Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

24 April 2020

नासा ने कहा- लॉकडाउन के बाद उत्तर भारत में वायु प्रदूषण 20 साल में सबसे निचले स्तर पर पहुंचा

कोरोना संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए शुरू हुए लॉकडाउन से पर्यावरण में काफी सुधार देखने को मिल रहा है। अमेरिका स्पेस एजेंसी नासा के लेटेस्ट सेटेलाइट डाटा से पता चला है कि इन दिनों उत्तर भारत में वायु प्रदूषण 20 साल में सबसे निचले स्तर पर है। नासा ने इसके लिए वायुमंडल में मौजूद एयरोसॉल की जानकारी हासिल की। फिर ताजा आंकड़े की तुलना 2016 से 2019 के बीच खीचीं गई तस्वीरों से की। कोरोना संकट से निपटने के लिए देश में 25 मार्च से लॉकडाउन है, इसका दूसरा चरण 3 मई तक है। नासा के टेरा सेटेलाइट के द्वारा जारी की गई तस्वीरों में एयरोसॉल ऑपटिकल डेप्थ (एओडी) की तुलना 2016-2019 के बीच ली गईं तस्वीरों से की गई। वायुमंडल में वायु में मौजूद कणों द्वारा प्रकाश के अवशोषण को एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ कहा जाता है। जब एरोसोल सतह के पास होते हैं, तो 1 या उससे ऊपर की ऑप्टिकल डेप्थ धुंधली स्थितियों का सूचक है। एरोसोल ऑप्टिकल डेप्थ 2016 में 0.7 थी और अब 0.1 तक पहुंच गयी है। इस पैटर्न का अवलोकन MODIS मॉडल द्वारा किया गया है। MODIS का पूर्ण स्वरुप Moderate Resolution Imaging Spectroradiometer है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 के लिए देश की पहली गतिशील जांच इकाई का शुभारम्भ किया

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए कोविड-19 के नमूनों की जांच के लिए मोबाइल वायरोलॉजी अनुसंधान और नैदानिक प्रयोगशाला “मोबाइल बीएसएल-3 वीआरडीएल लैब” का शुभारंभ किया। इसे रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन ने हैदराबाद के ईएसआईसी अस्‍पताल और निजी उद्योग के सहयोग से विकसित किया है। यह देश में अपनी तरह की पहली और एक अनूठी सुविधा है। इस मोबाइल प्रयोगशाला में एक दिन में एक हजार से अधिक नमूनों की जांच की जा सकेगी। भविष्य में इसकी जांच क्षमता को बढ़ाकर दो हजार तक किया जा सकता है। इस प्रयोगशाला में कोरोना संक्रमण के बारे में अनुसंधान और औषधियों के परीक्षण की सुविधा भी है। इसे केवल दो सप्ताह से भी कम समय में विकसित किया गया है।

मिजोरम में एम-कोविड-19 मोबाइल ऐप ड्राइवरों और सहायकों के लिए ऑनलाइन पास के रूप में काम करेगा

मिजोरम में सूचना और संचार प्रौद्योगिकी विभाग ने लॉकडाउन अवधि के दौरान राज्य के बाहर से आवश्यक वस्‍तुएं लाने वाले ट्रक ड्राइवरों और उनके सहायकों के लिए एक मोबाइल ऐप शुरू किया है। एम-कोविड-19 नामक यह ऐप ड्राइवरों और सहायकों के लिए ऑनलाइन पास के रूप में काम करेगा। राज्य के बाहर से आने वाले ट्रक ड्राइवरों और सहायकों की कोरोना जांच बहुत जरूरी है और यह एम-पास इस उद्देश्य के लिए काफी उपयोगी साबित होगा।

असम में बोंगईगांव जिले में नो फेस विदाउट मास्‍क अभियान शुरू

असम में बोंगईगांव जिले में उत्‍तरी सलमारा उपमंडल प्रशासन ने नो फेस विदाउट मास्‍क अभियान शुरू किया है। इस अभियान के तहत सार्वजनिक स्‍थानों पर हर समय मास्‍क लगाना अनिवार्य बनाने के दिशानिर्देश तय किए गए हैं। लोगों को सूचना दी गई है कि कोई भी व्‍यक्ति मास्‍क लगाये बिना अपने घर या कार्यस्‍थल से बाहर न निकले। यदि कोई व्‍यक्ति मास्‍क लागये बिना पाया गया तो उसे तुरंत मास्‍क लगाने को कहा जायेगा।

