Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

25 July 2021

तोक्यो ओलंपिक में भारत की शानदार शुरुआत, मीराबाई चानू ने पहला रजत पदक जीता

तोक्यो ओलिम्पिक खेलों में भारत की मीरा बाई चानू ने वेट लिफ्टिंग के 49 किलोग्राम वर्ग में कुल 202 किलोग्राम भार उठा कर देश के लिए पहला रजत पदक जीत लिया है। स्वर्ण पदक चीन की झिहुई हाउ ने और इंडोनेशिया की कांतिका आयसाह ने कांस्य पदक जीता। 26 वर्षीय मीराबाई चानू ने स्नैच में 87 किग्रा और क्लीन एंड जर्क स्पर्धा में 115 किग्रा भार उठाकर 49 किग्रा वर्ग के फाइनल में कुल 202 का स्कोर बनाया। इस रजत पदक के साथ चानू ने 2020 टोक्यो ओलंपिक में भारत का पदक खाता भी खोल दिया है। उन्होंने इस साल की शुरुआत में अपनी श्रेणी में 119 किग्रा भार उठाकर क्लीन एंड जर्क में विश्व रिकॉर्ड बनाया था। मीराबाई चानू (Mirabai Chanu) एक भारतीय भारतोलक हैं, उनका जन्म 8 अगस्त, 1994 को मणिपुर में हुआ था। चानू ने 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में रजत पदक और 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीता था। 2017 में विश्व चैंपियनशिप में उन्होंने स्वर्ण पदक जीता था। जबकि 2020 एशियाई चैंपियनशिप में उन्होंने कांस्य पदक जीता था।

IIT-K ने एंटी-ड्रोन तकनीकों के समाधान खोजने के लिए इनोवेशन हब लॉन्च किया

IIT कानपुर ने घुसपैठ पहचान प्रणाली, एंटी ड्रोन टेक्नोलॉजी, साइबर सुरक्षा प्रणाली के लिए साइबर सुरक्षा समाधान खोजने के लिए टेक्नोलॉजी इनोवेशन हब लांच किया। एक कठोर आवेदन प्रक्रिया के बाद, 25 अनुसंधान और विकास प्रमुख जांचकर्ताओं और 13 स्टार्ट-अप का चयन किया गया है। साइबर सुरक्षा में अत्याधुनिक तकनीक आम जनता के साथ-साथ उद्योग और सरकार की डिजिटल संपत्तियों की रक्षा करने के लिए आवश्यक है। IIT कानपुर का C3i हब साइबर स्पेस की सुरक्षा पर ध्यान केंद्रित करेगा जिसमें महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचा भी शामिल होगा। भारत के पड़ोसी देशों जैसे चीन से बढ़ते खतरों का मुकाबला करने के लिए सरकार द्वारा मेक-इन इंडिया साइबर सुरक्षा समाधानों को बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकार रेलवे, बैंकिंग, बिजली और दूरसंचार जैसे देशों के सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों के लिए मेक इन इंडिया उपकरण को बढ़ावा देने की कोशिश कर रही है। IIT-कानपुर का C3i Hub साइबर सुरक्षा स्टार्ट-अप के एक जीवंत पारिस्थितिकी तंत्र को बढ़ावा देने के लिए प्रतिबद्ध है जो विश्व स्तर के नवाचारों के निर्माण पर ध्यान केंद्रित करेगा।

