Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

12 October 2021

अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार 2021 की घोषणा की गयी

इस बार तीन अर्थशास्त्रियों डेविड कार्ड (David Card), जोशुआ अंग्रिस्ट (Joshua Angrist) और गुइदो इम्बेन्स (Guido Imbens) को अर्थशास्त्र के लिए नोबेल पुरस्कार (Nobel Prize in Economics) 2021 से सम्मानित किया गया है। डेविड कार्ड एक अमेरिकी कनाडाई, जोशुआ एंग्रिस्ट एक इजरायल-अमेरिकी और गुइदो इम्बेन्स एक डच-अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं, इस बार अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार श्रम बाजार और “प्राकृतिक प्रयोगों” में अंतर्दृष्टि के लिए प्रदान किया गया है। इस पुरस्कार का आधा हिस्सा डेविड कार्ड (कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय, बर्कले के एक प्रोफेसर) को “श्रम अर्थशास्त्र में उनके अनुभवजन्य योगदान के लिए” प्रदान किया गया। डेविड कार्ड का काम न्यूनतम मजदूरी, आप्रवास और शिक्षा के श्रम बाजार प्रभावों पर केंद्रित है। पुरस्कार अन्य आधा हिस्सा जोशुआ एंग्रिस्ट (मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (MIT) के प्रोफेसर) और स्टैनफोर्ड के प्रोफेसर गुइदो इम्बेन्स को प्रदान किया गया, उन्हें “कारण संबंधों के विश्लेषण में उनके पद्धतिगत योगदान के लिए” इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक 2021

वैश्विक बहुआयामी गरीबी सूचकांक 2021संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP)” और “ऑक्सफोर्ड गरीबी और मानव विकास पहल (OPHI)” द्वारा जारी किया गया है। यह रिपोर्ट 109 देशों में 5.9 बिलियन लोगों को कवर करते हुए बहुआयामी गरीबी के स्तर और संरचना की जांच करती है। यह कई अभावों को भी ध्यान में रखती है जो लोग अपने दैनिक जीवन में खराब स्वास्थ्य, अपर्याप्त शिक्षा और खराब जीवन स्तर का अनुभव करते हैं। इस रिपोर्ट के अनुसार, 1.3 बिलियन लोग बहुआयामी गरीब हैं, जिनमें से लगभग 644 मिलियन 18 वर्ष से कम आयु के बच्चे हैं। उनमें से 85% उप-सहारा अफ्रीका (556 मिलियन) और दक्षिण एशिया (532 मिलियन) में रहते हैं। 67% गरीब मध्यम आय वाले देशों में रहते हैं। 1 अरब गरीब खाना पकाने के ईंधन, अपर्याप्त स्वच्छता और घटिया आवास के साथ गुज़र बसर कर रहे हैं। भारत में अनुसूचित जनजाति समूह, जिसकी आबादी 9.4% है, सबसे गरीब है। 129 मिलियन लोगों में से 65 मिलियन लोग बहुआयामी गरीबी में जी रहे हैं। 283 मिलियन अनुसूचित जाति समूह के लोगों में से 94 मिलियन बहुआयामी गरीबी में जी रहे हैं।

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने ‘स्वच्छ पर्यावरण के अधिकार’ को मान्यता दी

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद (UNHRC) ने सर्वसम्मति से एक सार्वभौमिक अधिकार के रूप में एक स्वच्छ, स्वस्थ और स्थायी पर्यावरण पहचान करने के लिए मतदान किया। इस अधिकार को UNHRC द्वारा 8 अक्टूबर, 2021 को जिनेवा, स्विट्जरलैंड में मान्यता दी गई थी। एक बार इस अधिकार को सभी द्वारा मान्यता प्रदान किये जाने के बाद, यह 70 वर्षों में अपनी तरह का पहला होगा, जब से संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 1948 में मानवाधिकारों की सार्वभौमिक घोषणा को अपनाया गया था। स्वच्छ पर्यावरण का अधिकार सबसे पहले “1972 स्टॉकहोम घोषणा” में निहित था। यह प्रस्ताव पर्यावरण मामलों में काम कर रहे मानवाधिकार रक्षकों के “जीवन, स्वतंत्रता और सुरक्षा के अधिकार” पर जोर देता है। उन्हें पर्यावरण मानवाधिकार रक्षकों के रूप में जाना जाता है। मानव अधिकार परिषद द्वारा स्वच्छ पर्यावरण प्रस्ताव पारित किया गया था। इस प्रस्ताव ने देशों से पर्यावरण में सुधार की अपनी क्षमताओं को बढ़ावा देने का भी आह्वान किया। इसे 43-0 से पारित कर दिया गया।

