Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

1 October 2020

श्री गौड़ा ने किसानों के लिए पीओएस 3.1 सॉफ्टवेयर, एसएमएस सेवा और घर पर उर्वरक उपलब्ध कराने के लिए आरबीके का शुभारंभ किया

केंद्रीय रसायन और उर्वरक मंत्री श्री डी.वी. सदानंद गौड़ा ने आंध्र प्रदेश में किसानों के लिए उर्वरकों की उपलब्धता आसान बनाने के लिए प्वाइंट ऑफ़ सेल (पीओएस) सॉफ्टवेयर के नए संस्करण 3.1, एसएमएस सेवा और घर पर उर्वरक पहुंचाने की सुविधा के तहत ऋतु भरोसा केन्द्रलु (आरबीके) का शुभारंभ किया। श्री गौड़ा ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री वाई.एस. जगनमोहन रेड्डी को उनकी सरकार द्वारा उर्वरकों को घर पर उपलब्ध कराने की सेवा शुरु करने के उत्कृष्ट कार्य के लिए बधाई दी। आंध्र प्रदेश एकमात्र राज्य है, जिसने इस तरह की अनूठी पहल शुरु की है। पीओएस के इस नए संस्करण के तहत मशीन पर प्रमाणिकरण और पुन: पंजीकरण के दो तरीके शामिल किए गए हैं। नए संस्करण में मौजूदा महामारी की स्थिति को ध्यान में रखते हुए, संपर्क रहित ओटीपी आधारित प्रमाणीकरण विकल्प पेश किया गया है। किसान अब पीओएस मशीन के फिंगर प्रिंट सेंसर को छुए बिना ही उर्वरक खरीद सकेंगे। ऋतु भरोसा केन्द्रलू (आरबीके) के माध्यम से उर्वरकों की होम डिलीवरी की नई पहल के तहत, राज्य सरकार ने सभी ग्राम पंचायतों में ऐसे 10,641 केन्द्र शुरु किए हैं ताकि किसानों को सभी तरह की गुणवत्ता युक्त सेवाएं प्रदान की जा सकें। इस प्रणाली के तहत, बायोमेट्रिक प्रमाणीकरण के बाद किसान अपने गाँव में ऐसे किसी भी केन्द्र पर उर्वरकों के लिए खरीद का ऑर्डर दे सकते हैं। इस ऑर्डर के आधार पर उवर्रक उनके घर पर पहुंचा दिया जाएगा।

युवा कार्यक्रम और खेल मंत्री, श्री किरेन रिजिजू ने भारतीय खेल प्राधिकरण का नया लोगो जारी किया

युवा कार्यक्रम और खेल राज्य मंत्री श्री किरेन रिजिजू ने दिल्ली के मेजर ध्यानचंद स्टेडियम में भारतीय खेल प्राधिकरण (एसएआई ) के नए लोगो का शुभारंभ किया। वर्ष 1982 में साई की स्थापना के बाद से यह संस्था देश में खेल पारिस्थितिकी तंत्र का केंद्र रही है। साई देश भर में जमीनी स्तर की प्रतिभाओं को पहचानने और विकसित करने में सहायक रहा है। साई का नया लोगो देश में खेल की उत्कृष्टता का निर्माण करने के लिए जमीनी स्तर पर खेल प्रतिभाओं को पहचानने और पोषण करने से इस क्षेत्र में बदलाव का संकेत प्रदान करता है।

श्री थावरचंद गहलोत ने अनुसूचित जाति के लिए वेंचर कैपिटल फंड के तहत अंबेडकर सोशल इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन मिशन (एएसआईआईएम) को वर्चुअल माध्यम से लॉन्च किया

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने उच्च शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत अनुसूचित जाति (एससी) के छात्रों के बीच नवाचार और उद्यम को बढ़ावा देने के उद्देश्य से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एससी के लिए वेंचर कैपिटल फंड के तहत अंबेडकर सोशल इनोवेशन एंड इनक्यूबेशन मिशन(एएसआईआईएम) का शुभारंभ किया। सामाजिक न्याय मंत्रालय ने अनुसूचित जाति/दिव्यांग युवाओं में उद्यमिता विकसित करने और उन्हें 'नौकरी देने वाले' बनने में सक्षम बनाने के उद्देश्य से 2014-15 में एससी के लिए वेंचर कैपिटल फंड (वीसीएफ-एससी) की शुरुआत की गई थी। इस फंड का उद्देश्य अनुसूचित जाति के उद्यमियों की संस्थाओं को रियायती वित्त प्रदान करना है। इस फंड के तहत एससी उद्यमियों द्वारा प्रोन्नत 117 कंपनियों को बिजनेस वेंचर स्थापित करने के लिए वित्तीय सहायता मंजूर की गई है। "अंबेडकर सोशल इनोवेशन इनक्यूबेशन मिशन" (एएसआईआईएम) पहल के तहत, विभिन्न उच्च शिक्षण संस्थानों में प्रौद्योगिकी व्यापार इनक्यूबेटर (टीबीआई) के माध्यम से अगले 4 वर्षों में स्टार्ट-अप विचारों के साथ 1,000 अनुसूचित जाति युवाओं की पहचान की जाएगी। उन्हें इक्विटी फंडिंग के तौर पर 3 साल में 30 लाख रुपये का फंड दिया जाएगा ताकि वे अपने स्टार्ट-अप के विचार को वाणिज्यिक उद्यम में परिवर्तित कर सकें।

