Ask Question |
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

राजस्थान बजट 2019-20

15वीं विधानसभा के पहले सत्र के दूसरे चरण के तहत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत वर्ष 2019-20 के लिए लेखानुदान (Rajasthan Budget 2019-20) पेश किया। अब इस लेखानुदान के जरिए सरकार आगामी चार महीने का खर्च राज्यपाल की अनुमति से लेगी।

लेखानुदान

प्रदेश में परंपरा है कि आम चुनाव से पहले सरकार पूर्ण बजट घोषित नहीं करती है। लोकसभा चुनावों के चलते प्रदेश में आचार संहिता लागू रहेगी जिसके चलते सरकार लोक लुभावन घोषणाएं लागू नहीं कर सकेगी। इसी लिए सरकार लेखानुदान लाई है। सरकार ने कुल बजट में 31 जुलाई 2019 तक अपना खर्चा चलाने के लिए विधानसभा से अनुमति ली है। इन खर्चों में सिर्फ वेतन, पेंशन, निर्वाचन, पेयजल, प्राकृतिक आपदा, सहकारिता के लिए बजट लिया गया है। जबकि फुल बजट में सभी विभागों में से जुड़ी घोषणाओं को शामिल किया जाता है।

वित्त वर्ष 2019-20 में सरकार का कुल बजट 2 लाख 16 हजार करोड़ रुपए का रखा गया है। गहलोत ने कहा कि पिछली भाजपा सरकार प्रदेश पर 3 लाख 9 हजार करोड़ रुपए का बड़ा कर्ज भार छोड़ कर गई है। पिछली सरकार ने इस वित्त वर्ष शुरुआती 8 महीनों में बजट के अलावा 9257 करोड़ रुपए का अतिरिक्त प्रावधान कर दिया। इसके चलते संशोधित बजट अनुमानों राजस्व घाटा 2482490 लाख रुपये है व राजकोषीय घाटा 3147280 लाख रुपए है।

वार्षिक वित्तीय अनुमान 2019-20

प्रदेश का राजकोषीय घाटा 29 हजार 983 करोड़ होना अनुमानित है जो कि राज्य की अनुमानित राज्य सकल घरेलू उत्पाद के 3 प्रतिशत रहने का अनुमान है। राज्य का Debt to GSDP अनुपात 33.96 प्रतिशत रहना अनुमानित है।

राजस्व प्राप्तियां : 16744967.45 लाख

नोट : राजस्व प्राप्तियां में शामिल है

  1. (क) संघ अनुदान
  2. (ख) खुद कर राजस्व
  3. (ग) गैर-कर राजस्व
  4. (घ) केन्द्रीय करों में शेयर
  5. (ई) अनुदान सहायता

पूंजी प्राप्तियां (उदय योजना के साथ) : 6426334.29 लाख

पूंजी प्राप्तियां (उदय योजना के बिना) : 4954138.21 लाख

नोट : पूंजी प्राप्तियों में शामिल हैं-

  1. (ए) ऋण और अग्रिमों की वसूली
  2. (बी) सार्वजनिक ऋण
  3. (सी) सार्वजनिक खाते
  4. (डी) विविध पूंजी प्राप्ति
  5. (ई) आकस्मिकता निधि

कुल प्राप्तियां (उदय योजना के साथ) : 23171301.74 लाख

कुल प्राप्तियां (उदय योजना के बिना) : 21699105.66 लाख

राजस्व व्यय (उदय योजना के साथ) : 19075374.69 लाख

राजस्व व्यय (उदय योजना के बिना) : 17693727.61 लाख

नोट : राजस्व व्यय में शामिल हैं-

  1. (a) आर्थिक सेवा
  2. (b) सामाजिक सेवा
  3. (c) सामान्य सेवाएं

पूंजीगत व्यय (उदय योजना के साथ) : 4090076.20 लाख

पूंजीगत व्यय (उदय योजना के बिना) : 3999527.20 लाख

नोट : पूंजीगत व्यय में शामिल हैं-

  1. (ए) ऋण और अग्रिम
  2. (बी) सार्वजनिक ऋण
  3. (सी) अधिशेष

कुल व्यय (उदय योजना के साथ) : 23165450.89 लाख

कुल व्यय (उदय योजना के बिना) : 21693254.81 लाख

Ujwal DISCOM Assurance Yojana (UDAY)

