Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

12 April 2022

शहबाज शरीफ पाकिस्‍तान के नये प्रधानमंत्री चुने गए

पाकिस्‍तान मुस्लिम लीग नवाज प्रमुख शहबाज शरीफ को देश का नया प्रधानमंत्री चुना गया है। शहबाज़ शरीफ पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री बन गये हैं। वे पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ के भाई हैं। पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के सदस्‍यों के नेशनल असेम्‍बली से बहिर्गमन के बाद श्री शरीफ को प्रधानमंत्री चुना गया। पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के नेता शाह महमूद कुरैशी भी प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार थे। लेकिन नेशनल असेम्‍बली के सत्र से पहले उनकी पार्टी के सदस्‍यों के त्‍यागपत्र के बाद असेम्‍बली में कुरैशी की दावेदारी खत्‍म हो गई। अविश्‍वास प्रस्‍ताव में हार के बाद इमरान खान के प्रधानमंत्री पद से हटने के बाद नए प्रधानमंत्री का चयन किया जा रहा है। इमरान खान अविश्‍वास प्रस्‍ताव से हटने वाले देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। वे तीन वर्ष, सात महीने और 23 दिन पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री रहे। 2018 में, इमरान खान देश के प्रधान मंत्री के रूप में चुने गए थे। 1947 में पाकिस्तान की आजादी के बाद से देश का कोई भी प्रधानमंत्री पांच साल का कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है। सदन के अध्‍यक्ष असद कासिर के त्‍यागपत्र के बाद अयाज सादिक ने अध्‍यक्षता की। मतगणना संपन्‍न होने के बाद श्री सादिक ने घोषणा की कि श्री शहबाज शरीफ के समर्थन में 174 सदस्‍यों ने मतदान किया और बहुमत से श्री शरीफ के निर्वाचन की घोषणा कर दी गई।

प्रसिद्ध असमिया कवि नीलमणि फूकन को गुवाहाटी में ज्ञानपीठ पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया

प्रसिद्ध असमिया कवि नीलमणि फूकन को देश के सर्वोच्च साहित्यिक पुरस्कार ज्ञानपीठ (56वें) पुरस्कार से नवाजा गया। वयोवृद्ध कवि के स्वास्थ्य को देखते हुए पहली बार इस पुरस्कार का आयोजन असम में किया गया। असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्व सरमा और ज्ञानपीठ चयन बोर्ड की चेयरपर्सन प्रतिभा रे ने 88 वर्षीय कवि को ट्रॉफी, चेक और स्मृतिचिह्न भेंट किया। फूकन जनकवि के रूप में जाने जाते हैं। इससे पहले उन्हें साहित्य अकादमी और पद्मश्री पुरस्कार मिल चुका है। फूकन तीसरे असमी हैं, जिन्हें ज्ञानपीठ पुरस्कार मिला है। फूकन को पिछले साल दिसंबर में ज्ञानपीठ पुरस्कार के लिए नामित किया गया था।

राज्‍य ऊर्जा और जलवायु सूचकांक में गुजरात, केरल और पंजाब श्रेष्‍ठ प्रदर्शन वाले राज्‍य बनें

नीति आयोग ने 11 अप्रैल 2022 को नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ. राजीव कुमार की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम में राज्य ऊर्जा और जलवायु सूचकांक-राउंड-1 का शुभारंभ किया गया। राज्‍य, ऊर्जा और जलवायु सूचकांक (एसईसीआई) राउंड-1 में राज्यों के प्रदर्शन को 6 मापदंडों में कार्य प्रदर्शन अर्थात् (1) डिस्‍कॉम का प्रदर्शन (2) ऊर्जा की पहुंच, सामर्थ्य और विश्वसनीयता (3) स्वच्छ ऊर्जा पहल (4) ऊर्जा दक्षता (5) पर्यावरण में स्थिरता और (6) नई पहल, के आधार पर रैंक दिया गया है। इन मापदंडों को आगे 27 संकेतकों में विभाजित किया गया है। समग्र एसईसीआई राउंड-1 स्कोर के आधार पर, राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को तीन समूहों फ्रंट रनर, अचीवर्स और एस्पिरेंट्स में वर्गीकृत किया गया है। राज्यों को आकार और भौगोलिक अंतर के आधार पर बड़े राज्यों, छोटे राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के रूप में वर्गीकृत किया गया है। गुजरात, केरल और पंजाब को बड़े राज्यों की श्रेणी में शीर्ष तीन प्रदर्शनकर्ताओं के रूप में स्थान दिया गया है। गोवा, छोटे राज्यों की श्रेणी में शीर्ष प्रदर्शन करने वाले राज्य के रूप में उभरा है, इसके बाद त्रिपुरा और मणिपुर का स्थान है। केंद्र शासित प्रदेशों में चंडीगढ़, दिल्ली, दमन और दीव/दादरा और नगर हवेली शीर्ष प्रदर्शनकर्ता हैं।

