Ask Question | login | Register
Notes
Question
Quiz
Tricks
Facts

23 April 2021

जीसी मुर्मू को रासायनिक हथियारों के समापन के अंतर सरकारी संगठन ने बाहरी लेखा-परीक्षक चुना

देश के नियंत्रक और महालेखा परीक्षक जीसी मुर्मू को रासायनिक हथियारों के समापन के प्रतिष्ठित अंतर सरकारी संगठन ने बाहरी लेखा-परीक्षक के रूप में चुना है। विदेश मंत्रालय ने बताया कि है कि रासायनिक हथियार निषेध संगठन-ओपीसीडब्ल्यू के सदस्य देशों ने श्री मुर्मू को 2021 से शुरू हो रहे 3 वर्ष के कार्यकाल के लिए बाहरी लेखा परीक्षक चुना है। श्री मुर्मू की नियुक्ति संगठन के सम्मेलन में चुनाव प्रक्रिया के जरिए हुई जिसमें भारत को जबर्दस्‍त समर्थन मिला। विदेश मंत्रालय ने कहा है कि इस पद के लिए भारत का चुना जाना अंतरराष्ट्रीय स्‍तर पर उसकी प्रतिष्ठा का प्रतीक है। भारत को और दो वर्ष के लिए एशिया के प्रतिनिधि के रूप में संगठन की कार्यकारी परिषद का सदस्‍य भी चुना गया है।

भारतीय नौसेना ने लापता इंडोनेशियाई पनडुब्‍बी की खोज और बचाव में सहायता के लिए पनडुब्‍बी बचाव जलपोत भेजा

भारतीय नौसेना ने इंडोनेशिया की लापता पनडुब्‍बी केआरआई ननग्‍गाला की खोज और बचाव के प्रयासों में इंडोनेशिया की नौसेना की मदद के लिए गहरे समुद्र में बचाव करने वाला पोत -डीएसआरवी वहां भेजा है। भारतीय नौसेना को अंतरराष्‍ट्रीय पनडुब्‍बी बचाव सम्‍पर्क कार्यालय से इंडोनेशिया की पनडुब्‍बी के लापता होने के बारे में चेतावनी प्राप्‍त हुई थी। खबर है कि यह पनडुब्‍बी चालक दल के 53 सदस्‍यों के साथ बाली के उत्‍तर में 25 किलोमीटर दूर अभ्‍यास कर रही थी। भारत दुनिया के ऐसे गिनेचुने देशों में शामिल है जिनके पास डीएसआरवी के जरिये खराब पनडुब्‍बी की खोज और बचाव की क्षमता है। भारत और इंडो‍नेशिया के बीच व्‍यापक रणनीतिक भागीदारी समझौते के तहत दोनों देशों की नौसेनाओं के बीच संचालनगत सहयोग के साथ मजबूत भागीदारी है।

मंगल ग्रह के वायुमंडल में विद्यमान कार्बन डाइ ऑक्‍साइड से ऑक्‍सीजन बनाने में कामयाबी

अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के मंगल यान परसीवरेंस ने मंगल ग्रह के वायुमंडल में विद्यमान कार्बन डाइ ऑक्‍साइड से ऑक्‍सीजन बनाने में कामयाबी हासिल की है। अमरीका के मंगल अभियान ने मिनी हैलीकॉप्‍टर उड़ाने में सफलता प्राप्‍त की थी। उसके बाद ऑक्‍सीजन बनाकर टेक्‍नोलाजी का दूसरा सफल प्रदर्शन किया गया है। ऑक्‍सीजन गैस बनाने का कार्य रोवर यान में मॉक्‍सी-यानी मार्स ऑक्‍सीजन इन सिटू रिसोर्स यूटिलाइजेशन एक्‍सपेरीमेंट नाम की एक छोटी सी इकाई में किया गया। इसमें 5 ग्राम ऑक्‍सीजन बनायी गयी जो मंगल ग्रह में किसी व्‍यक्ति के करीब 10 मिनट तक सांस लेने के लिए काफी है। नासा ने भविष्‍य में मंगल ग्रह के लिए अपने अभि‍यान बढ़ाने की योजना बनायी है जिसके लिए धरती से ऑक्‍सीजन लेकर जाने की बजाय वहीं यह गैस बनाने के लिए बड़े आकार की मॉक्‍सी इकाई बनानी होगी। मंगल ग्रह के वायुमंडल में कार्बन डाइ ऑक्‍साइड का बाहुल्‍य है। अनुमान है कि प्रति घंटे 10 ग्राम ऑक्‍सीजन का उत्‍पादन किया जा सकेगा।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने ऑक्‍सीजन की आपूर्ति और उपलब्‍धता की समीक्षा के लिए उच्‍चस्‍तरीय बैठक की अध्‍यक्षता की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों को विभिन्‍न राज्‍यों को ऑक्‍सीजन की सप्‍लाई निर्बाध और सुचारू रूप से सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। श्री मोदी ने देशभर में रोगियों के इलाज में काम आने वाली आक्‍सीजन की उपलब्‍धता की आयोजित उच्‍च स्‍तरीय बैठक में समीक्षा की और इसे बढ़ाने के तौर-तरीकोकं पर भी विचार विमर्श किया। उन्‍होंने सप्‍लाई में किसी तरह का व्‍यवधान उत्‍पन्‍न होने पर स्‍थानीय प्रशासन की जिम्‍मेदारी तय करने की आवश्‍यकता पर भी जोर दिया। उन्‍होंने मंत्रालयों को निर्देश दिये कि वे ऑक्‍सीजन का उत्‍पादन और आपूर्ति बढाने के विभिन्‍न तौर तरीकों का पता लगाएं।

राफेल विमानों की पांचवीं खेप भारत पहुंची

राफेल विमानों की पांचवीं खेप भारत पहुंची। इन विमानों ने लगभग आठ हजार किलोमीटर की उड़ान पूरी की जिसके लिए फ्रांस और संयुक्त अरब अमारात की वायुसेना ने हवा में ही ईंधन भरने की सुविधा उपलब्ध करायी। एक ट्वीट में भारतीय वायुसेना ने दोनों देशों की वायुसेना को इस सहयोग के लिए धन्यवाद दिया। इससे पहले वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने फ्रांस के मैरीनेक वायुसेना केंद्र से इन विमानों को झंडी दिखाकर रवाना किया। श्री भदौरिया इन दिनों फ्रांस की यात्रा पर हैं।

इस्‍लामिक विद्वान मौलाना वहीदुद्दीन खान का निधन

जाने-माने इस्‍लामिक विद्वान मौलाना वहीदुद्दीन खान का निधन हो गया है। वे 96 वर्ष के थे। राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद ने जाने-माने इस्‍लामिक विद्वान मौलाना वहिदुद्दीन खान के निधन पर दुख व्‍यक्‍त किया है। श्री कोविंद ने एक ट्वीट में कहा कि पद्म विभूषण से सम्‍मानित मौलाना वहिदुद्दीन ने समाज में शांति, सद्भाव और सुधारों के लिए महत्‍वपूर्ण कार्य किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मौलाना वहीदुद्दीन खान के निधन पर गहरा शोक व्‍यक्‍त किया है।

इसरो IIT- दिल्ली स्थित स्पेस टेक्नोलॉजी सेल की आठ संयुक्त अनुसंधान परियोजनाओं का समर्थन करेगा