दुनिया का पहला 3D प्रिंटेड स्टील ब्रिज एम्स्टर्डम में खोला गया

एम्स्टर्डम ने दुनिया के पहले 3D-प्रिंटेड स्टील पैदल यात्री पुल का अनावरण किया है। यह परियोजना एम्सटर्डम शहर में औदेज़िज्ड्स आचटरबर्गवाल नहर (Oudezijds Achterburgwal Canal) पर खोली गई है। इस पुल के उद्घाटन समारोह में नीदरलैंड की रानी मैक्सिमा ने भाग लिया था। इस पुल की लंबाई करीब 40 फीट है। यह 6 टन स्टेनलेस स्टील की संरचना है। इस ब्रिज का निर्माण एम्सटर्डम बेस्ड 3D मेटल प्रिंटिंग कंपनी MX3D ने किया है। चार रोबोट की मदद से पूरी प्रिंटिंग की प्रक्रिया में सिर्फ छह महीने लगे। इस पुल को जोरिस लार्मन लैब (Joris Laarman Lab) द्वारा डिजाइन किया गया है और पहली बार वर्ष 2018 में डच डिजाइन वीक के दौरान इसका अनावरण किया गया था। 2019 में कई लोड-टेस्टिंग राउंड किए जाने के बाद 2020 की शुरुआत में संरचना को स्थापित करने की योजना थी। हालांकि, नहर में चल रहे कार्य ने इस पुल की स्थापना में देरी की।

केंद्र सरकार प्रयोगशाला परीक्षण बुनियादी ढांचे के विस्तार के लिए 324 करोड़ रुपये का निवेश करेगी

केंद्र सरकार द्वारा 42 वायरोलॉजी अनुसंधान और नैदानिक ​​प्रयोगशालाएं स्थापित की जाएंगी। यह 2021-22 से 2025-26 की अवधि के दौरान एक केंद्रीय योजना के तहत स्थापित की जाएँगी। इस परियोजना पर 324 करोड़ रुपये खर्च होंगे। यह योजना भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के स्वास्थ्य अनुसंधान विभाग (DHR) के अंतर्गत आती है। इस योजना का प्राथमिक उद्देश्य महामारी के प्रकोप के दौरान वायरस की समय पर पहचान और निदान की कवरेज को बढ़ावा देने में मदद करना है। यह योजना सभी वायरल रोगों के बारे में डेटा सृजन को बढ़ाने पर भी ध्यान देगी ताकि संसाधनों को जल्दी से तैनात किया जा सके और मानव जीवन को बचाने के उपाय किए जा सकें। व्यय वित्त समिति (Expenditure Finance Committee – EFC) ने वर्ष 2013 में 646.83 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत के साथ इस योजना को मंजूरी दी थी। स्थायी वित्त समिति ने 2017-18 से 2019-20 की अवधि के लिए 488.5 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत के साथ वर्ष 2017 में इस योजना को अपनी मंजूरी दी। इस योजना को एक वर्ष के लिए 31 मार्च, 2021 तक बढ़ा दिया गया था। मार्च 2021 में हाल ही में स्थायी वित्त समिति की बैठक में योजना को जारी रखने के लिए मंजूरी दी गई थी।

भारत सरकार LIC में दो चरणों में अपने हिस्सेदारी बेचेगी

भारत सरकार ने फैसला किया है कि वह प्रारंभिक सार्वजनिक पेशकश (Initial public offeringIPO) के माध्यम से भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) में 10% हिस्सेदारी नहीं बेच सकती है, बल्कि इसके बजाय 5 या 6% बेचने का विकल्प चुन सकती है, जिसके बाद दूसरी सार्वजनिक पेशकश होगी। इसका मूल्य मूल्य लगभग 12-15 ट्रिलियन रुपये होगा। 10% हिस्सेदारी बेचने का मतलब यह होगा कि यह रकम करीब 1.2 लाख करोड़ रुपये से 1.5 लाख करोड़ रुपये होगी।

तृणमूल कांग्रेस के सांसद शांतनु सेन को राज्यसभा से निलंबित किया गया

शुक्रवार को, तृणमूल कांग्रेस (TMC) के सांसद शांतनु सेन को राज्य सभा से शेष मानसून सत्र के लिए निलंबित कर दिया गया था, जब उन्होंने बयान पढ़ रहे सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव से कागजात छीन लिए थे। वी मुरलीधरन ने एक प्रस्ताव पेश किया ताकि सेन को यह कहते हुए निलंबित किया जा सके कि टीएमसी विधायक सदन की बदनामी कर रहे हैं। राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू द्वारा कई बार बाहर निकलने के लिए कहने के बाद भी सेन ने जाने से इनकार कर दिया। नायडू ने प्रस्ताव की अनुमति दी, जिसे बाद में सदन में पारित कर दिया गया। टीएमसी के सुखेंदु शेखर रॉय ने प्रस्ताव पर आपत्ति जताते हुए कहा कि यह सदन की कार्य सूची में नहीं है। रॉय ने कहा कि शांतनु सेन को निलंबित करने के सरकार के प्रस्ताव पर टीएमसी को कोई समय नहीं दिया गया। नायडू ने रे की आपत्तियों का विरोध करते हुए कहा कि प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई क्योंकि सेन सदन की गरिमा को कम कर रहे थे। सेन ने आईटी मंत्री से कागजात छीन लिए और तीखी नोकझोंक के बीच उन्हें फाड़ कर हवा में उछाल दिया था।