स्‍वदेश में निर्मित विमान एचएएल डोर्नियर डीओ-228 कल असम में डिब्रूगढ़ से, अरुणाचल प्रदेश में पासीघाट के लिए पहली उड़ान भरेगा

भारत में बना पहला विमान एचएएल डोर्नियर डीओ-228 असम में डिब्रूगढ़ से, अरुणाचल प्रदेश में पासीघाट के लिए उड़ान भरेगा। यह नागरिक उड्डन संचालन के लिए देश की पहली वाणिज्यिक एयरलाइन होगी। इस बीच, पूर्वोत्तर क्षेत्र के लिए पहले उड़ान प्रशिक्षण संगठन का भी असम के लीलाबाड़ी में उद्घाटन किया जाएगा। दोनों कार्यक्रमों में नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा और अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू की उपस्थिति में उपस्थित रहेंगे।

भारत ने टैंकरोधी निर्देशित मिसाइल हेलिना का सफल हवाई परीक्षण किया

भारत ने टैंकरोधी निर्देशित मिसाइल हेलिना का सफल परीक्षण किया। अत्‍यधिक ऊंचाई तक जाने वाली यह मिसाइल स्‍वदेश विकसित उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर (एएलएच) से दागी गई। यह दुनिया की सर्वाधिक उन्‍नत टैंकरोधी मिसाइलों में से एक है। रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन के वैज्ञाानिकों, सेना और वायु सेना के विशेषज्ञों की टीम ने संयुक्‍त रूप से यह प‍रीक्षण किया। पोखरण में किए गए प्रमाणीकरण परीक्षणों के विस्तार में, उच्च ऊंचाई पर इसकी प्रभावकारिता का प्रमाण उन्नत हल्के हेलीकॉप्टर के साथ इसके एकीकरण का मार्ग प्रशस्त करता है।

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ का वार्षिक जन-केंद्रित मेगा अभियान- 'सक्षम' शुरू किया

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने पेट्रोलियम संरक्षण अनुसंधान संघ-पीसीआरए, 'सक्षम' का वार्षिक जन-केंद्रित मेगा अभियान शुरू किया। यह अभियान इस महीने के अंत तक हरित और स्वच्छ ऊर्जा के माध्यम से 'आजादी का अमृत महोत्सव' टैगलाइन के साथ चलेगा। उद्घाटन के दौरान, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सचिव पंकज जैन ने सभी लोगों को दैनिक जीवन में ईंधन संरक्षण को अपनाने का अनुरोध किया। इस अभियान के दौरान 3 सौ शहरों में सक्षम साइक्लोथॉन, 25 शहरों में सक्षम वॉकथॉन, सीएनजी कार और ऑटो रैली, चार महानगरों में ई-वाहन रैली, स्वच्छ और हरित ऊर्जा के तहत विभिन्न विषयों पर सेमिनार जैसे कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को प्रथम लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्‍कार प्रदान किया जाएगा