हाल ही में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organisation) ने घोषणा की है कि वह IIT- दिल्ली स्थित स्पेस टेक्नोलॉजी सेल (Space Technology Cell) की आठ संयुक्त अनुसंधान परियोजनाओं का समर्थन करेगा। इसरो ने अपने रिस्पॉन्ड प्रोग्राम (RESPOND Programme) के अंतर्गत इन परियोजनाओं का समर्थन किया है। इसरो ने वर्ष 1970 के दशक में रिस्पॉन्ड प्रोग्राम (अनुसंधान प्रायोजित) शुरू किया था, जिसका उद्देश्य विभिन्न अंतरिक्ष अनुसंधान गतिविधियों में भाग लेने और योगदान के लिये शिक्षाविदों को प्रोत्साहित करना था।इसरो इस प्रोग्राम के अंतर्गत भारत में शैक्षणिक संस्थानों में अंतरिक्ष विज्ञान, अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी और अंतरिक्ष अनुप्रयोगों से संबंधित अनुसंधान तथा विकास गतिविधियों के संचालन के लिये वित्तीय सहायता प्रदान करता है।यह इसरो का एकेडेमिया (Academia) में अंतरिक्ष के उभरते क्षेत्रों पर बाह्य अनुसंधान को बढ़ावा देने वाला प्रमुख प्रोग्राम है।

नई वैश्विक समुद्री पहल ब्लू नेचर एलायंस

आगामी पाँच वर्षों में महत्त्वपूर्ण जलीय क्षेत्रों और महासागरों का संरक्षण सुनिश्चित करने के लिये एक नई वैश्विक समुद्री पहल शुरू की गई है। ‘ब्लू नेचर एलायंस’ नामक इस पहल को विभिन्न परोपकारी संगठनों, राष्ट्रीय सरकारों, स्थानीय समुदायों, स्वदेशी लोगों, वैज्ञानिकों और शिक्षाविदों के सहयोग से शुरू किया गया है। ‘ब्लू नेचर एलायंस’ प्रारंभ में अपने संरक्षण कार्यों के तहत 4.8 मिलियन वर्ग किलोमीटर (1.9 मिलियन वर्ग मील) क्षेत्र में फैले तीन समुद्री क्षेत्रों यथा- फिजी का लाउ सीस्केप, अंटार्कटिका का दक्षिणी महासागर और दक्षिणी अटलांटिक महासागर में ट्रिस्टन दा कुन्हा द्वीप को कवर करेगा। इस पहल का प्राथमिक उद्देश्य जलवायु परिवर्तन के कारण सबसे अधिक प्रभावित होने वाले स्थानीय समुदायों के साथ मिलकर कार्य करना है और ऐसे में यह पहल समुद्री संरक्षण में मददगार होने के साथ-साथ पारिस्थितिकी तंत्र का लचीलापन बढ़ाने में भी मददगार साबित हो सकती है। पृथ्वी की सतह के दो-तिहाई से अधिक हिस्से पर मौजूद महासागर मानवीय जीवन को काफी अधिक प्रभावित करते हैं और ये तटीय या छोटे द्वीप क्षेत्रों में रहने वाले समुदायों की आजीविका के लिये विशेष तौर पर महत्त्वपूर्ण होते हैं। इसके बावजूद दुनिया भर में महासागर गंभीर तनाव का सामना कर रहे हैं।

शिव सुब्रमणियम रमण सिडबी के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक

हाल ही में शिव सुब्रमणियम रमण ने भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक के रूप में कार्यभार संभाला है। इस संबंध में जारी आधिकारिक सूचना के मुताबिक, सुब्रमणियम रमण की नियुक्ति कुल वर्षीय कार्यकाल के लिये की गई है। इस नियुक्ति से पूर्व सुब्रमणियम रमण राष्ट्रीय ई-गवर्नेंस सर्विसेज़ लिमिटेड (NeSL) के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में सेवारत थे। तमिलनाडु से ताल्लुक रखने वाले सुब्रमणियम रमण वर्ष 1991 बैच के भारतीय लेखापरीक्षा और लेखा सेवा (IA&AS) अधिकारी हैं। इसके अलावा वे वर्ष 2015-2016 के झारखंड के प्रधान महालेखाकार के रूप में भी कार्य कर चुके हैं। वहीं भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक (सिडबी) की स्थापना 2 अप्रैल, 1990 को संसद के एक अधिनियम के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (MSME) क्षेत्र के संवर्द्धन, वित्तपोषण और विकास हेतु एक प्रमुख वित्तीय संस्था के रूप में की गई थी।