46.2% भारतीय अपने जीवन की गुणवत्ता को खराब मानते हैं : अध्ययन

भारतीय उद्योग परिसंघ (Confederation of Indian IndustryCII) के साथ एक फ्रांसीसी पैकेज्ड खाद्य और पेय कंपनी डैनोन इंडिया (Danone India) द्वारा किए गए एक अध्ययन ने भारत में 2,700 से अधिक वयस्कों के बीच मनोवैज्ञानिक और शारीरिक, सामाजिक संबंधों और पर्यावरण के मानक का आकलन किया है। यह रिपोर्ट सामने आई कि 46.2% भारतीय अपने जीवन की गुणवत्ता को ख़राब मानते हैं। इस रिपोर्ट से पता चला है कि हर दो भारतीय वयस्कों में से लगभग एक (यानी 46.2% भारतीय) ने जीवन की खराब गुणवत्ता की सूचना दी है। कोलकाता शहर ने खराब गुणवत्ता वाले जीवन स्कोर के साथ वयस्कों का उच्चतम प्रतिशत (65%) दर्ज किया है। कोलकाता के बाद चेन्नई (49.8%), दिल्ली (48.5%), पटना (46.2%), हैदराबाद (44.4%), लखनऊ (40%) और इंदौर (39.2%) का स्थान है। मुंबई शहर में वयस्कों का उच्चतम प्रतिशत (68%) था, जिन्होंने जीवन की अच्छी गुणवत्ता दर्ज की। महिलाओं में शारीरिक गतिविधि के निम्न स्तर के कारण महिलाओं ने शारीरिक स्वास्थ्य के मामले में पुरुषों की तुलना में कम स्कोर किया। इस सर्वेक्षण में यह भी दिखाया गया है कि किसी की उम्र, लिंग, कार्य और सामाजिक-आर्थिक स्थिति के आधार पर स्कोर कैसे भिन्न होते हैं।

यूनाइटेड किंगडम के कैरियर स्ट्राइक ग्रुप ने भारतीय नौसेना के साथ समुद्री अभ्यास शुरू किया

यूनाइटेड किंगडम का कैरियर स्ट्राइक समूह (CSG) एचएमएस क्वीन एलिजाबेथ (HMS Queen Elizabeth) एयरक्राफ्ट कैरियर के नेतृत्व में भारतीय नौसेना (Indian Navy) के साथ तीन दिन की अवधि के लिए बंगाल की खाड़ी में समुद्री अभ्यास में शामिल हो गया है। पहली बार, यूनाइटेड किंगडम का कैरियर स्ट्राइक ग्रुप (CSG) 2021, जिसका नेतृत्व HMS क्वीन एलिजाबेथ कर रहा है, भारतीय नौसेना के साथ जटिल समुद्री इंटरेक्शन में शामिल हो रहा है। दो दिवसीय द्विपक्षीय पैसेज अभ्यास (PASSEX) में, भारतीय नौसेना रॉयल नेवी के साथ समुद्र, वायु और उप-सतह समुद्री अभ्यास आयोजित करेगी।

UNESCAP स्कोर में भारत के महत्वपूर्ण सुधार

United Nation Economic and Social Commission for Asia Pacific (UNESCAP) के Global Survey on Digital and Sustainable Trade Facilitation में भारत ने 90.32% स्कोर किया है। वैश्विक स्तर पर 143 अर्थव्यवस्थाओं का मूल्यांकन करने के बाद, इस वर्ष के सर्वेक्षण में सभी 5 प्रमुख संकेतकों पर भारत के महत्वपूर्ण स्कोर सुधार पर प्रकाश डाला गया है।

