Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

6 April 2020

प्रधानमंत्री ने पूर्व-राष्ट्रपतियों और प्रधानमंत्रियों से कोरोना महामारी के खिलाफ संघर्ष में साथ आने को कहा

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कोविड-19 से संबंधित मामलों पर पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी और प्रतिभा पाटिल से बातचीत की। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और एच डी देवगौड़ा से भी महामारी के बारे में संवाद किया। प्रधानमंत्री ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्यमंत्री और बीजू जनता दल अध्यक्ष नवीन पटनायक से भी बातचीत की। इसके अलावा श्री मोदी ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री और तेलंगाना राष्ट्र समिति अध्यक्ष के चंद्रशेखर राव, द्रविड़ मुनेत्र कषगम के नेता एम के स्टालिन तथा अकाली दल प्रमुख प्रकाश सिंह बादल के साथ भी संवाद किया।

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद ने कोविड-19 के लिए रैपिड एंटी बॉडी आधारित खून की जांच के नये नियम जारी किये

केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय ने देश में कुल 20 COVID-19 हॉटस्पॉट्स की पहचान की है। हालांकि देश में अभी सामुदायिक प्रसार नहीं हुआ हैं। इसके अलावा 22 संभावित हॉटस्पॉट्स की पहचान की गई है। इन हॉटस्पॉट्स की पहचान के बाद ICMR (भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद) को इन क्षेत्रों में कार्रवाई करने के लिए कहा गया है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद-आई.सी.एम.आर. ने स्वास्थ्यकर्मियों के लिए नये नियम जारी किये हैं ताकि कोविड-19 की जांच रैपिड एंटीबॉडी आधारित खून के नमूने से शुरू की जा सके। परिषद ने उन क्षेत्रों के लिये नई रणनीति बनाई है जहां कोविड-19 के मरीज बड़ी संख्या में सामने आ रहे हैं। इन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में प्रवासी लोगों की मौजूदगी वाले स्थान और विदेशों से लाये जा रहे लोगों को रखने के केन्द्र शामिल हैं। आई.सी.एम.आर ने सभी जांच परिणामों का ब्यौरा मांगा है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि इन मामलों की निगरानी की जा रही है और आवश्यक कदम उठाये गये हैं। इन नियमों का उल्लंघन करने वाले व्यक्ति पर आपदा प्रबंधन कानून-2005 के तहत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

भारत बायोटेक COVID-19 के लिए इंट्रानैजल वैक्सीन विकसित करेगा

भारत बायोटेक ने विस्कॉन्सिन और मैडिसन विश्वविद्यालय के वायरोलॉजिस्ट्स के साथ मिलकर COVID-19 के लिए कोरोफ्लू नामक एक नए टीके का विकास और परीक्षण शुरू कर दिया है। इस टीके विकास एम2एसआर वैक्सीन के साथ विकसित किया जायेगा। एम2एसआर वैक्सीन का इस्तेमाल फ्लू के खिलाफ किया जाता है। एम2एसआर इन्फ्लूएंजा वायरस का एक आत्म-सीमित संस्करण है। यह फ्लू के खिलाफ प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया को प्रेरित करता है। यह टीका कोरोना वायरस के खिलाफ प्रतिरक्षा को प्रेरित करेगा। इस प्रक्रिया में तीन से छह महीने लगने की उम्मीद है। भारत बायोटेक इस वैक्सीन की लगभग 300 मिलियन खुराक का निर्माण करेगी। इस खुराक को दुनिया भर में वितरित किया जायेगा।

