Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

30 July 2020

पांच रफाल लडाकू विमान अंबाला वायुसेना अड्डे पर पहुंचे

पांच रफाल लडाकू विमानों का पहला बेडा अंबाला पहुंचा। अंबाला वायुसेना केंद्र पर इन विमानों को वाटर कैनन सैल्‍यूट दिया गया। भारतीय वायु क्षेत्र में प्रवेश करने पर इस बेडे के साथ दो सुखोई सुपरसोनिक विमानों ने भी उडान भरी। वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल आर.के.एस. भदौरिया त‍था वायुसेना की पश्चिमी कमान के प्रमुख एयर मर्शाल बी. सुरेश ने अंबाला हवाई अड्डे पर पांच रफाल विमानों के पहले बेडे का स्‍वागत किया। इस बेडे में तीन एक सीट वाले तथा दो सीट वाले दो रफाल विमान हरियाणा के अंबाला हवाई अड्डे में भारतीय वायुसेना में शामिल किए जाएंगे। फ्रांस की कंपनी डसॉल्ट द्वारा निर्मित इन विमानों ने दक्षिण फ्रांस के बोर्डो मेरिग्नैक एयरबेस से भारत के लिए उडान भरी थी। ये पांच विमान 2016 में भारत द्वारा 59,000 करोड़ रुपये के अंतर-सरकारी सौदे में फ्रांस से खरीदे गए 36 विमानों का हिस्सा हैं। इन विमानों ने बीच में ईंधन भरने के लिए केवल एक स्‍थान पर संयुक्त अरब अमारात स्थित फ्रांसीसी वायु केन्‍द्र पर रूकते हुए फ्रांस से भारत की लगभग 7,000 किमी की दूरी तय की। सभी छत्तीस विमानों की डिलीवरी 2021 के अंत तक तय समय पर पूरी हो जाएगी। राफेल अंबाला एयरबेस के 17वें स्क्वाड्रन गोल्डेन ऐरोज’ का हिस्सा होंगे। रूस से खरीदे गए सुखोई विमानों के बाद करीब 23 साल बाद वायुसेना ने नई जनरेशन का लड़ाकू जेट राफेल हासिल किया है।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पारंपरिक चिकित्सा पद्धति और होम्योपैथी के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और जिम्बाब्वे के बीच समझौता ज्ञापन को मंज़ूरी दे दी है

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पारंपरिक चिकित्सा पद्धति और होम्योपैथी के क्षेत्र में सहयोग पर भारत और जिम्बाब्वे के बीच हस्ताक्षर किए गए समझौता ज्ञापन को पूर्वस्वीकृति प्रदान की है। समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर 30 नवंबर, 2018 को हस्ताक्षर किए गए थे। इस समझौता ज्ञापन को मंजूरी मिलने से पारंपरिक चिकित्सा पद्धति और होम्योपैथी को बढ़ावा देने के लिए दोनों देशों के बीचसहयोग करने के लिए रूपरेखा तैयार की जाएगी और इससे पारंपरिक चिकित्सा के क्षेत्र में दोनों देश पारस्परिक रूप से लाभान्वित होंगे। समझौता ज्ञापन का मुख्य उद्देश्य समानता और आपसी लाभ के आधार पर दोनों देशों के बीच पारंपरिक चिकित्सा पद्धति के क्षेत्र में सहयोग को मजबूत करना,बढ़ावा देना और विकसित करना है।

भारत की पहली सौर ऊर्जा संचालित नौका "आदित्य" ने जीता गुस्ताव ट्रवे अवार्ड

भारत की पहली सौर ऊर्जा संचालित नौका आदित्य ने इलेक्ट्रिक बोट्स और बोटिंग में उत्कृष्टता के लिए प्रतिष्ठित Gustave Trouve Award जीता है। इस नौका को शुल्क यात्री सेवा के लिए तैयार की जाने वाली नौकाओं की श्रेणी में दुनिया की सबसे अच्छी इलेक्ट्रिक बोट घोषित किया गया है। नवलत बोट्स की आदित्य, एक सौर उर्जा-संचालित यात्री नौका है जो इलेक्ट्रिक समुद्री प्रणोदन के भविष्य की सर्वश्रेष्ट कहानियों में से एक है। यह फेरी केरल राज्य जल परिवहन विभाग (KSWTD) की है और जो जनवरी 2017 से अलप्पुझा जिले में वैक्कोम-थ्वानक्वाक्वाडु मार्ग पर चल रही है। Gustave Trouve अवार्ड को पहली बार दिया गया, जो दुनिया का एकमात्र ऐसा सम्मान है जिसे किसी ऐसे व्यक्तियों और कंपनियों को दिया गया है, जो अत्याधुनिक इलेक्ट्रिक नौकाओं का निर्माण और नवाचार करने में लगे हुए हैं। इस साल इसे Frenchman Gustave Trouve के सम्मान में शुरू किया गया है, जिन्होंने पारंपरिक परिवहन जीवाश्म ईंधन से हटकर, इलेक्ट्रिक ट्रांसपोर्ट पर आधारित गतिशीलता में शानदार काम किया था।