भारत ने किर्गिस्तान का समर्थन करने के लिए $200 मिलियन LoC पर सहमती प्रकट की

विदेश मंत्री एस. जयशंकर के अनुसार, भारत किर्गिस्तान में विकास परियोजनाओं के लिए 200 मिलियन अमरीकी डालर की ऋण सहायता पर सहमत हो गया है। बिश्केक में विदेश मंत्री एस. जयशंकर और किर्गिस्तान के विदेश मंत्री रुस्लान कजाकबायेव के बीच बैठक के बाद इस लाइन ऑफ क्रेडिट पर सहमति बनी। कजाकिस्तान CICA फोरम का वर्तमान अध्यक्ष और आरंभकर्ता हैं। जयशंकर कजाकिस्तान के उप-प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री मुख्तार तिलुबेर्दी के साथ भी द्विपक्षीय वार्ता करेंगे। इस बैठक के दौरान, जयशंकर ने दोनों देशों के बीच भारतीय छात्रों की जल्दी यात्रा और उदार वीजा व्यवस्था की आवश्यकता पर भी चर्चा की।

सुनील छेत्री ने 77वें गोल के साथ पेले की बराबरी की

सुनील छेत्री ने 10 अक्टूबर, 2021 को अपने 83वें मिनट के स्ट्राइक के रूप में 77वां अंतरराष्ट्रीय गोल करके महान फुटबॉलर पेले की बराबरी कर ली। इस स्ट्राइक के दौरान छेत्री के 77वें गोल ने भारत को नेपाल को 1-0 से हराने में मदद की। इस गोल ने सैफ चैंपियनशिप में अपनी टीम को एलिमिनेशन के कगार से भी बचा लिया। यह उपलब्धि छेत्री ने भारत के लिए अपने 123वें मैच में खेलते हुए हासिल की। सक्रिय फुटबॉलरों में सर्वाधिक स्कोर करने वालों की सूची में अब उन्हें संयुक्त अरब अमीरात के अली मबखौत के साथ संयुक्त रूप से तीसरे स्थान पर रखा गया है। वह 112 गोल के साथ क्रिस्टियानो रोनाल्डो से और 79 गोल के साथ लियोनेल मेसी से पीछे हैं।

भारत में कोयले की कमी

Central Electricity Authority of India के आंकड़ों के अनुसार भारत थर्मल प्लांटों में कोयले के भंडार की अभूतपूर्व कमी का सामना कर रहा है जिससे बिजली संकट पैदा हो सकता है। 5 अक्टूबर को बिजली उत्पादन के लिए कोयले का उपयोग करने वाले कुल 135 ताप संयंत्रों में से 106 या लगभग 80% या तो गंभीर या सुपरक्रिटिकल चरण में थे। इन बिजली संयंत्रों में केवल अगले 6-7 दिनों के लिए स्टॉक था। अभी तक, पंजाब में तीन थर्मल पावर स्टेशन, महाराष्ट्र में 13, केरल में 4 कोयले की कमी के कारण बंद हैं। हालांकि केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के. सिंह ने कहा कि दिल्ली में बिजली की कोई कमी नहीं है। उन्होंने यह भी आश्वासन दिया कि आने वाले समय में कोयले की आपूर्ति बनी रहेगी। कोयला मंत्रालय ने यह भी कहा कि भारत के पास पर्याप्त कोयला भंडार है। कोयला मंत्रालय के अनुसार, कम इन्वेंट्री का मतलब यह नहीं है कि बिजली उत्पादन बंद हो जाएगा क्योंकि कोयले का स्टॉक लगातार भरा जा रहा है। भारत में कोयले की कमी के संभावित कारणों में शामिल हैं-