  1. 2021 में पारदर्शिता 100% है (2019 में यह 33% थी)
  2. 2021 में औपचारिकताएं 83% दर्ज की गई हैं (2019 में यह 87.5% थी)
  3. 2021 में संस्थागत व्यवस्था और सहयोग 89% है (2019 में यह 66.67% था)
  4. 2021 में पेपरलेस ट्रेड 3% है (2019 में यह 81.48% था)
  5. 2021 में क्रॉस-बॉर्डर पेपरलेस ट्रेड 67% (2019 में यह 55.56% था)
दक्षिण और दक्षिण पश्चिम एशिया क्षेत्र (12%) और एशिया प्रशांत क्षेत्र (65.85%) की तुलना में भारत ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है। इस सर्वेक्षण में पाया गया है कि भारत का समग्र स्कोर कई OECD देशों से अधिक है जिसमें यूके, फ्रांस, नॉर्वे, कनाडा और फिनलैंड आदि शामिल हैं। सर्वेक्षण से पता चलता है कि भारत का समग्र स्कोर यूरोपीय संघ के औसत स्कोर से बेहतर है। पारदर्शिता सूचकांक के लिए भारत ने 100% स्कोर हासिल किया है।

G20 पर्यावरण और ऊर्जा मंत्री की वार्ता का आयोजन नेपल्स में किया गया

22 और 23 जुलाई, 2021 को रूस और अमेरिका में जंगल की आग और पश्चिमी यूरोप के में भयंकर बाढ़ के साथ, 20 देशों के समूह के ऊर्जा और पर्यावरण मंत्री इटली के नेपल्स में बातचीत कर रहे हैं। यह बैठकें तीन मुख्य विषयों पर फोकस के साथ आयोजित की जा रही हैं। वे हैं : विशेष रूप से कपड़ा और फैशन क्षेत्रों में परिपत्र अर्थव्यवस्थाओं (circular economies) को बढ़ावा देना; जैव विविधता और महासागरों का संरक्षण; और वित्तीय प्रणाली को फिर से संगठित करके सतत विकास को बढ़ावा देना। G20 पर्यावरण, जलवायु और ऊर्जा बैठक का आयोजन पारिस्थितिक परिवर्तन (ecological transition) को राजनीतिक एजेंडा के केंद्र में रखने, प्रगति और मानव कल्याण के साथ पर्यावरण संरक्षण को समेटने और महामारी के लिए विज्ञान आधारित समन्वित वैश्विक प्रतिक्रिया को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है। G20 मंत्रिस्तरीय बैठक अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधिमंडलों और तकनीशियनों के बीच चर्चाओं और अनुभवों के आदान-प्रदान के लिए एक मंच प्रदान करेगी जो एक समृद्ध और सतत भविष्य के लिए प्रभावी, न्यायसंगत और समन्वित प्रतिक्रियाओं के लिए कार्य कर रहे हैं।

केंद्र सरकार ने COVID-19 के कारण अनाथ हुए बच्चों के पंजीकरण के लिए पोर्टल की घोषणा की