इजरायल : गूगल और AWS को निंबस प्रोजेक्ट के लिए चुना गया

इजरायल सरकार ने अपनी सैन्य और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाइयों के लिए क्लाउड सेवाएं प्रदान करने के लिए गूगल और अमेज़न वेब सेवाओं(AWS) को चुना है। इस परियोजना को चार चरणों में लागू किया जाना है और इसे “निम्बस” परियोजना का नाम दिया गया है। निम्बस परियोजना 1 बिलियन अमरीकी डालर की अनुमानित लागत से कार्यान्वित की जाएगी। यह इजरायल में क्लाउड साइट्स स्थापित करेगा।ये साइटें कड़ी सुरक्षा दिशानिर्देशों के तहत इजरायल की सीमाओं के भीतर जानकारी रखेंगी। इस परियोजना के चार चरण इस प्रकार हैं:

  • क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर का अधिग्रहण और निर्माण
  • क्लाउड पर माइग्रेट करने के लिए सरकारी नीति तैयार करना
  • इंटीग्रेशन और माइग्रेशन
  • क्लाउड गतिविधि का नियंत्रण और अनुकूलन

नासा ने कॉस्मिक रोज का चित्र जारी किया

नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) ने हाल ही में “कॉस्मिक रोज” की एक छवि साझा की है। कॉस्मिक रोज, नासा के हबल स्पेस टेलीस्कॉप द्वारा कैप्चर की गई एक छवि है। इस छवि में परस्पर क्रिया करती आकाशगंगाओं का Arp 273 को दिखाया गया है। Arp 273 एंड्रोमेडा तारामंडल में स्थित है। यह पृथ्वी से 300 मिलियन प्रकाश वर्ष दूर है। यह सर्पिल आकाशगंगा UGC 1810 और UGC 1813 का संयोजन है।यूजीसी 1813 की तुलना में यूजीसी 1810 पांच गुना भारी है।यूजीसी 1810 में एक डिस्क है जो आकार में गुलाब की तरह विकृत है। यह विरूपण मुख्य रूप से UGC 1813 के गुरुत्वाकर्षण खिंचाव के कारण है जो कि नीचे स्थित है। इसे हबल स्पेस टेलीस्कोप द्वारा कैप्चर किया गया है।

रूस अपना स्पेस स्टेशन लांच करेगा

रूस ने अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से बाहर निकलने और 2025 में अपना स्वयं का अंतरिक्ष स्टेशन लांच करने की योजना बनाई है। रूस के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (International Space Station) की संरचना पुरानी हो रही है। स्टेशन पुराना होने के साथ, यह अपरिवर्तनीय परिणाम पैदा कर सकता है। 1998 में अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसियों और रूसी अंतरिक्ष एजेंसियों द्वारा अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन को लांच किया गया था। अन्य देश जो अंतर्राष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के लांच में शामिल थे, वे थे – कनाडा, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी और जापान। ISS 93 मिनट में पृथ्वी के चारों ओर घूमता है। यह प्रति दिन 15.5 परिक्रमा करता है। यह 7.7 किलोमीटर प्रति सेकंड की एक कक्षीय वेग से यात्रा करता है।

अमेरिकी सदन ने ‘No Ban Act’ पारित किया

अमेरिकी प्रतिनिधि सभा (US House of Representatives) ने हाल ही में एक विधेयक पारित किया है जो धर्म-आधारित यात्रा प्रतिबंध लगाने की राष्ट्रपति की क्षमता को सीमित करेगा। इसे अनौपचारिक रूप से “नो बैन एक्ट” कहा जा रहा है। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा पारित “मुस्लिम प्रतिबंध” के जवाब में No Ban Act पारित किया गया। मुस्लिम-प्रतिबंध ने मुस्लिम देशों से मुस्लिमों के अमेरिका जाने पर प्रतिबंध लगा दिया था। No Ban Act का अर्थ National Origin-Based Antidiscrimination for Non-Immigrants Act है।