नीति आयोग और नीदरलैंड्स के राजदूत ने ‘डीकार्बोनाइजेशन एंड एनर्जी ट्रांजिशन एजेंडा’ समझौते पर हस्ताक्षर किए

नीति आयोग और नयी दिल्ली में स्थित नीदरलैंड्स के दूतावास ने स्वच्छ और अधिक ऊर्जा को समायोजित करने को समर्थन देने के लिए ‘डीकार्बोनाइजेशन एंड एनर्जी ट्रांजिशन एजेंडा’ एक समझौते (एसओआई) पर 28 सितंबर 2020 को हस्ताक्षर किए। एसओआई पर नीति आयोग के सीईओ अमिताभ कांत और नीदरलैंड्स के राजदूत मार्टेन वैन डेन बर्ग ने हस्ताक्षर किए। इस स​हयोग के माध्यम से नीति आयोग और डच दूतावास एक मंच बनाने के लिए एक रणनीतिक साझेदार की तलाश करता है जो नीति निर्माताओं, उद्योग निकायों, ओईएम, निजी उद्यमियों और क्षेत्र के विशेषज्ञों सहित हितधारकों और प्रभावकारियों के बीच एक व्यापक सहयोग को सक्षम बनाता है। साझेदारी का उददेश्य दोनों संस्थाओं की विशेषज्ञता का लाभ उठाते हुए नवीन तकनीकी उपायों का सह-निर्माण करना है। यह ज्ञान और सहयोगी गतिविधियों के आदान-प्रदान के माध्यम से प्राप्त किया जाएगा।

केरल टूरिज्म ने जीता PATA ग्रैंड अवार्ड 2020

केरल टूरिज्म के 'ह्यूमन बाय नेचर प्रिंट कैम्पेन’ (‘Human by Nature Print Campaign’) को मार्केटिंग के लिए प्रतिष्ठित पैसिफिक एशिया ट्रैवल एसोसिएशन (PATA) को ग्रैंड टाइटल विनर 2020 से सम्मानित किया गया है। बीजिंग में वर्चुअल पाटा ट्रैवल मार्ट 2020 के एक प्रस्तुति समारोह (presentation ceremony ) के दौरान पुरस्कारों की घोषणा की गई। PATA अवार्ड्स मकाओ सरकार पर्यटक कार्यालय (MGTO) द्वारा समर्थित और प्रायोजित हैं। ‘ह्यूमन बाय नेचर’ पर्यटन को पुनर्जीवित करने के लिए एक मार्केटिंग स्ट्रेटेजी थी, जो 2018 की बाढ़ और निपा के प्रकोप से प्रभावित थी। संस्कृति और लोगों के दैनिक जीवन को दर्शाते हुए, इसका कांसेपचुलाईजेशन और स्क्रिप्ट स्टार्क कम्युनिकेशंस द्वारा किया गया। इस अभियान ने केरल पर्यटन को 2019 में पर्यटन के आगमन में 17.2% की रिकॉर्ड वृद्धि हासिल करने में मदद की थी, जो कि 24 वर्षों में सबसे अधिक है। PATA ग्रैंड टाइटल विजेता (PATA Grand Title Winners 2020) :

S.No.PATA Grand Title Categorywinner
1PATA Grand Title Winner 2020 for Marketing‘Human by Nature Print Campaign’ by Kerala Tourism, India
2PATA Grand Title Winner 2020 for Sustainability‘Anurak Community Lodge’ by YAANA Ventures, Thailand
3PATA Grand Title Winner 2020 in Human Capital Development‘Unleashing Greatness’ by MGM China, Macao, China

असम सरकार ने पर्यटन संजीवनी योजना की घोषणा की

असम में Covid 19 आघात के बाद पर्यटन उद्योग में नई जान फूंकने के लिए,असम सरकार ने पर्यटन संजीवनी योजना की घोषणा की है, जिसके तहत इच्छुक उद्यमी को 1 लाख रु से 20 लाख रु तक ऋण दिए जाएंगे। असम पर्यटन विकास निगम लिमिटेड के सहयोग से असम सरकार द्वारा आयोजित एक पर्यटन सम्मेलन में इसकी घोषणा करते हुए, मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा कि इस योजना की कल्पना उद्यमी को सशक्तिकरण देने के लिए की गई है।

केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन एवं डेयरी मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने मछुआरों और मत्स्य पालकों तक पहुंचने के लिए प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना पर एक व्यापक लाभार्थी पुस्तिका के साथ "मत्स्य सम्पदा" न्यूजलेटर के दूसरे संस्करण का विमोचन किया

केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री श्री गिरिराज सिंह ने न्यूजलेटर "मत्स्य संपदा" के दूसरे संस्करण और प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना (पीएमएमएसवाई) पर लाभार्थी पुस्तिका का विमोचन किया, जिसमें पीएमएमएसवाई योजना के विभिन्न घटकों/गतिविधियों की व्यापक रूपरेखा तैयार की गई है और प्रस्ताव प्रस्तुत करने के तौर-तरीके हैं, जो मछुआरों और इस क्षेत्र के अन्य हितधारकों के लिए एक मूल्यवान संसाधन होगी। पीएमएमएसवाई का लक्ष्य 2024-25 तक मछली उत्पादन को 220 लाख टन तक बढ़ाना है। यह भारत के मछुआरों और मछली पालकों तक पहुंचने के लिए मत्स्य विभाग की एक मीडिया आउटरीच योजना है। श्री गिरिराज सिंह ने दोहराया कि इस महत्वाकांक्षी योजना से निर्यात आय दोगुनी होकर 1,00,000 करोड़ रुपये हो जाएगी और अगले पांच वर्षों की अवधि में मत्स्य पालन क्षेत्र में लगभग 55 लाख प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर पैदा होंगे।

स्वदेशी बूस्टर से युक्त ब्रह्मोस मिसाइल का सफल परीक्षण

स्वदेशी बूस्टर और एयरफ्रेम सेक्शन के साथ ही कई अन्य ‘मेड इन इंडिया’ उप प्रणालियों से युक्त सतह से सतह तक मार करने वाली सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का ओडिशा में आईटीआर, बालासोर से 30 सितंबर, 2020 को निर्धारित रेंज के लिए सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया। यह स्वदेशीकरण के विस्तार की दिशा में एक अन्य महत्वपूर्ण कदम है। ब्रह्मोस लैंड-अटैक क्रूज मिसाइल (एलएसीएम) की अधिकतम गति मैक 2.8 रही थी।

भारत ने केन्‍या और भूटान के साथ एक दूसरे के देश में विमानों के आवागमन की व्‍यवस्‍था स्‍थापित की

भारत ने केन्‍या और भूटान के साथ एक दूसरे के देश में विमानों के आवागमन की व्‍यवस्‍था 'एयर बबल' स्‍थापित की है। इस समझौते के अंतर्गत भारत अपनी हवाई सेवा इन दो देशों में देगा वहीं ये दोनों देश भारत में अपनी सेवा दे सकेगा। एयर बबल व्यवस्था के अंतर्गत किन्ही दो देशों में फंसे वहां के नागरिकों को सुरक्षित वापस लाने की प्रक्रिया है। कोरोना महामारी के बीच बहुत लोगों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा जिनका वीजा खत्म हो रहा था। शुरू में वंदे भारत मिशन के तहत भारत ने कुछ स्पेशल उड़ानें चलाईं और दुनिया भर से भारतीयों को देश वापस लाया गया। वहीं इसके बाद एयर बबल व्यवस्था की शुरुआत की गई।

मुंबई में मास्‍क नहीं पहनने वाले लोगों को सार्वजनिक परिवहन के साधनों के उपयोग की अनुमति नहीं

बृहन्‍मुंबई महानगर पालिका ने कहा है कि मुंबई में मास्‍क नहीं पहनने वाले लोगों को बसों, टैक्‍सी और ऑटोरिक्‍शा जैसे सार्वजनिक परिवहन के साधनों के उपयोग की अनुमति नहीं दी जाएगी। बीएमसी के अनुसार मॉल, कार्यालयों, रिहायशी सोसायटी जैसी तमाम जगहों पर 'मास्‍क नहीं तो प्रवेश नहीं' के स्‍टीकर लगाए जाएंगे ताकि लोगों में कोरोना वायरस के प्रकोप के बचाव के लिए मुंह को ढकने जैसे उपायों के प्रति जागरूकता बढ़े।

पहली नैफेड किसान मंडी पुणे में 30 एफपीओ के साथ मिलकर स्थापित की गई है।

सहकारी क्षेत्र की प्रमुख संस्था नैफेड (भारतीय राष्ट्रीय कृषि सहकारी विपणन संघ लिमिटेड) ने एक साल के भीतर देश में सौ से अधिक मंडियां स्थापित करने का फैसला किया है। महाराष्ट्र के पुणे में पहली मंडी खुल भी गई है। किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) और सहकारी समितियों के साथ मिलकर नैफेड ने यह बहुप्रतीक्षित बड़ी पहल की है। इन मंडियों में बुनियादी सुविधाओं का विकास नैफेड की ओर से किया जाएगा, जबकि उनका नियमित संचालन एफपीओ का प्रबंधन करेगा।सरकार की मंशा के अनुरूप, इन निजी मंडियों में किसानों के हित में सभी सुविधाएं मुफ्त में मुहैया कराई जाएंगी।

