Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

8 March 2022

एनआईईएसबीयूडी ने स्टार्ट-अप ग्राम उद्यमशीलता कार्यक्रम के क्रियान्वयन के लिये ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये

कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय के अधीन स्वायत्तशासी संगठन राष्ट्रीय उद्यमिता एवं लघु व्यवसाय विकास संस्थान (एनआईईएसबीयूडी) ने स्टार्ट-अप ग्राम उद्यमशीलता कार्यक्रम (एसवीईपी) पहल के जरिये मैदानी स्तर पर उद्यमशीलता को प्रोत्साहन देने के लिये एक सतत स्वरूप विकसित करने के वास्ते ग्रामीण विकास मंत्रालय के साथ समझौता-ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं। एसवीईपी, ग्रामीण विकास मंत्रालय के तहत संचालित होने वाले दीनदयाल अंत्योदय योजना – राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) का उप-घटक है। इसका उद्देश्य गैर-कृषि सेक्टर में ग्रामीण स्तर पर उद्यम स्थापित करने के लिये ग्रामीण इलाकों के उद्यमियों का समर्थन करना है। उपरोक्त साझेदारी से ग्रामीण समुदाय को सक्षम बनाने में मदद मिलेगी, ताकि वे अपने कारोबार स्थापित कर सकें। साथ ही कारोबार स्थापित होने तक उन्हें पूरा समर्थन दिया जायेगा। इस सटीक अंतःक्षेप से जन सामान्य को जानकारी, सलाह और वित्तीय समर्थन मिलेगा तथा गांवों में समुदाय स्तर पर संगठित लोगों का दल बनाने में मदद मिलेगी।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर राष्ट्रपति वर्ष 2020 और 2021 के लिये 29 हस्तियों को प्रतिष्ठित नारी शक्ति पुरस्कारों से सम्मानित करेंगे

आजादी के अमृत महोत्सव’ के क्रम में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का सप्ताह भर चलने वाला समारोह नई दिल्ली में एक मार्च, 2022 को शुरू हुआ था। सप्ताह भर चलने वाले इस समारोह का समापन नारी शक्ति पुरस्कार वितरण से होगा। ये पुरस्कार वर्ष 2020 और 2021 के लिये हैं तथा राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्द आठ मार्च, 2022 को राष्ट्रपति भवन में आयोजित एक विशेष समारोह में पुरस्कार प्रदान करेंगे। वर्ष 2020 का पुरस्कार समारोह कोविड-19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण 2021 में आयोजित नहीं हो पाया था। माननीय प्रधानमंत्री भी पुरस्कार प्राप्त हस्तियों के प्रयासों को मान देने के लिये उनके साथ बातचीत करेंगे तथा इसके माध्यम से जनमानस को प्रेरित करेंगे कि वह महिला सशक्तिकरण के क्षेत्रों में काम करें और उत्कृष्टता प्राप्त करें। सभी 28 पुरस्कार (वर्ष 2020 और 2021 के लिये 14-14) 29 हस्तियों को प्रदान किये जायेंगे। ये पुरस्कार उन लोगों को दिये जायेंगे, जिन्होंने महिलाओं के सशक्तिकरण, खासकर जोखिम वाली और सीमान्त महिलाओं के लिये उत्कृष्ट सेवा की है। ‘नारी शक्ति पुरस्कार’ व्यक्तियों और संस्थानों द्वारा किये जाने वाले उत्कृष्ट योगदानों को मान्यतास्वरूप महिला और बाल विकास मंत्रालय की पहल के तहत प्र्दान किये जाते हैं। ये पुरस्कार उन महिलाओं को दिये जाते हैं, जिन्होंने समाज में सकारात्मक बदलाव लाने में महती कार्य किया हो।

भारत -श्रीलंका नौसैनिक अभ्यास ‘स्लाइनेक्स’ का विशाखापट्टनम में शुभारम्‍भ

भारत और श्रीलंका की नौसेनाओं के बीच नौवां युद्धाभ्यास-स्लाइनेक्स विशाखापट्टणम में शुरू हो रहा है। यह युद्धाभ्यास दो चरणों में होगा। पहला चरण सात और आठ मार्च को विशाखापट्टणम में, जबकि दूसरा चरण नौ और दस मार्च को बंगाल की खाड़ी में आयोजित किया जाएगा। श्रीलंका की नौसेना का नेतृत्व युद्धपोत एस एल एन एस सयुराला करेगा, जबकि भारतीय नौसेना आईएनएस क्रीच की अगुवाई में युद्धाभ्यास में भाग लेगी। युद्धाभ्यास में भारतीय नौसेना के आईएनएस ज्योति, अत्‍याधुनिक हल्के हेलीकॉप्टर, सीकिंग और चेतक हेलीकॉप्टर तथा डोर्नियर समुद्री निगरानी विमान भाग लेंगे। इससे पहले अक्तूबर 2020 में स्लाइनेक्स युद्धाभ्यास का आयोजन किया गया था।