रेलवे ने कम लागत वाला वेंटीलेटर प्रोटोटाइप बनाया

रेल कोच फैक्ट्री, कपूरथला ने ‘JEEVAN’ नामक एक कम लागत वाला ऊर्जा कुशल वेंटिलेटर बनाया है। यह वेंटिलेटर अन्य वेंटिलेटरों के मुकाबले बहुत सस्ता है। इस प्रोटोटाइप का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने से पहले ICMR द्वारा इसका परीक्षण किया जायेगा। बिना कंप्रेसर के इस मशीन की कीमत लगभग 10,000 रुपये है। वेंटिलेटर में एक एयर कंटेनर होता है जिसे डिवाइस का ह्रदय माना जाता है। यह वेंटिलेटर कार्य करते समय शोर नही करता। यह लिंक मैकेनिज्म, सर्वो मोटर या पिस्टन तंत्र का उपयोग नहीं करता है। इसके अलावा, डिजाइन को शुरुआत से बनाया गया था न कि रिवर्स इंजीनियरिंग से। यह डिज़ाइन माइक्रोप्रोसेसर आधारित है। इस डिजाइन में भारतीय पुर्जों का उपयोग किया गया है। इसके प्रमुख पुर्जों को लाने के लिए आपातकालीन पारगमन सेवाओं का उपयोग किया गया था। इसके लिए नोएडा से वाल्व और ओखला से कॉन्ट्रिब्यूशन कंट्रोलर को लाया गया है। वेंटिलेटर के बौद्धिक संपदा अधिकारों का स्वामित्व रेल कोच फैक्ट्री, कपूरथला के पास होगा।

Bione ने COVID-19 के लिए भारत की पहली होम स्क्रीनिंग टेस्ट किट लॉन्च की

बंगलूरू की कंपनी बायोन ने भारत का पहला कोविड-19 होम टेस्ट किट, रैपिड कोविड-19 एट-होम स्क्रीनिंग टेस्ट किट पेश किया है जिसकी मदद से आप घर पर ही कोरोना वायरस का टेस्ट कर सकते हैं। इस उपलब्धि को हासिल करने वाली यह भारत की पहली हेल्थकेयर कंपनी बन गई है।

ट्रंप ने मोदी से किया क्लोरोक्विन दवा भेजने का आग्रह

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोरोना वायरस के इलाज में कारगर मलेरिया की दवा हाइड्राक्सी क्लोरोक्विन दवा भेजने का आग्रह किया है। ज्ञात हो, अपने देश में कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच भारत ने इस दवा के निर्यात पर रोक लगा दी है।

मालदीव को 6.2 मिलियन टन आवश्यक दवाएं प्रदान की गयी

भारतीय वायु सेना ने हाल ही में ऑपरेशन संजीवनी के तहत मालदीव को 6.2 मिलियन टन आवश्यक दवाएं मुहैया करवाई। भारतीय वायु सेना ने हरक्यूलिस C-130J विमान के द्वारा का परिवहन किया। इन दवाओं में लोपिनवीर, रीटनवीर और इन्फ्लूएंजा के टीके शामिल हैं। इन दवाओं के अलावा भारतीय वायुसेना ने नेबुलाइज़र, कैथेटर, यूरिन बैग और फीडिंग ट्यूब भी डिलीवर किये।

इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए तीन योजनाएं शुरू की गईं

भारत सरकार ने देश में इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण को बढ़ावा देने के लिए तीन प्रोत्साहन योजनाएं शुरू की हैं। जब कोई कंपनी इलेक्ट्रॉनिक उत्पादों पर बिक्री बढ़ाती है, तो यह योजना 4% से 6% तक प्रोत्साहन राशि प्रदान करेगी। इस योजना के तहत कुल 48,000 करोड़ रुपये रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी। योग्य कंपनियां 1 अगस्त, 2020 से प्रोत्साहन राशि के लिए अपना प्रस्तुत कर सकेंगी। इसमें शामिल योजनायें निम्नलिखित हैं :
Production Linked Incentive Scheme : यह यह तीनों योजनाओं में सबसे बड़ी योजना है। इस योजना के तहत वृद्धिशील बिक्री वाले इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों पर 4% से 6% प्रोत्साहन राशि प्रदान की जायेगी। इसमें प्रिंटेड सर्किट बोर्ड्स, फोटोपॉलिमर फिल्म, मार्किंग और पैकेजिंग यूनिट्स जैसे इलेक्ट्रॉनिक उत्पाद शामिल हैं।
EMC 2.0 (Electronics Manufacturing Clusters 2.0) : इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन कंपनियों को सहायता प्रदान करना है जो इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में विश्व स्तरीय बुनियादी ढाँचे का निर्माण कर रही हैं। यह योजना इलेक्ट्रॉनिक्स 2019 के लिए राष्ट्रीय नीति (National Policy for Electronics 2019) के तहत शुरू की गई है। इसका उद्देश्य भारत को मोबाइल विनिर्माण का वैश्विक केंद्र बनाना है।
SPECS (Scheme for Promotion of Manufacturing of Electronics Components and Semiconductors) : यह योजना इलेक्ट्रॉनिक्स प्लांट, उपकरण, मशीनरी, प्रौद्योगिकी आदि की स्थापना पर खर्च की गई पूंजी के 25% प्रोत्साहन राशि प्रदान करती है।