इसरो का शुक्र मिशन 2025 में, फ्रांस होगा शामिल: सीएनईएसनई

फ्रांस की अंतरिक्ष एजेंसी सीएनईएस ने कहा कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) 2025 में शुक्र ग्रह से संबंधित अपने मिशन को अंजाम देगा और फ्रांस इसमें शामिल होगा। सीएनईएस ने एक बयान में कहा कि इसरो ने आग्रह प्रस्तावों के बाद मिशन के लिए रूसी अंतरिक्ष एजेंसी ‘रॉस्कॉस्मस’ और फ्रांस के राष्ट्रीय वैज्ञानिक अनुसंधान केंद्र सीएनआरएस से संबंधित फ्रांसीसी अनुसंधान प्रयोगशाला ‘लैटमॉस’ द्वारा संयुक्त रूप से विकसित ‘वाइरल’ (वीनस इन्फ्रारेड एटमस्फेरिक गैसेज लिंकर) उपकरण का चयन किया है।इसरो अध्यक्ष के. सिवन और सीएनईएस अध्यक्ष जीन यवेस ले. गाल ने आपस में बातचीत की और अंतरिक्ष में भारत तथा फ्रांस के बीच सहयोग वाले क्षेत्रों की समीक्षा की।

राजनाथ सिंह ने किया डॉ. कृष्णा की पुस्तक ‘A Bouquet Of Flowers’ का विमोचन

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने डॉ. कृष्णा सक्सेना की पुस्तक का विमोचन किया, जिसका शीर्षक ‘A bouquet of flowers’ है। डॉ. कृष्णा सकसेना 1955 में उत्तर प्रदेश के लखनऊ से पीएचडी करने वाली पहली महिला हैं। पुस्तक को इस प्रकार लिखा गया है कि पाठक खुद की यात्रा को देखें और उससे अपने स्वयं के व्यक्तिगत अहसास से प्रेरित हो सकें।

विदेश मंत्री एस. जयशंकर जापान की यात्रा करेंगे

विदेश मंत्री एस. जयशंकर 6 और 7 अक्टूबर, 2020 को जापान की यात्रा पर जायेंगे। इस यात्रा के दौरान, मंत्री अपने जापानी समकक्ष के साथ वार्ता करेंगे और क्वाड गठबंधन की मंत्री स्तरीय बैठक में भी भाग लेंगे। क्वाड गठबंधन की मंत्री स्तरीय बैठक के तहत वे जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया जैसे QUAD सदस्यों के मंत्रियों से मिलेंगे। वे क्षेत्रीय मुद्दों तथा खुले और समावेशी हिन्द-प्रशांत क्षेत्र के महत्व पर चर्चा करेंगे। यह बैठक जापान की राजधानी टोक्यो में होगी।

शेख नवाफ बने कुवैत के नए अमीर

कुवैत में शेख नवाफ अल अहमद अल सबा ने नए अमीर का पद संभाल लिया। शेख नवाफ ने लंबे समय तक रक्षा सेवा में कार्य किया है। उन्होंने अपने सौतेले भाई शेख सबा अल अहमद अल सबा के निधन के बाद छोटे से तेल संपन्न देश के अमीर का पद संभाला है। कुवैत में अमीर राष्ट्राध्यक्ष और शासनाध्यक्ष होता है। 29 सितंबर, 2020 को कुवैत के शासक शेख सबाह अल अहमद का 91 वर्ष की उम्र में निधन हो गया है। 16 जून, 1929 को जन्मे शेख सबाह अल अहमद ने 29 जनवरी, 2006 को कुवैत के शासक या कुवैत के अमीर (Emir) का पद संभाला था, इससे पूर्व उन्हें वर्ष 2003 में उनके भाई और कुवैत के तत्कालीन अमीर, शेख जाबेर अल अहमद द्वारा कुवैत के प्रधानमंत्री के पद पर नियुक्त किया गया था। शेख सबाह अल अहमद, अल सबाह वंश के 15वें शासक और कुवैत की आज़ादी के बाद 5वें शासक थे।

आइओसीएल हरियाणा स्थित रिफाइनरी में विषैली गैसें से जैव ईंधन एथेनॉल बनाया जाएगा

इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (आइओसीएल) की पानीपत, हरियाणा स्थित रिफाइनरी अब विषैली गैसें नहीं उगलेगी। इन गैसों से जैव ईंधन एथेनॉल बनाया जाएगा। प्रति वर्ष 10 लाख टन कार्बन डाई ऑक्साइड को वातावरण में घुलने से रोका जा सकेगा।यही नहीं, यहां प्रति वर्ष उत्पादित होने वाला 7.26 करोड़ लीटर जैव ईंधन 18 करोड़ लीटर क्रूड ऑयल का विकल्प बनेगा। प्लांट लगाने का काम प्रारंभ हो गया है। वर्ष भर में यह सक्रिय हो जाएगा। भारत विश्व का पहला देश बनने जा रहा है, जहां किसी रिफाइनरी में प्रदूषण नियंत्रण की ऐसी अत्याधुनिक युक्ति का उपयोग होगा। चीन ने रिफाइनरी में तो नहीं, किंतु स्टील उद्योग में इसे आजमाया है।