भारत ने 2021 में 10 GW सौर क्षमता स्थापित की : रिपोर्ट

मेरकॉम इंडिया रिसर्च के अनुसार, भारत ने कैलेंडर वर्ष 2021 में रिकॉर्ड 10 गीगावाट (GW) सौर क्षमता स्थापित की, जो साल दर साल (Yoy) 212% की वृद्धि है। इस रिपोर्ट के अनुसार, 2020 में भारत द्वारा 3.2 GW सौर क्षमता की स्थापना की गई। इस रिपोर्ट के अनुसार, दिसंबर 2021 के अंत में भारत की संचयी सौर स्थापित क्षमता लगभग 49 GW थी। इस रिपोर्ट में उल्लेख किया गया है कि 2021 में, भारत ने कुल 10 GW सौर ऊर्जा को जोड़ा, जो एक वर्ष में सबसे अधिक है। 2021 में, नई बिजली क्षमता में 62% सौर उर्जा थी। 2021 में, रूफटॉप इंस्टॉलेशन में सालाना 138 प्रतिशत की वृद्धि हुई। 2021 में, उच्च कच्चे माल, मॉड्यूल और माल ढुलाई लागत के कारण औसत परियोजना लागत भी अधिक थी। इस रिपोर्ट का नाम ‘Annual 2021 India Solar Market Update’ है। दिसंबर 2021 तक राजस्थान, कर्नाटक और आंध्र प्रदेश संचयी बड़े पैमाने पर सौर क्षमता के मामले में शीर्ष तीन राज्य थे, जो देश की स्थापना का 50% हिस्सा है। 2021 में राजस्थान ने क्षमता वृद्धि का नेतृत्व किया, जिसमें 4.5 GW सौर क्षमता स्थापित की गई।

सरकार ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन योजना के अंतर्गत डोनेट-ए-पेंशन कार्यक्रम शुरू किया

सरकार ने डोनेट-ए-पेंशन कार्यक्रम शुरू किया। प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन योजना- पीएमएसवाईएम के अंतर्गत यह पहल की गई है। इस योजना के तहत नागरिक घरेलू कामगारों, ड्राइवरों और सहायक कर्मचारियों के प्रीमियम अशंदान में अपना योगदान कर सकते हैं। श्रम और रोजगार मंत्री भूपेंद्र यादव ने नई दिल्ली में इस योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि कार्यक्रम के तहत असंगठित क्षेत्र के 18 से 40 वर्ष आयु के श्रमिक अपना पंजीकरण करा सकते हैं। आयु के आधार पर हर साल न्यूनतम 660 से दो हजार चार सौ रुपये जमा कराए जा सकते हैं। साठ वर्ष की आयु के बाद पेंशन धारकों को प्रति माह तीन हजार रुपये की न्यूनतम पेंशन की राशि मिलेगी। उन्होंने कहा कि सरकार असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने श्रमिक संगठनों से श्रमिकों का पंजीकरण पीएम-एसवाईएम योजना में कराने का आग्रह किया। केन्‍द्रीय मंत्री ने उमंग ऐप पर ई-श्रम का शुभारंभ भी किया। अनौपचारिक क्षेत्र में चार सौ विभिन्न व्यवसायों में काम कर रहे 25 करोड़ से अधिक कामगारों ने ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।

भारत के लोक प्रसारक, प्रसार भारती ने यप्प टीवी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं

भारत के लोक प्रसारक, प्रसार भारती ने यप्प टीवी के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं। यप्प टीवी एक ओवर-द-टॉप-ओ टी टी प्लेटफॉर्म है । इसके साथ डीडी इंडिया अब अमरीका, ब्रिटेन, यूरोप, मध्य पूर्व, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में यप्प टीवी के ओटीटी प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध है। इसका उद्देश्य डीडी इंडिया चैनल का विस्‍तार वैश्विक स्‍तर तक करना है, ताकि वैश्विक मंचों पर विभिन्न अंतरराष्ट्रीय गतिविधियों पर भारत के दृष्टिकोण को सामने रखा जा सके और देश की संस्कृति तथा मूल्यों को दुनिया के सामने प्रदर्शित किया जा सके। प्रसार भारती के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी, शशि शेखर वेम्पति और यप्प टीवी के संस्थापक और मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी उदय रेड्डी ने इस पर हस्ताक्षर किए। 190 से अधिक देशों में उपलब्ध, डीडी इंडिया दुनिया भर में फैले भारत और प्रवासी भारतीयों के बीच एक सेतु का काम करता है।

सरकार ने स्वतंत्रता सैनिक सम्मान योजना और इसके घटकों को जारी रखने की स्‍वीकृति दे दी

सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 से 2025-26 के लिए स्वतंत्रता सैनिक सम्मान योजना और इसके घटकों को जारी रखने की स्‍वीकृति दे दी है। गृह मंत्रालय ने योजना को जारी रखने का प्रस्ताव दिया था। यह निर्णय आजादी का अमृत महोत्सव के वर्ष के दौरान स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों का स्‍मरण करने और प्रेरणा लेने के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। स्वतंत्रता सेनानियों और उनके पात्र आश्रितों के लिए स्वतंत्रता सैनिक सम्मान पेंशन स्वीकृत की गई है। इस समय देश भर में 23 हजार 566 लाभार्थी इस योजना का लाभ ले रहे हैं। पेंशन की राशि में समय-समय पर संशोधन किया गया है और 2020 से इसमें महंगाई राहत भी शा‍मिल की जा रही है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2022 के अवसर पर महिलाओं के लिए समर्थ अभियान का शुभारंभ

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री नारायण राणे ने नई दिल्ली में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2022 के अवसर पर महिलाओं के लिए एक विशेष उद्यमिता प्रोत्साहन अभियान - समर्थ का शुभारंभ किया। इस अवसर पर श्री राणे ने देश भर के विभिन्न उद्यमी क्षेत्रों की बीस महिला उद्यमियों को पुरस्कार भी प्रदान किए। मंत्रालय की समर्थ पहल के अंतर्गत, इच्छुक और मौजूदा महिला उद्यमियों को निम्नलिखित लाभ उपलब्ध होंगे:

  • मंत्रालय की कौशल विकास योजनाओं के अंतर्गत आयोजित मुफ्त कौशल विकास कार्यक्रमों में 20 प्रतिशत सीटें महिलाओं के लिए आवंटित की जाएंगी। इससे 7500 से अधिक महिलाएं लाभान्वित होंगी।
  • मंत्रालय द्वारा कार्यान्वित विपणन सहायता के लिए योजनाओं के अंतर्गत घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय प्रदर्शनियों में भेजे गए एमएसएमई व्यापार प्रतिनिधिमंडल का 20 प्रतिशत हिस्सा महिलाओं के स्वामित्व वाले एमएसएमई को समर्पित होगा।
  • एनएसआईसी की वाणिज्यिक योजनाओं पर वार्षिक प्रसंस्करण शुल्क पर 20 प्रतिशत की छूट।
  • उद्यम पंजीकरण के अंतर्गत महिलाओं के स्वामित्व वाले एमएसएमई के पंजीकरण के लिए विशेष अभियान

महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान की शुरुआत की

महिला और बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने नई दिल्ली में कन्या शिक्षा प्रवेश उत्सव अभियान की शुरुआत की। सरकार के इस महत्वाकांक्षी अभियान का उद्देश्य बीच में ही स्कूल छोड़ने वाली 11 से 14 वर्ष की लड़कियों को औपचारिक रूप से शिक्षा दिलाना है। इस अवसर पर सुश्री ईरानी ने बताया कि संबंधित विभागों और राज्य सरकारों के साथ केंद्र के निरंतर समन्वय के साथ, स्कूल छोड़ने वाली लड़कियों की संख्या 11 लाख से घटकर 4 लाख हो गई है। उन्होंने शिक्षा विभाग के सहयोग से इस वर्ष मई तक इन 4 लाख लड़कियों का आगे की शिक्षा के लिए शत-प्रतिशत पंजीकरण सुनिश्चित करने का संकल्प लिया।

ईसीआई ने इंटरनेशनल इलेक्शन विजिटर्स प्रोग्राम 2022 की मेजबानी की

भारतीय निर्वाचन आयोग (ईसीआई) ने लगभग 32 देशों के चुनाव प्रबंधन संगठनों (ईएमबी) और चार अंतर्राष्ट्रीय संगठनों के लिए इंटरनेशनल इलेक्शन विजिटर्स प्रोग्राम (आईईवीपी) की वर्चुअल माध्यम से मेजबानी की। ऑनलाइन भाग ले रहे 150 से ज्यादा ईएमबी प्रतिनिधियों के सामने वर्तमान में गोवा, मणिपुर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में जारी विधानसभा चुनावों का एक सामान्य खाका प्रस्तुत किया गया। भारत में नौ देशों के राजनयिक कॉर्प्स के राजदूतों/उच्चायुक्तों और अन्य सदस्यों ने भी आज वर्चुअल आईईवीपी 2022 में भाग लिया। भारत 2012 के चुनावों से ही इंटरनेशनल इलेक्शन विजिटर्स प्रोग्राम (आईईवीपी) की मेजबानी कर रहा है, जहां अंतर्राष्ट्रीय प्रतिनिधियों को मतदान केंद्रों के भ्रमण के लिए आमंत्रित किया जाता है और उन्हें मौजूदा चुनावी प्रक्रियाओं से व्यक्तिगत रूप से अवगत कराया जाता है। कोविड महामारी के चलते लागू यात्रा प्रतिबंधों के दौरान भी, भारत में आईईवीपी को बंद नहीं किया गया और नए वर्चुअल माध्यम से इसे आयोजित किया गया।

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने वर्चुअल मोड में चार दिवसीय इंडो-पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज (भारत-प्रशांत सैन्य स्वास्थ्य विनिमय) सम्मेलन का उद्घाटन किया

