Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

20 February 2024

प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश के अचोंडा कम्बोह में श्री कल्कि धाम मंदिर की आधारशिला रखी और मंदिर के मॉडल का भी अनावरण किया

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तर प्रदेश के संभल जिले में श्री कल्कि धाम मंदिर का शिलान्यास किया। प्रधानमंत्री ने श्री कल्कि धाम मंदिर के मॉडल का भी अनावरण किया। श्री कल्कि धाम का निर्माण श्री कल्कि धाम निर्माण ट्रस्ट द्वारा किया जा रहा है जिसके अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णम हैं। इस कार्यक्रम में कई संत, धर्मगुरु और अन्य गणमान्य व्यक्ति भाग ले रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में 10 लाख करोड़ रुपये से अधिक की 14 हजार परियोजनाएं शुरू कीं

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने लखनऊ में विकसित भारत विकसित उत्तर प्रदेश कार्यक्रम को संबोधित किया। प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश में निवेश और रोजगार के अवसरों को लेकर सकारात्मक माहौल की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि पिछले सात वर्षों में 'रेड टेप कल्चर' की जगह 'रेड कार्पेट कल्चर' ने ले ली है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराध कम हुए और व्यापार संस्कृति विकसित हुई। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश देश में सबसे अधिक एक्सप्रेसवे और अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डों वाला राज्य बन गया है। श्री मोदी ने कहा कि इस राज्य में देश की पहली रैपिड रेल चल रही है।

लेफ्टिनेंट जनरल उपेन्द्र द्विवेदी ने उप सेना प्रमुख का पदभार संभाला

लेफ्टिनेंट जनरल उपेन्द्र द्विवेदी ने उप सेना प्रमुख का पदभार संभाल लिया। उन्होंने लेफ्टिनेंट जनरल एम.वी. सुचिन्द्र कुमार से कार्यभार ग्रहण किया। जनरल एम.वी. सुचिन्द्र कुमार को उत्तरी कमान का जनरल-ऑफिसर-कमांडिंग नियुक्त किया गया है। लेफ्टिनेंट जनरल द्विवेदी वर्ष 2022 से 2024 तक उत्तरी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ के पद पर कार्यरत थे। मध्य प्रदेश में रीवा सैनिक स्कूल के पूर्व विद्याथी, लेफ्टिनेंट जनरल उपेन्द्र द्विवेदी को 1984 में 18 जम्मू-कश्मीर राइफल्स में नियुक्त किया गया था।

हैज़ा के प्रकोप की रोकथाम हेतु भारत ने जाम्बिया को सहायता प्रदान की

भारत ने हैज़ा के प्रकोप का सामना कर रहे जाम्बिया को चिकित्सा और सामग्री सहायता प्रदान की। भारत ने जाम्बिया को जल शोधन आपूर्ति, क्लोरीन टैबलेट और ओरल रिहाइड्रेशन सॉल्यूशन (ORS) पाउच की सहायता प्रदान की। हैज़ा एक तीव्र डायरिया संक्रमण है जो विब्रियो कॉलेरी जीवाणु से दूषित भोजन अथवा पानी के सेवन से होता है। यह सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिये एक वैश्विक खतरा है तथा असमानता और सामाजिक विकास का अभाव दर्शाता है। शोधकर्त्ताओं के अनुसार प्रत्येक वर्ष हैज़ा के 1.3 से 4.0 मिलियन मामले दर्ज किये जाते हैं और इसके कारण विश्व भर में 21,000 से 1,43,000 मौतें होती हैं। संक्रमित लोगों में से अधिकांश लोग लक्षण रहित होते हैं अथवा नाम मात्र लक्षण होते हैं तथा ORS से उनका सफलतापूर्वक इलाज किया जा सकता है। वर्तमान में विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के तीन प्री-क्वालिफाइड ओरल हैज़ा वैक्सीन (OCV) मौजूद हैं जिनमें डुकोरल, शंचोल और यूविचोल शामिल हैं। पूर्ण रूप से निदान के लिये तीनों टीकों की दो खुराक की सेवन की आवश्यकता होती है।

विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन रियो डी जनेरियो में जी-20 विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे

विदेश राज्यमंत्री वी. मुरलीधरन 21 और 22 फरवरी को ब्राजील के रियो डी जनेरियो में जी-20 विदेश मंत्रियों की बैठक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। जी-20 के विदेश मंत्रियों की यह 10वीं बैठक है। पिछले कुछ वर्षों में अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा के लिए यह एक महत्‍वपूर्ण मंच बन गया है। ब्राज़ील ने पिछले वर्ष पहली दिसंबर को भारत से जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण की थी।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 25 फरवरी को पांच नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थानों का लोकार्पण करेंगे