भारत, एशियाई विकास बैंक और AIIB से 6 बिलियन डालर का ऋण प्राप्त करेगा

विश्व बैंक ने COVID-19 के खिलाफ लड़ने के लिए भारत को 1 बिलियन डालर प्रदान किये हैं। COVID-19 मामलों में वृद्धि के साथ, भारत ने ADB और AIIB से 6 बिलियन डालर का ऋण लेने का निर्णय लिया है। भारतीय अर्थव्यवस्था को 21 दिनों के लॉक डाउन के कारण काफी नुकसान होगा। एशियाई विकास बैंक ने अनुमान लगाया है कि वित्त वर्ष 2020-21 में भारत की विकास दर 4% रहेगी। फिच रेटिंग्स ने 5.1% के शुरुआती पूर्वानुमान से भारत की विकास दर को 2% तक घटा दिया है। देश में COVID-19 मामलों की संख्या बढ़ने के साथ, भारत को वर्तमान में अपनी परीक्षण संख्या बढ़ाने की आवश्यकता है। इसके साथ ही, भारत को अर्थव्यवस्था को चालू रखने के लिए अपनी आर्थिक गतिविधियों पर भी ध्यान केंद्रित करना होगा। हालाँकि भारत सरकार ने कई पहलें शुरू की हैं, लेकिन देश के लाखों लोगों को स्वास्थ्य सहायता प्रदान करने के लिए धन की काफी अधिक आवश्यकता है।

सिविल सेवा संघ ने COVID -19 से लड़ने के लिए 'करुणा' पहल शुरू की

भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS) और भारतीय पुलिस सेवा (IPS) सहित केंद्रीय सिविल सेवा के अधिकारियों का प्रतिनिधित्व करने वाले संघों ने कोरोना वायरस (COVID-19) के खिलाफ लड़ाई के प्रयास में सरकार की सहायता के लिए 'Caruna [Civil Services Associations Reach to Support in Natural Disasters]' नामक पहल की है। स्वास्थ्य मंत्रालय और mygovindia और केंद्र और राज्य सरकारों द्वारा गठित कार्य बलों के साथ आवश्यक जानकारी साझा करने के अलावा, यह पहल वास्तविक समय के आधार पर सरकार की पहल का समर्थन करने में भी मदद करेगी।

सामाजिक उद्यमिता 2020 के लिए स्कोल अवार्ड

भारत के गैर-लाभकारी संगठन ARMMAN को सामाजिक उद्यमिता के लिए प्रतिष्ठित स्कोल अवार्ड से सम्मानित किया गया है। भारत में मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य क्षेत्र में योगदान के लिए इस NGO का चयन किया गया है। यह उन पाँच संगठनों में से एक है, जिन्होंने इस पुरस्कार को जीता है, यह एशिया और अफ्रीका से चुना गया एकमात्र NGO है। यह NGO भारत सरकार के साथ साझेदारी में मोबाइल स्वास्थ्य कार्यक्रमों को लागू कर रहा है।

सेबी के पूर्णकालिक सदस्य (डब्ल्यूटीएम) माधवी पुरी बुच को 6 महीने का विस्तार

सरकार ने 6 महीने (4 अक्टूबर, 2020 तक) तक प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) के पूर्णकालिक सदस्य (WTM) के रूप में Madhabi Puri Bach की नियुक्ति को बढ़ा दिया है।