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने 07 मार्च, 2022 को चार दिवसीय इंडो-पैसिफिक मिलिट्री हेल्थ एक्सचेंज (आईपीएमएचई) सम्मेलन का उद्घाटन किया। इसकी सह मेजबानी सशस्त्र बल चिकित्सा सेवा (एएफएमएस) और यूएस-इंडो पैसिफिक कमांड (यूएसआईएनडीओपीएसीओएम) द्वारा की गई थी। सम्मेलन का विषय "एक अस्थिर, अनिश्चित, जटिल और अस्पष्ट (वीयूसीए) दुनिया में सैन्य स्वास्थ्य सेवा" है। सम्मेलन 10 मार्च, 2022 तक चलेगा, जिसका उद्देश्य सैन्य चिकित्सा में सहयोग और संयुक्त कौशल को बढ़ाना है। इसमें ऑपरेशनल/कॉम्बैट मेडिकल केयर, ट्रॉपिकल मेडिसिन, फील्ड सर्जरी, फील्ड एनेस्थीसिया, एविएशन और मरीन मेडिसिन इमरजेंसी आदि सहित कई महत्वपूर्ण विषय शामिल होंगे। सम्मेलन में 38 से अधिक देशों के 600 से अधिक भारतीय और विदेशी प्रतिनिधियों ने भाग लिया। यूएसआईएनडीओपीएसीओएम की आयोजन समिति के 20 सदस्यों का एक प्रतिनिधिमंडल सम्मेलन की सह मेजबानी करने के लिए नई दिल्ली में है।

केरल पर्यटन विभाग ने ‘थेय्यम’ प्रदर्शन नामक एक वार्षिक मंदिर उत्सव की लाइव स्ट्रीमिंग शुरू की

हाल ही में केरल पर्यटन विभाग ने सांस्कृतिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये ‘थेय्यम’ प्रदर्शन नामक एक वार्षिक मंदिर उत्सव की लाइव स्ट्रीमिंग शुरू की है। थेय्यम केरल और कर्नाटक राज्य में नृत्य पूजा का एक लोकप्रिय अनुष्ठान है। इसमें हज़ारों साल पुरानी परंपराएँ और रीति-रिवाज शामिल हैं। लोग थेय्यम को स्वयं को भगवान से जुड़ने के एक माध्यम के रूप में मानते हैं और इस प्रकार वे थेय्यम से आशीर्वाद मांगते हैं। प्रत्येक थेय्यम एक पुरुष या एक महिला है, जिसने वीर कर्म करके या पुण्य जीवन व्यतीत करके दैवीय स्थिति प्राप्त की है। अधिकांश थेय्यम को शिव या शक्ति (शिव की पत्नी) का अवतार माना जाता है या हिंदू धर्म के इन प्रमुख देवताओं के साथ उनके मज़बूत संबंध हैं। 400 से अधिक थेय्यम के कारक मौजूद हैं। इनमें से कुछ बहुत महत्त्वपूर्ण हैं।

SBI ने उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के पूर्व सीईओ नितिन चुघ को DMD के रूप में नियुक्त किया

भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने डिजिटल बैंकिंग संचालन को चलाने के लिए उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के पूर्व सीईओ नितिन चुघ को उप प्रबंध निदेशक (डीएमडी) के रूप में नियुक्त किया है। उन्हें तीन साल के शुरुआती कार्यकाल के लिए नियुक्त किया गया है। इस नियुक्ति से पहले चुघ उज्जीवन स्मॉल फाइनेंस बैंक के सीईओ और प्रबंध निदेशक थे। वह वहां एचडीएफसी बैंक से शामिल हुए जहां उन्होंने डिजिटल बैंकिंग के समूह प्रमुख के रूप में कार्य किया। एसबीआई द्वारा सार्वजनिक नोटिस के अनुसार, रचनात्मक, सशक्त और सहयोगात्मक तरीके से डिजिटल ज्ञान/कौशल प्रदान करने के लिए बैंक की डिजिटल बैंकिंग रणनीति और व्यवसाय योजना की कल्पना, विकास और क्रियान्वयन के लिए यह पद जिम्मेदार होगा।

तमिलनाडु में कन्याकुमारी वन्यजीव अभयारण्य से एक नई ‘जिन बेरी’ प्रजाति ग्लाइकोस्मिस एल्बीकारपा की खोज

भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण (बीएसआई) के वैज्ञानिकों की एक टीम ने तमिलनाडु में कन्याकुमारी वन्यजीव अभयारण्य से एक नई ‘जिन बेरी’ प्रजाति (Gin Berry Species) ग्लाइकोस्मिस एल्बीकारपा की खोज की है। यह एक एकल आबादी के रूप में पाई गई जो लगभग 2 वर्ग किमी. के क्षेत्र में फैली हुई है। ग्लाइकोस्मिस एल्बीकारपा एक सदाबहार छोटा पेड़ है और दक्षिणी पश्चिमी घाट के लिये स्थानिक है। यह प्रजाति ऑरेंज परिवार रूटासी से संबंधित है। इन टैक्सोनॉमिक (Taxonomic) समूहों से संबंधित कई पौधों का उपयोग उनके औषधीय मूल्य और भोजन के लिये किया जा रहा है। मुख्यतः भोजन एवं दवा के रूप में स्थानीय उपयोग के लिये इन पौधों से संबंधित प्रजातियाँ जंगलों से एकत्र की जाती हैं। ग्लाइकोस्मिस प्रजाति के जामुन में 'जिन सुगंध (Gin Aroma)' की अनूठी विशेषता होती है और यह एक खाद्य फल के रूप में लोकप्रिय है। इस प्रजाति के पौधे तितलियों और अन्य प्रजातियों के लार्वा को भी आश्रय प्रदान करते है। यह तमिलनाडु के तिरुनेलवेली अर्द्ध-सदाबहार जंगलों में कन्याकुमारी वन्यजीव अभयारण्य के पनागुडी वन खंड में खोजा गया था। भारतीय वनस्पति सर्वेक्षण (Botanical Survey of India- BSI) देश में जंगली पादप संपदा पर टैक्सोनॉमिक और फ्लोरिस्टिक अध्ययन करने के लिये पर्यावरण एवं वन मंत्रालय (MoEFCC) के तहत एक शीर्ष अनुसंधान संगठन है। इसकी स्थापना वर्ष 1890 में की गई थी। इसके नौ क्षेत्रीय वृत्त देश के विभिन्न क्षेत्रों में स्थित हैं। हालाँकि इसका मुख्यालय कोलकाता, पश्चिम बंगाल में स्थित है। इसका उद्देश्य देश में पादप संपदा की खोज एवं उनके आर्थिक महत्त्व के साथ पौधों की प्रजातियों की पहचान करना है। वर्ष 1954 में सरकार ने इसका पुनर्गठन किया।

भारत गेहूं का रिकॉर्ड निर्यात करेगा

इस वित्तीय वर्ष में, भारत लगभग 70 लाख टन गेहूं का निर्यात करने जा रहा है। यह भारत द्वारा गेहूं के उच्चतम निर्यात में से एक होगा। भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा गेहूं उत्पादक देश है, वैश्विक उत्पादन में भारत का हिस्सा 13.53% है। लेकिन यह वैश्विक गेहूं निर्यात का केवल 1% हिस्सा है। भारत सालाना लगभग 108 मिलियन टन गेहूं का उत्पादन करता है। हालांकि, अधिकांश उत्पादन घरेलू खपत के लिए जाता है। वित्त वर्ष 2012-13 में भारत ने रिकॉर्ड 6.5 मिलियन टन का निर्यात किया। फरवरी 2022 के अंत तक, भारत पहले ही 6.6 मिलियन टन गेहूं का निर्यात कर चुका है। इस सप्ताह शिकागो में बेंचमार्क गेहूं की कीमतों में 40% से अधिक की वृद्धि हुई। यह यूक्रेन पर हमला करने के लिए पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर लगाए गए प्रतिबंधों के कारण आपूर्ति बाधित होने की आशंकाओं के कारण है। रूस और यूक्रेन का वैश्विक गेहूं निर्यात का लगभग चौथाई हिस्सा है और इन देशों से आपूर्ति रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण लगभग ठप हो गई है। वैश्विक बाजार में आपूर्ति में व्यवधान भारत को अपने गेहूं के निर्यात को बढ़ाने का अवसर प्रदान करता है। गेहूं की कीमतों में उछाल भी इसे गेहूं के निर्यातकों के लिए आकर्षक बनाता है। रुपये के मुकाबले डॉलर के मजबूत होने से भी भारत से गेहूं के निर्यात को बढ़ावा मिलेगा।

भारतीय वन्यजीव संस्थान (WII) ने सुंदरबन के बाघों पर रिपोर्ट जारी की

भारतीय वन्यजीव संस्थान (WII) को मानव-पशु संघर्ष पर बढ़ते मामलों पर एक रिपोर्ट तैयार करने का जिम्मा सौंपा गया था। इस संबंध में WII ने एक प्रारंभिक रिपोर्ट जारी की, जो हाल ही में बाघों की जनगणना पर आधारित है। पश्चिम बंगाल के सुंदरबन में बाघों का घनत्व अपनी वहन क्षमता तक पहुंच गया है। WII ने पश्चिम बंगाल वन विभाग को सूचित किया कि प्रतिकूल इलाके में प्रति 100 वर्ग किमी में तीन से पांच बाघ वहां करने की क्षमता है। लेकिन सुंदरबन के कई प्रखंडों में घनत्व इससे ज्यादा है। यह उच्च घनत्व बाघों को नए क्षेत्रों की तलाश में जंगलों से बाहर निकलने के लिए मजबूर करेगा। हाल ही में, लगभग आठ बाघ सुंदरबन के गांवों में घुसे हैं और उन सभी को पकड़कर जंगल में छोड़ दिया गया है। WII ने बंगाल वन विभाग को जंगल के उन क्षेत्रों में पकड़े गए बाघों को छोड़ने की सलाह दी है जहां बाघों का घनत्व कम है। WII पर्यावरण वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त संस्था है। यह 1982 में स्थापित किया गया था और जैव विविधता, लुप्तप्राय प्रजातियों, वन्यजीव नीति, वन्यजीव प्रबंधन आदि जैसे क्षेत्रों में अनुसंधान करता है। राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (NTCA) और राज्य वन विभागों के साथ WII राष्ट्रीय बाघ जनगणना या अखिल भारतीय बाघ अनुमान के लिए जिम्मेदार है।

