Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

27 March 2020

सरकार ने कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए एक लाख 70 हजार करोड रूपये के प्रधानमंत्री गरीब कल्याण राहत पैकेज की घोषणा की

सरकार ने कोविड-19 से प्रभावित प्रवासी मजदूरों और गरीबों के लिए एक लाख 70 हजार करोड़ रूपये के राहत पैकेज की घोषणा की है। नई दिल्‍ली में संवाददाता को संबोधित करते हुए वित्‍त मंत्री सीतारामन ने बताया कि कोरोना के मुकाबले में लगे विभिन्‍न वर्ग के लोगों के लिए तीन महीने के लिए 50 लाख रूपये का बीमा भी कराया जाएगा। इनमें चिकित्‍सक, पैरा मेडीकर्मी, स्‍वास्‍थ्यकर्मी, सफाई कर्मचारी और आशा कार्यकर्ता शामिल है। वित्‍तमंत्री ने बताया कि -

  1. ‘कोविड-19’ से लड़ने वाले प्रत्‍येक स्वास्थ्य कर्मी को बीमा योजना के तहत 50 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान किया जाएगा
  2. 80 करोड़ गरीबों को अगले तीन महीने तक हर माह 5 किलो गेहूं या चावल और पसंद की 1 किलो दालें मुफ्त में मिलेंगी(पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना)
  3. 20 करोड़ महिला जन धन खाता धारकों को अगले तीन महीने तक हर माह 500 रुपये मिलेंगे
  4. मनरेगा के तहत मजदूरी को 182 रुपये से बढ़ाकर 202 रुपये प्रति दिन कर दिया गया है, 13.62 करोड़ परिवार लाभान्वित होंगे
  5. 3 करोड़ गरीब वरिष्ठ नागरिकों, गरीब विधवाओं और गरीब दिव्‍यांगजनों को 1,000 रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी
  6. सरकार वर्तमान ‘पीएम किसान योजना’ के तहत अप्रैल के पहले सप्ताह में किसानों के खाते में 2,000 रुपये डालेगी, 8.7 करोड़ किसान लाभान्वित होंगे
  7. केंद्र सरकार ने निर्माण श्रमिकों को राहत देने के लिए राज्य सरकारों को ‘भवन और निर्माण श्रमिक कल्याण कोष’ का उपयोग करने के आदेश दिए हैं
  8. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत मुफ्त सिलेंडर दिया जायेंगे। इससे गरीबी रेखा से नीचे के लगभग 8.3 करोड़ परिवारों को फायदा होगा।

जी-20 देश 5 लाख करोड़ डॉलर का निवेश करेंगे

कोरोनावायरस महामारी के बीच जी-20 देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सुझाव पर यह आपात बैठक बुलाई गई थी। समिट के दौरान जी-20 देशों ने कोरोना संकट से निपटने के लिए वैश्विक अर्थव्यवस्था में 5 लाख करोड़ डॉलर का निवेश का फैसला लिया। इसे संगठन के मौजूदा अध्यक्ष सऊदी अरब के किंग मोहम्मद बिन सलमान हैं।

NBT ने #StayHomeIndiaWithBooks पहल की कि शुरूआत

नेशनल बुक ट्रस्ट ने देश में लोगों को घर पर रहने के दौरान किताबें पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए #StayHomeIndiaWithBooks पहल का शुभारंभ किया है। यह पहल Covid-19 को फैलने से रोकने के लिए एक निवारक उपाय के रूप में शुरू किया गया है। इस पहल के तहत 100 से अधिक किताबें एनबीटी की वेबसाइट(https://nbtindia.gov.in/) से डाउनलोड की जा सकती हैं। नेशनल बुक ट्रस्ट की स्थापना सरकार ने 1957 में की गयी थी। यह मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अधीन उच्च शिक्षा विभाग के तहत कार्य करती है।

ओडिशा सरकार ने मो जीबन कार्यक्रम का किया शुभारंभ

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ओडिशा में मो जीबन कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मो जीबन कार्यक्रम की शुरूआत COVID-19 महामारी की रोकथाम करने के लिए की गई है। मो जीबन कार्यक्रम के माध्यम से ओडिशा के मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों से घर के अंदर रहने का संकल्प लेने का आग्रह किया। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि अगर लोग अपने घर से बाहर जाएंगे, तो वे घर पर कोरोनावायरस ला सकते हैं जो उनके परिवार को प्रभावित करेगा। इसके अलावा उन्होंने लोगो से अपने घर में प्रवेश करने से पहले ओडिशा के लोगों से कम से कम 20 सेकंड के लिए हाथ धोने का आग्रह किया।