COVID-19 का ट्रिपल म्यूटेंट वैरिएंट सामने आया

वर्तमान में भारत COVID-19 संकट से जूझ रहा है, COVID-19 का एक ट्रिपल म्यूटेंट वैरिएंट एक नए खतरे के रूप में सामने आया है। इसे “बंगाल वेरिएंट” भी कहा जा रहा है। ट्रिपल म्यूटेंट वैरिएंट की पहचान पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, दिल्ली और छत्तीसगढ़ में की गई है। ट्रिपल म्यूटेंट वेरिएंट डबल म्यूटेशन से विकसित हुआ है। ट्रिपल म्यूटेंट वेरिएंट में, तीन अलग-अलग COVID-19 उपभेदों ने मिलकर एक नया वेरिएंट तैयार किया है। हाल ही में, एक डबल म्युटेंट वेरिएंट भारत में तेजी से फैल रहा है। इस डबल म्युटेंट को E484Q और L452R नाम दिया गया है। E484Q को यूके और दक्षिण अफ्रीका में पाया गया था। L452R उत्परिवर्तन कैलिफोर्निया में पाया गया था। हालांकि, इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) ने हाल ही में घोषणा की कि COVAXIN इन म्यूटेशन के खिलाफ काम करता है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी सफलतापूर्वक म्यूटेशन को अलग कर रहा है और टीकों के खिलाफ उनका परीक्षण कर रहा है। इसके अलावा, INSACOG प्रयोगशालाएं इन उत्परिवर्ती वेरिएंटों की जीनोम अनुक्रमण प्रक्रिया कर रही हैं। INSACOG का अर्थ Indian SARS CoV-2 Genomic Consortia है।

न्यूजीलैंड स्वास्थ्य सेवा को राष्ट्रीय सेवा में समेकित करेगा

न्यूजीलैंड सरकार ने घोषणा की कि यह देश में खंडित स्वास्थ्य प्रणाली को एक राष्ट्रीय सेवा में समेकित करेगी। समेकित प्रणाली ब्रिटेन में लागू की गयी प्रणाली की तरह है। वर्तमान में न्यूजीलैंड स्वास्थ्य प्रणाली 20 जिला स्वास्थ्य बोर्डों में विभाजित है। प्रत्येक जिला स्वास्थ्य बोर्ड का अपना बजट होता है। इन जिला स्वास्थ्य बोर्डों को हेल्थ न्यूजीलैंड (Health New Zealand) नामक एक नए निकाय द्वारा प्रतिस्थापित किया जाना है।

एमनेस्टी इंटरनेशनल ने मृत्युदंड की वैश्विक समीक्षा की

एमनेस्टी इंटरनेशनल (Amnesty International) ने हाल ही में मृत्यु दंड की वैश्विक समीक्षा जारी की। एमनेस्टी इंटरनेशनल द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार 18 देशों में लगभग 483 मृत्युदंड दर्ज किए गए। 2019 में, रिकॉर्ड किए गए मृत्युदंड की संख्या 657 थी। 2019 की तुलना में 2020 में मृत्युदंड की संख्या 26% बढ़ी है। सबसे अधिक मृत्युदंड की सजा चीन, ईरान, मिस्र, इराक और सऊदी अरब में दी गई। 483 में से लगभग 16 महिलाओं को मृत्युदंड दिया गया है। वे मिस्र, सऊदी अरब, ईरान और ओमान से थीं। भारत, कतर, ओमान और ताइवान जैसे देशों ने मृत्युदंड को फिर से शुरू किया है। इराक में मृत्युदंड की घटनाएँ 2019 में 100 से घटकर 2020 में 45 हो गया है। सऊदी अरब में मृत्युदंड 85% तक कम हो गया है। देशों ने फांसी, इलेक्ट्रोक्यूशन, शूटिंग और घातक इंजेक्शन का इस्तेमाल मृत्युदंड के तरीकों के रूप में किया।ईरान ने 3 लोगों को मृत्युदंड की सजा दी जबकि उन्होंने वे अपराध तब किये थे जब वे 18 साल से कम उम्र के थे। चीन, ईरान और सऊदी अरब ने ड्रग्स से संबंधित अपराधों के लिए कम से कम 30 लोगों को मृत्युदंड की सजा दी। जिन एशिया-प्रशांत देशों ने 2020 में मृत्युदंड को अंजाम दिया, वे भारत, चीन, बांग्लादेश, उत्तर कोरिया, वियतनाम और ताइवान थे। पाकिस्तान, सिंगापुर और जापान ने किसी भी मृत्युदंड की घटना को रिपोर्ट नहीं किया। चीन दुनिया में सबसे ज्यादा मृत्युदंड की घटनाएँ दर्ज की गयी। हालाँकि, चीन में मृत्युदंड की सही संख्या अज्ञात है। चीनी सरकार, मृत्युदंड के डेटा को गुप्त रखती है।

