी पहली अंतरिक्ष उड़ान से लौट गई

भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री सिरीशा बंदला अपनी पहली अंतरिक्ष उड़ान से लौट गई है। वह कल्पना चावला और सुनीता विलियम्स के बाद अंतरिक्ष में उड़ान भरने वाली तीसरी भारतीय मूल की महिला है। एस्‍कवड्रन लीडर राकेश शर्मा अंतरिक्ष में यात्रा करने वाले एकमात्र भारतीय नागरिक हैं। 34 वर्षीय एयरोनॉटिकल इंजीनियर बंदला ब्रिटिश अरबपति रिचर्ड ब्रैनसन और चार अन्य लोगों के साथ वर्जिन गैलेक्टिक के स्पेस शिप यूनिटी-22 में शामिल होकर अमरिकी राज्य न्यू मैक्सिको से अंतरिक्ष के किनारे की यात्रा पूरी की। आंध्र प्रदेशके गुंटूर जिले में पैदा हुई और अमरीका के ह्यूस्‍टन में पली-बढी सुश्री सिरिशा ने अंतरिक्ष में उडान भरने के पल को भावुक बताते हुए कहा कि वह छोटी उम्र से ही अंतरिक्ष में जाने का सपना देखती रही है। उन्‍होंने कहा कि उनका सपना सच साबित हुआ है।

एपीडा ने किसान सहकारी समितियों और एफपीओ के निर्यात लिंकेज को मजबूत करने के लिए नेफेड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कृषि और प्रसंस्कृत खाद्य उत्पाद निर्यात विकास प्राधिकरण-एपीडा ने किसान सहकारी समितियों और किसान उत्पादक संगठन-एफपीओ के निर्यात लिंकेज को मजबूत करने के लिए भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड-नेफेड के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए। सहयोग के प्रमुख क्षेत्रों में एपीडा पंजीकृत निर्यातकों को नेफेड के माध्यम से लागू सभी सरकारी योजनाओं के तहत सहायता प्राप्त करना शामिल है। समझौता ज्ञापन में प्रौद्योगिकी, कौशल, गुणवत्ता वाले उत्पादों और बाजार तक पहुंच जैसे मुद्दों को संबोधित करके सहकारी समितियों द्वारा निर्यात की स्थिरता और वृद्धि सुनिश्चित करने की भी परिकल्पना की गई है। एपीडा, नेफेड द्वारा चिन्हित और प्रचारित सहकारी समितियों, एफपीओ, भागीदारों तथा सहयोगियों द्वारा निर्यात की सुविधा प्रदान करेगा। एपीडा और नेफेड भारत और विदेशों में आयोजित होने वाले बी2बी और बी2सी मेलों सहित वैश्विक व्यापार में किसान सहकारी समितियों की भागीदारी की सुविधा प्रदान करेंगे।

उत्तराखंड में हुआ भारत के पहले क्रिप्टोगैमिक गार्डन का उद्घाटन

उत्तराखंड में देहरादून के देवबन क्षेत्र में लगभग 50 विभिन्न प्रजातियों के साथ भारत का पहला क्रिप्टोगैमिक उद्यान का उद्घाटन किया गया है। यह उद्यान 9,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है और तीन एकड़ के क्षेत्र में फैला हुआ है। जिले के चकराता कस्बे में स्थित इस उद्यान का उद्घाटन सामाजिक कार्यकर्ता अनूप नौटियाल ने किया। क्रिप्टोगैम का अर्थ है "छिपा हुआ प्रजनन" इस तथ्य का जिक्र है कि न तो कोई बीज, ना ही कोई फूल पैदा होता है। इस प्रकार, क्रिप्टोगैम गैर-बीज वाले पौधों का प्रतिनिधित्व करते हैं। शैवाल, ब्रायोफाइट्स (मॉस, लिवरवॉर्ट्स), लाइकेन, फ़र्न और कवक क्रिप्टोगैम के सबसे प्रसिद्ध समूह हैं जिन्हें जीवित रहने के लिए नम परिस्थितियों की आवश्यकता होती है।

