Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

9 September 2021

पीएम मोदी ने विद्यांजलि पोर्टल लांच किया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 7 सितंबर, 2021 को विद्यांजलि पोर्टल (Vidyanjali Portal) और शिक्षा क्षेत्र में कई अन्य पहलों को लांच किया। यह पहलें भारत के भविष्य को आकार देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगी। ‘शिक्षक पर्व’ के सम्मेलन का उद्घाटन करते हुए यह पहलें लांच की गई। विद्यांजलि पोर्टल स्कूल विकास के लिए शिक्षा स्वयंसेवकों, दाताओं या CSR योगदानकर्ताओं की सुविधा के उद्देश्य से शुरू किया गया था। विद्यांजलि पोर्टल समुदाय या स्वयंसेवकों को उनकी पसंद के सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त स्कूलों से सीधे जुड़कर योगदान करने में सक्षम बनाने के लिए लांच किया गया है। शिक्षा पर्व-2021 को शिक्षा मंत्रालय द्वारा लॉन्च किया गया था। इसका उत्सव 5 सितंबर को शुरू हुआ और 17 सितंबर, 2021 को समाप्त होगा। यह शिक्षकों के मूल्यवान योगदान को सम्मान देने और राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को आगे ले जाने के लिए आयोजित किया जा रहा है।

उत्‍तराखंड की राज्‍यपाल बेबी रानी मौर्या ने इस्‍तीफा दिया

उत्‍तराखंड की राज्‍यपाल बेबी रानी मौर्या ने इस्‍तीफा दे दिया है। श्रीमती मौर्या ने अपना त्‍यागपत्र राष्‍ट्रपति को भेज दिया। उन्‍हें 26 अगस्‍त 2018 को इस पद पर नियुक्‍त किया गया था।

अफगानिस्‍तान में तालिबान ने नई कार्यवाहक सरकार की घोषणा कर दी

अफगानिस्‍तान में तालिबान ने नई कार्यवाहक सरकार की घोषणा कर दी है। अंतरिम मंत्रिमंडल में मुल्‍ला हसन अखुंद नई सरकार के कार्यवाहक प्रधानमंत्री होंगे। मंत्रि‍मंडल के सभी सदस्‍य पुरूष हैं। अंखुद कंधार से जुडे हुए हैं। वें पिछले बीस साल से अमरीका और सैन्‍य बलों पर हमलों में शामिल समूह नेतृत्‍व परिषद के अध्‍यक्ष थे। तालिबान प्रमुख हिबतुल्‍लाह अंखुदजादा सरकार के प्रमुख नेता होंगे। राजनीतिक कार्यालय ग्रुप के अध्‍यक्ष मुल्‍ला अब्‍दुल गनी बरादर और मुल्‍ला अब्‍दुल सलाम हनाफी को उपप्रधानमंत्री बनाया गया है। कुख्‍यात हक्‍कानी नेटवर्क के प्रमुख सिराजुद्दीन हक्‍कानी को गृहमंत्री बनाया गया है। अमरीका ने हक्‍कानी नेटवर्क को वैश्विक आतंकवादी संगठन बताया है। अमरीका ने इस पर 50 लाख डॉलर का ईनाम रखा है।

सरकार ने कोयला आधारित हाइड्रोजन उत्‍पादन का रोडमैप तैयार करने के लिए कार्यबल और विशेषज्ञ समिति का गठन किया

कोयला मंत्रालय ने कोयला आधारित हाइड्रोजन उत्पादन के लिए रोड मैप तैयार करने के वास्‍ते एक कार्यबल और विशेषज्ञ समिति का गठन किया है। भारत के 75वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री ने हाइड्रोजन मिशन की घोषणा की थी। कोयला, हाइड्रोजन उत्‍पादन के महत्वपूर्ण स्रोतों में से एक है। कार्यबल का नेतृत्व मंत्रालय के अपर सचिव करेंगे। विशेषज्ञ समिति की अध्यक्षता भारतीय पेट्रोलियम उद्योग परिसंघ के महानिदेशक आर.के. मल्होत्रा करेंगे। समिति कोयला आधारित हाइड्रोजन उत्पादन के लिए रोड मैप तैयार करेगी। यह समिति लगभग तीन महीने में अपनी रिपोर्ट भेज देगी।

