Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

6 December 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक वर्ष के लिए भारत की जी-20 की अध्यक्षता के बारे में सर्वदलीय बैठक की अध्‍यक्षता की

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जी-20 की भारत की अध्यक्षता के बारे में सभी बड़े राजनीतिक दलों के प्रमुखों से बैठक की अध्यक्षता की। इसमें भाग लेने वालों में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जे.पी. नड्डा, कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, ओडिसा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शामिल थीं। बैठक में गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस. जयशंकर, संसदीय कार्य मत्री प्रह्लाद जोशी, वित्त मंत्री निर्मला सीतारामन और अन्य केंद्रीय मंत्री भी उपस्थित थे। भारत ने इस महीने की पहली तारीख को जी-20 की अध्यक्षता विधिवत ग्रहण की थी।

भारत और जर्मनी ने अध्ययन, अनुसंधान और काम करने के लिए प्रवासन और गतिशीलता समझौते पर हस्‍ताक्षर किए

विदेश मंत्री डॉक्टर एस जयशंकर और जर्मनी की विदेश मंत्री एनालेना बेयरबॉक के बीच नई दिल्ली में बैठक हुई। दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की और कई महत्वपूर्ण क्षेत्रीय तथा वैश्विक मुद्दों पर अपने विचारों का आदान प्रदान किया। दोनों देशों ने प्रवासन और गतिशीलता समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। इससे दोनों देशों के लोगों को एक-दूसरे के देश में अध्ययन, अनुसंधान और काम करने के लिए आसान पहुंच की सुविधा मिल सकेगी।

मोटा अनाज- पोषक खाद्यान्न सम्मेलन आज नई दिल्ली में

सरकार मोटे अनाज के निर्यात को बढ़ावा देने के लिए नई दिल्‍ली में मोटा अनाज- पोषक खाद्यान्न सम्मेलन आयोजित कर रही है। अंतर्राष्ट्रीय मोटा अनाज वर्ष 2023 के शुभारंभ से पहले वाणिज्‍य और उद्योग मंत्रालय ने कृषि और प्रसंस्‍कृत खाद्यान्न निर्यात विकास प्राधिकरण के माध्‍यम से इसका आयोजन किया है। केन्‍द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल मुख्य अतिथि होंगे। अपनी तरह के इस पहले सम्मेलन में सरकार 30 संभावित आयातक देशों और भारत के 21 मोटा अनाज उत्पादक राज्यों पर ई-कैटलॉग जारी करेगी। 5 मार्च 2021 को भारत के प्रस्‍ताव पर 72 देशों की स्‍वीकृति के बाद संयुक्‍त राष्‍ट्र महासभा ने 2023 को अंतरराष्‍ट्रीय मोटा अनाज वर्ष के रूप में मनाए जाने की घोषणा की थी। भारत इसके वैश्विक उत्‍पादन में लगभग 41 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ मोटे अनाज का प्रमुख उत्‍पादक देश है।

मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन पर राष्ट्रीय सम्मेलन

कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने सतत खेती के लिए मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन पर राष्ट्रीय सम्मेलन का उद्घाटन किया। आजादी के अमृत महोत्सवविश्व मृदा दिवस के उपलक्ष में नीति आयोग द्वारा फेडरल मिनिस्ट्री फार इकानामिक कोआपरेशन एंड डेवलपमेंट (बीएमजेड), जर्मनी से सम्बद्ध जीआईजेड के सहयोग से आयोजित इस सम्मेलन में मुख्य अतिथि श्री तोमर ने कहा कि मिट्टी में जैविक कार्बन की कमी होना हम सबके लिए बहुत गंभीर बात है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि रासायनिक खेती और अन्य कारणों से मिट्टी की उर्वरता कम हो रही है और जलवायु परिवर्तन देश और दुनिया के लिए एक बड़ी चिंता का विषय बनता जा रहा है। उन्होंने बताया कि दो चरणों में देश भर के किसानों को 22 करोड़ से अधिक मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरित किए जा चुके हैं। सरकार मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन योजना के तहत बुनियादी ढांचा विकास भी कर रही है। अब तक 499 स्थायी मृदा परीक्षण प्रयोगशालाएँ, 113 मोबाइल मृदा परीक्षण प्रयोगशालाएँ, आठ हजार 811 मिनी मृदा परीक्षण प्रयोगशालाएँ और दो हजार 395 ग्राम-स्तरीय मृदा परीक्षण प्रयोगशालाएँ स्थापित की जा चुकी हैं।