भारत निर्यातको बढ़ावा देने के लिए वियतनाम में अपना कॉटन वेयरहाउस स्थापित करेगा

कॉटन कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया कपास के पास अधिशेष स्टॉक है। अगले कटाई के मौसम के साथ, सीसीआई निर्यात को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है। मौजूदा स्टॉक का निर्यात करने के लिए, भारत बांग्लादेश के साथ 1.5 से 2 मिलियन गांठ कपास निर्यात करने के लिए समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करेगा। एक गांठ 170 किलो ग्राम होती है। इसके अलावा, CCI कपास निर्यात को बढ़ावा देने के लिए वियतनाम में अपना गोदाम स्थापित करेगी।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी, मानव संसाधन विकास मंत्रलय का नाम फिर शिक्षा मंत्रलय किया गया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को मंजूरी दे दी है जिससे स्कूली और उच्च शिक्षा दोनों क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रूपांतरकारी सुधार के रास्ते खुल गए हैं। यह 21वीं सदी की पहली शिक्षा नीति है और यह 34 साल पुरानी राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनपीई), 1986 की जगह लेगी। सबके लिए आसान पहुंच, इक्विटी, गुणवत्ता, वहनीयता और जवाबदेही के आधारभूत स्तंभों पर निर्मित यह नई शिक्षा नीति सतत विकास के लिए एजेंडा 2030 के अनुकूल है और इसका उद्देश्य 21वीं सदी की जरूरतों के अनुकूल स्कूल और कॉलेज की शिक्षा को अधिक समग्र, लचीला बनाते हुए भारत को एक ज्ञान आधारित जीवंत समाज और ज्ञान की वैश्विक महाशक्ति में बदलना और प्रत्येक छात्र में निहित अद्वितीय क्षमताओं को सामने लाना है। उच्च शिक्षा सचिव अमित खरे ने नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के बारे में बताया कि इसका उद्देश्य उच्च शिक्षा के क्षेत्र में सकल नामांकन दर को 2020-2035 तक बढ़ा कर 50 प्रतिशत के स्तर पर पहुंचाना है। 2018 में यह दर 26 दशमलव तीन प्रतिशत थी। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के अनुसार उच्च शिक्षा संस्थानों में कम से कम साढ़े तीन करोड़ नई सीटें बढ़ाई जाएंगी। श्री खरे ने कहा कि इसमें व्यापक आधार वाली, बहु-विषयक, समग्र स्नातक शिक्षा का प्रावधान किया गया है, जिसमें पाठ्यक्रम लचीला, रचनात्मक और व्यावसायिक शिक्षा से समन्वित होगा। उन्होंने कहा कि स्नातक पाठ्यक्रम में विभिन्न स्तरों पर प्रमाणपत्र और डिप्लोमा के साथ बाहर भी आया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि स्नातक तक की शिक्षा तीन या चार साल की हो सकती है। उच्च शिक्षा सचिव ने कहा कि अगले 15 वर्षों में कालेजों को विश्वविद्यालयों से सम्बद्ध करने की प्रणाली को चरणबद्ध तरीके से समाप्त कर दिया जाएगा। इस दौरान कालेज डिग्रियां प्रदान करने वाले स्वायत्त कालेजों के रूप में अपना विकास कर लेंगे। सरकार इसी साल से नीति पर अमल की तैयारी में है। मानव संसाधन विकास मंत्रलय का नाम फिर शिक्षा मंत्रलय किया गया है। 1985 में शिक्षा मंत्रलय का नाम बदला गया था। राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने नॉलेज रिसोर्स सेंटर नेटवर्क का किया शुभारंभ

भारत सरकार की डिजिटल इंडिया पहल के तहत पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय ने MoES-नॉलेज रिसोर्स सेंटर नेटवर्क (KRCNet) लॉन्च किया है। MoES ने MoES प्रणाली की पारंपरिक स्थितियों को शीर्ष नॉलेज रिसोर्स सेंटर (केआरसी) में बदल दिया है। इन केआरसी को एक-दूसरे के साथ कनेक्ट किया जाएगा और नेट पोर्टल के साथ में एकीकृत किया जाएगा। यह पोर्टल पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय (MoES) की बौद्धिक दुनिया में यह एक सिंघल पेन्टाइंट एंट्री होगी। MoES के KRCNet के शुभारंभ का लक्ष्य, इसके रखरखाव, सरल पुनःप्राप्ति और प्रसार के प्रलेखन के लिए आईएसओ प्रमाणन सुनिश्चित करने के द्वारा एक कुल गुणवत्ता प्रबंधन (टीक्यूएम) प्रणाली की स्थापना करना। KRCNet पोर्टल सब्स्क्राइब्ड नॉलेज कंटेंट को 24X7 एक्सेस प्रदान करेगा। यह MoES मुख्यालय और इसके संस्थानों में उपलब्ध बौद्धिक संसाधनों, उत्पादों और परियोजना आउटपुट को प्रसारित करने के साथ-साथ एकत्रित, विश्लेषण, सूचकांक, स्टोर भी करेगा।

