Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

18 May 2024

भारत ने प्रोजेक्ट ISHAN के तहत पूरे देश में फैले अपने चार हवाई क्षेत्रों को एक में एकीकृत करने की प्रक्रिया शुरू की

भारत ने इनिशिएटिव इंडियन सिंगल स्काई हार्मोनाइज़्ड एयर ट्रैफिक मैनेजमेंट (ISHAN) के तहत देशभर में विस्तृत अपने 4 उड्डयन क्षेत्रों को एकीकृत इकाई में समेकित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। वर्तमान में भारतीय हवाई क्षेत्र को दिल्ली, मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में 4 उड्डयन सूचना क्षेत्रों (Flight Information region FIR) में विभाजित किया गया है, जिनमें से प्रत्येक का अलग-अलग प्रबंधन किया जाता है। ISHAN के तहत, इन्हें नागपुर में केंद्रित एक सतत् हवाई क्षेत्र में समेकित किया जाएगा। इसका उद्देश्य पूरे भारत में हवाई यातायात नियंत्रण में सुधार और तेज़ी लाना है। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (Airport Authority Of India-AAI) द्वारा एक विस्तृत परियोजना रिपोर्ट पर कार्य शुरु करने के संबंध में रुचि अभिव्यक्ति करने (Expressions Of Interest-EoI) का आह्वान किया है। AAI का गठन संसद के एक अधिनियम द्वारा किया गया था तथा यह 1 अप्रैल, 1995 को तत्कालीन राष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण और भारतीय अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा प्राधिकरण का विलय होने के उपरांत अस्तित्व में आया। यह भारत सरकार के नागरिक उड्डयन मंत्रालय के नागरिक उड्डयन महानिदेशालय के तहत कार्य करता है।

सभी ट्रेनों में दिव्यांगजनों के लिये कोटा

रेल मंत्रालय ने सभी ट्रेनों में दिव्यांगजनों (PwD) के लिये कोटा को मंज़ूरी दे दी है, भले ही रियायती किराये की सुविधा उपलब्ध हो या नहीं। सभी आरक्षित एक्सप्रेस/मेल ट्रेनों में PwD कोटा निर्धारित किया जाएगा। प्रावधान के दुरुपयोग से बचने के लिये, भारतीय रेलवे द्वारा पात्र लोगों को सत्यापित भारतीय रेलवे विशिष्ट पहचान पत्र जारी किये जाएंगे और इस कोटा के अंर्तगत टिकट केवल इस कार्ड का उपयोग करके ही बुक किये जाएंगेरेलवे सूचना प्रणाली केंद्र (Centre for Railway Information System- CRIS) को सभी ट्रेनों में विशिष्ट पहचान पत्र सत्यापित करने के लिये अपने आरक्षण सॉफ्टवेयर को अपडेट करने का निर्देश दिया गया था, जिसमें रियायती किराये वाली ट्रेनें भी शामिल थीं। CRIS, रेल मंत्रालय के अंर्तगत एक स्वायत्त संगठन है, जिसे भारतीय रेलवे के लिये आवश्यक IT अनुप्रयोगों को विकसित करने के साथ-साथ उनकी देखरेख करने का कार्य सौंपा गया है।

जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 44 पर काजीगुंड में नवयुग सुरंग में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित चेहरा पहचानने की प्रणाली स्थापित

जम्मू-कश्मीर में जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग संख्‍या 44 पर काजीगुंड में नवयुग सुरंग में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित चेहरा पहचानने की प्रणाली स्थापित की गई है। यह नई सुविधा आपराधिक गतिविधियों में शामिल अपराधियों, ड्रग तस्करों, भगोड़ों और प्रतिबंधित संगठनों के सदस्यों की पहचान करने और उनका पता लगाने में मदद करेगी। एआई आधारित चेहरा पहचानने की यह प्रणाली, स्मार्ट पुलिसिंग का एक अभिन्न अंग है। इस क्षेत्र में अपराध रोकने और लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में यह प्रणाली मील का पत्‍थर साबित होगी।