केन्‍द्रीय संस्‍कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने बुजुर्गों की बात-देश के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की

केन्‍द्रीय संस्‍कृति मंत्री जी. किशन रेड्डी ने नई दिल्‍ली में बुजुर्गों की बात-देश के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की। इस कार्यक्रम का उद्देश्‍य युवाओं और ऐसे वरिष्‍ठ नागरिकों के बीच संवाद को बढावा देना है जिनकी उम्र 95 वर्ष से अधिक है और जिन्‍होंने स्‍वतंत्रता से 18 वर्ष पहले का समय भारत में बिताया है। बातचीत का 60 सैकेंड से कम का वीडियो www.rashtragaan.in पर अपलोड किया जा सकता है। श्री गंगापुरम किशन रेड्डी और केंद्रीय संस्कृति राज्य मंत्री श्री अर्जुन राम मेघवाल ने नई दिल्ली स्थित आईजीएनसीए में डॉ. उत्पल के. बनर्जी की पुस्तक 'गीत गोविन्द: जयदेवडिवाइन ओडिसी' का विमोचन किया। इसके साथ ही 'गीत गोविन्द' पर एक प्रदर्शनी का भी शुभारंभ किया गया। कृष्ण थीम पर आयोजित प्रदर्शनी में अंबर, कांगड़ा सहित विभिन्न चित्रकला स्कूलों से चित्रों के संग्रह को प्रदर्शित किया गया है। मूल रूप से 'गीत गोविन्द' 12वीं शताब्दी में कवि जयदेव ने लिखी थी।

मंत्रिमंडल ने भारतीय वायु सेना के लिए 56 मालवाहक विमानों की खरीद को मंजूरी दी

मंत्रिमंडल ने भारतीय वायु सेना के लिए 56, सी-295 एम. डब्‍ल्‍यू. परिवहन विमानों की खरीद की मंजूरी दे दी है। सुरक्षा से संबंधित मंत्रिमंडलीय समिति ने मैसर्स एयरबेस डिफेंस और स्‍पेस एस. ए. स्‍पेन से इन्‍हें खरीदने की स्‍वीकृति दी है। सी-295 एम. डब्‍ल्‍यू. परिवहन विमान पांच से दस टन वजन लाने ले जाने में सक्षम है। आधुनिक टेक्‍नोलॉजी से लेस यह विमान भारतीय वायु सेना के पुराने पड चुके एवरो विमान का स्‍थान लेगा। इस विमान में तुरंत कार्रवाई और सैनिकों तथा कार्गो की पैराड्रॉपिंग के लिए एक रियर रैम्‍प द्वार है। अनुबंध पर हस्‍ताक्षर करने के 48 महीने के अंदर स्‍पेन से 16 विमान प्राप्‍त होंगे, जो उड़ान भरने की स्थिति में होंगे। इसके अलावा 40 विमान कंपनी द्वारा भारत में टाटा के साथ एक समूह (कंसोर्टियम) के हिस्से के तहत बनाए जाएंगे। टाटा कंसोर्टियम अनुबंध के बाद दस साल के अंदर ऐसे 40 विमानों का विनिर्माण करेगी। यह ऐसी पहली परियोजना है जिसमें भारत की एक निजी कम्‍पनी सैन्‍य विमान का विनिर्माण करेगी। सभी 56 विमानों में स्‍वदेशी इलेक्‍ट्रॉनिक वारफेयर सूट लगाए जाएंगे। यह परियोजना भारत में विमानन पारिस्थितिकी तंत्र को बढावा देगी जिससे देशभर में फैले सूक्ष्‍म, लघु और मध्‍यम उद्यम, विमानों के हिस्‍से पुर्जों का निर्माण कर सकेंगे।

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने कपडा क्षेत्र के लिए उत्पादकता से जुडी प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दे दी

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने कपडा क्षेत्र के लिए उत्पादकता से जुडी प्रोत्साहन योजना को मंजूरी दे दी है। इसके तहत पांच वर्षों में दस हजार 683 करोड रूपये उपलब्ध कराये जायेंगे। इस फैसले से गुजरात, उत्तरप्रदेश, महाराष्ट्र और तमिलनाडु जैसे राज्यों पर सकारात्मक प्रभाव पडेगा और कपडा क्षेत्र में रोजगार के अवसर बढेंगे।