एसएनबीएनसीबीएस ने नवजात शिशुओं में बिलीरुबिन स्तर की गैर-संक्रामक स्क्रीनिंग के लिए "गैर-संपर्क" और "दर्द-रहित" उपकरण विकसित किया

नवजात शिशुओं में बिलीरूबिन स्तर की सावधानीपूर्वक जांच अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (2004) के अनुसार अनिवार्य है। यह जांच एक प्रकार की मस्तिष्क क्षति जिसे किर्निकटेरस कहा जाता है, की घटनाओं को कम करने के लिए की जाती है, जिसका कारण शिशु के रक्त में बिलीरुबिन का उच्च स्तर हो सकता है। यद्यपि रक्त के केपिलरी संग्रह और उसके बाद के जैव रासायनिक परीक्षण को नवजात शिशुओं में पीलिया का पता लगाने के लिए स्वर्ण मानक माना जाता है, गैर-संक्रामक उपकरणों का उपयोग करके त्वचा के अन्दर बिलीरुबिन माप के स्पष्ट रूप से अतिरिक्त लाभ है। भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) के तहत स्वायत्त अनुसंधान संस्थान, एस.एन. बोस नेशनल सेंटर फॉर बेसिक साइंसेज (एसएनबीएनसीबीएस), कोलकाता के प्रोफेसर समीर के. पाल और उनकी टीम ने “एजेओ–निओ” नामक उपकरण विकसित किया है। संस्थान डीएसटी द्वारा वित्त पोषित तकनीकी अनुसंधान केंद्रों (टीआरसी) में से एक और निल-रतन सरकार (एनआरएस) मेडिकल कॉलेज और अस्पताल, कोलकाता के साथ वैज्ञानिक सहयोग का संचालन भी कर रहा है। उपकरण का संचालन, अन्य बिलीरुबिन मीटर की सीमाओं से समझौता किये बिना, नवजात शिशुओं में बिलीरुबिन स्तर की माप के लिए गैर-संपर्क और गैर-संक्रामक स्पेक्ट्रोमेट्री तकनीकों पर आधारित है। इसे कुल सीरम बिलीरुबिन (टीएसबी) परीक्षण के विकल्प के रूप में पेश किया गया है।

उत्तराखंड में पवन हंस की पहली उड़ान-आरसीएस सेवा का शुभारम्भ

नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा अप्रैल, 2017 में शिमला से दिल्ली के लिए पहली उड़ान (यूडीएएन) सेवा को हरी झंडी दिखाने के बाद अभी तक 45 हवाई अड्डों और 3 हेलीपोर्ट्स को जोड़ने वाले 274 उड़ान रूट्स परिचालन में आ चुके हैं। उड़ान-आरसीएस योजना के अंतर्गत उत्तराखंड में पवन हंस द्वारा पहली हेलीकॉप्टर सेवा के शुभारम्भ के अवसर पर श्री पुरी ने कहा कि हेली सेवा की शुरुआत और इन नए रूटों के खुलने से राज्य के लोग ज्यादा नजदीक आएंगे और क्षेत्र में पर्यटन को प्रोत्साहन मिलेगा। इस सेवा से देहरादून, नई टिहरी, श्रीनगर और गोचर के बीच संपर्क सुनिश्चित होगा।

पृथ्वी प्रणाली विज्ञान में उत्कृष्टता के लिए पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय राष्ट्रीय पुरस्कार घोषित

पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय का लक्ष्य पृथ्वी प्रणाली विज्ञान के विभिन्न क्षेत्रों में विख्यात वैज्ञानिकों/इंजीनियरों द्वारा किए गए प्रमुख वैज्ञानिक योगदानों को उचित सम्मान एवं मंच उपलब्ध कराना तथा महिला एवं युवा शोधकर्ताओं को पृथ्वी प्रणाली विज्ञान की मुख्यधारा में आने के लिए प्रोत्साहित करना भी है। उपरोक्त को देखते हुए, मंत्रालय ने वातावरण विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, समुद्र विज्ञान, भू विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा समुद्र प्रौद्योगिकी एवं ध्रुवीय विज्ञान के क्षेत्र में लाइफ टाइम उत्कृष्टता पुरस्कार, राष्ट्रीय, दो युवा शोधकर्ता पुरस्कारों तथा महिला वैज्ञानिकों के लिए डॉ. अन्ना मणि राष्ट्रीय पुरस्कार का गठन किया है। इस वर्ष लाइफ टाइम उत्कृष्टता पुरस्कार प्रोफेसर अशोक साहनी को जियोलौजी, वर्टिब्रेट पेलियोनटोलॉजी तथा बायोस्ट्रेटीग्राफी के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय योगदान के लिए दिया जा रहा है। समुद्र विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार विशाखापट्टनम के सीएसआईआर-राष्ट्रीय समुद्रशास्त्र संस्थान के वरिष्ठ प्रधान वैज्ञानिक डॉ. वी. वी. एस. एस. शर्मा तथा गोवा के राष्ट्रीय ध्रुवीय केंद्र एवं समुद्र अनुसंधान के निदेशक डॉ. एम रविचंद्रन को दिया जा रहा है। वातावरण विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार तिरुवनंतपुरम के वीएसएससी के वैज्ञानिक-एसएफ डॉ. एस. सुरेश बाबू को दिया जाएगा। भू-विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार वाराणसी के बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के जियोलॉजी विभाग के एन वी चलापति राव को दिया जाएगा। समुद्र प्रौद्योगिकी के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार चेन्नई के राष्ट्रीय समुद्र प्रौद्योगिकी संस्थान के निदेशक डॉ. एम. ए. आत्मानंद को प्रदान किया जाएगा। गोवा के सीएसआईआर- राष्ट्रीय समुद्र विज्ञान संस्थान की वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. लिदिता डी. एस. खांडेपारकर को महिला वैज्ञानिक के लिए डॉ. अन्ना मणि राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया जाएगा। कानपुर के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान के डॉ. इंद्र शेखर सेन तथा अहमदाबाद के फिजिकल रिसर्च लैबोरेट्ररी (पीआरएल) के डॉ. अरविंद सिंह को पृथ्वी प्रणाली विज्ञान में उनके उल्लेखनीय कार्यों के लिए यंग रिसर्चर अवार्ड से पुरस्कृत किया जाएगा।

HRD मंत्रालय ने डिजिटल शिक्षा पर भारत रिपोर्ट- जून 2020 की जारी

केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल “निशंक” द्वारा डिजिटल शिक्षा पर भारत रिपोर्ट-2020 जारी की गई है। लॉन्च के दौरान, मंत्री ने कहा कि रिपोर्ट मानव संसाधन विकास मंत्रालय, राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के शिक्षा विभागों द्वारा घर पर बच्चों के लिए सुलभ और समावेशी शिक्षा सुनिश्चित करने और उनके सीखने के क्रम में आने वाली बाधाओं को दूर करने के लिए अपनाए गए अभिनव तरीकों की विस्तृत जानकारी करती है। डिजिटल शिक्षा पर भारत रिपोर्ट, 2020 में छात्रों के लिए दूरस्थ शिक्षा और सभी के लिए शिक्षा की सुविधा के लिए सरकार की ओर से की गई विभिन्न पहलों की जानकारी शामिल हैं। कुछ पहलें इस प्रकार हैं: दीक्षा प्लेटफॉर्म, स्वयं प्रभा टीवी चैनल, ऑनलाइन MOOC कोर्स, ऑन एयर - शिक्षा वाणी, दिव्यांगों के लिए NIOS द्वारा विकसित “DAISY, ई-पाठशाला” आदि।

IMF ने दक्षिण अफ्रीका के लिए 4.3 बिलियन डॉलर का सबसे बड़ा COVID-19 ऋण किया मंजूर

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund IMF) ने दक्षिण अफ्रीका में आपातकालीन सेवाओं के लिए 4.3 बिलियन अमरीकी डालर के ऋण को मंजूरी दी है, जो विश्व में किसी भी देश को कोरोनोवायरस महामारी से लड़ने के लिए मंजूर की गई है सबसे अधिक राशि है। अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) ने इस ऋण को मंजूरी "COVID-19 से प्रभावित हुई आर्थिक स्थिति और आर्थिक प्रभाव को संबोधित करने में प्राधिकारी के प्रयासों (support the authorities) का समर्थन करने के लिए दी है। दक्षिण अफ्रीका 4,50,000 से अधिक मामलों के साथ इस महाद्वीप का सबसे अधिक प्रभावित देश है। दक्षिण अफ्रीका में महामारी से एक चुनौतीपूर्ण समस्या उत्पन्न हो रही है। विकास में भारी कमी आने के कारण, जरुरी सरकारी खर्चों के बावजूद पिछले एक दशक में आर्थिक गतिविधियां कमजोर हुई हैं, जिसके परिणामस्वरूप उच्च बेरोजगारी, गरीबी और आय असमानता है।

सरकार ने अनलॉक-थ्री के दिशा निर्देश जारी किए। स्‍कूल और कॉलेज 31 अगस्‍त तक बंद रहेंगे