संयुक्‍त अरब अमीरात ने की नए वीजा कार्यक्रम की घोषणा

38 लाख से अधिक भारतीयों का घर संयुक्‍त अरब अमीरात ने पर्यावरण संरक्षण और संधारणीयता प्रयासों में महत्वपूर्ण योगदान करने वाले लोगों को लंबे दिनों तक इस देश में ठहरने संबंधी एक नए वीजा कार्यक्रम की घोषणा की है। दस वर्षीय ब्लू रेजीडेंसी वीजा का उद्देश्य पर्यावरण संबंधी अनुसंधान, सक्रियता और प्रौद्योगिकी समाधान में वैश्विक नेताओं को आकर्षित करना है। यह संयुक्त अरब अमीरात की सीमाओं के परे का वीजा वर्ग है। यह वीजा विश्वभर में संधारणीयता पहलों को महत्व देने वाले लोगों का स्वागत करता है। सफल आवेदक अंतरराष्ट्रीय पर्यावरण संगठन के सदस्यों, पुरस्‍कृत अनुसंधानकर्ताओं और विशिष्ट कार्यकर्ताओं को इस कार्यक्रम में शामिल कर सकते हैं। ब्लू रेजीडेंसी वीज़ा संयुक्त अरब अमीरात के मानक दो-वर्षीय रेजीडेंसी परमिट के विपरीत है। यह वीजा निवेशकों, उद्यमियों और विशेषज्ञों को एक दशक तक यहां ठहरने की सुविधा देने वाले गोल्‍डन वीजा और कुशल पेशेवरों तथा व्यवसायियों को पांच वर्ष तक ठहरने की अनुमति देने वाले ग्रीन वीजा जैसे पूर्व के स्‍थापित योजनाओं में शामिल हो चुका है। ब्लू रेजीडेंसी वीजा संयुक्‍त अरब अमीरात में जारी संधारणीयता वर्ष में सहायक है। यह कॉप-28 के दौरान संयुक्त अरब अमीरात की महत्वपूर्ण सहमति और पर्यावरण संबंधी पहलों पर ध्यान केंद्रित करने की एक राष्‍ट्रीय प्रतिबद्धता के अनुरूप है। पिछले वर्ष दुबई में संयुक्‍त राष्‍ट्र जलवायु परिवर्तन सम्‍मेलन, कॉप-28 आयोजित किया गया था।

काठमांडू में ट्रांसवुमन अनमोल राय को मिस पिंक नेपाल चुना गया

काठमांडू में एक भव्य कार्यक्रम में ट्रांसवुमन अनमोल राय को मिस पिंक नेपाल चुना गया। दूसरे स्‍थान पर सरोसी न्यूपेन और आरोही बासनेट रहीं। अब राय इस साल थाईलैंड में होने वाली मिस इंटरनेशनल क्वीन 2024 प्रतियोगिता में नेपाल का प्रतिनिधित्व करेंगी। नेपाल समलैंगिक विवाह की अनुमति देने वाला दक्षिण एशिया का पहला देश बन गया है।

नई दिल्ली में ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स स्टार्टअप महोत्सव आयोजित किया गया

स्टार्टअप इंडिया पहल और ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स-ओएनडीसी के सहयोग से नई दिल्ली में ओएनडीसी स्टार्टअप महोत्सव आयोजित किया गया। उद्योग संवर्धन और आंतरिक व्यापार विभाग के सहयोग से महोत्सव में पांच हजार से अधिक स्टार्टअप की भागीदारी रही। विभाग ने बताया कि 12 यूनिकॉर्न और 125 से अधिक स्टार्टअप ओएनडीसी नेटवर्क से जुड़ने के लिए प्रतिबद्ध हैं। आंतरिक व्यापार विभाग के सचिव राजेश कुमार सिंह ने कहा कि यह स्टार्टअप विकास और नवाचार के प्रोत्साहन के लिए सरकार की अटूट प्रतिबद्धता को दर्शाता है।