केंद्रीय मंत्रिमण्‍डल की मंजूरी

केंद्रीय मंत्रिमण्‍डल ने इंस्‍टीटयूट ऑफ चार्टड एकाउंटेंटस आफ इंडिया और चैम्‍बर्स ऑफ ऑडिटर्स ऑफ द रिपब्लिक ऑफ अजरबैजान के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर करने की मंजूरी दे दी है। इससे सदस्‍य प्रबंधन, पेशेवर नैतिकता, तकनीकी अनुसंधान, पेशेवर लेखापालन प्रशिक्षण, ऑडिट गुणवत्‍ता निगरानी, लेखा ज्ञान के उन्‍नयन और पेशेवर तथा बौद्विक विकास के क्षेत्रों में आपसी सहयोग विकसित करने में मदद मिलेगी। मंत्रिमण्‍डल ने भारतीय भू-गर्भीय सर्वेक्षण और रूस परिसंघ के कानून के तहत गठित एक वैधानिक संगठन-ज्‍वांअट स्‍टॉक कंपनी-रोसजियोलोगिया के बीच भू-विज्ञान के क्षेत्र में सहयोग के सहमति पत्र पर भी हस्‍ताक्षर करने की मंजूरी दी है। इस आशय पत्र का मुख्‍य उद्देश्‍य गहराई में स्थित और अदृश्‍य खनन सम्‍पदा की खोज, वायु-भू-भौतिक डेटा के विश्‍लेषण और व्‍याख्‍या, भारतीय भू-विज्ञान डेटा रिस्‍पॉजिटरी के साथ रूसी स्‍टेट ऑफ द आर्ट सूचना प्रौद्योगिकी के संयुक्‍त विकास, नमूने लेने और प्रयोगशाला विश्‍लेषण के क्षेत्र में प्रौद्योगिकी और विज्ञान का आदान-प्रदान के लिए अधिक आपसी सहयोग करना है। मंत्रिमंडल ने पुर्तगाल में काम के लिए भारतीय नागरिकों की भर्ती के भारत और पुर्तगाल के बीच एक समझौते पर हस्‍ताक्षर की भी अनुमति दे दी है। वर्तमान समझौता भारतीय कामगारों को भेजने और स्‍वीकार किए जाने के बारे में भारत और पुर्तगाल के बीच सहयोग तथा भागीदारी के लिए संस्‍थागत व्‍यवस्‍था स्‍थापित करेगा।

कृषि के क्षेत्र में सहयोग को बढ़ावा देने के लिए नीति आयोग और गुजरात विश्वविद्यालय ने आशय पत्र पर हस्ताक्षर किए

नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार की उपस्थिति में नीति आयोग और गुजरात विश्वविद्यालय के बीच एक आशय पत्र (एसओआई) पर हस्ताक्षर किए गए। यह आशय पत्र भारत में ज्ञान-साझाकरण और नीति विकास को मजबूत करने के लिए दो संस्थानों के बीच तकनीकी सहयोग पर केन्द्रित है। कार्यक्रम के दौरान डॉ. राजीव कुमार द्वारा कृषि उद्यमिता और मूल्य श्रृंखला प्रबंधन में एमबीए पाठ्यक्रम भी शुरू किया गया। इसका उद्देश्य कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ावा देना है। इससे सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने की दिशा में भारत के प्रयासों पर जोर देने की उम्मीद है। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ सस्टेनेबिलिटी द्वारा पेश किया गया कृषि उद्यमिता और मूल्य श्रृंखला प्रबंधन में एमबीए पाठ्यक्रम एक विशिष्ट रूप से डिजाइन किया गया पाठ्यक्रम है, जो कृषि पारिस्थितिकी तंत्र को समझने में छात्रों को वैश्विक अनुभव प्रदान करेगा।

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह तथा सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी राजस्थान के बाड़मेर में राष्ट्रीय राजमार्ग-925ए के सत्ता-गांधव हिस्से पर वायुसेना के विमानों की आपातकालीन लैंडिंग सुविधा का उद्घाटन करेंगे