जम्‍मू-कश्‍मीर प्रशासन ने कोरोना महामारी को देखते हुए गर्भवती माताओं के लिए स्‍वास्‍थ्‍य सेवा पैकेज घोषित किया

केन्‍द्रशासित प्रदेश जम्‍मू-कश्‍मीर में श्रीनगर जिला प्रशासन ने गर्भवती महिलाओं के लिए अगले चार महीनों का स्‍वास्‍थ्‍य देखभाल पैकेज तैयार किया है। इसमें सभी तरह की सहायता के लिए 24 घंटे काम करने वाली समर्पित हेल्‍पलाइन, नियमित चिकित्‍सा जांच, एम्‍बुलेंस सेवाएं, अस्‍पताल सुविधा के साथ परामर्श भी शामिल हैं। प्रशासन का उद्देश्‍य यह सुनिश्‍चित करना है कि कोविड-19 के मद्देनज़र स्‍वस्‍थ शिशु का जन्‍म हो और वह सुरक्षित रहे।

चालू वित्त वर्ष में भारत के आर्थिक वृद्धि अनुमान को घटाकर 0.8 प्रतिशत

प्रमुख क्रेडिट रेटिंग एजेंसी, फिच रेटिंग्स ने चालू वित्त वर्ष में भारत के आर्थिक वृद्धि अनुमान को घटाकर 0.8 प्रतिशत तक कर दिया है। उसने कहा है कि कोविड-19 विश्व महामारी के कारण लॉकडाउन के परिणामस्वरूप अभूतपूर्व वैश्विक मंदी की स्थिति बन रही है। फिच रेटिंग्स ने अपने वार्षिक आर्थिक दृष्टि पत्र में कहा है कि भारत के सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर अप्रैल 2020 से मार्च 2021 तक घटकर 0.8 प्रतिशत हो जाएगी लेकिन इससे अगले वर्ष इसके बढ़कर 6.7 प्रतिशत तक हो जाने की आशा है।

बीआरओ ने रावी नदी के ऊपर स्थायी पुल का निर्माण किया

सीमा सड़क संगठन ने रावी नदी के ऊपर स्थायी पुल का निर्माण कार्य पूरा कर लिया है। कसोवाल पुल पंजाब के किसानों को अपनी फसल को आसानी से ले जाने में मदद करेगा। इस पुल का निर्माण समय से पहले पूरा हो गया है। इस पुल का निर्माण बीआरओ ने प्रोजेक्ट चेतक के तहत किया गया है। इस पुल की निर्माण लागत 17.89 करोड़ रुपये है।

इंटरनेशनल एडवांस्ड रिसर्च सेंटर फॉर पाउडर मेटलर्जी एंड न्यू मैटेरियल्स (ARCI) ने नैनोब्लिट्ज़-3D नामक तकनीक विकसित की

हाल ही में ‘इंटरनेशनल एडवांस्ड रिसर्च सेंटर फॉर पाउडर मेटलर्जी एंड न्यू मैटेरियल्स’ (International Advanced Research Centre for Powder Metallurgy and New Materials-ARCI) और ‘नैनोमैकेनिक्स इंक’. (Nanomechanics Inc.) के वैज्ञानिकों ने संयुक्त रूप से नैनोब्लिट्ज़-3D (NanoBlitz 3D) नामक एक तकनीक विकसित की है। इस तकनीक की मदद से मल्टी फेज़ एलाय (Multi-phase Alloys), कम्पोज़िट (Composite), मल्टी-लेयरड कोटिंग (Multi-layered Coatings) जैसे विभिन्न पदार्थों की विशेषताओं को चित्रित किया जा सकता है। नैनोब्लिट्ज़-3D की सहायता से एक बार में 1000 उच्च गति वाले नैनो-इंडेंटेशन परीक्षण (Nano-indentation Tests) किये जा सकते हैं। नैनो-इंडेंटेशन परीक्षण से पदार्थों के यांत्रिक गुण जैसे कठोरता, प्रत्यास्थता और पतली कोटिंग्स की विभंजन कठोरता का मूल्यांकन किया जाता है। पदार्थों की कठोरता और प्रत्यास्थता संबंधित आँकड़ों को प्राप्त करने हेतु प्रत्येक नैनो-इंडेंटेशन परीक्षण को एक सेकंड से भी कम समय लगता है। नैनोब्लिट्ज़-3D को ‘इंटीग्रेटेड कम्प्यूटेशनल मैटेरियल इंजीनियरिंग (Integrated Computational Material Engineering-ICME)’ की मदद से विकसित किया गया है ।