भारत-ऑस्ट्रेलिया-इंडोनेशिया त्रिपक्षीय समुद्री सुरक्षा कार्यशाला (टीएमएसडब्ल्यू) के दूसरे संस्करण का आयोजन 15 से 17 मई, 2024 तक कोच्चि में किया गया

भारत-ऑस्ट्रेलिया-इंडोनेशिया त्रिपक्षीय समुद्री सुरक्षा कार्यशाला (टीएमएसडब्ल्यू) के दूसरे संस्करण का आयोजन 15 से 17 मई, 2024 तक कोच्चि में आईएनएस द्रोणाचार्य पर किया गया था। इस कार्यशाला का मुख्य विषय 'हिंद महासागर क्षेत्र: क्षेत्रीय समुद्री सुरक्षा बढ़ाने के लिए सहयोगात्मक प्रयास' पर केंद्रित था, जिसे इस समुद्री क्षेत्र में तीन समुद्री पड़ोसी देशों के बीच वर्तमान में चल रही समुद्री सुरक्षा गतिविधियों से संबंधित चुनौतियों एवं सहयोग के अवसरों पर चर्चा करने के लिए चुना गया था। यह महत्वपूर्ण कार्यशाला दक्षिणी नौसेना कमान मुख्यालय के मार्गदर्शन में आयोजित की गई थी और इसमें भाग लेने वाली तीन देशों की नौसेनाओं के प्रतिनिधियों की व्यापक भागीदारी देखी गई। त्रिपक्षीय समुद्री सुरक्षा कार्यशाला की अध्यक्षता नौसेना स्टाफ के सहायक प्रमुख (एफसीआई) रियर एडमिरल निर्भय बापना ने की।

कपिल सिब्बल बने सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष

सीनियर वकील कपिल सिब्बल ने सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पद का चुनाव जीत लिया है। यह प्रतिष्ठित वकीलों के संगठन के अध्यक्ष के रूप में उनका चौथा कार्यकाल है, जो वरिष्ठ अधिवक्ता आदिश सी अग्रवाल के स्थान पर हैं।सिब्बल को 1066 वोट मिले, जबकि दूसरे दावेदार सीनियर वकील प्रदीप राय को 689 वोट मिले। निवर्तमान अध्यक्ष वरिष्ठ अधिवक्ता डॉ. आदिश सी अग्रवाल को 296 वोट मिले हैं। सुप्रीम कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष पद के अन्य दावेदार प्रिया हिंगोरानी, त्रिपुरारी रे, नीरज श्रीवास्तव थे।यह चौथी बार होगा जब सिब्बल एससीबीए के अध्यक्ष के रूप में काम करेंगे। सिब्बल को पहले तीन बार एससीबीए अध्यक्ष के रूप में चुना गया था। आखिरी बार तेईस साल पहले 2001 में वह अध्यक्ष बने थे। इससे पहले वह 1995-96 और 1997-98 के दौरान अध्यक्ष थे।

रस्किन बॉन्ड को साहित्य अकादमी फेलोशिप

प्रख्यात भारतीय लेखक रस्किन बॉन्ड को साहित्य अकादमी फेलोशिप से सम्मानित किया गया है, जो साहित्य अकादमी द्वारा दिया जाने वाला सर्वोच्च साहित्यिक सम्मान है। 19 मई, 1934 को कसौली, हिमाचल प्रदेमें जन्मे बॉन्ड का 50 वर्षों से अधिक का शानदार लेखन कॅरियर रहा है। उन्होंने लघु कथाएँ, उपन्यास, नॉन-फिक्शन, रोमांस और बच्चों की किताबें सहित विभिन्न शैलियों में लिखा है। बांड को वर्ष 1993 में भारतीय साहित्य अकादमी से पुरस्कार दिया गया। वर्ष 1999 में पद्मश्री और 2014 में पद्मविभूषण से अलंकृत किया गया था। दिल्ली सरकार द्वारा 2012 में लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड, गढ़वाल विश्वविद्यालय द्वारा पीएचडी की मानद उपाधि से विभूषित किया गया। वर्ष 1956 में इंग्लैंड में उनकी पहली पुस्तक द रूम ऑन द रूफ के लिए 1957 में जॉन लियानरायम मेमोरियल पुरस्कार से नवाजा गया। बांड के उपन्यास पर श्याम बेनेगल ने ‘एक था रस्टी’ सीरियल बनाया। फिल्म निर्देशक विशाल भारद्वाज ने ‘सात खून माफ’ फिल्म बनाई। वर्ष 1978 की हिंदी फिल्म जुनून उनके ऐतिहासिक उपन्यास ए फ्लाइट ऑफ पिजन्स पर आधारित थी, जो 1857 के भारतीय विद्रोह के दौरान प्रदर्शित की गई थी। साहित्य अकादमी द्वारा भारतीय साहित्य में महत्त्वपूर्ण योगदान के सम्मान में तथा अंतर्राष्ट्रीय विद्वानों को भारतीय साहित्य एवं संस्कृति पर शोध करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिये चार प्रकार की फैलोशिप प्रदान की जाती है।