गृह मंत्रालय ने कोविड-19 के कंटेनमेंट क्षेत्रों से बाहर के इलाकों में गतिविधियों को बढाने के लिए नये दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अनलॉक-तीन के तहत पहली अगस्‍त से गतिविधियों को बढाने की शुरुआत होगी। राज्‍यों और केन्‍द्रशासित प्रदेशों तथा केन्‍द्रीय मंत्रालयों और विभागों से प्राप्‍त जानकारी के आधार पर ये दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। रात्रि में लोगों के आने-जाने के प्रतिबंधों को हटा लिया जाएगा। पांच अगस्‍त से योग और जिम जैसे संस्‍थान खोले जा सकते हैं, लेकिन इनके लिए स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय द्वारा जारी आवश्‍यक दिशा-निर्देशों का पालन अनिवार्य होगा। स्‍वतंत्रता दिवस समारोहों को भी सुरक्षित दूरी बनाए रखकर तथा स्‍वास्‍थ्‍य दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए मनाया जा सकता है। स्‍कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्‍थाएं 31 अगस्‍त तक बंद रहेंगी। मेट्रो, रेल, सिनेमा हॉल, तरणताल, मनोरंजन पार्क, थियेटर और बार के अलावा अन्‍य गतिविधियों को कंटेनमेंट क्षेत्रों के बाहर अनुमति होगी। कंटेनमेंट क्षेत्रों के अलावा अन्‍य स्‍थानों पर सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, शैक्षिक, सांस्‍कृतिक और ध‍ार्मिक कार्यक्रमों की अनुमति होगी।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने मादक पदार्थों के उपयोग से होने वाली परेशानियों के इलाज के लिए ई-पुस्तिका जारी की

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने मादक पदार्थों के उपयोग से होने वाली परेशानियों और व्‍यवहारजनित लत के इलाज के लिए दिशा-निर्देशों वाली ई-पुस्तिका जारी की है। उन्‍होंने कहा कि मादक पदार्थों के बेतहाशा उपयोग से हृदय, कैंसर और मानसिक रोगों के अलावा सड़क दुर्घटना के मामले भी सामने आते हैं। डॉक्‍टर हर्षवर्धन ने इस बात पर संतोष व्‍यक्‍त किया है कि इन दिशा-निर्देशों में जुआ खेलने, खरीदारी की आदत, साइबर संबंध और साइबर यौनजनित व्‍यसनों को भी शामिल किया गया है।

पीएफसी और आईआईटी कानपुर ने स्मार्ट ग्रिड टेक्नोलॉजी से संबंधित एक समझौते पर हस्ताक्षर किए

विद्युत मंत्रालय के अंतर्गत सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम पीएफसी और आईआईटी कानपुर ने स्मार्ट ग्रिड टेक्नोलॉजी से संबंधित एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। समझौते के तहत पीएफसी, आईआईटी कानपुर को दो करोड़ 38 लाख 97 हजार रुपये की वित्तीय सहायता उपलब्ध कराएगा।

रसायन और उर्वरक मंत्रालय ने देश के पूर्वी और पश्चिमी तटवर्ती इलाकों में उर्वरक पहुंचाने के लिए तटीय पोत परिवहन का उपयोग करना शुरू किया

रसायन और उर्वरक मंत्रालय के सार्वजनिक क्षेत्रक उपक्रम फर्टिलाइजर्स एण्‍ड केमिकल्‍स त्रावणकोर लिमिटेड ने देश के पूर्वी और पश्चिमी तटवर्ती इलाकों में उर्वरक पहुंचाने के लिए तटीय पोत परिवहन का उपयोग करना शुरू किया है। एलूर के फैक्‍ट उद्योगमंडल परिसर में आयोजित एक समारोह में, 560 मीट्रिक टन अमोनियम सल्‍फेट वाले कंटेनरों को रवाना किया गया।

उत्‍तर प्रदेश सुन्‍नी सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड ने अयोध्‍या में मस्जिद के निर्माण के लिए ट्रस्‍ट बनाने की घोषणा की

उत्‍तर प्रदेश सुन्‍नी सेंट्रल वक्‍फ बोर्ड ने उच्‍चतम न्‍यायालय के आदेश के अनुसार अयोध्‍या में मस्जिद के निर्माण के लिए एक ट्रस्‍ट बनाने की घोषणा की है। इस ट्रस्‍ट को इंडो-इस्‍लामिक कल्‍चरल फाउंडेशन का नाम दिया गया है। बोर्ड की प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार उत्‍तर प्रदेश सरकार द्वारा मस्जिद के लिए रौनाही क्षेत्र के धन्‍नीपुर गांव में आवंटित पांच एकड़ भूमि को स्‍वीकार कर लिया गया है।

वायनाड पर्वतमाला पर स्थित मुदुमलई बाघ अभयारण्‍य में पर्यटकों को जागरूक करने के लिए एक अभियान शुरू