बेंगलुरु में शुरू हुई इंडिया ग्लोबल फोरम

इंडिया ग्लोबल फोरम (IGF) का वार्षिक शिखर सम्मेलन तकनीकी-संचालित व्यवधान के प्रमुख चेहरों और यूनिकॉर्न क्लब में प्रवेश करने वालों के साथ-साथ केंद्रीय मंत्रियों, राजनेताओं और वैश्विक व्यापार अधिकारियों को एक साथ लाएगा। यह इवेंट 7-8 मार्च 2022 को बेंगलुरु में आयोजित किया रहा है। IGF सत्रों का उद्देश्य युवा उद्यमियों को नए लक्ष्य बनाने और प्रमुख वैश्विक मुद्दों को संबोधित करने में मदद करना है, साथ ही एक अद्वितीय नेटवर्किंग अवसर भी प्रदान करना है। इस फोरम में यूनिकॉर्न, स्टार्ट-अप्स और नए जमाने की कंपनियों द्वारा किए गए विकास के बारे में गहन चर्चा होगी। IGF, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार और वैश्विक नेताओं के लिए एक एजेंडा-सेटिंग फोरम, निगमों और नीति निर्माताओं को उनके संबंधित क्षेत्रों में हितधारकों के साथ जुड़ने के लिए कई तरह के अवसर प्रदान करता है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण और विदेश व संस्कृति राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी, MoS IT राजीव चंद्रशेखर के साथ-साथ उद्योग के नेता और प्रमुख सीईओ, IGF बेंगलुरु में भाग लेंगे। इसमें 30 सीईओ और संस्थापक भाग लेंगे।

भारत और कनाडा मुक्त व्यापार समझौते पर वार्ता शुरू करेंगे

भारत और कनाडा ने मुक्त व्यापार समझौते (Free Trade Agreement – FTA) या व्यापक आर्थिक भागीदारी समझौते (Comprehensive Economic Partnership Agreement – CEPA) पर बातचीत फिर से शुरू करने का फैसला किया। 2008 में आयोजित “India-Canada CEO Round Table” द्वारा भारत-कनाडा CEPA के लाभों पर प्रकाश डाला गया। यह निर्णय लिया गया कि टैरिफ को समाप्त करने से द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा मिलेगा। 2010 में, दोनों देशों द्वारा किए गए संयुक्त अध्ययन के आधार पर रिपोर्ट में लाभों को दोहराया गया था। उसी वर्ष, भारत और कनाडा के प्रधानमंत्रियों ने सियोल में भारत-कनाडा CEPA शुरू करने की घोषणा की। बाद में, भारत-कनाडा सीईपीए के लिए वार्ता औपचारिक रूप से नई दिल्ली में शुरू की गई। दोनों देशों ने 10 दौर की बातचीत की। 2017 में, भारत-कनाडा सीईपीए वार्ता का 10वां दौर नई दिल्ली में आयोजित किया गया। अंतरिम व्यापार सौदे के विकल्प का पता लगाने के लिए 2020 में एक द्विपक्षीय बैठक आयोजित की गई थी। भारत एक मुक्त व्यापार समझौता (FTA) के समापन से पहले एक प्रारंभिक फसल व्यापार सौदे (early harvest trade deal) या मिनी-व्यापार सौदे की ओर झुका हुआ है। मुश्किल और संवेदनशील मुद्दों को जल्दी फसल के सौदे से दूर रखा जाएगा। इस तरह के मुद्दों को बाद में अंतिम समझौते के समापन के दौरान निपटाया जाएगा। माना जा रहा है कि माल के साथ-साथ मौजूदा दौर की बातचीत में सेवाएं और निवेश भी शामिल होंगे। चूंकि कनाडा भारत से माल के लिए बड़ा बाजार नहीं है, भारत प्रस्तावित एफटीए के तहत मजबूत सेवा समझौता चाहता है। इससे भारतीय आईटी पेशेवर आसानी से कनाडाई कार्य वीजा प्राप्त कर सकेंगे।