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 25 फरवरी को आयुष्‍मान भारत, विकसित भारत के अंतर्गत पांच नए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थानों का लोकार्पण करेंगे। यह कार्यक्रम गुजरात में आयोजित होगा। इनमें गुजरात के राजकोट, आंध्रप्रदेश के मंगलागिरि, पंजाब के बठिंडा, उत्‍तर प्रदेश के रायबरेली और पश्चिम बंगाल के कल्‍याणी में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान शामिल हैं। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी देशभर में चिकित्‍सा महाविद्यालयों और नर्सिंग महाविद्यालयों का भी उद्घाटन करेंगे। केवल दस दिन में सात अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थानों का उद्घाटन हो रहा है। हरियाणा के रेवाडी में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान का शिलान्‍यास शुक्रवार को किया गया था, जबकि जम्मू में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान का उद्घाटन 20 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी करेंगे।

मत्स्य पालन विभाग ने आज नई दिल्ली में केंद्रीय मंत्री श्री परषोत्तम रुपाला की उपस्थिति में डिजिटल कॉमर्स संबंधी ओपन नेटवर्क के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

मत्स्य पालन विभाग ने केंद्रीय मत्स्य पालन, पशुपालन और डेयरी मंत्री श्री परषोत्तम रुपाला, राज्य मंत्री डॉ. एल. मुरुगन, सचिव (मत्स्य पालन) डॉ. अभिलक्ष लिखी, संयुक्त सचिव (अंतर्देशीय मत्स्य पालन), श्री सागर मेहरा, एमडी, ओएनडीसी श्री टी. कोशी और अन्य सम्मानित गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में नई दिल्ली में डिजिटल कॉमर्स संबंधी ओपन नेटवर्क (ओएनडीसी) के साथ एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए। श्री परषोत्तम रुपाला ने इस अवसर पर एक पुस्तिका "फ्रॉम कैच टू कॉमर्स, इंक्रीजिंग मार्केट एक्सेस थ्रू डिजिटल ट्रांसफॉर्मेशन" का विमोचन भी किया। इस सहयोग का उद्देश्य एक डिजिटल मंच प्रदान करना और पारंपरिक मछुआरों, मछली किसान उत्पादक संगठनों, मत्स्य पालन क्षेत्र के उद्यमियों सहित सभी हितधारकों को ई-मार्केट प्लेस के माध्यम से अपने उत्पाद खरीदने और बेचने के लिए सशक्त बनाना है। ओएनडीसी ई-मार्केटिंग का एक अनूठा मंच है, जो मछुआरों, मछली किसानों, एफएफपीओ, स्वयं सहायता समूहों और अन्य मछुआरा सहकारी समितियों को एक संरचित तरीके से जोड़कर मत्स्य पालन क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

आईआरईडीए और पंजाब नेशनल बैंक के बीच अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं के सह-वित्तपोषण के लिए समझौता

भारतीय अक्षय ऊर्जा विकास एजेंसी लिमिटेड (आईआरईडीए) और पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) ने देश भर में अक्षय ऊर्जा पहल को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। नई दिल्ली में आईआरईडीए के पंजीकृत कार्यालय में 19 फरवरी, 2024 को किए गए समझौते से अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं के विविध स्पेक्ट्रम के लिए सह-उधार और ऋण सहायता में संयुक्त प्रयासों का मार्ग प्रशस्त होगा। इस एमओयू में अक्षय ऊर्जा परियोजनाओं को मदद के लिए विभिन्न प्रावधान शामिल किए गए हैं। इनमें संयुक्त ऋण, ऋण सहायता और जोखिम अंकन, आईआरईडीए उधारकर्ताओं के लिए ट्रस्ट और रिटेंशन अकाउंट (टीआरए) का प्रबंधन, और आईआरईडीए उधार पर मूल्य निर्धारण सहित मंजूरी की प्रतिस्पर्धी शर्तों की दिशा में काम करना शामिल है। इसके साथ ही, सहयोग के माध्यम से आईआरईडीए और पीएनबी में से किसी भी संगठन द्वारा जारी बॉन्ड में भी दोनों निवेश कर सकते हैं।

आरईसी लिमिटेड को आईआईटी में 2 मेगावाट के रूफटॉप सौर संयंत्र स्थापित करने के लिए आईआईटी- मद्रास सीएसआर सम्मेलन के दौरान 'अभिनव प्रौद्योगिकी विकास पुरस्कार' प्रदान किया गया