भारत-प्रशांत महासागरीय पहल के लिए ऑस्ट्रेलिया ने भारत के साथ की साझेदारी

ऑस्ट्रेलिया ने हाल ही में ऑस्ट्रेलिया-भारत हिंन्द-प्रशांत महासागरीय पहल (Australia-India Indo-Pacific Oceans Initiative Partnership) की शुरूआत की। यह कार्यक्रम स्वतंत्र, खुले और समृद्ध हिन्द-प्रशांत का समर्थन करेगा। ऑस्ट्रेलिया सरकार ने इस पहल का समर्थन करने के लिए 1.4 मिलियन ऑस्ट्रेलियाई डॉलर (8.12 करोड़ रुपये) का अनुदान प्रदान किया है। हिन्द-प्रशांत महासागरीय पहल की शुरुआत पीएम मोदी ने 2019 में ईस्ट इंडिया समिट (East India Summit) में की थी। हिन्द-प्रशांत महासागरीय पहल का उद्देश्य समुद्री सीमाओं को मजबूत करना है। इसके तीन मुख्य सामान्य लक्ष्य हैं जैसे कल्याण प्रोत्साहन, धन सृजन और सहयोग। इसका मुख्य सिद्धांत समान विचारधारा वाले देशों के बीच साझेदारी बनाना है।

भारत के कच्चे तेल उत्पादन में गिरावट दर्ज की गई

पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने हाल ही में वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए अपना डाटा जारी किया। इन आंकड़ों के अनुसार, भारत का कच्चा तेल उत्पादन 30.5 मिलियन टन तक गिर गया। 2019-20 में यह 32.17 मिलियन टन था। भारत का कच्चा तेल उत्पादन पिछले वर्ष की तुलना में 2020-21 में 5% कम हुआ। तेल और प्राकृतिक गैस निगम (Oil and Natural Gas Corporation) ने 2019-20 की तुलना में 2020-21 में 2% कम तेल का उत्पादन किया। 2020-21 में, ONGC द्वारा उत्पादित तेल 2 मिलियन टन था। दो महीने से अधिक समय तक चलने वाले राष्ट्रीय लॉकडाउन में कुछ क्षेत्रों को पूरी तरह से बंद कर दिया था।ऑयल इंडिया लिमिटेड ने 4% कम तेल का उत्पादन किया। वर्ष 2020-21 में प्राकृतिक गैस का उत्पादन 28.67 बिलियन क्यूबिक मीटर था। यह 2019-20 के उत्पादन से 8% कम था। हालांकि, मार्च 2021 में, देश के समग्र प्राकृतिक गैस उत्पादन में वृद्धि होने लगी क्योंकि रिलायंस इंडस्ट्रीज ने केजी बेसिन क्षेत्रों से अपना उत्पादन शुरू कर दिया। रिलायंस ने केजी बेसिन में दिसंबर 2020 में प्राकृतिक गैस का उत्पादन शुरू किया। यह अब 1.3 मिलियन क्यूबिक मीटर प्रति दिन की दर से गैस का उत्पादन कर रही है।