BCCI ने RuPay को Tata IPL 2022 के ऑफिशियल पार्टनर के रूप में नामित किया

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI), इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) गवर्निंग काउंसिल ने भारतीय राष्ट्रीय भुगतान निगम (NPCI) के प्रमुख उत्पाद RuPay को Tata IPL 2022 के लिए आधिकारिक भागीदार के रूप में घोषित किया है। यह एक बहु-वर्षीय साझेदारी होगी। RuPay भारत और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार किए जा रहे भारत भर के लोगों को तकनीक के नेतृत्व वाली, अभिनव और अनुकूलित पेशकश प्रदान करता है। Tata IPL 2022 को Dream11 द्वारा सह-प्रस्तुत किया जाएगा और Tata और CRED द्वारा सह-संचालित किया जाएगा। Swiggy, Prystin Care, Zepto, Livspace, L'Oreal, और Spinny को सहयोगी प्रायोजकों के रूप में साइन-ऑन किया गया है। टाटा आईपीएल 2022 का 15वां संस्करण 26 मार्च 2022 से शुरू होगा। मुंबई और पुणे में चार अंतरराष्ट्रीय स्थानों पर कुल 70 लीग मैच खेले जाएंगे। प्लेऑफ मैचों का स्थान बाद में तय किया जाएगा।

द क्वीन ऑफ़ इंडियन पॉप: द ऑथराइज़्ड बायोग्राफी ऑफ़ उषा उत्थुप

पॉप आइकन उषा उत्थुप की जीवनी "द क्वीन ऑफ इंडियन पॉप: द ऑथराइज्ड बायोग्राफी ऑफ उषा उत्थुप" का विमोचन किया गया। पुस्तक मूल रूप से लेखक विकास कुमार झा द्वारा "उल्लास की नाव" शीर्षक से हिंदी में लिखी गई थी। "द क्वीन ऑफ इंडियन पॉप: द ऑथराइज्ड बायोग्राफी ऑफ उषा उत्थुप" पुस्तक का अंग्रेजी अनुवाद है, जिसका अनुवाद लेखक की बेटी सृष्टि झा ने किया है। पुस्तक पेंगुइन रैंडम हाउस इंडिया (PRHI) द्वारा प्रकाशित की गई है।

पत्रकार अमितावा कुमार द्वारा लिखित 'The Blue Book: A Writer’s Journal' नामक पुस्तक

भारतीय लेखक और पत्रकार, अमितावा कुमार The Blue Book: A Writer’s Journal नामक एक नई पुस्तक लेकर आए हैं। पुस्तक हार्पर कॉलिन्स इंडिया द्वारा प्रकाशित की गई है। ब्लू बुक महामारी के कारण लॉकडाउन के समय लेखक द्वारा डायरी रखने का परिणाम है। लेखक ने महामारी के व्यक्तिगत और सामूहिक दोनों तरह के अनुभव को चित्रित करने के लिए जल रंग चित्रों के साथ-साथ शब्दों का भी उपयोग किया है।

मिताली राज छह क्रिकेट विश्व कप में भाग लेने वाली पहली महिला क्रिकेटर बनी

भारतीय महिला क्रिकेट कप्तान मिताली राज छह विश्व कप में भाग लेने वाली पहली महिला बन गई हैं। वह सचिन तेंदुलकर और जावेद मियांदाद के बाद छह विश्व कप खेलने वाली कुल मिलाकर तीसरी क्रिकेटर हैं। वह 2000, 2005, 2009, 2013, 2017 और अब 2022 में ICC महिला क्रिकेट विश्व कप स्पर्धाओं में खेल चुकी हैं। आईसीसी महिला क्रिकेट विश्व कप 2022 का आयोजन न्यूजीलैंड में हो रहा है। महिलाओं के खेल में, भारतीय बल्लेबाज ने न्यूजीलैंड के पूर्व क्रिकेटरों, डेबी हॉकले और इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स को पीछे छोड़ दिया। तेज गेंदबाज झूलन गोस्वामी, सबसे लंबे समय तक राज की टीम की साथी, पांच विश्व कप प्रदर्शन के साथ सूची में दूसरे स्थान पर हैं।

भारतीय महिला निशानेबाजी टीम ने आईएसएसएफ विश्व कप में 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता

भारतीय महिला निशानेबाजी टीम ने आईएसएसएफ विश्व कप में स्वर्ण पदक जीत लिया है। मिस्र के काहिरा में 25 मीटर पिस्टल स्पर्धा में राही सरनोबत, ईशा सिंह और रिदम सांगवान की भारतीय टीम ने सिंगापुर को 17-13 से हराया। इस टूर्नामेंट में यह भारत का पांचवां पदक है। इससे पहले, मिक्स्ड टीम स्पर्धा में श्रीयांका सदांगी और अखिल श्यौराण ने पचास मीटर राइफल थ्री पोजिशन में कांस्य पदक जीता। टूर्नामेंट में भारत अब तक तीन स्वर्ण सहित कुल पांच पदक जीत चुका है और पदक तालिका में दूसरे स्थान पर है।

