Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

31 January 2022

पंजाब में मतदान के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए राज्‍य के मुख्‍य चुनाव अधिकारी ने चुनाव प्रतीक चिह्न-शेरा का लोकार्पण किया

पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले राज्‍य में लोगों के बीच मतदान के प्रति जागरूकता पैदा करने के लिए राज्‍य के मुख्‍य चुनाव अधिकारी डॉक्‍टर एस. करूणा राजू ने चुनाव प्रतीक चिह्न - शेरा का लोकार्पण किया। फेसबुक पर आयोजित इस समारोह में सम्‍मानित अतिथियों के तौर पर पांच दिव्‍यांग व्‍यक्तियों को भी आमंत्रित किया गया था। इसका उद्देश्‍य लोगों में मतदान के प्रति जागरूकता बढ़ाना और चुनाव प्रक्रिया में हिस्‍सा लेने के लिए उन्‍हें प्रोत्‍साहित करना है। सिस्‍मेटिक वोटर्स एजुकेशन एंड इलेक्‍ट्रोराल पार्टिसिपेशन परियोजना के अंतर्गत यह प्रतीक चिह्न जारी किया गया है।

ग्रीष्मकालीन अभियान के लिए कृषि पर राष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया

केंद्रीय कृषि मंत्री ने हाल ही में ग्रीष्मकालीन अभियान के लिए कृषि पर चौथे राष्ट्रीय सम्मेलन को संबोधित किया। इस सम्मेलन को जायद सम्मेलन (Zaid Conference) भी कहा जाता है। इस सम्मेलन गर्मियों की फसलों पर केंद्रित है। इस सम्मेलन में फसल के प्रदर्शन की समीक्षा की गई। साथ ही फसलवार लक्ष्य भी तय किया। राज्य सरकारों से सलाह मशविरा करने के बाद लक्ष्य तय किए गए। इस सम्मेलन के दौरान कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए प्रौद्योगिकियों का उपयोग करने के बारे में निर्णय लिए गए। यह सम्मेलन मुख्य रूप से दलहन और तिलहन के उत्पादन को बढ़ाने पर केंद्रित था। राज्यों को ग्रीष्मकालीन फसलों के बेहतर उत्पादन के लिए बेहतर और नई गुणवत्ता वाले बीजों का उपयोग करने का सुझाव दिया गया। इस सम्मेलन में किसान संघों और स्वयं सहायता समूहों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए। उन्हें उर्वरक उपयोग के अनुमान प्रदान करने के लिए कहा गया। साथ ही, उन्हें DAP उर्वरकों के उपयोग को कम करने और NPK उर्वरकों के उपयोग को कम करने का सुझाव दिया गया। ATMA (Agricultural Technology Management Agency) और कृषि विज्ञान केंद्र को संयुक्त रूप से काम करने और छोटे और सीमांत किसानों को आवश्यक प्रशिक्षण प्रदान करने के लिए कहा गया है। राज्य सरकारों को जैविक खेती के लिए पूरे क्षेत्र या ब्लॉक को प्रमाणन प्रदान करने के लिए कहा गया है। इस प्रकार किसानों को जैविक खेती प्रमाण पत्र के लिए व्यक्तिगत रूप से आवेदन करने की आवश्यकता नहीं है।

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती रिवरफ्रंट पर मिट्टी के कुल्हड़ों से बने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के भित्ति चित्र का अनावरण किया

केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री श्री अमित शाह ने गुजरात के अहमदाबाद में साबरमती रिवरफ्रंट पर राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के कुल्हड़ों से बने भित्तिचित्र का अनावरण किया। श्री अमित शाह ने प्रशिक्षित कुम्हारों और मधुमक्खी पालकों को 200 इलेक्ट्रिक पॉटर व्हील और 400 मधुमक्खी बक्से भी वितरित किए। स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 74वीं शहीदी दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए खादी और ग्रामोद्योग आयोग (केवीआईसी) द्वारा ये भित्ति चित्र तैयार किया गया है। 2975 लाल रंग की ग्लेज्ड मिट्टी के कुल्हड़ों से दीवार पर बना 100 वर्ग मीटर भित्ति चित्र भारत में अपनी तरह का केवल दूसरा और गुजरात में पहला है। स्मारक भित्ति चित्र देशभर से एकत्र की गई मिट्टी से बनाया गया है और इसमें इस्तेमाल किए गए कुल्हड़ KVIC द्वारा "कुम्हार सशक्तिकरण योजना" के तहत प्रशिक्षित 75 कुम्हारों द्वारा बनाए गए हैं।