COVID-19 के कारण अनाथ हुए किसी भी बच्चे का विवरण एक वेब पोर्टल के माध्यम से सरकार के साथ साझा किया जा सकता है और वह बच्चा PM CARES योजना के तहत लाभ प्राप्त कर सकता है। इसके लिए http://www.pmcaresforchildren.in वेबसाइट के माध्यम से विवरण अपलोड किया जा सकता है। सरकार ने 15 जुलाई, 2021 को देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए यह पोर्टल पेश किया है। इस पोर्टल के माध्यम से कोई भी नागरिक प्रशासन को उन बच्चों के बारे में सूचना सकता है जो इस योजना के तहत सहायता प्राप्त करने के लिए पात्र हैं। मई के महीने में प्रधानमंत्री ने उन सभी बच्चों के लिए पीएम केयर्स फंड के तहत एक योजना को मंजूरी दी थी, जिन्होंने COVID-19 बीमारी के कारण माता-पिता या दत्तक माता-पिता या कानूनी अभिभावक दोनों को खो दिया है। इस योजना के तहत प्रत्येक बच्चे के 18 वर्ष का होने पर उसे 10 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। 18 वर्ष की आयु के बच्चों को उनकी उच्च शिक्षा में मदद करने के लिए अगले पांच वर्षों के लिए मासिक वजीफा प्रदान किया जाएगा। जब बच्चा 23 वर्ष की आयु प्राप्त करता है, तो उसे एक बार में एकमुश्त राशि प्राप्त होगी। आयुष्मान भारत योजना के तहत भारत सरकार उनकी स्कूली शिक्षा में भी मदद करेगी और उन बच्चों को 5 लाख रुपये का स्वास्थ्य बीमा कवर प्रदान करेगी। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार 1 अप्रैल, 2021 और 28 मई, 2021 के बीच COVID -19 के कारण 645 बच्चे अनाथ हुए थे। राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अनुसार 1 अप्रैल, 2020 से 5 जून, 2021 तक 3621 बच्चे COVID -19 के कारण अनाथ हुए और 26,176 बच्चों ने COVID -19 के कारण कम से कम एक अभिभावक को खो दिया था।

सरकार ने जीएसटी में कानूनी मुद्दों की समीक्षा शुरू की

केंद्र सरकार ने वस्तु व सेवा कर (GST) कानून की समीक्षा शुरू कर दी है ताकि वर्ष 2017 में लागू होने के बाद से नियमित रूप से सामने आने वाले विभिन्न मुद्दों पर स्पष्टता प्रदान की जा सके। यह समीक्षा विभिन्न मुद्दों पर स्पष्टता के लिए की जा रही है। इसके अलावा, छूट के बारे में भ्रम है जो FMCG कंपनियों और उपभोक्ता टिकाऊ कंपनियों (consumer durables companies) द्वारा अपने डीलरों को प्रतिपूर्ति की जाती है ताकि उत्पादों को कम कीमतों पर बेचा जा सके। इस समीक्षा से विभिन्न कानूनों को सरल बनाने और लगातार विवादों को कम करने की उम्मीद है। राज्यों और केंद्र सरकारों को जीएसटी से संबंधित मुद्दों से संबंधित मामलों के संबंध में उद्योग से कई अभ्यावेदन (representations) प्राप्त हुए हैं और उन्हें इस समीक्षा के माध्यम से संबोधित करने की आवश्यकता है। सरकार प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों पर मुकदमेबाजी को कम करने पर भी विचार कर रही है, लेकिन कई मंचों पर जीएसटी विवाद दैनिक आधार पर बढ़ रहे हैं।

‘2008 GO20’ क्षुद्रग्रह पृथ्वी के पास से गुज़रेगा

अमेरिकी स्पेस एजेंसी के मुताबिक, जल्द ही एक बड़ा क्षुद्रग्रह पृथ्वी के पास से गुज़रेगा। ‘2008 GO20’ नामित यह ‘नियर-अर्थ एस्टेरॉइड’ लंबाई में लगभग 200 मीटर है, जो कि एक फुटबॉल मैदान से भी बड़ा है। नासा के अनुमानों के अनुसार, यह 8.2 किलोमीटर प्रति सेकंड की गति से पृथ्वी के पास से गुज़रेगा और पृथ्वी से लगभग तीन से चार मिलियन किलोमीटर दूर होगा। ‘2008 GO20’ क्षुद्रग्रह इससे पूर्व 20 जून, 2008 को पृथ्वी के करीब से गुज़रा था और नासा के अनुमान के मुताबिक 25 जुलाई, 2034 को यह क्षुद्रग्रह पुनः पृथ्वी के करीब से गुज़रेगा। नासा के अनुसार, ‘नियर-अर्थ एस्टेरॉइड’ जो कि 0.05 खगोलीय इकाइयों से नीचे या 7.5 मिलियन किलोमीटर की दूरी से गुज़रते हैं उन्हें संभावित रूप से खतरनाक क्षुद्रग्रह कहा जाता है और चूँकि ‘2008 GO20’ क्षुद्रग्रह 0.02 से 0.03 खगोलीय इकाई की दूरी से गुज़रता है, अतः इसे संभावित रूप से खतरनाक क्षुद्रग्रह के रूप में श्रेणीबद्ध किया जा सकता है। एक खगोलीय इकाई लगभग 150 मिलियन किलोमीटर या लगभग पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी के समान होती है।