आयुध निर्माणी बोर्ड ने COVID-19 से निपटने के लिए कारखानों में लगाए 285 बेड

आयुध निर्माणी बोर्ड (ओएफबी) ने कोरोनावायरस (COVID-19) के मामलों को आइसोलेशन वार्डों में रखने के लिए 285 बेड लगाए हैं। जबलपुर की यान फैक्ट्री के अस्पतालों में चालीस बेड, मेटल एंड स्टील फैक्ट्री इशापोर, गन एंड शेल फैक्ट्री कोसीपोर, गोला बारूद फैक्ट्री खड़की, ऑर्डनेंस फैक्ट्री कानपुर, ऑर्डिनेंस खमरिया, ऑर्डनेंस फैक्ट्री अंबाझरी में प्रत्येक में तीस-तीस बेड, ऑर्डनेंस फैक्ट्री अंबरनाथ में 25 बेड और हेवी व्हीकल फैक्ट्री अवधी और ऑर्डनेंस फैक्ट्री मेडक में बीस-बीस बेड लगाए गए हैं।

IMF ने देशों की प्रमुख आर्थिक प्रतिक्रियाओं पर निगरानी रखने के लिए पॉलिसीस ट्रैकर किया लॉन्च

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष ने निगरानी रखने के लिए Tracker of Policies Governments are Taking in Response to COVID-19 लॉन्च किया है। इस ट्रैकर के जरिए IMF COVID-19 महामारी को रोकने के लिए विभिन्न देशों की सरकार द्वारा की जा रही प्रमुख आर्थिक प्रतिक्रियाओं की प्रगति देखेगा। इस पॉलिसी ट्रैकर में 24 मार्च, 2020 तक का नवीनतम डेटा है।

ARCI ने आंतरिक दहन इंजन की ईंधन दक्षता में सुधार करने के लिए तकनीक विकसित की

भारत सरकार के विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग के अधीन कार्यरत इंटरनेशनल एडवांस्ड सेंटर फ़ॉर पाउडर मेटलर्जी एंड न्यू मैटेरियल्स (ARCI) ने आंतरिक दहन इंजनों (Internal Combustion Engine) की ईंधन दक्षता में सुधार करने के लिए एक तकनीक विकसित की है। यह तकनीक इंजनों में घर्षण को कम करके ईंधन दक्षता में सुधार करती है। यह कार्य लेजर सरफेस माइक्रो-टेक्सचरिंग द्वारा किया जाता है। इस तकनीक में सूक्ष्म-सतह बनावट की आकृति, घनत्व और आकार को नियंत्रित करके घर्षण को नियंत्रित किया जाता है। यह बनावट आंतरिक दहन इंजन के घटकों जैसे सिलेंडर लाइनर और पिस्टन रिंग पर बनाई गई है। इस मॉडल को ARCI लैब में अलग-अलग गति, लुब्रिकेशन आयल और कूलैंट के विभिन्न तापमान पर भी टेस्ट किया गया है।

माइक्रोसॉफ्ट और अमेरिका के CDC ने AI बॉट 'Clara' बनाने के लिए मिलाया हाथ

अमेरिका के रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (Centers for Disease Control and Prevention) ने COVID-19 के संभावित लक्षणों की जाँच करने में लोगों की मदद करने के लिए 'Clara' नाम का एक नया एआई बॉट शुरू किया है। CDC ने Clara को बनाने के लिए CDC Foundation और Microsoft Azure’s Healthcare Bot सेवा के साथ साझेदारी की है, वर्तमान में "coronavirus self-checker" बॉट केवल US में CDC की वेबसाइट पर उपलब्ध है। माइक्रोसॉफ्ट के अनुसार, यह बॉट संक्रमण के बारे में चिंतित लोगों के लिए लक्षणों और जोखिम कारकों का शीघ्रता से पता लगाने, जानकारी प्रदान करने और अगले कदम का सुझाव देने में सक्षम है जिसमे चिकित्सक से संपर्क करना या, जिन्हें इन-पर्सन चिकित्सा देखभाल की आवश्यकता नहीं है, उनके लिए घर पर बीमारी के इलाज सुरक्षित प्रबंधन करना शामिल है। बॉट का उद्देश्य उपयोगकर्ताओं को यह सुनिश्चित करने में मदद करेगा कि उन्हें परीक्षण की आवश्यकता है या नहीं, ताकि जिससे इस प्रकार के संसाधनों को मुक्त रखा जा सके है।