विश्‍व बाघ दिवस के अवसर पर तमिलनाडु, केरल और कर्नाटक की सीमा पर वायनाड पर्वतमाला पर स्थित मुदुमलई बाघ अभयारण्‍य में पर्यटकों को जागरूक करने के लिए एक अभियान शुरू किया गया है। इसके अंतर्गत अभयारण्‍य में पॉलीथीन की थैलियों के इस्‍तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके अलावा पर्यटकों को अपने खाने-पीने की बची हुई चीजें और उससे संबंधित कूडा-करकट स्‍वंय ही अभयारण्‍य के बाहर ले जाकर फैंकना होगा। 132 वर्ग किलोमीटर में फैले इस अभयारण्‍य में 103 बाघ हैं।

ऑस्ट्रेलियाई नागरिकता हासिल करने में भारतीय सबसे आगे

38 हजार से अधिक भारतीयों ने वर्ष 2019-20 में ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता हासिल कर ली है। यह संख्या पिछले साल भारतीयों को मिली ऑस्ट्रेलियाई नागरिकता से 60 प्रतिशत अधिक है और ऑस्ट्रेलिया में किसी अन्य देश के लोगों को मिली नागरिकता की सर्वाधिक संख्या है। वर्ष 2019-2020 में जिन दो लाख से अधिक लोगों को ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता मिली उनमें से 38,209 भारतीय हैं। इसके अलावा 25,011 ब्रिटिश, 14,764 चीनी और 8,821 पाकिस्तानी लोगों को ऑस्ट्रेलिया की नागरिकता हासिल हुई।

वायु प्रदूषण से भारतीयों की उम्र में औसतन 5.2 साल तक की कमी

वायु प्रदूषण ने भारतीयों की आयु में औसतन 5.2 साल तक की कमी कर दी है और यदि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मानकों के अनुरूप वायु प्रदूषण में कमी लाई जाए है तो दिल्लीवालों की उम्र में 9.4 वर्ष की वृद्धि हो सकती है। यह जानकारी शिकागो विश्वविद्यालय के एनर्जी पॉलिसी इंस्टिट्यूट द्वारा तैयार की गई एक रिपोर्ट में दी गई है। डब्ल्यूएचओ के दिशा-निर्देशों के अनुसार हवा में महीन कणों के रूप में मौजूद प्रदूषक तत्व (पीएम) 2.5 का स्तर 10 माइक्रोन प्रति घन मीटर से अधिक नहीं होना चाहिए। वहीं, पीएम 10 का स्तर 20 माइक्रोन प्रति घन मीटर से अधिक नहीं होना चाहिए। भारत में 2018 में पीएम 2.5 का औसत स्तर 63 माइक्रोन प्रति घन मीटर था। शिकागो विश्वविद्यालय के एनर्जी पॉलिसी इंस्टिट्यूट द्वारा तैयार की गई नई वायु गुणवत्ता जीवन प्रत्याशा सूची के अनुरूप पूरे भारत में यदि प्रदूषण के स्तर में डब्ल्यूएचओ के मानकों के अनुरूप कमी कर ली जाए है तो भारतीयों की उम्र में 5.2 साल तक की बढ़ सकती है।

लगभग 2 लाख लोगों ने स्वयं को दिल्ली सरकार के रोज़गार पोर्टल पर पंजीकृत करवाया

नियोक्ताओं और नौकरी चाहने वालों को एक साथ लाने के लिए एक पोर्टल लॉन्च करने के कुछ दिनों के भीतर, पोर्टल ने 4294 नियोक्ताओं द्वारा लगभग 1.01 लाख रिक्तियां देखी हैं और लगभग 1.89 लाख नौकरीपेशा लोग जॉब पोर्टल के माध्यम से पंजीकरण कर रहे हैं। यह नौकरी पोर्टल, jobs.delhi.gov.in पर, भर्ती करने वालों और राजधानी में नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों के लिए एक ‘रोज़गार बाजार’ के रूप में काम करेगा।

पुणे में COVID 19 के लिए मेडिकल बेड आइसोलेशन के लिए ‘आश्रय’ सिस्टम लॉन्च किया गया

वैश्विक महामारी कोविड-19 से निपटने के लिए पुणे की एक डीम्ड यूनिवर्सिटी ने संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए एक विशेष किस्म के बिस्तर की प्रणाली विकसित की है। इन मेडिकल बेड को ‘आश्रय’ नाम दिया गया है। इन बेड को इस तरह बनाया गया है कि मरीज के संक्रमण को औरों तक फैलने से रोकेगा या फिर उसे एकदम सीमित कर देगा। भारत में इस संक्रमण के अत्यधिक फैलने से अस्पतालों में मरीजों का अलग कमरों में इलाज मुश्किल हो गया है। इसलिए यह बेहद कारगर साबित होने वाला है। पुणे के डिफेंस इंस्टीट्यूट ऑफ एडवांस्ड टेक्नोलॉजी (डीआइएटी) का विकसित किया यह मेडिकल बेड आश्रय न सिर्फ सस्ता है, बल्कि कोविड-19 मरीजों को ध्यान में रखकर इसमें ऐसा फिल्टर सिस्टम लगाया गया है जो संक्रमण को बाहर फैलने नहीं देगा। साथ ही संक्रमित मरीज के सीमित क्षेत्र को भी लगातार संक्रमण मुक्त करता रहेगा। इसे साफ करके बार-बार उपयोग किया जा सकता है। मेडिकल बेड के ढांचे को मेडिकल ग्रेड के एक ऐसे पारदर्शी मैटेरियल से बनाया गया है जो संक्रमित मरीज को पूरी तरह से पैक करके किसी भी स्थान से एकदम अलग कर देता है।