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह तथा सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी एमरजेंसी लैंडिंग फील्ड (ईएलएफ) का उद्घाटन करेंगे। इसके अलावा वे नौ सितंबर, 2021 को राजस्थान के बाड़मेर के दक्षिण में गांधव-बाखासर सेक्शन (राष्ट्रीय राजमार्ग-925) पर एमरजेंसी लैंडिंग फील्ड पर वैमानिक गतिविधियों का अवलोकन करेंगे। यह पहली बार है जब किसी राष्ट्रीय राजमार्ग का उपयोग भारतीय वायुसेना के विमानों की एमरजेंसी लैंडिंग के लिये किया जायेगा। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने राष्ट्रीय राजमार्ग-925ए पर सत्ता-गांधव के 41/430 किमी से 44/430 किमी के तीन किलोमीटर लंबे हिस्से को भारतीय वायु सेना के लिये एमरजेंसी लैंडिंग फील्ड (ईएलएफ) के रूप में तैयार किया है। लैंडिंग सुविधा, अभी हाल में विकसित खंड़जे से बने ऊंचे किनारे वाले (फुटपाथ के रूप में) दो लेन के गगरिया-भाखासर तथा सत्ता-गांधव सेक्शन का हिस्सा है। इसकी कुल लंबाई 196.97 किमी है और इसकी लागत 765.52 करोड़ रुपये है। इसे भारतमाला परियोजना के तहत निर्मित किया गया है। इस परियोजना से बाड़मेर और जालौर जिले के सीमावर्ती गांवों के बीच संपर्कता में सुधार होगा।

पर्यावरण पर पहली भारत-जापान उच्च स्तरीय नीति वार्ता का आयोजन किया गया

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव और जापान के पर्यावरण मंत्री श्री कोइज़ुमी शिनजिरो के बीच पहली भारत-जापान उच्च स्तरीय नीति वार्ता 7 सितंबर 2021 को वर्चुअल माध्यम से आयोजित की गई। इस बैठक में वायु प्रदूषण, सतत प्रौद्योगिकियां और परिवहन, जलवायु परिवर्तन, समुद्री कचरे, फ्लोरोकार्बन्स और सीओपी-26 आदि मुद्दों पर चर्चा की गई। बैठक में, श्री भूपेंद्र यादव ने पर्यावरण पर भारत-जापान द्विपक्षीय सहयोग के महत्व को स्वीकार किया और भारत में नई प्रौद्योगिकियों को लाने में जापान द्वारा किए गए प्रयासों की सराहना की। श्री यादव ने माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में जलवायु परिवर्तन से निपटने में भारत की उपलब्धियों पर भी प्रकाश डाला। श्री भूपेंद्र यादव ने कहा कि भारत और जापान विशेष रूप से चक्रीय अर्थव्यवस्था और संसाधन दक्षता, कम कार्बन उत्सर्जन की प्रौद्योगिकी, हरित हाइड्रोजन, आदि पर द्विपक्षीय सहयोग को मजबूत करने के बारे में पता लगा सकते हैं।

