Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

7 March 2019

नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में अपनी गुजरात यात्रा के दौरान नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड (NCMC) लांच किया। इस कार्ड का उपयोग देश के सभी सार्वजनिक परिवहन माध्यमों में किया जा सकता है, इस कार्ड का उपयोग मेट्रो, बस, उपनगरीय रेलवे, टोल तथा पार्किंग के भुगतान के लिए किया जा सकता है, यह किसी क्रेडिट अथवा डेबिट कार्ड की भाँती कार्य करता है। नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड की परिकल्पना 2006 में राष्ट्रीय शहरी परिवहन नीति के तहत केन्द्रीय आवास व शहरी मामले मंत्रालय द्वारा की गयी थी। इस कार्ड को “एक देश – एक कार्ड” भी कहा जा रहा ।

सबसे कम उम्र की अरबपति बनीं काइली जेनर

काइली जेनर दुनिया की सबसे कम उम्र की अरबपति बन गईं हैं। काइली 21 साल की उम्र में कॉस्मेटिक कंपनी की मालकिन है। उनकी कंपनी 'काइलीकॉस्मेटिक्स' 360 मिलियन डॉलर की बिक्री करने में कामयाब रही है। काइली ने तीन साल पहले (साल 2016) अपनी कंपनी की शुरुआत की थी और फिलहाल कंपनी की वेल्यू 90 करोड़ डॉलर आंकी गई है। काइली से पहले ये खिताब फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के पास था। मार्क 23 साल की उम्र में सबसे कम उम्र के अरबपति बन गए थे। फोर्ब्स ने मंगलवार को 2153 लोगों की सूची जारी की। इस लिस्ट में अब भी सबसे अमीर अमेजन के सीईओ जेफ बेजोस ही हैं। उनकी कुल संपत्ति 131 अरब डॉलर है। अमीरों की लिस्ट में मुकेश अंबानी ने 6 पायदान ऊपर आते हुए 13वें स्थान पर जगह बनाई है। इस लिस्ट में काइला का नंबर 20,57 हैं।

स्वच्छता सर्वेक्षण / इंदौर तीसरी बार अव्वल

स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के लिए देश के सबसे स्वच्छ शहरों के नाम का ऐलान बुधवार को यहां राष्ट्रपति भवन में हुआ। इस सर्वे में इंदौर लगातार तीसरी बार अव्वल रहा है। सबसे स्वच्छ राजधानियों में भोपाल पहले स्थान पर है। 10 लाख से ज्यादा आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद और पांच लाख से कम आबादी वाले शहरों में उज्जैन ने बाजी मारी है। स्वच्छता सर्वेक्षण-2019 के तहत कुल 70 कैटेगरी में पुरस्कार दिए गए। सबसे स्वच्छ शहर के साथ ही स्टार रैकिंग और जीरो वेस्ट मैनेजमेंट का पुरस्कार भी इंदौर को मिला। वहीं, मध्यप्रदेश को कुल 19 पुरस्कार मिले हैं। सर्वेक्षण में टॉप करने के चलते इंदौर को सफाई के लिए अब विशेष अनुदान मिलेगा। पिछली बार 20 करोड़ रुपए इंदौर को मिला था।

प्रधानमंत्री मोदी ने गुजरात में विकास कार्यों का उद्घाटन किया

दो दिवसीय गुजरात यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कई विकास कार्यों का उद्घाटन किया - अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का पहला चरण, यह 6.5 किलोमीटर लम्बा चरण वस्त्राल को अपैरल पार्क एरिया से जोड़ता है। अहमदाबाद मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के दूसरे चरण की आधारशिला रखी गयी, यह प्रोजेक्ट मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम को गांधीनगर में महात्मा मंदिर से जोड़ेगा। उन्होंने नेशनल कॉमन मोबिलिटी कार्ड – NCMC लांच किया, यह “एक कार्ड – एक देश” स्वदेश स्वतः किराया संग्रहण प्रणाली पर आधारित है। अहमदाबाद सिविल हॉस्पिटल कैंपस में 1200 बिस्तरों के अल्ट्रा मॉडर्न सुपर स्पेशिलिटी हॉस्पिटल के नए भवन का उद्घाटन किया गया। अहमदाबाद सिविल हॉस्पिटल कैंपस में 590 बिस्तर के कैंसर हॉस्पिटल, 255 बिस्तर वाले चक्षु रोग हॉस्पिटल तथा 360 डेंटल चेयर के डेंटल हॉस्पिटल का उद्घाटन किया गया। 51 किलोमीटर लम्बी पाटन-बिंदी रेलवे लाइन का उद्घाटन डिजिटल रूप से मालगाड़ी को हरी झंडी दिखा कर किया गया। 78.8 किलोमीटर लम्बी आनंद-गोधरा रेलवे लाइन डबलिंग प्रोजेक्ट की आधारशिला रखी गयी। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री जन औषधि योजना तथा आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों को गोल्ड कार्ड्स वितरित किये।