रूस में दूसरे COVID-19 वैक्सीन का मानव परीक्षण शुरू हुआ

एक सरकारी रूसी वायरोलॉजी संस्थान ने देश के दूसरे COVID-19 वैक्सीन के मानव परीक्षणों को पांच स्वयंसेवकों में इंजेक्ट करके शुरू किया है और बताया गया है कि इस प्रक्रिया के बाद सभी व्यक्ति ठीक हैँ। साइबेरिया में वेक्टर वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट नामक संस्थान द्वारा एक और स्वयंसेवी परीक्षण 30 जुलाई को शुरू किया जायेगा। यह संस्थान पहले इबोला के लिए विकसित एक प्लेटफार्म का उपयोग कर एक पेप्टाइड वैक्सीन का परीक्षण कर रहा है। 18 से 60 वर्ष की आयु के बीच कुल 100 स्वयंसेवकों को परीक्षण में शामिल करने का अनुमान है। इसके अलावा, संस्थान घातक वायरस के लिए पांच अन्य संभावित टीकों पर भी काम कर रहा है। इस संबंध में, एक अन्य रूसी संस्थान भी एक एडेनोवायरस-आधारित टीका पूरा होने के बाद इस महीने मानव परीक्षणों में प्रवेश कर रहा है। गामालेया संस्थान इस प्रक्रिया में शामिल है और यह अगस्त तक बड़े पैमाने पर परीक्षण करने जा रहा है। डब्ल्यूएचओ के आंकड़ों के अनुसार कुल मिलाकर दुनिया भर में चार टीके मानव परीक्षणों के अंतिम चरण III में हैं। इसके अलावा दुनिया के विभिन्न देशों द्वारा घातक COVID-19 वायरस के प्रसार को रोकने के लिए 100 टीके विकसित किए जा रहे हैं।

सरकार ने मास्क और मेडिकल चश्मे के निर्यात की अनुमति दी

सरकार ने फेस शील्ड्स, कुछ प्रकार के सर्जिकल मास्क और मेडिकल चश्मे के निर्यात के मानदंडों में ढील दी है, जो मुख्य रूप से दुनिया भर में COVID-19 बीमारी के फैलने के कारण मांग में हैं। सरकार द्वारा प्रति माह 50 लाख इकाइयों के निर्यात कोटा के साथ व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) के शिपमेंट की अनुमति दी गई है।

DST ने "Lyfas COVID Score" विकसित करने के लिए Acculi Labs का किया चयन

विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग (DST) की एक पहल COVID-19 हेल्थ क्राइसिस (CAWACH) के साथ द सेंटर फॉर आगमेंटिंग वॉर द्वारा बेंगलुरु के स्टार्टअप Acculi Labs लैब्स को चुना गया है जिसने एक कोविड रिस्क मैनजमेंट ऐप "Lyfas COVID score" विकसित किया है। Lyfas, एक एंड्रॉइड एप्लिकेशन है, जिसमें जब कोई 5 मिनट के लिए मोबाइल फोन के रियर फोन कैमरे पर तर्जनी उंगली रखता है, तो नाड़ी और रक्त की मात्रा में परिवर्तन होता है और 95 बायोमार्कर एल्गोरिदम और सिग्नल प्रोसेसिंग तकनीकों के साथ इसका विश्लेषण प्राप्त होता है। साथ ही, यह शरीर की धमनी का एक इकठ्ठा रिकॉर्ड करने के लिए स्मार्टफोन प्रोसेसर और स्मार्टफोन सेंसर का भी उपयोग करेगी।