चंडीगढ़ के लिये एक ‘पराग कैलेंडर’ विकसित किया

पोस्ट ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल एजुकेशन एंड रिसर्च’ (PGIMER) और ‘पंजाब विश्वविद्यालय’ ने चंडीगढ़ के लिये एक ‘पराग कैलेंडर’ (PC) विकसित किया है, जो भारत के किसी शहर के लिये अपनी तरह का पहला प्रयास है। पराग कैलेंडर को लगभग दो वर्षों तक हवाई/वायुजनित पराग और इसके मौसमी बदलावों का अध्ययन करने के बाद बनाया गया था। पराग कैलेंडर (PC) एक विशेष भौगोलिक क्षेत्र में मौजूद हवाई/वायुजनित पराग के समय की गतिशीलता का प्रतिनिधित्व करते हैं। वे एक ही चित्र में पूरे वर्ष में मौजूद विभिन्न वायुजनित परागों के बारे में आसानी से सुलभ दृश्य विवरण प्राप्त करते हैं। ‘पराग कैलेंडर’ प्रायः स्थान-विशिष्ट होते हैं, जिसमें पराग की सांद्रता स्थानीय रूप से वितरित वनस्पतियों से निकटता से संबंधित होती है। यूरोपीय संघ, ब्रिटेन और अमेरिका द्वारा ‘एलर्जिक राइनाइटिस’/’हे फीवर’ को रोकने तथा निदान करने एवं पराग के मौसम के समय एवं गंभीरता का अनुमान लगाने के लिये क्षेत्रीय पराग कैलेंडर का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जा रहा है। परागकण नर जैविक संरचनाएँ हैं, जिनका प्राथमिक दायित्व ‘गर्भाधान’ होता है, लेकिन जब मनुष्यों द्वारा साँस ली जाती है, तो वे श्वसन प्रणाली पर दबाव डाल सकते हैं और एलर्जी का कारण बन सकते हैं। ‘पराग’ पौधों द्वारा छोड़ा जाता है, जिससे लाखों लोग हे फीवर, परागण और एलर्जिक राइनाइटिस से पीड़ित होते हैं। भारत में लगभग 20-30% आबादी एलर्जिक राइनाइटिस या हे फीवर से पीड़ित है और लगभग 15% लोग अस्थमा से पीड़ित हैं। PGIMER के एक अध्ययन के अनुसार, वसंत और शरद ऋतु का मौसम वायुजनित पराग के लिये काफी विशिष्ट होता है, जब फेनोलॉजिकल एवं मौसम संबंधी मापदंड पराग कणों के विकास, फैलाव और संचरण के लिये अनुकूल होते हैं।

कार्ड डेटा स्टोर करने संबंधी दिशा-निर्देश: RBI

हाल ही में भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) ने संस्थाओं या अन्य व्यापारियों द्वारा बैंक कार्ड डेटा के भंडारण के संबंध में नए निर्देश दिये हैं। इसने निर्देश दिया है कि कार्ड जारीकर्त्ता और कार्ड नेटवर्क के अलावा कोई भी संस्था या व्यापारी कार्ड के विवरण को स्टोर नहीं करेगा। यह कार्ड विवरण साझा करने के कारण होने वाली धोखाधड़ी को कम करेगा। जनवरी 2022 से कार्ड जारीकर्त्ता और कार्ड नेटवर्क के अलावा कार्ड लेनदेन या भुगतान शृंखला में किसी भी संस्था को वास्तविक कार्ड डेटा संग्रहीत नहीं करना होगा। पहले से संग्रहीत ऐसा कोई भी डेटा हटा दिया जाएगा। इसने कार्ड जारीकर्त्ताओं द्वारा कार्ड-ऑन-फाइल (CoF) के टोकनाइज़ेशन को भी बढ़ा दिया है। इसने कार्ड जारीकर्त्ताओं को टोकन सेवा प्रदाता (TSPs) के रूप में कार्ड टोकनाइज़ेशन सेवाएँ प्रदान करने की अनुमति दी है। TSPs केवल उनके द्वारा जारी या संबद्ध कार्डों के लिये टोकन की सुविधा की पेशकश करेंगे। टोकनाइज़ेशन वास्तविक कार्ड विवरण को "टोकन" नामक एक वैकल्पिक कोड के साथ बदलने को संदर्भित करता है, जो कार्ड, टोकन अनुरोधकर्त्ता और डिवाइस के संयोजन के लिये अद्वितीय होगा। टोकन का उपयोग पॉइंट-ऑफ-सेल टर्मिनल्स, त्वरित प्रतिक्रिया और कोड भुगतान पर संपर्क रहित मोड में कार्ड से लेनदेन करने के लिये किया जाता है।