उदय (उज्ज्वल डिस्कॉम एश्योरैंस योजना / UDAY) भारत की विद्युत वितरण करने वाली कम्पनियों के आर्थिक पुरुत्थान के लिये शुरू की गयी भारत सरकार की एक योजना है। यह 5 नवम्बर 2015 को आरम्भ हुई थी जिसके के तहत राज्य एवं केंद्र शासित प्रदेशो की घाटे में चल रही विधुत वितरण कंपनियों को घाटे से उबारने एवं उनकी वितीय स्थिति को सुद्रढ करने का कार्य किया जा रहा है। इसी योजना के कारण ही राजस्थान की विधुत वितरण कंपनियों के घाटे में काफी हद तक सुधार हुआ है

कृषक ऋण माफी

  1. सहकारी क्षेत्र के सभी श्रेणियों के सभी किसान लाभान्वित।
  2. 30 नवंबर 2018 तक बकाया संपूर्ण अल्पकालीन कृषि ऋणों की माफी।
  3. जिला केंद्रीय सहकारी बैंक एवं भूमि विकास बैंकों के ₹200000 तक के मध्यकालीन एवं दीर्घकालीन ऋण माफ।
  4. माफी से राज्य के लगभग 25 लाख किसानों को फायदा।
  5. इसके फलस्वरूप लगभग 400000 बीघा कृषि भूमि रहन मुक्त हो जाएगी।

वृद्धावस्था पेंशन

  1. कृषक परिवार के 55 वर्ष से अधिक आयु की महिला तथा 58 वर्ष से अधिक आयु के पुरूष अब पेंशन के हकदार होंगे।
  2. इसके अंतर्गत अब 75 वर्ष तक की आयु के पेंशनरों को ₹500 की वजह ₹750 प्रतिमाह दिए जाएंगे जबकि 75 वर्ष से अधिक आयु के पेंशनर्स को ₹750 प्रतिमाह की जगह ₹1000 प्रतिमाह पेंशन दी जाएगी।
  3. इसके फलस्वरूप राज्य के 46 लाख पेंशनरों को फायदा मिलेगा

मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक योजना

  1. मुख्यमंत्री दुग्ध उत्पादक योजना के अंतर्गत सहकारी डेयरी पर दूध वितरण करने वाले किसानों को ₹2 प्रति लीटर की दर से बोनस दिया जाएगा।
  2. इसमें प्रदेश के आठ लाख किसान लाभान्वित होंगे।
  3. यह योजना एक फरवरी 2019 से लागू हो चुकी है।

मुख्यमंत्री युवा संबल योजना

  1. राज्य सरकार द्वारा बेरोजगारों के मासिक भत्ते में बढ़ोतरी की गई है।
  2. 1 मार्च 2019 से राज्य के बेरोजगार लड़कों को ₹3000 तो लड़कियों को ₹3500 मासिक भत्ता दिया जाएगा।
  3. अभी अक्षत योजना के तहत पुरुषों को 650 तथा महिलाओं को ₹750 बेरोजगारी भत्ता दिया जाता है।
  4. हालांकि इस योजना से केवल 160000 युवा ही लाभान्वित होंगे जबकि प्रदेश में शिक्षित बेरोजगारों की संख्या 500000 से भी अधिक है।

एक रुपए किलो में गेहूं

  1. राज्य सरकार ने पहले की तरह से ही बीपीएल स्टेट बीपीएल तथा अंत्योदय परिवारों को एक रुपए किलो में गेहूं देने की घोषणा की है।
  2. इस योजना से करीब एक करोड़ 74 लाख लोग लाभान्वित होंगे।
  3. 1 मार्च 2019 से शुरू होने वाली इस योजना में राज्य सरकार पर 115 करोड रुपए का अतिरिक्त भार होगा।

मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना

  1. मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना के अंतर्गत अब ह्रदय, श्वास गुर्दा तथा कैंसर जैसे गंभीर रोगों के लिए भी निशुल्क दवा उपलब्ध कराई जाएगी।
  2. इसके अतिरिक्त 600 दवा वितरण केंद्र भी खोले जाएंगे।
  3. नकली दवाओं की जांच के लिए वर्तमान में प्रदेश में केवल जयपुर में ही प्रयोगशाला है। इसके अलावा उदयपुर, जोधपुर तथा बीकानेर में भी प्रयोगशालाओं की जल्दी ही शुरुआत की जाएगी।

शिक्षा

  1. राज्य सरकार ने हरिदेव जोशी पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय तथा डॉक्टर अंबेडकर विधि विश्वविद्यालय को पुनः शुरू कर दिया है।
  2. लेखानुदान में 4 नए जनजाति आवासीय विद्यालय की घोषणा की गई है।
  3. इनमें बांसवाड़ा तथा डूंगरपुर के साथ-साथ उदयपुर का सराड़ा तथा प्रतापगढ़ का पीपलखूंट शामिल है।
  4. राजस्थान सरकार द्वारा 2013-14 में जयपुर के जगतपुरा में खोले गए स्काउट आवासीय विद्यालय को फिर से शुरू किया जाएगा।
  5. जुलाई से शुरू होने वाले अगले शैक्षणिक सत्र में प्रदेश की 230000 छात्राओं को कॉलेज स्तर की शिक्षा मुफ्त प्राप्त होगी।
  6. सरकारी कॉलेजों तथा विश्वविद्यालय में कला विज्ञान तथा वाणिज्य में स्नातक स्नातकोत्तर की पढ़ाई कर रही छात्राओं को यह लाभ मिलेगा।

अन्य

  1. ग्राम पंचायत स्तर पर फ्री इंटरनेट के लिए अभी तक 8000 स्थानों पर हॉटस्पॉट की सुविधा उपलब्ध कराई जा चुकी है जिन्हें बढ़ाकर 20000 किया जाएगा।
  2. इसी तरह 3000 ग्राम पंचायतों को इंटरनेट से जोड़ा जा चुका है तथा आगे सभी ग्राम पंचायतों को इंटरनेट से जोड़ा जाएगा।
  3. राज्य में वन क्षेत्र अधिक विकसित करने के लिए सरकार एक बार फिर जापान की मदद लेगी।
  4. सरकार की सहभागिता से नया प्रोजेक्ट तैयार करके जापान इंटरनेशनल को ऑपरेशन एजेंसी को सौंपा जाएगा।
  5. इसके तहत वनीकरण, मृदा एवं जल संरक्षण, जैव विविधता संरक्षण, गरीबी उन्मूलन एवं आजीविका संवर्धन जैसे कार्य किए जाएंगे।
  6. राज्य में एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने के लिए राजस्थान एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल का गठन किया जाएगा। इस काउंसिल के जरिए मुख्य तौर पर रेडीमेड गारमेंट्स, मार्बल स्टोन, कलर स्टोन ज्वेलरी, ऑटोमोबाइल तथा हैंडीक्राफ्ट के एक्सपोर्ट पर ज्यादा जोर दिया जाएगा।

यहां से आप बजट से जुड़े आधिकारिक आंकड़े देख सकते हैं। : http://finance.rajasthan.gov.in/

लेखानुदान 2019-20 भाषण

« Previous Next Chapter »

Take a Quiz

Test Your Knowledge on this topics.

Learn More

Question

Find Question on this topic and many others

Learn More

Rajasthan Gk APP

Here You can find Offline rajasthan Gk App.

Download Now

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Share

Join

Join a family of Rajasthangyan on