मुंह के कैंसर का पता लगाने के लिए नई तकनीक खोजी गई

पश्चिम बंगाल में गुरु नानक इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज के शोधकर्ताओं ने मुंह के कैंसर (oral cancer) का पता लगाने के लिए एक नई विधि बनाई है। यह कैंसर के चरणों और पूर्व कैंसर के चरणों में अंतर करने में सक्षम है। यह विभेदीकरण (differentiation) उच्च मानक बायोप्सी रिपोर्ट के माध्यम से किया जाता है। टीम ने एक नया इमेजिंग डिवाइस बनाया है। यह उपकरण ऊतकों में रक्त प्रवाह दर को मापकर कैंसर के चरण की जांच करता है। इस डिवाइस एक रक्त छिड़काव इमेजर है। यह एक आर्द्रता सेंसर, इन्फ्रारेड कैमरा और एक सॉफ्टवेयर इंजन का उपयोग करता है। सॉफ्टवेयर इंजन को इलेक्ट्रॉनिक रूप से नियंत्रित किया जाता है।

जेम्स वेब टेलीस्कोप अपनी कक्षा में पहुंचा

जेम्स वेब स्पेस टेलीस्कोप पृथ्वी से लगभग 15 लाख किमी की दूरी पर अपने अंतिम गंतव्य पर पहुंच गया है। यह टेलीस्कोप अंतरिक्ष के एक क्षेत्र में परिक्रमा करेगा जिसे लैग्रेंज बिंदु (Lagrange point) के रूप में जाना जाता है, जहां सूर्य और पृथ्वी से गुरुत्वाकर्षण खिंचाव घूर्णन प्रणाली के केन्द्रापसारक बल (centrifugal force) द्वारा संतुलित किया जाता है। इन बिंदुओं को सबसे पहले इतालवी फ्रांसीसी गणितज्ञ जोसेफ-लुई लैग्रेंज (Joseph-Louis Lagrange) द्वारा सिद्धांतित किया गया था। जेम्स वेब टेलीस्कोप (James Webb Telescope) नासा, कनाडाई अंतरिक्ष एजेंसी और यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी द्वारा संयुक्त रूप से विकसित किया गया था। इसे एरियन रॉकेट से लॉन्च किया गया था। 13.7 अरब साल पहले बनी आकाशगंगाओं और तारों को स्कैन करने के लिए इस टेलीस्कोप लॉन्च किया गया है। इस टेलीस्कोप की कीमत 10 अरब डॉलर है।

नेपाल की जनसंख्या वृद्धि दर 80 वर्षों के निम्नतम स्तर पर पहुंची

नेपाल के केंद्रीय सांख्यिकी ब्यूरो के अनुसार, पिछले 10 वर्षों में इसकी जनसंख्या 10.18 प्रतिशत की वृद्धि के साथ 29,192,480 हो गई है। कुल डेटा में अनौपचारिक जनगणना के माध्यम से 60 वर्षों में पहली बार लिपुलेख, कालापानी और लिंपियाधुरा क्षेत्रों की जनसंख्या भी शामिल है। ब्यूरो के मुताबिक इन इलाकों में करीब 750 लोग हैं। राष्ट्रीय जनगणना 2021 में 11 नवंबर से 25 नवंबर के बीच हुई थी। एजेंसी के अनुसार नेपाल की जनसंख्या में सालाना औसतन 0.93 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। यह नेपाल के पिछले 80 वर्षों के इतिहास में सबसे कम था, इसने 1911 में जनसंख्या जनगणना शुरू की थी। पिछली जनगणना में 2011 में दर्ज औसत जनसंख्या वृद्धि दर 1.35 प्रतिशत थी। 2011 की जनगणना के दौरान, नेपाल की जनसंख्या 26,494,504 थी। 2021 में, एक परिवार का औसत आकार 4.32 सदस्यों का था। पहले की जनगणना में यह 4.88 सदस्य थे। विश्व बैंक के आंकड़ों के अनुसार, नेपाल में वार्षिक जनसंख्या वृद्धि दर 2020 में वैश्विक औसत 1.01 प्रतिशत से कम है।