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी को जानी-मानी गायिका की स्‍मृति में आरंभ किया गया प्रथम लता दीनानाथ मंगेशकर पुरस्‍कार प्रदान किया जाएगा। प्रसिद्ध पार्श्‍व गायिका लता मंगेशकर का इस वर्ष फरवरी में निधन हो गया था। मास्‍टर दीनानाथ मंगेशकर स्‍मृति प्रतिष्‍ठान की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार पुरस्‍कार समारोह मुंबई के षणमुखानंद सभागार में 24 अप्रैल को होगा। यह पुरस्‍कार प्रत्‍येक वर्ष ऐसे व्‍यक्ति को दिया जाएगा जिसने राष्‍ट्र और देशवासियों के लिए क्रान्तिकारी, शानदार और अनुकरणीय योगदान दिया हो। प्रतिष्‍ठान ने कहा कि श्री मोदी अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर के व्‍यक्ति हैं, जिन्‍होंने भारत को वैश्विक नेतृत्‍व के पथ पर आगे बढ़ाया है। प्रसिद्ध गायक राहुल देशपांडे को मास्‍टर दीनानाथ पुरस्‍कार दिया जाएगा। अभिनेत्री आशा पारेख, अभिनेता जैकी श्राफ और मुंबई के डिब्‍बा वाले के प्रतिनिधि नूतन टिफिन सप्‍लायर को भी विशेष पुरस्‍कार प्रदान किया जाएगा। पुरस्‍कार समारोह में संगीत कार्यक्रम स्‍वरलतांजलि भी आयोजित किया जाएगा जिसमें रूप कुमार राठौड, प्रियंका बरवे और हरिहरन जैसे गायक शामिल होंगे।

सेबी और मंगोलियाई वित्तीय नियामक आयोग के बीच समझौता

हाल ही में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) और वित्तीय नियामक आयोग, मंगोलिया (FRC) के बीच एक द्विपक्षीय समझौता ज्ञापन (MoU) के प्रस्ताव को मंज़ूरी दी है। FRC मंगोलिया का एक (गैर-बैंक) वित्तीय बाज़ार नियामक है। FRC, सेबी की तरह ही अंतर्राष्ट्रीय प्रतिभूति आयोगों के संगठन के बहुपक्षीय MoU (IOSCO MMoU) का सह-हस्ताक्षरकर्त्ता है। प्रस्तावित द्विपक्षीय समझौता ज्ञापन, प्रतिभूति कानूनों के प्रभावी प्रवर्तन के लिये सूचना साझाकरण ढाँचे को मज़बूत करने में योगदान देने के अलावा एक तकनीकी सहायता कार्यक्रम की स्थापना में भी मदद करेगा। IOSCO MMoU के दायरे में तकनीकी सहायता का प्रावधान नहीं है। तकनीकी सहायता कार्यक्रम से अधिकारियों को पूंजी बाज़ार, क्षमता निर्माण गतिविधियों और कर्मचारियों के लिये प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से लाभ होगा।

NHA Health Benefit Package 2022 लांच किया गया

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा स्वास्थ्य लाभ पैकेज 2022 का एक नया संस्करण लॉन्च किया गया है। NHA स्वास्थ्य लाभ पैकेज के नए संस्करण में 365 नई प्रक्रियाएं जोड़ी गई हैं जो अब कुल मिलाकर 1,949 हो गई हैं। इस योजना के तहत, शहर के प्रकार और देखभाल के स्तर पर आधारित अंतर मूल्य निर्धारण की शुरुआत की गई है। यह पैकेज 7 अप्रैल 2022 को महाबलीपुरम, तमिलनाडु में आयोजित दो दिवसीय बैठक में लॉन्च किया गया था। यह बैठक देश के दक्षिणी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आयुष्मान भारत डिजिटल मिशन और आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (AB-PMJAY) की समीक्षा के उद्देश्य से आयोजित की गई थी। इस समीक्षा बैठक का शीर्षक ‘आयुष्मान संगम’ था और यह राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण द्वारा 7 और 8 अप्रैल को आयोजित की गई। यह बैठक का तीसरा संस्करण था और इसमें आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, केरल, कर्नाटक, पुडुचेरी, लक्षद्वीप, तेलंगाना और तमिलनाडु शामिल थे।