TCS ने फ्रांस में ग्लोबल AI सेंटर ऑफ एक्सीलेंस का किया अनावरण

टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (TCS) ने फ्रांस की राजधानी पेरिस में ग्लोबल आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने की घोषणा की है। यह घोषणा अध्यक्ष इमैनुएल मैक्रॉन द्वारा आयोजित प्रतिष्ठित “चूज फ्रांस समिट” के दौरान की गई थी, जो फ्रांसीसी बाजार और वैश्विक एआई परिदृश्य के लिए टीसीएस की प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है। नया AI केंद्र पेरिस के ला डिफेंस क्षेत्र में आगामी TCS पेसपोर्ट में स्थित होगा, जिसका उद्घाटन जून 2024 में किया जाएगा। यह अत्याधुनिक सुविधा टीसीएस के वैश्विक पेस नेटवर्क में सातवीं वृद्धि बन जाएगी, जो एम्स्टर्डम, लंदन, न्यूयॉर्क, पिट्सबर्ग, टोरंटो और टोक्यो जैसे शहरों में नवाचार केंद्रों की श्रेणी में शामिल हो जाएगी।

चंद्रकांत सतीजा को मिला ग्लोबल एक्सीलेंस अवार्ड 2024

मुंबई के सहारा स्टार होटल में आयोजित एक प्रतिष्ठित समारोह में, प्रसिद्ध शिक्षाविद् और चंद्रा एडमिशन कंसल्टेंट्स के संस्थापक/सीईओ चंद्रकांत सतीजा को ग्लोबल एक्सीलेंस अवार्ड 2024 से सम्मानित किया गया। प्रसिद्ध बॉलीवुड अभिनेत्री शिल्पा शेट्टी कुंद्रा द्वारा प्रस्तुत पुरस्कार ने सतीजा को विदर्भ क्षेत्र में सबसे भरोसेमंद प्रवेश सलाहकार के रूप में मान्यता दी। शिक्षा क्षेत्र में 21 से अधिक वर्षों के अनुभव के साथ, चंद्रकांत सतीजा ने छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा, करियर परामर्श और प्रवेश मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए खुद को समर्पित कर दिया है। उनकी अटूट प्रतिबद्धता ने उन्हें न केवल विदर्भ में बल्कि छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के आसपास के शहरों में भी माता-पिता का विश्वास अर्जित किया है।