ऑस्ट्रेलिया ने ग्रेट बैरियर रीफ की रक्षा के लिए नई योजना लांच की

28 जनवरी, 2022 को ऑस्ट्रेलिया ने जलवायु से प्रभवित ग्रेट बैरियर रीफ की रक्षा के लिए एक नई योजना लांच की। सरकार ने ग्रेट बैरियर रीफ की सुरक्षा के लिए 700 मिलियन अमरीकी डालर का पैकेज लॉन्च किया, ताकि कोरल के विशाल नेटवर्क को यूनेस्को की विश्व विरासत सूची से हटाए जाने से रोका जा सके। यह योजना रीफ को यूनेस्को की “खतरे में” सूची में रखे जाने से बचने में मदद करेगी। जब संयुक्त राष्ट्र ने पहले 2015 में रीफ की विश्व धरोहर सूची को डाउनग्रेड करने की चेतावनी दी थी, तो ऑस्ट्रेलिया ने “रीफ 2050” योजना बनाई थी और सुरक्षा में अरबों डॉलर का निवेश किया था। माना जाता है कि उपायों ने रीफ में गिरावट की गति को रोक दिया है। हालांकि, अधिकांश रीफ सिस्टम पहले ही क्षतिग्रस्त हो चुका है। हाल के एक अध्ययन के अनुसार, विरंजन ने 1998 के बाद से 98% रीफ को प्रभावित किया है। रीफ का केवल एक अंश ही अछूता रह गया है। विरंजन तब होता है जब समुद्र के बढ़ते तापमान के कारण स्वस्थ मूंगे (corals) तनावग्रस्त हो जाते हैं। उच्च तापमान के कारण वे अपने ऊतकों में रहने वाले शैवाल को बाहर निकाल देते हैं। 2016, 2017 और 2020 में हीटवेव के दौरान ऑस्ट्रेलियाई रीफ में तीन बड़े पैमाने पर ब्लीचिंग की घटनाएं हुई हैं।

गुजरात की झांकी में पाल और दाधवाव के गांवों में हुए नरसंहार को दिखाया गया

73वें गणतंत्र दिवस परेड में गुजरात की झांकी में पाल और दाधवाव के गांवों में हुए नरसंहार को दिखाया गया। यह नरसंहार 1922 में हुआ था। इस नरसंहार के दौरान लगभग 1,200 आदिवासियों को अंग्रेजों ने बेरहमी से मार डाला था। 7 मार्च, 1922 को एक आदिवासी नेता मोतीलाल तेजावत 10,000 भील आदिवासियों को संबोधित कर रहे थे। ये आदिवासी एकी आंदोलन (Eki movement) का हिस्सा थे और दाधवाव गांव (अब गुजरात में साबरकांठा जिला) से थे। सभा ने जागीरदार से संबंधित कानूनों, भू-राजस्व व्यवस्था और ब्रिटिश सरकार द्वारा शुरू किए गए रजवाड़ा से संबंधित कानूनों का विरोध किया। मेजर एच.जी. सुटन ने फायरिंग का आदेश जारी किया। आदेश का पालन करते हुए पुलिस ने 1,200 से अधिक निर्दोष लोगों को मार डाला। इस घटना को पाल दाधवाव शहीद (Pal Dadhvav Martyrs) कहा जाता है। क्षेत्र के कुएं आदिवासियों के शवों से भरे हुए थे। वे हत्याकांड में बच निकले, हालाँकि उनकी जांघ में दो बार गोली लगी। गांधीजी के अनुरोध पर तेजावत भूमिगत रहे। उन्हें सात साल की जेल हुई थी। आजादी के बाद उन्होंने इस जगह का नाम “विरुभूमि” रखा। गुजरात के लोक गीतों में आज भी इस नरसंहार को याद किया जाता है। झांकी का अग्रभाग आदिवासियों और उनकी लड़ाई की भावना का प्रतिनिधित्व करता है। पिछले हिस्से में नरसंहार को दर्शाया गया है।इसके साथ कलाकारों ने “गेर” नृत्य किया।