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने विश्व पुस्तक दिवस पर सोशल मीडिया पर #MyBookMyFriend अभियान की शुरुआत की

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने विश्व पुस्तक दिवस के मौक़े पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं दीं और इस अवसर पर सोशल मीडिया पर #MyBookMyFriend अभियान की शुरुआत की । श्री पोखरियाल ने इस अवसर पर एक विडियो संदेश जारी कर कहा कि जब आप एक पुस्तक खोलते हैं तो आप एक नई दुनिया खोलते हैं। उन्होंने कहा कि किताबें व्यक्ति की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं।

विश्व बैंक ने इस वर्ष भारत को दी जाने वाली राशि में 23 प्रतिशत तक कमी की संभावना जतायी

विश्व बैंक ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी के कारण इस वर्ष भारत को दी जाने वाली राशि में 23 प्रतिशत तक कमी की जा सकती है। इस वर्ष इसके 64 अरब डॉलर रहने की संभावना है। पिछले वर्ष यह राशि 83 अरब डॉलर थी। बैंक की रिपोर्ट के अनुसार विश्व महामारी के कारण उत्पन्न आर्थिक संकट के मद्देनजर बैंक द्वारा दी जाने वाली राशि में इस वर्ष लगभग 20 प्रतिशत की कमी किये जाने की संभावना है। हाल के वर्षों में आई सबसे बड़ी गिरावट का कारण प्रवासी कामगारों के वेतन और रोजगार में कमी होना है। विश्व बैंक समूह के अध्यक्ष डेविड मालपास ने कहा है कि बैंक द्वारा दी जाने वाली राशि विकासशील देशों के लिए आय का महत्वपूर्ण स्रोत है।

विश्‍व बैंक ने कहा-कोविड-19 महामारी के कारण इस वर्ष दुनियाभर में प्रवासी लोगों से प्राप्तियों में करीब 20 प्रतिशत कमी होने की आशंका है

विश्‍व बैंक ने कहा कि कोविड-19 महामारी के कारण इस वर्ष दुनियाभर में प्रवासी लोगों से प्राप्तियों में करीब 20 प्रतिशत कमी होने की आशंका है। विश्‍व बैंक की रिपोर्ट में कहा गया है कि हाल के इतिहास में यह सबसे बड़ी गिरावट होगी। कोविड-19 महामारी के कारण लॉकडाउन, वैश्विक मंदी और बेरोजगार होने के कारण लोग अपने परिवारों को पैसा नहीं भेज पा रहे हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि इस महामारी के कारण विकासशील देश अपने राजस्‍व के मुख्‍य स्रोत का नुकसान झेल रहे हैं। विश्‍व बैंक के अनुसार 2019 में प्रवासी लोगों से प्राप्तियां पांच सौ 54 अरब डॉलर थी, जो इस वर्ष चार सौ 45 अरब डॉलर रहने की आशंका है।

तीनों सेनाओं में हथियार खरीदी पर रोक

महामारी के जारी रहने तक तीनों सेनाओं में हथियारों की खरीदी नहीं होगी। डिपार्टमेंट ऑफ मिलिट्री अफेयर्स की तरफ से जारी की गई चिठ्ठी में हथियार खरीदी की प्रक्रिया टालने के आदेश दिए गए हैं। ये आदेश उस समय आया है, जब सेनाओं के आधुनिकीकरण के लिए हथियार खरीदने की प्रक्रिया जारी है। भारतीय वायु सेना फ्रांस से 36 राफेल लड़ाकू विमान और रूस से एस-400 वायु रक्षा प्रणाली के सौदे की अंतिम स्टेज में है। वहीं, थल सेना अमेरिका और रूस समेत कुछ और देशों से टैंक, आर्टिलरी गन और असॉल्ट राइफल खरीद रही है। नौसेना ने भी हाल ही में अमेरिका से 24 मल्टीरोल हेलिकॉप्टर खरीदने के सौदे पर दस्तखत किए हैं।