नितिन गडकरी ने मणिपुर में 4 हजार करोड रुपये से अधिक की लागत की 4 राष्‍ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन किया और 12 परियोजनाओं की आधारशिला रखी

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने इम्‍फाल में चार राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन किया तथा 12 राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला रखी। जिन परियोजनाओं का शुभारंभ किया गया, उनमें एक नया दो-लेन और राष्ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 39 की मौजूदा दो लेन का सुदृढ़ीकरण करना शामिल है। इन राजमार्गों की कुल लंबाई एक सौ 21 किलोमीटर और लागत 1 हजार 244 करोड़ रुपये है। श्री गडकरी ने राष्‍ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 37 पर 62 करोड़ रुपये की लागत से मकरू नदी पर बने सुपरस्ट्रक्चर ब्रिज का भी उद्घाटन किया। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 39 पर चार लेन सहित सड़क उन्नयन की जिन 12 परियोजनाओं का आज शिलान्यास किया गया, उनका कुल बजट 2 हजार 842 करोड़ रुपये है।

इंग्लैंड पर पेनॉल्‍टी शूटआउट से जीत के बाद इटली यूरो कप फुटबॉल चैंपियन बना

इटली ने यूरो कप फुटबॉल-2020 का खिताब अपने नाम कर लिया है। फाइनल में इंग्‍लैंड को पैनेलिटी शूट आउट में तीन-दो से हराकर इटली ने मुकाबला जीत लिया। इससे पहले 90 मिनट के खेल की समाप्‍ति पर दोनो ही टीमें एक-एक की बराबरी पर रहीं, जिसके बाद फैसला पैनेलिटी शूट आउट से किया गया। इटली के गोल कीपर गियानलुईगी डोनारूमा पैनेलिटी शूट आउट के नायक के रूप में उभरे। इससे पहले 1976 में चैकोस्‍लोवाकिया और पश्चिमी जर्मनी के बीच हुए यूरो कप फाइनल मुकाबले का निर्णय पैनेलिटी शूट आउट से हुआ। जिसमें चैकोस्‍लोवाकिया ने खिताब जीता था।

आयुष सेक्टर से संबंधित नए पोर्टल

हाल ही में भारतीय परंपरागत चिकित्सा पद्धति के तहत शोध, चिकित्‍सा शिक्षा से संबंधित पाँच पोर्टल्स का लोकार्पण किया गया। ये पाँच पोर्टल हैं- CTRI (क्लीनिकल ट्रायल रजिस्ट्रेशन ऑफ इंडिया), RMIS (रिसर्च मैनेजमेंट इन्फार्मेशन सिस्टम), SAHI/साही (शोकेस ऑफ आयुर्वेद हिस्टोरिकल इम्प्रिंट्स), AMAR (आयुष मैन्यूस्क्रिप्ट्स एडवांस्ड रिपॉज़िटरी) तथा e-Medha/ई्-मेधा (इलेक्ट्रॉनिक मेडिकल हेरिटेज एक्सेसन)।

इंडिया इंडस्ट्रियल लैंड बैंक

GIS-आधारित पोर्टल इंडिया इंडस्ट्रियल लैंड बैंक (India Industrial Land Bank- IILB) ने अप्रैल 2021 से अपने पृष्ठ को देखे जाने (पेज व्यू) के मामले में 30 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की है। उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (DPIIT) ने संसाधनों के अनुकूलन, औद्योगिक उन्नयन तथा स्थिरता के प्रति प्रतिबद्ध दृष्टिकोण अपनाने के लिये देश भर के औद्योगिक क्षेत्रों/समूहों का एक GIS-सक्षम डेटाबेस IILB पोर्टल विकसित किया है। यह पोर्टल औद्योगिक बुनियादी ढाँचे से संबंधित सूचनाओं जैसे- संपर्क (कनेक्टिविटी), आधारभूत संरचनाओं (इंफ्रा), प्राकृतिक संसाधन एवं क्षेत्र, खाली भूखंडों पर प्लॉट-स्तरीय जानकारी, कार्य प्रणाली तथा संपर्क विवरण तक निशुल्क एवं आसान पहुँच प्राप्त करने हेतु वन स्टॉप सोल्यूशन के रूप में कार्य करता है।इसका उद्देश्य देश में इकाइयाँ स्थापित करने के इच्छुक संभावित निवेशकों को उपलब्ध भूमि के संदर्भ में जानकारी प्रदान करना है।यह राज्य भौगोलिक सूचना प्रणाली (GIS) पोर्टल्स और राज्य भूमि बैंकों के लिंक भी प्रदान करता है। वेब आधारित भौगोलिक सूचना तंत्र (GIS) में वेब तथा अन्य परिसंचालनों का उपयोग कर स्थानिक जानकारी का अनुप्रयोग, सूचनाओं को संसाधित एवं प्रसारित किया जाता है।