  1. अत्यधिक वर्षा, जिससे कोयले की आवाजाही प्रभावित हुई।
  2. उच्च कीमतों के कारण आयातित कोयला आधारित बिजली संयंत्र अपनी क्षमता के आधे से भी कम उत्पादन कर रहे हैं।
  3. बिजली की मांग में वृद्धि के रूप में अर्थव्यवस्था कोविड-19 महामारी से उबर रही है।
  4. कोयला आधारित ताप विद्युत संयंत्रों ने मांग में वृद्धि के उच्च अनुपात की आपूर्ति की है। थर्मल पावर की हिस्सेदारी 2019 में 61.9% से बढ़कर 66.4% हो गई है।
  5. कोयले की ऊंची अंतर्राष्ट्रीय कीमतों के साथ धीमी आयात के कारण आयात में कटौती हुई है।

भारत और ब्रिटेन ने उर्जा पर फॉरवर्ड एक्शन प्लान पर हस्ताक्षर किए

भारत और यूनाइटेड किंगडम ने अपने 2030 रोडमैप के तहत ‘बिजली और स्वच्छ परिवहन, नवीकरणीय ऊर्जा, हरित वित्त और हरित ऊर्जा अनुसंधान पर फॉरवर्ड एक्शन प्लान’ पर समझौता किया है। “फॉरवर्ड एक्शन प्लान” पर तीसरी “India-UK Energy for Growth Partnership – Ministerial Energy Dialogue”, “संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन (COP-26)” की पृष्ठभूमि में चर्चा की गई, जो 31 अक्टूबर से ग्लासगो में शुरू होने वाली है। दोनों देशों ने ‘फॉरवर्ड एक्शन प्लान’ पर विचार-विमर्श किया और सहमति व्यक्त की। इस कार्य योजना में ऊर्जा भंडारण, स्मार्ट ग्रिड, चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर, ग्रीन हाइड्रोजन, बैटरी स्टोरेज और अक्षय ऊर्जा में निवेश जुटाने की आवश्यकता जैसे कई विषय शामिल हैं। इस कार्य योजना पर भारत और यूके की “हरित ऊर्जा के लिए विश्व बैंक” स्थापित करने की संभावना तलाशने की योजना की पृष्ठभूमि में सहमति व्यक्त की गई थी। यूके ने पहले भी हरित और नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाओं में सार्वजनिक और निजी निवेश के लिए 1.2 बिलियन डॉलर के पैकेज की घोषणा की थी। इसने हरित हाइड्रोजन पर भारत के साथ सहयोग करने की अपनी योजना भी व्यक्त की।

तेलंगाना करेगा मोबाइल बेस्ड ई-वोटिंग प्रणाली का परीक्षण

तेलंगाना राज्य चुनाव आयोग ने “मोबाइल बेस्ड ई-वोटिंग सिस्टम” को ड्राई रन करने की योजना बनाई है। इस प्रणाली का विकास भारत में कोविड-19 महामारी के बीच चुनाव कराने की आवश्यकता से निर्देशित है। यह प्रणाली, सफल होने पर, घर से स्मार्टफोन का उपयोग करके वोट करने की सुविधा प्रदान करेगी। ड्राइ रन तेलंगाना के खम्मम जिले में 20 अक्टूबर को होगा। यह भारत की पहली स्मार्टफोन आधारित ई-वोटिंग प्रक्रिया होगी। मतदाता 8 से 18 अक्टूबर के बीच स्मार्टफोन एप्लिकेशन का उपयोग करके ड्राई रन के लिए अपना पंजीकरण करा सकते हैं। मोबाइल आधारित ई-वोटिंग प्रणाली वैध मतदाता के तीन-कारक प्रमाणीकरण के लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग करेगी। सिस्टम मतदाता के नाम को आधार से मिलाएगा, व्यक्तिगत जीवंतता का पता लगाएगा और लगभग 20 साल पुराने रिकॉर्ड वाले EPIC डेटाबेस का उपयोग करके छवि का मिलान करेगा।