विद्युत मंत्रालय के अधीन महारत्न केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यम और अग्रणी एनबीएफसी- आरईसी लिमिटेड को आईआईटी मद्रास कॉरपोरेट सामाजिक जवाबदेही सम्मेलन- 'भारत का निर्माण 2047: बेहतर कल के लिए प्रौद्योगिकी' के दौरान 'अभिनव प्रौद्योगिकी विकास पुरस्कार' से सम्मानित किया गया। यह पुरस्कार आईआईटी- मद्रास में 2 मेगावाट रूफटॉप सौर संयंत्र की स्थापना को लेकर आरईसी की सीएसआर पहल के लिए प्रदान किया गया है। यह सौर संयंत्र हर साल लगभग 31.5 लाख यूनिट स्वच्छ ऊर्जा उत्पन्न करता है, जिससे आईआईटी मद्रास को अपने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने में सहायता मिलती है। आरईसी लिमिटेड अपनी सीएसआर शाखा- आरईसी फाउंडेशन के माध्यम से सीएसआर को लेकर एक मजबूत प्रतिबद्धता बनाए रखती है और यह उन परियोजनाओं को प्राथमिकता देती है, जिनका समाज पर गहरा प्रभाव पड़ता है। इसके अलावा टिकाऊ विकास लक्ष्यों और राष्ट्रीय प्राथमिकताओं पर भी जोर दिया जाता है।

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने रेलवे सुरक्षा विशेष बल के कांस्टेबल को ‘जीवन रक्षा पदक’ से सम्मानित किया

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु ने गणतंत्र दिवस 2024 के अवसर पर वर्ष 2023 के लिए रेलवे सुरक्षा विशेष बल (आरपीएसएफ) के कांस्टेबल श्री शशिकांत कुमार को प्रतिष्ठित ‘जीवन रक्षा पदक’ से सम्मानित किया। एक महिला रेल यात्री के जीवन को बचाने में उनके अद्वितीय साहस, सोच और त्वरित कार्रवाई की वजह से उन्हें ये सम्मानित पहचान मिली। श्री शशिकांत कुमार ने 8 जून, 2023 को प्रयागराज छिवकी रेलवे स्टेशन पर उस समय असाधारण बहादुरी का प्रदर्शन किया जब उन्होंने एक महिला यात्री को गंभीर खतरे में देखा। महिला यात्री चलती ट्रेन से उतरने का प्रयास कर रही थी, तभी उसका पैर फिसल गया और वह ट्रेन व प्लेटफॉर्म के बीच में फंस गई, चलती ट्रेन के पहिये के नीचे आने ही वाली थी तभी कुमार ने बिना किसी हिचकिचाहट के अपनी सुरक्षा को खतरे में डालते हुए परेशान महिला यात्री की जान बचा ली।

आईसीएआर-केंद्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान संस्‍थान, झांसी के सहयोग से नई दिल्ली में 19-20 फरवरी 2024 को नीम शिखर सम्मेलन और वैश्विक नीम व्यापार मेले का आयोजन

आईसीएआर-केंद्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान संस्‍थान, झांसी के सहयोग से नई दिल्ली में 19-20 फरवरी 2024 को नीम शिखर सम्मेलन और वैश्विक नीम व्यापार मेले का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम का आरंभ सचिव, डीएआरई और महानिदेशक, आईसीएआर डॉ.हिमांशु पाठक द्वारा व्यापार मेले के उद्घाटन के साथ हुआ। व्यापार मेले में देश-विदेश की 22 कंपनियों ने भाग लिया और अपने उत्पाद प्रदर्शित किए। संगोष्‍ठी का विषय 'टिकाऊ कृषि, स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए नीम' है।

निवेश और धोखाधड़ी वाली योजनाओं पर जागरूकता फैलाने के लिए आईईपीएफए और डीबीएस बैंक ने समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए

कॉरपोरेट कार्य मंत्रालय (एमसीए) के तत्वावधान में निवेशक शिक्षा और संरक्षण निधि प्राधिकरण (आईईपीएफए) और एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया में मजबूत उपस्थिति वाले एक प्रमुख वित्तीय संस्थान, डीबीएस बैंक के बीच नई दिल्ली में एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। एमओयू के अनुसार, डीबीएस बैंक का लक्ष्य अपने विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्मों के माध्यम से सुरक्षा संदेश प्रसारित करके आईईपीएफए की निवेशक जागरूकता गतिविधियों का समर्थन करना है। 19 भारतीय राज्यों में डीबीएस बैंक की शाखाओं और एटीएम के व्यापक नेटवर्क के साथ-साथ इसकी डिजिटल अवसंरचना का लाभ उठाने से, अंतिम उपयोगकर्ताओं तक आईईपीएफए के निवेशक जागरूकता और सुरक्षा संदेशों की पहुंच में उल्लेखनीय वृद्धि होगी।