संस्कृति मंत्रालय ने डाक विभाग के साथ पत्र-लेखन के मनोरंजक मेले “डाकरूम” का आयोजन किया

आजादी के अमृत महोत्सव के तत्त्वावधान में डाक विभाग के सहयोग से संस्कृति मंत्रालय ने डाकरूम का शुभारंभ किया। अपने तरह के इस अनोखे पत्र-लेखन मनोरंजन मेले का आयोजन नई दिल्ली में राजघाट स्थित गांधी दर्शन में किया गया। इस अनोखे पत्र-लेखन कार्यक्रम को इंडिया पोस्ट, संस्कृति मंत्रालय और गांधी स्मृति और दर्शन समिति ने आयोजित किया था, जिसका लक्ष्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों से कुछ देर के लिये दूरी बनाना तथा भारत में पत्र लिखने की कला को दोबारा जीवित करना था।

भारत और पापुआ न्यू गिनी के बीच विदेश मंत्रालय स्तरीय परामर्श का पहला दौर आयोजित

भारत और पापुआ न्यू गिनी के बीच विदेश मंत्रालय स्तरीय परामर्श का पहला दौर पोर्ट मोर्रस्बी में आयोजित किया गया। इस परामर्श बैठक में भारत की ओर से पूर्वी क्षेत्र के सचिव सौरभ कुमार ने भाग लिया। परामर्श के दौरान दोनों ही पक्षों ने भागीदारी विकास, राजनीतिक, आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों सहित द्विपक्षीय संबंधों के समस्त पहलुओं की समीक्षा की। दोनों ही पक्षों ने क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों तथा अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर एक दूसरे के साथ सहयोग करने के बारे में विचार विमर्श किया। दोनों पक्षों ने पोर्ट मोर्रस्बी में हिंद-प्रशांत सागर द्वीप समूह मंच की तीसरी शिखर बैठक की संयुक्त मेजबानी के मुद्दे पर भी चर्चा की।

केंद्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण ने राजस्व आसूचना निदेशालय के 65वें स्थापना दिवस समारोह का उद्घाटन किया

केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर और सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) के तत्वावधान में काम करने वाली शीर्ष तस्करी विरोधी खुफिया जांच एजेंसी, राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) ने नई दिल्ली में अपना 65वां स्थापना दिवस मनाया। नई दिल्‍ली में राजस्‍व गुप्‍तचर निदेशालय के 65वें स्‍थापना दिवस पर केन्‍द्रीय वित्‍तमंत्री निर्मला सीतारामन ने कहा कि सहयोगी देशों और उनकी एजेंसियों के साथ मिलकर काम करना जरूरी है। इसके लिए भारत ने जानकारी जुटाने की बेहतर व्‍यवस्‍था करने के वास्‍ते द्विपक्षीय समझौते किये हैं। वित्‍तमंत्री ने भारत में तस्‍करी के बारे में 2021-22 की रिपोर्ट जारी की, जिसमें तस्‍करी और वाणिज्यिक धोखाधडी तथा इनकी रोकथाम के लिए अंतर्राष्‍ट्रीय सहयोग की व्‍यापक समीक्षा की गई है। तस्‍करी की रोकथाम के उपायों को लागू करने के उद्देश्‍य राजस्‍व गुप्‍तचर निदेशालय का गठन 4 दिसम्‍बर 1957 में किया गया था। इसका मुख्‍यालय नई दिल्‍ली में है और इसके 12 आंचलिक, 35 क्षेत्रीय और 15 उप-क्षेत्रीय इकाइयां हैं।