राष्ट्रव्यापी नदी पशुपालन कार्यक्रम उत्तर प्रदेश में लांच किया गया

केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री पुरुषोत्तम रूपाला ने 8 अक्टूबर, 2021 को नदी पशुपालन कार्यक्रम (River Ranching Programme) का शुभारंभ किया। इस कार्यक्रम का शुभारंभ बृजघाट, गढ़ मुक्तेश्वर, उत्तर प्रदेश में किया गया। उत्तर प्रदेश के साथ, अन्य 4 राज्यों उड़ीसा, उत्तराखंड, त्रिपुरा और छत्तीसगढ़ ने ‘राष्ट्रव्यापी नदी पशुपालन कार्यक्रम’ के शुभारंभ में भाग लिया। उत्तर प्रदेश में, लगभग 500 लोगों ने राष्ट्रीय स्तर पर नदी पशुपालन कार्यक्रम के शुभारंभ में भाग लिया। उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में गंगा नदी के चंडी घाट पर 1 लाख फिंगरलिंग्स (एक प्रकार की मछली) का प्रजनन किया गया। नदी पालन कार्यक्रम को प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना (PMMSY) योजना के तहत विशेष गतिविधि के रूप में शुरू किया गया था ताकि भूमि और पानी का उत्पादक रूप से विस्तार, गहन, विविधीकरण और उपयोग करके मछली उत्पादन और उत्पादकता को बढ़ाया जा सके। राष्ट्रीय मत्स्य विकास बोर्ड, हैदराबाद PMMSY के केंद्रीय घटक के तहत नोडल एजेंसी है। इस बोर्ड को “मत्स्य पालन विभाग, मत्स्य मंत्रालय” द्वारा नामित किया गया है।

मेघालय सरकार ने दावा किया : मृतप्राय लुखा नदी को पुनर्जीवित किया

हाल ही में मेघालय सरकार ने दावा किया है कि एक डिटॉक्सिंग पायलट प्रोजेक्ट ने मृतप्राय लुखा नदी को पुनर्जीवित किया है। लूखा नदी को एक दशक पहले विषाक्त माना जाता था क्योंकि यह नदी एसिड खदामों की जल निकासी और उसके कोयले की खदानों से प्रवाहित होने के कारण दूषित हो गई थी। Phytoremediation पद्धति का उपयोग नदी के विषहरण के लिये किया गया था, जिसमें पानी से प्रमुख विषाक्त पदार्थों को निकालने के लिये शैवाल का उपयोग किया गया था। नदी में जलीय जीवन को प्रभावित करने वाले पीएच स्तर के कम होने की रिपोर्ट के बाद ज़िला खनिज कोष के तहत यह पायलट परियोजना शुरू की गई थी। अधिकांश जीवित जीव, विशेष रूप से जलीय जीवन 6.5 से 8.5 की इष्टतम पीएच सीमा पर कार्य करते हैं। पीएच इस बात का माप है कि पानी कितना अम्लीय/क्षारीय है। यह सीमा 0 से 14 तक होती है, जिसमें 7 तटस्थ होता है। 7 से कम पीएच अम्लता को इंगित करता है, जबकि 7 से अधिक का पीएच एक आधार को इंगित करता है। पानी की गुणवत्ता के संबंध में पानी का पीएच एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण माप है। लूखा मेघालय के पूर्वी जयंतिया पहाड़ियों के दक्षिणी भाग में बहती है जहाँ मेघालय की अधिकांश रैट-होल कोयला खदानें स्थित हैं। यह कोयला और चूना पत्थर के निरंतर बड़े पैमाने पर खनन का शिकार बन गई है, जो कथित तौर पर प्रदूषण के लिये ज़िम्मेदार हैं, परिणामस्वरूप ये नदी को विचित्र शीतकालीन अवस्था में परिवर्तित कर देते हैं।