जस्टिस एस. ए. बोबडे को नालसा का कार्यकारी चेयरमैन नामित किया गया

जस्टिस शरद अरविन्द बोबडे को भारतीय राष्ट्रीय कानूनी सेवा प्राधिकरण (नालसा) के कार्यकारी चेयरमैन के लिए मनोनीत किया गया। उन्हें नियुक्त करने के लिए राष्ट्रपति ने लीगल अथॉरिटीज एक्ट, 1987 के सेक्शन 3 के सब-सेक्शन (3) के क्लॉज़ (बी) का उपयोग किया जायेगा। वे जस्टिस ए.के. सिकरी की जगह लेंगे, जस्टिस सिकरी 6 मार्च को सेवानिवृत्त होंगे। नालसा कस्टडी में व्यक्ति को निशुल्क कानूनी सहायता उपलब्ध करवाता है। इसका गठन लीगल सर्विसेज अथॉरिटीज एक्ट, 1987 के तहत की गयी थी। यह नागरिक तथा आपराधिक मामलों में निर्धन व्यक्तियों को निशुल्क कानूनी सहायता उपलब्ध करवाता है।

इसरो ने लांच किया युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम

भारतीय अन्तरिक्ष अनुसन्धान संगठन (इसरो) ने युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम लांच किया, इसका उद्देश्य छात्रों को अन्तरिक्ष टेक्नोलॉजी, अंतिरक्ष विज्ञान तथा उपयोग के आधारभूत पहलुओं से परिचित करवाना है। युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम के लिए इसरो देश भर से 100 छात्रों को चुनेगा और उन्हें सैटेलाइट निर्माण की व्यवहारिक प्रक्रिया के बारे में बताया जायेगा। युवा वैज्ञानिक कार्यक्रम में दो सप्ताह के आवासीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा। इसका आयोजन ग्रीष्मकालीन अवकाश के दौरान किया जायेगा। इसरो देश के विभिन्न भागों में 6 इन्क्यूबेशन सेंटर्स की स्थापना करेगा, यह केंद्र होंगे – उत्तरी, दक्षिण, पूर्व, पश्चिम, मध्य तथा उत्तर-पूर्व। इन केन्द्रों में छात्र भी अनुसन्धान व विकास कार्य कर सकेंगे। इसके तहत पहले केंद्र की स्थापना त्रिपुरा के अगरतला में की गयी थी।

भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने देश भर में 22 जीपीएस स्टेशनों की स्थापना की

भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण ने देश भर में 22 जीपीएस स्टेशनों की स्थापना की। इन स्टेशनों का उपयोग भूकंप की दृष्टि से खतरनाक क्षेत्रों की पहचान करने के लिए किया जाएगा, इससे मानचित्रण गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। भूमिसंवाद : खनन मंत्रालय ने भू-वैज्ञानिकों, विश्वविद्यालय तथा महाविद्यालय के छात्रों के बीच संवाद के लिए भूमिसंवाद नामक एप्प लांच की। भारतीय भू-वैज्ञानिक सर्वेक्षण की स्थापना 1851 में की गयी थी, शुरू में इसकी स्थापना रेलवे के लिए कोयले के भंडार खोजने के लिए की गयी थी। वर्षों के पश्चात् अब GSI भूविज्ञान सूचना का एक विशाल भंडार बन गया है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय स्तर के भू-विज्ञानिक संगठन के रूप में उभर कर आया है।

भारत ने रमेश चंद को खाद्य व कृषि संगठन के लिए मनोनीत किया

भारत ने रमेश चंद को खाद्य व कृषि संगठन के लिए मनोनीत किया है। खाद्य व कृषि संगठन के महानिदेशक के पद पर चुने जाने के लिए उम्मीदवारको 194 सदस्यों में साधारण बहुमत प्राप्त करना होगा। खाद्य व कृषि संगठन का नेतृत्व करने वाले एकमात्र भारतीय बिनय रंजन सेन थे, वे 1956 से 1967 के बीच खाद्य व कृषि संगठन के महानिदेशक रहे। यह एक संयुक्त राष्ट्र की संस्था है, यह संयुक्त राष्ट्र आर्थिक व सामजिक परिषद् के अधीन कार्य करती है। इसकी स्थापना 16 अक्टूबर, 1945 को की गयी थी। इसका मुख्यालय इटली के रोम में स्थित है। शुरुआत में इसका मुख्यालय अमेरिका के वाशिंगटन में था, बाद में 1951 में इसे इटली के रोम में स्थानांतरित किया दिया गया। वर्तमान में इसके कुल 194 सदस्य हैं।