Global Wage Report 2022-2023 जारी की गई

हाल ही में अंतर्राष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) द्वारा “Global Wage Report 2022-2023: The Impact of inflation and COVID-19 on wages and purchasing power” शीर्षक वाली रिपोर्ट जारी की गई। रिपोर्ट के अनुसार 2008 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद से पहली बार 2022 में वैश्विक मजदूरी में गिरावट आई है, जो रोज़ मर्रा के खर्चों (living expenses) में वृद्धि के कारण हुई है। यह असमानता को खराब करने और सामाजिक अशांति को ट्रिगर करने का कारण बन सकता है। गंभीर मुद्रास्फीति संकट और वैश्विक आर्थिक मंदी – आंशिक रूप से यूक्रेन में युद्ध और वैश्विक ऊर्जा संकट के कारण – कई देशों में वास्तविक मासिक मजदूरी में गिरावट का कारण बन रहे हैं। 2022 की पहली छमाही में वास्तविक रूप से मासिक वेतन में 0.9 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह 21वीं सदी में वास्तविक वैश्विक मजदूरी की पहली नकारात्मक वृद्धि है। COVID-19 महामारी के दौरान वेतन में महत्वपूर्ण नुकसान के कारण निम्न-आय वाले देश विशेष रूप से प्रभावित हुए हैं। मुद्रास्फीति के साथ तालमेल बिठाने के लिए किए गए प्रयासों के बावजूद 2020 से 2022 तक न्यूनतम मजदूरी में वास्तविक रूप से गिरावट आई है। न्यूनतम मजदूरी में गिरावट देखने वाले देशों में बुल्गारिया, स्पेन, श्रीलंका, दक्षिण कोरिया, यूनाइटेड किंगडम और संयुक्त राज्य अमेरिका शामिल हैं। यूके, इटली, जापान और मैक्सिको जैसे देशों में 2008 की तुलना में 2022 में समग्र मजदूरी वास्तविक रूप से कम थी। बढ़ी हुई उत्पादकता के बावजूद मजदूरी में गिरावट आती है। वर्ष 2022 में वास्तविक श्रम उत्पादकता वृद्धि और 1999 के बाद से उच्च आय वाले देशों में वास्तविक वेतन वृद्धि के बीच सबसे बड़ा अंतर दर्ज किया गया। उन्नत जी20 देशों में, 2022 की पहली छमाही में वास्तविक मजदूरी शून्य से 2.2 प्रतिशत कम हो गई। उभरते हुए G20 देशों में वास्तविक वेतन में 0.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई, जो कि 2019 की तुलना में 2.6 प्रतिशत कम है, जो कि COVID-19 महामारी फैलने से एक साल पहले हुआ था। उभरते जी20 देशों और उन्नत जी20 अर्थव्यवस्थाओं के वास्तविक वेतन के औसत स्तर के बीच एक व्यापक अंतर है। उन्नत G20 देशों का औसत वेतन 4,000 USD प्रति माह है और उभरते G20 देशों के लिए यह 1,800 प्रति माह है।

Global Report on Health Equity for Persons with Disabilities जारी की गई

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा 2 दिसंबर को ‘Global report on health equity for persons with disabilities’ जारी की गई। इसे अंतर्राष्ट्रीय दिव्यांग जन दिवस (3 दिसंबर) से पहले जारी किया गया था। दिव्यांग व्यक्तियों को समाज में दूसरों की तुलना में समय से पहले मृत्यु और बीमारी का अधिक खतरा होता है। व्यवस्थित और लगातार स्वास्थ्य असमानताओं के कारण, दिव्यांग लोगों को अन्य लोगों की तुलना में 20 साल पहले मरने का अधिक जोखिम होता है। उन्हें अस्थमा, अवसाद, मधुमेह, मोटापा, मौखिक रोग और स्ट्रोक जैसी स्थितियों के विकसित होने का दोगुना जोखिम है। दिव्यांग लोगों और अन्य लोगों के बीच स्वास्थ्य परिणामों में अंतर अंतर्निहित स्वास्थ्य स्थिति या हानि के कारण नहीं है बल्कि परिहार्य, अनुचित और अन्यायपूर्ण कारकों के कारण है। वर्तमान में, दुनिया भर में छह में से एक व्यक्ति (1.3 बिलियन) में महत्वपूर्ण विकलांगता (significant disabilities) है। यह आंकड़ा एक समावेशी समाज बनाने के महत्व को दर्शाता है जो सभी पहलुओं में दिव्यांग लोगों की जरूरतों का समर्थन करता है। इस रिपोर्ट में अनुचित और अन्यायपूर्ण परिस्थितियों से उत्पन्न महत्वपूर्ण स्वास्थ्य असमानताओं को दूर करने के लिए तत्काल कार्रवाई के महत्व पर प्रकाश डाला गया है।