जेमी वर्डी ने जीता प्रीमियर लीग्स गोल्डन बूट फुटबॉल अवार्ड

लीसेस्टर सिटी के स्ट्राइकर जेमी वर्डी (Jamie Vardy) को 2019/20 सीज़न में 23 गोल करने के लिए प्रीमियर लीग्स गोल्डन बूट फुटबॉल अवार्ड से नवाजा गया है। उन्होंने आर्सेनल के स्ट्राइकर पियरे-एमरिक ऑबामेयांग (22 गोल), साउथेम्प्टन डैनी इंग्स (22 गोल) और मैनचेस्टर सिटी के फॉरवर्ड रेहेम स्टर्लिंग (20 गोल) को हराकर प्रतिष्ठित व्यक्तिगत पुरस्कार जीता है। इसी के साथ जेमी, इस पुरस्कार को जीतने वाले पहले लीसेस्टर सिटी खिलाड़ी बन गए हैं और पिछले 20 वर्षों में हैरी केन के बाद केवल दूसरे इंग्लिश खिलाड़ी हैं। मैनचेस्टर सिटी के ब्राजील के कीपर एडर्सन ने बर्नले के निक पोप को पुरस्कार के लिए नॉर्विच सिटी के खिलाफ सीजन की अपनी 16 वीं क्लीन शीट रखने के बाद गोल्डन ग्लोव पुरस्कार जीता।

स्टुअर्ट ब्रॉड 500 टेस्ट विकेट लेने वाले बने 7 वें गेंदबाज

इंग्लैंड के क्रिकेटर स्टुअर्ट ब्रॉड टेस्ट क्रिकेट में 500 विकेट लेने वाले 7 वें गेंदबाज बन गए है। स्टुअर्ट ब्रॉड ने यह मुकाम वेस्ट इंडीज के खिलाफ मैनचेस्टर में खेले गए तीसरे टेस्ट के 5 वें दिन हासिल किया। क्रैग ब्रैथवेट, स्टुअर्ट ब्रॉड के 500 वें टेस्ट शिकार बने। ब्रॉड यह उपलब्धि हासिल करने वाले एंडरसन के बाद इंग्लैंड के दूसरे गेंदबाज और सबसे ज्यादा विकेट लेने वालों की सूची में 7 वें स्थान पर पहुँच गए है, जिसमे 800 के साथ श्रीलंकाई दिग्गज मुथैया मुरलीधरन सबसे ऊपर है, इसमें शामिल अन्य खिलाड़ी हैं, शेन वार्न (708), अनिल कुंबले (619), एंडरसन (589) ), ग्लेन मैक्ग्रा (563) और कोर्टनी वाल्श (519) हैं।

बांग्लादेशी पेसर काजी अनिक इस्लाम पर डोपिंग के चलते लगा 2 साल का बैन

बांग्लादेशी तेज गेंदबाज काजी अनिक इस्लाम पर राष्ट्रीय क्रिकेट बोर्ड द्वारा 2018 में हुए डोप टेस्ट में फैल होने बाद 2 साल का प्रतिबंध लगा दिया गया है। काजी, जो 2018 अंडर -19 विश्व कप में बांग्लादेश के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले खिलाड़ी थे, उन्हें उसी वर्ष एक राष्ट्रीय क्रिकेट लीग खेल के दौरान प्रतिबंधित पदार्थ Methamphetamine का टेस्ट पॉजिटिव पाया गया। 21 वर्षीय ने खिलाड़ी ने जुर्म कबूल कर लिया। उनका दो साल का प्रतिबंध 8 फरवरी, 2019 से लागू होगा।

29 जुलाई : अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस

अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस प्रतिवर्ष 29 जुलाई को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत 2010 में सेंट पीटर्सबर्ग में आयोजित टाइगर समिट से हुई थी। इसका उद्देश्य बाघ के प्राकृतिक आवास को सुरक्षित करना व बाघ संरक्षण के बारे में जागरूकता फैलाना है। वर्ल्ड वाइल्ड लाइफ फण्ड फॉर नेचर एक अंतर्राष्ट्रीय गैर-सरकारी संगठन है, यह संगठन वन्य जीवों के संरक्षण के लिए कार्य करता है। इसकी स्थापना 29 अप्रैल, 1961 को की गयी थी। इसका मुख्यालय स्विट्ज़रलैंड के रुए मौवेर्नी में स्थित है। इस संगठन का उद्देश्य वन्यजीवों का संरक्षण तथा पर्यावरण पर मानव के प्रभाव को कम करना है। WWF वर्ष1998 से प्रत्येक दो वर्ष बाद लिविंग प्लेनेट रिपोर्ट प्रकाशित करता है।

बाल कल्याण कार्यकर्ता अच्युता राव का निधन

बाला हक्कुला संघम के संस्थापक और अध्यक्ष पी अच्युता राव का COVID-19 के कारण निधन। वह एक प्रसिद्ध बाल अधिकार कार्यकर्ता थे और जिन्होंने वर्ष 1984 में बाला हक्कुला संघम की स्थापना की थी। उन्हें बाल विवाह, बाल यौन शोषण की घटनाओं और बाल श्रम को रोकने में मदद करने के लिए जाना जाता है। राव ने हाल ही में तेलंगाना उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की थी जिसमें कहा गया था कि सरकारी स्कूलों में छात्रों को दोपहर में भोजन परोसा जाना चाहिए है क्योंकि वे महामारी के कारण बंद होने के कारण इसे प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.