IIIT- दिल्ली ने COVID-19 के बारे में चेतावनी देने के लिए विकसित की ‘WashKaro’ ऐप

इंद्रप्रस्थ सूचना प्रौद्योगिकी संस्थान (IIIT-दिल्ली) ने ‘WashKaro’ नामक एक नई मोबाइल ऐप विकसित की है। यह मोबाइल ऐप लोगों के नजदीक मौजूद कोरोनोवायरस हॉटस्पॉट जोन के बारे में चेतावनी देने और महामारी से संबंधित समाचारों के विश्वसनीय या फेक होने के बारे में जांचने में मदद करेगी। इस ऐप को इंद्रप्रस्थ इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IIIT-Delhi) के प्रोफेसर पोन्नुरंगम कुमारगुरु और डॉ. तवप्रितेश सेठी द्वारा पांच छात्रों के साथ मिलकर विकसित किया गया है। रिसर्च टीम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जिनेवा में विश्व स्वास्थ्य सम्मेलन में भी ऐप को पेश किया। ‘WashKaro’ ऐप का उद्देश्य सही समय पर सही प्रारूप में लोगों को सही जानकारी प्रदान करना है। यह ऐप संचार के लिए ब्लूटूथ तकनीक का उपयोग करती और इसे इंटरनेट या लोकेशन की आवश्यकता नहीं होती है।

TCS BaNCS द्वारा संचालित किया जाएगा इजरायल का पहला डिजिटल बैंक

भारत के आईटी क्षेत्र की दिग्गज कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) इजरायल का पहला पूरी तरह से डिजिटल बैंक लॉन्च करने जा रही। इस डिजिटल बैंक का नाम अभी तय नहीं किया गया है, इसे 2021 में लॉन्च करने की योजना है। यह डिजिटल बैंकिंग ऑपरेशंस प्लेटफॉर्म TCS BaNCS ग्लोबल बैंकिंग प्लेटफॉर्म द्वारा संचालित किया जाएगा। इज़राइल के वित्त मंत्रालय ने देश के बैंकिंग क्षेत्र में बदलाव लाने के लिए TCS का चयन किया था। टीसीएस, इसराइल को बैंकिंग सेवा ब्यूरो बनाने में मदद करेगा जो TCS BaNCS द्वारा संचालित - साझा, प्लग-एंड-प्ले, डिजिटल बैंकिंग ऑपरेशंस प्लेटफॉर्म के रूप में काम करेगा।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पोषक आधारित सब्सिडी को मंजूरी दी

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने फॉस्फेटिक पोटासिक उर्वरकों के लिए पोषक तत्वों पर आधारित सब्सिडी को ठीक करने की मंजूरी दी। कैबिनेट ने अमोनियम फॉस्फेट जैसे जटिल उर्वरक के उपयोग को भी मंजूरी दी। उर्वरक की सब्सिडी पर खर्च होने वाला व्यय 22,186 करोड़ रुपये होने की उम्मीद है। नाइट्रोजन उर्वरकों को 18.78 रुपये प्रति किलोग्राम, फॉस्फोरस को 14.88 रुपये प्रति किलोग्राम, पोटाश को 10.11 रुपये प्रति किलोग्राम और सल्फर को 2.37 रुपये प्रति किलोग्राम की दर से प्रदान किया जायेगा। भारत सरकार रियायती दरों पर किसानों को पोटेशियम और फास्फोरस उर्वरक उपलब्ध करा रही है। यह सब्सिडी 2010 में शुरू की गई NBS योजना द्वारा शासित हैं।