बनास डेयरी का बिजली पैदा करने के लिए एक अलग सहकारी संस्था बनाने का फैसला

एशिया की सबसे बड़ी दुग्ध उत्पादन सहकारी संस्था बनास डेयरी ने दूध उत्पादन में सफलता के बाद बिजली पैदा करने के लिए एक अलग सहकारी संस्था बनाने का फैसला किया है। उत्तरी गुजरात के बनासकांठा जिले में स्थित डेयरी 50 मेगावाट का सौर संयंत्र स्थापित करेगी। इससे 25 प्रतिशत बिजली की कटौती कम करने में मदद मिलेगी।

लोकसभा में आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक पेश किया गया

22 जुलाई को आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक (Essential Defence Services Bill) लोकसभा में पेश किया गया। आवश्यक रक्षा सेवा विधेयक देश भर में सरकारी स्वामित्व वाली सभी आयुध कारखानों (ordnance factories) के कर्मचारियों को हड़ताल पर जाने से रोकने के उद्देश्य से पेश किया गया है। इस विधेयक में कहा गया है कि सशस्त्र बलों को उन्नत युद्धक्षेत्र गियर (advanced battlefield gears) से लैस करने में आत्मनिर्भरता के लिए रक्षा के लिए उपकरण और हार्डवेयर महत्वपूर्ण हैं। साथ ही देश की रक्षा तैयारी के लिए निर्बाध आपूर्ति बहुत आवश्यक है और इसलिए आयुध कारखानों को कर्मचारियों द्वारा बिना किसी व्यवधान या हड़ताल के काम करना जारी रखना चाहिए।

लोकसभा में जनसंख्या नियंत्रण पर 4 विधेयक पेश किये गये

लोकसभा में जदयू का एक सदस्य और भाजपा के तीन सदस्यों ने जनसंख्या नियंत्रण पर निजी सदस्य विधेयक सदन में पेश किये। चार में से रवि किशन उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से बीजेपी सांसद हैं। उत्तर प्रदेश हाल ही में ख़बरों में रहा है क्योंकि यह राज्य के लिए जनसंख्या नियंत्रण विधेयक का मसौदा तैयार करने की प्रक्रिया में है। बिहार के सुशील कुमार सिंह ने एक विधेयक पेश किया है जिसमें राष्ट्रीय जनसंख्या योजना प्राधिकरण और जिला जनसंख्या योजना समिति स्थापित करने का प्रयास किया गया है। जनसंख्या को नियंत्रण में रखने के लिए परिवार नियोजन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से इसे राष्ट्रीय और जिला स्तर पर स्थापित किया जाएगा। जद (यू) के डॉ. आलोक कुमार सुमन, जो बिहार से भी हैं, एक विधेयक पेश कर रहे हैं जो लंबे समय में राष्ट्र की प्रगति को प्रभावित करने वाली अधिक जनसंख्या के निहितार्थ पर ध्यान आकर्षित करता है। इस विधेयक में दो बच्चों तक के छोटे परिवार के मानदंडों को बढ़ावा देने की आवश्यकता का उल्लेख है।

अंतर्देशीय पोत विधेयक 2021 लोकसभा में पेश किया गया

अंतर्देशीय पोत विधेयक 2021 (Inland Vessels Bill) लोकसभा में पेश किया गया है। यह विधेयक भारत के भीतर नौवहन और अंतर्देशीय जलमार्ग से संबंधित कानूनों के लागू होने में एकरूपता लाएगा। यह विधेयक नव नियुक्त बंदरगाह, जहाजरानी और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल द्वारा पेश किया गया। यह बिल जीवन और कार्गो की सुरक्षा, नेविगेशन की सुरक्षा और प्रदूषण की रोकथाम प्रदान करने का प्रयास करता है। अंतर्देशीय पोत विधेयक सुरक्षित और किफायती परिवहन को बढ़ावा देगा। यह विधेयक अंतर्देशीय जल परिवहन के प्रशासन की जवाबदेही और पारदर्शिता लाने, सर्वेक्षण करने, अंतर्देशीय जहाजों के निर्माण, नेविगेशन और पंजीकरण को नियंत्रित करने वाली प्रक्रियाओं को मजबूत करने के लिए भी लाया गया है। वर्तमान में, भारत में देश में 4,000 किलोमीटर का परिचालन अंतर्देशीय जलमार्ग है।