ग्रीस में जलवायु संकट हेतु विशिष्ट मंत्रालय

हाल ही में ग्रीस सरकार ने जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को दूर करने के लिये एक नए मंत्रालय का गठन किया है और यूरोपीय संघ के पूर्व आयुक्त ‘क्रिस्टोस स्टाइलियानाइड्स’ को मंत्रालय का प्रमुख नामित किया है। ‘क्रिस्टोस टायलियनाइड्स’ वर्ष 2014 से वर्ष 2019 के बीच मानवीय सहायता और संकट प्रबंधन के लिये यूरोपीय संघ आयुक्त के रूप में कार्य कर चुके हैं। यह नियुक्ति ऐसे समय में की गई है, जब ग्रीस में भीषण आग लगी हुई है, जिसने अब तक इविया द्वीप और दक्षिणी ग्रीस में 1,000 वर्ग किलोमीटर (385 वर्ग मील) से अधिक वन क्षेत्र को जला दिया है। ग्रीस द्वारा गठित ‘मिनिस्ट्री ऑफ क्लाइमेट क्राइसिस एंड सिविल प्रोटेक्शन’ का प्राथमिक दायित्व जलवायु परिवर्तन के परिणामस्वरूप बढ़ते तापमान से निपटने और अग्निशामक एवं आपदा राहत कार्यों को बढ़ावा देने हेतु नीतियों का निर्माण करना है।

दिल्ली सरकार ने लांच किया ‘बिजनेस ब्लास्टर्स’ कार्यक्रम

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने 7 सितंबर, 2021 को ‘बिजनेस ब्लास्टर्स’ कार्यक्रम लांच किया। यह कार्यक्रम स्कूल स्तर पर युवा उद्यमियों को विकसित करने के उद्देश्य से छात्रों को व्यवसाय शुरू करने के लिए कुछ ‘बीज राशि’ (seed money) प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है। इसे “उद्यमिता मानसिकता पाठ्यक्रम (Entrepreneurship Mindset Curriculum – EMC)” के तहत दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में लागू किया जाएगा। इस कार्यक्रम के तहत कक्षा 11 और 12 के छात्रों को अपना व्यवसाय शुरू करने के लिए 2,000 रुपये की ‘बीज राशि’ प्रदान की जाएगी। पायलट प्रोजेक्ट के तहत स्कूल ऑफ एक्सीलेंस खिचड़ीपुर में इस कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इसमें 41 छात्रों के 9 ग्रुप बनाए गए और उन्हें 1,000 रुपये की बीज राशि प्रदान की गई। इसमें उन्हें भारी मुनाफा हुआ।

भूपेंद्र यादव ने ‘प्राण’ पोर्टल लॉन्च किया

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री भूपेंद्र यादव ने 7 सितंबर, 2021 को ‘प्राण’ नामक एक पोर्टल लॉन्च किया। ‘प्राण’ पोर्टल का उपयोग राष्ट्रीय स्वच्छ वायु कार्यक्रम (National Clean Air Programme – NCAP) की प्रगति को ट्रैक करने के लिए किया जाएगा ताकि सभी को स्वच्छ हवा और नीला आसमान सुनिश्चित करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता का पालन किया जा सके। इस पोर्टल को गैर-प्राप्ति शहरों (Non-attainment Cities – NC) में ‘International Day of Clean Air for Blue Skies’ के अवसर पर लॉन्च किया गया था। गैर-प्राप्ति वाले शहर वे शहर हैं जो 5 साल की अवधि में राष्ट्रीय वायु गुणवत्ता मानकों को पूरा करने में विफल रहे। भारत के प्रयासों से 2019 में 86 शहरों ने बेहतर वायु गुणवत्ता दिखाई और 2020 में यह बढ़कर 104 शहरों तक पहुंच गई।