प्रख्यात विद्वान-शिक्षाविद मनोज सोनी यूपीएससी के नए अध्यक्ष

वर्तमान में संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के सदस्य डॉ मनोज सोनी को देश की प्रमुख सरकारी भर्ती एजेंसी का अध्यक्ष नियुक्त किया गया है। वह कम उम्र से ही आणंद जिले के मोगरी में स्वामीनारायण संप्रदाय के अनूपम मिशन से जुड़े हुए हैं और 10 जनवरी, 2020 को एक निष्कर्म कर्मयोगी (निःस्वार्थ कार्यकर्ता) के रूप में दीक्षा प्राप्त की। डॉ सोनी को यूपीएससी के पूर्व अध्यक्ष प्रदीप कुमार जोशी की जगह नियुक्त किया गया है। इस असाइनमेंट से पहले, सोनी ने दो विश्वविद्यालयों के कुलपति के रूप में भी काम किया है और कई राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार और मान्यताएं अर्जित की हैं।

वयोवृद्ध बंगाली लेखक अमर मित्रा ने प्रतिष्ठित ओ हेनरी पुरस्कार जीता

वयोवृद्ध बंगाली लेखक अमर मित्रा को 45 साल पहले लिखी गई एक छोटी कहानी के लिए इस साल के ओ हेनरी पुरस्कार (O.Henry prize) से सम्मानित किया गया था। उन्हें अपनी लघु कहानी 'गाँवबरो'- एक बंगाली लघु कथा के लिए पुरस्कार मिला, जिसका पहले अंग्रेजी (द ओल्ड मैन ऑफ कुसुमपुर) में अनुवाद किया गया था। अनुवादित कार्य 2020 में एक अमेरिकी पत्रिका में प्रकाशित हुआ था। मित्रा को 2006 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा चाय को यूरोपीय आयोग से जीआई टैग मिलेगा

हिमाचल प्रदेश की कांगड़ा चाय को जल्द ही एक यूरोपीय आयोग भौगोलिक संकेत टैग (जीआई टैग) मिलेगा; यह टैग कांगड़ा चाय को यूरोपीय बाजार में प्रवेश करने का अवसर प्राप्त करने में मदद करता है। कांगड़ा चाय को 2005 में भारतीय जीआई टैग मिला। 1999 से, हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा क्षेत्र में चाय की खेती और विकास में लगातार सुधार हुआ है।

थाईलैंड ओपन बॉक्सिंग टूर्नामेंट 2022: भारत ने 3 स्वर्ण के साथ 10 पदक जीते

15 सदस्यीय भारतीय मुक्केबाजी दल ने फुकेत में थाईलैंड ओपन इंटरनेशनल बॉक्सिंग टूर्नामेंट 2022 में तीन स्वर्ण, चार रजत और तीन कांस्य सहित 10 पदक के साथ अपने अभियान का अंत किया। स्वर्ण पदक विजेताओं को 2000 अमरीकी डालर मिले, जबकि रजत और कांस्य पदक विजेताओं ने क्रमशः 1000 अमरीकी डालर और 500 अमरीकी डालर मिले, इस टूर्नामेंट में एशिया, यूरोप, ओशिनिया और अफ्रीका के 74 पुरुषों और 56 महिलाओं सहित 130 शीर्ष मुक्केबाजों की भागीदारी के साथ रोमांचक प्रतियोगिता देखी गई। पदक विजेताओं में शामिल हैं: स्वर्ण

  • गोविंद साहनी (48 किग्रा),
  • अनंत प्रल्हाद चोपडे (54 किग्रा)
  • सुमित (75 किग्रा)
रजत
  • अमित पंघाल (52 किग्रा)
  • मोनिका (48 किग्रा),
  • वरिंदर सिंह (60 किग्रा)
  • आशीष कुमार (81 किग्रा)
कांस्य
  • मनीषा (57 किग्रा),
  • पूजा (69 किग्रा)
  • भाग्यबती कचारी (75 किग्रा)