महाराष्ट्र के पालघर ज़िले में कांगो फीवर के संभावित प्रसार के खिलाफ सतर्क रहने के निर्देश

महाराष्ट्र के पालघर प्रशासन ने ज़िले स्तर के अधिकारियों को पालघर ज़िले में कांगो फीवर (Congo Fever) के संभावित प्रसार के खिलाफ सतर्क रहने के निर्देश दिये हैं। पालघर ज़िला प्रशासन ने कहा कि COVID-19 महामारी के मद्देनज़र ‘कांगो फीवर’ मवेशी प्रजनकों, माँस-विक्रेताओं एवं पशुपालन अधिकारियों के लिये चिंता का विषय है और इस समय सावधानी बरतना आवश्यक है क्योंकि इसका कोई विशिष्ट एवं उपयोगी उपचार नहीं है। गौरतलब है कि CCHF के कई मामले गुजरात के कुछ ज़िलों में पाए गए हैं, अतः महाराष्ट्र के सीमावर्ती ज़िलों में इसके फैलने की संभावना है। महाराष्ट्र का पालघर ज़िला, गुजरात के वलसाड ज़िले के करीब है। यह वायरल बीमारी एक विशेष प्रकार की टिक द्वारा एक जानवर से दूसरे जानवर में फैलती है। संक्रमित जानवरों के खून के संपर्क में आने या संक्रमित जानवरों का माँस खाने से यह बीमारी इंसानों में फैल जाती है। मानव-से-मानव में इस बीमारी का संचरण संक्रमित व्यक्तियों के रक्त स्राव, अंगों या अन्य शारीरिक तरल पदार्थों के निकट संपर्क के परिणामस्वरूप हो सकता है।

संयुक्त अरब अमीरात का चंद्र मिशन

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि उनका देश वर्ष 2024 में चंद्रमा पर एक मानव रहित अंतरिक्ष यान भेजने की योजना बना रहा है। शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम (Sheikh Mohammed bin Rashid Al Maktoum) जो दुबई के शासक भी हैं, ने ट्विटर पर इसकी घोषणा की है।शेख मोहम्मद की यह घोषणा UAE द्वारा इस वर्ष की शुरुआत में एक ‘मार्श प्रोब’ (Mars Probe) शुरू करने के बाद हुई है, जो अरब प्रायद्वीप पर एक तेल समृद्ध राष्ट्र है।शेख मोहम्मद ने बताया कि चाँद पर भेजे जाने वाले रोवर का नाम ‘राशिद’ होगा जो उनके दिवंगत पिता शेख राशिद बिन सईद अल मकतौम (Sheikh Rashid bin Saeed Al Maktoum) का नाम था।वर्ष 2024 में इस मिशन के सफल होने पर संयुक्त अरब अमीरात (UAE) संयुक्त राज्य अमेरिका, सोवियत संघ एवं चीन के बाद चंद्रमा पर अंतरिक्ष यान उतारने वाला विश्व का चौथा राष्ट्र बन सकता है।

पीएमएनसीएच अकाउंटबिलिटी ब्रेकफास्ट-2020

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से मातृ, नवजात एवं बाल स्वास्थ्य के लिये भागीदारी (The Partnership for Maternal, Newborn and Child Health- PMNCH) हेतु अकाउंटबिलिटी ब्रेकफास्ट-2020 (Accountability Breakfast-2020) कार्यक्रम में भाग लिया। इस वर्ष के लिये इस कार्यक्रम की थीम ‘COVID-19 महामारी से प्रजनन, मातृ एवं बाल स्वास्थ्य के क्षेत्र में कड़ी मेहनत से अर्जित लाभ की रक्षा करने का प्रयास करना’ है। इस आयोजन की संयुक्त-मेज़बानी ‘व्हाइट रिबन अलायंस’ (WRA) एवं ‘एवरी वुमन एवरी चाइल्ड’ (EWEC) द्वारा की गई थी।

बीएसई ने एसएमई को सशक्त बनाने के लिए यस बैंक के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) ने घोषणा की कि उसने छोटे और मध्यम उद्यमों (एसएमई) को सशक्त बनाने के लिए निजी क्षेत्र के बैंक, यस बैंक के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। बीएसई के अनुसार, इस समझौते का उद्देश्य निर्यात को बढ़ावा देने, बैंकिंग और वित्तीय समाधानों के लिए जागरूकता और ज्ञान-साझाकरण कार्यक्रमों के माध्यम से, मंच पर सूचीबद्ध छोटे और मध्यम उद्यमों को सशक्त बनाना है। यस बैंक सूचीबद्ध एसएमई के लिए अनुकूलित सेवाएं और उत्पाद भी प्रदान करेगा।