अमेरिका को पछाड़कर चीन बना भारत का नंबर 1 ट्रेडिंग पार्टनर

भले ही भारत चीन पर से अपनी निर्भरता को लगातार कम करने की कोशिश कर रहा हो, लेकिन दोनों देशों के बीच कारोबार में लगातार इजाफा हो रहा है। खास बात तो ये है कि बीते वित्त वर्ष में भारत का सबसे बड़ा ट्रेडिंग पार्टनर अमेरिका नहीं बल्कि चीन रहा। इकोनॉमिक थिंक टैंक जीटीआरआई के आंकड़ों के अनुसार, चीन और भारत के बीच वित्त वर्ष 2023-24 में 118.4 अरब डॉलर का कारोबार हुआ। जोकि भारत के ट्रेडिंग पार्टनर के रूप में दुनिया में सबसे ज्यादा है। वहीं अमेरिका मामूली रूप से पीछे है. भारत और अमेरिका के बीच द्विपक्षीय व्यापार वित्त वर्ष 2023-24 में 118.3 बिलियन डॉलर रहा। वित्त वर्ष 2021-22 और 2022-23 के दौरान अमेरिका भारत का टॉप ट्रेडिंग पार्टनर था।

जीपीटी-4o

हाल ही में OpenAI ने जीपीटी-4o नाम से अपना नवीनतम लार्ज लैंग्वेज मॉडल (LLM) लॉन्च किया, इसे अब तक का सबसे तेज़ और सबसे शक्तिशाली AI मॉडल बताया गया है। जीपीटी-4o ("o" का अर्थ यहाँ "ओमनी" है) मानव-कंप्यूटर इंटरैक्शन को बढ़ाने के लिये OpenAI द्वारा विकसित एक परिवर्तनकारी AI मॉडल है। यह उपयोगकर्त्ताओं को टेक्स्ट, ऑडियो और छवि के किसी भी संयोजन को इनपुट करने तथा समान प्रारूपों में प्रतिक्रियाएँ प्राप्त करने की अनुमति देता है, जिससे यह एक मल्टीमॉडल AI प्रारूप बन जाता है। LLM जीपीटी-4o के मुख्य घटक हैं। इन मॉडलों को स्वयं सीखने में सक्षम बनाने के लिये, उनमें अत्यधिक मात्रा में डेटा को प्रविष्ट कराया जाता है। जीपीटी-4o टेक्स्ट, विज़न और ऑडियो कार्यों को संभालने के लिये एकल मॉडल का उपयोग करके अपने पूर्ववर्तियों से भिन्नता रखता है, जिससे कई मॉडलों की आवश्यकता समाप्त हो जाती है। उदाहरण के लिये, पूर्ववर्ती मॉडल में वॉयस मोड में ट्रांसक्रिप्शन, इंटेलिजेंस और टेक्स्ट-टू-स्पीच के लिये पृथक प्रारूपों की आवश्यकता होती थी, लेकिन जीपीटी-4o इन सभी क्षमताओं को एक ही मॉडल में एकीकृत करता है।

टार्टेसोस सभ्यता

स्पैनिश नेशनल रिसर्च काउंसिल के पुरातत्वविदों ने स्पेन के ग्वारेना में एक पंचमुखी पत्थर (five stone faces) का पता लगाया, जो विलुप्त टार्टेसोस सभ्यता काल से संबंधित हैं। टार्टेसोस सभ्यता लगभग 3000 वर्ष पूर्व (9वीं-6वीं शताब्दी ईसा पूर्व) ह्यूएलवा और कैडिज़ (स्पेन के प्रांत) में मौजूद थी। यह क्षेत्र भूमध्य सागर से जुड़ी एक बड़ी खाड़ी से घिरा था। टार्टेसोस पर इबेरियन व फोनीशियन का प्रभाव था, यह व्यापार, धातुकर्म और समुद्री कौशल के लिये जाना जाता था, जो संभवतः आर्थिक बदलाव, पर्यावरणीय चुनौतियों एवं निकटवर्ती सभ्यताओं के लोगों के साथ संघर्ष के कारण, अपना पतन होने तक विकास के विभिन्न चरणों से गुजरा।

संयुक्त राष्ट्र ने 2024 के लिए भारत के आर्थिक विकास पूर्वानुमान को संशोधित किया

संयुक्त राष्ट्र ने 2024 के लिए भारत के आर्थिक विकास पूर्वानुमान को संशोधित किया है, जिसमें मजबूत सार्वजनिक निवेश और लचीला निजी खपत द्वारा संचालित एक मजबूत विस्तार का अनुमान लगाया गया है। भारत की अर्थव्यवस्था के अब 2024 में 6.9% बढ़ने की उम्मीद है, जो जनवरी में 6.2% पूर्वानुमान से अधिक है, जिसमें 2025 के लिए 6.6% की वृद्धि दर का अनुमान है। यह आशावादी दृष्टिकोण दक्षिण एशिया के समग्र आर्थिक प्रदर्शन को बढ़ाने में भारत की भूमिका को उजागर करता है।