कर्नाटक सरकार संगोली रायन्ना के नाम पर एक सैन्य स्कूल का निर्माण कर रही है

संगोली रायन्ना कित्तूर रियासत के एक योद्धा थे। कित्तूर वर्तमान कर्नाटक है। कर्नाटक सरकार 180 करोड़ रुपये की लागत से संगोली रायन्ना के नाम पर एक सैन्य स्कूल का निर्माण कर रही है। इस स्कूल का संचालन रक्षा मंत्रालय द्वारा किया जाएगा। संगोली रायन्ना (Sangoli Rayanna) कित्तूर के एक महान योद्धा थे, उन्होंने अपनी मृत्यु तक रानी चेन्नम्मा के साथ डोक्ट्रिन ऑफ लैप्स (Doctrine of Lapse) के खिलाफ लड़ाई लड़ी। अंग्रेजों ने कित्तूर साम्राज्य के राजा और राजकुमार को मार डाला। चूंकि सिंहासन का कोई कानूनी उत्तराधिकारी नहीं था, वे डॉक्ट्रिन ऑफ लैप्स के तहत कित्तूर साम्राज्य पर नियंत्रण करना चाहते थे। रानी चनम्मा ने शिवलिंगप्पा को कित्तूर साम्राज्य के शासक के रूप में गोद लिया। संगोली रायन्ना शिवलिंगप्पा को अगला शासक बनाना चाहते थे।

सहारा रेगिस्तान में बर्फ़बारी हुई

दुनिया के सबसे बड़े रेगिस्तान सहारा रेगिस्तान में हाल ही में बर्फबारी हुई है। सहारा रेगिस्तान में हिमपात एक दुर्लभ घटना थी। तापमान हिमांक बिंदु से नीचे जाने के बाद, रेत पर बर्फ जम गई और रेत के टीलों पर बर्फ जम गई। वहां अधिकतम तापमान 58 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। ऐन-सेफ़्रा शहर उत्तर-पश्चिमी अल्जीरिया के नामा प्रांत में स्थित है। इसे “सहारा का प्रवेश द्वार” के रूप में जाना जाता है। यह एटलस पर्वत से घिरा हुआ है और समुद्र तल से लगभग 3,000 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। इस क्षेत्र में रेत के टीले 180 मीटर तक ऊंचे हो सकते हैं। हाल ही में इस कस्बे में तापमान -2 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच गया, जिससे बर्फबारी हुई। यह पहली बार नहीं है जब सहारा रेगिस्तान में बर्फबारी हुई है। पिछले 42 साल में पांचवीं बार बर्फबारी हुई है। इससे पहले, इस क्षेत्र में 1979, 2016, 2018 और 2021 में बर्फबारी देखी गई थी। हर साल, बर्फबारी की मात्रा अलग थी। 1979 में, एक बर्फ़ीला तूफ़ान आया था। वहीं, 2018 में यहां 40 सेंटीमीटर हिमपात हुआ था।

ऊर्जा सुरक्षा पर सहयोग करेंगे अमेरिका और यूरोपीय संघ

अमेरिका और यूरोपीय संघ ने घोषणा की कि वे यूरोप और यूक्रेन में ऊर्जा सुरक्षा की गारंटी पर एक साथ काम कर रहे हैं। यूक्रेन की सीमा पर सैनिकों को इकट्ठा करके रूस द्वारा शुरू किए गए गतिरोध के बीच यह घोषणा की गई है। आपूर्ति के झटके से बचने के लिए, अमेरिका और यूरोपीय संघ संयुक्त रूप से दुनिया भर के विभिन्न स्रोतों से यूरोपीय संघ को प्राकृतिक गैस की निरंतर, समय पर और पर्याप्त आपूर्ति की दिशा में काम कर रहे हैं। रूस ने यूक्रेन की सीमा की पहुंच के भीतर लगभग 1,00,000 सैनिकों को जमा किया है। इस प्रकार, इसने यूक्रेन को उत्तर, पूर्व और दक्षिण से घेर लिया है। इस कदम ने पश्चिम को चौकन्ना कर दिया है कि रूस 2014 में क्रीमियन आक्रमण के बाद एक नए सैन्य हमले की तैयारी कर रहा है। हालांकि, रूसी सरकार किसी भी आक्रमण योजना से इनकार कर रही है।