IDBI बैंक बना SFMS पर डॉक्यूमेंट एम्बेडिंग फेसिलिटी वाला पहला बैंक

भारतीय वित्तीय प्रौद्योगिकी और संबद्ध सेवाओं (IFTAS).) के SFMS (Structured Financial Messaging System) मंच पर लेटर ऑफ क्रेडिट (LC) / बैंक गारंटी (BG) संदेशों के साथ डॉक्यूमेंट एम्बेडिंग फेसिलिटी की नई सुविधा को लागू करने वाला पहला भारतीय औद्योगिक विकास बैंक (IDBI) बन गया है। आईडीबीआई इंटेक द्वारा विकसित एक मिडलवेयर एप्लीकेशन "i@Connect-SFMS (CSFMS) के माध्यम से प्रक्रिया का संचालन किया जाएगा। "डॉक्यूमेंट एम्बेडिंग" की यह नई सुविधा बैंकों को LC / BG संदेशों के साथ "MB" दस्तावेज़ को 1MB साइज़ तक ट्रांस्मिटिंग करने की कार्यक्षमता प्रदान करती है। इस सुविधा के माध्यम से, डिजिटल रूप से हस्ताक्षरित दस्तावेजों का प्रसारण (transmission of digitally signed documents) होगा जो लेनदेन की विश्वसनीयता सुनिश्चित करता है। इस नई सुविधा का उद्देश्य व्यापार वित्त लेनदेन को और अधिक डिजिटाइज़ करना और वित्तीय संचार प्रणाली (financial communication system) को सुरक्षित करना है।

गूगल ने ‘मेक स्मॉल स्ट्रॉन्ग’ अभियान शुरू किया

देश की जीडीपी में 29 प्रतिशत और निर्यात में 48% का योगदान देने वाले लघु-मध्यम कारोबार 11 करोड़ से अधिक लोगों को रोज़गार मुहैया कराते हैं, लेकिन कोरोना काल में यह समूह काफ़ी दबाव में है। गूगल-कंतार की रिपोर्ट बताती है कि आधे से अधिक कारोबारी लागत भी नहीं निकाल पा रहे हैं। प्रतिष्ठित बहु-राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी कंपनी गूगल ने इस दिशा में एक पहल की है। गूगल ने 'मेक स्मॉल स्ट्रॉन्ग' अभियान शुरू किया है। इस पहल में लघु-मध्यम कारोबारियों के संकट और संघर्ष में आमजनों से मिली मदद और समाधान की जीवंत कथाएं जानेंगे। Google इंडिया ने ज़ोहो, इन्स्टामोज़ो, डंज़ो और स्विगी के साथ नई साझेदारी की घोषणा की है। गूगल दूरदर्शन के साथ साझेदारी में नमस्ते डिजिटल नामक एक नया टेलीविज़न शो भी शुरू करेगा। यह इंटरनेट के बारे में जानने और उन्हें अपना व्यवसाय बढ़ाने में मदद करने के लिए एसएमबी के लिए एक मास मीडिया प्रोग्राम होगा। जुलाई माह में गूगल ने ग्रो विद गूगल स्मॉल बिजनेस हब लॉन्च किया था, जिसका उद्देश्य व्यापारियों को सारे डिजिटल टूल्स एक प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराना था।

फ्लिपकार्ट और बजाज आलियांज ने लॉन्च किया साइबर इंश्योरेंस कवर

ई-कॉमर्स मार्केटप्लेस, फ्लिपकार्ट और बजाज आलियांज जनरल इंश्योरेंस ने ऑनलाइन वित्तीय धोखाधड़ी के लिए साइबर बीमा कवर शुरू किया है। यह उत्पाद, 'डिजिटल सुरक्षा ग्रुप इंश्योरेंस’, उन ग्राहकों की मदद करेगा, जो विभिन्न ऑनलाइन प्लेटफ़ॉर्म पर साइबर हमलों, साइबर धोखाधड़ी, या ऐसी अन्य दुर्भावनापूर्ण गतिविधियों के परिणामस्वरूप होने वाले वित्तीय नुकसान के खिलाफ खुद को कवर करना चाहते हैं। ग्राहक 50,000 के कवर के लिए 183 रुपये के प्रीमियम पर एक साल के कवर का विकल्प चुन सकते हैं। यह साइबर हमले, फ़िशिंग / स्पूफिंग और सिम-जैकिंग से उत्पन्न पहचान की चोरी के परिणामस्वरूप अनधिकृत डिजिटल वित्तीय लेनदेन के कारण प्रत्यक्ष वित्तीय नुकसान (बीमित राशि तक) की भरपाई करेगा।