केंद्रीय कैबिनेट ने राशन की दुकानों को सब्सिडाइज्ड अनाज की अतिरिक्त आपूर्ति को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राशन की दुकानों के माध्यम से खाद्यान्न की अतिरिक्त आपूर्ति को मंजूरी दी। सब्सिडी वाले खाद्यान्न का मासिक कोटा 2 किलोग्राम बढ़ाकर 7 किलोग्राम किया जायेगा। यह कदम लॉकडाउन के दौरान लोगों की मदद के लिए उठाया गया है। भारत सरकार ने लॉक डाउन के दौरान प्रति व्यक्ति 7 किलोग्राम अनाज प्रदान करने का निर्णय लिया है। इससे देश के 80 करोड़ से ज्यादा लोगों को फायदा होगा। साथ ही, खाद्यान्न रियायती दरों पर उपलब्ध कराया जायेगा। गेहूं की कीमत 27 रुपये प्रति किलो है और अब इसे 2 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बेचा जायेगा। चावल की कीमत लगभग 32 रुपये प्रति किलोग्राम है और इसे 3 रुपये प्रति किलोग्राम के हिसाब से बेचा जायेगा। वर्तमान में, भारत सरकार राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत रियायती दरों पर खाद्यान्न उपलब्ध करा रही है।

मिसिंग इन एक्शन: द प्रिजनर्स हू नेवर नेम बैक नामक पुस्तक की गई लॉन्च

वरिष्ठ पत्रकार चंदर सुता डोगरा ने “Missing in Action: The Prisoners Who Never Came Back” नामक एक पुस्तक लॉन्च की है। इसे हार्परकोलिन द्वारा प्रकाशित किया गया है। ये वर्तमान में आउटलुक में एक वरिष्ठ पत्रकार के रूप में कार्यत हैं, और जो द हिंदू और इंडियन एक्सप्रेस जैसे बड़े मीडिया में काम कर चुकी है। यह पुस्तक 1965 और 1971 के भारत-पाक युद्धों के मिशन के दौरान लापता भारतीय सैनिकों से संबोधित होती है और जिसमे यह भी पता लगाने का प्रयास किया जाता है कि उनके साथ क्या हुआ, जिसके बाद इस बात पर बहस शुरू होने के आसार है कि सैनिकों को अक्सर सरकारों द्वारा मोहरे के रूप में कैसे इस्तेमाल किया जाता है।

कैबिनेट ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के पुनर्पूंजीकरण को मंज़ूरी दी

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों (RRB – Regional Rural Banks) पुनर्पूंजीकरण (recapitalization) को पूंजीगत जोखिम भारित संपत्ति अनुपात में सुधार करने के लिए पुनर्पूंजीकरण (recapitalization) को मंजूरी दी। क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के पुनर्पूंजीकरण की निरंतरता को मंजूरी दी गयी है। इसके लिए भारत सरकार ने 2020-21 के लिए न्यूनतम नियामक पूंजी प्रदान की है। पुनर्पूंजीकरण राशि उन बैंकों को आवंटित की जा रही है जो 9% की न्यूनतम CRAR (Capital to Risk weighted Assets Ratio) को बनाए रखने में असमर्थ हैं। भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा बैंकों के लिए CRAR तय किया जाता है।

एम्स अपने रोगियों के लिए शुरू करेगा टेली-परामर्श सुविधा

नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने गैर-कोविड-19 रोगियों के लिए टेली-परामर्श की सुविधा की शुरूआत करने का फैसला लिया है। टेली-परामर्श सुविधा शुरू करने का निर्णय एम्स द्वारा अपने नियमित रोगियों के लिए लिया गया है। हाल ही में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने कोविड -19 को फैलाने से रोकने के उपाय के लिए किए गए लॉकडाउन के चलते अन्य चिकित्सा सुविधाओं के साथ-साथ बाह्य-रोगी विभाग (OPD) को बंद कर दिया गया था। अब वे रोगी जिनकी अपॉइंटमेंट लॉकडाउन के कारण रद्द हो गई है और साथ ही पुराने रोगी अब इस सुविधा के माध्यम से डॉक्टरों से परामर्श करने में सक्षम होंगे।