जगन्नाथ पुरी रथ यात्रा

ओडिशा में जगन्नाथ रथ यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। यह यात्रा 12 जुलाई, 2021 से 20 जुलाई, 2021 तक चलेगी। रथ यात्रा एक हिंदू त्योहार है जिसका संबंध भगवान जगन्नाथ से है तथा इसका आयोजन पुरी, ओडिशा में किया जाता है। इस रथ यात्रा की शुरुआत आषाढ़ मास (पारंपरिक उड़िया कैलेंडर के अनुसार तीसरा महीना) के शुक्त पक्ष की द्वितिया तिथि को होती है। यह 9 दिन तक चलने वाला कार्यक्रम है तथा भगवान कृष्ण की अपने भाई बलभद्र और बहन सुभद्रा के साथ पुरी के सारदा बाली के निकट मौसी माँ मंदिर से होते हुए गुंडिचा मंदिर में वापसी का प्रतीक है। उत्सव के दौरान भगवान जगन्नाथ, उनके भाई बलराम (बलभद्र) और बहन सुभद्रा की मूर्तियों को ले जाने वाले तीन पवित्र रथों को भारत के साथ-साथ विदेशों से आने वाले हज़ारों भक्तों द्वारा खींचा जाता है।

पटना में बनेगा राष्ट्रीय डॉल्फिन अनुसंधान केंद्र

बहुप्रतीक्षित राष्ट्रीय डॉल्फिन अनुसंधान केंद्र (National Dolphin Research CentreNDRC) जल्द ही पटना में स्थापित किया जायेगा। इस अनुसंधान केंद्र स्थापित करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इस अनुसंधान केंद्र का खुलना लुप्तप्राय गंगा नदी डॉल्फिन (Gangetic River Dolphin) के संरक्षण की दिशा में एक बड़ा कदम होगा। अनुसंधान केंद्र स्थापित करने के लिए, गंगा नदी के किनारे पटना विश्वविद्यालय के परिसर में 4,400 वर्ग मीटर भूमि पर NDRC का निर्माण किया जा रहा है। बिहार शहरी विकास विभाग ने गंगा से 200 मीटर की दूरी पर NDRC के भवन के निर्माण को पहले ही मंजूरी दे दी है। प्रोजेक्ट डॉल्फ़िन, प्रोजेक्ट टाइगर की तर्ज पर शुरू किया गया था, जिससे बाघों की आबादी बढ़ाने में मदद मिली है। इस पहल को दिसंबर 2019 में प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में राष्ट्रीय गंगा परिषद (National Ganga Council – NGC) की पहली बैठक में सैद्धांतिक मंजूरी मिली। यह गंगा की डॉल्फिन को बचाने के लिए शुरू किया गया एक “विशेष संरक्षण कार्यक्रम” है। यह परियोजना पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित की जाएगी।

पश्चिमी असम के चिरांग रिज़र्व फॉरेस्ट में भूमिगत मकड़ियों की दो नई प्रजातियों - ग्रेवेलिया बोरो और डेक्सिपस क्लेनी की खोज