मध्‍य भारत में केला उत्‍पादन के लिए प्रसिद्ध मध्य प्रदेश के बुरहानपुर शहर में केला-उत्‍सव का आयोजन

मध्‍य भारत में केला उत्‍पादन के लिए प्रसिद्ध मध्य प्रदेश के बुरहानपुर शहर में केला-उत्‍सव का आयोजन किया जा रहा है। दो दिन के इस उत्‍सव का आयोजन जिला प्रशासन और अन्‍य विभागों के सहयोग से किया जा रहा है। ‘एक जिला-एक उत्‍पाद’ कार्यक्रम के अंतर्गत इस उत्‍सव का आयोजन हो रहा है। बुरहानपुर में 23 हजार 6 सौ 50 हेक्‍टेअर भूमि पर केले की खेती की जाती है। 18 हजार 3 सौ 25 किसान इस काम में लगे हुए हैं और वे 16 लाख मीट्रिक टन केले का उत्‍पादन करते हैं। इसके साथ ही यहां केले की बिक्री का आँकड़ा एक हजार सात सौ करोड़ रुपए है।

मध्य प्रदेश में खजुराहो नृत्य-महोत्सव शुरू

मध्य प्रदेश के खजुराहो में खजुराहो नृत्य महोत्सव शुरू हो रहा है। इस प्रतिष्ठित नृत्य महोत्सव का यह 50वां वर्ष है। महोत्सव का उद्घाटन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉक्‍टर मोहन यादव करेंगे।

भारतीय राष्ट्रीय युवा विज्ञान अकादमी ने नौवीं वार्षिक आम सभा की बैठक आयोजित की

भारतीय राष्ट्रीय युवा विज्ञान अकादमी (INYAS) ने हाल ही में अपनी नौवीं वार्षिक आम सभा की बैठक आयोजित की। वर्ष 2014 में स्थापित INYAS भारत में युवा वैज्ञानिकों के लिये एकमात्र मान्यता प्राप्त अकादमी रही है, जो युवा वैज्ञानिकों के बीच विज्ञान शिक्षा एवं नेटवर्किंग को बढ़ावा देने के लिये समर्पित है। राष्ट्रीय विज्ञान संचार और नीति अनुसंधान संस्थान (CSIR-NIScPR) भारत सरकार के विज्ञान तथा प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) की घटक प्रयोगशालाओं में से एक है। यह विज्ञान संचार, साक्ष्य-आधारित नीति अनुसंधान एवं अध्ययन, सामग्री की एक शृंखला प्रकाशित करने के साथ-साथ विज्ञान नीति, नवाचार प्रणाली तथा विज्ञान कूटनीति जैसे विभिन्न विषयों पर अनुसंधान करने पर केंद्रित है।

तेलंगाना विधानसभा ने राज्यव्यापी जाति सर्वेक्षण को मंजूरी दी

तेलंगाना विधान सभा ने सर्वसम्मति से राज्य भर में एक व्यापक घरेलू जाति सर्वेक्षण करने के लिए एक प्रस्ताव पारित किया। इसका उद्देश्य साक्ष्य-आधारित नीतिगत हस्तक्षेपों को चलाने के लिए जातियों द्वारा वर्गीकृत सामाजिक-आर्थिक स्थिति के बारे में विस्तृत कल्याण डेटा इकट्ठा करना है। सर्वेक्षण में तेलंगाना के सभी घरों में क्षेत्र के दौरे के माध्यम से शिक्षा के स्तर, आय, रोजगार और राजनीतिक प्रतिनिधित्व की जानकारी के साथ-साथ जातिगत डेटा को एकत्रित करने की योजना बनाई गई है, जिससे अनुकूलित उत्थान पहल की सुविधा मिल सके।