सिक्किम के ग्लेशियर हिमालय के अन्य हिस्सों की तुलना में तेजी से पिघल रहे हैं : अध्ययन

वाडिया इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालयन जियोलॉजी, देहरादून के वैज्ञानिकों ने हाल ही में पाया है कि सिक्किम में ग्लेशियर अन्य हिमालयी क्षेत्रों की तुलना में तेज़ी से पिघल रहे हैं। यह संस्थान विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के तहत हिमालय के भूविज्ञान के अध्ययन के लिए एक स्वायत्त अनुसंधान संस्थान है। ‘साइंस ऑफ द टोटल एनवायरनमेंट’ में प्रकाशित किए गए अध्ययन से ज्ञात हुआ है कि सिक्किम में ग्लेशियर 1991 से 2015 तक काफी तेज़ी से कम हुए हैं। सिक्किम में जलवायु परिवर्तन के कारण छोटे आकार के ग्लेशियर समाप्त हो रहे हैं बड़े ग्लेशियर छोटे हो रहे हैं।इस अध्ययन में 1991 से 2015 के बीच 23 ग्लेशियरों और उनके प्रसार का आकलन किया गया है। इस अध्ययन के अनुसार बड़े ग्लेशियर आकार में छोटे हो रहे हैं और छोटे ग्लेशियर समाप्त हो रहे हैं। वर्ष 2000 के बाद से, पश्चिमी और मध्य हिमालय के ग्लेशियरों के पिघलने की दर कम हुई। जबकि सिक्किम के ग्लेशियरों के पिघलने की दर बढ़ी है।

केन्द्रीय कैबिनेट ने भारत और जर्मनी के बीच ज्ञापन समझौते को मंज़ूरी दी

प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और जर्मनी के बीच ज्ञापन समझौते को मंज़ूरी दी। इस ज्ञापन समझौते पर रेल मंत्रालय और जर्मनी के डीबी इंजीनियरिंग एंड कंसल्टिंग GmbH के बीच हस्ताक्षर किए गए थे। इस ज्ञापन समझौते पर फरवरी, 2020 में हस्ताक्षर किए गए थे। यह समझौता रेलवे क्षेत्र में तकनीकी सहयोग की सुविधा प्रदान करेगा। इस ज्ञापन समझौते के तहत तकनीकी सहयोग से ऑटोमोटिव ट्रांसपोर्ट, क्रॉस-बॉर्डर ट्रांसपोर्ट और लॉजिस्टिक्स सहित माल ढुलाई में सुविधा होगी। यह बुनियादी ढांचे के निर्माण में भी मदद करेगा। इसमें नए समर्पित फ्रेट कॉरिडोर और नई यात्री रेलगाड़ियों का निर्माण शामिल है।

अघारकर अनुसंधान संस्थान ने नई बायोफोर्टिफाइड उच्च प्रोटीन युक्त गेहूं की किस्म विकसित की

विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग के तहत पुणे के अघारकर अनुसंधान संस्थान (ARI) के वैज्ञानिकों ने एक बायोफोर्टिफाइड हाई-प्रोटीन गेहूं किस्म MACS 4028 विकसित की है। यह शोध इंडियन जर्नल ऑफ जेनेटिक्स में प्रकाशित हुआ है। यह सामान्य गेहूं की किस्मों के मुकाबले कई कीटों और रोगों के लिए प्रतिरोधी है। इस नई गेहूं की किस्म में 14.7% बेहतर पोषण गुणवत्ता, 40.3 पीपीएम लौह सामग्री और उच्च मिलिंग गुणवत्ता है। यह किस्म 102 दिनों में परिपक्व हो जाती है। इसमें 19.3 क्विंटल प्रति हेक्टेयर की उच्च उपज क्षमता है।

फ्लिपकार्ट और अमेज़न ने अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से बंद किया

ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट और अमेज़न ने देश में लॉक डाउन के बाद अपनी सेवाओं को अस्थायी रूप से बंद कर दिया है। फ्लिपकार्ट ने अपनी सेवाओं को पूरी तरह से बंद कर दिया है, जबकि अमेज़न केवल लंबित ऑर्डर्स का पालन करेगी। अमेज़न ने अस्थायी रूप से नए आर्डर लेना बंद कर दिया है। सभी प्रकार किराने की वस्तुओं की डिलीवरी भी निलंबित की जाएगी। गृह मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार आवश्यक सेवाओं से सम्बंधित काम करने वाली सरकारी संस्थाएं लॉक डाउन के बावजूद भी काम करती रहेंगी।