ICRA ने FY22 में भारत की GDP 0.5% घटाकर 10.5% रहने का अनुमान लगाया

घरेलू रेटिंग एजेंसी ICRA ने 2021-22 के लिए भारत के विकास अनुमान में ऊपरी छोर पर 0.5 प्रतिशत की कटौती की है और अब 2021-22 में अर्थव्यवस्था के 10-10.5 प्रतिशत बढ़ने का अनुमान है, जबकि पहले यह अनुमान 10-11 प्रतिशत था। पूर्वानुमान में बढ़ते COVID-19 मामलों के कारण एक बार फिर से लागू हो रहे लॉकडाउन और प्रतिबंधों के कारण डाउनवर्ड संशोधन हुआ है।

केयर रेटिंग्स का अनुमान FY22 में 10.2% रह सकती है भारत की GDP ग्रोथ

केयर रेटिंग्स (Care Ratings) ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए भारत की जीडीपी (सकल घरेलू उत्पाद) वृद्धि दर के अनुमान को घटाकर 10.2 प्रतिशत कर दिया है। ​पहले यह अनुमान 10.7-10.9 प्रतिशत के बीच था। COVID-19 वायरस मामले में तेजी से वृद्धि के साथ विभिन्न राज्यों में लगाई जा रही पाबंदियों से आर्थिक गतिविधियां प्रभावित होने के साथ वृद्धि दर के अनुमान को कम किया गया है।

वाशिंगटन सुंदर, देवदत्त पडिक्कल बने प्यूमा के ब्रांड एम्बेसडर

ग्लोबल स्पोर्ट्स वियर ब्रांड प्यूमा (Puma) ने क्रिकेटर्स वाशिंगटन सुंदर (Washington Sundar) और देवदत्त पडिक्कल (Devdutt Padikkal) के साथ लंबी अवधि के एंडोर्समेंट समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। प्यूमा इंडिया, जिसने हाल ही में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (Royal Challengers Bangalore) के साथ अपनी साझेदारी की घोषणा की है, भारत के खेल पारिस्थितिकी तंत्र में लगातार निवेश कर रहे है। यह दोनों कंपनी के ब्रांड एंबेसडर के रोस्टर में शामिल होंगे, जिसमें भारतीय कप्तान विराट कोहली; विकेटकीपर-बल्लेबाज केएल राहुल; महिला राष्ट्रीय क्रिकेटर, सुषमा वर्मा और अनुभवी क्रिकेटर युवराज सिंह शामिल हैं।

तमिलनाडु के अर्जुन कल्याण बने 68 वें भारतीय ग्रैंडमास्टर

तमिलनाडु के अर्जुन कल्याण (Arjun Kalyan) भारत के 68 वें चेस ग्रैंडमास्टर बने, जब उन्होंने सर्बिया में GM राउंड रॉबिन “रुजना ज़ोर -3” के पांचवें दौर में ड्रैगन कोसिक को हारने के बाद 2500 ELO अंक को पार किया। अर्जुन को IM सरवनन और यूक्रेनी GM अलेक्जेंडर गोलोशपोव द्वारा प्रशिक्षित किया गया हैं और उन्होंने नौ साल की उम्र में चेस खेलना शुरू किया और एक साल बाद उनकी FIDE रेटिंग हासिल की। विश्वनाथन आनंद 1988 में देश के पहले ग्रैंडमास्टर बने।

22 अप्रैल : पृथ्वी दिवस

22 अप्रैल पृथ्वी दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष पृथ्वी दिवस की थीम ‘Restore Our Earth’ है। 1969 में पर्यावरण पर यूनेस्को सम्मेलन में जॉन मैककोनेल (John McConnell ) द्वारा पृथ्वी दिवस औपचारिक रूप से प्रस्तावित किया गया था। बाद में 1971 में, संयुक्त राष्ट्र महासचिव यू थान्ट द्वारा वर्नल इक्विनॉक्स (Vernal Equinox) पर प्रतिवर्ष अंतर्राष्ट्रीय पृथ्वी दिवस मनाने के लिए एक घोषणा पर हस्ताक्षर किए गए और यह पहली बार 1970 में मनाया गया।