मलयालम लेखक बेन्यामिन ने वायलार पुरस्कार जीता

जाने-माने मलयालम लेखक बेन्यामिन (Benyamin) को उनकी पुस्तक "मंथलिरिले 20 कम्युनिस्ट वार्शंगल (Manthalirile 20 Communist Varshangal)" के लिए 45वां वायलार रामवर्मा मेमोरियल लिटरेरी अवार्ड मिला है। वायलार रामवर्मा मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा स्थापित प्रतिष्ठित पुरस्कार में 1 लाख रुपये का नकद पुरस्कार, प्रसिद्ध मूर्तिकार कानाई कुन्हिरामन ​(Kanayi Kunhiraman) द्वारा डिजाइन की गई एक मूर्ति और एक प्रशस्ति पत्र शामिल है। एक राजनीतिक व्यंग्य, उपन्यास दो दशकों में मंथलीर (Manthalir) नामक एक गैर-वर्णित गांव और अपनी संस्कृति में धर्म और राजनीति के प्रभाव के इर्द-गिर्द घूमती है। इसे लेखक के आर मीरा (K R Meera), जॉर्ज ओणक्कूर (George Onakkoor) और सी उन्‍नीकृष्णन (C Unnikrishnan) के विशेषज्ञ पैनल द्वारा मान्यता के लिए चुना गया था।

तेलुगु फिल्म निर्माता बी गोपाल को सत्यजीत रे पुरस्कार के लिए चुना गया

जाने-माने तेलुगु फिल्म निर्माता बी गोपाल (B Gopal) उर्फ बेजवाड़ा गोपाल (Bejawada Gopal) को भारतीय सिनेमा में उनके समग्र योगदान के लिए चौथे सत्यजीत रे पुरस्कार (Satyajit Ray Award) के लिए चुना गया है। गोपाल ने 30 फिल्मों तेलुगू फिल्मों और दो हिंदी फिल्मों का निर्देशन किया है। उन्हें मलयालम फिल्म निर्माता बालू किरियथ (Balu Kiriyath), संगीत निर्देशक पेरुम्बवूर जी० रवीन्द्रनाथ (Perumbavoor G Raveendranath) और अन्य के पैनल द्वारा चुना गया था। यह पुरस्कार सत्यजीत रे फिल्म सोसाइटी केरल, एक राज्य-आधारित संगठन द्वारा स्थापित किया गया है, इस पुरस्कार में 10,000 रुपये नकद पुरस्कार, एक स्मृति चिन्ह और एक पट्टिका शामिल है।

फिक्की ने वित्त वर्ष 2022 के लिए 9.1% GDP की वृद्धि का अनुमान लगाया

2021-22 में भारत की जीडीपी 9.1 प्रतिशत की दर से बढ़ने की उम्मीद है क्योंकि महामारी की दूसरी लहर के बाद अब आर्थिक सुधार अपनी पकड़ मजबूत करता दिखाई दे रहा है। सर्वेक्षण सितंबर 2021 में आयोजित किया गया था और उद्योग, बैंकिंग और वित्तीय सेवा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रमुख अर्थशास्त्रियों से प्रतिक्रियाएं प्राप्त की थीं। फिक्की (FICCI's) के आर्थिक आउटलुक सर्वेक्षण में यह भी कहा गया है कि मौजूदा त्योहारी सीजन इस गति का समर्थन करेगा।

रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर ने REC सोलर होल्डिंग्स का अधिग्रहण किया

रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी रिलायंस न्यू एनर्जी सोलर लिमिटेड (Reliance New Energy Solar Ltd - RNESL) ने चीन की सरकारी स्वामित्व वाली सौर ऊर्जा कंपनी आरईसी सोलर होल्डिंग्स एएस (आरईसी ग्रुप) की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी हासिल कर ली है। RNESL ने आरईसी ग्रुप को चाइना नेशनल ब्लूस्टार (ग्रुप) कंपनी लिमिटेड से $771 मिलियन के एंटरप्राइज वैल्यू के लिए अधिग्रहित किया है। यह अधिग्रहण रिलायंस को 2030 तक 100GW सौर ऊर्जा पैदा करने के लक्ष्य को प्राप्त करने के करीब ले जाने में सक्षम करेगा, और बदले में, 2030 तक 450GW अक्षय ऊर्जा का उत्पादन करने के देश के वैश्विक लक्ष्य का समर्थन करेगा। REC समूह की तीन विनिर्माण सुविधाएं हैं, दो नॉर्वे में सौर-ग्रेड पॉलीसिलिकॉन बनाने के लिए और एक सिंगापुर में पीवी सेल और मॉड्यूल बनाने के लिए। इस अधिग्रहण के साथ, RNESL आरईएल की तीन विनिर्माण सुविधाओं का मालिक बन जाएगा।

पीएनबी ने शुरू किया '6एस अभियान'

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने त्योहारी सीजन के दौरान रियायती दर पर वित्तीय सेवाओं का विस्तार करने के लिए एक ग्राहक आउटरीच कार्यक्रम के तहत '6एस अभियान (6S Campaign)' शुरू किया है। '6S अभियान' विभिन्न योजनाओं जैसे - स्वाभिमान, समृद्धि, संपर्क और शिखर, संकल्प और स्वागत को समाहित करता है। इसका उद्देश्य देश में वित्तीय सेवाओं के विकास के लिए एक विशेष जागरूकता अभियान चलाना और ऋण वृद्धि में तेजी लाना, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की पहुंच में सुधार करना और डिजिटल बैंकिंग को बढ़ावा देना है।

वाल्टेरी बोटास ने तुर्की ग्रां प्री 2021 जीती

वाल्टेरी बोटास (मर्सिडीज-फिनलैंड) ने 10 अक्टूबर, 2021 को आयोजित F1 तुर्की ग्रैंड प्रिक्स 2021 जीती है। यह इस सीजन का उनका पहला खिताब है। मैक्स वेर्स्टाप्पेन (Max Verstappen) (रेड बुल - नीदरलैंड) दूसरे स्थान पर रहे जबकि सर्जियो पेरेज़ (Sergio Perez) (मेक्सिको- रेड बुल) तीसरे स्थान पर रहे। इस बीच, लुईस हैमिल्टन (Lewis Hamilton) पांचवें स्थान पर रहे।

11 अक्टूबर: अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस

हर साल, यूनिसेफ द्वारा अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस 11 अक्टूबर को मनाया जाता है। यह दिन पूरी दुनिया में लड़कियों के महत्व, शक्ति और क्षमता का जश्न मनाता है। यह दिन लड़कियों की आवश्यकताओं और उनके सामने आने वाली समस्याओं पर भी प्रकाश डालता है। सतत विकास लक्ष्य 5 का लक्ष्य 2030 तक लैंगिक समानता हासिल करना है। महिलाएं पुरुषों की तुलना में 2.6 गुना अधिक अवैतनिक और घरेलू काम करती हैं। 2019 के सतत विकास सूचकांक के उपाय में कहा गया है कि लैंगिक समानता 129 देशों में 17 SDG में से 14 के अनुरूप है। दिन की शुरुआत कनाडा में प्लान इंटरनेशनल के रूप में हुई। इसकी शुरुआत एक NGO ने की थी। बाद में NGO ने संयुक्त राष्ट्र से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस दिन को चिह्नित करने का अनुरोध किया। भारत अंतर्राष्ट्रीय बालिका दिवस और राष्ट्रीय बालिका दिवस दोनों मनाता है। राष्ट्रीय बालिका दिवस 24 जनवरी को हर साल मनाया जाता है। राष्ट्रीय बालिका दिवस (National Girl Child Day) देश में गिरते बाल लिंग अनुपात के मुद्दे पर जागरूकता पैदा करने के लिए मनाया जाता है। इसका उद्देश्य बालिकाओं के मूल्यांकन में सकारात्मक वातावरण बनाना है। इसकी शुरुआत 2008 में हुई थी।