नागपुर में सिंगल कॉलम पर हाईवे फ्लाईओवर तथा मेट्रो के साथ सिंगल कॉलम पर तैयार हुए सबसे लंबे डबल डेकर सेतु (3.14 किलोमीटर) गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और महाराष्ट्र मेट्रो की टीम को नागपुर में सिंगल कॉलम पर हाईवे फ्लाईओवर तथा मेट्रो के साथ सिंगल कॉलम पर तैयार हुए सबसे लंबे डबल डेकर सेतु (3.14 किलोमीटर) का निर्माण करके गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड हासिल करने पर हार्दिक बधाई दी है। इस परियोजना को पहले ही एशिया बुक और इंडिया बुक द्वारा रिकॉर्ड बुक में शामिल किया जा चुका है।

‘टेक्नोटेक्स 2023’ मुंबई में 22 फरवरी से 24 फरवरी, 2023 के दौरान आयोजित किया जाएगा

टेक्निकल टेक्सटाइल्स से जुड़ा भारत का प्रमुख शो –‘टेक्नोटेक्स 202322 फरवरी से 24 फरवरी 2023 के दौरान मुंबई में आयोजित किया जाएगा। भारत में टेक्निकल टेक्सटाइल उद्योग का यह सबसे बड़ा आयोजन इसमें शामिल होने वाले लोगों को भारत और दुनिया भर के शीर्ष स्तर के सीईओ, निर्माताओं, वस्त्र उद्योग से जुड़े सहकर्मियों, खरीद प्रबंधकों और आपूर्तिकर्ताओं से मिलने के लिए पहुंच और नेटवर्किंग का अवसर प्रदान करने पर केन्द्रित है। राष्ट्रीय तकनीकी कपड़ा मिशन (एनटीटीएम) के तहत फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स इंडस्ट्री के सहयोग से भारत सरकार के वस्त्र मंत्रालय द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है।

स्वर धरोहर महोत्सव का नई दिल्ली में इंडिया गेट पर आयोजन

हाल ही में संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार ने "स्वर धरोहर फाउंडेशन" के सहयोग से कलांजलि के तहत तीन दिवसीय "स्वर धरोहर महोत्सव" का उद्घाटन किया। कलांजलि के तहत सेंट्रल विस्टा में प्रति सप्ताह सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। यह भारत की प्रतिष्ठित कला एवं संस्कृति और भारतीय राज्यों की समृद्ध साहित्यिक कला तथा विरासत को प्रदर्शित करने हेतु संगीत, कला और साहित्य महोत्सव है।

काज़ीरंगा परियोजना पर भारत- फ्राँस साझेदारी

भारत और फ्राॅन्स काज़ीरंगा परियोजना पर सहयोग कर रहे हैं। फ्राॅन्स के एजेन्स फ्रैंकाइस डी डेवेलोपेमेंट (AFD) ने वर्ष 2014-2024 के बीच 10 वर्ष की अवधि के लिये 80.2 मिलियन यूरो का वित्त पोषण किया है। काजीरंगा परियोजना वन और जैव विविधता संरक्षण पर असम परियोजना (APFBC) का एक हिस्सा है। असम सरकार ने AFD के समर्थन से वर्ष 2012 में वन पारिस्थितिक तंत्र को बहाल करने, वन्यजीवों की रक्षा करने और वन-निर्भर समुदायों की आजीविका बढ़ाने के लिये APFBC की शुरू किया। इस परियोजना ने वर्ष 2024 तक 33,500 हेक्टेयर भूमि के पुनर्वनीकरण और वैकल्पिक आजीविका में 10,000 समुदाय के सदस्यों के प्रशिक्षण की अवधारणा की।