विश्व पुस्तक तथा कॉपीराइट दिवस : 23 अप्रैल

विश्व पुस्तक तथा कॉपीराइट दिवस प्रतिवर्ष 23 अप्रैल को मनाया जाता है। आज लोगों और किताबों के बीच दूरी बढ़ती जा रही है। इसी दूरी को कम करने के उद्देश्य से ‘विश्व पुस्तक दिवस’ मनाया जाता है। विश्व पुस्तक दिवस का आयोजन यूनेस्को द्वारा किया जाता है। विश्व पुस्तक और कॉपीराइट दिवस प्रतिवर्ष पुस्तकों के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए और लेखकों को श्रद्धांजलि देने के लिए प्रतिवर्ष 23 अप्रैल को मनाया जाता है। यह यूनेस्को द्वारा पुस्तको का प्रचार, छपाई और कॉपीराइट के लिए मनाया जाता है। यह दिन एक ऐतिहासिक महत्व का दिन है। इस दिन मिगुएल डी कर्वेंट्स, विलियम शेक्सपियर, इंका गार्सिलासो डे ला वेगा का देहावसान हो गया था। यह विश्व पुस्तक दिवस के रूप में मनाया जाता है। 23 अप्रैल 1995 को पहली बार ‘पुस्तक दिस’ मनाया गया था। यूनेस्को विश्व पुस्तक राजधानी एथेंस को घोषित किया गया है। एथेंस विश्व पुस्तक राजधानी घोषित हुआ जाने वाला 18वां शहर है।

अंग्रेजी भाषा दिवस : 23 अप्रैल

प्रतिवर्ष 23 अप्रैल को अंग्रेजी भाषा दिवस के रूप में मनाया जाता है। 23 अप्रैल को विलियम शेक्सपियर की जन्म तिथि तथा मृत्यु तिथि होने के कारण अंग्रेजी भाषा दिवस चुना गया है।2010 में जन सूचना विभाग ने संयुक्त राष्ट्र की सभी 6 आधिकारिक भाषाओं के लिए दिवस की स्थापना के लिए पहल शुरू की थी। संयुक्त राष्ट्र के भाषा दिवस का उद्देश्य बहुभाषावाद तथा सांस्कृतिक विविधता को बढ़ावा देना है। संयुक्त राष्ट्र भाषा दिवस के अंतर्गत आधिकारिक 6 आधिकारिक भाषाओं के लिए अलग-अलग दिवस निश्चित किये गये हैं।

  1. अरबी भाषा : 18 दिसम्बर
  2. चीनी : 20 अप्रैल
  3. अंग्रेजी : 23 अप्रैल
  4. फ़्रांसिसी : 20 अप्रैल
  5. रूसी : 6 जून

शहूर रंगकर्मी उषा गांगुली का दिल का दौरा पड़ने से निधन

विख्यात रंगकर्मी उषा गांगुली का कोलकाता के लेक गार्डन इलाका स्थित घर में निधन हो गया। उनकी उम्र 75 वर्ष थी। अभिनेत्री शबाना आजमी और बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ ही देशभर में रंगमंच से जुड़े लोगों ने दुख प्रकट किया है। उषा गांगुली ने कोलकाता स्थित श्री शिक्षायतन कॉलेज से स्नातक किया था। बाद में उन्होंने कोलकाता को अपना कार्यक्षेत्र बनाया। यहां बंगाली थियेटर का बोलबाला था, मगर उन्होंने हिंदी थियेटर को भी स्थापित किया। 1976 में उन्होंने रंगकर्मी नामक एक संस्था बनाई, जिसके बैनर तले वह देश की प्रसिद्ध रंगकर्मी बनीं। महाभोज, होली, रुदाली, कोट मार्शल जैसे नाटकों के लिए वह हमेशा याद रखी जाएंगी। उनका पहला नाटक ‘मिट्टी की गाड़ी’ था। काशीनाथ सिंह के उपन्यास पर आधारित उनका बहुचर्चित नाटक ‘काशी का अस्सी’ बहुत चर्चित रहा। देश में कई जगह इसका मंचन किया गया था। अंतरकथा उनका एकल नाटक था। रंगमंच में अतुल्य योगदान के चलते उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया था।

Start the Quiz

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2020 RajasthanGyan All Rights Reserved.