पी.वी. रमेश को राष्ट्रीय अभिलेखागार का महानिदेशक चुना गया

कैबिनेट नियुक्ति समिति ने हाल ही पी.वी. रमेश को राष्ट्रीय अभिलेखागार का महानिदेशक चुना गया। वर्तमान वे ग्रामीण विद्युतीकरण निगम के चेयरमैन व मैनेजिंग डायरेक्टर हैं। वर्तमान में राष्ट्रीय अभिलेखागार को संस्कृति मंत्रालय से जोड़ा गया है। इसके क्षेत्रीय कार्यालय भोपाल में स्थित है, इसके तीन रिकॉर्ड केंद्र जयपुर, पुदुचेरी तथा भुबनेश्वर में स्थित है।

लाला किले में आज़ादी के दीवाने संग्रहालय का उद्घाटन किया गया

दिल्ली में लाल किले में “आज़ादी के दीवाने” संग्रहालय का उद्घाटन किया गया, संग्रहालय क्रांति मंदिर श्रृंखला का हिस्सा है, इसका उद्देश्य युवा पीढ़ी को प्रेरित करना है और उन्हें आज़ादी के महत्व का अहसास करवाना है। इस संग्रहालय का निर्माण भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण द्वारा किया गया है। इस संग्रहालय के द्वारा उन सैंकड़ों स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजली दी गयी है जिनके बारे में लोग काफी कम जानते हैं। क्रांति मंदिर श्रृंखला के द्वारा भारत के महान स्वतंत्रता सेनानियों के शौर्य व अदम्य साहस को सम्मान दिया जा रहा है। क्रांति मंदिर श्रृंखला के अन्य संग्रहालय इस प्रकार हैं : नेताजी सुभाष चन्द्र बोस संग्रहालय, याद-ए-जलियाँ संग्रहालय तथा 1857-भारत की स्वतंत्रता की पहली लड़ाई पर संग्राहलय। इनका उद्घाटन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर किया था।

हिंदी और इंग्लिश सिखाने के लिए गूगल ने लॉन्च किया Bolo एप

गूगल ने बुधवार को नया एप 'बोलो' लॉन्च किया है। यह एप प्राइमरी स्कूल के बच्चों को हिंदी और अंग्रेजी पढ़ना सीखने में मदद करेगा। साथ ही बच्चों के उच्चारण संबंधी दोष भी ठीक करेगा। बोलो एप में गूगल के स्पीच रिकॉगनिशन और टेक्स्ट टू स्पीच टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया गया है। गूगल ने इस एप को सबसे पहले भारत में लॉन्च किया है। यह एप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।

अगले साल ड्राइवरलेस ट्रेन लॉन्च करेगा चीन

चीन ने 2020 तक 200 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली चालक रहित मैग्लेव ट्रेन चलाने की योजना तैयार की है। ट्रेन तैयार करने में जुटी सीआरआरसी जुंगझो लोकोमोटिव कंपनी का कहना है कि परिचालन शुरू होने के बाद यह चीन की सबसे तेज कमर्शियल मैग्लेव ट्रेन होगी। मैग्लेव ट्रेन 600 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार हासिल कर सकती है। अधिकतम गति होने पर ट्रेन जमीन से 10 सेमी ऊपर उठ जाती है। मैग्नेटिक (चुंबकीय) लेविएशन को मैग्लेव और मैग्नेटिक सस्पेंशन के नाम से भी जाना जाता है। इसमें कोई भी चीज केवल मैग्नेटिक फील्ड के सहारे एक जगह से दूसरी जगह पर जाती है। उसे किसी भी तरह की गति देने के लिए मैग्नेटिक फोर्स का ही इस्तेमाल किया जाता है।

तृणमूल कांग्रेस का नया लोगो जारी हुआ

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले तृणमूल कांग्रेस ने पार्टी का नया लोगो जारी कर दिया है। बताया जाता है कि नीले व सफेद रंग की छटा को समाहित करते हुए नया लोगो पार्टी प्रमुख व सीएम ममता बनर्जी की मस्तिष्क की उपज है जिसे उनके सांसद भतीजे अभिषेक बनर्जी और उनकी टीम ने नया रंग रूप देने का काम किया है। नया लोगो जारी होने के फौरन बाद ही ममता बनर्जी समेत पार्टी के कई छोटे-बड़े नेताओं ने सोशल मीडिया पर इसे अपना प्रोफाइल फोटो बना लिया है।

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on