कर्मचारी राज्य बीमा निगम की 189वीं बैठक

केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा 3 से 4 दिसंबर, 2022 को कर्मचारी राज्य बीमा निगम के उद्देश्य 'निर्माण से शक्ति' पहल के तहत इसके बुनियादी ढाँचे का उन्नयन और आधुनिकीकरण करना- को स्पष्ट करते हुए कर्मचारी राज्य बीमा निगम की 189वीं बैठक का सफल आयोजन नई दिल्ली में स्थित इसके मुख्यालय में किया गया। कर्मचारी राज्य बीमा योजना के दायरे में आने वाले बीमाकृत श्रमिकों और उनके आश्रितों की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि को देखते हुए संबद्ध मंत्रालय ने कर्मचारी राज्य बीमा निगम को बुनियादी ढाँचे को मज़बूत करने पर ज़ोर देने का निर्देश दिया। कर्मचारी राज्य बीमा निगम की बैठक के दौरान निम्नलिखित महत्त्वपूर्ण कार्यसूची मदों पर विचार किया गया, जो चिकित्सा एवं हितलाभ सेवा वितरण तत्रों को बेहतर बनाने में मदद करेगा और कर्मचारी राज्य बीमा योजना के दायरे में आने वाले बीमाकृत श्रमिकों की बढ़ती संख्या के प्रबंधन के लिये कर्मचारी राज्य बीमा निगम के बुनियादी ढाँचे को मज़बूत करेगा:- कर्मचारी राज्य बीमा निगम, श्यामलीबाजार, अगरतला, त्रिपुरा में 100 बिस्तरों वाला नया अस्पताल और इडुक्की, केरल में 100 बिस्तरों वाले अस्पताल की स्थापना का निर्णय, वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिये कर्मचारी राज्य बीमा निगम के लेखापरीक्षित वार्षिक लेखे और वार्षिक रिपोर्ट को मंज़ूरी।

हंसराज गंगाराम अहीर NCBC के नए अध्यक्ष नियुक्त

हंसराज गंगाराम अहीर को 2 दिसंबर 2022 को राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया। वह महाराष्ट्र से हैं और पेशे से एक कृषक हैं। वे महाराष्ट्र राज्य के चंद्रपुर जिले के रहने वाले हैं। वह 16वीं लोकसभा के दौरान केंद्रीय गृह राज्य मंत्री और केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री, भारत सरकार रह चुके हैं।

हिंसा के जोखिम वाले देशों की सूची में भारत आठवें स्थान पर

अमेरिकी थिंक-टैंक ‘अर्ली वार्निंग प्रोजेक्ट’ (EWP) के एक आकलन के अनुसार, सामूहिक हत्याओं के उच्चतम जोखिम वाले देशों की सूची में पाकिस्तान लगातार तीसरी बार शीर्ष पर है। ईडब्ल्यूपी ने अपनी 28 पेज लंबी रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान कई 'सुरक्षा और मानवाधिकार चुनौतियों' का सामना करता है। सूची में क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर यमन और म्यांमार जैसे अन्य एशियाई देश शामिल थे, जबकि अफगानिस्तान और भारत को क्रमशः सातवें और आठवें स्थान पर रखा गया था। भारत ने सूडान (नौवें), सोमालिया (10वें), सीरिया (11वें), इराक (12वें) और जिम्बाब्वे (14वें रैंक) से भी खराब प्रदर्शन किया है।

WMO द्वारा जारी वैश्विक जल संसाधन रिपोर्ट 2021

हाल ही में WMO (विश्व मौसम विज्ञान संगठन) ने अपनी पहली वार्षिक स्टेट ऑफ ग्लोबल वाटर रिसोर्सेज रिपोर्ट 2021 जारी की है। इस वार्षिक रिपोर्ट का उद्देश्य बढ़ती मांग और सीमित आपूर्ति के युग में वैश्विक ताजे जल के संसाधनों की निगरानी और प्रबंधन का समर्थन करना है। साल 2001 और 2018 के बीच, UN-WATER ने बताया कि सभी प्राकृतिक आपदाओं का 74 प्रतिशत जल से संबंधित था। मिस्र में हाल ही में संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन, COP27 ने सरकारों से अनुकूलन प्रयासों में जल को एकीकृत करने का आग्रह किया, पहली बार COP में जल के महत्त्व के परिणामों को दस्तावेज़ों में संदर्भित किया गया है। 6 अरब लोगों को प्रति वर्ष कम से कम एक महीने जल तक अपर्याप्त पहुँच है और वर्ष 2050 तक यह बढ़कर पाँच अरब से अधिक होने की उम्मीद है।