समाज सुधारक महात्मा ज्योतिबा फुले की जयंती

11 अप्रैल को देश में ज्‍योतिबा फुले की जयंती मनाई गई। समाज सुधारक महात्मा फुले ने देश में छुआछूत और जाति प्रथा को समाप्‍त करने की दिशा में काम किया। उन्होंने अपनी पत्नी सावित्रीबाई के साथ मिलकर देश में महिलाओं में शिक्षा का अलख जगाया। श्री फुले का जन्‍म 11 अप्रैल 1827 को हुआ था। 172 वर्ष पहले उन्‍होंने पुणे में लडकियों के लिए पहला स्‍कूल खोला था। उन्‍होंने सत्‍य शोधक समाज की भी स्‍थापना की, जिसका उद्देश्‍य समानता का अधिकार दिलाना था। उन्होंने कन्या भ्रूण हत्या के खिलाफ लड़ाई लड़ी और जल संकट से निपटने के लिए एक सशक्त अभियान चलाया।

विश्व पार्किंसन दिवस

विश्व भर में प्रत्येक वर्ष 11 अप्रैल को विश्व पार्किंसन दिवस मनाया जाता है। इस दिवस के आयोजन का प्राथमिक उद्देश्य आम लोगों को पार्किंसन रोग के बारे में जागरूक करना है। पार्किंसन एक ऐसी बीमारी है, जिसमें तंत्रिका तंत्र लगातार कमज़ोर होता जाता है। इस बीमारी का कोई इलाज़ उपलब्ध नहीं है। पार्किंसन के कारण चलने-फिरने की गति धीमी पड़ जाती है और मासपेशियाँ सख्त हो जाती हैं तथा शरीर में कंपन की समस्या पैदा हो जाती है। सामान्यतः 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों में पार्किंसन रोग के लक्षण दिखते हैं किंतु यह रोग किसी भी उम्र में हो सकता है। शरीर में कंपन, जकड़न, शिथिल गतिशीलता, झुककर चलना, याद्दाश्त संबंधी समस्याएँ और व्यवहार में बदलाव आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। यह मस्तिष्क में तंत्रिका कोशिकाओं को नुकसान पहुँचाता है, जिससे डोपामाइन के स्तर में कमी आती है। डोपामाइन एक रसायन है, जो मस्तिष्क से शरीर में व्यवहार संबंधी संकेत भेजता है। यद्यपि दवा से रोग के लक्षणों को नियंत्रित करने में मदद मिल सकती है, किंतु इस रोग को पूरी तरह से ठीक नहीं किया जा सकता है। आँकड़ों की मानें तो दुनिया भर में, लगभग 10 मिलियन लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं।

विश्‍व होम्‍योपैथी दिवस

होम्योपैथी के महत्त्व और चिकित्सा जगत में इसके योगदान को उजागर करने के लिये प्रत्येक वर्ष 10 अप्रैल को विश्‍व होम्‍योपैथी दिवस का आयोजन किया जाता है। यह दिवस होम्योपैथी के संस्थापक डॉ. क्रिश्चियन फ्रेडरिक सैमुअल हैनीमैन की जयंती को भी संदर्भित करता है। होम्योपैथी के संस्थापक और विभिन्न चिकित्सीय पद्धतियों के जन्‍मदाता डॉ. क्रिश्चियन हैनीमैन का जन्म 10 अप्रैल, 1775 को जर्मनी में हुआ था। डॉ. क्रिश्चियन हैनीमैन द्वारा होम्‍योपैथी की खोज अठारहवीं सदी के अंत के दशक में की गई थी। 'होम्योपैथी' शब्द की उत्पत्ति दो ग्रीक शब्दों से हुई है, जिसमें ‘होमोइस’ का अर्थ ‘समान’ से तथा ‘पैथोस’ का अर्थ ‘दुख’ से है। यह ‘सम: समम् शमयति’ या ‘समरूपता’ दवा सिद्धांत पर आधारित एक चिकित्सीय प्रणाली है। यह प्रणाली दवाओं द्वारा रोगी का उपचार करने की एक ऐसी विधि है, जिसमें किसी स्वस्थ व्यक्ति में प्राकृतिक रोग का अनुरूपण करके समान लक्षण उत्पन्न किये जाते हैं जिससे रोगग्रस्त व्यक्ति का उपचार किया जा सकता है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.