देश में 30% कोरोनावायरस के मामले तब्लीगी जमात के कारण

भारत सरकार ने COVID-19 के 1,023 ऐसे मामलों को ट्रेस किया है, जो तब्लीगी जमात से सम्बंधित हैं। हाल ही में इसका एक धार्मिक समारोह निजामुद्दीन मरकज मस्जिद में हुआ है। इस घटना से देश में कोरोना वायरस के 30% मामले आये हैं। इससे तमिलनाडु सबसे अधिक प्रभावित हुआ है। तमिलनाडु में 386 मामलों में से 259 लोगों ने तब्लीगी जमात के इवेंट में हिस्सा लिया था। उत्तर प्रदेश में इस कार्यक्रम में शामिल 160 लोगों को क्वारंटाइन किया गया है। उनकी बेकाबू हिंसा और दुर्व्यवहार के कारण उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा उनके खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून लागू किया गया था। कॉन्ट्रैक्ट ट्रेसिंग यह पता लगाने के लिए है कि वायरस कैसे संचारित हुआ है। यह बीमारी के संपर्क में आने वाले लोगों की पहचान, आकलन और प्रबंधन करने की प्रक्रिया है।

नवंबर 2021 में चीन में किया जाएगा एशियाई युवा खेलों का आयोजन

ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया ने घोषणा की कि तीसरे एशियाई युवा खेलों का आयोजन नवंबर, 2021 में चीन में किया जाएगा। इसमें रॉक क्लाइंबिंग, एथलेटिक्स, जिम्नास्टिक, एक्वेटिक्स, बोट रेसिंग जैसे लगभग 18 ओलंपिक खेलों को शामिल किया जायेगा।एशियाई युवा खेलों का आयोजन चार वर्ष में एक बार किया जाता है। यह ओलंपिक काउंसिल ऑफ एशिया द्वारा आयोजित किया जाते है। यह एशियाई खेलों के बाद दूसरा सबसे बड़ा खेल आयोजन है। पहली बार एशियाई युवा खेल 2011 में सिंगापुर में आयोजित किये गये था, उसके बाद में 2013 में चीन में यह खेल आयोजित किये गये थे।

राष्ट्रीय समुद्री दिवस : 5 अप्रैल

प्रतिवर्ष 5 अप्रैल को राष्ट्रीय समुद्री दिवस मनाया जाता है। इसका उद्देश्य अंतर-महाद्वीपीय व्यापार तथा वैश्विक अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देना है। राष्ट्रीय समुद्री दिवस को 1964 से प्रतिवर्ष मनाया जा रहा है। 5 अप्रैल को सिंधिया स्टीम नेविगेशन कम्पनी का समुद्री जहाज़ SS लॉयल्टी यूनाइटेड किंगडम की यात्रा पर बॉम्बे से रवाना हुआ था। यह भारतीय शिपिंग इतिहास की एक महत्वपूर्ण घटना थी, उस समय में समुद्री मार्गों पर अंग्रेजों का नियंत्रण था। इस वर्ष राष्ट्रीय समुद्री दिवस की थीम “हिन्द महासागर : अवसरों का महासागर” है। शिपिंग डायरेक्टर जनरल के अनुसार भारत में 43 शिपिंग कंपनियां हैं, उनके पास कुल 1,401 समुद्री जहाज़ हैं।

SBI ने ग्राहकों के लिए शुरू की डोर स्टेप सर्विस

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) ने कोरोना वायरस के कारण लोगों को हो रही परेशानी से बचाने के लिए डोर स्टेप सुविधा शुरू की है। इस सुविधा के तहत ग्राहक अपने बैंकिंग कार्य घर बैठे ही निपटा सकते हैं। अगर बैंक के ग्राहकों को नकदी की जरूर होती है, तो बैंक ग्राहकों को घर पर भी नकदी पहुंचाएगा। इससे पहले यह सुविधा सीनियर सिटीजंस और दिव्यांग लोगों के लिए ही थी। हालांकि डोरस्टेप बैंकिंग सेवा का लाभ केवल उन्ही ग्राहकों को मिलेगी जिनकी केवाईसी हो चुकी है। इसके अलावा इसका सुविधा का लाभ लेने के लिए अपनी होम ब्रांच में रिक्वेस्ट करनी होगी।