NABARD कर्नाटक में करेगा स्वच्छता साक्षरता अभियान शुरू

नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट (NABARD) कर्नाटक में एक लाख ग्रामीण आबादी को कवर करने वाले 2,000 गांवों में,'WASH' (Water, Sanitation and Hygiene)(जल, स्वच्छता और स्वच्छता) पर साक्षरता को बढ़ावा देने के लिए एक स्वच्छता साक्षरता अभियान (SLC) शुरू करेगा। अभियान का उद्देश्य अच्छी स्वच्छता और स्वच्छता प्रथाओं को अपनाने के लिए महत्वपूर्ण व्यवहार परिवर्तनों को विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करना है। यह अभियान 2 अक्टूबर से शुरू होगा और 26 जनवरी, 2021 तक जारी रहेगा। अतीत में, नाबार्ड ने भी देश भर में 27,298 करोड़ रुपये की लागत वाले 3.29 करोड़ घरेलू शौचालयों के निर्माण का समर्थन किया था।

यात्रा प्रतिबंधों के चलते समुद्र में फंसे भारतीय नाविक की संयुक्त राष्ट्र के सहयोग से मदद कर रही एमयूआइ

भारत की सबसे पुरानी मर्चेट नेवी अफसरों की संस्था मेरीटाइम यूनियन ऑफ इंडिया (Maritime Union of India, MUI) संयुक्त राष्ट्र (United Nations) के साथ मिलकर समुद्र में फंसे हजारों भारतीय नाविकों की मदद कर रही है। समुद्री गतिविधियों के लिए कार्यरत संयुक्त राष्ट्र की संस्था इंटरनेशनल मेरीटाइम ऑर्गनाइजेशन (आइएमओ) ने ताजा परिस्थितियों में काम करने के लिए सीफेयरर्स क्राइसिस एक्शन टीम (एससीएटी) का गठन किया है। एमयूआइ इसी टीम के साथ मिलकर कार्य कर रही है।

HDFC ने भारत का पहला वेयरहाउस कमोडिटी फाइनेंस ऐप लॉन्च किया

एचडीएफसी बैंक ने वेयरहाउस कमोडिटी फाईनेंस ऐप लॉन्च किया। इसके द्वारा ग्राहक बैंक शाखा में बार बार जाए या हस्तक्षेप के बिना ऑनलाईन कमोडिटीज़ प्लेज़ लोन ले सकेंगे। इससे एग्री वैल्यू चेन में समय की बचत होगी तथा एफिशियंसी बढ़ेगी। नए ऐप से एग्री प्रोसेसर्स, ट्रेडर्स व किसानों को लाभ मिलेगा, जो डब्लूएचआर लोन (वेयरहाउस रिसीप्ट लोन) के प्राथमिक हितग्राही हैं।

MECL ने कोलार में 16 साल बाद सोने का खनन शुरू किया

MECL (Mineral Exploration Corporation Limited) ने हाल ही में कोलार गोल्ड फील्ड अन्वेषण 16 साल बाद शुरू किया। कोलार स्वर्ण खदानें बेंगलुरु से लगभग 100 किमी दूर स्थित हैं। सोने की कीमतों में गिरावट के कारण उन्हें 2001 में बंद कर दिया गया था। इन खानों में पाइरोक्लास्टिक और पिलो लावा को भारतीय भूवैज्ञानिक सर्वेक्षण द्वारा राष्ट्रीय भूवैज्ञानिक स्मारक घोषित किया गया था। यह जियो-पर्यटन के संरक्षण, रखरखाव और प्रोत्साहन के लिए किया गया था। शिवानसमुद्र, मांड्या में बिजली उत्पादन इकाइयों को 1889 में खनन कार्यों का समर्थन करने के लिए बनाया गया था। 1956 में कोलार गोल्ड माइंस का राष्ट्रीयकरण किया गया था। 2001 में केंद्र सरकार द्वारा खनन कार्यों को बंद कर दिया गया था। भारत में सोने का सबसे बड़ा उत्पादक कर्नाटक है। कर्नाटक की कोलार सोने की खदानें दुनिया की सबसे गहरी खानों में से एक है। दक्षिण अफ्रीका की मोपेंग गोल्ड माइन्स दुनिया की सबसे गहरी सोने की खान है।