पर्यावरण मंत्री ने पहला कार्यात्मक स्मॉग टॉवर लॉन्च किया

केंद्रीय पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने 7 सितंबर, 2021 को भारत के पहले कार्यात्मक स्मॉग टॉवर का वर्चुअली उद्घाटन किया। दिल्ली के आनंद विहार में स्मॉग टॉवर लॉन्च किया गया। अब, मंत्रालय यह निर्धारित करने के लिए परिणामों पर कड़ी नजर रखेगा कि क्या भारत को भविष्य में ऐसी और परियोजनाओं की आवश्यकता है। स्मॉग टॉवर एक संरचना है जिसे बड़े या मध्यम स्तर के वायु शोधक (air purifier) के रूप में डिज़ाइन किया गया है। यह फिल्टर के माध्यम से वायु प्रदूषण को कम करने में मदद करता है। आनंद विहार स्थित स्मॉग टॉवर की ऊंचाई 20 मीटर से अधिक है। यह डॉवंड्राफ्ट टाइप का है जिसमें टावर के ऊपर से प्रदूषित हवा अंदर आएगी और नीचे से साफ हवा निकलेगी। यह फ़िल्टर स्थानीयकृत पार्टिकुलेट मैटर को कम करने के लिए लगाया गया है। स्मॉग टॉवर में इस्तेमाल होने वाले फिल्ट्रेशन सिस्टम को यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा द्वारा डिजाइन किया गया है। इसकी अपेक्षित दक्षता 90% है। इस स्मॉग टॉवर का निर्माण टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड ने एनबीसीसी (इंडिया) लिमिटेड के सहयोग से परियोजना प्रबंधन सलाहकार के रूप में किया है। इससे पूर्व दिल्ली के कनॉट प्लेस में एक स्मॉग टॉवर स्थापित किया गया था तथा चंडीगढ़ में भारत के सबसे ऊँचे वायु शोधक (Air Purifier) का भी उद्घाटन किया गया था।

37% शार्क और रे (rays) के विलुप्त होने का खतरा : IUCN

IUCN की एक नई ‘रेड लिस्ट’ के अनुसार, 2014 से दुनिया की शार्क और रे (rays) की आबादी में गिरावट देखी जा रही है और अब उनके विलुप्त होने का खतरा है। घटती प्रजातियों की रक्षा के उद्देश्य से वैश्विक सम्मेलन में IUCN द्वारा नई रेड लिस्ट जारी की गई। दुनिया भर में लगभग 37% शार्क और ‘रे’ को 2021 तक संकटग्रस्त माना जाता है। 2014 में, यह संख्या 33% थी। यह प्रवृत्ति ज्यादा मछली के शिकार, आवास की हानि और जलवायु परिवर्तन का परिणाम थी। 1970 के बाद से समुद्री शार्क की आबादी में भी 71% की कमी आई है। IUCN की रेड लिस्ट में हर साल सैकड़ों प्रजातियों का पुनर्मूल्यांकन किया जाता है। जिन 1,38,000 प्रजातियों को ट्रैक किया गया था, उनमें से 38,000 से अधिक के विलुप्त होने का खतरा है।

तमिलनाडु पेरियार की जयंती को सामाजिक न्याय दिवस के रूप में मनाएगा

तमिलनाडु सरकार ने सुधारवादी नेता ई.वी. रामासामी पेरियार (E.V. Ramasamy Periyar) की जयंती “सामाजिक न्याय दिवस” (Social Justice Day) मनाने का फैसला किया है। ई.वी. रामासामी पेरियार का जन्म 17 सितंबर को हुआ था। इस दिन को अब हर साल ‘सामाजिक न्याय दिवस’ के रूप में मनाया जाएगा। पेरियार की विचारधारा सामाजिक न्याय, समानता, आत्म-सम्मान और तर्कवाद के बारे में थी। इसने पिछली शताब्दी के दौरान तमिल समाज के विकास की आधारशिला रखी। ये विचारधाराएँ भविष्य का मार्ग भी प्रशस्त करेंगी। हर साल 17 सितंबर को सभी सरकारी कार्यालयों और राज्य सचिवालय के कर्मचारी समानता, भाईचारे, स्वाभिमान और तर्कवाद जैसे उच्च आदर्शों के आधार पर मूल्यों का पालन करने का संकल्प लेंगे। मुख्यमंत्री के अनुसार, तमिल समाज के लिए पेरियार की सेवाएं पहले संवैधानिक संशोधन अधिनियम के अधिनियमन में महत्वपूर्ण थीं, जिसने पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षण की रक्षा की।