इंटरनेशनल गर्ल्स इन आईसीटी डे: 22 अप्रैल

इंटरनेशनल गर्ल्स इन आईसीटी डे (International Girls in ICT Day) वार्षिक रूप से अप्रैल में चौथे गुरुवार को मनाया जाता है। इस वर्ष इंटरनेशनल गर्ल्स इन आईसीटी डे 22 अप्रैल 2021 को मनाया जा रहा है। इंटरनेशनल गर्ल्स इन आईसीटी डे का उद्देश्य प्रौद्योगिकी में लड़कियों और महिलाओं के प्रतिनिधित्व को बढ़ाने के लिए एक वैश्विक आंदोलन को प्रेरित करना है। आज, युवा महिलाओं और लड़कियों को विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग और गणित में अवसरों के लिए समान पहुंच के लक्ष्य के लिए पुन: प्रयास करते हैं। संयुक्त राष्ट्र अंतर्राष्ट्रीय दूरसंचार संघ (ITU) दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते क्षेत्र में लड़कियों और महिलाओं के लिए प्रौद्योगिकी कैरियर के अवसरों को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर प्रकाश डाल रहा है।

प्रसिद्ध अभिनेता किशोर नंदलास्कर ​का निधन

प्रसिद्ध अभिनेता किशोर नंदलास्कर (Kishore Nandlaskar), जो मराठी और हिंदी दोनों फिल्मों में एक लोकप्रिय चेहरा थे, COVID-19 समस्या के कारण उनका निधन हो गया है। अभिनेता ने 1982 में 'नवारे सगले गढ़व’ नामक मराठी फिल्म के साथ अपने अभिनय की शुरुआत की और 'भविष्याची ऐशी तैशी: द प्रिडिक्शन’, 'गांव थोर पुढारी चोर’ और 'जरा जपून करा’ जैसी फिल्मों में अभिनय किया। हिंदी फिल्मों में, नंदलास्कर को खाकी (2004), वास्तव: द रियलिटी (1999), सिंघम (2011), जीस देश में गंगा रहता है (2000), सिम्बा (2018) और कई अन्य भूमिकाओं के लिए जाना जाता है। उन्हें आखिरी बार महेश मांजरेकर की वेब सीरीज '1962: द वार इन द हिल्स’ में देखा गया था।

चाड के राष्ट्रपति इदरीस डेबी का निधन

चाड गणराज्य के राष्ट्रपति इदरीस डेबी इटनो (Idriss Deby Itno) का निधन हो गया है। वह विद्रोहियों के साथ हुए संघर्ष में घायल हो गए थे जिसके बाद उनका निधन हो गया। उन्होंने तीन दशक से अधिक समय तक मध्य अफ्रीकी राष्ट्र पर शासन किया था और उन्हें 2021 के राष्ट्रपति चुनाव का विजेता भी घोषित किया गया था, जिससे उनके छह अन्य वर्षों तक सत्ता में बने रहने का मार्ग प्रशस्त हुआ। डेबी पहले 1996 और 2001 में चुनाव जीते थे। इसके बाद, उन्होंने 2006, 2011, 2016 और 2021 में भी जीत हासिल की।

Start Quiz!

« Previous Next Affairs »

Current Affairs Quiz

Here you can find Month Wise Quiz.

Quiz

Notes

Notes on many subjects with example and facts.

Notes

QUESTION

Find Question on this Topic and many other subjects

Learn More

Exam

Here You can find previous year question paper and model test for practice.

Start Exam

Download

Here you can download Current Affairs PDF.

Download

Join

Join a family of Rajasthangyan on


Contact Us Contribute About Write Us Privacy Policy About Copyright

© 2021 RajasthanGyan All Rights Reserved.