अल्ट्रा-लॉन्ग-पीरियड मैग्नेटर

हाल ही में, इंटरनेशनल सेंटर फॉर रेडियो एस्ट्रोनॉमी रिसर्च के कर्टिन यूनिवर्सिटी नोट के साथ खगोलविदों को एक वस्तु (object) मिली, जिसे “अल्ट्रा-लॉन्ग-पीरियड मैग्नेटर” (Ultra-long-period Magnetar) कहा जाता है। उनके अवलोकन के दौरान कुछ घंटों में वस्तु (object) दिखाई दे रही थी और गायब हो रही थी। यह लगभग 4,000 प्रकाश वर्ष दूर स्थित है। यह खोजी गई वस्तु सूर्य से भी ज्यादा चमकीली और छोटी है। यह अत्यधिक ध्रुवीकृत रेडियो तरंगों (highly-polarized radio waves) का उत्सर्जन कर रही था, जिससे पता चलता है कि इस वस्तु में एक अत्यंत मजबूत चुंबकीय क्षेत्र था। यह एक प्रकार का धीमा घूमने वाला न्यूट्रॉन तारा (neutron star) है। ब्रह्मांड में इस तरह के पिंडों को दिखाई देना और फिर गायब हो जाना खगोलविदों के लिए कोई नई बात नहीं है। खगोलविद ऐसी वस्तुओं को “क्षणिक” (transient) कहते हैं। क्षणिक दो प्रकार के होते हैं:

  1. धीमी गति से चलने वाले ट्रांज़िएंट – उदाहरण के लिए, सुपरनोवा। वे कुछ दिनों में दिखाई देते हैं और कुछ महीनों के बाद गायब हो जाते हैं।
  2. तेज़ ट्रांज़िएंट – तेज़ ट्रांज़िएंट एक प्रकार के न्यूट्रॉन स्टार की तरह होते हैं जिन्हें पल्सर कहा जाता है। वे सेकंड या मिलीसेकंड के भीतर दिखाई देते और और बंद हो जाते हैं।
मैग्नेटर (magnetar) एक प्रकार का न्यूट्रॉन तारा है, जिसमें एक अत्यंत शक्तिशाली चुंबकीय क्षेत्र (magnetic field) होता है। चुंबकीय-क्षेत्र क्षय उच्च-ऊर्जा विद्युत चुम्बकीय विकिरण, विशेष रूप से गामा किरणों और एक्स-रे के उत्सर्जन को शक्ति देता है।

एयर इंडिया के 7400 से अधिक कर्मचारियों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन के सामाजिक सुरक्षा दायरे में लाया जाएगा

सरकार ने कहा है कि एयर इंडिया के 7,453 कर्मचारियों को कर्मचारी भविष्‍य निधि संगठन-ईपीएफओ के सामाजिक सुरक्षा दायरे में लाया जाएगा। यह लाभ उन कर्मचारियों को मिलेगा जिनका दिसंबर 2021 का अंशदान ईपीएफओ में आ चुका है। श्रम और रोजगार मंत्रालय ने कहा है कि इन कर्मचारियों को अपने भविष्‍य निधि खातों में वेतन के बारह प्रतिशत अंशदान का दो प्रतिशत नियोक्‍ता का अंशदान भी मिलेगा। मंत्रालय ने कहा है कि इन कर्मचारियों को न्‍यूनतम एक हजार रुपये की गारंटीशुदा पेंशन और कर्मचारी की मृत्‍यु होने पर परिवार और आश्रितों को पेंशन दी जाएगी। बीमित व्‍यक्ति की मृत्‍यु होने पर ढाई लाख रुपये से लेकर सात लाख रुपये तक का लाभ उसके आश्रितों को दिया जाएगा। इसके लिए ईपीएफओ कर्मचारी से कोई अतिरिक्‍त प्रीमियम नहीं लेता है।