माइक्रोसॉफ्ट का एआई और क्लाउड बूस्ट: फ्रांस में €4 बिलियन का निवेश

कृत्रिम बुद्धिमत्ता (एआई) और क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को रेखांकित करने वाले एक कदम में, टेक दिग्गज माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प ने फ्रांस में क्लाउड और एआई बुनियादी ढांचे के निर्माण में € 4 बिलियन (लगभग $ 4.3 बिलियन) का निवेश करने की योजना की घोषणा की है। यह नवीनतम निवेश अपनी एआई क्षमताओं को आगे बढ़ाने और विश्व स्तर पर अपनी क्लाउड सेवाओं का विस्तार करने पर कंपनी के निरंतर ध्यान पर प्रकाश डालता है।

हीरो मोटोकॉर्प टू-व्हीलर इंडस्ट्री में क्रांति लाने के लिए ONDC नेटवर्क में हुआ शामिल

भारत का प्रमुख दो-पहिया वाहन निर्माता हीरो मोटोकॉर्प ओपन नेटवर्क फॉर डिजिटल कॉमर्स (ONDC) के साथ एकीकृत होने वाला अपने क्षेत्र का पहला कंपनी बन गया है। ONDC के प्लेटफॉर्म का लाभ उठाकर, हीरो मोटोकॉर्प का उद्देश्य अपने ग्राहकों के लिए पहुंच और सुविधा को बढ़ाना है, जिससे दो-पहिया वाहन के पुर्जे, सहायक उपकरण और मर्चेंडाइज खरीदने के लिए एक सहज डिजिटल अनुभव प्रदान किया जा सके। ONDC के साथ हीरो मोटोकॉर्प का एकीकरण ग्राहक-केंद्रितता और डिजिटल इनोवेशन के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है। इस साझेदारी के माध्यम से, कंपनी उद्योग के भीतर ऑटोमोटिव वर्गीकरण का नेतृत्व करती है, जिससे वाहन के पुर्जे और सहायक उपकरण चाहने वाले ग्राहकों के लिए आसान नेविगेशन की सुविधा मिलती है। यह पहल सरकार के डिजिटल इंडिया मिशन के साथ संरेखित है, जो देश में डिजिटल परिवर्तन को आगे बढ़ाने के लिए हीरो मोटोकॉर्प के समर्पण को प्रदर्शित करता है।

LIC को राहत, 10% सार्वजनिक हिस्सेदारी के मानदंड को पूरा करने के लिए सेबी ने और तीन साल दिए

जीवन बीमा निगम (एलआईसी) को बाजार नियामक सेबी ने 10 प्रतिशत सार्वजनिक शेयरधारिता मानदंड का पालन करने के लिए 16 मई 2027 तक तीन साल का अतिरिक्त समय दिया है। फिलहाल एलआईसी में सरकारी हिस्सेदारी 96.50 प्रतिशत और सार्वजनिक हिस्सेदारी 3.50 प्रतिशत है।एलआईसी ने शेयर बाजार को दी सूचना में बताया कि भारतीय प्रतिभूति व विनिमय बोर्ड (सेबी) ने 14 मई 2024 को पत्र के जरिए भारतीय जीवन बीमा निगम को 10 प्रतिशत सार्वजनिक शेयरधारिता हासिल करने के लिए तीन साल का अतिरिक्त समय देने के फैसले की जानकारी दी। बीमा कंपनी के अनुसार, एलआईसी के लिए 10 प्रतिशत सार्वजनिक शेयरधारिता हासिल करने की संशोधित समयसीमा 16 मई 2027 या उससे पहले है।