हाल ही में पश्चिमी असम के चिरांग रिज़र्व फॉरेस्ट की ‘झारबारी रेंज’ में भूमिगत मकड़ियों की दो नई प्रजातियों - ग्रेवेलिया बोरो और डेक्सिपस क्लेनी की खोज की गई है। इन दोनों मकड़ियों को बोडोलैंड प्रादेशिक क्षेत्र में खोजा गया है। पहली मकड़ी यानी ‘ग्रेवेलिया बोरो’ का नाम बोडो समुदाय के नाम पर रखा गया है और यह मिट्टी, वनस्पति तथा रेशम से बने कॉर्क जैसे जाल के साथ बिलों का निर्माण करती है। ये मकड़ियाँ रेतीली-दोमट सतह से लगभग 10-15 सेंटीमीटर नीचे भूमिगत रहती है। वहीं ‘डेक्सिपस क्लेनी’ एक ओरिएंटल जंपिंग मकड़ी है, जिन्हें पहली बार इस क्षेत्र में देखा गया है। इस मकड़ी को मूलतः 129 वर्ष पूर्व स्वीडिश पुरातत्त्वविद् टॉर्ड टैमरलान थोरेल द्वारा खोजा गया था। ‘डेक्सिपस क्लेनी’ ‘साल्टिसिडे’ परिवार की सदस्य है, जो पृथ्वी पर मकड़ियों का सबसे बड़ा परिवार है।

संवेदनशील कार्यों में लगे बैंक कर्मियों को मिलेगा आकस्मिक अवकाश

भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के संशोधित जोखिम प्रबंधन दिशानिर्देशों के तहत, संवेदनशील पदों जैसे कि ट्रेजरी ऑपरेशन और करेंसी चेस्ट में काम करने वाले बैंकरों को प्रति वर्ष कम से कम 10 कार्य दिवसों का आकस्मिक अवकाश (surprise holiday) मिलेगा। यह एक विवेकपूर्ण परिचालन जोखिम प्रबंधन उपाय (prudent operational risk management measure) के रूप में किया जाएगा। इन कर्मचारियों को बिना कोई पूर्व सूचना दिए अवकाश दिया जाएगा।इस प्रकार, आश्चर्य का तत्व बना रहेगा। इन निर्देशों का पालन करने के लिए बैंकों को 6 महीने का समय दिया गया है।

IATA ने Mobility Aids Action Group लॉन्च किया

International Air Transport Association (IATA) ने व्हीलचेयर जैसे मोबिलिटी एड्स की परिवहन यात्रा की जांच और सुधार के लिए एक ग्लोबल मोबिलिटी एड्स एक्शन ग्रुप लॉन्च किया है। दिव्यांग यात्रियों के लिए महत्वपूर्ण उपकरणों की हैंडलिंग में सुधार लाने के उद्देश्य से मोबिलिटी एड्स एक्शन ग्रुप शुरू किया गया है। यह एक्शन ग्रुप अपनी तरह का पहला होगा। इसका उद्देश्य मोबिलिटी एड्स के सुरक्षित परिवहन से संबंधित मुद्दों से निपटना है। यह एयरलाइंस और अन्य हितधारकों को भी सलाह और सिफारिशें प्रदान करेगा जो नीति की स्थापना, प्रक्रिया और मानकों को संभालने और गतिशीलता सहायता के परिवहन के लिए जिम्मेदार हैं।

रजनीकांत ने अपनी पार्टी रजनी मक्कल मनड्राम भंग की

तमिलनाडु में सिने स्‍टार रजनीकांत ने अपनी पार्टी रजनी मक्‍कल मनड्राम भंग कर दी है। उन्‍होंने पार्टी सदस्‍यों की बैठक बुलाई और चर्चा की। उन्‍होंने कहा कि वे स्‍वास्‍थ्‍य कारणों से राजनीति में प्रवेश नहीं कर सकते और पार्टी भंग करना चाहते हैं। उनका निर्णय पार्टी पदाधिकारियों द्वारा स्‍वीकार कर लिया गया। बाद में उन्‍होंने कहा कि उसके समर्थक कल्‍याणकारी गतिविधियों को जारी रख सकते हैं।