ADB ने तमिलनाडु की शहरी गरीब आवास परियोजना के लिए $150 मिलियन के ऋण को मंजूरी दी

3 सितंबर, 2021 को, एशियाई विकास बैंक (ADB) ने तमिलनाडु शहरी गरीब आवास परियोजना के लिए $150 मिलियन के ऋण को मंजूरी दी। ADB के अनुसार, तमिलनाडु भारत के आर्थिक विकास के लिए महत्वपूर्ण है। यह वर्तमान में सकल घरेलू उत्पाद (GDP) में 8.54% का योगदान दे रहा है। राज्य में आर्थिक अवसरों ने ग्रामीण-शहरी प्रवास दर को बढ़ावा दिया है। भारत में, तमिलनाडु में पहले से ही सबसे अधिक शहरीकरण दर है। एशियाई विकास बैंक ने कमजोर और वंचित परिवारों को सुरक्षित, समावेशी, किफायती आवास के बुनियादी ढांचे और सेवाओं तक पहुंच प्रदान करने के उद्देश्य से $150 मिलियन के ऋण को मंजूरी दी। तमिलनाडु की आबादी 72 मिलियन से अधिक है। इसमें से आधी आबादी शहरी क्षेत्रों में रहती है। राज्य तेजी से शहरीकरण और शहरी आबादी में वृद्धि देख रहा है। इस प्रकार, पर्याप्त शहरी बुनियादी ढांचे, सेवाओं और आवास की आवश्यकता है।

अंतरराष्ट्रीय साक्षरता दिवस

साक्षरता के महत्व के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर वर्ष 8 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस मनाया जाता है। यह दिवस व्यक्ति, समुदाय और समाज के लिए साक्षरता के महत्व को रेखांकित करता है। इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस का विषय डिजिटल साक्षरता विभाजन को कम करना' है। पहला अंतर्राष्ट्रीय साक्षरता दिवस 1967 में मनाया गया था।

विश्व फिज़ियोथेरेपी दिवस

प्रतिवर्ष 08 सितंबर को वैश्विक स्तर पर ‘विश्व फिज़ियोथेरेपी दिवस’ का आयोजन किया जाता है। यह दिवस लोगों को फिट और स्वस्थ्य बनाने में फिज़ियोथेरेपिस्ट की महत्त्वपूर्ण भूमिका के बारे में जागरूकता बढ़ाने का प्रयास करता है। इस वर्ष ‘विश्व फिज़ियोथेरेपी दिवस’ कोविड-19 संक्रमण से रिकवरी और इससे प्रभावित लोगों के प्रबंधन तथा उपचार में फिज़ियोथेरेपी की भूमिका पर केंद्रित है। 08 सितंबर को वैश्विक स्तर पर ‘विश्व फिज़ियोथेरेपी दिवस’ के रूप में वर्ष 1996 में नामित किया गया था। इस दिवस का आयोजन फिजियोथेरेपिस्ट द्वारा रोगियों के लिये किये जाने वाले कार्यों को मान्यता देने के साथ-साथ फिज़ियोथेरेपी के क्षेत्र में नवाचार को भी प्रोत्साहित करता है। फिजियोथेरेपी मेडिकल साइंस की ऐसी प्रणाली है, जिसकी सहायता से जटिल रोगों का इलाज आसानी से किया जाता है। फिज़ियोथेरेपी किसी भी प्रकार की पुरानी चोट से निपटने और भविष्य में चोट को रोकने में सक्षम है। फिज़ियोथेरेपी चोट की संभावना को कम करते हुए शरीर को अधिक मज़बूत एवं लचीला बनाने में मदद कर सकती है।

गूगल ने टिम बर्गलिंग के 32वें जन्म दिवस के अवसर एक डूडल बनाया

हाल में गूगल ने टिम बर्गलिंग (Tim Bergling) के 32वें जन्म दिवस के अवसर एक डूडल बनाया। टिम बर्गलिंग (Tim Bergling) एक स्वीडिश संगीतकार और डीजे थे, उन्हें ‘अविची’ (Avicii) नाम से जाना जाता था। टिम बर्गलिंग (Tim Bergling) का जन्म 8 सितम्बर, 1989 को स्वीडन के स्टॉकहोल्म में हुआ था। उन्होंने 16 वर्ष की आयु में संगीत बनाने का कार्य शुरू किया। 2011 में ‘Levels’ नामक गाने से उन्हें काफी प्रसिद्धि प्राप्त हुई। ख़राब स्वास्थ्य और मानसिक परेशानियों के कारण अविची ने 2016 में सन्यास लिया। 20 अप्रैल, 2018 को अविची का निधन हो गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.