देश में कोविड-19 से संक्रमित लोगो के लिए क्‍वारंटीन गृह व्यवस्था शुरू

असम सरकार ने गुवाहाटी में करीब एक हजार बिस्‍तरों वाले क्‍वारंटीन गृह का निर्माण शुरू कर दिया है। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हेमन्‍त बिस्‍व सरमा ने बताया कि सारूसजाई स्‍टेडियम में तीन से चार दिन में ये काम पूरा हो जाएगा। उन्‍होंने कहा कि अगर कोई कोविड-19 से संक्रमित पाया गया तो उसे और उसके परिवार के सदस्‍यों को क्‍वारंटीन गृह में रखा जाएगा और राज्‍य सरकार उसकी देखभाल करेगी। अब तक असम में इस वायरस से संक्रमण का एक भी मामला नहीं है।

ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्‍स में कोविड-19 वायरस के संक्रमण की हुई पुष्टि

ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्‍स में कोविड-19 वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है। उनके कार्यालय ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा है कि उनमें बीमारी के मामूली संक्रमण के लक्षण पाए गए हैं, लेकिन वे स्‍वस्‍थ हैं। लेकिन उनकी पत्‍नी में संक्रमण की पुष्टि नहीं हुई है। दोनों इन दिनों स्‍कॉटलैंड में खुद ही आइसोलेशन में रह रहे हैं। 71 वर्ष के प्रिंस चार्ल्‍स ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के सबसे बड़े पुत्र हैं और सिंहासन के उतराधिकारी है।

बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा निम्मी का निधन

अपने जमाने की मशहूर अदाकारा निम्मी का लंबी बीमारी के बाद 88 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने अपने फिल्मी सफर की शुरुआत राजकपूर निर्देशित ‘बरसात’ से की थी। ‘जिया बेकरार है आई बहार है’, ‘बरसात में तुमसे मिले हम सजन’, ‘दिल का दिया जला कर गया’.. जैसे कालजयी गीतों को पर्दे पर जीवंत करने वाली निम्मी ने बॉलीवुड में फिल्मी स्टाइल में कदम रखा था। 1950 से 60 के दौरान उनका स्टारडम था। उन्होंने ‘बरसात’, ‘आन’, ‘सजा’, ‘उड़न खटोला’, ‘दाग’, ‘भाई-भाई’, ‘मेरे महबूब’, ‘कुंदन’ जैसी यादगार फिल्मों में काम किया। आगरा में जन्मी निम्मी का असली नाम नवाब बानो था।

पूर्व भारतीय फुटबॉलर अब्दुल लतीफ का निधन

पूर्व भारतीय फुटबॉलर अब्दुल लतीफ का निधन। वह 1970 के बैंकाक एशियाई खेलों में ट्रॉफी जीतने वाली टीम के प्रमुख सदस्य थे। उन्होंने 1968 में एशिया कप क्वालीफायर में म्यांमार में और 1969 में कुआलालंपुर में मर्डेका कप में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने 1963-1967 तक मोहम्मडन स्पोर्टिंग का प्रतिनिधित्व किया और बाद में कोच बनकर ट्रेनिग दी।

"एस्टेरिक्स और ओबेलिक्स" के निर्माता अल्बर्ट उडेरो का निधन

Asterix और Obelix कॉमिक्स के सह-निर्माता अल्बर्ट उडेरो का निधन। अल्बर्ट उडेरजो ने साल 1959 में फ्रांस के अपने साथी और लेखक रेने गोसनी के साथ मिलकर एस्टेरिक्स का निर्माण किया। एस्टेरिक्स और ओबेलिक्स ने पिछले 60 वर्षों से अपने दर्शकों का मनोरंजन करता आ रहा है। एस्टेरिक्स द गॉल पहली एस्टरिक्स किताब थी जिसे 1961 में लॉन्च किया गया था और जो रातोंरात सनसनी बन गई थी। पिछले साल जारी की गई एस्टेरिक्स एंड द चीटरन्स डॉटर की लगभग 1.6 मिलियन प्रतियां बिकने के बाद यह बेस्ट-सेलर की सूची में शीर्ष पर पहुँच गई थीं।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.