30 सितम्बर : हरिजन सेवक संघ स्थापना दिवस

हरिजन सेवक संघ की स्थापना 30 सितंबर, 1932 को हुई थी। इसकी स्थापना गांधीजी ने की थी। उन्होंने इसकी स्थापना तब की जब वे पुणे के येरवदा जेल में थे। गांधीजी ने एक अलग समूह में हिंदू समुदाय के दबे हुए वर्गों के अलगाव का विरोध किया। यह 1931 में लंदन में आयोजित द्वितीय गोलमेज सम्मेलन में किया गया था। बी.आर. अंबेडकर ने ब्रिटिश सरकार को दलित वर्ग को सांप्रदायिक आधार पर प्रतिनिधित्व प्रदान करने की सिफारिश की थी। गांधीजी के अनुसार, हिंदू समुदाय में विभाजन पैदा करने के लिए यह कदम उठाया गया था। उनका मत था कि यह अंग्रेजों की फूट डालो और राज करो की नीति का हिस्सा था। बाद में 30 सितंबर, 1932 को गांधीजी ने All India Untouchability League की स्थापना की। बाद में इस लीग का नाम बदलकर “हरिजन सेवा संघ” कर दिया गया। इसके बाद उन्होंने हरिजन अखबार की स्थापना की।

अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस : 30 सितम्बर

30 सितम्बर को संयुक्त राष्ट्र द्वारा अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस मनाया जाता है। इसके द्वारा उन सभी लोगों को सम्मानित किया जाता है जो अंतर्राष्ट्रीय कूटनीति में संवाद में भाषा विशेषज्ञ के रूप में कार्य करके विकास तथा वैश्विक शान्ति को बढ़ावा देते हैं। इस दिवस के द्वारा साहित्यिक व वैज्ञानिक कार्य के शुद्ध तथा स्पष्ट अनुवाद कार्य को भी अति-आवश्यक माना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस को संयुक्त राष्ट्र महासभा ने मई, 2017 में प्रस्ताव 71/288 को पारित करके स्थापित किया था। देशों को निकट लाने, संवाद में सहायता करने तथा सहयोग के लिए अनुवाद की भूमिका अत्यंत महत्वपूर्ण है, यह विश्व शांति तथा विकास में काफी योगदान देता है। बाइबिल के अनुवादक सेंट जेरोम के त्यौहार के कारण 30 सितम्बर को अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस चुना गया। सेंट जेरोम ने बाइबिल का अनुवाद किया था, उन्हें अनुवादकों का संरक्षक माना जाता है। अंतर्राष्ट्रीय अनुवाद दिवस 2020 विषय: संकट में दुनिया के लिए शब्दों की तलाश करना

वयोवृद्ध लेखक और आलोचक डॉ. जी एस अमूर का निधन

वयोवृद्ध लेखक और आलोचक डॉ. जी एस अमूर का निधन हो गया है। वे कन्नड़ और अंग्रेजी भाषाओं में कुशल थे। उन्होंने साहित्य अकादमी पुरस्कार, राज्योत्सव पुरस्कार और भारतीय भाषा पुरस्कार सहित कई पुरस्कार जीते थे। उनके द्वारा लिखी गयीं किताबें अंग्रेजी(‘Forbidden Fruit, Views on Indo-Anglian Fiction’ और ‘Colonial Consciousness in Commonwealth Literature’), कन्नड़(‘Arthaloka’, Are Kannada Kadambariya Belavanige’, ‘Vyavasaya’ और ‘Kaadambariya Swaroopa’)।

सुप्रसिद्ध गीतकार अभिलाष का निधन

सुप्रसिद्ध गीतकार अभिलाष का निधन हो गया है। उन्हें 1986 की फिल्म अंकुश के गीत- इतनी शक्ति हमें देना दाता’ के लिए जाना जाता था। उनका असली नाम ओम प्रकाश था। उनके गीत 'इतनी शक्ति हमें देना दाता' का आठ भाषाओं में अनुवाद किया गया है और आज भी स्कूलों और अन्य संस्थानों में प्रार्थना गीत के रूप में गाया जाता है। उनके पाँच दशकों के करियर में, अभिलाष ने रफ़्तार (1975) और आवारा लडकी (1975) जैसी फिल्मों के लिए गीत लिखे और उषा खन्ना और बप्पी लाहिड़ी जैसे संगीतकारों के साथ काम किया। उन्होंने सावन को आने दो (1979), जीते हैं शान से (1988) और हलचल (1995) जैसी फिल्मों के लिए भी गीत लिखे हैं।

बाबरी मस्जिद विध्‍वंस मामले में सभी 32 आरोपी बरी

केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो-सीबीआई की लखनऊ स्थित विशेष अदालत ने बाबरी मस्जिद विध्‍वंस मामले में सभी 32 आरोपियों को बरी कर दिया है। सीबीआई विशेष अदालत के न्‍यायाधीश सुरेन्‍द्र कुमार यादव ने कहा कि विध्‍वंस पूर्व नियोजित नहीं था और विध्वंस की घटना अचानक हुई तथा सीबीआई की ओर से लगाए गए आरोपों को सिद्ध करने के लिए पुख्‍ता प्रमाण नहीं मिले। लाल कृष्‍ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और कल्‍याण सिंह सहित 32 अभियुक्‍तों में से अधिकांश वरिष्‍ठ नेता विभिन्‍न स्‍वास्‍थ्‍य कारणों और कोराना महामारी के चलते लखनऊ अदालत में मौजूद नहीं थे।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.