FIEO ने FY25 में वस्तुओं का निर्यात $500-510 बिलियन रहने का अनुमान लगाया

फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट ऑर्गेनाइजेशन (FIEO) का अनुमान है कि वित्त वर्ष 2025 में भारत का माल निर्यात 500-510 बिलियन डॉलर तक पहुंच जाएगा, जो पिछले वित्तीय वर्ष में 3% संकुचन से अधिक है। अनुमान है कि सेवा निर्यात में 390-400 अरब डॉलर का योगदान होगा, जिससे कुल निर्यात लगभग 890-910 अरब डॉलर होगा। इस वृद्धि को चलाने वाले उल्लेखनीय क्षेत्रों में इंजीनियरिंग, विज्ञापन सेवाएँ और वैश्विक क्षमता केंद्रों का विस्तार शामिल हैं।

भारत की इंटरनेट अर्थव्यवस्था 2030 तक 1,000 अरब डॉलर तक पहुंच सकती है: विशेषज्ञ

भारत की इंटरनेट अर्थव्यवस्था महत्वपूर्ण वृद्धि के लिए तैयार है, उद्योग विशेषज्ञों का अनुमान है कि यह 2030 तक $ 1 ट्रिलियन तक पहुंच जाएगा। यह वृद्धि मुख्य रूप से ई-कॉमर्स क्षेत्र द्वारा संचालित है, जिसके वित्त वर्ष 2023 में $60 बिलियन से $325 बिलियन तक 25% की वार्षिक दर से बढ़ने की उम्मीद है, जिससे यह विश्व स्तर पर तीसरा सबसे बड़ा बन जाएगा।

जीएसटी पोर्टल की नई पहल: पान मसाला और तंबाकू निर्माताओं के लिए मशीन पंजीकरण और रिपोर्टिंग अनिवार्य

पान मसाला और तंबाकू क्षेत्रों में कर चोरी से निपटने के प्रयास में, जीएसटी पोर्टल ने निर्माताओं के लिए अपनी मशीनरी को पंजीकृत करने और मासिक इनपुट और आउटपुट की रिपोर्ट करने के लिए नए फॉर्म और प्रक्रियाएं पेश की हैं। यह पहल जीएसटी परिषद की सिफारिशों का पालन करती है और इसका उद्देश्य अनुपालन बढ़ाना और अवैध व्यापार को कम करना है।

क्वांट को RBL बैंक में हिस्सेदारी बढ़ाने की मंजूरी

भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) ने क्वांट म्यूचुअल फंड को आरबीएल बैंक में अपनी हिस्सेदारी बढ़ाकर 9.98 प्रतिशत करने की अनुमति दे दी है। शेयर बाजार को दी सूचना के अनुसार, 10 मई तक क्वांट एमएफ के पास अपनी विभिन्न योजनाओं के जरिए निजी क्षेत्र के ऋणदाता में 4.68 प्रतिशत शेयर पूंजी थी।सूचना के अनुसार, ‘‘ आरबीआई ने क्वांट मनी मैनेजर्स लिमिटेड को क्वांट म्यूचुअल फंड की विभिन्न योजनाओं के जरिए आरबीएल बैंक में भुगतान की गई शेयर पूंजी या वोटिंग अधिकार के 9.98 प्रतिशत तक की ‘‘कुल हिस्सेदारी’’ हासिल करने की मंजूरी दे दी है।’’

वित्तीय वर्ष 2025 में भारतीय अर्थव्यवस्था की 6.6% वृद्धि: एनबीएफसी सेक्टर को मिलेगा बड़ा फायदा

मूडीज़ रेटिंग्स ने मार्च 2025 (FY25) में समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए भारतीय अर्थव्यवस्था के 6.6% विस्तार की भविष्यवाणी की है। इस विकास प्रक्षेपवक्र से मजबूत क्रेडिट मांग की उम्मीद है, जिससे विशेष रूप से गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (NBFCs) को लाभ होगा, हालांकि बढ़ती फंडिंग लागत से चुनौतियाँ उत्पन्न हो सकती हैं। मूडीज ने वित्त वर्ष 25 में भारत की जीडीपी में 6.6% की वृद्धि का अनुमान लगाया है, इसके बाद अगले वर्ष में 6.2% की वृद्धि होगी। यह प्रक्षेपण, हालांकि कुछ अन्य अनुमानों की तुलना में थोड़ा कम है, आर्थिक परिदृश्य के एजेंसी के आकलन को दर्शाता है।