बाल गंगाधर तिलक

23 जुलाई, 2021 को प्रधानमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानी बाल गंगाधर तिलक को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की। 23 जुलाई, 1856 को महाराष्ट्र के रत्नागिरि में जन्मे बाल गंगाधर तिलक को भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के प्रारंभिक नेताओं में से माना जाता है, जिन्हें लोकमान्य की उपाधि से सम्मानित किया गया था, जिसका अर्थ है ‘लोगों द्वारा एक नेता के रूप में स्वीकृत’। वे पेशे से एक वकील थे तथा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने उन्हें ‘आधुनिक भारत के निर्माता’ के रूप में संबोधित किया था। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के समय बाल गंगाधर तिलक ने ‘स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूँगा’ का नारा दिया था। लोकमान्य तिलक पूर्ण स्वतंत्रता या स्वराज्य (स्व-शासन) के सबसे प्रारंभिक एवं सबसे मुखर प्रस्तावकों में से एक थे। लाला लाजपत राय तथा बिपिन चंद्र पाल के साथ ये लाल-बाल-पाल की तिकड़ी (गरम दल/उग्रपंथी दल) का हिस्सा थे। वे वर्ष 1890 में ‘भारतीय राष्ट्रीय कॉन्ग्रेस’ में शामिल हुए। इन्होंने स्वदेशी आंदोलन का प्रचार किया तथा लोगों को विदेशी वस्तुओं के बहिष्कार के लिये प्रोत्साहित किया। उन्होंने अप्रैल 1916 में बेलगाम में ‘अखिल भारतीय होम रूल लीग’ की स्थापना की, जिसका कार्यक्षेत्र महाराष्ट्र (बॉम्बे को छोड़कर), मध्य प्रांत, कर्नाटक और बरार तक विस्तृत था। उन्होंने वेदों पर ‘गीता रहस्य’ तथा ‘आर्कटिक होम’ नामक पुस्तकें लिखीं।

चंद्रशेखर आज़ाद

23 जुलाई, 2021 को उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने महान क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आज़ाद को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए उन्हें एक कर्तव्‍यनिष्ठ देशभक्त एवं दृढ़ नेता के रूप में संबोधित किया। महान क्रांतिकारी चंद्रशेखर आज़ाद का जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्य प्रदेश के एक गाँव में हुआ था और उन्हें उच्च शिक्षा के लिये काशी विद्यापीठ बनारस भेजा गया था। भारत के असहयोग आंदोलन के दौरान मात्र 15 वर्ष की आयु में आज़ाद राष्ट्रीय आंदोलन का हिस्सा बने थे। असहयोग आंदोलन के निलंबन के बाद वे ‘राम प्रसाद बिस्मिल’ द्वारा गठित ‘हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन’ (HRA) में शामिल हो गए। वे भगत सिंह के करीबी सहयोगी थे और वर्ष 1928 में ‘हिंदुस्तान रिपब्लिकन एसोसिएशन’ (HRA) को ‘हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन’ (HSRA) में बदल दिया गया। काकोरी ट्रेन रॉबरी, असेंबली बम घटना तथा लाहौर में सॉन्डर्स की हत्या जैसी घटनाओं में शामिल होकर चंद्रशेखर आज़ाद क्रांतिकारी भारत का चेहरा बन गए। 27 फरवरी, 1931 को मात्र 24 वर्ष की उम्र में तत्कालीन अल्फ्रेड पार्क (अब आज़ाद पार्क) में चारों ओर से घिरने के पश्चात् उन्होंने स्वयं को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.