Noise ने विराट कोहली को बनाया नया ब्रांड एंबेसडर

भारत के प्रमुख कनेक्टेड लाइफस्टाइल टेक ब्रांड, नॉइज़ (Noise) ने विराट कोहली को अपनी स्मार्टवॉच के लिए अपना नया ब्रांड एंबेसडर बनाया है।

NPCI ने UPI वॉल्यूम कैप डेडलाइन को 2 साल के लिए दिसंबर 2024 तक बढ़ाया

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने यूपीआई यूज करने वाली थर्ड पार्टी ऐप्स कंपनियों को बड़ी राहत दे दी है। देश में मौजूद Google Pay, PhonePe, Paytm जैसे UPI भुगतान ऐप सहित अन्य ऐप पर लेन देन की सीमा को लिमिटेड करने के लिए एनपीसीआई ने समय सीमा बढ़ा दी। इसे 2 साल के लिए बढ़ाकर 31 दिसंबर 2024 तक टाल दिया गया है। नेशनल पेमेंट्स कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया के इस फैसले से गूगल पे (Google Pay) और वॉलमार्ट के फोनपे (PhonePe) जैसी थर्ड पार्टी ऐप प्रोवाइडर्स को सबसे बड़ी राहत मिल सकती है। बताते चलें कि भारतीय बाजार में गूगल पे और फोनपे की यूपीआई बेस्ड ट्रांजैक्शन में सबसे बड़ी हिस्सेदारी है। भारत में एपीसीआई (APCI) यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस यानी यूपीआई का संचालन करता है। भारत में आपसी लेनदेन या खरीदारी के समय तत्काल पेमेंट के लिए बड़े पैमाने पर UPI का इस्तेमाल किया जाता है। NPCI ने नवंबर, 2020 में इस तरह की सुविधाएं देने वाले थर्ड पार्टी ऐप के लिए यूपीआई के जरिए किए जाने वाले लेनदेन का केवल 30 प्रतिशत ही प्रबंधित करने की घोषणा की थी। ये लिमिट 1 जनवरी, 2021 से लागू होनी थी। हालांकि, 5 नवंबर, 2020 को ज्यादा हिस्सेदारी रखने वाले टीपीएपी को चरणबद्ध तरीके से लिमिट हासिल करने के लिए 2 साल का समय दिया गया।

इंग्लैंड मैच के पहले दिन 500 या उससे ज्यादा रन बनाने वाली पहली टीम बनी

इंग्लैंड (England) की टीम टेस्ट मैच के पहले दिन 500 या उससे ज्यादा रन बनाने वाली पहली टीम बनी। यह मैच पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया था। इंग्लैंड (England) ने पहले दिन का खेल खत्म होने के समय 75 ओवर में 4 विकेट पर 506 रन बनाए। इससे पहले टेस्ट मैच में पहले दिन सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलिया के नाम था। ऑस्ट्रेलिया ने 9 दिसंबर 1910 को सिडनी में साउथ अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच के पहले दिन 99 ओवर में 6 विकेट पर 494 रन बनाए थे।

भोपाल में राष्ट्रीय निशानेबाजी चैम्पियनशिप में मनु भाकर और सरबजोत सिंह की जोड़ी ने 10 मीटर एयर पिस्टल में मिश्रित टीम स्पर्धा का खिताब जीता