मृत्युदंड के खिलाफ विश्व दिवस: 10 अक्टूबर

मृत्युदंड के खिलाफ विश्व दिवस (World Day Against the Death Penalty) हर साल 10 अक्टूबर को मनाया जाता है। यह मृत्युदंड के उन्मूलन की वकालत करने और उन परिस्थितियों और परिस्थितियों के बारे में जागरूकता बढ़ाने का दिन है जो कैदियों को मौत की सजा से प्रभावित करती हैं। 2021 की थीम "महिलाओं को मौत की सजा: एक अदृश्य वास्तविकता" है । इस दिवस का आयोजन पहली बार 2003 में वर्ल्ड कोएलिशन अगेंस्ट द डेथ पेनल्टी (World Coalition Against the Death Penalty) द्वारा किया गया था। 2021 मौत की सजा के खिलाफ 19वां विश्व दिवस है।

तेलंगाना में बथुकम्मा उत्सव शुरू

तेलंगाना में नौ दिवसीय पुष्प उत्सव शुरू हो गया है। त्योहार उत्साह के साथ शुरू हुआ क्योंकि तेलंगाना में महिलाओं को पारंपरिक कपड़े पहनाए गए और रंगीन जुलूस निकाले गए, बथुकम्मा उत्सव (Bathukamma festival) दुर्गा नवरात्रि के दौरान मनाया जाता है। बथुकम्मा उत्सव महालय अमावस्या (Mahalaya Amavasya) के दिन से शुरू होता है और नौ दिनों तक चलता है तथा दुर्गाष्टमी के दिन समाप्त होता है।

फिजी की स्वतंत्रता की 51वीं वर्षगाँठ

10 अक्तूबर, 2021 को मेलानेशियाई देश फिजी की स्वतंत्रता की 51वीं वर्षगाँठ मनाई गई। गौरतलब है कि 10 अक्तूबर के दिन वर्ष 1970 में 96 वर्ष के ब्रिटिश औपनिवेशिक शासन के बाद फिजी को आधिकारिक रूप से स्वतंत्रता प्रदान की गई थी। फिजी दक्षिण प्रशांत महासागर में एक देश और द्वीप समूह है। यह न्यूज़ीलैंड के आकलैंड से करीब 2000 किमी. उत्तर में स्थित है। इसके नज़दीकी पड़ोसी राष्ट्रों में पश्चिम में वनुआत, पूर्व में टोंगा और उत्तर में तुवालु हैं। डच खोजकर्त्ता ‘हाबिल तस्मान’ फिजी और इसके आसपास के द्वीपों का दौरा करने वाले पहले यूरोपीय थे। बाद में 1830 के दशक में इस क्षेत्र में ईसाई मिशनरियों का आगमन शुरू हो गया है। वर्ष 1874 में फिजी को ब्रिटिश क्राउन कॉलोनी बना दिया गया। इसके पश्चात् वर्ष 1970 में फिजी को स्वतंत्रता प्राप्त हुई और ‘रातू सर कामिसे मारा’ को देश का नया प्रधानमंत्री नियुक्त किया गया।

10 अक्टूबर: विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस

मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों पर जागरूकता बढ़ाने के उद्देश्य से 10 अक्टूबर, 2021 को दुनिया भर में विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया गया। मानसिक स्वास्थ्य और कल्याण से संबंधित पहलों पर समर्थन हासिल करने के लिए यह दिन मनाया जाता है। इस वर्ष, विश्व मानसिक स्वास्थ्य अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि कोविड -19 ने लोगों के मानसिक स्वास्थ्य को प्रमुख रूप से प्रभावित किया है। मई 2021 में विश्व स्वास्थ्य सभा के दौरान, दुनिया भर की सरकारों ने सभी स्तरों पर गुणवत्तापूर्ण मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं को बढ़ाने की आवश्यकता पर बल दिया था। कुछ देशों ने अपनी आबादी को मानसिक स्वास्थ्य देखभाल प्रदान करने के नए तरीके खोजे हैं। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस वैश्विक मानसिक स्वास्थ्य जागरूकता, शिक्षा और सामाजिक कलंक के खिलाफ वकालत के लिए एक अंतरराष्ट्रीय दिवस है। यह दिवस पहली बार वर्ष 1992 में वर्ल्ड फेडरेशन फॉर मेंटल हेल्थ की पहल पर मनाया गया था। यह महासंघ एक वैश्विक मानसिक स्वास्थ्य संगठन है जिसमें 150 से अधिक देशों के सदस्य शामिल हैं।