आर्थिक चुनौतियों के बीच ब्रिटेन ने तकनीकी मंदी में प्रवेश किया

नवीनतम जीडीपी आंकड़ों के अनुसार, यूनाइटेड किंगडम तकनीकी मंदी में फंस गया है, तीसरी तिमाही में 0.1% की गिरावट के बाद 2023 की चौथी तिमाही में अर्थव्यवस्था में 0.3% की गिरावट आई है। इससे चुनाव से पहले पीएम ऋषि सुनक की सरकार की आर्थिक पृष्ठभूमि खराब हो गई है। सुनक ने पिछले साल मतदाताओं से किए अपने प्रमुख वादों में से एक के रूप में अर्थव्यवस्था को आगे बढ़ाने का वादा किया था। चौथी तिमाही में जीडीपी में गिरावट में विनिर्माण, निर्माण और थोक का सबसे बड़ा योगदान रहा। 2022 की शुरुआत से प्रति व्यक्ति सकल घरेलू उत्पाद में वृद्धि नहीं हुई है, जो कि 1955 में रिकॉर्ड शुरू होने के बाद से अब तक की सबसे लंबी अवधि है। तकनीकी मंदी से तात्पर्य तब होता है जब किसी देश की वास्तविक जीडीपी में लगातार दो तिमाही में गिरावट दर्ज की जाती है। हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर पुष्टि नहीं की गई है, 2023 की शुरुआत में नकारात्मक वृद्धि की एक और तिमाही 2008-09 के वैश्विक वित्तीय संकट के बाद दो तिमाहियों में पहली यूके मंदी का प्रतीक होगी।

जापान ने अगली पीढ़ी के H3 रॉकेट का सफलतापूर्वक प्रक्षेपण किया

18 फरवरी, 2023 को, जापान एयरोस्पेस एक्सप्लोरेशन एजेंसी (JAXA) ने अपने अगली पीढ़ी के H3 लॉन्च वाहन के सफल पहले कक्षीय प्रक्षेपण की घोषणा की। नए फ्लैगशिप रॉकेट ने 2022 में दो पूर्व असफल प्रक्षेपण प्रयासों के बाद अपने परीक्षण पेलोड को इच्छित कक्षा में पहुंचाया। H3 रॉकेट का विकास JAXA और जापानी निर्माता मित्सुबिशी हेवी इंडस्ट्रीज द्वारा 2001 से उपयोग किए जाने वाले विश्वसनीय H-IIA रॉकेट के उत्तराधिकारी के रूप में एक दशक से अधिक समय से किया जा रहा है। इसे लचीले और लागत प्रभावी उपग्रह प्रक्षेपण के लिए डिज़ाइन किया गया है।

खेलो इंडिया यूनिवर्सिटी गेम्स का चौथा संस्करण गुवाहाटी में शुरू

चौथे खेलो इंडिया यूनीवर्सिटी गेम्‍स अष्‍टलक्ष्‍मी का गुवाहाटी में औपचारिक रूप से उद्घाटन हुआ। प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वर्चुअल माध्‍यम से कार्यक्रम में हिस्‍सा लिया और खिलाडि़यों को शुभकामनाएं दीं। इस अवसर पर उन्‍होंने कहा कि ये समय समाज में खिलाडियों के प्रति उत्साह को बढाने का है। श्री मोदी ने कहा कि पूर्वोत्‍तर ने कई बेहतरीन खिलाड़ी दिए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि केन्‍द्र ने तीन हजार पांच सौ करोड़ रुपए खेलों के लिए आवंटित किए हैं। 29 फरवरी तक चलने वाले इन खेलों में देशभर के 213 विश्‍वविद्यालयों के लगभग साढे चार हजार खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। केन्‍द्रीय मंत्री अनुराग सिंह ठाकुर ने कहा कि भारत 2029 में युवा ओलम्‍पिक और 2030 में ग्रीष्‍मकालीन ओलम्‍पिक आयोजित करना चाहता है।

साइल हेल्थ कार्ड दिवस : 19 फरवरी

भारत सरकार ने 19 फरवरी, 2020 को साइल हेल्थ कार्ड दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। साइल हेल्थ कार्ड स्कीम को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 19 फरवरी, 2015 को लांच किया गया था। इस योजना का उद्देश्य मिट्टी की उपजाऊ क्षमता का मूल्यांकन करना था। इस योजना के तहत प्रत्येक दो वर्ष बाद साइल हेल्थ कार्ड जारी किये जाते हैं। इसके द्वारा किसानों को खेत में उर्वरक की उचित मात्र डालने में आसानी होती है, इससे बड़े पैमाने पर अतिरिक्त उर्वरक के उपयोग में कमी आई है।

Start Quiz! PRINT PDF

« Previous Next Affairs »

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Test Series

Here You can find previous year question paper and mock test for practice.

Test Series

Download

Here you can download Current Affairs Question PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2024 RajasthanGyan All Rights Reserved.