एचडीएफसी बैंक ने वर्चुअल क्रेडिट कार्ड पिक्सेल प्ले को रोल आउट किया

एचडीएफसी बैंक ने वीज़ा के साथ भागीदारी वाले देश के उद्घाटन वर्चुअल क्रेडिट कार्ड पिक्सेल प्ले को रोल आउट किया है। दो अलग-अलग वेरिएंट, पिक्सल प्ले और पिक्सल गो की पेशकश करते हुए, यह अभिनव कार्ड उपयोगकर्ताओं को बैंक के पेज़ैप मोबाइल ऐप के माध्यम से उनकी जीवन शैली वरीयताओं और चुने हुए व्यापारियों के अनुरूप व्यक्तिगत कार्ड तैयार करने का अधिकार देता है। सुव्यवस्थित डिजिटल प्रबंधन और कार्ड नियंत्रण, पुरस्कार और ईएमआई डैशबोर्ड सहित सुविधाओं के एक सूट के साथ, एचडीएफसी बैंक सहज बैंकिंग अनुभवों के लिए एक नया मानक स्थापित करता है।

विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस 2024 : 17 मई

हर साल, दुनिया 17 मई को विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस के रूप में मनाती है। यह दिन अर्थव्यवस्थाओं और समाजों में सूचना और संचार प्रौद्योगिकियों तथा इंटरनेट के उपयोग की संभावनाओं का पता लगाने के लिए मनाया जाता है। एक अन्य उद्देश्य समाज में डिजिटल विभाजन को कम करने के तरीकों का पता लगाना भी है। डिजिटल विभाजन का तात्पर्य समाज में उन लोगों के बीच की खाई से है जिनके पास इंटरनेट तक पहुंच है और जिनके पास नहीं हैं। संयुक्त राष्ट्र की सबसे पुरानी विशेष एजेंसी, अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (आईटीयू) ने पहली बार 17 मई 1969 को विश्व दूरसंचार दिवस मनाया था। यह तारीख आईटीयू के स्थापना दिवस को चिह्नित करने के लिए चुनी गई थी। आईटीयू की स्थापना 1865 में पहले अंतर्राष्ट्रीय टेलीग्राफ कन्वेंशन पर हस्ताक्षर करने के बाद 17 मई 1865 को अंतर्राष्ट्रीय टेलीग्राफ यूनियन के रूप में की गई थी। इस वर्ष, आईटीयू ने 2024 विश्व दूरसंचार और सूचना समाज दिवस के विषय के रूप में सतत विकास के लिए डिजिटल नवाचार को चुना है।

कनाडाई लेखिका और नोबेल पुरस्कार विजेता एलिस मुनरो का 92 वर्ष की आयु में निधन

कनाडाई लेखिका और नोबेल पुरस्कार विजेता लेखिका एलिस मुनरो, जो लघुकथा में अपनी महारत के लिए जानी जाती हैं, का 92 वर्ष की आयु में निधन हो गया। मुनरो ने ओन्टारियो के ग्रामीण इलाकों में जहाँ वह पली-बढ़ी थी, मानवीय स्थिति की कमज़ोरियों पर गहन दृष्टि से ध्यान केंद्रित करते हुए, अपनी कहानियाँ प्रस्तुत कीं। 2013 में साहित्य में नोबेल पुरस्कार और 2009 में अपने कार्यों के लिए अंतर्राष्ट्रीय बुकर पुरस्कार से सम्मानित, मुनरो हाल के वर्षों में मनोभ्रंश से पीड़ित थीं।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2024 RajasthanGyan All Rights Reserved.