राष्ट्रीय डाक दिवस: 10 अक्टूबर

भारत में, राष्ट्रीय डाक दिवस (National Postal Day) प्रतिवर्ष 10 अक्टूबर को मनाया जाता है, विश्व डाक दिवस के विस्तार के रूप में जो 9 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस दिवस का उद्देश्य पिछले 150 वर्षों से भारतीय डाक विभाग द्वारा निभाई गई भूमिका को याद करना है, जिसकी स्थापना 1854 में लॉर्ड डलहौजी (Lord Dalhousie) ने की थी। भारतीय डाक सेवा भारत का अभिन्न अंग है। भारत में डाक सेवाओं ने संस्कृति, परंपरा और कठिन भौगोलिक इलाकों में विविधता के बावजूद सबसे अच्छा प्रदर्शन किया है। पिनकोड में पिन का मतलब पोस्टल इंडेक्स नंबर है। 15 अगस्त 1972 को केंद्रीय संचार मंत्रालय में एक अतिरिक्त सचिव श्रीराम भिकाजी वेलणकर (Shriram Bhikaji Velankar) द्वारा 6 अंकों की पिन प्रणाली की शुरुआत की गई थी। पिन कोड का पहला अंक क्षेत्र को चिह्नित करता है। दूसरा अंक उप-क्षेत्र को दर्शाता है। तीसरा अंक जिले को चिह्नित करता है। अंतिम तीन अंक उस डाकघर को दर्शाते हैं जिसके अंतर्गत एक विशेष पता आता है।

'पाकिस्तान के परमाणु बम जनक' डॉ अब्दुल कादिर खान का निधन

डॉ अब्दुल कादिर खान, जिन्हें पाकिस्तान के परमाणु बम का जनक माना जाता है, का निधन हो गया है, वे 85 वर्ष के थे। पाकिस्तान को दुनिया की पहली इस्लामी परमाणु शक्ति में बदलने और देश की रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने में उनके योगदान के लिए परमाणु वैज्ञानिक, डॉ खान को एक राष्ट्रीय नायक के रूप में सम्मानित किया गया था।

ईरान के पहले राष्ट्रपति अबोलहसन बनिसद्र का निधन

देश की 1979 की इस्लामी क्रांति के बाद ईरान के पहले राष्ट्रपति अबोलहसन बनिसद्र (Abolhassan Banisadr), जो देश में धर्मतंत्र बनने के कारण मौलवियों की बढ़ती शक्ति को चुनौती देने के लिए महाभियोग चलाने के बाद तेहरान भाग गए थे, उनकी मृत्यु हो गई। वह 88 वर्ष के थे। उन्हें 1980 में राष्ट्रपति चुना गया था, मौलवियों की बढ़ती शक्ति को चुनौती देने के लिए पद ग्रहण करने के 16 महीने बाद बनिसद्र पर महाभियोग चलाया गया था। बनिसद्र ने तब ईरान के अर्थशास्त्र और विदेशी मामलों के मंत्री के रूप में कार्य किया और इस्लामी पादरियों की मदद से राष्ट्रपति बने। उन्हें शुरू से ही भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा, जिसमें अमेरिकी दूतावास बंधक संकट और ईरान-इराक युद्ध, लेकिन सबसे बढ़कर, कट्टरपंथी मौलवियों का विरोध शामिल था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.