एश्ले बार्टी ने विंबलडन महिला एकल का खिताब अपने नाम किया

ऑस्ट्रेलिया की एश्ले बार्टी ने फाइनल में कैरोलिना प्लिसकोवा (चेक गणराज्य) को 6-3, 6-7 (4/7), 6-3 से हराकर 10 जुलाई 2021 पहली बार विंबलडन महिला एकल का खिताब अपने नाम किया। 25 साल की बार्टी सिर्फ दूसरी बार किसी ग्रैंड स्लैम के फाइनल में पहुंची थीं और दोनों बार उन्होंने खिताब अपने नाम किया। बार्टी ने इस खिताब के साथ विंबलडन महिला सिंगल्स में ऑस्ट्रेलिया का 41 साल का इंतजार भी खत्म किया। उनसे पहले आखिरी बार 1980 में ऑस्ट्रेलिया की इवॉन गूलागॉन्ग कॉली ने ये खिताब जीता था। यहां विभिन्न श्रेणियों में विजेताओं की पूरी सूची दी गई है -

क्र. स.वर्गविजेता उपविजेता
1.पुरुष एकलनोवाक जोकोविच (सर्बिया)मेटेयो बेरेटिनी
2.महिला एकलएशले बार्टी (ऑस्ट्रेलिया)करोलिना प्लिसकोवा (चेक गणराज्य)
3.पुरुष युगलनिकोला मेकटिक और मेट पाविकमार्सेल ग्रेनोलर्स और होरासियो ज़ेबेलोस
4.महिला युगलहसीह सु-वेई और एलिस मर्टेंसवेरोनिका कुडरमेतोवा और एलेना वेस्निना
5.मिश्रित युगलनील स्कुपस्की और देसिरा क्राव्स्कीजो सैलिसबरी और हैरियट डार्टे

समीर बनर्जी ने जीता विंबलडन जूनियर पुरुष चैंपियनशिप का खिताब

भारतीय-अमेरिकी समीर बनर्जी ने नंबर 1 कोर्ट में विंबलडन जूनियर पुरुष चैंपियनशिप का खिताब जीता है। उन्होंने ऑल इंग्लैंड क्लब में ट्रॉफी अपने नाम करने के लिए जूनियर पुरुष फाइनल में अमेरिका के विक्टर लिलोव को 7-5, 6-3 से हराया। 2014 के बाद पहली बार, और 1977 के बाद से केवल दूसरी बार,बॉयज के एकल आयोजन के लिए एक अखिल अमेरिकी निष्कर्ष था। विशेष रूप से, दोनों 17 वर्षीय चैंपियनशिप के लिए गैर वरीयता प्राप्त थे।

मलाला दिवस

संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिवर्ष 12 जुलाई को महिलाओं और बच्चों के अधिकारों का सम्मान करने के लिये वैश्विक स्तर पर ‘मलाला दिवस’ का आयोजन किया जाता है। 12 जुलाई, 1997 को पाकिस्तान में जन्मी मलाला यूसुफज़ई एक सामाजिक कार्यकर्त्ता हैं, जो महिला शिक्षा को बढ़ावा देने की दिशा में अनवरत संघर्ष कर रही हैं। उन्होंने पाकिस्तान में बालिका शिक्षा पर प्रतिबंध का सार्वजनिक और ज़ोरदार विरोध किया तथा बालिकाओं को शिक्षित करने की आवश्यकता की वकालत की। मलाला को अंतर्राष्ट्रीय ख्यति तब प्राप्त हुई जब मात्र 15 वर्ष की आयु में कट्टरपंथियों द्वारा उनकी हत्या का प्रयास किया गया। गौरतलब है कि 10 अक्तूबर, 2014 को मलाला युसुफजई को ‘बच्चों और महिलाओं की शिक्षा के लिये संघर्ष करने हेतु भारतीय बाल अधिकार कार्यकर्त्ता कैलाश सत्यार्थी के साथ संयुक्त तौर पर नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। इस तरह वह सबसे छोटी उम्र की नोबेल शांति पुरस्कार प्राप्तकर्त्ता हैं। इसके अलावा वर्ष 2012 में उन्हें पाकिस्तान सरकार द्वारा राष्ट्रीय युवा शांति पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्होंने युवा लड़कियों को स्कूल जाने में मदद करने के लिये एक गैर-लाभकारी संगठन ‘मलाला फंड’ की भी स्थापना की है। मलाला को कनाडा की मानद नागरिकता से भी नवाज़ा जा चुका है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.