COVID-19 के प्रसार को कम करने के लिए भारत सरकार ने 5 अनुसंधान परियोजनाएं शुरू की

हाल ही में भारत सरकार ने COVID-19 के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए 5 अनुसंधान परियोजनाएं शुरू कीं। भारत सरकार ने बहुत स्पष्ट किया है कि वर्तमान में पहली प्राथमिकता इस रोग के प्रसार को कम करना है। इन परियोजनाओं की देखरेख विज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा की जायेगी।
प्रोजेक्ट 1 : इस प्रोजेक्ट के द्वारा वायरस के लिए मेटाबोलाइट बायोमार्कर सिग्नेचर की खोज की जायेगी। यह मार्कर कोशिकाओं की गतिविधियों या वायरस से संक्रमित जीव को पकड़ने में मदद करेंगे। यह जानकारी संभावित दवा विकसित करने के लिए महत्वपूर्ण है।
प्रोजेक्ट 2 : दूसरी परियोजना में विषाणुनाशक कोटिंग को विकसित किया जाएगा, जिसका उपयोग सर्जिकल मास्क में किया जाएगा, जो अत्यधिक संक्रामक वायरस जैसे कि SARS, COVID-19 आदि के प्रसार को रोकते हैं।
प्रोजेक्ट 3 : तीसरी परियोजना में इन्फ्लूएंजा वायरस से होने वाले संक्रमण के प्रसार को रोकने के लिए एंटीवायरल सतही कोटिंग विकसित की जायेगी। इसका उद्देश्य पॉलिमर यौगिकों को विकसित करना है जो सतहों पर लेपित किये जायेंगे और वायरस के संपर्क में आने पर यह वायरस को नष्ट कर देंगे।
प्रोजेक्ट 4 : चौथी परियोजना का उद्देश्य एक ऐसी सामग्री विकसित करना है जिसे किसी सतह पर लगाने से वायरस और बैक्टीरिया नष्ट हो जायेंगे।
प्रोजेक्ट 5 : पांचवीं परियोजना का उद्देश्य COVID -19 के एंटीबॉडी-बेस्ड कैप्चर को विकसित करना और लिपिड बेस्ड जेल का उपयोग करके इसे निष्क्रिय करना है।

एम्‍स दिल्‍ली के डॉक्‍टर दीपक अग्रवाल ने एक सस्‍ता और छोटा वेंटिलेटर ईजाद किया

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान-एम्‍स दिल्‍ली के डॉक्‍टर दीपक अग्रवाल ने एक सस्‍ता और छोटा वेंटिलेटर ईजाद किया है। एम्‍स में न्‍यूरोसर्जरी विभाग के प्रोफेसर डॉ. अग्रवाल ने बताया कि उन्‍हें एम्‍स में भर्ती ऐसे रोगियों से वेंटिलेटर बनाने की प्रेरणा मिली, जो एम्‍स में सिर्फ इसलिए भर्ती थे कि उनका जीवन वेंटिलेटर पर निर्भर था। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि उन्‍होंने रोबोट विज्ञानी दिवाकर वैश के साथ मिलकर पांच वर्ष पहले ही वेंटिलेटर को विकसित किया था, जिसे अब उन्‍नत किया गया है, ताकि यह कोविड-19 के वायरस को निष्‍क्रिय कर सके। डॉ. अग्रवाल ने बताया कि स्‍वास्‍थ मंत्रालय ने उनसे दस हजार वेंटिलेटर की मांग की है। उन्‍होंने कहा कि वे प्रति माह बीस हजार वेंटिलेटर बना सकते हैं।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.