जन औषधि दिवस

प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि योजना की उपलब्धियों का जश्न मनाने के लिये 7 मार्च को जन औषधि दिवस मनाया जाता है। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी योजना के लाभार्थियों के साथ वर्चुअली बातचीत करते हैं। चौथे ‘जन औषधि दिवस’ का आयोजन फार्मास्यूटिकल्स विभाग के तत्त्वावधान में ‘फार्मास्यूटिकल्स एंड मेडिकल डिवाइसेस ब्यूरो ऑफ इंडिया’ (PMBI) द्वारा किया जा रहा है। इसके तहत सभी गतिविधियाँ ‘आज़ादी के अमृत महोत्सव’ के तहत आयोजित होंगी और 75 स्थानों पर कई कार्यक्रमों की योजना बनाई गई है। इससे जेनेरिक दवाओं के उपयोग एवं जन औषधि परियोजना के लाभों के बारे में जागरूकता पैदा होगी। इस वर्ष (2022) जन औषधि दिवस का विषय है- ‘जन औषधि-जन उपयोगी’। प्रधानमंत्री भारतीय जन औषधि परियोजना (PMBJP) को फार्मास्यूटिकल्स विभाग द्वारा वर्ष 2008 में ‘जनऔषधि अभियान’ के नाम से शुरू किया गया। वर्ष 2015-16 में इस अभियान को PMBJP के रूप में नया नाम दिया गया। ब्यूरो ऑफ फार्मा पीएसयू ऑफ इंडिया (BPPI) इसके लिये कार्यान्वयन एजेंसी है। यह रसायन एवं उर्वरक मंत्रालय के तहत काम करता है। BPPI ने जन औषधि सुगम एप्लीकेशन को भी विकसित किया है। इस प्रकार जन औषधि दवाओं की कीमतें कम-से-कम 50% और कुछ मामलों में ब्रांडेड दवाओं के बाज़ार मूल्य के 80% से 90% तक सस्ती होती हैं।

सीआईएसएफ ने 06 मार्च को अपना 53वां स्थापना दिवस मनाया

केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बलों (CISF) का 53 वां स्थापना दिवस समारोह 06 मार्च, 2022 को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में आयोजित किया गया था। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गाजियाबाद के इंदिरापुरम में सीआईएसएफ के स्थापना दिवस समारोह में भाग लिया और संबोधित किया। CISF, जो केंद्रीय गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करता है, एक केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल है और भारत के छह अर्धसैनिक बलों में से एक है। दिल्ली मेट्रो में 30 लाख से अधिक यात्री और देश भर के हवाई अड्डों पर 10 लाख यात्री सीआईएसएफ की सुरक्षा से गुजरते हैं। CISF की स्थापना 10 मार्च 1969 को भारत की संसद के एक अधिनियम के तहत, पूरे भारत में स्थित औद्योगिक इकाइयों, सरकारी बुनियादी ढांचा परियोजनाओं और सुविधाओं और प्रतिष्ठानों को सुरक्षा कवर प्रदान करने के लिए की गई थी। आखिरकार, इसे 15 जून 1983 को पारित संसद के एक अन्य अधिनियम द्वारा भारत गणराज्य का सशस्त्र बल बना दिया गया। CISF भारत में छह अर्धसैनिक बलों में से एक है और गृह मंत्रालय के अधीन कार्य करता है। इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

सी.बी.आई. ने को-लोकेशन घोटाले में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व प्रबंध निदेशक और सी.ई.ओ. चित्रा रामकृष्ण को गिरफ्तार किया

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो ने को-लोकेशन घोटाला मामले में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की पूर्व प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी चित्रा रामाकृष्णा को गिरफ्तार कर लिया है। सीबीआई ने उन्हें पूछताछ के लिए बुलाया और फिर गिरफ्तार कर लिया। उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा। सेबी ने को-लोकेशन घोटाला मामले में उन पर तीन करोड़ का जुर्माना लगाया है।

पुदुचेरी तट पर प्राचीन बंदरगाह पुल आंशिक रूप से ढह गया

पुदुचेरी तट पर प्राचीन बंदरगाह पुल आंशिक रूप से ढह गया। बंगाल की खाड़ी के ऊपर गहरे दबाव के कारण यह पुल ऊंची लहरों की चपेट में आ गया। पुद्दुचेरी में यह प्रसिद्ध घाट फ्रांसीसी शासन के दौरान बनाया गया था। आजादी के बाद 1962 में इस पुल को समुद्र में करीब 2 किलोमीटर तक बढ़ा दिया गया था। अब तेज करंट के कारण करीब 100 मीटर लंबा यह पुल गिर गया है। यह पुल पिछले कुछ दशकों से जीर्ण-शीर्ण होने के कारण उपयोग से बाहर हो गया था। इसे 2004 में छोड़ दिया गया था। एक समय पर, सार्वजनिक उपयोग निषिद्ध था। उपराज्यपाल डॉक्‍टर तमिलिसाई सुंदरराजन और मुख्यमंत्री एन रंगासामी ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। उपराज्‍यपाल ने आश्वासन दिया कि पुल की मरम्‍मत करने के पूरे प्रयास किए जाएंगे।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.