ऑस्‍ट्रेलियन ओपन टेनिस का पुरूष सिंग्‍लस खिताब राफेल नडाल ने जीता

स्पेनिश टेनिस खिलाड़ी राफेल नडाल ने ऑस्ट्रेलियन ओपन के फाइनल में रूसी स्टार डेनिल मेदवेदेव को पांच सेट तक चले संघर्ष में 2-6, 6-7, 6-4, 6-4, 7-5 से हरा दिया। यह नडाल के करियर का दूसरा ऑस्ट्रेलियन ओपन और ओवरऑल 21वां ग्रैंड स्लैम खिताब है। नडाल इसके साथ ही ग्रैंड स्लैम के 145 साल के इतिहास में सबसे ज्यादा मेंस सिंगल्स खिताब जीतने वाले पुरुष खिलाड़ी बन गए। उन्होंने स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर और सर्बिया के नोवाक जोकोविच को पीछे छोड़ा। इन दोनों के नाम 20-20 ग्रैंड स्लैम टाइटल हैं। ऑस्ट्रेलियन ओपन के महिला सिंगल्स के फाइनल में ऐश्ली बार्टी ने अमेरिका की डेनियल कॉलिंस को सीधे सेटों में हराया था। ऑस्‍ट्रेलिया के लिए बार्टी ने यह ग्रैंड स्‍लैम खिताब 44 वर्ष बाद जीता है। उनसे पहले 1978 में यह खिताब क्रिस्‍टीन ओ नील ने जीता था।

महात्मा गांधी की 74वीं पुण्यतिथि

30 जनवरी को महात्मा गांधी की 74वीं पुण्यतिथि मनाई गई। इस दिन को शहीद दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। 1948 में 30 जनवरी के दिन ही महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई थी। नाथूराम गोडसे द्वारा गांधीजी की हत्या की गयी थी। राष्‍ट्रपति राम नाथ कोविंद और प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी सहित कई गण्‍यमान्‍य व्‍यक्तियों ने दिल्‍ली स्थित राजघाट पर महात्मा गांधी की समाधि पर माल्यार्पण कर उन्‍हें श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर सर्वधर्म प्रार्थना सभा का भी आयोजन किया गया। मोहनदास करमचंद गाँधी को महात्मा गांधी के नाम से जाना जाता है, उन्होंने भारत की स्वतंत्रता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उनका जन्म 2 अक्टूबर, 1869 को ब्रिटिश भारत की बॉम्बे प्रेसीडेंसी के पोरबंदर में हुआ था।

30 जनवरी : विश्व कुष्ठरोग दिवस

30 जनवरी को विश्व कुष्ठरोग दिवस के रूप में मनाया जाता है। इसका उद्देश्य कुष्ठरोग को समाप्त करना तथा कुष्ठरोग से पीड़ित लोगों के साथ होने वाले भेदभाव को समाप्त करना है। कुष्ठरोग से पीड़ित लोग सामाजिक भेदभाव के कारण अक्सर अवसाद का शिकार हो जाते हैं। इसके इलाज के लिए पीड़ित को मल्टी-ड्रग थेरेपी की आवश्यकता पड़ती है, इस थेरेपी के तहत पीड़ित को 6 माह से एक वर्ष तक दवाइयों का सेवन करना पड़ता है। विश्व में विश्व कुष्ठरोग दिवस जनवरी के अंतिम रविवार को मनाया जाता है, लेकिन भारत में यह दिवस महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि पर 30 जनवरी को मनाया जाता है। कुष्ठरोग एक संक्रामक बैक्टीरियल रोग है, यह मायकोबैक्टीरियम लेप्रे के कारण होगा है। यह रोग मुख्य रूप से त्वचा, सम्बंधित तंत्रिकाओं तथा आखों को प्रभावित करता है।

प्रधानमंत्री ने प्रख्यात शिक्षाविद् बाबा इकबाल सिंह जी के निधन पर शोक व्यक्त किया

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने प्रख्यात शिक्षाविद बाबा इकबाल सिंह के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। बारू साहिब वाले के नाम से मशहूर समाजसेवी बाबा इकबाल सिंह को इस साल पद्म श्री से सम्मानित किया गया था। बाबा इकबाल सिंह को 8 जुलाई, 2018 को तख्त श्री हरमंदिर जी पटना साहिब में जत्थेदार ज्ञानी इकबाल सिंह खालसा द्वारा ‘शिरोमणि पंथ रतन’की प्रतिष्ठित उपाधि से सम्मानित किया गया था।

तमिलनाडु में, पूर्व कांग्रेस सांसद एस.के.परमशिवन का निधन

तमिलनाडु में, पूर्व कांग्रेस सांसद एस.के.परमशिवन का तिरुचेंगोडे में निधन हो गया। वह 103 वर्ष के थे। वे 1962 में लोकसभा के लिए चुने गए थे। उन्‍हें इरोड और उसके आसपास के क्षेत्रों में श्‍वेत क्रांति का जनक माना जाता था।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2022 RajasthanGyan All Rights Reserved.