भोपाल में 65वीं राष्ट्रीय निशानेबाजी चैम्पियनशिप में हरियाणा के मनु भाकर और सरबजोत सिंह की जोड़ी ने 10 मीटर एयर पिस्टल में मिश्रित टीम स्पर्धा का खिताब जीता। मनु और सरबजोत की जोड़ी ने फाइनल में कर्नाटक की दिव्या टीएस और इमरोज़ की जोड़ी को 16-4 से हराकर स्वर्ण पदक जीता। सरबजोत ने व्यक्तिगत मुकाबले के स्वर्ण पदक मैच में वायु सेना के गौरव राणा को 16-4 से हराया। सरबजोत सिंह ने चैंपियनशिप में टीम स्पर्धा में शानदार प्रदर्शन करने के साथ व्यक्तिगत 10 मीटर एयर पिस्टल में भी शीर्ष स्थान हासिल कर दो स्वर्ण पदक जीते।

विश्व मृदा दिवस : 5 दिसंबर

विश्व मृदा दिवस हर साल 5 दिसंबर को मनाया जाता है और इसका उद्देश्य मिट्टी के महत्व को उजागर करना है। मिट्टी की खराब स्थिति के कारण मिट्टी का तेजी से कटाव हो रहा, जो दुनिया भर में एक गंभीर पर्यावरणीय मुद्दा बनता जा रहा। लगभग 45 साल पहले भारत में ‘मिट्टी बचाओ आंदोलन’ की शुरुआत की गई थी। इसका उद्देश्य लोगों का ध्यान मृदा संरक्षण और टिकाऊ प्रबंधन की ओर लाना है। मिट्टी के लिए जश्न मनाने की विश्व स्तर पर शुरुआत दिसंबर 2013 से हुई। जब संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 68वीं सामान्य सभा की बैठक के दौरान 5 दिसंबर को विश्व मृदा दिवस मनाने का फैसला लिया।

अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस : 5 दिसंबर

अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस, जिसे आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवी दिवस भी कहा जाता है, हर साल 5 दिसंबर को मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य स्वयंसेवकों और संगठनों के प्रयासों का जश्न मनाने और स्वयंसेवीवाद को बढ़ावा देने का अवसर प्रदान करना, स्वयंसेवी प्रयासों का समर्थन करने के लिए सरकारों को प्रोत्साहित करना और स्थानीय, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तरों पर सतत विकास लक्ष्यों (एसडीजी) की उपलब्धि के लिए स्वयंसेवी योगदान को मान्यता देना है । अंतर्राष्ट्रीय स्वयंसेवक दिवस पहली बार 1985 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा मनाया और अनिवार्य किया गया था।

अंतर्राष्ट्रीय चीता दिवस : 04 दिसंबर

हर साल 4 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय चीता दिवस के रूप में मनाया जाता है। चीता को विलुप्त होने से बचाने के बारे में लोगों की जागरूकता बढ़ाने के लिए यह दिन मनाया जाता है। भारत में अंतर्राष्ट्रीय चीता दिवस केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के सहयोग से राष्ट्रीय प्राणी उद्यान, नई दिल्ली (दिल्ली चिड़ियाघर) द्वारा मनाया गया। डॉ मार्कर ने 1991 में चीता संरक्षण कोष की स्थापना की और उन्होंने 2010 में 4 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय चीता दिवस के रूप में नामित किया। उस वर्ष से, दुनिया इस दिन को मना रही है।

अंतर्राष्ट्रीय बैंक दिवस : 04 दिसंबर

सतत विकास के वित्तपोषण में बहुपक्षीय और अंतर्राष्ट्रीय विकास बैंकों के महत्व को पहचानने के लिए 4 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय बैंक दिवस मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र भी सदस्य राज्य में जीवन स्तर में सुधार के लिए योगदान देने में बैंकिंग प्रणालियों की महत्वपूर्ण भूमिका को मान्यता देने के लिए यह दिन मनाता है। ‘अंतरराष्ट्रीय बैंक दिवस’ वर्ष 2030 तक सतत विकास लक्ष्यों (SDGs) को प्राप्त करने में बहुपक्षीय विकास बैंकों तथा अन्य अंतरराष्ट्रीय बैंकों के महत्वपूर्ण योगदान को दर्शाता है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने साल 2019 में, 4 दिसंबर को बैंकों के अंतर्राष्ट्रीय दिवस के रूप में नामित किया। यह 2020 में पहली बार मनाया गया।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2023 RajasthanGyan All Rights Reserved.